Politics

मणिपुर में कुछ नहीं कर पाए तो बंगाल में कैसे? BJP पर बरसे अधीर रंजन

Share

कांग्रेस पार्टी ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की टीम पर भीड़ के हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच संबंध का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष किया। पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने मांग की कि राज्य के अशांत क्षेत्रों में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए, लेकिन यह भी कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाला केंद्र ऐसा नहीं करेगा क्योंकि उसके पास साहस नहीं है।

चौधरी ने कहा कि ये स्पष्ट है कि सत्तारूढ़ पार्टी की मदद पीछे से है ये इनको पीछे से मदद देती है तभी बंगाल में ‘काका बाबू’, ‘खोका बाबू’, शाहजहां और ‘नूरजहां’ की कोई कमी नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी में हिम्मत है तो उन्हें कुछ करके दिखाना चाहिए। वे मणिपुर में कुछ कर नहीं पाए। तो बंगाल में कैसे करेंगे? कांग्रेस नेता ने कहा कि हम कम से कम अशांत क्षेत्र में राष्ट्रपति शासन चाहते हैं। लेकिन उनमें हिम्मत नहीं है, वे सिर्फ बड़े-बड़े दावे करते हैं। शायद मोदी जी और दीदी के बीच गहरा संबंध है इसलिए ऐसा नहीं हो पा रहा।

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि संदेशखाली में जो घटना घटी, वैसी घटना भारत में कहीं नहीं होती। आज गुंडों में इतनी हिम्मत है, ये उसका उदाहरण था। यह घटना इस राज्य में सत्तारूढ़ दल और पुलिस बल के बीच संबंध को साबित करती है। उन्होंने कहा कि यह अपवित्र संबंध संदेशखाली घटना से परिलक्षित होता है। कानून व्यवस्था की स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है लेकिन भाजपा चुप है… ठोस कदम समय की मांग है लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है।

GLIBS WhatsApp Group
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button