GLIBS
29-11-2020
पाठ्यपुस्तक निगम के सीनियर जीएम मिश्रा के खिलाफ एनएसयूआई प्रदेश उपाध्यक्ष ने की कार्रवाई की मांग 

रायपुर। कोरोना काल में पाठ्यपुस्तक निगम के सीनियर जीएम सरकारी गाड़ी में 18500 किलोमीटर घूमते रहे। अब एनएसयूआई प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ल ने अधिकारी को निलंबित करने की मांग की है। साथ ही विभागीय जांच की मांग की है। भावेश ने मिश्रा पर आरोप लगाया है कि शासकीय वाहन से बिलासपुर से रायपुर से बिलासपुर जाते रहे। कोरोना काल में बगैर पास के आने जाने में दिक्कत थी तब यह यात्रा बिना अनुमति के कैसे। इस बजट में यात्रा कश्मीर से कन्या कुमारी से कश्मीर दो बार और अरुणाचल प्रदेश से गुजरात से अरुणाचाल प्रदेश एक बार आ जा सकते थे। ये गाड़ियों को लॉक बुक में खड़ा दिखाते रहे। गाड़ी को कुछ किलो मीटर चलता दिखाते रहे और यह गाड़ी भोजपुर टोल प्लाजा बिलासपुर के सरगांव वाली आते जाते रही। वित्त विभाग के इस अधिकारी ने लॉग बुक में कूट रचना की और लिखा कुछ और गया कही। टोल प्लाजा का गाड़ी का पास होने की रिपोर्ट का खुद गवाह बन गया है। भावेश शुक्ला ने कहा है कि कांग्रेस सरकार में ऐसे भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की जाएगी।

29-11-2020
भूपेश बघेल पहुंचे जांजगीर-चांंपा, रामकथा में हुए शामिल

जांजगीर-चांपा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार को एक दिवसीय प्रवास पर जांजगीर-चांंपा जिला पहुंचे हैं। शिवरीनारायण में मुख्यमंत्री रामकथा के आयोजन में शामिल हुए। कार्यक्रम महंतलाल दास कॉलेज परिसर में हुआ। इस दौरान प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव मौजूद थे।

29-11-2020
कार्तिक पूर्णिमा, देव दीपावली और गुरु नानक देव की जयंती कल

रायपुर। कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि को गुरुनानक जयंती मनाई जाती है। इस वर्ष गुरुनानक जी की 551वीं जयंती 30 नवंबर को मनाई जाएगी। ऐसा कहा जाता है कि 15वीं शताब्दी में भारत में एक धर्म का उदय हुआ इसकी स्थापना संत गुरु नानक ने की। गुरु नानक देव जी सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले गुरु है। गुरुनानक देव जी बालपन से ही सत्संग और चिंतन में लगे रहते थे। 30 वर्ष की आयु तक उनका ज्ञान परिपक्व हो चुका था। उन्होंने अपना पूरा जीवन लोगों के हित के लिए समर्पित कर दिया। उनकी दी गई सीख आज भी लोगों के लिए प्रेरणा दायक हैं। सिखों के लिए यह पर्व बहुत ही महत्व रखता है।

29-11-2020
कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के चौदह सूत्रीय मांगों को खुला समर्थन : वीरेन्द्र नामदेव 

रायपुर। चौदह सूत्रीय मांगों को लेकर छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेश 1 दिसम्बर से शुरू होने वाले "कलम रख-मशाल उठा" आंदोलन को राज्य संयुक्त पेंशनर्स फेडरेशन के अध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव ने खुला समर्थन देने का ऐलान किया है। नामदेव ने बताया कि पेंशनर्स फेडरेशन से जुड़े संगठन क्रमशः छत्तीसगढ़ प्रगतिशील पेंशनर कल्याण संघ के प्रांताध्यक्ष एएन शुक्ला, पेंशनर्स एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष यशवंत दीवान और भारतीय राज्य पेंशनर्स महासंघ छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष जेपी मिश्रा ने फेडरेशन की बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि यह पहली बार है, राज्य के पेंशनरों की जटिल समस्या को समझकर प्रदेश के कर्मचारी संगठनों ने कमल वर्मा के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले यह निर्णय लिया है। वे अब अपने रिटायर्ड जनों की लड़ाई भी खुद लड़ेंगे और मांग पत्र में 2 सरे नम्बर पर हमारे लिए 5 प्रतिशत महंगाई राहत मांगा है। 14वें नम्बर में 20 वर्षों से लंबित राज्य पुनर्गठन अधिनियम की धारा 49 को विलोपित कर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच नियमानुसार 74:26 के अनुपात में पेंशनरी दायित्व बंटवारा करने एवं सेन्ट्रल पेंशन प्रोसेसिंग सेल, स्टेट बैंक भोपाल की स्थापना छत्तीसगढ़ रायपुर में करने की मांग को प्रमुखता के साथ रखा है।

29-11-2020
व्यापारी एकता पैनल को मिला ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन का समर्थन

रायपुर। चेम्बर चुनाव के चलते टाटीबंध में छग ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की बैठक हुई। प्रवक्ता ललित जैसिंघ,प्रमोद जैन, दिनेश अथावानी ने बताया कि बैठक में व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी, चेम्बर अध्यक्ष प्रत्याशी योगेश अग्रवाल एवं एसोसिएशन के अध्यक्ष हरचरण सिंह साहनी, बस्तर परिवहन एसोसिएशन के अध्यक्ष सुखदेव सिंग संधु, भिलाई ट्रांसपोर्ट के अध्यक्ष प्रभुनाथ बैठा, ट्रक ट्राला एसोसिएशन के अध्यक्ष रंजीत- सिंह वालिया, ट्रेलर ट्रांसपोर्ट के अध्यक्ष श्रवण वैश्नोई आदि उपस्थित रहे। सभी ने व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष योगेश अग्रवाल एवं सम्पूर्ण पैनल को समर्थन देने की बात कही। उन्होंने अध्यक्ष योगेश अग्रवाल एवं समूचे एकता पैनल के पक्ष में मतदान करने की अपील की है। 

29-11-2020
असिस्टेंट कमांडेंट को सीएम बघेल ने दी नम आंखों से श्रद्धांजलि

रायपुर। नक्सलियों के आईईडी ब्लास्ट में शहीद जवान को सीएम भूपेश बघेल ने नम आंखों से श्रद्धांजलि दी। सीएम बघेल ने ट्वीट कर कहा है कि सुकमा जिले में नक्सलियों की ओर से आईईडी ब्लास्ट में हमारे एक वीर जवान के शहीद होने और 9 वीर जवानों के घायल होने का दुःखद समाचार मिला है। गौरतलब है कि सुकमा के तालमेटला में नक्सलियों ने बड़ी घटना को अंजाम दिया है। जवानों को निशाना बनाकर नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया। इसमें एक असिस्टेंट कमांडेंट शहीद हो गया। साथ ही 9 जवान घायल हो गए। घायल जवानों का सुकमा के जिला अस्पताल में इलाज जारी है।

29-11-2020
देश में 41 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले, 496 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में कमी आई हैं। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 41,810 नए मामले सामने आए और 496 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में 41,810 नए मामले सामने आए और संक्रमितों का आंकड़ा 93.92 लाख हो गया। इस दौरान 42,298 मरीज स्वस्थ हुए और इसी के साथ काेरोना को शिकस्त देने वालों की तादाद 88 लाख हो गई। सक्रिय मामलों में 984 की गिरावट के साथ यह संख्या 4.53 लाख पर आ गई। इसी अवधि में 496 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,36,696 हो गया है। देश में रिकवरी दर बढ़कर अब 93.71 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्यु दर अभी 1.46 प्रतिशत है।

29-11-2020
नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट, एक जवान शहीद, 10 घायल 

जगदलपुर। नक्सली अपने कायराना हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। सुकमा जिले में नक्सलियों ने दो आईईडी ब्लास्ट किया है। इसमें 10 जवान घायल हुए है, वहीं एक जवान शहीद हो गया।घायल जवानों को इलाज के लिए रायपुर भेजा गया। पुलिस ने मिली जानकारी के अनुसार बीती देर रात ताड़मेटला के करीब हुई ब्लास्ट में घायल असिस्टेंट कमांडेंट नितिन भालेराव शहीद हो गए। 10 जवना घायल हो गए हैं वही घटना में घायल अन्य 8 जवानों को इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा गया। दो जवान को हल्की चोट आई है, जिनका इलाज चिंतलनार कैपं में चल रहा है। शनिवार को सुकमा जिले के ताड़मेटला इलाके के बुर्कापाल से 6 किलोमीटर दूर ऑपरेशन से लौट रहे कोबरा 206 बटालियन के जवानों पर नक्सलियों ने आईईडी से हमला कर दिया। ब्लास्ट में 2 अफसरों सहित 10 जवान जख्मी हो गये थे। नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर बुरकापाल, तेमलवाड़ा और चिंतागुफा से ज्वाईंट ऑपरेशन चलाया गया। देर शाम को ताड़मेटला के जंगल में गश्त करते हुए जवान आगे बढ़ रहे थे कि इस दौरान जवान स्पाइक होल व आईईडी की चपेट में आ गए। घटना की पुष्टि सुकमा एसपी केएल ध्रुव ने की है।

29-11-2020
कृषि कानून : किसानों ने घेरा राष्ट्रीय राजधानी, शाह के प्रस्ताव पर सहमत नहीं है किसान

नई दिल्ली। नए कृषि कानून के विरोध में सड़कों पर उतरे किसान संगठनों का प्रदर्शन रविवार को भी जारी है। दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे पंजाब और हरियाणा के किसानों के साथ उत्तर प्रदेश व अन्य प्रांतों के किसान भी जुड़ गए हैं। पंजाब, हरियाणा और यूपी के लाखों किसानों ने दिल्ली की सभी सीमाओं पर डेरा डाल दिया है। लगभर पूरी दिल्ली अब किसानों के घेरे में घिर गई है। सरकार ने किसानों से आंदोलन का रास्ता छोड़कर बातचीत के जरिए मसले का समाधान करने की अपील की है। गृहमंत्री अमित शाह ने किसानों से दिल्ली में बुराड़ी के निर्धारित ग्राउंड में शिफ्ट होने की अपील की है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि बुराड़ी ग्राउंड में किसानों के शिफ्ट होने के दूसरे ही दिन सरकार उनकी मांगों पर चर्चा करने के लिए तैयार है, लेकिन किसान सिंघू और टीकरी बॉर्डर पर जमे हैं। इनका कहना है कि हमें जंतर मंतर जाने की इजाजत दी जाए, नहीं तो यहीं प्रदर्शन करेंगे। भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) समेत कई अन्य संगठनों से जुड़े किसान नेता दिल्ली की सीमाओं पर डेरा जमाए हुए हैं। उनके साथ लाखों की तादाद में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे किसानों से बुराड़ी शिफ्ट होने की अपील करने के कारण प्रदर्शनकारी किसान नाखुश हैं। उनका कहना है कि गृहमंत्री की यह शर्त ठीक नहीं है। किसान आज बैठक करने के बाद अपने आंदोलन को लेकर फैसला लेंगे कि उन्हें शाह की शर्त माननी है या नहीं।

29-11-2020
वाटर टूरिज्म को बढ़ावा देने झुमका बांध में हो रही बोटिंग, दूर-दूर से पहुंच रहे पर्यटक

कोरिया। झुमका बांध की खूबसूरती को बढ़ाने और इसे पर्यटन का प्रमुख केंद्र बनाने कलेक्टर एसएन राठौर के मार्गदर्शन में यहां सौंदर्यीकरण का काम किया जा रहा है। इसका जायजा लेने  कलेक्टर राठौर झुमका बांध पहुंचे। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को शीघ्र काम पूरा करने के निर्देश दिए जिससे बोटिंग के अतिरिक्त पर्यटन व मनोरंजन की गतिविधियों शुरू की जा सके।  प्रदेश का पहला मछलीनुमा फिश एक्वेरियम कोरिया के झुमका बांध में सौंदर्यीकरण के साथ ही मत्स्य विभाग ने फिश एक्वेरियम भी बनाया गया है, जो अपने आप में अद्भुत है। यह मछली के आकार का एक्वेरियम तैयार किया गया है। जल्द ही इसके लोकार्पण के बाद यहां लोग अनोखी मछलियों के संसार को देख सकेंगे।

झुमका के नाम से प्रसिद्ध रामानुज प्रताप सागर के किनारे हो रहे सौंदर्यीकरण के कार्य के अंतर्गत यहां पार्क तैयार किया जा रहा है। इससे आमजन आकर सुंदर नजारों के बीच परिजनों, मित्रों के साथ समय बिता सकें। यहां बच्चों के मनोरंजन और खेल के लिए भी सुविधाएं उपलब्ध हैं। साथ ही यहां चैपाटी भी बनाई जा रही है, जहां छत्तीसगढ़ी व्यंजन का भी स्वाद ले सकेंगे। यहीं नहीं झुमका बांध में वाटर टूरिज्म को बढ़ावा देने बोटिंग शुरू की गई है। जहां स्थानीय लोगों के अलावा अम्बिकापुर और अनूपपुर आदि जिलों से भी लोग आकर बांध की सुंदरता और बोटिंग का लुत्फ उठा रहे हैं। पर्यटकों को आकर्षित करने  फ्लोटिंग रेस्टोरेंट और स्टे की सुविधा की भी योजना बनाई जा रही है। झुमका किनारे योग करने को प्रोत्साहित करने खुला योग रूम भी बनाया है, जो स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देने जिला प्रशासन का अभिनव प्रयास है। जल्द ही झुमका बांध सौंदर्यीकरण का काम पूरा हो जाएगा, जिससे यहां पर्यटन गतिविधियों में तेजी आएगी।

29-11-2020
ठंड में रखे अपना विशेष ध्यान : शारीरिक तापमान में अस्थिरता हाइपोथर्मिया है वजह 

रायपुर। हमारे शरीर का एक सामान्य तापमान होता है, जो कि शरीर द्वारा संचालित होता है। जब शरीर का तापमान सामान्य व सुरक्षित स्तर से अचानक नीचे गिर जाता है, तो यह अल्पताप या हाइपोथर्मिया कहलाता है। यह समस्या गंभीर भी साबित हो सकती है। हाइपोथर्मिया के संबंध में जानकारी देते हुए डॉ रामेश्वर शर्मा ने बताया कि ठंड के मौसम में हमारा शरीर आवश्यकतानुसार शारीरिक गर्मी का उत्पादन नहीं कर पाता, जितनी गर्मी की हमारे शरीर द्वारा मांग होती है। सर्दी के मौसम में हमारे शरीर को अधिक सामान्य तापमान चाहिए होता है, लेकिन जब शरीर जरूरी गर्माहट को संरक्षित नहीं रख पाता तो मुश्किल स्थिति बन जाती है। यह समस्या ज्यादा देर ठंड या ठंडे पानी में रहने की वजह से भी हो सकती है।

जाने शरीर का सामान्य तापमान : शरीर का सामान्य तापमान उम्र, लिंग और स्वास्थ्य की स्थिति पर निर्भर करता है। वैसे, सामान्य शारीरिक तापमान 97.7 डिग्री फारेनहाइट यानी 36.5 डिग्री सेल्सियस से लेकर  99.5 डिग्री फारेनहाइट यानी 37.5 डिग्री सेल्सियस तक होता है। न्यून्तम सामान्य शारीरिक तापमान 36 डिग्री सेल्सियस भी हो सकता है। शारीरिक तापमान के 95 डिग्री फारेनहाइट से नीचे गिरने को हाइपोथर्मिया कहा जाता है और 38 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा शारीरिक तापमान को बुखार की समस्या कहा जाता है। शरीर में गर्मी बनाए रखने का कार्य दिमाग का एक हिस्सा करता है, जिसे हाइपोथेलेमस कहा जाता है। जब हाइपोथेलेमस को संकेत मिलता है कि शरीर में गर्माहट का स्तर गिर रहा है, तो यह शारीरिक तापमान को उठाकर सामान्य बनाने का कार्य करता है। 

जाने क्या है लक्षण : हाइपोथर्मिया की वजह से आपके सोचने की क्षमता प्रभावित हो सकती है। हाइपोथर्मिया की स्थिति में बोलने की गति कम हो जाती है। हाइपोथर्मिया के कारण अत्यधिक कंपन महसूस हो सकता है। हाइपोथर्मिया की समस्या में व्यक्ति की सांसें धीमी पड़ जाती हैं। हाइपोथर्मिया की समस्या सोचने की क्षमता पर बुरा असर डालती है, कुछ लोगों को इस समस्या की वजह से शारीरिक थकान का सामना भी करना पड़ सकता है। हाइपोथर्मिया की वजह से याद्दाश्त भी कमजोर हो सकती है। हाइपोथर्मिया में हाथ और पैरों में सुन्नपन हो सकता है। नवजातों की त्वचा हाइपोथर्मिया की वजह से बिल्कुल लाल या ठंडी हो सकती है। इसके अलावा, नवजात बच्चों की ऊर्जा, हाइपोथर्मिया की वजह से काफी कम हो सकती है।हाइपोथर्मिया से ग्रस्त होने पर बोलचाल में परेशानी, ध्यान केंद्रित करने में समस्या, चाल लड़खड़ाने लगती है।हाइपोथर्मिया बिगड़ने पर व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है।

रहना होगा सावधान : हाइपोथर्मिया की समस्या वैसे तो किसी को भी हो सकती है,लेकिन उम्र हाइपोथर्मिया की समस्या में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। समान्य तौर पर बुर्जुगो और बच्चो विशेषकर नवजात शिशुओ को यह समस्या होती है। क्योंकि इन लोगों में सामान्य शारीरिक तापमान को बनाए रखने की क्षमता कम हो जाती है। शरीर की सामान्य तापमान बनाए रखने की क्षमता नकारात्मक रूप से प्रभावित होती है। शराब या ड्रग्स का सेवन करने से भी आपको हाइपोथर्मिया की समस्या का खतरा हो सकता है। इसमें शराब का सेवन करना ज्यादा खतरनाक हो सकता है। क्योंकि, शराब का सेवन करने से आपके शरीर के गर्म होने का झूठा एहसास होता है, जबकि असल में रक्त धमनियां फैल जाती हैं और त्वचा के जरिए ज्यादा शारीरिक गर्मी शरीर से निकल जाती है। डिमेंशिया या बाइपोलर डिसऑर्डर जैसी अन्य मानसिक समस्या होने की वजह से भी आपको हाइपोथर्मिया की दिक्कत हो सकती है। मानसिक समस्या होने की वजह से लोग अपनी पर्याप्त देखभाल नहीं कर पाते और ऐसे में सर्दी के मौसम में पर्याप्त देखभाल के बिना बाहर जाना खतरनाक हो सकता है और उनके सामान्य शारीरिक तापमान में गिरावट का कारण बन सकता है।

29-11-2020
मोवा साहू समाज उत्थान समिति ने चलाया स्वच्छता अभियान

रायपुर। राजधानी रायपुर के मोवा में साहू समाज ने द्वितीय चरण का सफाई अभियान एलआईसी कॉलोनी में शुरू कर दिया है। इस सफाई अभियान में समाज के पुरुषों, महिलाओं और युवाओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से समाज के अध्यक्ष मोहन साहू, मोहनलाल जंजीर, लीलाधर साहू, राज कुमार साहू, हरिओम साहू, रामकुमार साहू ,जीवन लाल, गणेश  साहू, नरेंद्र साहू,सरोज साहू, संगीता साहू, रेखा साहू, जानकी साहू, होमिंग साहू, ईश्वरी साहू, दामिनी साहू आदि मौजूद रहे।

Please Wait... News Loading
GLIBS Ads