GLIBS
कंवर समाज ने छात्रावास के लिए खरीदी जमीन, मुख्यमंत्री ने भवन बनाने दिए 30 लाख 

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राजनांदगांव में कंवर समाज के बच्चों के लिए छात्रवास निर्माण के लिए तीस लाख रुपए देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह आज राजनांदगांव जिले के ग्राम रेवाडीह में आयोजित कंवर समाज के कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई कि कंवर समाज ने बच्चों के बेहतर शिक्षा के लिए राजनांदगांव में सामाजिक सहयोग से 50 लाख रुपए की राशि इकट्ठी कर छात्रावास के लिए 74 डिसमिल जमीन 50 लाख रुपए में खरीदी है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कंवर समाज के इस पहल को अनुकरणीय बताते हुए छात्रावास भवन के लिए 30 लाख रुपए प्रदान करने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने कहा कि शिक्षित समाज ही नेतृत्व करता है। समाज के लोगों ने शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए जो बड़ी पहल की है उसका मैं स्वागत करता हूं। खर्चीली शादियों से मितव्ययिता की ओर बढ़ने समाज के लोगों ने सामूहिक विवाह को बढ़ावा देने का जो निश्चय किया है वह भी स्वागत योग्य है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शादियों में मद्यपान पर प्रतिबंध करने का निर्णय समाज ने लिया है। इसके साथ ही बहुत से प्रगतिशील कार्य समाज के द्वारा किए जा रहे हैं। यह उज्ज्वल भविष्य की राह में बड़ा कदम है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन की शुरूआत कंवर समाज के आराध्य दुल्हा देव और महादेव की स्तुति कर की। उन्होंने कहा कि वे अपने हर बड़े कार्य की शुरूआत भोरमदेव की पूजा से करते हैं और भोरमदेव उनका हर संकट हर लेते हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ग्रामीणों की मांग पर आशा नगर में एप्रोच रोड, मुक्तिधाम निर्माण एवं पुलिया निर्माण की स्वीकृति प्रदान की।

 इस मौके पर गृह, जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा ने भी समाज के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा को आगे बढ़ाने समाज के लोगों ने पाई-पाई जोड़कर छात्रावास के लिए धन एकत्र किया और आज इसका भूमिपूजन किया गया। शिक्षा के पुनीत कार्य के लिए इस तरह की सामूहिक भागीदारी जुटना बहुत शुभ है। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही समाज को प्रकाश की ओर ले जाने वाला साधन है। एकजुट होकर समाज अपने बड़े लक्ष्य प्राप्त कर सकता है। इस मौके पर सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि कंवर समाज द्वारा शिक्षा के लिए बड़ा काम किया जा रहा है। शिक्षा ही किसी समाज के उवल भविष्य का रास्ता प्रशस्त कर सकती है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश बना था तो उस समय यहां केवल 13 हजार प्राथमिक स्कूल थे, अब प्राथमिक स्कूलों की संख्या बढ़कर 36 हजार से अधिक हो गई है। उच्च शिक्षा में भी बड़े काम हुए हैं। अब साल्हेवारा और मानपुर में भी कॉलेज है। श्री सिंह ने कहा कि मैं ओडारबांध गया था यहां 70 साल से मेला लगता है। यहां समाज का युवक-युवती परिचय सम्मेलन भी हो रहा था। लोगों ने सामुदायिक भवन की मांग रखी और एक महीने में ही 20 लाख रुपए का सामुदायिक भवन शासन की ओर से स्वीकृत हो गया। 

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सुकुलदैहान में बुनकरों के कार्यों की प्रशंसा 
मुख्यमंत्री सुकुलदैहान और लिटिया गांव में ग्रामीणों से की मुलाकात
नहीं थम रही बसों में चोरी की वारदात, चलती बस से महिला का कीमती बैग पार

भोपाल। अपराधियों के दिल में पुलिस को लेकर अब बिल्कुल भी खौफ नहीं बचा है। अपराधी बेधड़क होकर अपराध कर रहे हैं और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है। बसों में कई बार चेकिंग अभियान चलाकर औपचारिकता निभाने वाली भोपाल पुलिस के मंसूबो पर यह अपराधी रोजाना पानी फेरते हुए नजर आते हैं। रोज कहीं ना कहीं राजधानी भोपाल की बसों में जेबकटी, सामान चोरी की वारदात हो रही है। भोपाल आने वाली लंबे रास्ते की बसों से जैसे ही यात्रियों की नजर हटती है उसी वक्त बदमाश सामान चोरी कर फरार हो जाते हैं। शहर में यात्री वाहनों में चोरी, जेबकटी अपराधियों के लिए धंधा बन गया है। अधिकतर जेबकटों को वाहनों के चालक-कंडक्टर पहचानते भी हैं।

शनिवार को भी गोविंदपुरा थाना इलाके में एक महिला का पर्स चोरी हो गया। महिला बुधनी से भोपाल आ रही थी इसी बीच चलती बस से बदमाशों ने महिला का बैग गायब कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार प्रियंका मीना बुधनी से चलकर भोपाल आ रही थी। उसी दौरान उस रुट पर चलने वाली सुल्तान बस से उनका बैग पार हो गया। महिला को बौग गायब होने की जानकारी तब मिली जब वह आईएसबीटी बस स्टैड पर उतकर अपना सामान चेक किया। महिला ने अपने पति को फोन कर इसकी सुचना दी।

महिला ने बताया कि बस में बैठते समय कंडक्टर ने बैग उपर रखने को कहा था। जबकी महिला ने उसे बता दिया था की बैग में किमती समान है। जिसके बाद हबीबगंज नाके पर कंडक्टर ने किसी और को बैग उतार कर दे दिया। जब महिला आईएसबीटी बस स्टैंड पर उतरी तो उसका बैग नहीं मिला। महिला ने बताया कि बैग के अंदर चाँदी के जेवरात व अन्य कीमती समान था। जिसकी कीमत 50 हजार के करीब है। गोविंदपुरा थाना प्रभारी ने बताया कि फरियादी की शिकायत पर पुलिस ने आज्ञात आरोपी पर  धारा 397 के तहत मामाला दर्ज कर जाँच शुरु कर दी है।

चांचौड़ा विधायक ममता मीना के गृहगांव में भव्य कलश यात्रा के साथ शुरु हुई श्रीराम कथा

भोपाल। चांचौड़ा विधायक ममता मीना के गृहगांव अजगरी में शनिवार को भव्य कलश यात्रा के साथ संगीतमयी श्रीराम कथा का आगाज हो गया है। कथा के मुख्य यजमान के रूप में कमांडेंट रघुवीर सिंह मीना और उनकी धर्मपत्नी विधायक ममता मीना सिर पर रामायण रखकर कलश यात्रा में सबसे आगे चल रहे थे। कलश यात्रा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ कथा स्थल से शुरु हुई, जो पूरे गांव में भ्रमण कर पुन: कथा स्थल पर पहुंची। यहां सबसे पहले भगवान श्रीगणेश, भगवान राम के उपरांत कथा वाचक देवीजी जया प्रिया जी की आरती उतारी गई।

कथा के पहले दिन कथा वाचक ने शिव-पार्वती विवाह का रोचक प्रसंग सुनाया। उन्होंने कहा कि माता सती के पिता दक्ष ने यज्ञ का आयोजन किया था। इस यज्ञ में उन्होंने भगवान शिव को निमंत्रण नहीं दिया और माता सती बिना निमंत्रण के ही यज्ञ में पहुंच गई। लेकिन वहां भगवान शिव को देख सती के पिता राजा दक्ष गुस्से से लाल पीले हो गए और उन्होंने भगवान शिव का अनादर किया। भगवान शिव के अनादर को माता सती बर्दाश्त नहीं कर सकीं और उन्होंने अग्निकुंड में कूदकर अपना शरीर अग्निदेवता को समर्पित कर दिया। बाद में उन्होंने माता पार्वती के रूप में जन्म लिया और भगवान शंकर से उनका विवाह हुआ। जिस वक्त शिव-पार्वती का विवाह हुआ, उस वक्त देव, असुर, गंधर्व और किन्नर नाच उठे।

देवीजी जया प्रिया ने कहा कि ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिवाय ये तीनों एक हैं। देवों के देव महादेव बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और वह अपने भक्तों के संकटों को हरने के साथ-साथ उनकी इच्छा को भी पूर्ण करते हैं। जिस यज्ञ में ब्रह्मा, विष्णु, महेश का अनादर होता है वह यज्ञ किसी भी सूरत में पूरा नहीं होता और न ही वह मांगलिक होता है। अयोध्या कांड का वर्णन करते हुए उन्होंने कहा कि रामचरित मानस साधारण ग्रंथ नहीं है। यह जीवन का साक्षात दर्पण है। साधारण दर्पण से  मनुष्य का बाहरी रूप ही दिखाई देता है। मानस रूपी दर्पण से जीवन का आंतरिक स्वरूप दिखाई देता है। कथा के दूसरे दिन रविवार को भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। कथा के आयोजकों ने सभी धर्मप्रेमी बंधुओं से कथा में शामिल होकर धर्मलाभ उठाने की अपील की है। 

अमित शाह की रायबरेली रैली में लगा बड़ा सा पोस्टर, लेकिन PM मोदी की तस्वीर गायब

रायबरेली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दौरे के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को रायबरेली के दौरे पर थे। यहां जीआईसी ग्राउंड में सीएम योगी आदित्यनाथ और पार्टी के स्थानीय नेताओं की मौजूदगी में परिवर्तन रैली का आयोजन किया गया, लेकिन रैली के दौरान मंच पर लगे पोस्टर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नदारद रही। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मुख्य अतिथि के रूप में रैली में मौजूद रहे। कार्यक्रम के लिये एक बड़ा मंच बनाया गया था और उसके पीछे एक बड़ा पोस्टर लगा था। इस पोस्टर पर अमित शाह के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के अलावा अन्य लोगों के फोटो लगे थे।

मंच पर लगा बड़ा सा पोस्टर

इस पोस्टर पर कांग्रेस के विधानपरिषद सदस्य दिनेश सिंह की तस्वीर भी थी, जो आज ही कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुये हैं, लेकिन इस पोस्टर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर नहीं थी। बीजेपी के स्थानीय नेताओं से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने पोस्टर से नरेंद्र मोदी की तस्वीर गायब होने की बात पर यह कहते हुये कुछ भी कहने से इनकार किया कि यह एक मानवीय भूल थी, इसका कोई और मतलब न निकाला जाये।

रैली के दौरान शॉर्ट सर्किट से आग

अमित शाह की रैली के दौरान शॉर्ट सर्किट की वजह से आयोजन स्थल पर आग और धुआं फैल गया। इसके बाद रैली में अफरा-तफरी मच गई. जब यह घटना हुई तब मंच पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा रैली को संबोधित कर रहे थे. हालांकि बाद में स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया।

शत्रुघ्न सिन्‍हा बोले- पार्टी छोड़ने की बात अफवाह, मैं कहीं नहीं जा रहा हूं

पटना। राजधानी के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में भाजपा विरोधी दलों के नेताओं का राष्ट्रमंच सम्मेलन में भाजपा सांसद और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मेरे द्वारा पार्टी छोड़ने की बात अफवाह है। मैं कहीं नहीं जा रहा हूं। पार्टी में बना हुआ हूं। इसके साथ ही उन्‍होंने तेजस्‍वी की भी तारीफ की। कहा कि वो बिहार के राजनीतिक भविष्य का इकलौता चेहरे हैं। शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने कहा कि ऐसी अफवाहें थीं कि मैं पार्टी छोड़ दूंगा क्योंकि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मुझे टिकट नहीं मिलेगा। लेकिन, मैं आज यह साफ कर दे रहा हूं कि मैं यहीं रहने वाला हूं और कहीं भी नहीं जा रहा हूं।' बिहारी बाबू कहे जाने वाले भाजपा सांसद सह अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने यशवंत सिन्हा के भाजपा छोड़ने और दलगत नीति से संन्यास लेने के एलान पर उनकी भी तारफी की और कहा कि यशवंत सिन्हा ने राजनीति में त्याग-बलिदान दिया है। यशवंत सिन्हा का यह कदम सराहनीय है। बता दें कि पटना के एसकेएम हॉल में आज भाजपा से नाराज और विपक्षी नेताओं का राष्ट्रमंच पर जमावड़ा लगा था जिसमें देश के विभिन्न हिस्से से आए कई नेताओं ने शिरकत की।  इस सम्मेलन में कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा कि बिहार के लोग सामान्य लोग नहीं हैं। बिहार बलिदान की भूमि है। देश में महिलाएं घर से बाहर नहीं निकल रही हैं। देश की बेटी-बहु के साथ बलात्कार हो रहा है और सरकार खामोश बैठी है।

एक तरफा प्यार में अंधा होकर फ़र्ज़ी आईडी से युवती को परेशान करने वाला साइबर पुलिस की गिरफ्त में

भोपाल। वह कहते हैं प्यार अंधा होता है और प्यार की कोई समय सीमा नहीं होती मगर यही अंधा प्यार मुसीबत में डाल देता है यह आरोपियों को बिल्कुल भी खेर खबर नही होती एक ऐसा ही मामला राजधानी भोपाल के साइबर क्राइम में देखने को मिला जहां एक युवक ने अपने साथ पढ़ने वाली लड़की को अपना दिल दे दिया मगर लड़की उसे नापसंद करते रही उसी बात का बदला लेने के चलते उसने उसे अश्लील फोटो भेज दिए जिसके चलते वह सलाखों के पीछे पहुंच गया। राजधानी भोपाल की साइबर क्राइम पुलिस ने शनिवार को एक ऐसे ही आरोपी को गिरफ्तार किया हैं जो अपने साथ पढ़ने वाली छात्रा को इंस्टाग्राम पर फर्जी आईडी बना कर अश्लील फोटो भेजता था। आरोपी छात्रा को एकतरफा प्यार करता था। लेकिन छात्रा उससे बात नहीं करती थी। इसी बात को लेकर आरोपी ने छात्रा के दोस्त के नाम पर इंस्टाग्राम पर फर्जी आईडी बना कर छात्रा को आपत्तिजनक फोटो भेज दिए जिसकी शिकायत छात्रा ने साइबर क्राइम पुलिस को की। फरियादी छात्रा ने लिखित शिकायती आवेदन पत्र में बताया की मेरे साथ पढ़ने वाले लड़के के नाम से इंस्टाग्राम पर अश्लील फोटो आ रही है। लड़की के द्वारा अपने दोस्त से बात की तो पता चला की लड़की के साथ पढ़ने वाले पंकज नाम के व्यक्ति की किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा फर्जी आईडी बनाकर आपस में किसी व्यक्ति द्वारा फरियादिया व उसके दोस्त को कोई बदनाम करना चाह रहा है,साइबर पुलिस भोपाल ने फरियादिया के आवेदन पर से अपराध क्रमांक 72/18 का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया । फरियादिया के दोस्त पंकज नाम की फर्जी इंस्टाग्राम आईडी की जानकारी पुलिस के द्वारा प्राप्त की गई। जिसमें सामने आया कि उक्त आई.डी. का उपयोगकर्ता रवि पिता मिश्रीलाल गोहाटिया निवासी रातीबड़ भोपाल है। जिसे साइबर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया।

बस-बाइक की भीषण टक्कर में 2 की मौत

भोपाल। शनिवार को रीवा जिले में हुई एक दर्दनाक घटना में 2 लोग अपनी जान गवा बैठे। जानकारी के मुताबिक रीवा जिले के सगरा थाना इलाके में शनिवार को एक बाइक और बस में भीषण भिड़ंत हो गई। टक्कर इतनी खतरनाक थी की बाइक के परखच्चे उड़ गए और बाइक पर सवार दो व्यक्तियों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया,जबकि मोटरसाइकिल पर सवार तीसरा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे इलाज के लिए आसपास के लोगों की मदद से अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। दुर्घटना के बाद लोगों का गुस्सा भी सड़क पर देखने को मिला गुस्साए लोगों ने बस में तोड़फोड़ करते हुए जाम लगा दिया लंबा जाम लगने से सड़क पर आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर लोगों को शांत किया तब जाकर ट्राफिक को सुचारू किया गया।

राह चलती लड़की से छेड़छाड़ कर चाकू से हमला करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

भोपाल। राजधानी भोपाल के जहांगीराबाद थाना इलाके में सरेराह युवती से छेड़छाड़ कर चाकू से हमला करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 15 अप्रैल को जहांगीराबाद स्थित पीतल मंदिर के पास 26 वर्षीय युवती स्कूटी से न्यू मार्केट जा रही थी। तभी पल्सर बाइक सवार तीन लोगों ने रास्ता रोक कर युवती से छेड़छाड़ कर चाकू से हमला कर फरार हो गए थे। जिसके बाद युवती ने पुलिस को शिकायत की।

पुलिस ने बताया कि फरियादी कि शिकायत पर पुलिस ने आज्ञात तीन आरोपियों पर धारा 354डी, 354,307,34 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी थी। फरियादी द्वारा बताए गये हुलिए और सीसीटीवी फूटेज के आधार पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनमें से आरोपी शाहिद उम्र 19 वर्ष बदमाश रईस रेडियो का बेटा है जो टीलाजमालपुरा का रहने वाला है। वहीं दुसरा आरोपी नगर निवासी इंद्रा फैजुद्दीन पिता अजीजुद्दीन को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं एक आरोपी पुलिस गिरफ्त से दुर है। पुलिस ने दोनो आरोपियों पर रासुका (NSA ) की कार्यवाई की है।

पूरी दुनिया पर 164 ट्रिलियन डॉलर का कर्ज, मंडरा रहा मंदी का खतरा

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा है कि दुनिभार में सार्वजनिक और निजी कर्ज काफी तेजी से बढ़ रहा है, उससे वैश्विक मंदी का खतरा मंडराने लगा है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के मुताबिक वैश्विक कर्ज बढ़कर 164 ट्रिलियन डॉलर यानी 164 लाख करोड़ डॉलर के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच चुका है। अगर इस कर्ज को भारतीय मुद्रा में बदले तो यह करीब 10,66,000000 करोड़ रुपए (करीब 10,660 लाख करोड़ रुपए) है। 

बढ़ता हुआ कर्ज वैश्विक मंदी का सबब

इसको लेकर IMF ने चेतावनी दी है कि अगर इसे जल्दी ही उतारा नहीं गया तो ट्रेंड को इतना खतरा होगा कि तमाम देशों को अपना कर्जा चुकाने में मुश्किल आ सकती है। इससे होने वाली मंदी से निपटने के लिए काफी पापड़ बेलने पड़ सकते हैं। ब्लूमबर्ग में छपी रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ता हुआ कर्ज वैश्विक मंदी का सबब बन सकता है।

अमेरिका भी हुआ था दिवालिया

IMF हर 6 महीने में एक फिस्कल मॉनिटर रिपोर्ट जारी करता है इसी रिपोर्ट के आधार पर मुद्रा कोष ने ये चिंता जाहिर की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2016 में ग्लोबल पब्लिक और प्राइवेट कर्ज बढ़ते हुए अपने सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है और ये दुनिया की जी.डी.पी. का 225 फीसदी है। इससे पहले साल 2009 में वैश्विक कर्ज अपने उच्च स्तर पर था, जिसके कारण उस दौरान अमेरिका भी दिवालिया हो गया। हालांकि भारत उस दौरान दिवालिया होने से बच गया था।

पब्‍लि‍क और प्राइवेट कर्ज का हाई लेवल बना जोखि‍म

मुद्रा कोष के फिस्कल अफेयर्स डिपार्टमेंट के प्रमुख विटोर गैस्पर ने कहा कि 164 ट्रिलियन का आंकड़ा एक बहुत ही विशाल संख्या होती है। जब हम आसान जोखिमों की बात करते हैं उनमें से एक बड़ा जोखिम पब्लिक और प्राइवेट कर्ज का उच्च स्तर है। दुनिया में निजी कर्ज बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है खासकर चीन में। दुनियाभर के कुल निजी खर्च का करीब 3 चौथाई हिस्सा तो सिर्फ चीन का है। रिपोर्ट में कहा गया है कि बहुत ज्यादा कर्ज से देशों के खर्च बढ़ाने की क्षमता पर भी बुरा असर पड़ेगा। मुद्रा कोष से देशों से अपने फिस्कल डेफिसिट को लेकर निर्णायक कदम उठाने का सुझाव दिया है। कोष ने अमेरिका से गुजारिश की है कि वह अपनी फिस्कल पॉलिसी को फिर से तय करे। अमेरिका का फिस्कल डेफिसिट जिस गति से बढ़ रहा है, उस हिसाब से वह 2020 में 1 ट्रिलियन डॉलर यानी 1 लाख करोड़ डॉलर तक पहुंच जाएगा। IMF के मुताबिक कई प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में कुल कर्ज और जी.डी.पी. का अनुपात खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है।

पानी की समस्या मेरा बाप भी हल नहीं कर सकता,सीएम चौहान की क्या औकात : लक्ष्मीनारायण 

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई जिलो में इस समय पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ हैं। ऐसे समय में भाजपा के सागर जिले के सांसद लक्ष्मी नारायण यादव ने ये कह कर जले पर नमक छिड़क दिया की सागर जिले में 835 पंचायते मेरे क्षेत्र में आती हैं। ऐसे में मेरा बाप भी पानी की समस्या को हल नहीं कर सकता।सागर जिले के कई इलाके सूखे की मार झेल रहे हैं। हेडपम्पो ने दम तोड़ दिया हैं।कुँए ,नदिया,तालाब सूख चुके हैं। जनता ने कई बार जनप्रितिनिधियो को पानी की समस्या से अवगत कराया। लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ।

सागर के भाजपा सांसद लक्ष्मीनारायण यादव उज्जवला गैस योजना के तहत एक कार्यक्रम में आये थे जब उनसे पानी की समस्या के बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा कि पानी की समस्या तो मेरा बाप भी हल नहीं कर सकता। हमेशा से विवादित व बेबाक बयानों को लेकर पार्टी की किरकिरी करने वाले सागर लोकसभा सांसद ने एक बार फिर बयान देकर पार्टी और जनता को सकते में डाल दिया है।बीजेपी सांसद लक्ष्मी नारायण यादव से जब जलसंकट को लेकर सवाल किया गया तो वे भड़क गए और कहने लगे कि  जब 40 साल से पानी की समस्या से जूझ रहे हो तो 4 से 6 माह में क्या बिगड़ जाएगा।

क्या घर घर पानी का गिलास लेकर जाऐ। सागर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव जिले के जैसीनगर कस्बे में आयोजित प्रधानमंत्री उज्ज्वल गेस कनेक्शन योजना के तहत गैस चूल्हा वितरण करने पहुँचे थे।यहां लोगों द्वारा कस्बे में  पानी के संकट की समस्या पर सवाल पूछा तो वे आग बबूला हो गए और उन्होंने साफ तौर पर कह दिया कि सरकार ने पर्याप्त व्यवस्था की है।अब क्या गिलास में भर कर भी हम पानी दे।सासंद यही नही रुके आगे उन्होंने कहा कि जब 40 साल से यह संकट सह रहे हो तो चार पांच माह में क्या बिगड़ जाएगा।आपकी समस्या को मैं क्या मेरे पिताजी भी हल नही कर सकते।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के क्या औकात हैl

Please Wait... News Loading
GLIBS Ads
Visitor No.