National

यह जीवन मेरा नहीं, मेरे राष्ट्र के लिए है, भारत रत्न मिलने पर बोले आडवाणी

Share

लालकृष्ण आडवाणी ने शनिवार को भारत रत्न से सम्मानित होने पर आभार व्यक्त किया। पीएम मोदी ने शनिवार को घोषणा की कि दिग्गज बीजेपी नेता को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। इसे अपने आदर्शों और सिद्धांतों के लिए ‘सम्मान’ बताते हुए, भाजपा के दिग्गज नेता ने कहा कि अत्यंत विनम्रता और कृतज्ञता के साथ, मैं भारत रत्न स्वीकार करता हूं जो आज मुझे प्रदान किया गया है। उन्होंने कहा कि यह न केवल एक व्यक्ति के रूप में मेरे लिए सम्मान की बात है, बल्कि उन आदर्शों और सिद्धांतों के लिए भी सम्मान है जिनकी मैंने अपनी पूरी क्षमता से जीवन भर सेवा करने का प्रयास किया।

आडवाणी ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि जब से मैं 14 साल की उम्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक के रूप में शामिल हुआ, तब से मैंने केवल एक ही चीज़ में इनाम मांगा है – जीवन में मुझे जो भी कार्य सौंपा गया है, उसमें अपने प्यारे देश की समर्पित और निस्वार्थ सेवा करना। जिस चीज़ ने मेरे जीवन को प्रेरित किया है वह आदर्श वाक्य है “इदं न मम”। यह जीवन मेरा नहीं है। मेरा जीवन मेरे राष्ट्र के लिए है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज मैं उन दो व्यक्तियों को कृतज्ञतापूर्वक याद करता हूं जिनके साथ मुझे करीब से काम करने का सम्मान मिला – पंडित दीनदयाल उपाध्याय और भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी। उन्होंने कहा कि मैं अपनी पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं, स्वयंसेवकों और अन्य लोगों के प्रति हृदय से आभार व्यक्त करता हूं जिनके साथ मुझे सार्वजनिक जीवन में अपनी पूरी यात्रा के दौरान काम करने का सौभाग्य मिला।

GLIBS WhatsApp Group
Website | + posts
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button