ChhattisgarhMiscellaneous

राजधानी में होगा पहला चलित अखंड रामायण : राकेश अग्रवाल

Share

रायपुर। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर छत्तीसगढ़ की राजधानी में भारत वर्ष की पहली चलित अखण्ड रामायण पाठ का भव्य आयोजन कुछ फर्ज हमारा भी संस्था द्वारा किया जा रहा है। वृंदावन साथ रायपुर की संगीतमय रामायण मंडली द्वारा अखण्ड पाठ किया जाएगा। वहीं दिल्ली से बाहुबली श्री हनुमान, वानर सेना व राम, लक्ष्मण, सीता की मनमोहक प्रस्तुति का चलित लाइव शो किया जाएगा। 10-12 गाडिय़ों में अलग-अलग श्रीराम से संबंधित झांकियां राजनांदगांव के कलाकारों द्वारा दर्शाया जाएगा। यह आयोजन 21 व 22 जनवरी को किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार देश में पहली बार इस तरह का अनोखा आयोजन किया जा रहा है जिसका अनुभव लेने के लिए श्रद्धालुओं में भारी उत्सुकता देखी जा रही है। संस्था अध्यक्ष नितिन सिंह राजपूत ने बताया है की इस भव्य आयोजन के लिए रास्ते में पड़ने वाले चौक- चौराहों व प्रमुख सोसायटी जिनमें पार्थिवी पैसिफिक टाटीबंध, स्वर्ण भूमि, सृष्टि प्लाजो, आनंदम सिटी, चौबे कालोनी, मारूति लाइफ स्टाइल में धार्मिक, सामाजिक व व्यापारिक संगठनों द्वारा अपने-अपने स्तर पर चलित अखण्ड रामायण के स्वागत की भव्य तैयारियां की जा रही है। संस्था के संरक्षक राकेश अग्रवाल, उपाध्यक्ष परिवेश गुप्ता, अंकित गोयल, सचिव स्मारिका राजपूत, कोषाध्यक्ष रजत अग्रवाल, सह कोषाधयक्ष अतुल तिवारी, संगठन मंत्री सुनील गोयल साथ सदस्य उदित अग्रवाल, प्रखर अग्रवाल, नरेंद्र शर्मा, सुमित वर्मा भूपेंद्र देवांगन, अनिक खंडेलवाल, नरेंद्र शर्मा साथ अन्य पूरी व्यवस्था में लगे हुए है कार्यक्रम की भव्यता के लिए। चलित रामायण का रूट चार्ट

21 जनवरी को सुबह 9 बजे श्रीराम मंदिर वीआईपी रोड से प्रारंभ होकर तेलीबांधा, अवंती विहार, खम्हारडीह, विधानसभा, मोवा, पंडरी, पुराना बस स्टैण्ड, मरहीमाता मंदिर, फाफाडीह चौक, स्टेशन, तेलघानी नाका से होकर राठौर चौंक तक वहीं रात्रि पड़ाव के बाद 22 जनवरी को पुनः अग्रसेन चौक, समता कालोनी, चौबे कालोनी, राजकुमार कॉलेज, मोहबा बाजार, कोटा रोड, सुयश हॉस्पिटल, भारत माता चौक, गुढिय़ारी मारूति मंगलम के पास स्थित हनुमान मंदिर में समापन होगा। रायपुर में 43 किलोमीटर का सफर दो दिनों में तय करेगी। इस कार्यक्रम को करने के पीछे संस्था का यह उद्देश्य है की हम श्री राम जी के ननीहाल में है और अयोध्या में श्री राम की जन्म भूमि पर 500 वर्षों बाद भव्य मंदिर का निर्माण किया गया है जिसकी प्राण प्रतिष्ठा समारोह को देखने हर कोई व्यक्ति का सपना है। किन्तु व्यवस्था के चलते सीमित लोगों को अनुमति दी गई है। जिसे देखते हुए पूरे विश्व में 22 जनवरी को कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी में हमारी संस्था की एक छोटी सी पहल है कि हम उस दीपावली उत्सव को अपने चलित रामायण अखण्ड पाठ के जरिए यहां के लोगों को दर्शन कराएं।

GLIBS WhatsApp Group
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button