ChhattisgarhMiscellaneous

रक्तदान जागरुकता के लिए कन्याकुमारी से काश्मीर सायकल यात्रा करेगें इन्द्रसेन अग्रवाल

Share

रायपुर। शहर के सायक्लिस्ट 55 वर्षीय इन्द्रसेन अग्रवाल, पिछले कई वर्षों में अनेक सायकल यात्रा कर चुके हैं। अब तक विभिन्न शहरों, पर्वतीय स्थलों, धार्मिक स्थलों से लेकर अनेक पर्यटन क्षेत्रों को मिलाकर अब तक वे लगभग 28 हजार किमी की सायकल यात्रा कर चुके हैं। श्री अग्रवाल लगातार जरूरतमंदों के लिए स्वयंभी रक्तदान करते हैं तथा और भी लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करते हैं।

उन्होंने बताया कि जन मानस में ‘रक्तदान’ हेतु जागरूकता लाने, रक्तदान के लिए समुदाय को प्रेरित करने एक वृहद सायकल यात्रा जो कि “कन्याकुमारी से कश्मीर सोलो सायकल यात्रा” करेगें। रक्तदान के इस अभियान में वे स्वयं “रायपुर रक्तदान सेवा समिति” के जागरूक सदस्य हैं एवं लगभग 75 बार से ज्यादा रक्तदान कर चुके हैं। यह यात्रा पूर्णतः सोलो ट्रिप रहेगी । इस हेतु वे रायपुर से 13 फरवरी को “बिलासपुर त्रिवेन्द्रम एक्सप्रेस” से कन्याकुमारी हेतु प्रस्थान कर रहे हैं। इसके बाद कन्याकुमारी से 16 फरवरी से उपरोक्त सायकल यात्रा प्रारंभ होगी, जो कि लगभग 4500 कि.मी. की लगभग 40 दिनों में समाप्त होगी।

श्री अग्रवाल को उनकी सायकल यात्राओं के लिए अनेक संस्थाओं द्वारा सम्मानित भी किया गया है। विगत दिनों छत्तीसगढ़ी अग्रवाल समाज द्वारा चम्पारण अधिवेशन में “अग्र अलंकरण सम्मान” से सम्मानित हुए। वे रक्तदान सेवा समिति, दूर द रायपुर, छत्तीसगढ़ सायकल क्लब, सायकललोग, लायंस क्लब रायपुर प्रेरणा, द बायसिकल कैफे इत्यादि संस्थाओं से जुड़े हुए है और लगातार सायक्लिंग एवं रक्तदान हेतु लोगों को प्रेरित करते रहते है। वे जेसीआई रायपुर सिटी के पूर्व अध्यक्ष, छ. ग. अग्रवाल समाज, कुशालपुर, रायपुर के पूर्व सचिव भी रह चुके है।

अब तक वे लगभग 28हजार किलोमीटर सायकल चलाकर से अनेको यात्राएं संपन्न कर चुके हैं, जिसमें मुख्य रूप से-

→ 14 दिवसीय “मनाली से खार्दुगला’ सायक्लिंग 540 कि.मी.

34 दिवसीय “नर्मदा जी की परिक्रमा” 3400 किमी

→ 36.20 घंटे में: 600 किमी: रायपुर-सोहेला-रायपुर – बिलासपुर – रायपुर

→ 23.24 घंटे में: 400 किमी रायपुर – सोहेला रायपुर

→ 18.22 घंटे में: 300 किमी रायपुर सरायपाली – रायपुर

→11.10 घंटे में : 200 किमी : रायपुर – पियौरा-रायपुर करने के बाद “सुपर रेडोनियर्स ” का खिताब प्राप्त किये ।

→100 किमी सेन्यूरी राईड: अब तक लगभग 52 बार ।

→ 50 किमी हॉफ सेन्यूरी राईड : अब तक लगभग 95 बार संपन्न हो चुकी है ।

और ट्रेवलर चाचू के नाम से जाना जाते हैं।

GLIBS WhatsApp Group
Website | + posts
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button