ChhattisgarhNational

ग्राम पंचायतों को बनाएं सशक्त : केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

Share

केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कल देर शाम कोरबा स्थित एनटीपीसी के कावेरी भवन में पंचायत एवं ग्रामीण विकास से संबंधित अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। उन्होने जिले में मनरेगा, एनआरएलएम, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, भू-अभिलेख आधुनिकीकरण,वाटरशेड, अमृत सरोवर सहित अन्य योजनाओं की विस्तृत समीक्षा की। केन्द्रीय मंत्री सिंह ने जिले में चार, चिरौंजी, केला, पपीता उत्पादन को प्रोत्साहित करते हुए पशुपालन को बढ़ावा देने और सामाजिक वानिकी को स्थापित करते हुए पंचायतों को सशक्त बनाने की दिशा में प्रयास करने के निर्देश दिए।

केंद्रीय मंत्री सिंह ने शासकीय आवासों सहित इच्छुक किसानों के आवासीय परिसरों में चार-चिरौंजी के पौधें लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने आजीविका मिशन अंतर्गत महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करते गए पशुपालन, फलदार पौधा रोपण सहित अन्य लाभदायक गतिविधियों से जोड़ने कहा। उन्होंने महिला समूह के सदस्यों को आयुष्मान कार्ड, श्रम कार्ड, सुरक्षा बीमा, जीवन ज्योति बीमा योजना से लाभान्वित करने के निर्देश भी दिए। केंद्रीय मंत्री ने पारंपरिक खेती के स्थान पर अर्न्तवर्तिय सहित अन्य फसलों को भी बढ़ावा देने के निर्देश दिए। उन्होंने गौठानो में नई आर्थिक गतिविधि संचालित करने की दिशा में प्रयास करने के संबंध में भी सुझाव दिए और एनटीपीसी तथा बालको के सहयोग से आजीविका गतिविधियों को बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने मुर्गी पालन, दूध उत्पादन को बढ़ाने और स्व सहायता समूह की दीदियों को लखपति दीदी बनाने के संबंध में निर्देश दिए।
बैठक में केंद्रीय मंत्री सिंह ने पंचायतों में आमदनी का नया विकल्प तलाशने के सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के फ्लैगशिप कार्यक्रम में स्व सहायता समूहों की महिलाओं को आजीविका गतिविधियों से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है, इसलिए उन्हें योजनाओं से जोड़ते हुए आगे बढ़ाए। केंद्रीय मंत्री ने स्व-रोजगार युक्त पंचायत, पोषणयुक्त पंचायत, स्वच्छ पंचायत, ग्रीन पंचायत, कार्बन मुक्त पंचायत की परिकल्पना को अपनाने और इसे साकार करने की दिशा में प्रयास करने के साथ नवाचार प्रयासों को प्लान बनाकर राज्य स्तर पर प्रेषित करने के निर्देश भी दिए। केंद्रीय मंत्री सिंह ने सामाजिक वानिकीकरण को बढ़ावा देने, प्रधानमंत्री जनमन योजना से विशेष पिछड़ी जनजाति को विकास से जोड़ने, वाटरशेड के माध्यम से जल संरक्षण के लिए ग्रामीणों को जागरूक करने के सम्बंध में भी निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्टर अजीत वसंत को दिए गए निर्देशों के संबंध में होने वाली कार्यवाही की मॉनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए।

इस दौरान छत्तीसगढ़ शासन के वाणिज्य उद्योग एवं श्रम मंत्री लखन लाल देवांगन, विधायक कटघोरा प्रेमचंद पटेल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण विकास अभिकरण भीम सिंह, कलेक्टर अजीत वसंत, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला, वनमण्डलाधिकारी कोरबा अरविंद पीएम, कटघोरा वनमण्डलाधिकारी निशांत कुमार, निगमायुक्त सु प्रतिष्ठा ममगाई, प्रभारी सीईओ जिला पंचायत प्रदीप साहू, अपर कलेक्टर दिनेश नाग सहित एनटीपीसी के जीएम आदि उपस्थित थे।

GLIBS WhatsApp Group
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button