ChhattisgarhMiscellaneous

बिचौलियों और व्यापारियों का धान खपत रोकने प्रशासन हाई-अलर्ट पर

Share


कवर्धा। कलेक्टर ने सेवा सहकारी समिति बोदा (तरेगाव जंगल) के धान खरीदी केंद्र प्रभारी और डाटा एंट्री ऑपरेटर की सेवा समाप्ति करने सहित धान वसूली करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में जिले के धान उपर्जान केन्द्रों में धान खरीदी के कार्यों में गड़बडी, अनियमिता से संलिप्त कर्मचारियों की जांच रिपोर्ट के बाद उन सभी का सेवा समाप्त करने के लिए उपपंजीयक विभाग को आवश्यक निर्देश दिए है। कलेक्टर ने बोडला विकासखण्ड के सेवा सहकारी समिति बोदा (तरेगाव जंगल) के धान खरीदी केंद्र प्रभारी और डाटा एंट्री ऑपरेटर की सेवा समाप्ति करने सहित उन लोगों से धान वसूली करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि धान उपर्जान केन्द्र में धान का स्टॉक पंजी तथा धान का भौतिक सत्यापन करने पर वहां तीन हजार तीन सौ क्विंटल धान मौके पर नहीं मिला। समर्थन मूल्य के आधार पर धान की कीमत लगभग 72 लाख रूपए का आंकलन किया गया है। कलेक्टर ने इस कार्य में संलिप्त सेवा सहकारी समिति बोदा (तरेगाव जंगल) के धान खरीदी केंद्र प्रभारी रमेश मरावी और डाटा एंट्री ऑपरेटर साधराम पटेल की सेवा समाप्ति करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए है। साथ ही उन लोगों से धान अथवा राशि वसूली की कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। बैठक में बताया गया कि खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में धान खरीदी में अनियमितता बरतने पर 11 सेवा सहकारी समिति के 28 समिति प्रबंधक और कंप्यूटर ऑपरेटर पर कार्रवाई की है। इसमें एक समिति प्रबंधक पर एफआईआर, एक डाटा एंट्री ऑपरेटर को सेवा से पृथक, दो समिति प्रबंधक और एक डाटा एंट्री ऑपरेटर को निलंबित और 23 समिति प्रबंधक और डाटा एंट्री ऑपरेटर को कारण बताओं नोटिस जारी किया है। कलेक्टर ने संबंधित धान खरीदी केन्द्रों के नोडल अधिकारियों को भी शो कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है।

GLIBS WhatsApp Group
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button