GLIBS

26-05-2019
मां का आशीर्वाद लेने गांधीनगर पहुंचे पीएम मोदी

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में जबरदस्त जीत दर्ज करने के बाद प्रधानमंत्री अपने गृह राज्य पहुंचे। यहां अहमदाबाद में उन्होंने पहले कार्यकर्ताओं को संबोधित किया, फिर अपनी मां हीराबेन का आशीर्वाद लेने गांधीनगर पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी मां के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। चुनाव में प्रचंड जीत दर्ज करने के बाद रविवार को गुजरात पहुंचने के बाद मोदी ने अहमदाबाद में रैली को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि मैं यहां आपका आशीर्वाद लेने आया हूं। बड़ा जनादेश बड़ी जिम्मेदारियां लाता है। इतनी बड़ी जीत के बाद विनम्र बने रहना महत्वपूर्ण है। गुजरात में भाजपा ने लगातार दूसरी बार सभी सीटों पर जीत दर्ज की। 2019 का चुनाव न भाजपा लड़ी, न मैं लड़ा और न ही कोई और नेता। यह चुनाव देश की जनता ने लड़ा। इस बार सभी राजनीतिक पंडित फेल हो गए। छठे चरण के बाद मैंने कहा था कि हमें 300 से ज्यादा सीटें मिलेंगी। कई लोगों ने मेरा मजाक उड़ाया। चुनावों के दौरान मैंने देखा कि लोगों ने एक मजबूत सरकार बनाने के लिए वोट किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाले पांच साल जनचेतना और जन भागीदारी के जरिये विश्व में भारत की खोई हुई ताकत वापस लाने के लिए हैं। 1942 से 1947 की तरह ही आने वाले पांच साल देश के लिए काफी अहम हैं। हमें इन पांच वर्षों का इस्तेमाल जनता की समस्याओं को हल करने और देश के सर्वांगीण विकास के लिए करना है।

26-05-2019
करारी हार के बाद सीएम ममता बनर्जी ने संगठन में किए बड़े ऑपरेशन

 

कोलकाता। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी की अप्रत्याशित सफलता के बाद तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी में कई तरह के फेरबदल करने की शुरूआत करते हुए संगठन स्तर पर पैदा हुई खामियों को दूर करने की कवायद शुरू कर दी है। इस कवायद में ममता ने कुछ नेताओं के पर कतरे हैं, तो कुछ नेताओं को अहम जिम्मेदारियां दी हैं। टीएमसी में इस फेरबदल के बाद ममता बनर्जी के बाद नंबर दो समझे जाने वाले ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी के पर कतरे गए हैं। अभिषेक की जिम्मेदारी वाले जिन जिलों में भाजपा ने अच्छी पकड़ बनाई, उनसे उन जिलों का प्रभार वापस लेकर दूसरे नेताओं को दिया गया है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और विजेता लोकसभा प्रत्याशियों के साथ लंबी मीटिंग के बाद ममता ने कहा कि हमने संगठन में कई तरह के बदलाव किए हैं। जिन प्रत्याशियों ने कड़ा मुकाबला किया लेकिन हार गए, उन्हें भी अतिरिक्त जिम्मेदारियां दी गई हैं। झारग्राम, पश्चिम बर्दवान, मालदा, उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर, मुर्शिदाबाद, पुरुलिया, बांकुरा, पश्चिम मिदनापुर और नादिया जैसे जिलों में ममता ने संगठन स्तर पर कई बदलाव किए हैं। अभिषेक बनर्जी को पुरुलिया और बांकुरा जिलों के लिए पार्टी पर्यवेक्षक बनाया गया था, लेकिन अब उनसे ये जिम्मेदारी वापस लेते हुए वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी को कमान दी गई है। संगठन सुधार के अलावा ममता ने ये संकेत भी दिए कि वह उन सरकारी अफसरों को भी बख्शने के मूड में नहीं हैं, जिन्होंने लोगों के हित में शुरू की गई योजनाओं को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई।

26-05-2019
पीएम मोदी को पाक, नेपाल और मालदीव से मिली जीत की बधाई

 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद और नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव नेपाल ने फोन करके लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए बधाई दी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से फोन पर बात के दौरान दोनों नेताओं ने क्षेत्र में शांति, प्रगति एवं समृद्धि के लिए सहयोग बढ़ाने हेतु हिंसा तथा आतंकवाद से मुक्त वातावरण के निर्माण की जरूरत पर बल दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को टेलीफोन करने और बधाई देने के लिए धन्यवाद दिया। पीएम मोदी ने अपनी सरकार की फस्र्ट नेबर पॉलिसी की पहलों का जिक्र करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से संयुक्त रूप से गरीबी से लडऩे के पहले दिए गए सुझावों का भी उल्लेख किया। मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद और नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव नेपाल ने भी रविवार को लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन पर बधाई दी। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति नशीद ने प्रधानमंत्री को उनके ऐतिहासिक जनादेश पर बधाई दी और हाल के वर्षों में मालदीव और भारत के बीच प्रगाढ़ हुए रिश्तों का उल्लेख किया। उन्होंने क्षेत्र में उग्रवाद तथा चरमपंथ तत्वों से लडऩे के लिए घनिष्ठ सहयोग के महत्व पर जोर दिया। नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव नेपाल ने प्रधानमंत्री को ऐतिहासिक और जबरदस्त जीत के लिए अपनी पार्टी एवं सहयोगी दलों का नेतृत्व करने पर हार्दिक बधाई दी। उन्होंने विश्वास जताया कि एक महान विश्व शक्ति के रूप में भारत के उत्थान से गुणात्मक रूप से समस्त क्षेत्र की उन्नति होगी।

26-05-2019
पूरे विश्व में बढ़ा 125 करोड़ भारतीयों का मान : अमित शाह

अहमदाबाद। लोकसभा चुनाव में जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ रविवार शाम अहमदाबाद पहुंचे। यहां एयरपोर्ट के पास लगी सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा पर उन्होंने माल्यार्पण किया। इसके बाद मोदी और अमित शाह पार्टी दफ्तर पहुंचे।  शाह ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ  की। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में मोदी-मोदी हो रहा है। पूरे विश्व में 125 करोड़ भारतीयों का मान बढ़ा है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक विकास नजर आ रहा है। कभी गुजरात में यात्रा निकालने से डर लगता था। मोदी के आने के बाद गुजरात में दंगा खत्म हो गया। शाह ने कहा कि लोग यहां हमारा स्वागत करने आए हैं, लेकिन हमें सूरत में अग्निकांड के दौरान जिंदगी खोने वाले 22 बच्चों को श्रद्धांजलि देनी चाहिए। हमें उनके और उनके परिवार के लिए भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि  2014 में देश मुझे नहीं पहचानता था, लेकिन उस चुनाव में देश गुजरात को पहचानता था।  गुजरात में हर तरह का विकास हुआ। तब जनादेश गुजरात के विकास की वजह से मिला था। इस दौरान पीएम मोदी ने सूरत घटना पर भी दुख जताया। उन्होंने कहा कि सूरत घटना पर जितना भी दुख जताया जाए, वह कम है। परिवार पर आए संकट के लिए हम ईश्वर से प्रार्थना कर सकते हैं कि परिवार को इस भयंकर आपदा में टिके रहने की शक्ति दे। मैं राज्य सरकार से लगातार इस घटना के बारे में संपर्क में था।

26-05-2019
युकां ने विरोध प्रदर्शन कर अमित जोगी को भेजा आईना और चश्मा

अम्बिकापुर। सरगुजा यूथ कांग्रेस द्वारा आज घड़ी चौक पर जोगी कांग्रेस के खिलाफ  विरोध प्रदर्शन किया गया। साथ ही अमित जोगी और अजीत जोगी को आईना और चश्मा स्पीड पोस्ट द्वारा भेजा गया। दरअसल छत्तीसगढ़ की  कांग्रेस सरकार के खिलाफ अमित जोगी ने आरोप लगाते हुए कि सरकार युवाओं को रोजगार और अन्य क्षेत्र में कार्य नहीं कर पा रही है। इसी कारण  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चश्मा और आईना भेजा था। उसी के विरोध में सरगुजा यूथ कांग्रेस के जिला महामंत्री हिमांशु जयसवाल के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने जोगी कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन के साथ उन्हें आईना और चश्मा भेजा है। वही आरोप लगाया है कि जोगी शासनकाल में नक्सलवाद को बढ़ावा मिला था जिसके कारण आज भी छत्तीसगढ़ प्रदेश की सबसे बड़ी समस्या नक्सलवाद बनी हुई है। यूथ कांग्रेस ने अमित जोगी को आईना और चश्मा भेजकर कहा है कि जोगी कांग्रेस को यह चश्मा और आईना उनकी गलत नीतियों का हमेशा एहसास कराता रहेगा।

26-05-2019
इमरान खान ने फोन पर पीएम मोदी को दी प्रचंड जीत की बधाई

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की और लोकसभा चुनाव में जीत की बधाई दी। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने ट्वीट करके बताया कि इमरान खान ने मोदी को लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी की जीत पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए अपनी इच्छा दोहराते हुए खान ने कहा कि वे इन उद्देश्यों को आगे ले जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करने के प्रति आशान्वित हैं। फैसल ने कहा कि खान ने इच्छा जताई कि अपने लोगों की बेहतरी के लिए दोनों देश मिलकर काम करें। इससे पहले इमरान खान ट्वीट के जरिए भी पीएम मोदी को बधाई दे चुके हैं। बता दें कि इस साल 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव जैसे हालात बन गए थे। पुलवामा में शहीदों की शहादत के बाद भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था। इसके बाद पाकिस्तान के वायुसेना के विमान भारतीय सीमा में घुस आए थे, जिसके बाद से ही दोनों देशों के बीच बातचीत बंद है।

26-05-2019
17वीं लोकसभा का पहला सत्र 5 जून से!

 

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत करने जा रहे हैं। खबर है कि 17वीं लोकसभा का पहला संसद सत्र 5 जून से शुरू हो सकता है। पहला सत्र 5 से 15 जून तक चलने की संभावना है। इसमें सभी सांसदों को प्रोटेम स्पीकर के द्वारा शपथ दिलाई जाएगी। प्रोटेम स्पीकर सबसे वरिष्ठ सांसद (उम्र में सबसे ज्यादा) को बनाया जाता है। इसके बाद लोकसभा स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चुनाव होगा। 16वीं लोकसभा में स्पीकर बीजेपी सांसद सुमित्रा महाजन थीं और डिप्टी स्पीकर एआईएडीएमके के सांसद थम्बी दौरई थे। बता दें कि शनिवार को नरेंद्र मोदी को एनडीए के संसदीय दल का नेता चुना गया। नए सांसदों और अन्य नेताओं को नरेंद्र मोदी ने 75 मिनट का भाषण दिया। इसके बाद एनडीए के नेताओं ने राष्ट्रपति भवन जाकर समर्थन पत्र राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपा। द्मद्दछ देर बाद मोदी भी राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात करने पहुंचे थे। इस दौरान राष्ट्रपति कोविंद ने मोदी को प्रधानमंत्री नियुक्त करते हुए केंद्र में नई सरकार बनाने का न्योता देकर मंत्रिपरिषद् और शपथ ग्रहण की डेट तय करने को कहा था।

26-05-2019
कर्नाटक सरकार पर संकट के बादल, भाजपा नेता से मिले दो कांग्रेसी 

नई दिल्ली। कर्नाटक में सियासी माहौल बड़ी तेजी से बदल रहा है। प्रदेश की जनता दल (सेक्युलर)-कांग्रेस गठबंधन सरकार पर संकट के बादल छाने की अटकलों के बीच कांग्रेस नेता रमेश जारकीहोली और डॉक्टर सुधाकर ने रविवार को बेंगलुरु में भारतीय जनता पार्टी के नेता एसएम कृष्णा के आवास पर बीजेपी नेता आर अशोक से मुलाकात की है। हालांकि रमेश जारकीहोली ने इस मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया है। बीजेपी नेता आर अशोक से मुलाकात पर कांग्रेस नेता रमेश जारकीहोली ने कहा कि यह कोई राजनीतिक बैठक नहीं थी। हम कर्नाटक में 25 सीटें जीतने के बाद एसएम कृष्णाजी को शुभकामना देना चाहते थे। यह एक शिष्टाचार भेंट थी। वहीं भाजपा नेता आर अशोक ने भी कांग्रेस नेता रमेश जारकीहोली से किसी तरह का संबंध होने से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि मैं पार्टी के मामलों पर चर्चा करने के लिए एसएम कृष्णा जी से मिलने आया था। कांग्रेस नेताओं रमेश जारकीहोली और डॉ सुधाकर से मेरी कोई मित्रता नहीं है। मांड्या से चुनी गईं निर्दलीय सांसद सुमलता अंबरीश भी रविवार को बीजेपी नेता एसएम कृष्णा से उनके आवास पर मिलीं। इस दौरान प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा भी मौजूद थे। इस मुलाकात पर सुमलता ने कहा कि सभी से मिलना और उनका धन्यवाद करना मेरा कर्तव्य है। साथ ही उन्होंने ने कहा कि मैं 29 मई को मांड्या जाऊंगी। मैं उन सभी को श्रेय देना चाहूंगी, जिन्होंने मेरे लिए कड़ी मेहनत की है। 

26-05-2019
सीएम कमलनाथ के एक-एक मंत्री पांच-पांच विधायकों पर रखेंगे नजर

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्य में विधायकों को नई जिम्मेदारी सौंपी है। इस जिम्मेदारी के तहत मंत्री पांच-पांच विधायकों पर नजर रखेंगे और उनसे लगातार संवाद भी करेंगे। रविवार को कमलनाथ ने विधायकों की बैठक बुलाई है। कमलनाथ ने निर्दलीय विधायकों से खुद चर्चा करने का फैसला लिया है। दूसरी ओर  कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने राज्य के हालातों पर दो बार मंथन किया। राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार और निगम मंडलों में नियुक्तियों पर भी सरकार जल्द फैसला लेगी। दरअसल, मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार के गिरने-गिराने की अटकलों के बीच एक ओर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कांग्रेस में अंतर्कलह की ओर इशारा किया। वहीं, दूसरी ओर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने विधायकों के बगावती तेवर की आशंका पर यह कदम उठाने का फैसला लिया है। चर्चा है कि मंत्रिमंडल के गठन के बाद से ही सरकार में जगह न पाने वाले पार्टी के वरिष्ठ विधायक और बाहर से सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों की नाराजगी समय-समय पर सामने आती रही है। मंत्रिमंडल में वरिष्ठ विधायकों में छह बार के विधायक केपी सिंह, बिसाहूलाल सिंह, एंदल सिंह कंसाना और राज्यवद्र्धन सिंह दत्तीगांव को जगह नहीं मिल पाई थी। वहीं निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह ठाकुर और केदार सिंह डाबर भी मंत्रिमंडल में जगह मिलने की उम्मीद जता रहे हैं। इधर बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाहा और सपा के राजेश शुक्ला को मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की चर्चा है।

26-05-2019
उपेंद्र कुशवाहा का साथ छोड़कर जेडीयू में शामिल हुए दोनों विधायक

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के निराशाजनक परिणामों के बाद रविवार को उपेंद्र कुशवाहा को बिहार में दूसरा झटका लगा जब उनकी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विधायक दल का विलय नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के साथ हो गया। इसके साथ ही विधानसभा में रालोसपा का अस्तित्व भी खत्म हो गया। रालोसपा के दो विधायक ललन पासवान और सुधांशु शेखर ने नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल युनाईटेड में शामिल हो कर दल का विलय कराया। बिहार में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के कुल दो ही विधायक थे। लोकसभा में पार्टी के प्रदर्शन के बाद उन दोनों ने भी जदयू का दामन थामकर विधायक दल का विलय करवा लिया। दोनों विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी को अपनी पार्टी का जदयू में विलय से संबंधित पत्र सौंपा था, जिस पर विधानसभा अध्यक्ष की मंजूरी के बाद पार्टी का जदयू में विलय हो गया। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा से नाराज हो कर उपेंद्र कुशवाहा ने एनडीए से नाता तोड़ लिया था। इसके बाद रालोसपा एनडीए के खिलाफ महागठबंधन की ओर से मैदान में उतरी, लेकिन बेहतर प्रदर्शन कर पाने में असफल रही। रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा बिहार की दो लोकसभा सीट, काराकट और उजियारपुर से मैदान में थे। दोनों ही सीटों पर उन्हें हार का सामना करना पड़ा। एक तरफ  काराकट सीट पर कुशवाहा को जदयु के महाबली सिंह ने मात दी, तो दूसरी ओर उजियारपुर में भाजपा प्रत्याशी नित्यानंद राय ने उन्हें हराया।

26-05-2019
ओडिशा के 5वीं. बार सीएम बनेंगे नवीन पटनायक, पेश किया सरकार बनाने का दावा 

 

भुवनेश्रर। बीजू जनता दल (बीजद) के अध्यक्ष नवीन पटनायक ने ओडिशा के राज्यपाल गणेशीलाल से मुलाकात की और राज्य में लगातार पांचवी बार सरकार गठन का दावा पेश किया। पटनायक को रविवार को नवनिर्वाचित विधायकों ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक बैठक में बीजद विधायक दल का नेता चुना। नवीन 29 मई को लगातार पांचवी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। उन्होंने कहा, विधायकों ने मुझे अपना नेता चुना है। मैं उन सभी का बहुत आभारी हूं। शपथग्रहण समारोह यहां एक्जिबिशन ग्राउंड में आयोजित होगा। शपथ-ग्रहण समारोह में पटनायक अपने मंत्रिपरिषद सदस्यों के साथ पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे। बता दें कि बीजद ने 147 सदस्यीय विधानसभा में 112 सीटें जीती है। भारतीय जनता पार्टी 23 सीटें जीतकर मुख्य विपक्षी पार्टी बन गई है। कांग्रेस को नौ सीटों पर ही विजय मिल पाई।

26-05-2019
भाजपा कार्यकर्ता की अर्थी को सांसद स्मृति ईरानी ने दिया कंधा

अमेठी। स्मृति ईरानी के करीबी अमेठी के गौरीगंज इलाके के बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। घटना की सूचना मिलने के बाद स्मृति ईरानी दिल्ली से अमेठी पहुंचीं। उन्होंने मृतक के परिजन से मुलाकात की और सुरेंद्र के शव को कंधा भी दिया। सुरेंद्र के बेटे ने इस मामले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर शक जताया है। सुरेंद्र सिंह को अंतिम विदाई देने के लिए गांव में लोगों की भीड़ उमड़ी थी। गांव में तनाव को देखते हुए मौके पर फोर्स को तैनात किया गया है। पीएसी के अलावा बड़ी संख्या में पुलिसबल मौके पर पहले से ही मौजूद हैं।

बता दें कि रविवार सुबह इस मामले में मृतक सुरेंद्र सिंह के बेटे अभय ने कांग्रेस समर्थकों पर पिता की हत्या का शक जताया था। अभय ने कहा कि मेरे पिता स्मृति ईरानी के प्रचार में चौबीसों घंटे लगे रहते थे। स्मृति ईरानी की जीत के बाद विजय यात्रा निकाली जा रही थी। ये बात कांग्रेस समर्थकों को अच्छी नहीं लगी, शायद इसीलिए उनकी हत्या कर दी गई। हमें कुछ लोगों पर संदेह है। हालांकि पुलिस को इस वारदात के पीछे पारिवारिक रंजिश होने का शक है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि सात लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। हमें उम्मीद है कि केस 12 घंटे में सुलझा लिया जाएगा।

Please Wait... News Loading