GLIBS

07-08-2020
प्रदेश सरकार कोरोना के मोर्चे पर शुरू से लेकर अब तक बुरी तरह विफल : उपासने

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने में प्रदेश सरकार की नाकामी को लेकर निशाना साधा है। उपासने ने कहा कि एक तरफ प्रदेश में मिलावटी सैनिटाइजर बेचे जाने की खबरें सुर्खियों में हैं वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार का शुक्रवार से खत्म हुआ लॉकडाउन का प्रयोग भी नाकारा साबित हुआ है। यह राज्य सरकार की मिलावटखोरों को संरक्षण और कोरोना की रोकथाम के प्रति सरकार के अविचारित नजरिए का परिचायक है। उपासने ने प्रदेश में इन दिनों सरकार की नाक के नीचे मिलावटी सैनिटाइजर को लेकर प्रदेश सरकार और अफसरशाही की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा किया है। उपासने ने कहा कि प्रदेश में अब बिना लाइसेंस के सैनिटाइजर बनाने और बेचने का काम खुलेआम चल रहा है और शासन-प्रशासन इस ओर से आँखें मूंदे बैठे हैं। इस सैनिटाइजर में भारी मिलावट कर मापदंड की अनदेखी की जा रही है। उपासने ने दावा किया कि बाजार में बिक रहे इस गैर लाइसेंसी सैनिटाइजर में अल्कोहल निर्धारित मात्रा से आधे से भी कम होने की शिकायत सामने आ रही हैं, जबकि सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा 90 फीसदी होना निर्धारित है। इस पर तुरंत रोक लगाई जानी चाहिए। उपासने ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े के लॉकडाउन पीरियड में प्रदेश में कोरोना संक्रमितों के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं। यह तथ्य इस बात की तस्दीक कर रहा है कि प्रदेश सरकार कोरोना के मोर्चे पर शुरू से लेकर अब तक बुरी तरह विफल है। हैरत की बात है कि जब लॉकडाउन में कोरोना संक्रमितों का आँकड़ा चिंताजनक स्तर पहुँच चुका है तो फिर लॉकडाउन का मतलब ही क्या रहा?  

 

07-08-2020
भाजपा ने पूछा : भुगतान की राशि देखकर सवाल उठ रहा है कि ऐसी कौन-सी गाय है,जो रोज 59 किलो गोबर देती है?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संदीप शर्मा ने गोधन न्याय योजना को लेकर एक बड़े घोटाले की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालकों को हुए भुगतान की राशि देखकर सवाल उठ रहा है कि ऐसी कौन-सी गाय है जो रोज 59 किलो गोबर देती है? शर्मा ने एक पशुपालक को 15 दिनों में बेचे गए गोबर के लगभग 44 हजार रुपए के हुए भुगतान को प्रदेश सरकार की एक और झूठी आँकड़ेबाजी बताया है। संदीप शर्मा ने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत खरीदे गए गोबर के भुगतान की छपी एक खबर के हवाले से यदि यह मान लिया जाए कि एक पशुपालक को गोबर बेचने पर 44 हजार रुपए से अधिक का भुगतान मिला है तो इसका तात्पर्य यह हुआ कि उसने प्रतिदिन प्रति गाय का 59 किलो से ज्यादा गोबर सरकार को बेचा है। समाचार के मुताबिक उक्त पशुपालक के पास 25 गाय है। शर्मा ने इस आँकड़ेबाजी पर कहा कि उस पशुपालक ने 15 दिन में प्रति गाय 221 क्विंटल गोबर बेचा। इस मान से 25 गायों से उसने 22,100 किलो गोबर 15 दिनों में बेचा। अत: प्रतिदिन 25 गाय से गोबर 1,473.33 किलो प्रतिदिन उस पशुपालक ने बेचा और इस प्रकार 25 गायों से कुल गोबर प्रतिदिन प्रति गाय से हिसाब से 59 किलो 930 ग्राम गोबर प्रति गाय पशुपालक ने बेचा। संदीप शर्मा ने प्रदेश सरकार और आला अफसरों से जानना चाहा कि ऐसी कौन-सी गाय है जो रोज 59 किलो गोबर देती है?

 

07-08-2020
Video : भाजपा रामजी के नाम पर राजनीति करना बंद करे : सत्यनारायण शर्मा

रायगढ़। छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा रायगढ़ पहुंचे। बताया गया कि विधानसभा में एक वन विभाग के प्रश्न की जांच करने रायगढ़ आये थे। सबसे पहले वन विभाग के रेस्ट हाउस पहुँचकर अधिकरियों से चर्चा की। इसके बाद विप्र फाउंडेशन के सभी पदाधिकारियों के साथ उन्होंने एक बैठक की। बैठक में सभी को समाज में जोड़ कर समाज को मजबूती देने की बात कही। प्रेस से बातचीत करते हुए पूर्व मंत्री ने बताया कि भाजपा सिर्फ और सिर्फ भाषण बाजी करती है।

गरीबों के लिए आज तक इनकी पार्टी ने कुछ नहीं किया रहा सवाल राम मंदिर का तो राम भगवान को मानने वाले हर हिंदू चाहे वह किसी भी पार्टी से जुड़ा रहे सबका अधिकार है ,भाजपा राम जी के नाम की राजनीति करना बंद करें। इसके बाद सभी से मुलाकात करने के पश्चात वे सड़क मार्ग से होते हुए रायपुर की ओर रवाना हो गए।  आज उनके रायगढ़ प्रवास में उनके साथ कांग्रेस कमेटी के शहर अध्यक्ष अनिल शुक्ला, सतपाल बग्गा, राकेश पांडे और आरिफ हुसैन भी शामिल थे।

06-08-2020
कोरोना से हुई मौतों को लेकर जांच जरूरी : कौशिक

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में कोरोना के फैलाव के साथ ही बढ़ते मृत्युदर पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि पूरे मसले पर जांच की मांग विपक्ष ने लम्बे समय से उठ रही है। आखिरकार प्रदेश सरकार ने विपक्ष के दवाब में आकर अब कोरोना से हुए मौतों पर जांच शुरू करने की बात कह रही है। अब तक प्रदेश में करीब 71 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से अस्पतालों व कोरेन्टाइन सेंटर में हुई मौतों के मामले में पीड़ित परिवारों को तत्काल क्षतिपूर्ति राशि प्रदेश सरकार को देना चाहिये। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कोविड अस्पतालों में व्यवस्था को बेहतर करने की जरूरत है। उन्होंने प्रदेशवासियों से सोशल डिस्टेंडिग के पालन के साथ ही जरूरी एहतियात बरतने की अपील की है।

 

06-08-2020
राम डस नॉट एक्सिस्ट कह कर राम के अस्तित्व को नकारने का दुस्साहस किसके कहने पर किया था? : भाजयुमो

रायपुर। भारतीय जनता युवा मोर्चा नेता अनुराग अग्रवाल और उमेश घोरमोड़े ने कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी के बयान पर पलटवार किया है। भाजयुमो नेताओं ने कहा कि भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल खड़ा करने वाले आज राम नाम जप रहे है, यह अच्छी बात है। इतिहास गवाह है अपने अंत समय में रावण ने भी जय श्री राम कहा था, क्योंकि मुक्ति का द्वार भी यही है। उन्होंने कांग्रेस से 10 सवाल पूछा है कि-
1 राम डस नॉट एक्सिस्ट कह कर राम के अस्तित्व को नकारने का दुस्साहस किसके कहने पर किया था?
कहां थे विकास तिवारी सहित तमाम कांग्रेस के नेता जब सुप्रीम कोर्ट में बाकायदा हलफनामा देकर कहा जा रहा था कि भगवान श्री राम कभी पैदा ही नहीं हुए थे। यह केवल कल्पना है। ऐसा कर क्या कांग्रेस ने व्यवसायिक हित के लिए देश के करोड़ो हिंदुओं की आस्था पर कुठाराघात की तैयारी नहीं कि थी?
2 राम मंदिर शिलान्यास पर राम नाम जपने वाली कांग्रेस को यह भी बताना चाहिए कि कांग्रेस नेता शशि थरूर ने जब कहा था कि अच्छा हिंदू राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहता तब कांग्रेस के मित्रों के मुह में दही जम गया था क्या?
3 जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम श्री राम मंदिर पर अध्यादेश को असंवैधानिक बता रहे थे तब कांग्रेस के नेता कहाँ थे? तब क्यों इन्हें सांप सूंघ गया था?
4 राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट का गठन हुआ तब क्यों कांग्रेस के नेताओं ने इसपर आपत्ति की थी? आपत्ति करने वाले आज शिलान्यास का जश्न मनाते राम राम रटते नहीं थक रहे है क्यों?
5 तब कहां थे कांग्रेस के राम भक्त नेता जब कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने राम मंदिर के निर्णय को 2019 लोकसभा चुनाव तक टालने की मांग की थी?  तब प्रभु राम याद नहीं आ रहे थे क्या?
6 तब कहां थे कांग्रेस के नेता जब ताजा बयान में कांग्रेस सांसद पी चिदंबरम के पुत्र ने कहा कि भारत में किसी नये पूजा स्थल की जरूरत नहीं?
7 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के पिता भगवान राम को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करते है क्या यह राम भक्त कांग्रेस के मित्रों को सुनाई नहीं पड़ता?
8 कांग्रेस के नेता में है इतनी हिम्मत की भगवान राम पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले नंद कुमार बघेल के खिलाफ एक शब्द भी बोल सकें?  राम के हितैषी बनने का ढोंग करने वाले कांग्रेस नेता में है इतनी हिम्मत की नंदकुमार बघेल मुदार्बाद कहे?
9 क्या नंद कुमार बघेल के खिलाफ कार्यवाही की मांग करेंगे कांग्रेस के नेता?
10 जो मंदिर जाते है वह लड़की छेड़ते है किसने कहा था? क्या इस वक्तव्य का किसी कांग्रेस के नेता ने कभी विरोध किया?
भाजयुमो नेताओं ने कहा कि कांग्रेस लगातार राम मंदिर के विषय पर राजनीति करते रही है, यह दुर्भाग्यजनक है। कांग्रेस नेताओं को आज किस प्रकार 400 सीटों से 44 पर आते ही राम याद आने लगे देश ने देखा है। आज श्रेय के लिए राम राम जपने वाली कालनेमि को जनता भली भांति पहचानती है। उत्तर प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक चुनाव हो राहुल गांधी ने मंदिर मंदिर माथा टेका जनेऊ दिखाया जनता ने नकार दिया। आज पुन: मंदिर निर्माण शिलान्यास पर राजनीति करने और कांग्रेस नेताओं के बयान से स्पष्ट हो जाता है कि प्रभु श्री राम इनके लिए सिर्फ राजनीति का विषय है ऐसी राजनीति इन्हें मुबारक।

 

06-08-2020
कोरोना काल में मोदी सरकार की असफलता से देश में हाहाकार मचा है : सुष्मिता देव

रायपुर। महिला कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से छत्तीसगढ़ प्रदेश महिला कांग्रेस के पदाधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में महिला कांग्रेस का काम बहुत अच्छा, सभी को सोशल मीडिया में भी एक्टिव रहना होगा। कोरोना काल में आंगनबांड़ी और आशा की बहनों ने बहुत काम किया है। उन्हें सम्मान देना होगा जो नि:स्वार्थ भाव से कम कर रहे है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सभी जिला अध्यक्ष को बूथ कार्यकर्ताओं के टच में रहिये यदि बूथ कार्यकर्ताओं में कुछ भी असुविधा है तो उस परेशानी को दूर करें। कोरोना जब से भारत में आया है मोदी सरकार की असफलता के कारण आज हाहाकार मचा हुआ है। आज जितने भी अस्पताल हैं वो कांग्रेस की देन है। नरेन्द्र मोदी ने कौन सा काम किया? वह कौन सी नीति है जो इस बुरे दौर में देश के काम आई। राज्यसभा सांसद एवं महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा कि महिला कांग्रेस ने कोरोना काल में कम किया है। मास्क बना कर मास्क वितरण करना हो या गरिमा के कार्यक्रम में सैनेटरी नैपकीन और साबुन बांटना, महिला कांग्रेस हमेशा आगे रही है। प्रदेश प्रवक्ता वंदना राजपूत ने बताया कि इस दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष उषा रज्जन श्रीवास्तव, प्रदेश कांग्रेस कमेटी एवं महिला कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता वंदना राजपूत, सुधा सरोज,संध्या देशपांडे, सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

 

06-08-2020
भाजपा का सवाल : प्रदेश सरकार के कोरोना प्लेयर्स और कांग्रेस सेवा दल के लोग कहां मुँह छिपाए बैठ गए?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक शिवरतन शर्मा ने प्रदेश के कोविड-19 सेंटर्स में आत्महत्या करने और इलाज के लिए भर्ती किशोरी व मासूम बच्ची के यौन उत्पीड़न के मामले में प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। शिवरतन ने कहा कि प्रदेश सरकार के नाकारापन की यह इंतिहा है और अब इस सरकार को एक क्षण भी सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रह गया है। कोरोना की रोकथाम के हर मोर्चे पर विफलताओं के बोझ से दबी हुई यह लाचार सरकार अब प्रदेश का कोई भला कर सकने की स्थिति में नहीं रह गई है। उन्होंने पूछा कि प्रदेश सरकार के तमाम 'कोरोना प्लेयर्स' इस शर्मनाक स्थिति में कहाँ गुमशुदा हैं? कांग्रेस का सेवा दल पूरे कोरोना काल में कहाँ मुँह छिपाए बैठा रहा? शिवरतन ने कहा कि कोरोना की जाँच की रफ़्तार टेस्टिंग लैब की कमी के चलते अब भी काफी धीमी है वहीं क्वारेंटाइन सेंटर्स अब भी बदइंतजामी और बदहाली से नहीं उबर सके हैं।

अब तो कोरोना अस्पतालों में असुरक्षा, बदइंतजामी और बदहाली का आलम है। कोविड सेंटर में भी  मरीज आत्महत्या करने लगे हैं और इससे भी ज्यादा घिनौनी हकीकत तो यह है कि राजधानी के रावाँभाटा स्थित कोरोना उपचार केंद्र बनाए गए निजी अस्पताल में वहाँ कार्यरत एक सफाईकर्मी द्वारा भर्ती किशोरी और मासूम बालिका के यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। यह घटना प्रदेश सरकार के चेहरे को कलंकित करने के लिए पर्याप्त है। इस मामले से जुड़े वायरल वीडियो का हवाला देते हुए शर्मा ने कहा कि इस मामले में आरोपी सफाईकर्मी के साथ ही अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ भी पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण के साथ-साथ कोरोना मरीजों की अस्मिता की सुरक्षा तक कर पाने में निकम्मी साबित हो रही है।

 

06-08-2020
सरकार को जनता की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं : आम आदमी पार्टी

रायपुर। 14580 चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग और प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी से परेशान युवाओं की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी लगातार आंदोलन कर रही है। प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि शायद सरकार को जनता की समस्याओं से अब कोई सरोकार ही नहीं रह गया है। उन्हें सिर्फ पार्टी के लोगों को मलाइदार पदों पर नियुक्ति करने व उसके लिये मीटिंग करते रहने की आदत सी हो गयी है। कुछ कुछ दिनों में फिर कोई लोकलुभावन घोषणा कर दी जाएगी और फिर मंडल, निगम आदि के पदों पर नेताओं की नियुक्तियां कर दी जायेगी और जनता मुँह देखती रह जायेगी।

 

06-08-2020
अगर राम मंदिर भाजपा और आरएसएस बनवा रही है तो छत्तीसगढ़ के धर्माचार्यों को क्यों नहीं दिया निमंत्रण?

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी से गंभीर सवाल करते हुये कहा कि जब धर्म नगरी अयोध्या में भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम राम के भव्य मंदिर का भूमि पूजन कार्यक्रम हो रहा था तब भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई यह प्रचारित करने में जुटी हुई थी कि राम मंदिर का निर्माण का फैसला भारतीय जनता पार्टी, आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद का है और इसका पूरा श्रेय वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देने का भ्रामक प्रचार कर रहे थे। जबकि राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद का फैसला सुप्रीम कोर्ट के द्वारा किया गया और इस फैसले का स्वागत पूरे देश के 130 करोड़ जनता ने किया। यह किसी राजनीतिक पार्टी या किसी स्वयंसेवी संगठन के द्वारा लिया गया फैसला नहीं था। यह फैसला देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट द्वारा लिया गया फैसला था। तिवारी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को यह बताना चाहिए कि अगर यह मंदिर निर्माण का श्रेय भारतीय जनता पार्टी को जाता है तो क्या कारण थे कि प्रदेश के शिवरीनारायण मठ के प्रमुख महंत रामसुंदर दास, गुरु घासीदास बाबा के वंशज, कबीरदास साहब के वंशज और आदिवासी समाज जो कि वनवास के समय भगवान श्री राम, सीता माता और लक्ष्मण की सहायता की थी उन्हें अयोध्या के मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस ने आमंत्रित क्यों नहीं किया? जबकि इन्हीं के आशीर्वाद से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह 15 साल से प्रदेश में मुख्यमंत्री के पद में सुशोभित थे और प्रदेश में भाजपा की सरकार थी।

वहीं दूसरी ओर जब रायपुर स्थित राम मंदिर से छत्तीसगढ़ की पावन माटी और विभिन्न स्थानों का पवित्र जल लेकर जब सिंधी समाज के प्रमुख युधिष्ठिर लाल महाराज अयोध्या की ओर प्रस्थान कर रहे थे तब चंद कदम दूर मौलश्री विहार के महलनुमा कोठियों में निवासरत पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व मंत्री राजेश मूणत और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कौशल्या माता के मायके की माटी और पवित्र जल को रवाना करने के लिए राम मंदिर नहीं पहुंचे और इस कार्यक्रम से दूरी बना ली। और दूसरे दिन पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व मंत्रीगण रायपुर स्थित राम मंदिर पहुंचकर पूजा पाठ के कार्यक्रम में शामिल हुए। माता कौशल्या के मायके से धर्म गुरुओं को आमंत्रित नहीं करके भारतीय जनता पार्टी विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ क्या संदेश देना चाहते हैं स्पष्ट करें।

Please Wait... News Loading