GLIBS
19-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष संपन्न कराने के लिए हुई बैठक....
रा
07:08pm

धमतरी। त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव 2020 शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष संपन्न कराने तथा सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने हेतु पुलिस अधीक्षक बी.पी राजभानु के द्वारा जिले के उपनिरीक्षक व सहायक उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिए जाने हेतु निर्देशित किया गया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के द्वारा पुलिस कार्यालय धमतरी के सभाकक्ष में उपस्थित उप निरीक्षक एवं सहायक उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान प्रशिक्षण में उपस्थित अधिकारियों को आदर्श आचार संहिता का पालन करने, अपने पेट्रोलिंग क्षेत्र के रूट एवं मतदान केंद्रों के संबंध में जानकारी प्राप्त करने एवं सुरक्षा संबंधी उपायों के बारे में बताकर आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया।

 

18-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव:  18 व 19 जनवरी  के मतदान दलों का प्रशिक्षण
रा
11:05am

रायपुर। त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन के लिए पीठासीन अधिकारियों और मतदान दलों के द्वितीय चरण के लिए  प्रशिक्षण 18 व 19 जनवरी को सुबह साढ़े दस बजे से डेढ़ बजे और ढाई बजे से साढ़े पांच बजे तक दो पालियों में आयोजित किया गया है। विकासखंड अभनपुर में यह प्रशिक्षण केंद्र शासकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय अभनपुर, आरंग विकासखंड में शासकीय बद्री प्रसाद कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय आरंग, धरसीवा विकासखंड में दाऊ पोषण लाल शासकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय परसतराई, धरसीवा तथा तिल्दा विकासखंड में बद्रीनारायण बगडिया राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नेवरा- तिल्दा में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

18-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: 26 जनवरी को थम जाएगा प्रथम चरण का चुनाव प्रचार 
रा
10:56am

रायपुर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर प्रथम चरण का प्रचार 26 जनवरी को थम जाएगा। जिले में 28 जनवरी और 3 फरवरी को मतदान संपन्न होगा। प्रथम चरण में 28 जनवरी को आरंग एवं अभनपुर विकासखंड और तीसरे चरण में 3 फरवरी को धरसीवा व तिल्दा विकासखंड में मतदान होगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव पांडे ने बताया कि पहले चरण का चुनाव प्रचार 26 जनवरी की रात 10 बजे तथा तीसरे चरण का चुनाव प्रचार 1 फरवरी को रात 10 बजे से बंद हो जाएगा।

18-01-2020
जब 6 दिन प्रचार के बाद बदल गया प्रत्याशियों का चुनाव चिन्ह, बड़ी लापरवाही
10:42am

कोंडागांव। पंचायत चुनाव में चुनाव चिन्ह आवंटन को लेकर गंभीर लापरवाही सामने आई है। मामला बडेराजपुर जनपद पंचायत क्षेत्र का है, जहां कई प्रत्याशियों का 6 दिन चुनाव प्रचार करने के पश्चात चुनाव चिन्ह ही बदल दिया गया है। इस अजीबोगरीब फैसले से प्रत्याशी सकते में आ गए हैं। खास बात यह है कि यह केवल एक दो नहीं बल्कि कई जगहों पर हुआ है, जिसमें सरपंच से लेकर जनपद पंचायत एवं वार्ड पंच तक के प्रत्याशियों के साथ ऐसा धोखा हुआ है। रिटर्निंग अधिकारी बडेराजपुर (विश्रामपुरी ) तहसीलदार एचआर नायक ने इसे स्वीकारते हुए बताया कि कहीं-कहीं त्रुटियां हुई थी जिसे कलेक्टर कोंडागांव की अनुमति से सुधारा जा रहा है। जनपद पंचायत बड़े राजपुर में भी गलती हुई है, जिसे कमिश्नर बस्तर संभाग की अनुमति से सुधारा जा रहा है।

जनपद पंचायत क्षेत्र क्रमांक 7 सलना में 9 जनवरी को चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया, जिसमें जनपद सदस्य प्रत्याशी बंसी साहू, डी एस साहू, प्रभु लाल साहू एवं केशव सिंह ठाकुर कुल 4 प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया। इसमें रिटर्निंग अधिकारी ने तीसरे नंबर के प्रत्याशी प्रभु लाल साहू एवं चौथे नंबर के प्रत्याशी केशव सिंह ठाकुर के बीच पेंच फंसा दिया, जहां प्रभु लाल साहू को ट्रैक्टर छाप चुनाव चिन्ह मिलना था किंतु यह चुनाव चिन्ह केशव सिंह ठाकुर को दे दिया और प्रभु लाल साहू को झोपड़ी छाप दिया गया। मामला यहीं तक हो तो समझ आता है किंतु 6 दिन के चुनाव प्रचार एवं बैनर पोस्टर पाम्पलेट लगने के बाद एकाएक केशव सिंह ठाकुर को चुनाव कार्यालय जनपद पंचायत बड़ेराजपुर से 14 जनवरी की शाम 6 बजे फोन आया कि आप तत्काल चुनाव कार्यालय बड़े राजपुर पहुंचे। यह बहुत अर्जेंट है। तत्पश्चात वहां पहुंचने पर बताया गया कि आप लोगों को जो चुनाव चिन्ह आवंटित हुआ था, वह गलत हुआ है। आप का चुनाव चिन्ह बदलना पड़ेगा अब आपका ट्रैक्टर छाप की जगह झोपड़ी छाप होगा। यह सुनकर केशव सिंह ठाकुर जो कि अधिवक्ता एवं जनपद उपाध्यक्ष भी हैं, सकते में आ गये तथा उन्होंने कहा कि वह 6 दिन चुनाव प्रचार कर चुके हैं तथा इसमें उनकी कोई गलती नहीं है। इसलिए उसे ट्रैक्टर छाप में ही प्रचार करने का अवसर दें किंतु अधिकारियों ने उसे साफ तौर पर कह दिया कि अब तुम्हारा ट्रैक्टर छाप की जगह झोपड़ी छाप ही होगा। अब केशव सिंह ठाकुर के सामने कोई रास्ता नहीं बचा है। वह मतदाताओं से पूर्व में ट्रैक्टर छाप में वोट देने की अपील कर चुका है, उसे सुधारने में उसे कितनी सफलता मिलेगी यह तो चुनाव परिणाम ही बता पाएगा।

इसी प्रकार ग्राम पंचायत मारंगपुरी की सरपंच केशनबाई मरकाम ने 6 दिनों तक नारियल छाप पर प्रचार किया तत्पश्चात रिटर्निंग अधिकारी के द्वारा उन्हें सूचना दी गई कि उसे पूर्व में जो चुनाव चिन्ह मिला है, वह गलत है। जब रिटर्निंग अधिकारी के पास पहुंची तो केशन बाई को गिलास छाप थमा दिया। इसके पूर्व नारियल छाप के लिए प्रचार कर चुकी थी। ग्राम पंचायत बस्तर बुडरा में सरपंच पद के प्रत्याशी कमितला नेताम को गिलास छाप चुनाव चिन्ह मिला था। प्रत्याशी ने 6 दिन तक धुआंधार प्रचार-प्रसार किया तथा पंपलेट बैनर चिपकाए किंतु 6 दिन बाद उसे चुनाव चिन्ह बदलकर चश्मा छाप दे दिया गया। बांसकोट पंचायत में वार्ड क्रमांक 15 में पंच पद के कुल 4 प्रत्याशियों को 9 जनवरी को चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया था। तब यहां एक प्रत्याशी आसकरण साहू को सीढ़ी छाप एवं दूसरे प्रत्याशी आत्माराम सिन्हा को गिलास छाप मिला था किंतु 6 दिन के प्रचार-प्रसार के बाद दोनों के चुनाव चिन्ह में अदला-बदली करने कहा गया है।

दुबारा भी कर दी गलती 
9 जनवरी को बांसकोट के वार्ड क्रमांक 15 में चुनाव चिन्ह आवंटन किया गया था। 6 दिन बाद गलती सुधार कर 15 जनवरी को पुन: नया चुनाव चिन्ह आबंटित किया गया किंतु इस बार भी बड़ी चूक किया गया है। जहां आस्करण साहू पहले नंबर पर होना चाहिए वहां आत्माराम सिन्हा को पहले नंबर दिया गया है। अब इसके बाद यह गलती कब सुधारा जाएगा इसे लेकर प्रत्याशी परेशान हैं। प्रत्याशियों में अब भी असमंजस बना हुआ है कि वे अब प्रचार करें या पुन: गलती सुधारकर फिर से एक बार चुनाव चिन्ह बदला जाएगा। प्रत्याशी परेशान हैं वे पाम्पलेट, बैनर एवं नकली मतपत्र तक बांट चुके हैं। अब चुनाव चिन्ह बदलने से पूरा मामला ही बिगड़ जाएगा। मामले को लेकर एक प्रत्याशी ने न्यायालय की शरण लेने की बात कही है।

 

 

18-01-2020
निर्विरोध पंच, सरपंच, जनपद सदस्य को मिला प्रमाण पत्र
रा
10:32am

कोंडागांव। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के चलते कई जनप्रतिनिधि निर्विरोध ही चुने गए हैं, जिनमें जनपद पंचायत केशकाल के 69 ग्राम पंचायतों में 6 ग्राम पंचायत जहां पर निर्विरोध सरपंच चुने गए, तो वहीं 805 पंच में से 482 पंच निर्विरोध चुने गए व कुल 17 जनपद क्षेत्र में एक जनपद सदस्य निर्विरोध चुना गया है, जिन्हें रिटर्निंग ऑफिसर राकेश साहू की ओर से प्रमाण पत्र दिया गया है। पूरे छत्तीसगढ़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जोरों से प्रचार-प्रसार चल रहा है, जिसमें कई ऐसे जनप्रतिनिधि हैं, जो निर्विरोध निर्वाचित हुए है। जनपद पंचायत केशकाल के अंतर्गत, 6 ग्राम पंचायत के सरपंच, 482 पंच व एक जनपद सदस्य को निर्विरोध चुना गया है, जिनमें 4 ग्राम पंचायत डोंडेरापाल, पडडे, पलोरा और नयानार के सरपंच, पंच पूर्ण रूप से निर्विरोध चुने गए हैं। इस दौरान ग्राम पंचायत नयानार के निर्वाचित सरपंच अजत मंडावी ने कहा कि चुनाव में फिजूल खर्चा से बचने, आपसी मनमुटाव लड़ाई झगड़ा ना हो, ऐसा सोचकर पूरे गांव वालों ने बैठक की, जहां पर सर्वसम्मति से सरपंच और पंच को चुना गया साथ ही गांव के विकास के लिए मिलजुल कर काम करने की बात कही।

इसी तरह ग्राम पंचायत पलोरा श्याम लाल सलाम ने कहा कि सर्वसम्मति से सरपंच पंच चुने गए क्योंकि हर बार लड़ाई झगड़ा होता था, साथ ही चुनाव प्रचार में लाखों रुपया खर्च भी हो जाता था, इन सब को ध्यान में रखते हुए सभी ने सहमति से निर्विरोध पंच सरपंच चुनाव है। सभी निर्विरोध निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को रिटर्निंग ऑफिसर व तहसीलदार केशकाल राकेश साहू ने प्रमाण पत्र दिया साथ ही सभा को सम्बोधित करते हुए समस्त निर्वाचित प्रतिनिधियों को बधाई देते हुए पंचायत स्तर पर बेहतर विकास कार्य करने व पंचायत को बेहतर बनाने की बात कही। एसडीएम दीनदयाल मण्डावी ने भी पूर्ण रूप से निर्विरोध निर्वाचित सरपंच, पंच, जनपद सदस्य को बधाई देते हुए फिजूल खर्च को रोकने व ग्रामीणों की इस पहल को सराहनीय बताया। इस मौके पर मुख्य रूप से मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवलाल नाग, खण्ड स्रोत समन्वयक प्रकाश साहू, चुनावी प्रक्रिया के मास्टर ट्रेनर राकेश विश्वकर्मा, अजय शर्मा, जेआर पवार सहित जनपद के कर्मचारी व अधिकारी उपस्थित थे।

17-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों को दिया गया प्रशिक्षण
03:25pm

कोंडागाांव। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में चुनावी प्रक्रिया को विधिवत पूर्ण करने के लिए निर्वाचन प्रणाली में लगे अधिकारी व कर्मचारियों को दो दिवसीय प्रशिक्षण स्थानीय कन्या शाला केशकाल में दिया गया। प्रशिक्षण के पहले दिन गुरुवार को रिटर्निंग आफिसर व तहसीलदार केशकाल राकेश साहू ने प्रशिक्षण केंद्र पहुंचकर जायजा लिया। साथ ही चुनाव संबंधी जिला निर्देश से कर्मचारी व अधिकारियों को अवगत करा चुनावी प्रणाली के आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने चुनाव को शांति पूर्ण ढंग से निपटाने के लिए भी कर्मचारियों को निर्देश दिए। इस दौरान रिटर्निग ऑफिसर राकेश साहू, मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवलाल नाग, खंड शिक्षा अधिकारी केशकाल सीएल मंडावी, खण्ड स्रोत समन्वयक प्रकाश साहू सहित विभिन्न विभाग के कर्मचारी व अधिकारी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार से कोई लापरवाही न करें व चुनावी माहौल पूर्ण होते तक किसी प्रकार से कोई भी अनावश्यक छुट्टी ना लें।

अधिकारी व कर्मचारी नशे की हालत पर पाए जाने पर मुलायजा करवा उस पर कार्यवाही के लिए जिला निर्वाचन को भेजा जाएगा। इस प्रशिक्षण के तहत चुनाव संबंधी सम्पूर्ण गतिविधि से अवगत होकर सरलता से इस चुनाव को पूर्ण करें। ज्ञात हो कि 69 पंचायत के 69 सरपंच व 805 पंच व 17 जनपद सदस्य के लिए चुनाव होना है। इनमें अतिसंवेदनशील क्षेत्र में लगभग 12 पंचायत है, जहां सुरक्षा के दृष्टि से सम्पूर्ण तैयारी पूरी कर ली गई है। 294 से अधिक कर्मचारियों को मास्टर ट्रेनर ने ट्रेनिंग दी। जिला मुख्यालय से  प्रशिक्षण लेकर आये 6 मास्टर ट्रेनर्स अजय शर्मा ,सुरेश राजोरिया, जेआर पवार,प्रकाश साहू ,मनोज डड़सेना, राकेश विश्वकर्मा सभी 700 से अधिक कर्मचारियों को दो दिवसीय प्रशिक्षण देंगे।

17-01-2020
आचार संहिता का उल्लंघन कर रहा सरपंच प्रत्याशी, बटवा रहा मुफ्त में राशन
रा
03:17pm

कवर्धा। नगरिय निकाय चुनाव के बाद अब समय पंचायत चुनाव की ओर रुख मोड़ चुका है, जिसमें समस्त ग्राम पंचायत के सरपंच उम्मीदवार आचार संहिता के नियमों को देखते हुए व नियमों का पालन कर बड़े ही दम ख़म से अपने चुनाव प्रसार कर अपनी किस्मत अजमा रहे है। ऐसे ही पंडरिया विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम पंचायत डालामौहा के आश्रित ग्राम भैसाडबरा में सरपंच प्रत्याशी अपने चुनाव प्रचार के लिए शासकीय उचित मूल्य की दुकान (राशन दुकान) का सहयोग ले रहे है, जिसमें सोसायटी सेल्समेन आचार संहिता का उल्लंघन कर धडल्ले से सरपंच प्रत्याशी का सहयोग कर ग्राम पंचायत के समस्त राशन कार्ड धारकों को शासकीय उचित मूल्य की दुकान से नि:शुल्क चावल, शक्कर, मिट्टीतेल वितरण कर चुनाव का प्रचार कर रहे है। बता दें कि बीते मंगलवार को दौरे के दौरान त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर ग्राम पंचायत के उम्मीदवार सरपंच प्रत्याशी व सोसायटी सेल्समेन की मिली भगत के चलते खुलेआम राशन कार्ड धारकों को नि:शुल्क चावल, शक्कर, मिट्टीतेल वितरण कर उम्मीदवार सरपंच प्रत्याशी प्रचार कर रहे है। सेल्समेन से मिली जानकारी के अनुसार सरपंच प्रत्याशी सुरेश के कहने पर समस्त राशन कार्ड धारकों को नि:शुल्क सामाग्री वितरण किया जा रहा है, जिसमें शुक्रवार को 150 हितग्राहियों को वितरण किया जा चुका है। देखना यह है कि प्रशासन आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले सरपंच प्रत्याशी और सेल्समेन के ऊपर क्या कार्यवाही करती है।

सरपंच प्रत्यशी की ओर से राशन मुफ्त में बटवा रहे हैं। इसकी जानकारी नहीं है। वहां समूह द्वारा राशन का वितरण करते है। मुफ्त में राशन बट रहा है तो कार्रवाई की जाएगी।

अरुण मेश्राम, सहायक खाद्य अधिकारी, कबीरधाम।

 

 

17-01-2020
सजने लगी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की बिसात, जोर आजमाइश जारी 
रा
02:59pm

कवर्धा। जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियां सक्रिय हो गई है। जोड़तोड़ कर अपने पक्ष में माहौल बनाना भी शुरू हो गया है। इस चुनाव में जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 12 से एक ओर जहां कल्याणी जितेंद्र सिंह को युवा व स्थानीय निवासी होने का लाभ मिल रहा है तो वहीं समाजसेवी भावना बोहरा को अधिक मेहनत करना पड़ रहा है। कल्याणी जितेंद ठाकुर लगातार गांव में घूम-घूम कर लोगों का काम कराया करते आ रहे हैं। रामपुर ठाठापुर निवासी होकर लोगों की सेवा करते रहे हैं। इसी प्रकार जिले के सभी क्षेत्र क्रमांक के प्रत्याशी जोर आजमाइश लगा रहे हैं। सत्ता दल व विपक्ष के बड़े नेता भी अपने प्रत्यशी के पक्ष में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। सबसे दिलचस्प मुकाबला जिला पंचायत के क्षेत्र क्रमांक 9 और 12 का है।  9 में युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष व मंत्री मो. अकबर के करीबी कलीम खान है। इसी प्रकार जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 12 से कल्याणी जितेंद्र सिंह व भावना बोहरा का है।

16-01-2020
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: रायपुर संभागायुक्त जीआर चुरेन्द्र ने ली बैठक
रा
08:31pm

धमतरी। त्रिस्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2020 के निर्विघ्न और सफल संचालन के लिए गुरूवार को रायपुर संभागायुक्त जीआर चुरेन्द्र ने जिला पंचायत सभाकक्ष में शाम चार बजे बैठक ली। बैठक में सभी सेक्टर अधिकारी और सेक्टर मैजिस्ट्रेट को चुनाव कार्य को शांतिपूर्ण और व्यवस्थित तरीके से सम्पन्न कराने पर बल दिया। उन्होंने सेक्टर अधिकारियों को समझाइश दी कि यदि मतदान दल को मतदान और मतगणना कार्य में कोई दिक्कत आ रही हो, तो उसे सुलझाने में मदद करें।  संभागायुक्त ने मतदान के वक्त सुरक्षा कर्मियों को पूरी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी करने के निर्देश दिए। साथ ही मतगणना के वक्त विवाद की स्थिति उत्पन्न ना हो, इसका पूरा ध्यान रखने कहा। उन्होंने अभी से एसडीएम और एसडीओपी को संयुक्त रूप से क्षेत्र का दौरा कर और पूरी तरह से सक्रिय रहकर अपने दायित्व का निर्वहन करने पर बल दिया।

गौरतलब है कि जिले में 28, 31 जनवरी और 03 फरवरी को तीन चरणों में मतदान सम्पन्न कराया जाएगा। पहले चरण में 28 जनवरी को धमतरी और कुरूद, दूसरे चरण में 31 जनवरी को मगरलोड और तीसरे चरण में 03 फरवरी को नगरी में मतदान किया जाएगा। इसके लिए जिले में 958 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। साथ ही 910 मतदान दल, 61 सेक्टर अधिकारी एवं चार रिजर्व दल गठित किए गए हैं।  इसके अलावा मतदान दलों का प्रथम चरण का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है और दूसरे चरण के प्रशिक्षण की  तिथि तय कर दी गई है। बैठक के अंत में प्रभारी कलेक्टर ने संभागायुक्त रायपुर को आश्वस्त किया कि जिले में निर्विघ्न एवं सुचारू रूप से मतदान संपन्न कराया जाएगा। बैठक में प्रभारी कलेक्टर नम्रता गांधी, पुलिस अधीक्षकप बीपी राजभानु, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित सभी एसडीएम और पुलिस अमला भी उपस्थित रहे।

 

 

16-01-2020
पंचायत चुनाव को लेकर सेक्टर प्रभारियों की हुई बैठक
रा
04:22pm

गरियाबंद। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की प्रारंभिक तैयारियों में इन दिनों प्रशासन जुटा हुआ है। गुरूवार को जिला के समस्त सेक्टर प्रभारियों की बैठक लेकर उन्हें निर्देशित किया गया। मतदाताओं को मतदान करने में कोई दिक्कत या परेशानी ना हो इसके साथ  मतदान का प्रतिशत पूर्व की अपेक्षा अधिक हो जिसके लिए यथासंभव चुनाव तिथि का प्रचार-प्रसार व्यापक रुप से किया जाए।  इस बैठक में विशेष रूप से कमिश्नर जीआर चुरेंद्र, जिलाधीश श्याम धावडे, जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार के साथ

 जिला के 57 सेक्टरों के प्रभारियों को जिला पंचायत में आमंत्रित कर उन्हें निर्देशित किया गया कि समस्त सेक्टर प्रभारी अपने क्षेत्रों के मतदान केंद्रों का समुचित निरीक्षण करें जहां पर पानी, बिजली, मतदान स्थल की समुचित साफ-सफाई हो। इस अवसर पर सेक्टर प्रभारियों ने अपनी क्षेत्रों की समस्याओं की विस्तृत जानकारी कमिश्नर आर चुरेंद्र को दी।  

16-01-2020
पंचायत चुनाव की आरक्षण प्रक्रिया को हाईकोर्ट में चुनौती
12:41pm

बिलासपुर। प्रदेश में छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 में दी गई व्यवस्था को संविधान के खिलाफ बताते हुए हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। याचिका पर चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन व जस्टिस पीपी साहू की डिविजन बेंच में सुनवाई की गई है। प्रारंभिक सुनवाई के बाद डिविजन बेंच ने केंद्र और राज्य सरकार के अलावा राज्य निर्वाचन आयोग को नोटिस जारी कर जवाब पेश करने के निर्देश दिए है। इसके लिए 4 सप्ताह का समय दिया है। याचिकाकर्ता भुनेश्वर नाथ मिश्रा ने वकील रोहित शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर किया और कहा है कि प्रदेश में पंचायती राज अधिनियम 1993 में जो व्यवस्था दी गई है। वह सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के साथ ही संविधान में दी गई व्यवस्थाओं के खिलाफ है।

याचिकाकर्ता ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जिसमें ग्राम पंचायत जनपद पंचायत के बाद जिला पंचायत के लिए हो रहे चुनाव में राज्य सरकार ने आरक्षण की जो प्रक्रिया अपनाई है वह संविधान में दी गई व्यवस्था के विपरीत हैं। याचिका के अनुसार ग्राम पंचायत के सरपंच से लेकर पंचवा जनपद व जिला पंचायत के सदस्यों के लिए किए गए। आरक्षण में सुप्रीम कोर्ट की ओर से पूर्व में निर्धारित मापदंडों के अनुरूप नहीं किया है। राज्य शासन ने आरक्षण की जो प्रक्रिया अपनाई है । वह 50 फ़ीसदी से अधिक है याचिकाकर्ता ने पंचायती राज अधिनियम की धारा 13(4)(2) धारा 17,23,25,32 एवं 129(ई) को निरस्त करने की मांग की है। याचिकाकर्ता ने नहीं राजनीति में आरक्षण की सीमा 50 दिन के भीतर रखने की मांग की है। याचिकाकर्ता ने पिछड़े वर्ग के नागरिकों में से अल्पसंख्यक, एसिड अटैक सरवाइवर महिला थर्ड जेंडर एंग्लो इंडियन आदि को राजनीतिक रूप से पिछड़ा मानते हुए चुनाव में आरक्षण का लाभ देने की गुहार लगाई है।

Please Wait... News Loading