GLIBS
04-10-2019
फ्री में राशन वितरण कर रहे शारदा स्व सहायता समूह के खिलाफ खाद्य विभाग से की गयी शिकायत

रायगढ़। जनपद पंचायत रायगढ़ के तहत आने वाले ग्राम पंचायत सियारपाली में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन वितरण का एक अनुठा मामला सामने आया है। ग्राम पंचायत सियारपाली के शारदा स्व सहायता समूह जोकि कई सालों से उक्त ग्राम पंचायत में राशन वितरण प्रणाली में कार्य करती है । लोगो को आज शिकायत मिली कि उक्त वितरक द्वारा उपभोक्ताओं को निर्धारित मात्रा से कम राशन दिया जा रहा है। 35 किलो चावल के बदले 25 किलो, 10 किलो चावल के बदले 7 किलो तथा केरोसिन तेल भी निर्धारित मात्रा से एक लीटर कम दिया जा रहा है। मामले की शिकायत खाद्य विभाग के अधिकारियों को फोन माध्यम से की गई। शिकायत मिलने के बाद खाद्य निरीक्षक चितरंजन मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गए। उपभोक्ताओं से पूछताछ करने पर बताया गया कि उन्हें निर्धारित मात्रा से कम खाद्यान्न दिया गया है तथा राशनकार्ड में निर्धारित मात्रा ही दर्ज की गई है। उपभोक्ताओं ने बताया कि उक्त राशन के बदले उनसे पैसे नहीं लिए जा रहे है। वहीं दुकान संचालक शारदा राठिया सचिव शारदा महिला स्व सहायता समूह ने कहा कि इस बार उपभोक्ताओं को निर्धारित मात्रा से कम वितरण कर रहे हैं ताकि सभी उपभोक्ताओं को राशन उपलब्ध हो सके।

इस बार स्टाक में 120 क्विंटल चावल के बजाय 85 क्विंटल आया है। शेष मात्रा को स्टाक आने पर वितरण किया जाएगा। फ्री में राशन वितरण करने को लेकर शारदा राठिया ने कहा की अभी फ्री में दे रहे हैं जब पूरा राशन वितरण हो जाएगा तो उसके बाद उपभोक्ताओं से निर्धारित दर लेंगे । खाद्य निरीक्षक चितरंजन ने बताया कि यह इस तरह का अनोखा मामला है जो बिना पैसे लिए वितरण कर रहे हैं यह गलत है। वही स्टाक को लेकर खाद्य निरीक्षक ने कहा किभौतिक सत्यापन में स्टाक में चावल पर्याप्त मात्रा में नही है जबकि शासन के दस्तावेज में स्टाक होनी चाहिए, वितरक द्वारा स्वयं के आर्थिक लाभ के लिए इस तरह का कार्य किया जा रहा है। जांच के बाद प्रकरण बनाकर अनुविभागीय अधिकारी रायगढ़ को कार्यवाही के लिए प्रस्तुत किया जायेगा ।

 

13-09-2019
मध्याह्न भोजन के लिए 1044 क्विंटल खाद्यान्न का आबंटन

धमतरी। मध्याह्न भोजन योजना के तहत् अक्टूबर महीने के लिए जिले के 1336 प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों में कुल 1044 क्विंटल 70 किलोग्राम खाद्यान्न का आबंटन किया गया है। इनमें 884 प्राथमिक स्कूलों के लिए 524 क्विंटल 90 किलोग्राम और 452 माध्यमिक स्कूलों के लिए 519 क्विंटल 80 किलोग्राम चावल का आबंटन शामिल है। जिला शिक्षा अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक धमतरी विकासखण्ड के 343 स्कूलों के लिए 322 क्विंटल 70 किलोग्राम चावल आबंटित किया गया है। इनमें 205 प्राथमिक स्कूलों के लिए 146 क्विंटल 70 किलोग्राम और 138 माध्यमिक स्कूलों के लिए 176 क्विंटल चावल का आबंटन शामिल है। इसी तरह कुरूद विकासखण्ड के 302 स्कूलों के लिए 297 क्विंटल 80 किलोग्राम चावल आबंटित किया गया है। यहां के 184 प्राथमिक स्कूलों के लिए 156 क्विंटल 30 किलोग्राम तथा 118 माध्यमिक स्कूलों के लिए 141 क्विंटल 50 किलोग्राम चावल, मगरलोड विकासखण्ड के 224 स्कूलों के लिए 254 क्विंटल 90 किलोग्राम चावल का आबंटन किया गया है। यहां के 153 प्राथमिक स्कूलों में 131 क्विंटल 70 किलोग्राम और 71 माध्यमिक स्कूलों में 123 क्विंटल 20 किलोग्राम चावल का आबंटन किया गया है। इसी तरह नगरी विकासखण्ड के 467 स्कूलों में 169 क्विंटल 30 किलोग्राम चावल का आबंटन किया गया है। यहां के 342 प्राथमिक स्कूलों के लिए 90 क्विंटल 20 किलोग्राम और 125 माध्यमिक स्कूलों के लिए 79 क्विंटल 10 किलोग्राम चावल का आबंटन किया गया है।

08-09-2019
एपीएल परिवार को काम कीमत चावल देने का किया गया प्रवधान

कोरिया। छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार नगर पालिक निगम चिरमिरी के समस्त वार्डो में सोमवार से खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के तहत नवीन सामान एपीएल परिवार को 10 किलो चावल प्रतिमाह इसी प्रकार 2 सदस्यी परिवार को 20 किलो चावल एवं 3 और उससे अधिक सदस्यी परिवार को 35 किलो चावल प्रतिमाह शासन के द्वारा कम कीमत रेट में देने का प्रावधान किया गया है। वर्तमान समय में एपीएल कार्ड परिवारों के राशनकार्ड प्रचलन में न होने के कारण नए सिरे से अभियान चलाकर निगम के कर्मचारी अधिकारी राशन कार्ड बनाने के लिए शासन द्वारा निगम के अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया तथा अनिवार्य रूप से उक्त कार्य 25 सितंबर तक पूर्ण करने के लिए कहा गया हैं।

25-05-2019
पहुंचविहीन केन्द्रों में खाद्यान्न का भंडारण शुरू 

रायपुर। राज्य के 19 जिलों के 216 पहुंचविहीन केन्द्रों के लिए खाद्यान्न का आवंटन जारी कर दिया गया है, जिसका भंडारण भी शुरू कर दिया गया है। यह आवंटन आने वाले चार महीने के लिए जारी किया गया है। अब तक करीब 13 हजार एक सौ दस क्विंटल चावल, 232 क्विंटल शक्कर और 6.5 क्विंटल गेहूं का भंडारण किया जा चुका है।
खाद्य विभाग से दी गई जानकारी के अनुसार प्रदेश में बस्तर में 6, बीजापुर में 8, दंतेवाड़ा में 4, कांकेर में 42, कोंडागांव में 12, नारायणपुर में 26, सुकमा में 26, मुंगेली में 9, रायगढ़ में 3, कवर्धा में 2, राजनांदगांव में 12, बलौदाबाजार में 8, धमतरी में 3, गरियाबंद में 16, बलरामपुर में 8, जशपुर में 1, कोरिया में 8, सरगुजा में 6, सुरजपुर में 16 पहुंचविहीन केन्द्र है, जिनके लिए 10,5032 क्विंटल चावल, 3,259.77 क्विंटल शक्कर, 254.60 क्विंटल गेहूं का आवंटन जारी किया गया है।

13-05-2019
दिल्ली हुई प्रदेश के चावल की दिवानी, छत्तीसगढ़ भवन में लगेगा 15 से 20 मई तक बिक्री मेला 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के एरोमेटिक चावल ने दिल्ली के लोगों को भी अपना दीवाना बना दिया है। अब प्रत्येक दिन बढ़ी संख्या में लोग इसकी खुशबु और स्वाद का मजा लेने चाणक्यपुरी स्थित छत्तीसगढ़ भवन की कैंटीन में आने लगे है। ये चावल ऑर्गनिक के साथ-साथ सेहत के लिए बेहद लाभकारी है। लोगों की बढ़ती मांग के चलते छत्तीसगढ़ भवन में आम लोगों के लिए चावल की बिक्री के लिए योजना बनाई है। 15 से 20 मई तक छत्तीसगढ़ भवन में चावल बिक्री मेले का आयोजन किया जा रहा है। यहां पर छत्तीसगढ़ के सुगन्धित चावल की अनेके किस्में उपलब्ध होंगी। इसे आम लोग किफायती दाम में खरीद सकते हैं। चाणक्यपुरी निवासी करण ने कहा कि  छत्तीसगढ़ भवन कैंटीन में जो चावल पकता है उसकी खुशबु हमें यहां आने को मजबूर करती है और हम अक्सर मांग करते थे की हमें छत्तीसगढ़ चावल उपलब्ध कराएं। छत्तीसगढ़ भवन के हाउस मैनेजर ने बताया की 15 मई से सुबह 10.30 से शाम 5.30 बजे तक छत्तीसगढ़ भवन में राज्य के सुगन्धित चावल अनेके किस्में यहां उपलब्ध होंगी। इसे आम लोग किफायती दाम पर खरीद सकते हैं। यहाँ पर प्रमुख्यतः दुबराज, विष्णु भोग, एचएमटी, श्रीराम जैसी सुगन्धित चावलों की किस्मे होंगी। उन्होंने बताया कि शुरुआत में उच्च क्वालिटी के चावल की छोटी खेप छत्तीसगढ़ से मंगाई है, धीरे-धीरे हम इसका विस्तार भी करेंगें। 

छत्तीसगढ़ का सुगन्धित धान पूरे देश में पहचान रखता है। जवा फूल, दुबराज, विष्णु भोग, एचएमटी, श्रीराम, लुचई जैसी सुगन्धित धान की किस्में राज्य की पहचान है। चाहे बिलासपुर हो या मुंगेली, महासमुंद या धमतरी सभी जिलों में सुगन्धित धान की खेती हो रही है। आर्गनिक और एरोमेटिक चावल के कई लाभ है। इसमें स्टार्च की मात्रा अधिक होती है। इसके अलावा बालियां  में छोटा व पतला दाना है, जो प्राकृतिक तत्वों से भरपूर होता है। इस विशेष चावल में एंटी आक्सिडेंट की मात्रा ज्यादा है। इसके अलावा इसमें विटामिन ई, फाइबर और प्रोटीन की प्रचुरता  सामान्य चावलों से ज्यादा होती है। इनमें मौजूद विशेष एंटी आक्सीडेंट तत्व त्वचा और आंखों के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें पाए जाने वाले फाइबर पाचन तंत्र को दुरुस्त करने के साथ आंत की बीमारी को भी दूर करता है। ये चावल मोटापा को भी दूर करता है साथ ही हार्ट को स्वास्थ्य और मजबूत रखने के लिए भी सहायक होता है। इन सब खूबियों वाले खास चावल अब दिल्लीवासियों के लिए छत्तीसगढ़ भवन में आम लोगों के लिए उपलब्ध रहेंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804