GLIBS
02-05-2020
पीडीएस के चावल की कालाबाजारी करते हुए एक को पुलिस ने पकड़ा          

 दुर्ग। गरीबों के लिए निर्धारित पीडीएस चावल की कालाबाजारी का शनिवार को खुलासा हुआ है। इसमें पुलिस ने आरोपी कब्जे से 76 हजार रुपए से अधिक कीमत का पीडीएस चावल जब्त किया। आरोपी के खिलाफ अत्यावश्यक अधिनियम की धारा 3, 7 के तहत कार्रवाई की गई है।   पीडीएस के चावल के अवैध परिवहन किए जाने की सूचना दुर्ग सीएसपी शुक्ला को मिली। सीएसपी के मार्गदर्शन में पुलिस ने दबिश देकर आटो क्र. सीजी 07-बीटी-6151 को अपने कब्जे में लिया। आटो पर लदे 20 नग बोरी में भरे चावल को बरामद किया गया। चावल का परिवहन अजय जैन द्वारा किए जाने की जानकारी मिलने पर उसकी दुकान में भी जांच की गई। जांच में 41 नग प्लॉस्टिक की बोरी में रखा चावल बरामद किया गया। बरामद चावल पीडीएस योजना के तहत वितरित किए जाने का प्रतीत होने पर उसे जब्त कर लिया गया। बरामद चावल की कीमत 76,320 रूपये है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी तमेरपारा निवासी अजय जैन को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ अत्यावश्यक अधिनियम की धारा 3, 7 के तहत कार्रवाई की गई है। 

 

29-04-2020
खबर का असर: गरीबों का चावल बेचने वाले दुकान संचालक को प्रशासन ने हटाया

बीजापुर। मुफ्त बंटने वाले राशन को दुकान संचालक द्वारा पैसे लेकर बेचने की खबर के बाद प्रशासन हरकत में आया। जिला कलेक्टर केडी कुंजाम के निर्देश पर सहायक खाद्य अधिकारी बीएल पदमाकर,सचिव हितेंद्र झाड़ी,पटवारी को खबर की वास्तविकता की जांच करने ग्राम पंचायत पेद्दाकोरमा भेजा। ग्रामीणों से चर्चा करने के बाद सोसाइटी सेल्समैन दशरू की मीडिया में आई राशन वितरण में अनियमितता एवं चावल बेचने की शिकायत की खबर को सच पाया। जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी गई,जिसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने तत्काल सेल्समैन दशरू (शासकीय उचित मूल्य की दुकान पेद्दाकोरमा को निलंबित करते हुए अगले आदेश तक मार्केटिंग बीजापुर को संचालन का आदेश दिया गया।


 

 

19-04-2020
कौशिक ने खाद्य मंत्री भगत को लिखा पत्र,कहा- सबको सहजता से सुलभ हो चावल

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से जरूरतमंदों को सहजता से चावल सुलभ करने को लेकर पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच जरूरतमंदों को चावल सहजता से नहीं मिल रहा है। पूरे प्रदेश में जरूरतमंदों को कठिनाईयों को सामना करना पड़ रहा है। ग्राम पंचायत के स्तर पर ही जरूरतमंदों को बिना राशन कार्ड के दो माह तक 70 किलो चावल देने की योजना है साथ ही दो क्विंटल चावल का भंडारण किये जाने की जानकारी मिल रही है लेकिन अब तक नगरीय निकाय क्षेत्र में बिना राशन कार्ड के राशन कार्ड के चावल वितरण को लेकर कोई नीति नहीं बनाई गई है। इसके कारण जरूरतमंदों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही अब तक कोई आदेश चावल वितरण को लेकर नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में जो चावल दिए गए उसके एवज में 6400 की राशि भी ली जा रही है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि इस विपदा के काल में किसी को दो वक्त के भोजन के लिये परेशानियों का सामना न करना पड़े इसकी चिंता प्रदेश सरकार को हर स्तर पर करना चाहिए। इसके साथ ही ग्राम पंचायत में भंडारण किए चावल का वितरण जरूरतमंदों को निशुल्क किया जाना चाहिए।

 

14-04-2020
कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने में तिरगा ग्राम पंचायत ने दुर्ग निगम को दिया 6 क्विंटल चावल

दुर्ग। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए जारी लॉक डाउन में नगर निगम दुर्ग में निवासरत गरीब परिवार और जरूरतमंदों को अनाज और राशन की आपूर्ति के लिए मंगलवार को तिरगा ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने अपनी ओर से 6 क्विंटल चावल एकत्र कर नगर निगम दुर्ग को दान स्वरूप उपलब्ध कराया है। तिरगा ग्राम पंचायत के सरपंच सुरेन्द्र बेलचंदन व अन्य प्रतिनिधियों ने 6 क्विंटल चावल को विधायक अरुण वोरा, महापौर धीरज बाकलीवाल, एसडीएम खेमलाल वर्मा की उपस्थिति में विवेकानंद भवन राहत केंद्र को सौंपे। विधायक अरुण वोरा,महापौर बाकलीवाल तथा नगर निगम दुर्ग के समस्त 60 वार्डो के पार्षदों ने तिरगा ग्राम पंचायत का इस सहयोग के लिए उन्हें आभार व्यक्त किए हैं। उल्लेखनीय है कि नगर निगम दुर्ग के साथ 60 वार्डों के गरीब परिवारों को राहत सामग्री उपलब्ध कराने अनेक सामाजिक संगठन और संस्थाएं आगे आकर भोजन और राशन उपलब्ध करा रहे हैं। इसके लिए वे निगम के राहत केंद्र विवेकानंद सभा भवन में अपनी ओर से सामान सौप रहे हैं। आज विधायक अरुण वोरा  महापौर धीरज बाकलीवाल तथा एसडीएम खेमलाल वर्मा ने निगम अधिकारी कार्यपालन अभियंता मोहनपुरी गोस्वामी व अन्य अधिकारियों के साथ विवेकानंद राहत केंद्र में राशन सामग्री वितरण के लिए तैयार किये जा रहे पैकेज के कार्यों का भी अवलोकन कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

 

14-04-2020
सोसाइटी में चावल की अनुपलब्धता, अधिकारियों से की गई शिकायत

कोरबा। दीपका क्षेत्र के शासकीय उचित मूल्य की दुकान में चावल नहीं होने खबर समाने आई है। दरअसल दीपका क्षेत्र के शासकीय उचित मूल्य की दुकान में मंगलवार को नगर पालिका परिषद दीपका के पूर्व सांसद प्रतिनिधि दीपक जायसवाल पहुंचे। वहां सोसाइटी के संचालक की ओर से चावल की अनुपलब्धता बताई गई। जायसवाल ने समस्या को देखते हुए तत्काल इसकी सूचना दूरभाष से खाद्य अधिकारी तथा नायब तहसीलदार को दी। दीपक जायसवाल ने कहा कि लॉक डाउन की स्थिति में कोई भी भूखा ना रहे। शीघ्र नगर पालिका क्षेत्र की प्रत्येक हितग्राहियों को चावल,नमक,शक्कर,चना की उपलब्धता कराया जाना चाहिए,जिससे किसी को परेशानी ना हो। शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में यदि चावल नहीं रहेगा तो गरीबों को परेशानी होगी। चावल की अनुपलब्धता पर अधिकारियों द्वारा जल्द ही सोसाइटी में चावल,नमक, शक्कर की आपूर्ति करने को कहा गया।

13-04-2020
ब्रह्माकुमारी संस्थान ने भेंट की 29 क्विंटल चावल और अन्य खाद्य सामग्री

रायपुर। जिला प्रशासन की अपील पर प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय ने 29 क्विंटल चावल,3 क्विंटल गेंहूं, 2 क्विंटल पोहा , 50 किलो दाल और 50 किलो शक्कर प्रदान किया है ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए शासन द्वारा घोषित लॉक डाउन के दौरान गरीब और जरूरतमन्द लोगों तक खाद्यान्न पहुंचाया जा सके। आज विधानसभा रोड स्थित शान्ति सरोवर में क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने सभी खाद्यान्न सामग्री के साथ डोनेशन ऑन व्हील की गाड़ी को शिवध्वज दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी किरण दीदी, वनिशा और ब्रह्माकुमार महेश भाई उपस्थित थे।

 

04-04-2020
जरूरतमंदों के लिए संचालित राहत शिविरों के लिए 239 क्विंटल चावल का आवंटन जारी,खाद्य विभाग ने जारी किया आदेश

 रायपुर। राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान बेघरवार एवं बेसहारा लोगों के लिए विभिन्न जिलों में  संचालित राहत शिविरों में भोजन व्यवस्था के लिए रियायती दर पर 239 क्विंटल चावल का आबंटन जारी किया गया है। खाद्य विभाग के सचिव कमलप्रीत सिंह द्वारा जारी आदेश के अनुसार आबंटित चावल का उपयोग नगरीय क्षेत्र या आसपास संचालित राहत शिविरों अथवा क्वारेंटाइन शिविरों में भोजन व्यवस्था के लिए किया जाएगा। खाद्य सचिव ने चावल के आबंटन, भण्डारण एवं उपयोग में पूरी पारदर्शिता रखने के साथ ही आबंटित चावल के उपयोग का पूर्ण रिकार्ड रखने के निर्देश दिए गए हैं। खाद्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए संचालित राहत शिविरों के लिए दाल-भात योजना में रियायती दर पर आबंटित चावल में बस्तर जिले के लिए 7.5 क्विंटल, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कोण्डागांव, नारायणपुर, गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही, जांजगीर-चांपा, मुंगेली, बालोद, बेमेतरा, कवर्धा, धमतरी, गरियाबंद, महासमुन्द, बलरामपुर, जशपुर, सरगुजा और सूरजपुर जिलों के लिए प्रत्येक के लिए 2-2 क्विंटल, कांकेर जिले के 7.5 क्विंटल, सुकमा जिले के लिए 5 क्विंटल, बिलासपुर जिले के लिए 25 क्विंटल, कोरबा जिले के लिए 5 क्विंटल, रायगढ़ के लिए 10 क्विंटल, दुर्ग जिले के लिए 15 क्विंटल, राजनांदगांव जिले के लिए 15 क्विंटल, बलौदाबाजार के लिए 5 क्विंटल, कोरिया जिले के लिए 10 क्विंटल और रायपुर जिले के लिए 100 क्विंटल चावल शामिल है।

31-03-2020
उचित मूल्य की दुकानों में पहुंचा 18284 मीट्रिक टन खाद्यान्न, दो माह का एक साथ मिलेगा चावल

रायपुर। छत्तीसगढ़ के उचिम मूल्य की दुकानों में अप्रैल और मई में वितरण के लिए 18 हजार 284 मीट्रिक टन खाद्य सामग्री पहुंच चुका है। खाद्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के उचित मूल्य के दुकानों में 996 ट्रकों के माध्यम से खाद्यान्न पहुंचाया गया है। इस कार्य में 4227 श्रमिकों का सहयोग लिया गया है। सभी राशन दुकानों से राशन कार्डधारी हितग्राहियों को दो माह का एकमुश्त चावल वितरण किया जाएगा। प्रदेश में पंजीकृत राईस मिलों से गोदामों में चावल लेना शुरू हो गया है और सोमवार को 2 हजार 688 मीट्रिक टन चावल राईस मिल से गोदामों में पहुंचाया गया है। प्रदेश के बेमेतरा जिले के उचित मूल्य की दुकानों में 8 हजार 164 मीट्रिक टन खाद्यान्न पहुंचाया गया है।

इसी प्रकार बालोद जिले में 10 हजार 684 मीट्रिक टन, बिलासपुर जिले में 17 हजार 284 मीट्रिक टन, जांजगीर-चांपा जिले में 17 हजार 511 मीट्रिक टन, राजनांदगांव में 10 हजार 931 मीट्रिक टन, कवर्धा जिले में 9 हजार 187 मीट्रिक टन, सरगुजा जिले में 9 हजार 669 मीट्रिक टन, सूरजपुर जिले में 8 हजार 612 मीट्रिक टन, दुर्ग जिले में 9 हजार 971 मीट्रिक टन, सुकमा जिले में 2 हजार 331 मीट्रिक टन, महासमुंद जिले में 22 हजार 213 मीट्रिक टन, रायपुर जिले में 17 हजार 27 मीट्रिक टन, जशपुर जिले में 8 हजार 13 मीट्रिक टन, मुंगेली जिले में 8 हजार 537 मीट्रिक टन, कोण्डागांव जिले में 6 हजार 644 मीट्रिक टन, कांकेर जिले में 12 हजार 512 मीट्रिक टन, धमतरी जिले में 6 हजार 787 मीट्रिक टन, कोरिया जिले में 6 हजार 8 मीट्रिक टन, गरियाबंद में 6 हजार 719 मीट्रिक टन, दंतेवाड़ा में 2 हजार 549 मीट्रिक टन, बीजापुर में 3 हजार 873 मीट्रिक टन और कोरबा जिले में एक हजार 106 मीट्रिक टन खाद्यान्न का भण्डारण कर दिया गया है।

29-03-2020
राशनकार्डधारियों को दो माह का एक साथ मिलेगा चावल,आदेश जारी

रायपुर। लॉकडाउन के दौरान नागरिकों को खाद्यान्न सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए अप्रैल और मई, दो माह का चावल एक साथ देने का आदेश जारी किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर खाद्य विभाग ने आदेश जारी कर राज्य के सभी आयुक्तों, कलेक्टरों और जिला खाद्य अधिकारियों को राज्य के सभी उचित मुल्य के दुकानों से शीघ्र एक अप्रैल से दो माह का एक साथ खाद्यान्न वितरण शुरू कराने के निर्देश दिए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण के प्रबंधन के तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली में प्रदेश के उचित मूल्य दुकानों से अन्त्योदय,प्राथमिकता,नि:शक्तजन,एकल निराश्रित,निराश्रित एवं अन्नपूर्णा श्रेणी के राशन कार्डधारी हितग्राहियों को अपैल एवं मई का चावल एक साथ वितरण करने का निर्णय लिया गया है। दो माह का चावल एक साथ वितरण के लिए खाद्य विभाग द्वारा एकमुश्त आवंटन जारी कर दिया गया है। प्रदेश के सभी राशन दुकानों में खाद्यान्न सामग्री पहुंचाया जा रहा हैं। खाद्य विभाग द्वारा सभी राशनकार्डधारी उपभोक्ताओं को उचित मुल्य के दुकानों में वितरण के समय एक-दूसरे से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखने को कहा है। साथ ही उचित मुल्य के दुकानों में आने वाले प्रत्येक राशनकार्ड धारकों के हाथों की सफाई सेनिटाईजर अथवा साबुन पानी से कराने के निर्देश भी दिए हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804