GLIBS
21-11-2020
पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर नियमों का उल्लंघन, एक जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर। राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान ने फिर से सीजफायर नियमों का उल्लंघन किया है। इस गोलीबारी में एक भारतीय जवान शहीद हो गए हैं। भारत की तरफ से पाकिस्तानी गोलीबारी का जवाब दिया जा रहा है। बीते हफ्ते पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर में उरी सेक्टर से लेकर गुरेज सेक्टर के बीच एलओसी पर कई स्थानों पर सीजफायर का उल्लंघन किया था। पाकिस्तान की तरफ से की गई इस गोलीबारी में चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। इसके साथ ही छह और लोगों की जानें भी गई थीं। उरी में बांदीपुरा जिले के गुरेज सेक्टर और कुपवाड़ा जिले के केरन सेक्टर में भी संघर्ष विराम के उल्लंघन की सूचना मिली थी। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस भ्रामक है और यह भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा चलाने की नीति का हिस्सा है।

29-09-2020
मुकेश अंबानी ने रुतबा रखा बरकरार,लगातार 9वें वर्ष बने सबसे अमीर भारतीय

नई दिल्ली। हुरुन इंडिया की सूची में मुकेश अंबानी लगातार 9वें साल सबसे अमीर भारतीय बने। उनकी निजी संपत्ति 6,58,400 करोड़ रुपये है। उनकी यह संपत्ति रिलायंस इंडस्ट्रीज में उनकी हिस्सेदारी के कारण बनी है। मुकेश अंबानी ग्लोबल रिच लिस्ट की में टॉप 5 में शामिल होने वाले एकमात्र भारतीय हैं। हुरुन इंडिया के एमडी अनस रहमान जुनैद ने कहा कि मुकेश अंबानी की संपत्ति लिस्ट में शामिल अगले पांच की कुल संपत्ति से अधिक है। मुकेश अंबानी के बाद लंदन स्थित हिंदुजा बंधुओं की कुल संयुक्त संपत्ति 1,43,700 करोड़ रुपये रही। एचसीएल के संस्थापक शिव नाडर 1,41,700 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर रहे। 1,40,200 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ गौतम अडानी एंड फैमिली चौथे स्थान पर और अजीम प्रेमजी पांचवें स्थान पर हैं। हुरुन इंडिया सूची में 31 अगस्त, 2020 तक 1,000 करोड़ रुपये या उससे अधिक की संपत्ति वाले देश के सबसे अमीर व्यक्तियों का नाम है। 2020 के एडिशन में 828 भारतीय शामिल थे।

 

 

15-09-2020
एडीबी ने कहा, काेरोना वायरस का भारतीय आर्थिक गतिविधियों पर गंभीर प्रभाव पड़ा,जीडीपी में गिरावट की जताई संभावना

नई दिल्ली। एशियाई विकास बैंक( एडीबी) ने चालू वित्त वर्ष में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में नौ फीसदी की गिरावट आने का अनुमान जताया है। एडीबी ने कहा कि काेरोना वायरस महामारी का भारतीय आर्थिक गतिविधियों ओर उपभोक्ताधारणा पर बहुत गंभीर प्रभाव पड़ा है। एडीबी ने एशियाई विकास परिदृष्य 2020 की जारी नई रिपोर्ट में कहा है कि वर्ष 2021 में मोबिलिटी और कारोबारी गतिविधियों में तेजी आने से अर्थव्यवस्था में तीव्र सुधार होगा और भारतीय अर्थव्यवस्था आठ फीसदी की दर से बढ़ेगी। एडीबी के मुख्य अर्थशास्त्री यासुयुकी सवादा ने रिपोर्ट जारी करते हुये कहा कि भारत ने कोरोना से निपटने के लिए कठोर लॉकडाउन लागू किया और इसका अर्थव्यवस्था पर बहुत ही विपरीत प्रभाव हुआ।

उन्होंने कहा कि काेरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए जांच में तेजी, काेरोना पीड़ितों की पहचान और उपचार की क्षमता बढ़ाने जैसे उपाय किये जाने की जरूरत है ताकि अगले वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था में सुधार हो सके। उन्होंने कहा कि भारत में अभी वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक कोरोना मरीज है। उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी ऋण के स्तर को भी कम करने की जरूरत है क्योंकि इससे प्रौद्योगिकी और इंफ्रास्ट्रक्चर निवेश प्रभावित हो रहा है और इससे आगे वित्तीय क्षेत्र कमजोर होे सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2020 में महंगाई में गिरावट आ सकती है। अगले वित्त वर्ष में महंगाई चार फीसदी पर आ सकती है। चालू वित्त वर्ष में चालू खाता घाटा के जीडीपी के 0.3 प्रतिशत पर आ सकता है और अगले वित्त वर्ष में इसके बढ़कर 0.6 प्रतिशत पर पहुंचने का अनुमान है।

 

 

05-09-2020
भारतीय सैनिक हमेशा से सीमा प्रबंधन के प्रति जिम्मेदार: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चीन के साथ तनाव के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और चीनी रक्षामंत्री वेई फेंगही ने शुक्रवार को अहम बैठक की। पूर्वी लद्दाख में मई में सीमा पर हुए तनाव के बाद से दोनों ओर से यह पहली उच्च स्तरीय आमने सामने की बैठक थी। मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक के इतर हुई इस मीटिंग में दोनों देशों के मंत्रियों ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के साथ-साथ आपसी संबंधों के विकास के बारे में स्पष्ट और गहन चर्चा की। इस दौरान रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले कुछ महीनों में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) और गलवान घाटी में हुए घटनाक्रम पर भारत की स्थिति को स्पष्ट रूप से व्यक्त किया। सिंह ने जोर देकर कहा कि बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों को एकत्र करना जैसी कार्रवाई उनके आक्रामक व्यवहार और यथास्थिति को एकतरफा रूप से बदलने के प्रयास को दिखाती है। यह दोनों देशों के बीच हुए द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन था।

रक्षा मंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि भारतीय सैनिक हमेशा सीमा प्रबंधन के प्रति बहुत ही जिम्मेदार है। लेकिन साथ ही भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के संकल्प के बारे में भी कोई संदेह नहीं होना चाहिए। सिंह ने साथ ही कहा कि दोनों पक्षों के नेताओं की आम सहमति से मार्गदर्शन लेकर भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में शांति बहाली जरुरी है,जिससे द्विपक्षीय संबंधों का विकास किया जा सके और दोनों पक्षों के मतभेद विवाद नहीं बने। दो घंटे से अधिक समय तक हुई बैठक में उन्होंने चीनी समकक्ष को सलाह दी कि द्विपक्षीय समझौते और प्रोटोकॉल के अनुसार पैंगोंग झील सहित सीमावर्ती क्षेत्रों में तनाव के क्षेत्रों से जल्द से जल्द पूर्ण विघटन के लिए भारतीय पक्ष के साथ काम करे। सिंह ने आगे कहा कि वर्तमान स्थिति को जिम्मेदारी से संभाला जाना चाहिए। किसी भी पक्ष को आगे की कार्रवाई नहीं करनी चाहिए, जिससे स्थिति और जटिल हो जाए। रक्षामंत्री ने कहा कि दोनों पक्षों को अपनी चर्चा जारी रखनी चाहिए, जिसमें कूटनीतिक और सैन्य माध्यमों के जरिए जल्द से जल्द एलएलसी पर पूर्ण शांति बहाली सुनिश्चित की जा सके। भारतीय प्रतिनिधिमंडल में रक्षा सचिव अजय कुमार और रूस में भारत के राजदूत डीबी वेंकटेश वर्मा भी थे।

 

 

31-08-2020
 मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने बोला हमला, कहा- भारतीय अर्थव्यवस्था 40 सालों में पहली बार भारी मंदी में

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी ने एक वीडियो में देश की अर्थव्यवस्था के बारे में बात करते हुए मौजूदा सरकार पर जमकर भड़ास निकाली है। राहुल गांधी ने वीडियो में अर्थव्यवस्था के बारे में बात करते हुए कहा कि, 'जो आर्थिक त्रासदी देश झेल रहा है, उस दुर्भाग्यपूर्ण सच्चाई की आज पुष्टि हो जाएगी। भारतीय अर्थव्यवस्था 40 वर्षों में पहली बार भारी मंदी में है। असत्याग्रही इसका दोष ईश्वर को दे रहे हैं।' राहुल गांधी द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में कहा कि'बीजेपी की सरकार ने असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण किया है, और आपको गुलाम बनाने की कोशिश की जा रही है। 2008 में जबरदस्त आर्थिक तूफान पूरी दुनिया में आया। अमेरिका, यूरोप के बैंक गिर गए लेकिन इंडिया को कुछ नहीं हुआ। राहुल गांधी ने कहा कि उस वक्त यूपीए की सरकार थी और मैं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलने गया और पूछा की पूरी दुनिया में आर्थिक नुकसान हुआ है लेकिन इंडिया में क्यों नहीं हुआ? प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा राहुल अगर हिंदुस्तान के अर्थव्यवस्था को समझना चाहते हो तो यह समझना होगा कि भारत में दो अर्थव्यवस्था है।

पहली असंगठित अर्थव्यवस्था और दूसरी संगठित अर्थव्यवस्था। संगठित अर्थव्यवस्था में बड़ी कंपनिया आती हैं, वहीं असंगठित अर्थव्यवस्था में किसान, मजदूर, मीडिल दुकानदार इत्यादि आते हैं। राहुल गांधी ने बताया कि मनमोहन सिंह ने उस वक्त बताया कि जिस दिन तक भारत की असंगठित अर्थव्यवस्था मजबूत है, उस दिन तक हिंदुस्तान को कोई भी आर्थिक नुकसान छू नहीं सकता है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में बीजेपी की तीन नीतियों से असंगठित अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा है। इसमें से उन्होंने बताया कि पहला नोटबंदी दूसरा जीएसटी और तीसरा लॉकडाउन है। इसके अलावा उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री  को सरकार चलाने के लिए मीडिया की जरूरत है, मार्केटिंग की जरूरत है। मीडिया-मार्केटिंग 15-20 लोग करते हैं। इनफॉर्मल सेक्टर में लाखों करोड़ रुपए हैं। इस सेक्टर को तोड़कर ये लोग पैसा लेना चाहते हैं। इसका नतीजा ये होगा कि हिंदुस्तान रोजगार पैदा नहीं कर पाएगा, क्योंकि इनफॉर्मल सेक्टर 90% से ज्यादा रोजगार देता है।'

 

17-08-2020
पं.जसराज के निधन से भारतीय शास्त्रीय संगीत जगत को हुई अपूरणीय क्षति : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विश्वविख्यात शास्त्रीय गायक पं.जसराज के निधन पर शोक जताया है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा है कि पंडित जसराज ने शास्त्रीय संगीत की परंपरा को न सिर्फ आगे बढ़ाया बल्कि अपनी गायिकी से भारत देश का विश्व मंच पर मान बढ़ाया है। खयाल शैली की गायिकी पं.जसराज की विशेषता रही है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि पं.जसराज ने एक अनोखी जुगलबंदी की रचना की, जिसे शास्त्रीय गायन की दुनिया में जसरंगी नाम से जाना जाता है। उनके निधन से भारतीय शास्त्रीय संगीत जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

 

21-07-2020
भारत-चीन सीमा विवाद: सेना तैनात करेंगी उत्तरी सेक्टर में मिग- 29K फाइटर एयरक्राफ्ट

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के बीच भारत सीमा पर लगातार अपनी क्षमताएं बढ़ा रहा है। अब भारतीय नौसेना के समुद्री फाइटर जेट मिग-29के (MiG-29K) को उत्तरी सेक्टर में तैनात करने का फैसला लिया है। नौसेना के पी-82 निगरानी विमान पहले ही पूर्वी लद्दाख सेक्टर में तैनात किए जा चुके हैं। सरकारी सूत्रों ने कहा, 'मिग-29के फाइटर एयरक्राफ्ट को उत्तरी सेक्टर में भारतीय नौसेना के बेस पर तैनात करने की योजना बनाई जा रही है। इनका इस्तेमाल पूर्वी लद्दाख सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अभियानों को अंजाम देने के लिए किया जा सकता है।'डोकलाम विवाद के दौरान इन निगरानी विमानों का बड़े स्तर पर इस्तेमाल किया गया था। भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के बीच भारतीय नौसेना अहम भूमिका निभा रही है। नौसेना के विमानों का एलएसी पर चीनी गतिविधियों और उनकी स्थिति पर नजर रखने के लिए  इस्तेमाल किया जा रहा है। 

 

09-07-2020
नरेंद्र मोदी ने कहा, भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं और देश दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक बना हुआ है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में जब दुनिया कोविड-19 महामारी से जूझ रही है, ऐसे में पुनरुद्धार के बारे में बात करना स्वाभाविक है और ऐसा विश्वास है कि वैश्विक पुनरुद्धार में भारत की अग्रणी भूमिका होगी।मोदी ने ‘इंडिया ग्लोबल वीक 2020’ को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारतीयों में असंभव को संभव कर दिखाने का जज्बा है। इसमें आश्चर्य नहीं कि भारत में हम पहले ही आर्थिक सुधार के संकेत देख रहे हैं।’

उन्होंने कहा कि भारत दुनिया की सबसे अधिक खुली अर्थव्यवस्थाओं में एक बना हुआ है। मोदी ने कहा,‘हम सभी वैश्विक कंपनियों को भारत में बुलाने के लिए रेड कार्पेट बिछा रहे हैं। आज भारत में जैसे अवसर हैं, बहुत कम देश वैसे अवसरों की पेशकश कर सकते हैं।’मोदी ने कहा कि भारत में कई नए क्षेत्रों में असीमति संभावनाएं और अवसर हैं। उन्होंने कहा, ‘कृषि क्षेत्र में हमारे सुधारों के कारण भंडारण और लॉजिस्टिक्स में निवेश के बेहद आकर्षक अवसर हैं।’

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804