GLIBS
25-09-2020
आईसीएमआर ने तीन जिलों के सीरो सर्विलेंस की अंतरिम रिपोर्ट की जारी,1513 सैंपलों में से 128 में मिली एंटीबॉडीज

रायपुर। छत्तीसगढ़ के तीन जिलों रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव में सीरो सर्विलेंस की अंतरिम रिपोर्ट आईसीएमआर ने जारी की है। अंतरिम रिपोर्ट के अनुसार राजनांदगांव के 3.76 प्रतिशत, दुर्ग के 8.31 प्रतिशत और रायपुर के 13.41 प्रतिशत लोगों के शरीर में कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ने वाले एंटीबॉडीज की मौजूदगी पाई गई है। सीरो सर्विलेंस के दौरान दुर्ग जिले के आम नागरिकों व उच्च जोखिम वर्गों के 517, राजनांदगांव में 504 और रायपुर में 492 सैंपल संकलित किए गए थे। इन 1513 सैंपलों में से 8.5 प्रतिशत यानि 128 सैंपलों में एंटीबॉडीज पाई गई है। आईसीएमआर की ओर से प्रदेश के दस जिलों में किए गए सीरो सर्विलेंस की विस्तृत रिपोर्ट और निष्कर्ष आगामी 15 दिनों में जारी किए जाएंगे। आईसीएमआर, नई दिल्ली और आरएमआरसी, भुवनेश्वर की ओर से राज्य शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से 10 जिलों के 20 विकासखंडों के 60 क्लस्टर्स में सीरो सर्विलेंस के लिए सैंपल संकलित किए गए हैं। सर्विलेंस के लिए शहरी और ग्रामीण दोनों इलाकों से सैंपल लिए गए हैं।

इनमें आम नागरिकों के साथ ही भीड़ के बीच काम करने वाले उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के सैंपल भी शामिल हैं। रायपुर जिले के दो विकासखंडों के तीन-तीन क्लस्टर्स में संकलित 492 सैंपलों में से 426 एंटीबॉडी निगेटिव और 66 पॉजिटिव पाए गए हैं। तिल्दा विकासखंड से लिए गए 160 सैंपलों में से 146 एंटीबॉडी निगेटिव और 14 पॉजिटिव मिले हैं। वहीं धरसींवा (रायपुर) विकासखंड से संकलित 332 सैंपलों में से 280 निगेटिव और 52 पॉजिटिव पाए गए हैं। आईसीएमआर की ओर से दुर्ग जिले में लिए गए 517 सैंपलों में से 474 एंटीबॉडी निगेटिव और 43 पॉजिटिव पाए गए हैं। दुर्ग विकासखंड में संकलित 305 सैंपल में से 278 निगेटिव और 27 पॉजिटिव तथा पाटन विकासखंड के 196 सैंपलों में से 212 निगेटिव व 16 पॉजिटिव पाए गए हैं। सीरो सर्विलेंस के लिए राजनांदगांव से लिए गए 504 सैंपलों में से 485 की रिपोर्ट निगेटिव और 19 की पॉजिटिव है। राजनांदगांव विकासखंड से संकलित 319 में से 304 एंटीबॉडी निगेटिव व 15 पॉजिटिव तथा डोंगरगढ़ विकासखंड के 185 सैंपलों में से 181 निगेटिव और चार पॉजिटिव पाए गए हैं।

 

23-09-2020
आठ दुकानों से निगम ने वसूला 10500 रुपए जुर्माना,मोबाइल दुकान को किया सील

दुर्ग। नगर पालिक निगम दुर्ग के बाजार विभाग ने बुधवार को शहर के कई क्षेत्रों में नौ  दुकान संचालकों पर नियमों का पालन नहीं करने पर चालानी कार्रवाई की और एक मोबाइल दुकान को सील किया। दुकानदारों के खिलाफ कार्यवाही कर 10500 रुपए जुर्माना वसूला। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा शहर में 30 सितंबर तक लॉक डाउन किया गया है,जिसके तहत नागरिक सुविधाओं व  वसाय को ध्यान में रखते हुए संचालित करने का समय निर्धारित किया गया तथा नियम के तहत सोशल डिस्टेंस,  सैनिटाइजिंग का उपयोग और मास्क लगाने के निर्देश दिए गए है। परंतु शहर के दुकानदार लॉक डाउन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने शहर की जनता से अपील है की गुरुवार से 30 सितंबर तक जिला प्रशासन द्वारा पूर्ण लॉक डाउन किया गया है। अतः इस दौरान कोई भी व्यक्ति बिना किसी आवश्यक कार्य के घर से बाहर ना निकले। बिना आई कार्ड बिना अनुमति के कहीं न जाएं। कोई भी दुकानदार दुकान ना खोलें अन्यथा जिला प्रशासन और निगम प्रशासन द्वारा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

23-09-2020
अतिआवश्यक कार्यो को छोड़ निगम के शेष कार्यालय 30 सितंबर तक रहेंगे बंद    

दुर्ग। नगर पालिक निगम दुर्ग के अतिआवश्यक सेवाएं सफाई, बिजली, जलप्रदाय एवं कोविड-19 में सर्वे और स्टीकर चस्पा कार्य में तैनात अधिकारी/ कर्मचारियों को छोड़कर नगर निगम दुर्ग के शेष सभी कार्यालय को 30 सितंबर तक बंद रखे जाने का आदेश निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन द्वारा आदेश जारी किया गया है। विदित हो कि नोवल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन द्वारा 24 से 30 सितंबर तक संपूर्ण लाॅकडाउन लगाया गया है। उक्त आदेश के अनुक्रम में निगम आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया है कि नगर पालिक निगम दुर्ग के अतिआवश्यक सेवा जैसे सफाई, बिजली और जलप्रदाय एवं कोविड-19 हेतु सर्वे, स्टीकर कार्य में तैनात अधिकारी, कर्मचारियों को छोड़ कर शेष कार्यालय 30 सितंबर तक बंद रहेगें। 24 से 30 सितंबर 2020 तक संपूर्ण जिले में धारा 144 लागू होने के कारण नगर पालिक निगम दुर्ग कार्यालय आम नागरिकों के आने-जाने के लिए पूर्ण रुप से प्रतिबंधित कर दिया गया है। लाॅकडाउन अवधि में कोविड-19 का आनलाइन डाटा एन्ट्री का कार्य पूर्व की भांति चालू रहेगा। समस्त कम्प्यूटर आपरेटरों को निर्देशित किया गया है कि वे आयुक्त के निज सहायक भूपेन्द्र गोईर के निर्देशन में डाटा एन्ट्री का कार्य संपादित करेगें।

 

21-09-2020
दुर्ग में 24 सितंबर से लॉक डाउन 

दुर्ग। जिले में 24 से 30 सितंबर तक होगा पूर्ण लॉकडाउन। फिलहाल 23 सितंबर तक प्रशासन द्वारा जारी किये गए लॉकडाउन की गाइडलाइन के मुताबिक रहेगी व्यवस्था। 24 सितंबर सुबह से पूर्ण लॉकडाउन लागू हो जाएगा जो 30 सितंबर तक रहेगा।

20-09-2020
Video: पुलिस ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए निकाली जागरूकता रैली

दुर्ग। जिला पुलिस ने रविवार को कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरूकता रैली निकाली। इसमें एसपी सहित आला अधिकारी शामिल हुए। रैली का मकसद लोगों को कोरोना वायरस से लिए बचाव के लिए संदेश देना था। इस अवसर पर दुर्ग एसपी प्रशांत ठाकुर ने कहा कि कोरोना महामारी से बचने के लिए सबसे बड़े हथियार हैं मास्क व सैनिटाइजर,जिसका उपयोग जनता को ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए। इसी संदेश के साथ हम यह रैली निकाल रहे हैं ताकि लोगों में जागरूकता फैल सके। रैली शहर के विभिन्न चौक चौराहों से होते हुए वापस एसपी कार्यालय पर समाप्त हुई।  रैली का आयोजन रोज दुर्ग डिवीजन के तीनों जोनों में लॉक डाउन के दौरान किया जाएगा।  

 

20-09-2020
Video: सेवा सप्ताह में भाजयुमो ने बांटी गरीब परिवारों को भाप लेने वाली मशीन

दुर्ग। जिला भाजयुमो के अध्यक्ष दिनेश देवांगन ने रविवार को कोरोना वायरस के बचाव के लिए गरीब परिवारों को भाप लेने वाली मशीनों का वितरण किया। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर शुरू हुए सेवा सप्ताह के दौरान जिला भाजयुमो द्वारा विभिन्न आयोजन किए जा रहे हैं। इसके तहत आज भाप की मशीन बांटी गई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के जन्मदिवस के अवसर पर हमारे संगठन द्वारा लोगों को सेवा भाव से अलग-अलग कार्य किए जा रहे हैं। इसके तहत गरीब परिवारों को मदद की जा रही है। इससे वह सुरक्षित रह सके। इस दौरान दिनेश देवांगन के साथ कांतिलाल व भाजपा के कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

20-09-2020
Video: मोदी आर्मी ने किया लॉक डाउन का विरोध,कहा-मजदूरी करने वालों को घर चलाना मुश्किल हो जाएगा

दुर्ग। शहर में रविवार से शुरू हुए लॉक डाउन का विरोध मोदी आर्मी संगठन ने अलग अंदाज में किया है। इसमें आज मोदी आर्मी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष वरुण जोशी ने दुर्ग महापौर धीरज बाकलीवाल के निवास पहुंचकर उन्हें गुलदस्ता भेंट किया। जोशी ने कहा कि शहर में लॉक डाउन की वजह से छोटे व्यापारियों व रोजी मजदूरी करने वालों को घर चलाना मुश्किल हो जाएगा। जोशी ने यह भी कहा कि यदि महापौर को शहर की जनता की चिंता थी तो सुबह के मार्केट को सैनिटाइज करवाते और सार्वजनिक जगहों पर लोगों को जागरूक करने कार्यक्रम चलाते। सामाजिक संगठनों से उनके भवनों को लेकर वहां ज्यादा से ज्यादा सेंटर बनवाते। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन कोरोना की समस्या का कोई विकल्प नहीं है। 

 

19-09-2020
किसानों की चिंता है तो हरेक फसल का ज्यादा से ज्यादा समर्थन मूल्य घोषित करे मोदी सरकार : राजेंद्र साहू    

दुर्ग। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री राजेंद्र साहू ने केंद्र सरकार के कृषि विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए कहा है कि इससे देश के लाखों किसानों को जबर्दस्त आर्थिक नुकसान होगा। राजेंद्र ने कहा कि यह विधेयक किसान विरोधी होने के साथ-साथ जनविरोधी भी है। कृषि विधेयक से कार्पोरेट घराने मुनाफा कमाएंगे जबकि किसान एग्रीमेंट के जाल में फंस जाएंगे। किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य तक नहीं मिल पाएगा। राजेंद्र साहू ने कहा कि इस विधेयक के लागू होने पर कार्पोरेट घराने किसानों से एग्रीमेंट करेंगे। किसानों की फसल या उपज खरीदकर पूंजीपति घराने जमाखोरी करेंगे। भरपूर भंडारण करने के बाद कालाबाजारी भी करेंगे और मुनाफा कमाएंगे। कार्पोरेट घरानों के शिकंजे में आने से किसानों को अपनी खेती की जमीन से भी वंचित होना पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि सहकारी समितियां और कृषि उपज मंडी किसानों को संबल प्रदान करते हैं। केंद्र सरकार के विधेयक से सहकारी समिति संस्था और मंडी व्यवस्था धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी। कृषि विधेयक के आने से सहकारी समितियों के माध्यम से बीज-खाद खरीदी और नगद ऋण लेने की व्यवस्था के साथ समर्थन मूल्य पर फसल खरीदी व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। राजेंद्र साहू ने कहा कि अगर मोदी सरकार को वास्तव में किसानों की फिक्र है और किसानों को सही मायनों में लाभ पहुंचाना चाहते हैं तो किसानों की हर फसल का समर्थन मूल्य ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने का साहसिक फैसला करें। पूरे देश में किसानों की हर फसल की खरीदी बढ़े हुए समर्थन मूल्य पर करने से संबंधित विधेयक लाएं। केंद्र सरकार किसान विरोधी कृषि विधेयक लाकर किसानों और देशवासियों पर कुठाराघात करने वाले फैसले लेना बंद करे।

 

 

19-09-2020
सेवा सप्ताह के तहत भाजयुमो ने थाना परिसर का सैनिटाइज कर किया कोरोना वीरों का उत्साहवर्धन

दुर्ग। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में भाजपा की ओर से मनाए जा रहे सेवा सप्ताह के तहत शनिवार को जिला भाजयुमो ने कोरोना योद्धाओं के रूप में सेवा देने वाले पुलिस कर्मियों के कार्य स्थल सिटी कोतवाली में इलेक्ट्रॉनिक फॉक मशीन से पूरे थाना परिसर को सैनिटाइज कर पुलिसकर्मियों का उत्साहवर्धन किया। इस अवसर पर जिला भाजयुमो अध्यक्ष दिनेश देवांगन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन से लेकर 25 सितम्बर तक किए जाने वाले सेवा सप्ताह कार्यक्रम के तहत प्रतिदिन कुछ न कुछ सेवा कार्य किया जाना है। इसके तहत दुर्ग के मुख्य थाना परिसर सिटी कोतवाली लगातार कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के कारण अंदर सील किया गया है और पुलिस कर्मियों द्वारा बाहर टेंट के माध्यम से अपनी सेवा दे रहे है इसे ध्यान में रखते हुए भाजयुमो ने कोरोना योद्धाओं के कार्यस्थल को सैनिटाइज कर कोरोना वीरों का सम्मान किया है, जो आगे भी निरंतर जारी रहेगा। इस अवसर पर जिला भाजयुमो महामंत्री नितेश साहू, थाना सहप्रभारी युवराज देशमुख,राजेंद्र तिवारी, देवा भारती,शौकत अली,जिला उपाध्यक्ष राहुल पंडित,मंत्री नितेश बाफना,सोशल मीडिया प्रभारी गौरव शर्मा,पूर्व भाजपा महामंत्री मनोज सोनी, कृष्णा निर्मलकर,हिमांशु झा,नोहर कसार,पुलिस मित्र दीप्ति मसीह आदि मौजूद थे।

 

19-09-2020
पुलगांव गौठान को आदर्श गौठान के रूप में किया जाएगा विकसित : महापौर

दुर्ग। महापौर धीरज बाकलीवाल और कलेक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे ने शनिवार को निगमायुक्त इंद्रजीत बर्मन और निगम के एमआईसी प्रभारियों के साथ पुलगांव में स्थित गौठान का निरीक्षण कर गायों को दी जा रही सुविधा व सुरक्षा का अवलोकन किया गया। उन्होंने गौठान में गायों की सुरक्षा और चारा की बेहतर व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा गौठान में गायों के लिए चारा और पानी की कमी ना हो इसका ध्यान रखें। इस दौरान एमआईसी प्रभारी दीपक साहू,ऋषभ जैन,जयश्री जोशी,संजय कोहले, मनदीप सिंह भाटिया,निगम के सहायक अभियंता जितेन्द्र समैया व पार्षद उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि पुलगांव में गोधन न्याय योजना के तहत प्रारंभ किए गए गौठान में लगभग 200 के आसपास गाय हैं। जिनकी देखभाल कल्याण महिला स्वसहायता समूह द्वारा किया जा रहा है। गौठान में मवेशियों को चारा, पानी आदि की पर्याप्त सुविधा दी जा रही है। उनके लिए शेड का निर्माण किया जा रहा है। इस दौरान महापौर व कलेक्टर ने निगम आयुक्त को निर्देशित कर कहा गौठान में महिला स्वसहायता समूह के माध्यम से गोबर से लकड़ी बनवाने का कार्य प्रारंभ कराएं। गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन की खरीदी करें। उन्होंने कहा इस गौठान को एक आदर्श गौठान के रूप में विकसित किया जाएगा।  

17-09-2020
छत्तीसगढ़ में सीरो सर्विलेंस शुरू, पहले दिन रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव जिले में लिए गए सैंपल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आईसीएमआर की टीम ने गुरुवार से सीरो सर्विलेंस की शुरुआत कर दी गई है। आईसीएमआर की टीम ने रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव जिले में लोगों के शरीर में एंटीबॉडी की जांच के लिए सैंपल संकलित किए। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ की ओर से आईसीएमआर के विशेषज्ञों से कराए जा रहे सीरो सर्विलेंस से आम लोगों और उच्च जोखिम वर्गों में कोविड-19 के विरुद्ध रोग प्रतिरोधक क्षमता का पता चलेगा। सीरो सर्विलेंस की रिपोर्ट से प्रदेश में कोरोना संक्रमण से निपटने की रणनीति तैयार करने में भी मदद मिलेगी। आईसीएमआर की तीन अलग-अलग टीमों ने आम लोगों और ज्यादा जोखिम वाले समूहों जैसे विभिन्न तरह के इम्युनो-कॉम्प्रोमाइज्ड व्यक्तियों, अस्पताल स्टॉफ, पुलिस, प्रवासी श्रमिकों, औद्योगिक कार्मिकों, मीडिया और भीड़ के बीच काम करने वाले स्टॉफ के सैंपल एकत्र किए।

टीम की ओर से18 सितंबर को बलौदाबाजार-भाटापारा, मुंगेली, बिलासपुर और जांजगीर-चांपा में सैंपल संकलित किए जाएंगे। आईसीएमआर की टीम ने रायपुर जिले के सेरीखेड़ी, सिलियारीखुर्द, बिलाड़ी और खौना में 40-40 लोगों के सैंपल लिए। टीम ने सिलियारीखुर्द में सात और खौना में 44 उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों के भी सैंपल संकलित किए। दुर्ग जिले के मोहलई में आम नागरिकों व उच्च जोखिम वर्ग के 40-40, समोदा में आम नागरिकों के 40 और उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के 44 और कोकड़ी में आम नागरिकों व उच्च जोखिम समूह के 40-40 सैंपल संकलित किए गए। राजनांदगांव जिले के सुरगी में आम लोगों के 42 और उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के 51, रेंगाकठेरा में आम नागरिकों के 40 और उच्च जोखिम वर्ग के 34 और नवागांव में सामान्य लोगों के 40 और ज्यादा जोखिम समूह के 30 लोगों के सैंपल कलेक्शन किए गए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804