GLIBS
13-01-2021
धमतरी पहुंची कोरोना वायरस से बचाव करने वाली कोविशिल्ड वैक्सीन

धमतरी। कोरोना से बचाव के लिए कोविशिल्ड वैक्सीन की 6400 डोज रायपुर से धमतरी पहुंच चुकी है। इसे सीएमएचओ ऑफिस के कोल्ड चेन पॉइंट में रखा जाएगा, वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू होगा। प्रथम चरण में 5200 लोगों को चिन्हांकित किया गया है। मुख्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डीके तुर्रे ने बताया कि प्रथम चरण में कोविड-19 के बचाव हेतु 6400 डोज धमतरी को मिले है, जिसको रायपुर से लेकर गाड़ी धमतरी पहुंच चुकी है। प्रथम चरण के लिए पंजीकृत 5200 लोगों में से 60% को दो चरण में वैक्सीन लगाया जाएगा। 16 जनवरी को जिला अस्पताल, भटगांव स्वास्थ्य केंद्र तथा नगरी में 300 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद राज्य के निर्देशानुसार बाकी 31 जगहों में 18 जनवरी से बाकी लोगों को वैक्सिन लगाई जाएगी।आज रायपुर एयरपोर्ट में दोपहर को वैक्सीन फ्लाइट के माध्यम से पहुंचाया गया था।

पहली खेप में वैक्सीन के 27 बॉक्स पहुंचे हैं। इधर वैक्सीनेशन को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। पहले चरण में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कार्मिकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने प्रोटोकॉल के अनुसार इन टीकों के वितरण, परिवहन और भंडारण की पुख्ता व्यवस्था की है। सभी जिलों में टीकाकरण के लिए मॉकड्रिल और आपात स्थिति से निपटने का पूर्वाभ्यास भी किया जा चुका है। छत्तीसगढ़ को भारत सरकार की ओर से पहली खेप में सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया की निर्मित कोविशील्ड के 3 लाख 23 हजार टीके उपलब्ध कराए जा गए हैं। ये टीके आईसीएमआर की ओर से प्रमाणित हैं।

13-01-2021
कुछ देर में धमतरी पहुंचेगी कोरोना वायरस से बचाव करने वाली कोविशिल्ड वैक्सीन

धमतरी। कोरोना से बचाव के लिए कोविशिल्ड वैक्सीन की 6400 डोज रायपुर से धमतरी के लिए रवाना हो चुकी है, इसे सीएमएचओ ऑफिस के कोल्ड चेन पॉइंट में रखा जाएगा, वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू होगा। प्रथम चरण में 5200 लोगों को चिन्हांकित किया गया है। मुख्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.डीके तुर्रे ने बताया कि प्रथम चरण में कोविड 19 के बचाव के लिए 6400 डोज धमतरी को मिले है, जिसको रायपुर से लेकर गाड़ी धमतरी के लिए रवाना हो चुकी है। प्रथम चरण के लिए पंजीकृत 5200 लोगों में से 60 को दो चरण में वैक्सीन लगाया जाएगा। 16 जनवरी को जिला अस्पतालए भटगांव स्वास्थ्य केंद्र तथा नगरी में 300 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद राज्य के निर्देशानुसार बाकी 31 जगहों में 18 जनवरी से बाकी लोगों को वैक्सिन लगाई जाएगी। आज रायपुर एयरपोर्ट में दोपहर को वैक्सीन फ्लाइट के माध्यम से पहुंचाया गया था।

पहली खेप में वैक्सीन के 27 बॉक्स पहुंचे हैं। इधर वैक्सीनेशन को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। पहले चरण में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कार्मिकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने प्रोटोकॉल के अनुसार इन टीकों के वितरणए परिवहन और भंडारण की पुख्ता व्यवस्था की है। सभी जिलों में टीकाकरण के लिए मॉकड्रिल और आपात स्थिति से निपटने का पूर्वाभ्यास भी किया जा चुका है। छत्तीसगढ़ को भारत सरकार की ओर से पहली खेप में सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया की निर्मित कोविशील्ड के 3 लाख 23 हजार टीके उपलब्ध कराए जा गए हैं। ये टीके आईसीएमआर की ओर से प्रमाणित हैं।

 

30-12-2020
अंजोर रथ जागरूक करते हुए पहुंचा भखारा के साप्ताहिक बाजार,जनसमूह को साइबर अपराधों से बचाव की दी गई जानकारी

धमतरी।पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के द्वारा सुरक्षा एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने तथा अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए अलग अलग स्थानों पर सरप्राइस चेकिंग अभियान एवं गस्त व पेट्रोलिंग व्यवस्था सुदृढ़ करने निर्देशित किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन में अंजोर रथ शहर के बाद ग्रामीण अंचलों में घूम.घूम कर आम नागरिकों को महिलाओं एवं बच्चों के अधिकारों की जानकारी देते हुए साइबर, ऑनलाइन ठगी से सुरक्षा संबंधी उपाय को बता रही है। इसी क्रम में अंजोर रथ लगातार ग्रामीण क्षेत्रों में घूमते हुए बुधवार को थाना भखारा क्षेत्रांतर्गत भखारा के साप्ताहिक बाजार में पहुंचा, जहां उपस्थित ग्रामीणों को साइबर क्राइम एवं महिलाओं व बच्चों संबंधी अपराध से जागरूक करने के उद्देश्य से प्रशिक्षकों पुलिस अधीक्षक रागिनी तिवारी अंजोर रथ स्टाफ के साथ महिलाओं एवं बच्चों को उनके अधिकारों के बारे में बताते हुए सुरक्षा उपायों की जानकारी दी गई।

साथ ही उपस्थित आमजनों को साइबर अपराध के बारे में जानकारी देकर बैंक खाता,एटीएम, पिन, ओटीपी जैसी गोपनीय जानकारियां किसी के साथ साझा नहीं करने, ऑनलाइन फ्रॉड जैसे. इनाम जीतने या लॉटरी के नाम पर ठगी, इंश्योरेंस कंपनी के नाम पर ठगी, फर्जी फोन कॉल, कम ब्याज में लोन दिलाने के नाम पर ठगी के बारे में बताते हुए फेसबुक मैसेंजर या अन्य मैसेजिंग एप में आए अनजान लिंक को क्लिक नहीं करने समझाइश दिया गया। साथ ही ऑनलाइन ठगी का शिकार होने की स्थिति में अविलंब अपने बैंक व नजदीकी थाना को सूचित करने समझाइश दी गई।

 

26-12-2020
काेरोना महामारी से बचाव के लिए पार्षदों को दिया गया प्रशिक्षण

रायपुर। काेरोना महामारी से बचाव करने प्रदेश शासन के स्वास्थ्य संचालनालाय ने शनिवार निगम के सभी 70 वार्डो के पार्षदों का ऑनलाइन वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान जोन कार्यालयों में सभी पार्षदों ने अधिकारियों के माध्यम से बताए गए दिशा निर्देशों को ध्यानपूर्वक सुना। वीडियो कॉफ्रेंसिंग में अधिकारियों ने कोरोना महामारी से बचाव के लिए आवश्यक चीजों के बारे में जानकारी दी। साथ ही अधिकारियों ने इस दिशा में सावधानी पूर्वक कार्य करने के निर्देश दिए। प्रशिक्षण कार्यक्रम में कोविड 19 के वायरस और संक्रमण से सुरक्षित रहने और बचाव की दृष्टि से मास्क अनिवार्य रूप से नियमित पहनकर घर से बाहर निकलने के महत्व से अवगत करवाया।

सभी पार्षदों को सामाजिक दूरी के नियम का व्यवहारिक पालन करने और सैनिटाइजर का नियमित उपयोग करने, हैंडवाश का नियमित उपयोग करने का सुरक्षा और बचाव की दृष्टि से जनहित में जनस्वास्थ्य बाबत सुझाव स्वास्थ्य संचालनालय के अधिकारियों ने ऑनलाइन प्रशिक्षण के दौरान दिया। इस दौरान जोन 2 के जोन कमिश्नर विनय मिश्रा ने बताया कि जोन 2 कार्यालय में स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा कोविड 19 के संक्रमण से बचाव और सुरक्षा के सम्बन्ध में दिये गये ऑनलाइन प्रशिक्षण के दौरान नगर निगम के एमआईसी सदस्य सुन्दर जोगी, जोन 2 के जोन अध्यक्ष बंटी होरा, पार्षद अनवर हुसैन, तिलक पटेल, एल्डरमेन सुनील भुवाल सहित जोन 2 के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

 

24-11-2020
मेला-मड़ई में कोविड 19 से बचाव के लिए जिला दण्डाधिकारी ने जारी किए निर्देश

धमतरी। दीपावली त्यौहार के बाद ग्रामीण अंचलों में प्राचीन परम्परा अनुसार मेला/मड़ई का आयोजन किया जाता है। लाॅकडाउन खत्म होने के बाद कोविड 19 से बचाव के निर्देशों का सही ढंग से पालन नहीं करने के कारण कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। कोरोना काल में भी मेला-मड़ई का आयोजन किया जाता है, तो उसके लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जयप्रकाश मौर्य ने कोविड 19 से बचाव के मद्देनजर आवश्यक दिशा-निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश दिए हैं। जारी निर्देशों के तहत मेला/मड़ई में बुजुर्ग व्यक्ति, गर्भवती माताएं, छोटे बच्चे, सर्दी-खांसी, बुखार, बीपी, शुगर एवं गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति शामिल नहीं होगा। जिस गांव में मेला-मड़ई हो रहा है, उस गांव में अन्य गांव के व्यक्ति नहीं आए, यह प्रयास किया जाए, क्योंकि लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ रहा है, किन्तु इसमें विवाद की स्थिति निर्मित नहीं हो तथा किसी की धार्मिक भावना आहत नहीं हो। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए तथा मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें।

अनुविभागीय दण्डाधिकारी की अध्यक्षता में मेला समिति बैठक आयोजित करेगी, जिसके बाद ही मेला की अनुमति परिस्थितियों एवं शर्तों के अधीन प्रदान की जाएगी। मेला-मड़ई स्थल में दो-तीन जगहों पर लाउडस्पीकर लगाया जाए, जिसमें कोविड 19 से बचाव के निर्देशों का उद्घोषणा किया जाए। जिस गांव में मेला/मड़ई हो रहा है, वहां स्वास्थ्य विभाग की टीम एंटीजन कीट तथा अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ उपस्थित रहेंगे और संबंधित थाना प्रभारी नियमित रूप से पेट्रोलिंग करेंगे। दुकानों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जाए,इसकी जवाबदारी गांव वालों तथा आयोजन समिति की होगी। मेला-मड़ई के बाद गांव में दवाई (सैनिटाइज) का छिड़काव किया जाए। कलेक्टर ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए मेला-मड़ई का आयोजन प्रतीकात्मक रूप से किया जा सकता है,जिससे धार्मिक आस्था भी बनी रहे तथा अनावश्यक भीड़ से भी बचा जा सके। परम्परा अनुसार देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करके भी मेला-मड़ई आयोजित किया जा सकता है, जिसमें अन्य व्यक्तियों (भीड़) की आवश्यकता नहीं होगी। कोविड 19 से बचाव के सभी शर्तों का अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने दिए हैं।

 

23-11-2020
अब तक कोरिया जिले के 3190 लोगों ने दी कोरोना को मात

कोरिया। कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला प्रशासन सतत रूप से प्रयासरत है। कलेक्टर एसएन राठौर के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग द्वारा अथक मेहनत करते हुए मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इसी का परिणाम है कि कोरिया जिले के 3190 लोगों ने कोरोना को मात दे दी है। वहीं कलेक्टर के निर्देश पर जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन मेडिकल बुलेटिन जारी किया जा रहा है। इसके अनुसार कुल 20 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किये गये हैं। इसमें से 2 मरीज कोविड हास्पिटल तथा 18 मरीज होम आइसोलेशन में थे। जिले में अब तक कुल 3642 कोरोना पाजीटिव मरीजों की पहचान की गई है। वहीं आज की स्थिति में कुल 1073 सैंपल कलेक्शन किया गया,जिसमें कुल 23 एक्टिव केस की पहचान की गई है, तथा जिले में 201 एक्टिव केस का इलाज जारी है। साथ ही 188 मरीजों का होम आइसोलेशन में उपचार किया जा रहा है। कोविड अस्पताल, बैकुण्ठपुर में 100 बेड एवं 7 आईसीयू, एचडीयू 10 आईसीयू, 6 वेंटीलेटर उपलब्ध हैं।

आज की स्थिति में यहां भर्ती मरीजों की संख्या 13 तथा 87 बेड उपलब्ध हैं। इसी तरह एसईसीएल हास्पिटल, चरचा में बेड की संख्या 50 है। यहां भर्ती मरीजों की संख्या 0 तथा 50 बेड उपलब्ध हैं। होम आइसोलेट किए गए कोरोना संक्रमित मरीजों को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा निशुल्क होम केयर आइसोलेशन किट का वितरण किया जा रहा है। साथ ही मरीजों से वीडियो कॉल के जरिए बातचीत कर उनकी देख-रेख की जा रही है। उल्लेखनीय है कि जिले में लगातार कोरोना सर्वे भी संचालित जारी रखा गया है। जिले में अब तक जिले में आरटीपीसीआर के द्वारा 11138, ट्रूनाट के द्वारा 6781 तथा रैपिड एंटिजन के द्वारा 39223 टेस्ट किये जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना मरीजो को लाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा भी दी जा रही है।

 

23-11-2020
पांच जिलों के करीब दस लाख बच्चों को लगाए जाएंगे जैपनीज इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए टीके

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार को प्रदेश में जैपनीज इंसेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ किया। अभियान के अंतर्गत पांच जिलों बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कोंडागांव और धमतरी के लगभग दस लाख बच्चों को टीके लगाए जाएंगे। यह अभियान 18 दिसंबर तक चलेगा। इस दौरान इन जिलों के 1 वर्ष से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को जैपनीज इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए टीके लगाए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा कि इस अभियान से जैपनीज इंसेफेलाइटिस से होने वाली मौतों को रोका जा सकेगा। पहले भी बस्तर जैसे क्षेत्रों में अभियान चलाकर और बच्चों का टीकाकरण कर इस बीमारी को नियंत्रित किया गया है। इस जानलेवा बीमारी के बारे में सभी नागरिकों और माता-पिता को जागरूक रहना चाहिए। इससे बचाव ही सबसे बेहतर रास्ता है। सरकार टीकाकरण के माध्यम से इस बीमारी को बच्चों तक पहुंचने से रोकने की पूरी कोशिश कर रही है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले की सराहना करते हुए कहा कि वे दुर्गम और दूरस्थ क्षेत्रों में लगातार पहुंचकर लोगों की सेवा कर रहे हैं। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान की सफलता में भी इन टीमों की बड़ी भूमिका है। उन्होंने उम्मीद जताई कि स्वास्थ्य विभाग की प्रतिबद्धता और सक्रियता से इस टीकाकरण अभियान को सफल बनाकर हम जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से भी प्रदेश को मुक्त रखने में कामयाब होंगे।

 

 

13-11-2020
विधायक कुंवरसिंह निषाद ने कहा, त्यौहार पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए करें गाइडलाइन का पालन

गुंडरदेही। गुंडरदेही क्षेत्र के विधायक व संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद ने विधानसभा क्षेत्र के नागरिकों को दीपावली की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि त्यौहार में कोरोना संक्रमण से खुद की हिफाजत करें। दूसरों को भी संक्रमण से बचाए। विधायक ने क्षेत्र के हर व्यक्ति को सचेत रहने की अपील है। उन्होंने कहा कि गाइडलाइन का पालन करें। मास्क लगाएं और दूसरों को भी मास्क लगाने के लिए प्रेरित करे। उन्होंने त्यौहार पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने की क्षेत्रवासियों से अपील की। विधायक ने कहा कि जब तक कोविड 19 का टीका इजाद नहीं हो जाता तब तक सावधानी ही सुरक्षा है। 

 

शब्बीर रिजवी की रिपोर्ट

 

12-11-2020
कलेक्टर ने की दीपावली पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सजगता बरतने की अपील

बीजापुर। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले के सभी नागरिकों को त्यौहार को सुरक्षित ढंग से अपने परिवार के साथ मनाने का आग्रह किया है। कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने कहा है कि दीपावली का पर्व आप सबके लिये सुख-शांति एवं समृद्धि से भरा हो। इस पर्व को मनाने के साथ-साथ अपनी जिम्मेदारियां भी निभानी है। जैसा कि आप सभी इस बात से अवगत हैं वैश्विक महामारी कोविड-19 का प्रकोप अभी खत्म नहीं हुआ है। त्यौहारों तथा शरद ऋतु के आगमन के मद्देनजर कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को बढ़ने से रोकना हम सभी की जिम्मेदारी है। मेरा आप सभी से विनम्र आग्रह है कि कोरोना महामारी के प्रसार की रोकथाम के लिए इस दीपावली अपनी और अपनों की सुरक्षा के लिए तीन बातों का कड़ाई से पालन करें। सही ढंग से एवं अनिवार्य रुप से मास्क पहनें, नियमित रुप से कुछ समय के अंतराल में 20 सेकण्ड तक हाथ को साबुन से अच्छी तरह से धुलाई करने सहित सैनिटाइज करते रहें। भीड़-भाड़ वाले स्थान पर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए दो गज की दूरी बनाए रखें। यदि हम इन बातों को अपने व्यवहार में शामिल कर लेंगे तो निश्चित ही कोरोना जैसी संक्रामक बीमारियों से हमारा परिवार सुरक्षित रहेगा। अतः आप सभी नागरिकों से मेरी यह अपील है कि केन्द्र एवं राज्य शासन द्वारा चलाए जा रहे जन आंदोलन कोविड-19 कैम्पेन का हिस्सा बनते हुए कोविड अनुरुप व्यवहारों का पालन करें और त्यौहारों को मनायें। 

 

 

21-10-2020
आपदा प्रबंधन विभाग सचिव रीता शांडिल्य ने कोरोना के बचाव व रोकथाम के लिए व्यापक प्रचार प्रसार करने लिखा पत्र

रायपुर। आपदा प्रबंधन विभाग की सचिव रीता शांडिल्य ने भारत सरकार गृह मंत्रालय के पत्र के परिप्रेक्ष्य में कोरोना वायरस कोविड-19 से बचाव और रोकथाम के लिए राज्य के सभी कलेक्टरों, संभागायुक्तों को पत्र लिखकर लोगों को कोरोना वायरस से बचने मास्क पहनने, आवश्यक सोशल डिस्टेंस बनाए रखने और बार-बार साबुन से हाथ धोते रहने के लिए और अधिक जागरूक करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने का अनुरोध किया है। इसके लिए लोगों को जानकारी देने के लिए पम्पलेट व प्रतिज्ञा पत्र की प्रति भी भेजी गई है।

 

13-10-2020
सांसद सरोज पांडेय ने मोहन मंडावी का बचाव कर झूठे आधारहीन कथन का किया समर्थन : शैलेश

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा सांसद मोहन मंडावी के बयान के बाद भाजपा का नारी विरोधी चरित्र उजागर हो गया है। भाजपा सांसद ने सीबीआई जांच तक को प्रभावित करने की कोशिश की। एक नारी पर अत्याचार, बलात्कार के मामले में भाजपा के सांसद के इस बर्ताव पर भाजपा को क्षमा याचना करनी चाहिए। शैलेश ने कहा है कि सरोज पांडे एक महिला है, उनसे तो आशा थी कि वे कम से कम इस मामले में दर्द को समझती। जिस तरीके से लीपापोती करने और मोहन मंडावी को माफी मांगने से बचाने की कोशिश सरोज पांडे ने की है, उससे भाजपा का नारी विरोधी चरित्र पूरी तरीके से उजागर हो गया है। सिर्फ हाथरस की नहीं भदोही में क्या हुआ? उन्नाव में क्या हुआ? बलात्कार पीड़िता तक को मार डाला गया। लगातार भाजपा के शासन में अपराधियों को संरक्षण मिल रहा है या बेहद दुखद और चिंतनीय बात है।

भाजपा सांसद मोहन मंडावी ने जिन शब्दों का प्रयोग किया है,उससे पूरी नारी शक्ति का अपमान किया है। बलात्कार को लेकर जो बचाव किया और सीबीआई की जांच को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है उसे देखते हुए अब भाजपा को माफी मांगना चाहिए। भाजपा सांसद मोहन मंडावी को माफी मांगना चाहिए। त्रिवेदी ने कहा है कि राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय ने मोहन मंडावी का बचाव कर, मोहन मंडावी के हाथरस की घटना पर कहे गए झूठे आधारहीन कथन का एक प्रकार से समर्थन ही किया है। मोहन मंडावी के बचाव में उतरी भाजपा नेता सरोज पांडे को भी क्षमा याचना करना चाहिए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804