GLIBS
07-08-2020
Video : कैफे में निगम की कार्रवाई, नाश्ते की टेबल के नीचे मिला हुक्का

रायगढ़। रायगढ़ में इन दिनों शाम 6 बजे के बाद सभी दुकानों को बंद करने का आदेश जारी है। इसके बावजूद भी कुछ दुकानें खुली रहती हैं। इसे लेकर निगम और राजस्व अमले ने छापेमारी की कार्रवाई की, जिसमें कोतरा रोड स्थित जीजी कैफे में दबिश दी गई। यहां कई लड़के लड़कियों को मौके पर नाश्ता करते पाया गया। इसके साथ ही टेबल के नीचे से हुक्का और तंबाकू भी मिला, जिसे जप्त कर लिया गया है और पंचनामा की कार्रवाई कर ली गई है। कार्यवाही के बारे में निगम उपायुक्त पंकज मित्तल ने बताया कि आगे कार्यवाही बारे में उच्च अधिकारियों से चर्चा के बाद तय किया जाएगा। 

बता दें कि कोतरा रोड स्थित जीजी कैफे में लॉकडाउन के दौरान दूसरी बार छापेमारी हुई है हालांकि इस छापेमारी से पहले हुई कार्रवाई के बारे में जब पंकज मित्तल से पूछा गया तो उन्होंने इसे अपनी जानकारी के बाहर बताया। आज से करीब कुछ महीने पहले लॉकडाउन के दौरान ही पुलिस द्वारा छापेमारी की कार्रवाई की गई थी जिसमें दुकान संचालक के ऊपर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई थी।

03-08-2020
Video : सांसद ने किया अमृत मिशन के कार्यों का निरीक्षण

राजनांदगांव। सांसद संतोष पांडेय ने रविवार को शहर में चल रहे अमृत मिशन के कार्यों का मोहरा से लेकर नवागांव तक निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते कार्य में कुछ विलंब जरूर हुआ है लेकिन अधिकारियों ने उन्हें आश्वस्त किया है कि शीघ्र ही काम पूरा हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा है कि जल्द से जल्द हर घर में नल का जल हो। उन्होंने शहरी कचरे के निपटारे के लिए बनाये गए मणिकंचन केंद्रों का भी निरीक्षण किया व किये जा रहे कार्य के प्रति संतोष व्यक्त किया।

27-07-2020
Video: जिला चिकित्सालय पहुंचे कलेक्टर, वार्डों का किया निरीक्षण, मरीजों, परिजनों से की बातचीत

रायगढ़। जिला चिकित्सालय रायगढ़ का सोमवार को कलेक्टर भीम सिंह ने निरीक्षण किया। कलेक्टर के जिला चिकित्सालय पहुंचते ही चिकित्सालय के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। कलेक्टर ने चिकित्सालय के हर वार्ड में जाकर निरीक्षण किया। मरीजों से चर्चा की, उन्हें किस प्रकार की सुविधा मिल रही है और क्या तकलीफ हो रही है इसका जायजा लिया। साथ ही मरीजों के परिजनों से भी चर्चा की। मेडिकल स्टाफ से बातचीत की। इलाज कराने के लिए आए मरीजों को धूप में लाइन लगाकर खड़े होना पड़ता है। इस पर तत्काल उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को मौके पर बुलाकर स्टीमेट बनाकर जल्द से जल्द शेड बनवाने के निर्देश दिए ताकि जिला चिकित्सालय आने वालों को किसी प्रकार की कोई तकलीफ ना हो।  अन्य खामियों को भी जल्द से जल्द दुरुस्त करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

27-07-2020
ट्री गार्ड बनाने के लिए बांस की अवैध कटाई, बीटगार्ड शेखर रात्रे ने वन अपराध में नहीं दिया अधिकारियों का साथ

रायपुर/कोरबा। छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति जनजाति अधिकारी एवं कर्मचारी संघ के प्रान्त अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मण कुमार भारती, प्रान्तीय महामंत्री प्रशासन एवं समन्वय केआर डहरिया, प्रदेश सचिव डॉ अमित मिरी, जिलाध्यक्ष कोरबा केडीपात्रे एवं विकास खंड शाखा अध्यक्ष कटघोरा सुरेन्द्र कुमार खुंटे ने ट्री गार्ड बनाने के लिए बांसों की कटाई को अवैध कहा है। खुंटे ने उप वनमंडल अधिकारी पाली वाई पी डडसेना ने किए गए जांच को पक्षपातपूर्ण और मूल तथ्यों से भटकाने वाला बताते हुए राज्य सरकार से निष्पक्ष जांच की मांग की है। अधिकारी एवं कर्मचारी संघ के अनुसार कटघोरा वन मंडल के अंतर्गत बाकी क्षेत्र में हल्दीबाड़ी बांसबाड़ी आरएफ 790 में बांसों  की कटाई कराई गई थी जिसमें जांच पूर्ण होने की जानकारी मिल रही है। इस कटाई के लिए डीएफओ कटघोरा द्वारा विभागीय अनुमति ली गई थी। इससे पहले डीएफओ कटघोरा ने मीडिया में बयान दिया था कि सूखे तथा टेढ़े बांसों की छंटाई करा रहे थे। फिर बयान बदलकर कहने लगे ट्री गार्ड बनाने के लिए बांस कटाई कराई गई थी, कटाई का उद्देश्य चोरी नहीं थी। यदि चोरी नहीं थी तो कटाई का आदेश बीटगार्ड शेखर सिंह रात्रे को क्यों नहीं दिया गया।

शेखर रात्रे को मरवाही क्यों भेजा गया। जांच अधिकारी वाईपी डडसेना उप वनमंडल अधिकारी पाली ने जांच की। अपनी रिपोर्ट में इन्होंने बताया कि विभागीय अनुमति से बांस की कटाई ट्री गार्ड बनाने के लिए किया गया था। महिला स्व सहायता समूह एवं वन समितियों के द्वारा बांस ट्री गार्ड का निर्माण किया जाना बताया गया है। पीसीसीएफ रायपुर का भी बयान सार्वजनिक हुआ है, जिसमें उन्होंने दोनों पक्ष का बयान लेने की बात कही है तथा रेंजर एवं डिप्टी रेंजर को क्लीन चिट देने की बात कही है। मामला अवैध बांस कटाई का है, जिसे वनरक्षक शेखर रात्रे एवं रेंजर मृत्युंजय शर्मा के बीच का विवाद बता वन अपराध एवं घोटाला पर पर्दा डालने का प्रयास किया जा रहा है और बलि का बकरा बनाया जा रहा है। बीटगार्ड शेखर रात्रे को, जिसे उसके इस साहसिक कदम के लिए राज्य सरकार द्वारा पुरस्कृत किया जाना चाहिए। अधिकारी एवं कर्मचारी संघ के अनुसार पीसीसीएफ द्वारा भी रेंजर एवं वनरक्षक के बीच का आपसी विवाद बताया जा रहा है क्योंकि उनको जांच अधिकारी द्वारा गलत रिपोर्ट भेजी गई है। यदि बांस की कटाई ट्री गार्ड बनाने के लिए विभागीय अनुमति से हो रही थी तो यह अनुमति किस अधिकारी ने जारी की थी? कितना बांस काटा जाना था? मजदूरों की मजदूरी का भुगतान किस मद से किया जाना था? इस बिंदु पर कोई भी चर्चा नहीं हो रही है? यदि शेखर रात्रे के परिसर क्षेत्र से विभागीय अनुमति से बांस कटाई करनी थी तो बीट गार्ड शेखर रात्रे को मरवाही क्यों भेजा गया था? बीट गार्ड रात्रे को भी तो बांस कटाई का आदेश दिया जा सकता था, परंतु बीट गार्ड रात्रे की अनुपस्थिति में उसके बीट क्षेत्र में बिना उसकी जानकारी के कटाई कराई जा रही थी इस कारण कटाई के जिम्मेदारी शेखर रात्रे की ही है।

चाहे स्वयं वन मंडल अधिकारी ही क्यों ना हो? अपने किसी भी परिसर से बिना बीट गार्ड की उपस्थित रहे वनों की कटाई नहीं करा सकते। यह आरक्षित वन है। यहां प्रवेश अवैध होता है। छत्तीसगढ़ वन अधिनियम के तहत जुलाई से अक्टूबर तक वनों की कटाई पर प्रतिबंध रहता है। रेंजर मृत्युंजय शर्मा द्वारा कटघोरा क्षेत्र के बीट गार्ड रामकुमार यादव के नाम से बांस की कटाई करने संबंधी आदेश का वन मंडल अधिकारी कटघोरा एवं जांचअधिकारी ने परीक्षण नहीं किया जाना संदेहास्पद है। बांस से बने ट्री गार्ड को खरीदी करने छत्तीसगढ़ शासन वन विभाग द्वारा 450 दर निर्धारित किया गया है। बांस ट्री गार्ड का निर्माण कार्य स्थानीय वन समितियों तथा महिला स्व सहायता समूह के द्वारा किया जाना है तथा उन्हीं से 450 की दर से क्रय किया जाना है। शासन द्वारा निर्धारित 20 से 22 फीट के दो बांस से एक ट्री गार्ड बनाने का प्रावधान है, जिसमें बांस की कीमत 220, मजदूरी के लिए 100 एवं परिवहन हेतु 130 इस तरह से कुल 450 लागत निर्धारित किया गया है। इस कारण वन मंडल अधिकारी कटघोरा एव परिक्षेत्र अधिकारी कटघोरा, परिक्षेत्र सहायक दर्री एवं वनरक्षक कटघोरा रामकुमार यादव द्वारा बांस कटाई किया जाना अवैध है। संघ के अनुसार बांस काटकर किसे दिया जाने वाला था? वन विभाग द्वारा ट्री गार्ड बनाने का कोई प्रावधान नहीं है। किस कार्य योजना के तहत बांस कटाई कराया जा रहा था? इस प्रश्न का उत्तर छिपाकर बीट गार्ड शेखर रात्रे के व्यवहार उचित है या अनुचित इस पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। अपने बीट क्षेत्र में यदि कोई वन कटाई हो रही है तो अपने अधिकारी से वैध कागजात मांगना जायज है। अपने अधिकारी रेंजर से कागजात मांग कर बीटगार्ड शेखर रात्रे ने साहसिक कार्य किया है। वह चुप रहता तो इतनी बड़ी घटना उजागर नहीं होती। शेखर रात्रे ने लोकतंत्र के सजग प्रहरी का काम किया है।

आजकल मोबाइल से भी कागजात भेज दिया जाता है जो मान्य होता है। बीट गार्ड शेखर रात्रे ने एसडीओ वन कटघोरा तथा डीएफओ कटघोरा से भी बात कराने के लिए अपने उच्च अधिकारी रेंजर मृत्युंजय शर्मा से बात की। परंतु उन्होंने किसी भी उच्च अधिकारी से बात नहीं कराया। रेंजर मृत्युंजय शर्मा द्वारा कोई कागजात नहीं दिखाने पर पीओआर बनाना, कुल्हाड़ी व बांस जब्त करना वैधानिक कार्यवाही का हिस्सा है। संघ के नेताओं ने कहा है कि 18 जुलाई को वन मंडल अधिकारी कटघोरा द्वारा उपमंडल अधिकारी पाली वाई पी डडसेना को जांच अधिकारी नियुक्त किया। उन्होंने रात्रि में ही जांच कर 19 जुलाई को जांच रिपोर्ट वन मंडल अधिकारी कटघोरा को सौंप दिया। डीएफओ कटघोरा ने तुरंत उच्च अधिकारियों को जांच रिपोर्ट प्रस्तुत कर दिया। डडसेना द्वारा स्थल निरीक्षण नहीं किया गया। बांस काटने वाले 11 अभियुक्तों, पंचनामा में हस्ताक्षर करने वाले व्यक्तियों तथा मौके पर उपस्थित पंचों का बयान नहीं लिया। वह घटना के प्रत्यक्षदर्शी थे। प्रत्यक्षदर्शियों के बयान लिए बिना किस आधार पर बीट गार्ड रात्रे के व्यवहार को गैर पेशेवर बताया जा रहा है? यह समझ से परे है और जांच का विषय है। बांकी हल्दीबाड़ी बांस बाड़ी 790 कटाई मामला छत्तीसगढ़ वन अधिनियम के प्रावधानों के उल्लंघन का मामला है। अधिनियम अनुसार जुलाई से अक्टूबर माह के मध्य वनों की कटाई करने का प्रतिषेध है। ट्री गार्ड बनाने के लिए वन मंडल अधिकारी या किसी भी उच्च अधिकारी द्वारा बांस कटाई करने का आदेश दिया ही नहीं जा सकता। कूप कटाई के लिए विधिवत कार्य योजना बनाई जाती है। समूचे प्रकरण में वन मंडल अधिकारी कटघोरा की भूमिका उच्चाधिकारियों के जांच का विषय है।

21-07-2020
महापौर और आयुक्त ने गोलबाजार का किया निरीक्षण, डाटाबेस बनाने अधिकारियों को दिए निर्देश 

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर और आयुक्त सौरभ कुमार ने राजधानी के गोलबाजार का मंगलवार को निरीक्षण किया। इस दौरान एमआईसी सदस्य अंजनी राधेश्याम विभार,श्रीकुमार मेनन, उपायुक्त बाजार आरके डोंगरे सहित निगम के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। गोलबाजार के व्यापारियों से गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने और किराएदार दुकानदारों को मालिकाना हक देने की योजना के संबंध में चर्चा की गई। इस दौरान नई दिल्ली से आए वास्तुविद भी उपस्थित थे। महापौर और आयुक्त ने जोन 4 कमिश्नर विनय मिश्रा सहित उपायुक्त बाजार डोंगरे को गोलबाजार क्षेत्र की प्रत्येक दुकान का विस्तृत भौतिक सर्वे करके, विस्तारपूर्वक डाटाबेस तैयार करने के के निर्देश दिए। महापौर ने व्यापारियों को कहा कि नगर निगम रायपुर शीघ्र व्यापारियों की सहमति से ऐतिहासिक गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने और किराएदार दुकानदारों को मालिकाना हक देने आवश्यक कार्यवाही दूसरे दौर की चर्चा के बाद करेगा। महापौर की सकारात्मक पहल को गोलबाजार के लगभग सभी व्यापारियों ने अपनी पूर्ण सहमति पूर्व में ही व्यक्त कर दी है। आज निरीक्षण के दौरान अनेक स्थानों पर गोलबाजार के व्यापारियों ने महापौर का बुके व पुष्पमाला से स्वागत किया। महापौर सहित आयुक्त, एमआईसी सदस्य व नगर निगम रायपुर की पूरी टीम को धन्यवाद दिया।

04-07-2020
प्रियंका गांधी ने कहा, उत्तर प्रदेश में जंगलराज के खिलाफ कांग्रेस चलाएगी अभियान

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शनिवार को कहा कि अपराधियों, सत्ताधारी नेताओं और अधिकारियों के गठजोड़ के चलते उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। प्रियंका ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये प्रदेश कांग्रेस के आला नेताओं से संवाद किया और पार्टी की रणनीति के बारे में विचार विमर्श किया। कानपुर की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सत्ता सरंक्षण अपराधियों का मनोबल बढ़ाया है,जिससे वे इतनी दुस्साहिक घटना काे अंजाम दे सके। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी। यहां आम आदमी तो दूर उनकी रक्षा करने वाली पुलिस भी सुरक्षित नहीं है। प्रियंका ने कहा कि यूपी में जंगलराज के खिलाफ उनकी पार्टी अभियान चलाएगी। इसके तहत बढ़ते अपराध और जंगलराज के खिलाफ हर जिले में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की जायेगी। पार्टी यूपी में ऑनलाइन कैंपेन भी चलाएगी। इस कार्यक्रम के अंतर्गत जंगलराज के खिलाफ कल फेसबुक लाइव कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता नजर आयेंगे। प्रदेश में बढ़ते अपराध के खिलाफ आवाज उठाने के लिए लोगों से गुहार की जायेगी। उन्होने अपील की कि लोग बढ़ते अपराध के खिलाफ अपना संदेश ऑनलाइन फेसबुक, ट्विटर, इंस्टा के जरिए पोस्ट करें। अगर उनको कोई भी दिक्कत है तो अपराधिक समस्याओं को लेकर तो वह चिट्ठी लिखकर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं को एवं अन्य कांग्रेस नेताओं को दें। इन सभी चिट्ठियों शिकायतों को इकट्ठा करके कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं एनएचआरसी को देगी।

29-06-2020
 गौठान का जिला पंचायत सीईओ ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए निर्देश

आरंग। विकासखंड आरंग अंतर्गत ग्राम पंचायत बैहार के गौठान का सोमवार को मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव सिंह जिला पंचायत रायपुर के द्वारा औचक निरीक्षण किया गया। इसमें राज्य शासन के सुराजी योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरुवा, बारी के तहत संचालित गौठान व बाड़ी कार्य को विकसित करने अनेक दिशा निर्देश दिए और बैहार गौठान को गोद लिए जाने संबंधी जानकारी दिए। इस दौरान आरंग जनपद पंचायत सीईओ किरण कुमार कौशिक और कृषि, उद्यानिकी, पशु, सिन्चाई विभाग के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित हुये। निरीक्षण के दौरान उनके द्वारा बैहार गौठान को प्रदेश स्तरीय मॉडल गौठान के रूप में ख्याती प्रदान करने के संबंध में चर्चा भी की गई। गौठान के सामने व राष्ट्रीय राजमार्ग 53 के समीप के जमीन में अधिक से अधिक नारियल पेड़ लगाया जाना व दो पेड़ों के मध्य खाली भूमि पर गेन्दा, चमेली, मोगरा, गुलाब फूल और एलोवेरा आदि रोपित किए जाने संबंधी जानकारी दी गई। इस दौरान गाय दान करने वाले किसान और रायपुर नगर निगम के कुछ गायों के पालन-पोषण व रखरखाव की जिम्मेदारी भी बैहार गोठान को प्रदान करने चर्चा की गई। ग्राम पंचायत बैहार में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत अनेक विकास उन्मुखी कार्य की स्वीकृति हेतु रूपरेखा तैयार किया गया।

 

  

28-06-2020
Video: दिनचर्या से ग्रीनचर्या अभियान के अधिकारियों ने उमेश पटेल को भेंट किए पौधे

रायगढ़। अटल बिहारी बाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर से संबद्ध रायगढ़ जिला के कार्यक्रम अधिकारियों ने उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल से मुलाकात की। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण, संवर्धन तथा लोगों को पौधारोपण के लिए प्रेरित करने के लिए उनके द्वारा चलाए जा रहे दिनचर्या में ग्रीनचर्या अभियान में राष्ट्रीय सेवा योजना की भागीदारी निभाने के लिए सहमति पत्र प्रदान किया। इस अवसर पर मंत्री उमेश पटेल को राज्य संपर्क अधिकारी द्वारा प्रेषित विशेष पौधा कार्यक्रम अधिकारियों ने रासेयो परिवार की ओर से भेंट किया। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारियों का दल छत्तीसगढ़ के उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल के निवास गृह कार्यालय नंदेली में 28 जून रविवार को जिला संगठक एवं प्रभारी प्राचार्य पीडी कामर्स कॉलेज की अगुवाई में कार्यक्रम अधिकारियों की उपस्थिति में दिनचर्या में ग्रीनचर्या अभियान को आत्मसात करने का लिखित पत्र देकर स्वागत किया गया। जिला संगठक ने बताया कि रायगढ़ जिले में 35 विद्यालय एवं 15 कॉलेज मिलाकर 50 (पचास)  ईकाइयां  राष्ट्रीय सेवा योजना की कार्यरत है,जिसमें लगभग साढ़े चार हजार स्वयंसेवक तथा पूरे छत्तीसगढ़ में एक लाख अधिक स्वयंसेवक पंजीकृत हैं,जो पर्यावरण संरक्षण के लिए सदैव समर्पित होकर काम करते हैं। अब हम दिनचर्या से ग्रीनचर्या अभियान में भी जुड़ कर पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रमों को गति देंगे। उमेश पटेल ने राष्ट्रीय सेवा योजना के सभी कार्यक्रम अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि एनएसएस की पहुंच ग्रामीण स्तर में जड़ तक है और अब दिनचर्या में ग्रीनचर्या एनएसएस वॉलिंटियर के माध्यम से जन जन तक पहुंचाने में सफलता मिलेगी।

 

24-06-2020
विधायक ने अधिकारियों को लगाई फटकार, 24 घंटे के भीतर कार्य को पूर्ण करने का अल्टीमेटम

रायपुर। तेलघानी नाका अंडरब्रिज निर्माण के दौरान मंगलवार को मुख्य पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो जाने से आस-पास के क्षेत्र में पेयजल की आपूर्ति बाधित हो गई है। बुधवार को भी क्षेत्रीय विधायक विकास उपाध्याय स्थिति का जायजा लेने पहुंचे। उनके साथ पीडब्ल्यूडी, पीएचई, स्मार्ट सिटी,अमृत मिशन और नगर निगम के अधिकारी उपस्थित थे। विधायक ने कहा कि अंडरब्रिज निर्माण के दौरान राइजिंग लाइन क्षतिग्रस्त होने से पश्चिम विधानसभा के संत रामदास वार्ड और सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड समेत अन्य क्षेत्रों में जलापूर्ति प्रभावित हुई है। विधायक ने राइजिंग लाइन मरम्मत कार्य में देरी के कारण नाराजगी जताई। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को जल्द से जल्द कार्य पूर्ण करने की सख्त हिदायत दी है। विधायक पीडब्ल्यूडी और नगर निगम के अधिकारियों की कार्यप्रणाली से खासे नजर आए। विधायक ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए 24 घंटे के भीतर राइजिंग लाइन के कार्य को पूर्ण करने का अल्टीमेटम दिया। निरीक्षण के दौरान विधायक विकास उपाध्याय के साथ पार्षद एवं एमआईसी सदस्य श्रीकुमार मेनन,सुंदर जोगी,जोन अध्यक्ष मनीराम साहू,क्षेत्रीय पार्षद भोलाराम साहू व अन्य उपस्थित थे।

 

22-06-2020
मध्यप्रदेश में 39 आईपीएस अधिकारियों के हुए ट्रांसफर

भोपाल। मध्यप्रदेश में सोमवार को आईपीएस ​अधिकारियों के तबादले किए है। मंत्रालय वल्लभ भवन से 39 आईपीएस अधिकारियों के आदेश की सूची जारी की गई हैं। आदेश के अनुसार कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बदला गया है। देखें सूची..

Advertise, Call Now - +91 76111 07804