GLIBS
20-04-2021
कोविड नियमों के पालन करवाने पर कोताही बरतने पर तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस

कोंडागाँव। जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रयास जिला प्रशासन कर रहा है। प्रशासन ने मास्क न लगाने वाले व्यक्तियों पर कार्यवाही तथा टीकाकरण को प्राथमिकता देते हुए कार्यों के सुचारू सम्पादन के निर्देश कर्मचारियों को दिया था। विकासखण्ड बड़ेराजपुर अंतर्गत मास्क न पहनने वाले लोगों पर कार्यवाही तथा मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहन एवं कोविड टीकाकरण अभियान में शासन के  अपेक्षानुरूप कार्य न किये जाने पर तहसीलदार बड़ेराजपुर, सीईओ जनपद पंचायत बड़ेराजपुर एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी बड़ेराजपुर को कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के आदेश पर जिला कोविड-19 नियंत्रण नोडल अधिकारी पवन कुमार प्रेमी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इन्हें तीन दिन के भीतर अपना जवाब प्रस्तुत करने का समय प्रदान किया है। जवाब प्रस्तुत न किये जाने की स्थिति में संबंधितों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी।

 

19-04-2021
सांसद सुनील सोनी ने ली बैठक, एम्स के चिकित्सकों से की चर्चा, कहा-चुनौतियों का मुकाबला करने रहें तैयार

रायपुर। सांसद सुनील सोनी ने सोमवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के चिकित्सकों और अधिकारियों की बैठक  ली। उन्होंने कोविड की चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महत्व का संस्थान होने की वजह से एम्स की मांग और इस पर दबाव अधिक है। ऐसे में चिकित्सकों और अधिकारियों को बड़ी संख्या में कोविड और नॉन कोविड दोनों प्रकार के रोगियों के उपचार के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है।बैठक में निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि अभी कोविड-19 वार्ड में लगभग 450 रोगी हैं। इनमें से 80 प्रतिशत को तुरंत ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ रही है। लगभग दस प्रतिशत को वेंटीलेटर की आवश्यकता पड़ रही है। ऐसे में दोनों की उपलब्धता को तय किया जा रहा है। उन्होंने रेमेडिसवेयर की बढ़ती आवश्यकता के बारे में भी बताया। इस पर सांसद सोनी ने रायपुर कलेक्टर से मोबाइल पर बात कर एम्स को 500 रेमेडिसवेयर प्रतिदिन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। कलेक्टर ने एम्स को अधिकतम रेमेडिसवेयर देने का आश्वासन दिया।

सांसद सोनी ने सभी चिकित्सकों, अधिकारियों, नर्सिंग स्टाफ और कर्मचारियों की ओर से  दिन-रात की जा रही सेवा की सराहना की। उन्हें इस चुनौतीपूर्ण समय में अपनी सेवाएं देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना का पीक अभी बाकी है ऐसे में चिकित्सकों और संसाधनों का अधिकतम उपयोग तय किया जाना चाहिए। उन्होंने एम्स में बैड और वेंटीलेटर की संख्या को और अधिक बढ़ाने का भी सुझाव दिया। उन्होंने सभी से दलगत राजनीति से ऊपर उठकर तन, मन और धन से कोविड रोगियों के उपचार में जुटने का आह्वान किया। बैठक में उप-निदेशक (प्रशासन) अंशुमान गुप्ता, कोविड के नोडल ऑफिसर  डॉ. अजॉय बेहरा, उप-चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रमेश चंद्राकर आदि उपस्थित थे।

18-04-2021
भूपेश बघेल कोरोना नियंत्रण और इलाज के संबंध ले रहे बैठक,टीएस सिंहदेव भी मौजूद 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार शाम अपने निवास कार्यालय से बैठक ले रहे हैं। वे वर्चुअल बैठक में राज्य के 10 जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम, अस्पतालों में इलाज के प्रबंध की समीक्षा कर रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी बैठक में जुड़े हैं। मुख्यमंत्री निवास में मुख्य सचिव अमिताभ जैन और मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी उपस्थित हैं। स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी.पिल्ले और बेमेतरा, राजनांदगांव, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा, रायपुर रायगढ़, बलौदा बाजार, जशपुर, दुर्ग और कोरबा जिले के अधिकारी वर्चुअल रूप से बैठक में जुड़े हैं।

 

18-04-2021
अधिकारियों ने कराया वैक्सीनेशन, कहा- डरें नहीं, सुरक्षित है टीका

धमतरी। जिले के जनप्रतिनिधि, आमजनता के अलावा अधिकारी भी बढ़-चढ़कर टीकाकरण करवा रहे हैं। इसी क्रम में रविवार को लीड बैंक के जिला प्रबंधक प्रबीर कुमार रॉय तथा जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. रजनी नेल्सन ने कोविशील्ड के दूसरे डोज का टीका लगवाया। प्रबीर कुमार रॉय ने जिला अस्पताल के पास स्थित केन्द्र में तथा डॉ. रजनी नेल्सन ने डॉ. शोभाराम देवांगन स्कूल में स्थापित टीकाकरण केन्द्र में जाकर वैक्सीनेशन कराया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए सभी पात्र लोगों को टीका अवश्य लगवाना चाहिए। इसमें डरने वाली कोई बात नहीं है, बल्कि यह बेहद सुरक्षित और सामान्य टीके की तरह है। अधिकारियों ने कहा कि वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस से बचने का एकमात्र विकल्प वैक्सिनेशन है। इसलिए लोगों को टीकाकरण के लिए बिना किसी भय, झिझक के आगे आना चाहिए। जिले के स्थापित किए गए टीकाकरण केन्द्रों में ग्रामीण स्वयं सेंटर पहुंचकर टीकाकरण करवा रहे हैं। ज्यादातर गांवों में ग्रामीण कतार लगाकर वैक्सीनेशन के लिए अपनी बारी का इंतजार करते नजर आ रहे हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डी.के. तुरे ने बताया कि वृहत् टीकाकरण तथा आमजनता की सुविधा को ध्यान में रखते हुए जिला अस्पताल सहित जिले के चारों ब्लॉक में कुल 124 टीकाकरण केन्द्र स्थापित किए गए हैं। 

15-04-2021
सुनील सोनी ने ली बैठक, एम्बुलेंस और कोरोना संकट से निपटने सांसद निधि से 20 लाख रुपए की दी स्वीकृति

रायपुर/बलौदाबाजार। लोकसभा सांसद सुनील सोनी ने गुरुवार को जिला कार्यालय में अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने जिले में कोविड महामारी के ताजा हालात की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यह मानवता की कठिन परीक्षा का वक्त है। हमें आपसी सहयोग व समन्वय के साथ पूरा ध्यान कोरोना पीड़ितों की सेवा में लगाना है। उन्होंने जिला प्रशासन से हालात की जानकारी लेकर संकट से निपटने में हरसंभव सहयोग एवं सहायता का भरोसा दिलाया। 
सांसद सोनी ने बैठक में एम्बुलेंस की मांग पर तत्काल स्वीकृति प्रदान की। साथ ही बैठक में ही सांसद निधि से 20 लाख रुपए की स्वीकृति पत्र जिला प्रशासन को सौंपा। बैठक के बाद सांसद सोनी नई मंडी परिसर में तैयार हो रहे कोविड केयर अस्पताल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों और तकनीकी अफसरों के मार्गदर्शन में ही अस्पताल का काम कराने को कहा है। विधायक प्रमोद कुमार शर्मा, नगरपालिका अध्यक्ष चित्तावर जायसवाल, पूर्व विधायक सनम जांगड़े, जिला पंचायत सदस्य नवीन मिश्रा व नगरपालिका परिषद के सभापति  संकेत शुक्ला भी उपस्थित थे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में फिलहाल जिला अस्पताल में ही केवल 8 वेंटीलेटर सुविधा है। बहुत जल्द 22 और वेंटीलेटर मिलने की संभावना है। वेंटीलेटर संचालन के लिए तकनीकी कर्मचारियों की जरूरत होने पर सांसद ने तत्काल विज्ञापन  निकालकर भर्ती करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर विकराल रूप ले चुकी है। पूरी ताकत झोंकने का समय आ चुका है। अकेले स्वास्थ्य विभाग के जिम्मे की बात नहीं है। अन्य सरकारी विभागों, समाजसेवी और औद्योगिक संस्थाओं को भी  सहयोग के लिए और हाथ बटाना होगा। 

सांसद  सोनी ने कोविड जांच की वर्तमान गति को और बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने ऐसे हालात में पूरी संवेदनशीलता के साथ पुलिस विभाग को भी अपनी भूमिका निभाने के निर्देश दिए। उन्होंने पॉजिटिव पाए गए मरीजों को शहरी क्षेत्रों में नगरीय निकायों के जरिए दवाई बंटवाने के निर्देश दिए। ग्रामीण इलाकों में ग्राम पंचायतों का सहयोग लिया जाए। विधायक प्रमोद शर्मा ने कोरोना के वर्तमान फैलाव पर चिंता जाहिर करते हुए जिला प्रशासन को हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। सांसद सोनी ने बैठक के बाद नई मंडी परिसर पहुंचकर प्रस्तावित कोविड केयर हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां विकसित की जा रही व्यवस्थाओं और सुविधाओं का जायजा लिया। सांसद ने कहा कि वेंटिलेटर और आॅक्सीजन पाइप का मरीज के बिस्तर तक पहुंचाने में स्वास्थ्य विभाग के तकनीकी अफसरों का सहयोग लिया जाना चाहिए। उन्होंने केयर सेन्टरों में मरीजों को गुणवत्तापूर्ण भोजन परोसने के निर्देश भी दिए।

12-04-2021
कोरोना के समय में जन सुनवाई रखने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही की जाए : आम आदमी पार्टी

जगदलपुर। बस्तर के सोनारपाल में गोपाल स्पंज आयरन और पॉवर प्लांट की स्थापना करने के उद्देश्य से जन सुनवाई के कार्यक्रम प्रशासन ने रखा था। इसमें प्रशासन के सभी आला अधिकारी समेत नारायणपुर विधानसभा के विधायक मौजूद थे।  जनसुनवाई में लगभग 25 पंचायत के लोग शामिल हुए। आम आदमी पार्टी की जिला अध्यक्ष तरुणा बेदरकर और समीर खान ने कहा कि जब जिले में 144 धारा लगी हुई है और कोरोना की स्थिति भयावह हो रही है। ऐसे में बस्तर में जनसुनवाई जैसे आयोजन को करवा कर सैकड़ों ग्रामीणों के जान के साथ खिलवाड़ प्रशासन कर रही है। इसके लिए आला अधिकारी जिम्मेदार है। उन सभी अधिकारियों पर कार्यवाही होनी चाहिए। जगमोहन बघेल ने कहा कि हम स्पंज आयरन स्थापित नहीं होने देंगे हर तरह से इसका विरोध करेंगे। 

 

11-04-2021
राज्य में दवाओं की आपूर्ति के लिए दो अधिकारियों को मुंबई और हैदराबाद में तैनात किया गया : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशों के बाद सामान्य प्रशासन विभाग ने अखिल भारतीय सेवाओं के दो वरिष्ठ अधिकारियों को रेमडेसीवीर और अन्य आवश्यक दवाओं तथा उपकरणों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मुंबई और हैदराबाद में तैनात किया हैं। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आदेशों के अनुसार प्रबंध संचालक छग राज्य सड़क विकास निगम और कृषि विभाग के संयुक्त सचिव विलास संदीपन को उनके वर्तमान कर्तव्यों के साथ साथ दवाइयों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मुंबई और राज्य औद्योगिक विकास निगम के प्रबंध संचालक अरूण प्रसाद को हैदराबाद में नियुक्त किया हैं। दोनों अधिकारी अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग के लगातार संपर्क में रहकर कार्य करेंगे।

 

04-04-2021
अधिकारियों को विधायक का अल्टीमेटम, कहा- 15 दिन के भीतर विकास कार्यों में लाएं तेजी

दुर्ग। शहर के विकास कार्यों का भूमिपूजन होने के बावजूद भी लोक निर्माण विभाग के कार्यप्रणाली में तेजी नहीं दिखने की शिकायत पर विधायक अरुण वोरा पुलगांव में बन रही पुलिया के निरीक्षण में पहुंचे। यहां दो स्थानों पर मार्ग डाइवर्ट कर पुलिया निर्माण किया जा रहा है। इससे लोगों को आवागमन में परेशानी होने के अलावा धूल के गुबार से प्रदूषण एवं दुर्घटना की भी शिकायत आ रही है। इसे लेकर लोगों एवं आसपास के व्यवसायियों में रोष है। पुलगांव वार्ड वासियों के मांग पर वोरा ने पुलिया निर्माण एवं सुगम सड़क योजना के अंतर्गत स्वीकृत अस्पताल, कलेक्ट्रेट एवं अन्य सड़कों के निर्माण को 15 दिनों के अंदर पूर्ण करने का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि सामने नवरात्रि के त्यौहार में बढ़ने वाले आवाजाही को देखते हुए कार्यों में तेजी लाई जाए। कोरोना संक्रमण के बीच प्रदूषण खतरनाक साबित हो सकता है। 64 करोड़ से बन रहे सड़क के निरीक्षण के बाद वोरा ने अधिकारियों से कहा कि जल्द से जल्द कार्य में गति लाई जाए। गौरतलब है कि पुलगांव क्षेत्र के निवासियों व व्यवसायियों ने सड़क निर्माण के कारण प्रदूषण एवं धूल के अलावा व्यापार में मंदी की भी शिकायत की थी। इस दौरान पूर्व पार्षद राजेश शर्मा एल्डरमैन अंशुल पांडेय मौजूद थे।

03-04-2021
बालिग होने में 6 दिन था शेष, रोकी गई शादी

गरियाबंद। जिला बाल संरक्षण विभाग के अधिकारियों को दूरभाष से सूचना मिली कि ग्राम खरहरी में 4 अप्रैल 2021 को एक बालिका का विवाह होना तय हुआ है जो नाबालिक लगती है। सूचना के आधार पर जब वहां टीम पहुंची और जन्म प्रमाण पत्र मांगा गया। जन्म प्रमाण पत्र के हिसाब से बालिका के 18 वर्ष बालिग होने में मात्र 6 दिन शेष था इसलिए उक्त विवाह को रोककर परिजनों को समझाइश दे कर शादी रुकवाई गई। परिजनों ने भी इस शादी की रोकने में सहमति जताई। जिला बाल संरक्षण अधिकारी अनिल द्विवेदी के निगरानी में जिला बाल संरक्षण इकाई गरियाबंद से अजीत शुक्ला, यशवंत ध्रुव और गरियाबंद संयुक्त टीम द्वारा विवाह स्थल ग्राम खरहरी पहुंचकर जायजा लिया गया। जहां नाबालिग बालिका का विवाह 4 अप्रैल 2021 को होना था। तत्काल संयुक्त टीम द्वारा दिनांक 2 अप्रैल बाल विवाह स्थल पर पहुंच कर बालिका की आयु के सभी दस्तावेज का सत्यापन किया गया।

आयु संबंधी दस्तावेज के आधार पर बालिका की आयु 17 वर्ष 11 माह 24 दिन होना पाया गया। विवाह के लिये बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के अनुसार बालिका की आयु 18 वर्ष और बालक की आयु 21 वर्ष पूर्ण होना चाहिये। निर्धारित आयु से कम आयु में महिला/पुरूष का विवाह करने या करवाने की स्थिति में सम्मिलित व सहयोगी सभी लोग अपराध की श्रेणी में आते हैं। जिन्हें 2 वर्ष तक का कठोर कारावास और एक लाख रू का जुर्माना या दोनों से दण्डित किया जा सकता है। जिला बाल संरक्षण इकाई द्वारा अग्रिम कार्यवाही करते हुए बालिका, उसके माता-पिता व परिवार वालों और ग्रामीणजनों को समझाइश दिया गया कि बालिका की आयु 18 वर्ष पूर्ण होने ले बाद ही विवाह करें। सभी लोग बाल विवाह रोकथाम टीम की समझाइश पर सहमति जताई। फलस्वरूप बालिका और उसके माता-पिता को बाल कल्याण समिति गरियाबंद में अग्रिम कार्यवाही करने के लिए प्रस्तुत होने को कहा गया। जिसमें उन्होंने सहमति जताई।

26-03-2021
फिल्टर मीडिया बदलने की गति धीमी है, अधिकारियों की जवाबदेही होगी तय : विधायक

दुर्ग। पूरे शहर में पेयजल की समस्या को ध्यान में रखते हुए विधायक अरुण वोरा एवं महापौर धीरज बाकलीवाल ने जलकार्य प्रभारी संजय कोहले, निगम अधिकारियों, के साथ शिवनाथ नदी इंटेकवेल एवं अमृत मिशन के कार्यो का अवलोकन किया। उन्होंने 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट में बदले जा रहे फिल्टर मीडिया के कार्य को गंभीरता से लेते हुए देरी के लिए अधिकारियों की जवाबदेही तय करने निर्देश दिये । जलकार्य प्रभारी संजय कोहले, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा, निगम अधिकारी राजेन्द्र ढबाले, जलकार्य निरीक्षक नारायण ठाकुर एवं अमृत मिशन की टीम मौजूद थे। नगर पालिक निगम दुर्ग के 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट में विगत दिनों से फिल्टर मीडिया बदलने का कार्य किया जा रहा है,जो अब तक पूरा नहीं हुआ है। कार्य की गति को गंभीरता से लेते हुये विधायक एवं महापौर ने अधिकारियों को गति बढ़ाने तथा कार्यो को जलद पूर्ण करने निर्देश दिये।
विधायक वोरा एवं महापौर बाकलीवाल ने फिल्टर प्लांट और शिवनाथ नदी इंटेकवेल का निरीक्षण कर अधिकारियों को निर्देशित कर कहा कि गर्मी बढ़ गई है अब नागरिकों को पानी की कोई समस्या न इस बात का ध्यान रखें । अब शहर में जलप्रदाय प्रभावित न हो और न ही निगम में शट डाउन करें । विधायक ने गर्मी को ध्यान में रखते हुये जलप्रदय वितरण की सारी व्यवस्था एकदम चाक-चैबंध रखने अधिकारियों को निर्देश दिये ।

25-03-2021
गर्मी में जनता को नहीं हो जल समस्या, महापौर ने अधिकारियों को किया तलब, देरी पर लगाई फटकार  

दुर्ग। विगत दिनों से शहर में नियमित रुप से हो रही पानी सप्लाई को लेकर महापौर धीरज बाकलीवाल ने अमृत मिशन की टीम और निगम अधिकारियों की संयुक्त बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिये । महापौर बाकलीवाल एवं आयुक्त हरेश मंडावी ने अमृत मिशन टीम पर नाराजगी व्यक्त करते हुये मिशन के कार्यो की समय निर्धारित की । शहर में कुछ दिनों से अनेक वार्डो में अनियमित समय व कम पानी अथवा पानी बिलकुल भी नहीं मिलने की शिकायत मिलने के बाद महापौर एवं आयुक्त ने विभागीय अधिकारियों एवं अमृत मिशन टीम को तलब कर संयुक्त बैठक लेकर समीक्षा की । उन्होनें स्पष्ट शब्दों में नाराजगी व्यक्त करते हुये अमृत मिशन की टीम को निर्देशित कर कहा गर्मी का समय आ गया है अब किसी भी प्रकार की पेयजल में बाधा बरदाश्त नहीं किया जाएगा। बढ़ती गर्मी को ध्यान में रखते हुये कार्य को समय सीमा में पूरा करें । नागरिकों को किसी भी प्रकार की असुविधा के लिए अमृत मिशन टीम और विभागीय अधिकारी जिम्मेदार होगा । लापरवाही और देरी के लिए उनके विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित किया जावेगा ।
शहर में पानी की समस्या होने पर जनता को जवाब हमें देना पड़ता है। अमृत मिशन के द्वारा 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट में फिल्टर मिडिया बदलने का काम अब तक किया जा रहा है, एक मोटर बंद होने के कारण तीन मोटरों से ही टंकियों को भरना पड़ रहा है,जिसमें काफी समय लगता हैै ज्यादा समय लगने के कारण शहर के अनेक क्षेत्रों में पेयजल प्रभावित हो गया है। पानी की समस्या की शिकायत मिल रही है। यह किसकी जवाबदारी है। महापौर, आयुक्त ने इस समस्या का निराकरण करने अमृत मिशन टीम को सख्त हिदायत देेते हुये कहा अनियमित व्यवस्था को दो दिनों के अंदर पेयजल व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये ।
महापौर एवं आयुक्त ने अमृत मिशन टीम को स्पष्ट शब्दों में कहा कि अब किसी भी प्रकार की पेयजल में बाधा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जितनी जल्दी हो पुरानी पाइप लाई को बंद करे उसे सूची बद्ध करें, और क्रमबद्ध तरीके से पुराने कनेक्शन को बंद करें। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804