GLIBS
30-06-2020
नाबालिग बालिका का अपहरण कर शादी का प्रलोभन देकर किया दुष्कर्म

धमतरी। पुलिस अधीक्षक धमतरी बीपी राजभानु के द्वारा लंबित मामलों के निराकरण करने के साथ-साथ गुम नाबालिग बालक-बालिकाओं की पता तलाश कर दस्तयाबी पश्चात जांच के आधार पर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही करने जिले के समस्त थाना एवं चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया गया। इसी दरम्यान थाना सिटी कोतवाली क्षेत्रांतर्गत 28 जून की शाम को प्रार्थी थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसकी नाबालिग पुत्री को ग्राम कोचवाही निवासी पूर्व परिचित का लड़का बहला-फुसलाकर, शादी का प्रलोभन देकर अपने साथ भगा ले गया, जिसके घर जाकर पता करने पर नाबालिग बालिका उसके घर में थी किंतु लड़के के माता-पिता द्वारा अपने लड़के का बचाव करते हुए तुम्हारी लड़की बालिग है, कहकर धमकी-चमकी देते हुए मिलने नहीं दिया गया, जबकि उसकी बेटी नाबालिग है,जिसका जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत करते हुए लिखित रिपोर्ट करने पर विधि विरुद्ध बालक के विरुद्ध धारा 363 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। उक्त अपराध की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक धमतरी ने त्वरित वैधानिक कार्यवाही करने थाना प्रभारी सिटी कोतवाली को निर्देशित किया गया। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे एवं उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी के मार्गदर्शन में अपहृत नाबालिग बालिका की बरामदगी के लिए थाना स्तर पर टीम तैयार कर रवाना किया गया। उक्त टीम के द्वारा प्रार्थी के साथ उसके बताए अनुसार ग्राम कोचवाही जाकर संदेही के घर में दबिश दिये, तो प्रार्थी की नाबालिग पुत्री उस घर पर मिली, जिसे बरामद कर पूछताछ किया गया,जिसने बताया कि उसके परिचित हम उम्र लड़के ने उसे बहला-फुसलाकर शादी करने का झांसा देकर अपने साथ भगाकर अपने घर लाकर रखा व मना करने पर शादी करूंगा कहकर दैहिक शोषण किया। पीड़िता के कथन एवं उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर मामले में धारा 366, 376 भादवि एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 6 जोड़ते हुए विधि विरुद्ध बालक को अभिरक्षा में लेकर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया तथा वैधानिक कार्यवाही करते हुए दस्तयाब नाबालिग बालिका को उसके परिजनों को सुपुर्द किया गया है। इस प्रकार थाना प्रभारी सिटी कोतवाली भावेश गौतम के निर्देश में उपनिरीक्षक एसआर नायक, प्रधान आरक्षक मधुलिका टिकारिया के द्वारा अपहृत नाबालिग बालिका को 24 घंटे के भीतर विधि विरुद्ध बालक के कब्जे से बरामद कर वैधानिक कार्यवाही करने में महत्वपूर्ण सफलता अर्जित की है।

25-06-2020
नवविवाहिता से रेप के मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार

रायपुर/कोरबा। नवविवाहिता का अपहरण कर तीन दिन तक उसके साथ रेप करने का मामला सामने आया है। वारदात के मुख्य आरोपी समेत अपहरण में सहयोग करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घटना एक महीने पहले की है। दरअसल पसान थाना क्षेत्र में 21 वर्षीय पीड़िता बीते 19 मई को देर रात लघुशंका के लिए घर से बाहर निकली थी। इस दौरान वहां पहुंचे गांव के ही भैयालाल ने अपने साथी हरिदयाल पोर्ते की मदद से उसका अपहरण कर लिया। साथ लाए गमछा से महिला का मुंह बांधकर उसे उठाकर जंगल की ओर ले जाकर भैयालाल ने दुष्कर्म किया। इसके बाद भैयालाल व हरिदयाल ने मिलकर महिला को गांव के मुख्य सड़क तक लाया, जहां एक और आरोपी शिवशंकर बाइक लेकर मौजूद था। बाइक पर महिला को जबरन बैठाया और वहां से करीब 7 किलोमीटर दूर खड़गवां थाना क्षेत्र के ग्राम कारीछापर स्थित एक मकान में ले गए।

भैयालाल ने जान से मारने की धमकी देकर महिला के साथ दो दिन तक दुष्कर्म किया। पीड़िता के मुताबिक उसने किसी तरह अपने भाई और पिता से संपर्क किया और वे कारीछापर स्थित उक्त मकान में पहुंचे, जिन्हें देखकर तीनों आरोपी भाग निकले। पीड़िता ने अपने पिता व भाई के साथ मंगलवार को थाना पहुंचकर घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। शिकायत में बताया गया है कि दुष्कर्म की वारदात को भैयालाल ने तीन दिन तक अंजाम दिया, जबकि हरिदयाल और शिवशंकर ने महिला का अपहरण और निगरानी करने में मदद की। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 376, 366, 504, 34 के तहत मामला दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया है।

24-06-2020
महिला का अपहरण कर 3 दिन तक करता रहा दुष्कर्म, मुख्य आरोपी और सहयोगियों के खिलाफ जुर्म दर्ज

कोरबा। 19 जून की देर रात एक नवविवाहिता का अपहरण करने के बाद 3 दिनों तक उसके साथ जबरन दुष्कृत्य को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी सहित अपहरण में सहयोगकर्ता 2 लोगों के विरुद्ध अपराध दर्ज़ कर आरोपी की तलाश की जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार पसान थाना क्षेत्र में 21 वर्षीय पीड़िता 19 जून को देर रात लघुशंका के लिए घर से बाहर निकली थी। इस दौरान वहां गांव का भैयालाल पहुंचा और अपने साथी हरिदयाल पोर्ते की मदद से महिला का अपहरण कर लिया। साथ लाए गमछा से महिला का मुंह बांधकर उसे उठाकर जंगल की ओर ले जाकर भैयालाल ने दुष्कर्म किया। इसके बाद भैयालाल व हरिदयाल ने मिलकर महिला को गांव के मुख्य सड़क तक लाया, जहां उसके सहयोगी शिवशंकर मोटरसाइकिल लेकर मौजूद था।

मोटरसाइकिल पर महिला को जबरन बिठाया गया और वहां से ग्राम कारीछापर स्थित एक मकान में ले गए। मकान में भैयालाल ने जान से मारने की धमकी देकर व गाली-गलौज करते हुए महिला के साथ दुबारा दुष्कर्म किया व 20 और 21 जून को भी यह दरिंदगी दोहराई। पीड़िता के मुताबिक उसने किसी तरह अपने भाई और पिता से संपर्क किया और वे कारीछापर स्थित उक्त मकान में पहुंचे, जिन्हें देखकर तीनों आरोपी भाग निकले। पीड़िता ने अपने पिता व भाई के साथ थाना पहुंचकर घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। बताया गया कि दुष्कर्म की वारदात को भैयालाल ने 3 दिनों तक अंजाम दिया, जबकि हरिदयाल और शिवशंकर ने महिला का अपहरण और निगरानी करने में मुख्य आरोपी की पूरी मदद की। आरोपियों के विरुद्ध अपराध दर्ज कर आरोपी की तलाश की जा रही है।

04-06-2020
Video: अपहरण कर जान से मारने की धमकी देने और फिरौती मांगने वाले 6 गिरफ्तार

महासमुंद। बुधवार शाम दो युवकों का अपहरण करने वाले 6 आरोपियों को महासमुन्द जिला पुलिस ने एसपी प्रफुल्ल ठाकुर के निर्देशन में बनी टीम ने 9 घंटे के भीतर ही गिरफ्तार कर लिया है। जिला पुलिस के इस कार्य से खुश होकर रायपुर रेंज के आईजी आनंद छाबड़ा ने जिला पुलिस को 25 हजार और प्रशंसा पत्र देने की धोषणा की है। गिरफ्तार आरोपियों में मुन्ना साहू पिता संतु साहू, ग्राम कांपा तुमगांव, लकेश चन्द्राकर पिता स्व. नारायण चन्द्राकर कांपा थाना तुमगांव, पुरूषोत्तम सोनी पिता हेमलाल सोनी कांपा तुमगांव, फुलसिंग चन्द्राकर पिता स्व. दाऊलाल चन्द्राकर सेमराडीह थाना बलौदा बाजार शामिल थे। पुलिस की टीम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर, एसडीओपी पुपलेश्वर पात्रे पिथौरा, एसडीओपी नाराद सूर्यवंशी महासमुन्द व सायबर सेल से संजय राजपूत शामिल थे। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया है कि कल शाम को बसना थाना में हेमसागर पिता बिसर सागर, ग्राम खोखसा निवासी ने पुलिस को जानकारी दी कि पुत्र लल्ला सागर और भतीजे को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा किडनैप कर लिया है और फोन पर धमकी दे रहा है कि एक लाख 20 हजार रुपए फिरौदी की नहीं दी गई तो उसके 19 साल के बेटे और नाबालिग भतीजे को जान से मार दिया जाएगा। साथ ही अपहरणकर्ताओं ने हेमसागर से यह भी कहा कि अगर पुलिस को मामले की जानकारी दी तो उसके बच्चों के लिए अच्छा नहीं होगा। मामले की सूचना मिलते ही बसना थाना प्रभारी ने पुलिस अधीक्षक को मामले की जानकारी दी और पुलिस अधीक्षक ने तत्काल 4 टीम बनाकर पूरे जिले को सील कर दिया और सीमावर्ती राज्यों और सीमावार्ती जिलों के पुलिस अधीक्षकों को मामले की जानकारी देते हुए किडनैपरों की तलाश में पुलिस लग गई। 

पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि किडनैपर नये थे और उन्होंने चुक करते हुए एक ही नम्बर से 3 बार फिरौती की रकम के लिए लडक़ों परिजनों से बात की, पुलिस ने मोबाइल का तत्काल लोकशन लेकर चारों दिशा में पुलिस टीम को लगा दिया गया। पुलिस ने आरोपियों के सभी मोबाइल लोकशन के अनुसार उनकी खोजबीन शुरू की तो होटलों और कुछ राहगिरों से मामले की जानकारी पुलिस को मिली और आखिरकार पुलिस ने रात में दो मोटर साइकिल में 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जिसमें से दो अपहृत लडक़े थे। गिरफ्तार चारों आरोपियों ने अपने दो और साथियों का नाम बताया उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के पास से दो मोटर साइकिल, एक मारूती ईको बरामद कर सभी 6 आरोपियों के खिलाफ 364 ए (34 ) का अपराध कायम किया है। पुलिस अधीक्षक बनाये गये टीम में पटेवा थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर, विकाश शर्मा, मिनेश धु्रव, कामता आवड़े, रवि यादव, अजय जांगड़े, शामिल थे।

13-05-2020
नक्सली चंगुल से जवान को सकुशल लाने वाले पत्रकारों का शिक्षक संघ ने किया सम्मान

बीजापुर। माओवादियों द्वारा गोरना मेले से अपहरण किये गए जवान संतोष कट्टम की पत्नी की गुहार व स्थानीय पत्रकार गणेश मिश्रा,रंजन दास व चेतन कापेवार की पहल पर 6 दिन बाद माओवादियों ने अपह्रत जवान को रिहा कर दिया। इसके चलते 13 मई को सहायक शिक्षक फेडरेशन जिला इकाई बीजापुर के नेतृत्व में दल ने नक्सलियों की मांद में जाकर अपनी जान की परवाह ना करते हुए इंसानियत का परिचय देकर जवान की सकुशल वापसी कर रिहा कराने में अहम भूमिका निभाने वाले पत्रकारों को पुष्पगुच्छ भेंट कर धन्यवाद ज्ञापित किया गया। धन्यवाद देते समय प्रमुख रूप से (जिला सचिव)राजेश मिश्रा,(जिला संगठन प्रभारी)इकबाल खान,(जिला मीडिया प्रभारी)मोहसिन खान,(ब्लाक उपाध्यक्ष बीजापुर)अवल तारारम,(सहायक कोषाध्यक्ष बीजापुर)नरेंद्र चंद्राकर,चेतरु कुमार चंद्राकर,विष्णु दुर्गम व अन्य साथी उपस्थित थे।

 

02-05-2020
Video: गांव में सहेलियों के साथ खेल रही बच्ची का अपहरण,पुलिस और पब्लिक की सक्रियता से पकड़ा गया आरोपी

रायगढ़। जिला मुख्यालय से महज 60 किलोमीटर दूर तमनार थाना क्षेत्र के गांव में शुक्रवार शाम घर से कुछ दूर सहेलियों के साथ खेल रही एक बच्ची का अपहरण कर लिया गया। इसकी सूचना तत्काल परिजनों ने तमनार पुलिस को दी। वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी थानों को अवगत कराकर नाकेबंदी कराई। तमनार थाना प्रभारी ने रायगढ़ एसपी के निर्देश पर तत्काल चार अलग-अलग टीम का गठन कर पतासाजी करने के आदेश दिए। वही तमनार थाना की सभी सीमाओं को भी सील किया गया। सहयोग के लिए घरघोड़ा थाना प्रभारी भी अपने बल के साथ पहुंचे। मामला सोशल मीडिया में भी वायरल होने लगा। 

जब पता चला कि आरोपी को बच्ची समेत कुधरीखार तमनार की ओर ले जाता देखा गया है तब पुलिस ने एक किराना स्टोर के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल। फुटेज में आरोपी महलोई गांव की ओर बच्ची को मोटरसाइकिल सीजी 12एयू0775 में ले जाते हुए देखा गया। अंत में ग्रामीणों की तत्परता और पुलिस की सक्रियता से आरोपी समेत बच्ची को घर से 8 किलोमीटर दूर महलोई गांव में पकड़ लिया गया। पुलिस टीम ने आरोपी को पकड़कर थाना लाया। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी का नाम अजीत सिंह पोर्ते,जो कि जिंदल के डीसीपीपी फायर ब्रिगेड में कार्यरत है और कोरबा निवासी है। वह फायर ब्रिगेड की खाकी वर्दी होने के कारण अपने आप को पुलिस बताकर बच्ची को डरा धमकाकर ले गया। पुलिस के अनुसार आरोपी नशे में भी धुत था। ग्रामीणों के सहयोग और पुलिस की सक्रियता से आरोपी पकड़ा गया।

11-04-2020
नाबालिग का अपहरण करने वाले हुए गिरफ्तार

कोंडागांव। जिले के फरसगांव थाना अंतर्गत नाबालिग लड़की को शादी का प्रलोभन देकर, अपहरण करने वाले दो युवकों को फरसगांव पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी जिला राजनांदगांव के निवासी है। दोनों आरोपियों को बाइक पर नाबालिग को बिठा कर राजनांदगांव ले जाते समय पुलिस ने नाकाबंदी कर पकड़ा है। पूछताछ करने पर दोनों आरोपियों द्वारा नाबालिग को राजनांदगांव ले जाना बताया गया। दोनों आरोपी के खिलाफ पर्याप्त सबूत पाये जाने पर पुलिस ने गिरफ्तार कर रिमाण्ड पर भेजा दिया है।

07-04-2020
नाबालिग का अपहरण करने वाला युवक गिरफ्तार

आरंग। आरंग थाना क्षेत्र के ग्राम तामासिवनी की रहने वाली नाबालिग को बहला-फुसलाकर अपहरण करने वाले आरोपी युवक को आरंग पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरंग थाना प्रभारी लेखधर दीवान ने बताया कि 9 मार्च को तामासिवनी जा रहने वाला ग्रामीण ने थाना में सूचना दिया कि उसकी 16 साल की बेटी घर से खरीदी करने गांव के ही फैंसी दुकान के लिए गई थी,जिसके बाद से वह लापता है। सूचना के बाद पुलिस जांच में पता चला कि नाबालिग को ग्राम डूमा का रहने वाला युवक मुकेश जोशी (19) बहला-फुसलाकर अपने घर ले गया था। पुलिस ने 12 मार्च को आरोपी युवक के घर से बरामद कर उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया लेकिन आरोपी वहां से फरार हो गया। इसके बाद युवक के आज घर पहुंचने की सूचना पर पुलिस ने दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी युवक के खिलाफ पुलिस आईपीसी की धारा 363 के तहत करवाई कर जेल भेज दिया है।

23-03-2020
नाबालिग के अपहरण मामले में जबीता मंडावी और शिवरतन गुप्ता फरार, खोजबीन में जुटी पुलिस

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के ओएसडी रहे ओपी गुप्ता पर नाबालिग छात्रा से शारीरिक शोषण के मामले के बाद नाबालिग पीड़िता एवं उसके परिजनों ने अपहरण मामले में बस्तर की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जबीता मंडावी के खिलाफ पुलिस ने पास्को एक्ट में अपराध पंजीबद्ध किया है। बता दें कि शिकायत के बाद राजनांदगांव पुलिस जबीता मंडावी को गिरफ्तार करने बस्तर भी पहुंची थी। लेकिन उसका लोकेशन ट्रेस नही होने और कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए वापस लौट आई। जबीता के मोबाइल नंबर को लगातार पुलिस ट्रेस कर रही है। मोबाइल बंद होने के कारण उसका लोकेशन पुलिस ट्रेस नहीं कर पा रही है।  
गौरतलब है कि पुलिस नाबालिग पीड़िता एवं उसके परिजनों के अपहरण के मामले में पहले ही चार आरोपियों का गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। आरोपियों में दो रायपुर और दो मोहला गोटाटोला के रहवासी है। इन्होंने नाबालिग छात्रा और परिजनों को कार से ओडिशा लेकर गायब हो गए थे। ओपी गुप्ता के भाई शिवरतन गुप्ता का भी नाम सामने आया था। पुलिस उसकी भी पतासाजी के लिए जबलपुर पहुंची थी। लेकिन उसे भी पकड़ने में पुलिस असफल साबित हुई। फिलहाल पुलिस आरोपियों का फोन नंबर लगातार ट्रेस कर रही है,जल्द ही उनकी गिरफ्तारी हो जाएगी।

 

21-03-2020
गैंगरेप के 8 दिन बाद अपराध दर्ज, एक गिरफ्तार, दुष्कर्म के बाद जंगल में छोड़कर भागे आरोपी

रायपुर। शादी समारोह में शामिल होने पहुंची किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने वारदात के 8 दिन बाद आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। यहीं नहीं गांव में पंचायत का आयोजन कर मामले को रफादफा करने की कोशिश का आरोप भी लगाया जा रहा है। हालांकि ग्रामीणों के आरोप की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। मिली जानकारी के मुताबिक वारदात पंडरापाठ चौकी क्षेत्र की है। एक गांव में 12 मार्च को एक विवाह समारोह का आयोजन किया गया था। विवाह के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए परिवार समेत पहुंची किशोरी के साथ रात को कार्यक्रम के दौरान मौका मिलते ही अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। वारदात के बाद आरोपियों ने किशोरी को विवाह स्थल से कुछ दूर जंगल में छोड़ कर फरार हो गए। पीड़िता की शिकायत पर पंडरापाठ चौकी ने छह आरोपियों के खिलाफ अपराध कायम कर लिया है, वहीं पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।  

16-03-2020
ओपी गुप्ता पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाने वाली पीड़िता लापता, परिजनों ने एसपी से लगाई गुहार 

राजनांदगांव। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के पीए ओपी गुप्ता पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाने वाली किशोरी परिजनों के साथ लापता बताई जा रही है। इस संबंध में किशोरी के बड़े पिता ने राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर सूचना देते हुए षड़यंत्र के तहत बड़ी घटना की आशंका जताते हुए अपहरण करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। किशोरी के बड़े पिता ने राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक को लिखी चिट्ठी में बताया कि पीड़ित किशोरी के साथ उसके माता-पिता के साथ छोटे भाई का 4 मार्च से कहीं पता नहीं चल रहा है। उनके किसी रिश्तेदार के घर होने की भी जानकारी नहीं मिल रही है। इससे चिंतित उसके परिवार को बड़ी घटना की आशंका सता रही है। ज्ञात हो कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के पीए ओपी गुप्ता की यौन प्रताड़ना के मामले में गिरफ्तारी हुई थी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804