GLIBS
03-05-2020
निगम कार्यालय खुलने को लेकर दफ्तर सहित परिसर को किया गया सैनिटाइज

भिलाई । भिलाई निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने निगम के समस्त विभागीय अधिकारियों को शासन द्वारा जारी किए गए निर्देश के परिपालन में कार्यालय खोलने को लेकर बेहतर व्यवस्था बनाने निर्देशित किए है। नगर पालिक निगम भिलाई के मुख्यालय सहित जोन कार्यालयों में दिनांक 4 मई से लोगों की आवाजाही शुरू हो सकती है। इसको देखते हुए विभागीय कार्यालयों को सैनिटाइज करने का कार्य किया गया। निगम मुख्यालय में सभी तरह के कार्य को शासन के आदेशानुसार शुरू किया जा रहा है। इसमें विभागवार केवल एक तिहाई अधिकारी/कर्मचारी ही कार्य करेंगे,जिसके लिए विभागीय रोस्टर तैयार किया जा रहा है। निगम के सभी विभागों के कुर्सी, टेबल, द्वार सहित बार-बार छुए जाने वाले वस्तुओं को सैनिटाइज किया गया। इसके अलावा सभी विभागों की सघन रूप से साफ-सफाई कराई गई है। विभिन्न कार्य के लिए निगम परिसर में आने वाले लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा तथा सोशल डिस्टेंस का पालन करना होगा। भिलाई निगम में जलकर, संपत्तिकर, विभिन्न टैक्स, आवेदन, जन्म मृत्यु पत्र तथा अन्य तरह के कार्यों के लिए आने वाले लोगों के लिए निगम प्रशासन द्वारा हैन्डवाश की व्यवस्था होगी। कोरोना वायरस के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिएनिगम मुख्यालय सहित जोन कार्यालय को पूरी तरह से सैनिटाइज किया जा रहा है। कार्यालय खुलने पर लोगों की आवाजाही बढ़ेगी जिसे देखते हुए सोशल डिस्टेंस पालन कराने जरूरी व्यवस्थाएं बनाई जा रही है। भिलाई निगम मुख्यालय के अलावा सभी जोन कार्यालयों में विशेष साफ-सफाई के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी विभागों में हैन्ड स्प्रे से सोडियम हाइपोक्लोरिड के घोल को टेबल, कुर्सी, दरवाजों के हैंडलों पर छिड़काव कर सेनेटाइज करने का कार्य कर रहे हैं।

 

28-04-2020
नीति आयोग तक पहुंचा कोरोना वायरस, दो दिन के लिए दफ्तर का भवन सील  

नई दिल्ली। देश में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। कोरोना वायरस संक्रमण अब केंद्र सरकार के सबसे अहम विभाग नीति आयोग के दफ्तर तक भी पहुंच गया है। इसकी जानकारी मिलते ही ही दफ्तर की बिल्डिंग को सील कर दिया गया है और किसी को अंदर जाने नहीं दिया जा रहा है। बता दें कि मंगलवार को नीति आयोग के एक अधिकारी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। नीति आयोग में उप-सचिव अजित कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस मामले के सामने आने के बाद उचित प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कदम उठाए जा रहे हैं। दो दिन के लिए पूरे भवन को सील कर दिया गया है ताकि सैनिटाइजेशन का काम कराया जा सके।

22-04-2020
तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी निलंबित,एसडीएम सरायपाली के दफ्तर में किया गया अटैच

महासमुंद। तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा को अंततः सस्पेंड कर दिया गया। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरायपाली निर्धारित किया गया है। एसडीएम महासमुंद की जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद कलेक्टर सुनील जैन ने उक्त कार्रवाई की है।मिली जानकारी के अनुसार तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा 31 मार्च 2020 को बिना किसी सूचना के मध्यप्रदेश के ग्राम डबोरा प्रवास पर रही। दो अप्रैल को ग्राम डबोरा जिला रीवा से तुमगांव वापस आकर कार्यालय में कार्यालयीन कार्य संपादन किया। इसकी शिकायत के बाद अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ने जांच की। इसमें इस बात की पुष्टि हुई। सरोज मिश्रा को फार्मेट ए नोवेल कोरोना 2019 व सेल्फ रिपोर्टिंग फार्म के अनुसार दो अप्रैल 2020 से होम क्वारंटाइन में रखा गया था तथा उनके आवास में क्वारंटाइन किए जाने के संबंध में नोटिस चस्पा किया गया था।

परंतु इनके द्वारा क्वारंटाइन अवधि में ही कार्यालय में उपस्थित होकर तीन अप्रैल, चार अप्रैल, सात अप्रैल, आठ अप्रैल व नौ अप्रैल को उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर कर अपने पदीय कर्तव्यों का अवहेलना एवं लापरवाही बरती गई। जिस पर कलेक्टर सुनील जैन ने माना कि नेत्र सहायक अधिकारी मिश्रा का कृत्य छग एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन्स 2020 की धारा 14 के अंतर्गत कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण के लिए जारी निर्देश का स्पष्ट उल्लंघन है तथा भारतीय दंड संहिता 1860-45- की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। लिहाजा कलेक्टर जैन ने छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 एक दो तीन के विपरीत होने से सरोज मिश्रा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। निलंबन अवधि में सरोज मिश्रा का मुख्यालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सरायपाली निर्धारित किया गया है।

एफआईआर नहीं होने पर उठाया जा रहा सवाल
इधर इस मामले में आज नेत्र सहायक अधिकारी का निलंबन तो हो गया लेकिन एफआईआर नहीं होने पर सवाल उठाया जा रहा है। उक्त अधिकारी का कृत्य छग एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन्स 2020 की धारा 14 के अंतर्गत कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण के लिए जारी निर्देश का स्पष्ट उल्लंघन है तथा भारतीय दंड संहिता 1860-45- की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे में एफआईआर क्यों नहीं कराई गई। जबकि कुछ इसी तरह के एक मामले में कटघोरा से आई एक महिला भृत्य के खिलाफ पटेवा पुलिस ने बकायदा मामला दर्ज किया है।

बीएमओ पर भी कार्रवाई की तलवार लटकी
तुमगांव में पदस्थ नेत्र सहायक अधिकारी सरोज मिश्रा के निलंबन के बाद अब बीएमओ के खिलाफ भी कार्रवाई की तलवार लटक रही है। सूत्रों ने बताया कि उनके खिलाफ भी उच्चाधिकारियों को पत्र लिखा जा रहा है।

12-02-2020
महाराष्ट्र में सरकारी कर्मचारियों को मिली यह सुविधा, जानिए क्या...

मुंबई। महाराष्ट्र में काम करने वाली सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। अब राज्य के सरकारी कर्मचारियों को हफ्ते में सिर्फ 5 दिन दफ्तर जाना होगा और बाकी 2 दिन छुट्टी मिलेगी। महाराष्ट्र सरकार ने यह निर्णय लिया है और इसी महीने की 29 तारीख से पूरे राज्य में इस फैसले को लागू करने की घोषणा की है। हालांकि महाराष्ट्र में पहले से महीने को दूसरे और चौथे हफ्ते में सरकारी कर्मचारियों को 2 दिन की छुट्टी मिलती है। लेकिन सरकार के इस फैसले से कर्मचारियों को महीने में कम से कम 2 अतीरिक्त छुट्टियां मिलेंगी।  

 

21-05-2019
आईपीएस मुकेश गुप्ता नहीं पहुंचे ईओडब्लयू के दफ्तर, अब 6 जून को होंगे पेश 

 रायपुर। आईपीएस मुकेश गुप्ता निजी कारणों की वजह से मंगलवार को ईओडब्लयू के दफ्तर में नहीं पहुंचे। उन्हें पेश होने के लिए ईओडब्लयू ने 6 जून की तारीख दी है। निलंबित आईपीएस मुकेश गुप्ता के वकील अमीन खान ईओडब्लयू के दफ्तर पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि मुकेश गुप्ता पूछताछ के लिए ही कल दिल्ली से रायपुर आये थे, लेकिन अचानक से बेटी की तबीयत खराब होने की वजह से वो आज सुबह की फ्लाइट से वापस दिल्ली लौट गए। वकील अमीन खान ने मुकेश गुप्ता के बोर्डिंग पास सहित अन्य दस्तावेजों को ईओडब्लयू के दफ्तर में जमा कराया है। विदित हो कि मुकेश गुप्ता पर फोन टैपिंग का गंभीर आरोप है। इससे पहले भी एक बार मुकेश गुप्ता पूछताछ के लिए ईओडबल्यू में हाजिर हो चुके हैं। वहीं सोमवार को इसी मामले में आईपीएस रजनेश सिंह से भी पूरे दिन पूछताछ हुई है। इस मामले में तीन दर्जन से ज्यादा सवाल पूछे गए हैं और फोन टैपिंग संबंधी जानकारी ली गई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804