GLIBS
07-03-2021
Breaking : महिलाओं को कल लाल किला, ताजमहल और कुतुबमीनार में एंट्री फ्री

नई दिल्ली/रायपुर। महिलाओं के लिए एएसआई यानी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने घोषणा की है कि यदि ताजमहल, लाल किला और कुतुब मीनार जैसी ऐतिहासिक इमारतें देखना चाहती हैं तो कल उन्हें मु्फ्त में एंट्री दी जाएगी। 8 मार्च को उसके संरक्षित स्मारकों में महिलाओं को फ्री एंट्री दी जाएगी। एएसआई ने अपने आदेश में कहा कि 8 मार्च को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाएगा। इस दिन देशभर में एएसआई के सभी स्मारक महिलाओं के लिए निशुल्क खुले रहेंगे। इन स्मारकों में घूमने पर महिलाओं से कोई एंट्री फीस नहीं ली जाएगी।

23-02-2021
बठिंडा में खुलेआम रैली में शामिल हुआ लाल किला हिंसा मामले का आरोपी लक्खा सिधाना

रायपुर/नई दिल्ली। लाल किला हिंसा मामले में आरोपी लक्खा सिधाना पंजाब में खुलेआम घूम रहा है। जी हां पंजाब के बठिंडा में एक रैली में शामिल होने के बाद तेजी से लक्खा सिधाना की तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही है। बता दें कि किसानों की ट्रैक्टर रैली में उपद्रव के बाद पुलिस ने लक्खा सिधाना पर 1 लाख रूपए का इनाम रखा था।

 

 

20-02-2021
लाल किला हिंसा मामले में सोशल मीडिया पर आरोपी लक्खा सिधाना का वीडियो वायरल

नई दिल्ली/रायपुर। लाल किला किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में फरार मुख्य आरोपी और गैंगस्टर से सामाजिक कार्यकर्ता बने लखबीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना ने शनिवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में सिधाना ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार किसानों के खिलाफ झूठे केस दर्ज कर उन्हें डराने की कोशिश कर रही है। इस वीडियो में उसने अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पर भी हमला बोला है। सिधाना ने कहा कि किसान आंदोलन पर अब लोगों का कब्जा हो गया हो जो कि पंजाबी भी नहीं हैं। उसने कहा है कि किसानों का आंदोलन सात महीने पुराना है और अपने चरम पर पहुंच गया है।

 

17-02-2021
लाल किला हिंसा के मामले में एक और गिरफ्तारी, मनिंदर सिंह उर्फ मोनी गिरफ्तार, उसके पास से तलवारें भी जब्त

दिल्ली/रायपुर। गणतंत्र दिवस परेड पर ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस को एक और कामयाबी मिली है। दिल्ली पुलिस में 23 साल के मनिंदर सिंह और मोनी को गिरफ्तार किया है। मनिंदर सिंह उर्फ मोनी के पास से पुलिस ने तलवारे भी जब्त की है। लाल किला हिंसा के मामले में पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है और गिरफ्तारियां का सिलसिला भी जारी है।

31-01-2021
किसी भी वक्त हो सकती है हिंसा फैलाने वाले दीप सिद्धू की गिरफ्तारी

रायपुर/नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर लाल किले में मचे उत्पात को लेकर पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू पर गिरफ्तारी के लिए दिल्ली पुलिस की कई टीमों ने पंजाब में छापामार कार्रवाई की है। दीप सिद्धू हिंसा के बाद से फरार है। दिल्ली पुलिस की दो टीमें लगातार सिद्धू की खोज कर रही है। अब किसी भी वक्त दीप सिद्धू की गिरफ्तारी हो सकती है।

28-01-2021
लाल किले पर झंडा फहराने वाले की पहचान हुई, 22 वर्षीय युवक जुगराज सिंह तरनतारन के एक गांव का रहने वाला

दिल्ली/रायपुर। गणतंत्र दिवस  पर हुई हिंसा के दौरान लाल किले पर झंडा फहराने वाले युवक की पहचान हो गई है। उसकी तस्वीरें सामने आ रही है और बताया जा रहा है कि युवक का नाम जुगराज सिंह है। वो खेती किसानी करता है और उसके परिजनों का यह कहना है कि वह किसी भी संगठन से नहीं जुड़ा है। किसानों के आंदोलन में वह साथ में चला गया था। युवराज सिंह तरनतारन जिले के गांव का रहने वाला है।

25-07-2020
कोरोना संक्रमण का स्वतंत्रता दिवस पर भी असर, कुछ ऐसा होगा

रायपुर/नई दिल्ली। इस बार लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कार्यक्रम का नजारा पहले की तरह नहीं होगा। कोविड-19 के खतरे को देखते हुए गृह मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर केंद्र, राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को दिशा-निर्देश एवं परामर्श जारी किए हैं। अपने निर्देश में एमएचए ने सरकार के सभी विभागों, राज्यों, गवर्नर को समारोह में भीड़ एकत्र न करने एवं उत्सव के प्रसारण में तकनीक का इस्तेमाल करने पर जोर दिया है। सबसे बड़ा बदलाव लाल किले पर होने वाले समारोह में देखने को मिलेगा। लाल किले पर होने वाले समारोह के बारे में गृह मंत्रालय ने कहा है कि 'यहां सेना एवं दिल्ली पुलिस के जवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गॉर्ड ऑफ ऑनर पेश करेंगे। इसके बाद ध्वज फहराने का कार्यक्रम होगा। राष्ट्रगान के साथ 21 तोपों की सलामी दी जाएगी। इसके बाद लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी भाषण देंगे। पीएम के इस भाषण के बाद एक बार फिर राष्ट्रगान होगा। समारोह का समापन रंग-बिरंगे गुब्बारे छोड़ने के साथ होगी। इसके बाद राष्ट्रपति भवन में 'एट होम' रिसेप्शन का आयोजन होगा।'

30-01-2020
सीएए के विरोध में दिल्ली में बड़े प्रदर्शन की तैयारी, जामिया से राजघाट तक निकलेगा मार्च

नई दिल्‍ली। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ गुरुवार को बड़ा प्रदर्शन होने वाला है। सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर मानव श्रृंखला बनाएंगे। इसके साथ ही जामिया से राजघाट तक मार्च भी निकाला जाएगा। हालांकि, दिल्ली पुलिस की ओर से अभी तक ऐसे किसी भी कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि, पुलिस ने सभी को बस से राजघाट जाने का ऑप्शन दिया है। जानकारी के मुताबिक जन एकता जन अधिकार आंदोलन की अगुवाई में करीब 109 संगठन शांति वन से राजघाट तक मार्च निकालेंगे। हनुमान मंदिर, लाल किला, जामा मस्जिद और दिल्ली गेट होते हुए यह मार्च निकाला जाएगा। इस विरोध मार्च के साथ ही 60 छात्र संघ गुरुवार को राजघाट तक मानव श्रृंखला बनाएंगे। यह श्रृंखला शाम 5.10 बजे से शाम 5.17 बजे तक बनाई जाएगी। इसी वक्त में राष्ट्रपिता की हत्या कर दी गई थी। वहीं यशवंत सिन्हा की गांधी शांति यात्रा भी गुरुवार को ही राजघाट पर संपन्न होगी।

 

25-01-2020
गणतंत्र दिवस की परेड सुबह 9.50 बजे से शुरू होगी राजपथ पर

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को परेड से संबंधित कार्यक्रम इंडिया गेट पर सुबह नौ बजे शुरू होगी। परेड में किसी तरह की बाधा न हो इसके लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा चक्र को चार भागों में बांटा गया है। परेड विजय चौक, राजपथ, इंडिया गेट, तिलक मार्ग, बहादुर शाह जफर मार्ग, नेताजी सुभाष मार्ग, रेड फोर्ट चौक होते हुए लाल किला मैदान पहुंचेगी। इस दौरान छह मेट्रो स्टेशन-सेंट्रल सेक्रेटेरियट, उद्योग भवन, पटेल चौक, रेस कोर्स, मंडी हाउस और प्रगति मैदान बंद रहेंगे। दिल्ली पुलिस का कहना है कि गणतंत्र दिवस के मद्देनजर स्वात टीमों को खासतौर से एक्टिवेट किया गया है और रणनीतिक रूप से उन्हें तैनात किया गया है। संदिग्धों की पहचान के लिए दिल्ली पुलिस के फेशियल रिकॉग्निशन सिस्टम को भी कई सार्वजनिक स्थलों पर स्थापित किया गया है। पुलिस ने बताया कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की अतिरिक्त 48 कंपनियों को वर्दी और सादे कपड़ों में लगभग 22,000 पुलिस कर्मियों के साथ तैनात किया जाएगा। वहीं दिल्ली पुलिस की संयुक्त पुलिस आयुक्त एनएस बुंदेला ने बताया कि दिल्ली की सीमाओं को 25 जनवरी की रात से ही सील कर दिया जाएगा।

08-10-2019
लाल किले पर आज नहीं देख पाएंगे मशहूर आतिशबाजी का नजारा

नई दिल्ली। राजधानी में दिनों दिन बढ़ते प्रदूषण का असर इस बार दशहरे पर भी देखने को मिलेगा। दिल्ली के लाल किले पर मंगलवार को होने वाले रावण दहन के दौरान लोग यहां की मशहूर आतिशबाजी का नजारा नहीं देख पाएंगे। लाल किले की मशहर लव कुश रामलीला के अंतिम दिन दशहरे पर रावण दहन तो होगा लेकिन प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए आयोजकों ने इस साल पटाखों का प्रयोग नहीं किया है। लव कुश रामलीला के आयोजक अर्जुन कुमार ने बताया कि हम प्रदूषण कम करने को लेकर एक संदेश देना चाहते हैं। इसी के चलते इस साल रावण दहन के दौरान पटाखों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। अर्जुन ने बताया कि पटाखों की आवाज को स्पीकरों के जरिए बजाया जाएगा, इससे लोगों को आतिशबाजी की कमी भी महसूस नहीं होगी। अर्जुन ने बताया कि हर साल रावण दहन के दौरान होने वाली आतिशबाजी में 15 से 20 हजार पटाखों का प्रयोग किया जाता था। वहीं इस साल रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतलों का कद भी कम किया गया है। पिछले साल रावण के पुतले की ऊंचाई 125 फीट थी जिसे इस साल घटा कर 60 फीट कर दिया गया है। गौरतलब है कि लव कुश रामलीला कमेटी दिल्ली की सबसे पुरानी संस्था है। यह दस दिन चलने वाली रामलीला के दौरान मशहूर हस्तियों और राजनीतिज्ञों की उपस्थिति इसे काफी खास बनाती है।

08-08-2019
कश्मीर को कॉन्सेंट्रेशन कैंप बना दिया गया है वहां न मोबाइल न इंटरनेट : अधीर रंजन

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले से घोषणा की थी कि हम कश्मीरियों को गोलियों से नहीं बल्कि उन्हें गले लगाकर आगे बढ़ाएंगे, लेकिन आज कश्मीर को कॉन्सेंट्रेशन कैंप बना दिया गया है। न कोई मोबाइल या इंटरनेट कनेक्शन नहीं कोई अमरनाथ यात्रा नहीं वहां क्या हो रहा है? इसके साथ ही अधीर रंजन चौधरी ने पाकिस्तान को करारा जवाब भी दिया। अधीर रंजन ने कहा कि कश्मीर मुद्दा हमारा आंतरिक मामला है। हम कोई भी कानून बना सकते हैं। यह हमारा अधिकार है। भारत के साथ व्यापार को निलंबित करने के पाकिस्तान के फैसले पर अधीर रंजन ने कहा कि मुझे पता था कि वह (पाकिस्तान) कुछ करने जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804