GLIBS
13-11-2019
स्वस्थ तन से होता है स्वस्थ मन का निर्माण : डॉ.प्रेमसाय सिंह

कोरिया। जिले के चल रही 19वीं राज्य स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता का बुधवार को एसईसीएल मैदान में स्कूली शिक्षा मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह एवं सरगुजा प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गुलाब कमरो उपस्थिति में समापन हुआ। 10 नवंबर से चल रही इस राज्य स्तरीय टूर्नामेंट में टेनिस बॉल,क्रिकेट,लगोरी, फुटबॉल, टेनिस और गटका खेल में 12 जून के 875 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता के कोरिया, सरगुजा, रायपुर, कबीरधाम,बिलासपुर,कोडागांव, राजनंदगांव, जशपुर,जांजगीर, बस्तर, दुर्ग और कांकेर जून के खिलाड़ी ने अपने अपने खेल का जौहर दिखाया। प्रतियोगिता के समापन के दौरान सभी जोन के खिलाड़ियों ने मार्च पास्ट किया। कार्यक्रम में नवोदय विद्यालय एवं सरदार वल्लभभाई पटेल स्कूल के छात्र छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति भी दी। 4 दिनों तक चलने वाले इस प्रतियोगिता में आयोजकों ने शानदार व्यवस्था की थी। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेल प्राधिकरण का गठन किया है। इसमें सभी खेल शामिल होंगे। यह हम सब का कर्तव्य है कि खेल प्रतिभाओं को सामने लाने में हम बच्चों की मदद करें। उन्होंने खिलाड़ियों से कहा कि खूब मन लगाकर खेलें क्योंकि स्वस्थ तन से ही स्वस्थ मन का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार खेल एवं युवा महोत्सव के माध्यम से इस दिशा में नियंत्रण कार्य कर रही है।


भरतपुर सोनहत के विधायक एवं सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार शिक्षा के क्षेत्र के साथ खेल के क्षेत्र में भी तेजी से कार्य कर रही है। खेल को प्रोत्साहन देने के लिए कोरिया जिले में राज्य स्तरीय इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि मैं स्कूल की शिक्षा मंत्री से मांग करता हूं कि इस तरह के नेशनल टूर्नामेंट का आयोजन कोरिया जिले में कराए जाएं। उन्होंने खिलाड़ियों को कहा कि अपने लक्ष्य निर्धारण कर उसे पाने के लिए कड़ी मेहनत करें। कार्यक्रम का संचालन जिला खेल अधिकारी राजेंद्र सिंह ने किया। कार्यक्रम में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नजीर अजहर, डॉ.रमा सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष अशोक जयसवाल, नगर पालिका अध्यक्ष शिवपुर चर्चा अजीत लाकड़ा, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष अजय सिंह, बृजवासी तिवारी, शैलेंद्र सिंह, प्रवीण भट्टाचार्य, सुरेंद्र तिवारी, दीपक गुप्ता, विनोद शर्मा,राकेश जायसवाल, काजू सिंह, अंकित गुप्ता, प्रशांत सिंह, जितेंद्र सिंह अनेक लोग उपस्थित रहे। इसके अलावा एसडीएम एके पैकरा,जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता,सहायक आयुक्त ललित शुक्ला, लोक शिक्षा संचनालय के अजय मिश्रा एवं डाईट के प्रचार योगेश शुक्ला, कन्या स्कूल का प्रचार अमृतलाल गुप्ता सहित विभाग के अधिकारी कर्मचारियों खिलाड़ी उपस्थित रहे।

08-11-2019
19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का हुआ शुभारंभ, 1500 खिलाड़ी हुए शामिल

पेंड्रा। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 19वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुभारंभ स्कूल के छात्र-छात्राओं के द्वारा गौरेला ब्लॉक के गुरुकुल प्रांगण में रंगारंग कार्यकम के साथ हुआ। इसमें पूरे छत्तीसगढ़ के 12 खेल जोन के 27 जिलों से लगभग 1500 खिलाड़ी और खेल स्टाफ शामिल हुए। इस प्रतियोगिता में "अरपा पैरी के धार" को राज्य का खेल गीत घोषित किया गया। इसके बाद शासकीय कार्यक्रम में छात्राओं के द्वारा आकर्शक नृत्य प्रस्तुत किया गया। इस खेल प्रतियोगिता में जिमनास्टिक के साथ ही साथ क्रिकेट और च्वाईक्वांडों को भी शामिल किया गया है। खेल प्रतियोगिता के शुभारंभ की अध्यक्षता बिलासपुर कमिश्नर बीएल बंजारे ने किया जबकि जिले भर के आला अधिकारी और कांग्रेसी नेता इस अवसर पर मंच पर विषिश्ट अतिथियों के रूप में उपस्थित रहे। प्रतियोगिता का समापन 10 नवंबर को होगा, जिसमें स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेम साय सिंह भी शामिल होगें।

 

07-11-2019
शादी के दिन भी मैच देखने से नहीं चूका यह फैन, सोशल मिडिया पर शेयर की तस्वीर

नई दिल्ली। क्रिकेट के लिए दिवानगी किस हद तक हो सकती है इसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता है। एक ऐसा ही क्रिकेट का दिवाना इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। क्रिकेट के लिए उसका प्यार इस कदर है कि उसका कायल अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट संघ (आईसीसी) भी हो गया है। दरअसल पाकिस्तान का एक क्रिकेट फैन इस कदर क्रिकेट के लिए दीवाना है कि वह किसी भी हालत में कोई भी मैच छोड़ना नहीं चाहता। इस फैन ने अपनी शादी के खास दिन भी क्रिकेट अपडेट लेने का मौका नहीं गंवाया। शादी का दिन जिंदगी का सबसे बड़ा दिन होता है लेकिन इस दिन भी वह क्रिकेट देखता हुआ दिखा। पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम के इस फैन का नाम हसन तसलीम है और वह अमेरिका में रहता हैं। तसलीम हर हाल में पाकिस्‍तान का मैच देखता ही है। उसने अपनी शादी की एक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की है जिसमें वह अपनी नई-नवेली दुल्हन के साथ बैठे हैं और पीछे चल रही टीवी में क्रिकेट मैच देख रहे हैं। वह और उसकी नई नवेली दुल्हन मंगलवार को हो रहे पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे मैच को देख रहे थे। क्रिकेट के इस फैन की तस्वीर देखकर आईसीसी भी उसका कायल हो गया है और अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर यह तस्वीर शेयर की है।

12-10-2019
प्रदेश में मनाया जायेगा

 

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश में क्रिकेट खिलाड़ियों में प्रतिभाओं की कमी नही है, किंतु उचित अवसर ना मिल पाने के कारण हमारा प्रदेश क्रिकेट जैसे लोकप्रिय खेल में भी काफी पिछड़ा है। छत्तीसगढ़ का दुर्भाग्य है कि प्रदेश की रणजी टीम में काफी संख्या में अन्य प्रदेशों के खिलाड़ियों को शामिल किया जाता है। इसी तरह IPL में भी प्रदेश के खिलाड़ियों की भूमिका नगण्य है।

छत्तीसगढ़ प्रदेश के क्रिकेट खिलाड़ियों को बड़े मंच व अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से वीर स्पोर्ट्स क्लब द्वारा 15 दिसम्बर 2019 से 20 जनवरी 2020 तक FESTIVAL OF CRICKET का आयोजन कराये जाने का निर्णय लिया गया है। इसके अंतर्गत संभाग स्तर पर क्रिकेट टेलेंट हंट प्रतियोगिता कराकर, प्रत्येक संभाग से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के आधार पर 30-30 खिलाड़ियों का चयन किया जायेगा। उसके बाद प्रदेश स्तर पर मार्च में प्रतियोगिता चयनित 150 खिलाड़ियों को विभाजित कर प्रदेश के आठ प्रमुख शहरों की टीमों में समाहित कर, IPL- इंडियन प्रीमियर लीग की तर्ज पर CPL- छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग प्रतियोगिता कराई जायेगी। प्रदेश कांग्रेस कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल एवं वीर स्पोर्ट्स क्लब के अध्यक्ष प्रवीण जैन ने जानकारी देते हुए बतलाया कि प्रदेश के उद्योग व व्यापार जगत को साथ जोड़ने कॉरपोरेट क्रिकेट टूर्नामेंट, प्रदेश में दिव्यांग महिला व पुरुष खिलाड़ियो को आगे बढ़ाने व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट के साथ जनप्रतिनिधि, नागरिक, डॉक्टर्स, चार्टर्ड एकाउंटेंट, अधिकारी व पत्रकारों के मैत्री मैच भी आयोजित कराये जाएंगे।

वहीं संस्था द्वारा सामाजिक स्तर पर युवाओं को एकजुट करने वाले आयोजन JPL- सीजन 4 टूर्नामेंट 22 दिसम्बर से प्रस्तावित की गई है, जिसमें प्रदेश के 16 से ज्यादा जिलों के युवा खिलाडियों की 32 टीमों के साथ समाज की महिला वर्ग व 15 वर्ष आयु के नवोदित खिलाड़ी काफी संख्या में FESTIVAL OF CRICKET के अंतर्गत हिस्सा लेंगे। बैठक में वीर स्पोर्ट्स क्लब के चेयरमैन अधि. प्रवीण जैन, मनोज बोथरा, पीयूष डागा, जय लुनिया, राहुल रामपुरिया, मयूर बैद, पंकज मुणोत, विवेक साँखला, धीरज लोढ़ा, जय सांखला, निमिष जैन, नीलेश साँखला, महावीर कोचर, दिलीप बोरार, दर्शन साँखला, अंकित पगारिया, विकास कोचेटा, चित्रांक चोपड़ा, विनोद साँखला, राहुल जैन, नीरज, ऋषभ जैन, सचिन पारख सहित काफी संख्या में सदस्य मौजूद रहे।

08-10-2019
मैच के दौरान मैदान में अंपायर को आया हार्टअटैक, मौत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट जगत के एक लोकप्रिय स्थानीय अंपायर का सोमवार को क्लब स्तर के टूर्नामेंट के मैच के दौरान मैदान पर हार्टअटैक आने से निधन हो गया। लायर्स टूर्नामेंट के दौरान टीएमसी मैदान पर नसीम शेख को दिल का दौरा पड़ा जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। मैच के आयोजक ने बताया कि मैच के अंपायरिंग के दौरान वे  गिर पड़े। एंबुलेंस में उन्हें समीप के अस्पताल ले जाया गया लेकिन रास्ते में उनका निधन हो गया।  56 वर्षीय शेख पेशे से कसाई थे लेकिन खेल के प्रति प्यार के कारण वह स्तरीय अंपायर बने।

26-09-2019
रात में आतंक और दिन में क्रिकेट नहीं चलेगा : विदेश मंत्री एस. जयशंकर

न्यूयॉर्क। आतंकवाद को पनाह देने वाले पड़ोसी देश पाकिस्तान को मोदी सरकार ने टेरिस्तान का नाम दिया है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पाकिस्तान को टेररिस्तान कहकर पुकारा है। जयशंकर ने कहा है कि रात में आतंक और दिन में क्रिकेट नहीं हो सकता। उन्होंने कहा है कि समस्या कश्मीर नहीं बल्कि आतंक है। इससे पहले भी भारत कई बार साफ कर चुका है कि पाकिस्तान से सिर्फ कश्मीर में आतंकवाद को लेकर ही बातचीत होगी। दरअसल न्यूयॉर्क में जब एस. जयशंकर से पूछा गया कि क्या पाकिस्तान से बातचीत हो सकती है ? क्या दोनों देशों के बीच क्रिकेट हो सकता है ? इस पर जयशंकर ने कहा, हर कोई अपने पड़ोसी से बात करना चाहता है। मुद्दा यह है कि हम ऐसे देश से कैसे बात करें जो आतंकवाद का संचालन कर रहा है। उन्होंने कहा,‘रात में आतंक और दिन में क्रिकेट ये नहीं चल सकता है। ये नहीं संभव है कि आतंक के बीच टी ब्रेक में आप क्रिकेट खेलें। विदेश मंत्री ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म होने से पाकिस्तान की आतंकी साजिश को झटका लगा है। समस्या कश्मीर नहीं बल्कि आतंक है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘आपके पास पड़ोसी है लेकिन आप व्यापार नहीं कर सकते। पाकिस्तान डब्ल्यूटीओ का सदस्य है लेकिन उसने कभी भारत को मोस्ट फेवर नेशन का दर्जा नहीं दिया।’

21-09-2019
ईशान किशन और संजू सैमसन हो सकते है ऋषभ पंत का विकल्प

 

नई दिल्ली। युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में लगातार नाकामी के बाद अब चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने भी उन्हें इशारों ही इशारों में वॉर्निंग दे दी है। बीसीसीआई की चयन समिति के मुख्य चयनकर्ता एम.एस.के. प्रसाद ने कहा है कि वह ऋषभ पंत के विकल्प के तौर पर ईशान किशन, संजू सैमसन और अन्य विकेटकीपरों पर निगाहें रखे हुए हैं। बता दें कि ऋषभ पंत फिलहाल बेहद खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। बुधवार को साउथ अफ्रीका के खिलाफ मोहाली में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में पंत नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरे और सिर्फ 4 रन बनाकर आउट हो गए। पिछले महीने वेस्टइंडीज दौरे पर तीन मैचों की टी-20 सीरीज में ऋषभ पंत के बल्ले से 69 रन आए थे, तो वहीं तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी वह सिर्फ 20 रन ही बना पाए। महेंद्र सिंह धोनी के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ब्रेक लेने के बाद से पंत टीम के मुख्य विकेटकीपर के तौर पर खेल रहे हैं, लेकिन वह लगातार विफल हो रहे हैं। प्रसाद का मानना है कि पंत जैसे प्रतिभाशाली खिलाड़ी के साथ धैर्य रखने की जरूरत है। प्रसाद ने कहा कि 'मैंने पहले ही वर्ल्ड कप के बाद कहा था कि हम पंत पर नजर रखे हुए हैं।

हमें उनके साथ धैर्य रखने की जरूरत है, क्योंकि उनके पास काफी प्रतिभा है।' चीफ सेलेक्टर ने कहा, 'हम पंत के वर्कलोड पर भी ध्यान दे रहे हैं। जाहिर सी बात है हम साथ ही तीनों प्रारूपों में विकल्पों पर भी नजर रखे हुए हैं। टेस्ट में इंडिया-ए के लिए के.एस. भरत अच्छा कर रहे हैं हमारे पास किशन और सैमसन हैं जो सीमित ओवरों में इंडिया-ए के लिए और घरेलू क्रिकेट में भी अच्छा कर रहे हैं।' पिछले कुछ मैचों में ऋषभ पंत मौकों का फायदा उठाने में नाकाम रहे हैं और उन पर बेहतर प्रदर्शन करने का दबाव बढ़ता जा रहा है। ऋषभ पंत को लेकर मुख्य कोच रवि शास्त्री ने पहले ही साफ कर दिया था कि यह विकेटकीपर बल्लेबाज अपनी गलतियों को लगातार नहीं दोहरा सकता और अगर ऐसा किया तो खामियाजा भुगतना होगा। टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी कहा था कि ऋषभ पंत अगर वेस्टइंडीज दौरे के दौरान की गईं गलतियों को दोहराते रहेंगे, तो उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

18-09-2019
ऑलराउंडर दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट को कहा अलविदा

नई दिल्ली। 2003 वर्ल्ड कप में खेले क्रिकेट खिलाड़ी दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है। ऑलराउंडर दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया। मोंगिया सौरव गांगुली की कप्तानी वाली उस भारतीय टीम का हिस्सा थे, जो  2003 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हारते हुए उपविजेता रही थी। मोंगिया ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच मई 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। वह आखिरी बार मैदान पर 2007 में पंजाब के खिलाफ उतरे थे, इसके बाद उन पर इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) में खेलने की वजह से बीसीसीआई ने बैन लगा दिया था।

मोंगिया ने सर्वश्रेष्ठ बैटिंग तकनीक न होने के बावजूद घरेलू क्रिकेट में अपने लिए काफी नाम कमाया। उन्होंने अपना इंटरनेशनल डेब्यू मार्च 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे खेलते हुए किया था। उन्होंने वनडे में अपना उच्चतम स्कोर जिम्बाब्वे के खिलाफ मार्च 2002 में गुवाहाटी में सीरीज के आखिरी मैच में 159 रन की पारी खेलते हुए बनाया था। मोंगिया ने अपने वनडे करियर में 57 मैच खेले और 27.95 की औसत से 1230 रन बनाए, जिसमें एक शतक और चार अर्धशतक शामिल हैं। लेकिन वह भारत के लिए कोई टेस्ट मैच नहीं खेले, जबकि भारत के लिए एकमात्र टी20 दिसंबर 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला। पंजाब के लिए अपने 121 प्रथम श्रेणी मैचों में मोंगिया ने 48.95 की औसत से 8028 रन बनाए, जिनमें 27 शतक और 28 अर्धशतक शामिल हैं। साथ ही मोंगिया काउंटी क्रिकेट में लैंकशर और लीसेस्टरशर के लिए भी खेले। आईसीएल बैन की वजह से मोंगिया का क्रिकेट से नाता टूट गया। आईसीएल से जुड़ने वाले ज्यादातर क्रिकेटरों को बोर्ड ने माफ कर दिया था,लेकिन मोंगिया को माफी नहीं मिल पाई। 

 

15-09-2019
भारत-दक्षिण अफ्रीका के बिच पहला टी-20 मैच आज

नई दिल्ली। भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच टी-20 क्रिकेट सीरीज का पहला मैच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला में रविवार को खेला जाएगा। इसके लिए विराट कोहली और क्विंटन डीकॉक की सेना ने पूरी तैयारी कर ली है। दक्षिण अफ्रीका टीम के खिलाड़ी पिछले तीन-चार दिन से एचपीसीए स्टेडियम में अभ्यास में जुटे हैं। शुक्रवार को पहुंची टीम इंडिया ने शनिवार को मैदान में जमकर अभ्यास किया। रविवार को शाम सात बजे से शुरू होने वाले मैच को देखने के लिए युवाओं में भारी उत्साह देखा जा रहा है। इससे पहले धर्मशाला में दोनों टीमों के बीच दो अक्तूबर 2015 को खेले गए टी-20 मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था। इसके अलावा इस स्टेडियम पर अभी तक कुल चार एकदिवसीय मैच खेले गए हैं। हालांकि यहां टी-20 वर्ल्ड कप का भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाला मैच विरोध के चलते टल गया था।  धर्मशाला मैदान में करीब साढ़े 22 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता है। मैच के लिए ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग हो चुकी है।

एचपीसीए के क्रिकेट स्टेडियम के बॉक्स ऑफिस में भी ऑफलाइन टिकट बेचे गए। भारतीय टीम की मजबूती का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले दो साल में भारत ने विभिन्न देशों के साथ कुल 12 सीरीज खेलीं। इनमें आठ जीती, दो ड्रॉ रहीं और एक में हार मिली। दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका ने दो साल में सात सीरीज खेली हैं। इनमें पांच में जीत मिली, जबकि दो में हार। भारत-दक्षिण अफ्रीका की टीमें धर्मशाला स्टेडियम में चार साल बाद फिर आमने-सामने होंगी। साल 2015 में टी-20 मैच में दोनों टीमें इस तेज पिच पर भिड़ चुकी हैं। उस मैच में हारने के अलावा भारतीय टीम को सीरीज से भी 2-0 से हाथ धोना पड़ा था। हालांकि इसके बाद टीम इंडिया का प्रदर्शन सुधरा है। साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका में हुए टी-20 के तीन मैचों की सीरीज को भारत ने 2-1 से जीता था। दोनों देशों के बीच टी-20 मुकाबले की यह छठी सीरीज है। चार दक्षिण अफ्रीका में हुई हैं। इनमें तीन भारत, एक दक्षिण अफ्रीका जीता, जबकि भारत में हुई सीरीज पर दक्षिण अफ्रीका ने कब्जा जमाया।

01-09-2019
इंडिया बनाम वेस्टइंडीज : बुमराह के टेस्ट केरियर की पहली हैट्रिक, बने तीसरे इंडियन बॉलर

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज़ के खिलाफ दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने अपनी स्थिति बेहद मज़बूत कर ली है। पहले हनुमा विहारी ने शतकीय पारी खेली, जिसकी बदौलत भारत 416 रन बनाने में कामयाब रहा। बाद में तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ने वेस्टइंडीज़ को छह झटके देकर उन्हें मैच में मुश्किल में डाल दिया। खास बात ये रही कि मैच में बुमराह ने अपने टेस्ट करियर की पहली हैट्रिक भी ली। बुमराह ने महज़ 9.1 ओवर की गेंदबाज़ी की, जिसमें 16 रन खर्च किए। हालांकि वो ये बड़ा कारनामा करने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज़ हैं। उनसे पहले हरभजन सिंह और इरफान पठान टेस्ट में हैट्रिक लेकर इतिहास रच चुके हैं। दिन का खेल खत्म होने तक वेस्टइंडीज़ ने 33 ओवर में सात विकेट खोकर 87 रन बनाए हैं। अभी भी वो भारत के स्कोर से 329 रन पीछे हैं. अपने कल के स्कोर 42 रन से आगे खेलते हुए विहारी ने एक छोर संभालकर 111 रन की पारी खेली और वह आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज रहे। उन्होंने अपनी पारी में 225 गेंदों का सामना करके हुए 16 चौके लगाये।. विहारी को ईशांत के रूप में बेहतरीन साथ मिला और दोनों ने आठवें विकेट के लिये 112 रन जोड़कर भारत को 400 के पार पहुंचाया।

भारत की पहली पारी में 416 रनों के जवाब में वेस्टइंडीज़ की शुरुआत बेहद खराब रही। बुमराह ने पारी के सातवें ओवर में कैरिबियाई टीम को जॉन कैंपबेल (2) के रूप में पहला झटका दिया। इसके बाद नौवें ओवर की दूसरी गेंद पर बुमराह को दूसरी सफलता मिली। इस बार उन्होंने डैरेन ब्रावो (4) को अपना शिकार बनाया। ब्रावो के बाद अगली दो गेंदों पर शमार ब्रूक्स (0) और रोस्टेन चेज (0) को पवेलियन भेज बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी पहली हैट्रिक ली। मुकाबले में हैट्रिक लेने के बाद भी बुमराह का तूफान नहीं थमा। उन्होंने पारी के 13वें ओवर में संघर्ष कर रहे कार्लोस ब्रैथवेट (38 गेंदों पर 10 रन) को भी पतं के हाथों कैच कराकर आउट कर दिया। 22 रन पर पांच विकेट गंवाने के बाद शेमरोन हेटमायर और जेसन होल्डर ने पारी को संभालने की कोशिश की। लेकिन इनका संघर्ष भी ज्यादा देर तक नहीं चला। हेटमायर ने 57 गेंदों पर सात चौकों की मदद से 34 रन बनाए और मोहम्मद शमी को अपना विकेट दे बैठे।38 गेंदों पर 18 रन बनाकर कप्तान होल्डर भी बुमराह का ही शिकार हुए।

29-08-2019
श्रीलंका के स्पिनर अजंता मेंडिस ने क्रिकेट के सभी प्रारूप से लिया संन्यास

नई दिल्ली। मिस्ट्री स्पिनर के नाम से मशहूर हुए श्रीलंका के अजंता मेंडिस ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। मेंडिस ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच 2015 में न्यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में खेला था। मेंडिस को अपनी रहस्यमय गेंदबाजी के लिए जाना जाता था। शुरुआती करियर में उनको खेल पाना अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों के लिए मुसीबत साबित हुआ था।
वेस्टइंडीज के खिलाफ अप्रैल 2008 में पदार्पण करने वाले इस स्पिन गेंदबाज ने अपने देश के लिए 87 वनडे मैचों में 152 विकेट लिए। 19 टेस्ट में मेंडिस के नाम 70 विकेट हैं। 39 टी-20 मैचों में दाएं हाथ के इस गेंदबाज ने 66 विकेट झटके हैं। मेंडिस ने पदार्पण वाले साल ही एशिया कप के फाइनल में भारत के छह विकेट लेकर उसे हार के लिए विवश कर दिया था और तभी से मेंडिस विश्व पटल पर छा गए थे।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804