GLIBS
29-06-2020
Breaking : पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, अजय यादव को रायपुर एसएसपी की जिम्मेदारी, अन्य जिलों के एसपी भी बदले..

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन ने पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल किया है। विभिन्न जिलों के एसपी सहित एसपी को इधर से उधर किया गया है। एसएसपी दुर्ग अजय यादव को रायपुर की कमान सौंपी गई है। वहीं रायपुर एसएसपी आरिफ शेख को उप पुलिस महानिरीक्षक ईओडब्ल्यू और एसीबी की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही कोंडागांव एसपी की जिम्मेदारी सिद्धार्थ तिवारी, बीएस ध्रुव को सहायक पुलिस महानिरीक्षक नक्सल ऑपरेशन, आईके एलेसेला को एसपी बलौदाबाजार भाटापारा, प्रशांत ठाकुर को एसपी दुर्ग, सरगुजा एसपी आशुतोष सिंह को सेनानी चौथी वाहिनी छसबल माना रायपुर, टीआर कोशिमा को एसपी सरगुजा, रामकृष्ण साहू को एसपी बलरामपुर, बालाजी राव सोमावार को एसपी जशपुर, शंकर लाल बघेल को सेनानी सीटीजेडब्ल्यू कॉलेज कांकेर, उदय किरण को एएसपी दंतेवाड़ा, सुनील शर्मा एएसपी सुकमा, पंकज चन्द्रा को एसपी ईओडब्ल्यू एसीबी रायपुर, और अभिषेक माहेश्वरी को सहायक पुलिस महानिरीक्षक इंटेलिजेंस के साथ अतिरिक्त प्रभार एएसपी क्राईम रायपुर की जिम्मेदारी दी गई है।

26-06-2020
प्रधान आरक्षक की मौत के बाद भरा गया गड्ढा,जिम्मेदारी अब तक तय नहीं

धमतरी। रुद्री रोड राधा स्वामी सत्संग भवन के सामने पाइप लाइन बिछाने के लिए रोड के बीचों बीच गड्ढा खोद दिया गया था। पाइपलाइन बिछाने के बाद गड्ढे में नाम का ही मुरुम डाल दिया गया था, मुरुम डालने के बाद वह गड्ढा आवाजाही के कारण फिर से बढ़ता गया, जिसमें आए दिन लोग आते-जाते गिरने से घायल होने लगे। बुधवार को दरमियानी रात में सिटी कोतवाली में तैनात प्रधान आरक्षक जगदीश मिर्धा अपने ड्यूटी से घर लौट रहे थे, तब राधास्वामी सत्संग के पास गड्ढे में गिर पड़े, इनको आसपास के लोगों के सहयोग से जिला अस्पताल पहुंचाया गया था। जिला अस्पताल से रेफर कर मसीही अस्पताल में भर्ती करवाया गया,जिनका इलाज चल रहा था जहां मौत हो गयी। लोग सड़क पर खोदे गए गड्ढे को लेकर सवाल उठाने लगे तब जाकर प्रशासन ने सुध ली। शुक्रवार को राधास्वामी सत्संग भवन के सामने बीचोबीच गड्ढे को रिपेयरिंग किया गया। एक तरह से प्रशासन की नींद मौत के बाद खुली ऐसा लोग कहने लगे हैं। मामले में जनपद सदस्य जागेन्द्र साहू का आरोप है कि पीएचई के ठेकेदार ने पीडब्ल्यूडी विभाग से बगैर अनुमति के गड्ढा खोद दिया, हादसे का इंतजार करने के बाद रिपेयरिंग की गई, इसलिए इसमें जवाबदारी तय कर कार्रवाई की जानी चाहिए।

 

25-06-2020
वर्चुअल रैली की तैयारियों को लेकर जिला भाजपा की हुई बैठक, कार्यकर्ताओं को दी गई जिम्मेदारी  

कोरबा। भारतीय जनता पार्टी जिला कोरबा की अहम बैठक जिला पाली कार्यालय में संपन्न हुई। इसमें 28 जून को दोपहर 12:30 बजे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान वर्चुअल रैली को डिजिटल प्लेटफॉर्म से संबोधित करेंगे। इसके लिए संगठनात्मक कार्य योजना बनी जिसमें जिला स्तर वर्चुअल रैली के प्रभारियों का कार्य विभाजन हुआ। दीपका मंडल के लिए प्रभारी के रूप में दीपक जायसवाल को जिम्मेदारी सौंपी गई है। बैठक में कोरबा जिला के जिला अध्यक्ष अशोक चावला, पूर्व संसदीय सचिव लखन लाल देवांगन, पूर्व महापौर जोगेश लांबा सहित जनप्रतिनिधी उपस्थित थे।

16-06-2020
छत्तीसगढ़ को सम्हालने की जिम्मेदारी निभाने में कांग्रेस की प्रदेश सरकार विफल रही : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लॉकडाउन में फँसे प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों की चिंता नहीं करने पर प्रदेश सरकार की आलोचना की है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने 4500 ट्रेनों से देशभर में फँसे लगभग 56 लाख और बसों से 45 लाख प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुँचाने का काम किया लेकिन प्रदेश सरकार ने अपने ही प्रदेश के प्रवासी मजदूरों की वापसी की चिंता तक नहीं की। उनके ट्रेन भाड़े को लेकर केंद्र से उलझने में लगी रही। डॉ. सिंह जिला जनसंवाद कार्यक्रम के तहत रायगढ़ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सभा को संबोधित कर रहे थे।  डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ को सम्हालने की जिम्मेदारी निभाने में कांग्रेस की प्रदेश सरकार विफल रही। वह प्रदेश के लोगों की वेदना को महसूस नहीं करती। देश के दीगर राज्यों ने अपने प्रवासी श्रमिकों के खातों में आर्थिक सहायता के रूप में पर्याप्त राशि जमा कराई लेकिन छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अपने ढाई लाख प्रवासी श्रमिकों के खाते में ढाई रुपए तक जमा नहीं कराए। प्रदेश के किसानों के साथ छल-कपट किया, शराबबंदी के वादे से मुकर रही है। शराब के धंधे में करोड़ों की हेराफेरी हो रही है। शराब की तस्करी में पुलिस के लोग पकड़े जा रहे हैं। कोरोना के मोर्चे पर प्रदेश सरकार को विफल बताते हुए डॉ. सिंह ने कहा कि टेस्टिंग सुविधा नहीं बढ़ाए जाने के कारण जाँच रिपोर्ट का काम पेंडिंग पड़ा है और क्वारेंटाइन सेंटर्स यातना गृह बनकर रह गए हैं। केंद्र की राशि से संचालित मनरेगा को छोड़कर प्रदेश में कहीं कोई काम यह सरकार नहीं कर रही है। डॉ. सिंह ने भाजपा कार्यकर्ताओं से मोदी सरकार की सारी उपलब्धियों और प्रदेश की कांग्रेस सरकार की नाकामियों को प्रदेश के हर घर तक पहुँचाने की अपील की।

07-06-2020
जंक फूड स्वास्थ्य के लिए हानिकारक : डाॅ.संजय गुप्ता

कोरबा। 7 जून को दुनियाभर में पहला विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया जा रहा है। इस साल की थीम 'खाद्य सुरक्षा सभी की जिम्मेदारी" पर आधारित है। यानी खेतों से निकलकर हमारी थाली में पहुंचने वाले चीजें सुरक्षित हो, जिससे यह हमारी सेहत को नुकसान न पहुंचाए। इंडस पब्लिक स्कूल दीपका के प्राचार्य डाॅ.संजय गुप्ता ने बताया कि स्कूलों में बच्चों को हेल्दी एवं अनहेल्दी फूड के बारे में स्कूलों में जानकारी दी जाती है,जिससे बच्चे स्वयं समझे की हेल्दी फूड एवं अनहेल्दी फूड के बारे में। आजकल जंक फूड का प्रचलन बढ़ता ही जा रहा है लेकिन यह हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक है। इससे सभी बच्चों और किशोरों को अवश्य जानना चाहिए क्योंकि वे आमतौर पर जंक फूड खाना पसंद करते हैं। कई सारी निबंध प्रतियोगिता में जंक फूड पर निबंध लिखने का कार्य दिया जाता है। जो बच्चों को जंक फूड के विषय में जागरूक करने के लिए दिया जाता है।

आधुनिक समाज में फास्ट फूड हमारे जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है समय के लिए सुविधा और जल्दी के कारण हम में से कई अब हमारे भोजन के लिए फास्ट फूड पर निर्भर हैं। आमतौर पर जंक फूड देखने में बहुत ही आकर्षक और स्वादिष्ट लगते हैं, और सभी आयु वर्ग के लोगों द्वारा इन्हें पसंद भी किया जाता है। लेकिन वास्तव में  जंक फूड स्वास्थ के लिए काफी हानिकारक होते हैं। इसलिए वह जितने आकर्षक दिखते हैं वास्त में अंदर से उतने ही विपरीत होते हैं। जंक फूड को कभी भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। जंक फूड स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बेकार होते हैं और वे व्यक्ति जो नियमित रुप से इनका सेवन करते हैंए वे बहुत सी बीमारियों को आमंत्रित करते हैं।

02-06-2020
रायपुर में अन्य राज्यों के फंसे श्रमिकों को उनके राज्य भेजने अधिकारियों को मिली जिम्मेदारी

रायपुर। अन्य राज्यों के प्रवासी मजदूरों के रायपुर जिले में फंसे होने और संबंधित राज्य जाने के लिए इच्छुक मजदूरों की जानकारी प्रमाणित रूप से जुटाने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। ऐसे श्रमिकों के आवागमन के संबंध में राज्य नोडल अधिकारी और संबधित राज्यों, जिलों के नोडल अधिकारियों से समन्वय करने का कार्य नियुक्त अधिकारी करेंगे। वे प्रवासी मजदूरों को उनके राज्य भेजने सभी व्यवस्था तय करेंगे। इसके लिए यूके कच्छप, सहायक श्रमायुक्त को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। सियाराम पटेल श्रम निरीक्षक को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। कार्य के पर्यवेक्षण के लिए संदीप कुमार अग्रवाल  संयुक्त कलेक्टर व अनुविभागीय दंडाधिकारी को नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारी जिले में फंसे हुए अन्य राज्यों के प्रवासी मजदूरों और संबंधित राज्य जाने के लिए वास्तविक रूप से इच्छुक मजदूरों की जानकारी संकलित और प्रमाणित कर संदीप कुमार अग्रवाल उपलब्ध कराने के लिए उत्तरदायी होंगे।

01-06-2020
बच्चों को स्वस्थ,सुपोषित और सुरक्षित जीवन देना सामूहिक जिम्मेदारी  

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 1 जून विश्व बाल सुरक्षा दिवस पर बच्चों के स्वस्थ और खुशहाल जीवन की कामना की है। उन्होंने कहा है कि बाल सुरक्षा दिवस वह अवसर है, जब हम बच्चों के लिए अपनी प्रतिबद्धता को फिर से दोहराते हैं। बच्चों को स्वस्थ, सुपोषित और सुरक्षित जीवन देना हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है। मुख्यमंत्री बघेल ने बच्चों को ढेर सारा प्यार देते हुए ईश्वर से अपनी कृपा बच्चों पर बनाए रखने की प्रार्थना की।

 

01-06-2020
आईजी प्रदीप गुप्ता को संचालक लोक अभियोजन की जिम्मेदारी, राज्य न्यायालिक विज्ञान प्रयोगशाला का अतिरिक्त प्रभार मिला

रायपुर। पुलिस महानिरीक्षक प्रदीप गुप्ता को संचालक लोक अभियोजन के पद पर पदस्थ किया गया है। छत्तीसगढ़ शासन गृह विभाग ने सोमवार को आदेश जारी कर आईजी प्रदीप गुप्ता को यह जिम्मेदारी सौंपी है। साथ ही साथ उन्हें राज्य न्यायालिक विज्ञान प्रयोगशाला छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया है। अवर सचिव डीपी कौशल के हस्ताक्षर से आदेश जारी किया गया है।

26-05-2020
महासमुंद की जिम्मेदारी कार्तिकेय गोयल को दी गई, होंगे जिले के नए कलेक्टर  

महासमुंद। प्रदेश में आज मंगलवार को बड़े पैमाने में प्रशासनिक फेरबदल किया गया है।  इसमें कार्तिकेय गोयल को बलौदाबाजार कलेक्टर से ट्रांसफर कर महासमुंद जिले का नया कलेक्टर बनाया गया है। कलेक्टर सुनील कुमार जैन को महासमुंद से ट्रांसफर कर बलौदाबाजार का नया कलेक्टर बनाया गया है।

 

20-05-2020
महापौर पहले अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी के साथ निभाएँ, फिर अपने लिए किसी स्थान की अपेक्षा रखें : संजय श्रीवास्तव

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने महापौर एजाज ढेबर के उस बयान सवाल उठाए हैं,जिसमें देशभर की स्वच्छता रैंक में रायपुर को शून्य अंक मिलने पर महापौर ने केंद्र सरकार पर पक्षपात का आरोप लगाया है। श्रीवास्तव ने कहा कि अपनी नाकामियों को ढंकने के लिए महापौर अब ऊलजलूल टिप्पणी कर रहे हैं। रायपुर को स्वच्छता रैंक  में स्थान नहीं मिलने पर महापौर का यह कहना हास्यास्पद है कि केंद्र सरकार ने कांग्रेस शासित निगम होने के कारण रायपुर के साथ पक्षपातपूर्ण रवैए के परिचय दिया है। यदि रैंक देने का यही मापदंड होता तो अंबिकापुर को कैसे स्वच्छता रैंक में गौरवपूर्ण स्थान मिल गया?श्रीवास्तव ने कहा कि महापौर ढेबर के कार्यकाल में राजधानी में स्वच्छता का आलम तो यह रहा है कि लोगों को पीने के लिए साफ पानी तक के लिए मुहाल होना पड़ रहा है एक तरफ कोरोना महामारी के भयावह दौर के बीच दूसरी तरफ राजधानी के हजारों लोग पीलिया और दीगर संक्रामक बीमारियों से जूझने के लिए विवश हो रहे हैं। श्रीवास्तव ने कहा कि महापौर पहले अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी के साथ निभाएं और राजधानी की नागरिक जरूरतों की आपूर्ति को दुरुस्त करें फिर अपने लिए किसी स्थान की अपेक्षा रखें।

 

19-05-2020
देश हम सभी का है तो ज़िम्मेदारी भी सभी की है : प्रकाशपुन्ज पाण्डेय

रायपुर। समाजसेवी व राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने वर्तमान स्थिति के मद्देनज़र मज़दूरों की इस हालत का कसूरवार केंद्र की मौजूदा मोदी सरकार को ठहराया है। उन्होंने कहा है कि नोटबंदी की तरह ही देश में लॉकडाउन का निर्णय भी पूर्णतः बिना तैयारी के लिया हुआ एक गैरजिम्मेदाराना कदम था,जिसका खामियाज़ा आज पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है। जब लॉकडाउन करना ही था तो मोदी सरकार को सबसे पहले सभी मंत्रियों से, उनके सलाहकारों से साथ ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के तमाम मुख्यमंत्रियों से सलाह लेनी थी। और भी उचित होता अगर पूर्व प्रधानमंत्रियों, पूर्व मंत्रियों, विपक्षी दलों, पत्रकारों और समाज के तमाम समाजसेवी व बुद्धिजीवी वर्ग की भी सलाह लेते। अगर जो ऐसा हुआ होता तो शायद देश में आज ऐसी विकट परिस्थितियाँ उत्पन्न ना होतीं और ना ही कोई किसी को दोष दे पाता।पाण्डेय ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था पहले से ही चरमराई हुई थी लेकिन लॉकडाउन के बाद यह और जर्जर हो चुकी है लोगों के पास पैसे नहीं है, खाने के लिए संसाधनों की कमी है। यही नहीं लोगों में कोरोनावायरस के कारण जो डर उत्पन्न हो गया है वह भी सबसे बड़ा कारण है कि आज देश में एक असमंजस की स्थिति बनी हुई है। किसी को नहीं समझ रहा है कि आगे ऐसे कब तक जीना पड़ेगा? ऐसे कब तक विपरीत परिस्थितियों में काम करना पड़ेगा?

अगर इन सब चीजों के बारे में पहले से ही डिजास्टर कंट्रोल की तैयारी की गई होती तो शायद यह दिन नहीं देखना पड़ता। उसके ऊपर मज़दूरों का मीलों पैदल चलना और देश के जगह-जगह से उनकी मौत की ख़बरें आना और पीड़ादायक है। दिल बैठ जाता है देख कर जब किसी मज़दूर की घर वापसी के दौरान मौत की खबर आती है। लेकिन इसी बीच कोरोना वायरस के प्रकोप पर भी कोई रोकथाम होती नहीं दिखती क्योंकि जब लॉकडाउन 1 किया गया था तब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 500 थी और अब वह बढ़कर एक लाख पहुंच चुकी है। यह अच्छी बात है कि उसमें से कई लोग ठीक भी हो रहे हैं, लेकिन उसके कारण लोग मर भी तो रहे हैं। आज भी यह प्रश्न बना हुआ है कि जब कोरोना वायरस की कोई दवा बनी ही नहीं है तो लोग ठीक कैसे हो रहे हैं इस बात को अगर सरकार समझाने में कारगर हो जाती तो शायद लोग और भी संभल जाते पर आज तिथि बहुत ही विकट बन चुकी है।

 

10-05-2020
23 मजदूरों के फरार होने के बाद सीआरपीएफ संभालेगी क्वॉरेंटाइन सेंटर की जिम्मेदारी

दंतेवाड़ा। जिले के अरनपुर क्षेत्र में स्थित बालक आश्रम क्वॉरेंटाइन सेंटर में आंध्रप्रदेश से आये आसपास के 46 मजदूरों को क्वॉरेंटाइन किया गया था। मौके का फायदा देखते हुए 23 मजदूर फरार हो गए। हालांकि 3 दिनों बाद ग्राम सचिव और स्वास्थ्य अमले ने गांव पहुंचकर फरार ग्रामीणों की तलाश कर उन्हें होम क्वारेंटाइन कर दिया गया। अब अरनपुर क्वारेंटाइन सेंटर की जिम्मेदारी सीआरपीएफ 111 वीं बटालियन ने ली है।सीआरपीएफ अब क्वारेंटाइन सेंटर में ग्रामीणों की देख रेख करेगी और उनका ख्याल रखेगी ताकि अब सेंटर से कोई फरार न हो सके। सीआरपीएफ के जवानों ने बालक आश्रम के क्वारेंटाइन सेंटर को सैनीटाइज भी किया। सीआरपीएफ ने ग्रामीणों को राहत सामग्री का वितरण किया।
सीआरपीएफ एक सौ ग्यारहवीं बटालियन के उप कमांडेंट विकास कुमार सिंह ने लोगों को क्वारेंटाइन का महत्व बताते कोरोना की रोकथाम के बारे में समझाया एवं परेशानी होने पर उन्हें दूर करने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान 111वीं बटालियन के सहायक कमांडेंट अमित सिंह ,अविनाश कुमार,विजय कुमार उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804