GLIBS
13-04-2021
निर्वाचन आयोग के फैसले के विरोध में धरने पर बैठी ममता बनर्जी, बनाई पेंटिंग

कोलकाता। प.बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर निर्वाचन आयोग ने 24 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया है। इसके बाद ममता बनर्जी धरना पर बैठ गई हैं। सीएम कोलकाता में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठी हैं और चुनाव आयोग के फैसले का विरोध कर रही हैं। गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठीं ममता बनर्जी ने यहां पेटिंग बनाई, पेंटिंग के बाद ममता बनर्जी ने लोगों को भी इसे दिखाया। बनर्जी पिछले महीने चोटिल होने के कारण व्हीलचेयर पर बैठकर पूर्वाह्न करीब 11 बजकर 40 मिनट पर यहां मायो सड़क पहुंचीं और उन्होंने परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के निकट बैठकर धरना शुरू किया। इस संबंध में सवाल किए जाने पर तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘प्रदर्शन स्थल के निकट किसी पार्टी नेता को जाने की अनुमति नहीं हैं। वह वहां अकेली बैठी हैं।’ आयोग ने बनर्जी के केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाले एक बयान के कारण 24 घंटे तक उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है। 

 

09-04-2021
खाद महंगी कर किसानों पर मोदी सरकार का एक और हमला : कांग्रेस 

रायपुर। खाद के दामों में बेतहाशा वृद्धि पर चिंता और कड़ा विरोध व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन और किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला ने संयुक्त बयान जारी किया है। उन्होंने मोदी सरकार से तत्काल खाद के दामों में बढ़ोत्तरी वापस लेने की मांग की है। पेट्रोल-डीजल महंगा होने के कारण पहले ही किसानों की खेतों की जुताई, मताई, कटाई, मिसाई की लागत कई गुना बढ़ चुकी है। ऐसे समय खाद महंगी कर मोदी सरकार ने किसानों के लिए दूबर पर दू असाढ़ की उक्ति चरितार्थ कर दी है। फसलों के समर्थन मूल्य में मोदी सरकार अत्यल्प बढ़ोत्तरी करके पहले ही किसानों की अर्थव्यवस्था बिगाड़ने में लगी है। मोदी सरकार ने समर्थन मूल्य की व्यवस्था को भी किसान विरोधी 3 काले कानून लाकर उजाड़ने में कोई कोरकसर नहीं छोड़ी है।

अब खाद के दाम बढ़ाकर भाजपा की केन्द्र सरकार किसानों को सड़क पर ला खड़ा करना चाहती है। खाद की कीमतों में 58 प्रतिशत वृद्धि होने पर प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि अनाज से सब्जियां तक महंगी होगी। 1 बोरी 50 किलो डीएपी की कीमत सन 2020 में 1200 रुपए प्रति बोरी मिलती थी। सन 2010 में 467.50 रुपए प्रति बोरी सुलभ मिलती थी। डीएपी की बोरी अब 1200 रुपए की जगह 1900 रुपए में मिलेगी। मोदी सरकार की यही जहर क्रांति योजना है। मोदी सरकार किसानों को बेहाल कर रही है।

03-04-2021
डीजे-साउंड सहित अन्य व्यवसाय से जुड़े लोग नाईट कर्फ्यू का कर रहे विरोध 

कोरबा। कोरोना संक्रमण को रोकने प्रशासन ने जिस तरह से नाईट कर्फ्यू लगाया है उसे लेकर डीेजे, साउंड, कैंटरिंग सहित अन्य व्यवसाय से जुड़े लोगों ने प्रदर्शन किया। कलेक्ट्रेट के सामने बड़ी संख्या मे परिवार सहित उपस्थित लोगों ने चक्काजाम की स्थिती निर्मित कर दी। आने जाने में लेागों को कठिनाईयों का समाना करना पड़ा। इस जाम से आम ही नहीं बल्की खास लोग भी परेशान हुए। इन व्यवसाइयों का कहना है कि लाॅकडाउन ने उनकी स्थिती पहले से ही खराब कर रखी है और अब नाईट कर्फ्यू ने उनकी स्थिती और बदहाल कर दी है। वे चाहते है कि प्रशासन कोई बीच का रास्ता निकाले जिससे उनके सामने रोजी-रोटी का संकट न खड़ा हो।

27-03-2021
युवती से कर रहे थे छेड़खानी, विरोध करने पर पीटा, मामला दर्ज

रायपुर। राजधानी से छेड़खानी का विरोध करने पर मारपीट का मामला सामने आया है। अलग-अलग थानों में मामला दर्ज कर लिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार गुढ़ियारी रायपुर निवासी 24 वर्षीय पीड़िता ने गुढ़ियारी थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि 26 मार्च को रात 10:30 बजे पीड़िता अपने परिचित के साथ घर जा रही थी। तभी पीछे से आकर कृष्णा यादव और छोटू ने उसका हाथ-बांह पकड़ लिया। जिसके बाद परिचित के विरोध करने पर उसके साथ गाली-गलौचकर मारपीट किया और घर के अंदर घुसकर बाइक का चाबी निकालकर ले गए। इसी तरह विधानसभा थाने में 23 वर्षीय पीड़िता ने शिकायत दर्ज कराई है कि 26 मार्च को दोपहर 3 बजे पीड़िता के घर में घुसकर जितेन्द्र महानंद ने बेईज्जत करने की नियत से हाथ-बांह पकड़ लिया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देकर मारपीट किया। दोनों मामलों में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ 354, 354 क, 294, 506, 323, 451, 34 और 454, 394, 506, 323, 354 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

26-03-2021
लाखों डोज वैक्सीन आकर पड़ी रही और स्वास्थ्य मंत्री ने वैक्सीन का विरोध कर वैक्सीनेशन पर रोक लगा दी थी : बृजमोहन

रायपुर। भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ में कोरोना के व्यापक संक्रमण के लिए सरकार को जवाबदेह ठहराया। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से बदहाल प्रदेश में सरकार ने कोरोना को भी पैसा उगाही का माध्यम बना दिया है। प्रदेशवासियो के जीवन पर बात आ गई, उसकी चिंता करने बजाय पूरी सरकार असम में जाकर बैठी है। अग्रवाल ने कहा कि कोरोना के इलाज व इन्फ्रास्ट्रक्चर के नाम पर प्रदेश सरकार ने शराब पर सेंश लगाकर लगभग 600 करोड़ रूपये वसूले है। इसमें से एक भी रूपया कोरोना काल में न तो इन्फ्रास्ट्राचर पर खर्च किया गया और ना ही कोरोना के ईलाज के नाम पर खर्च किया गया। सरकार चाहती तो इन पैसो से एक साल के अंदर कोविड-19 के लिए बड़े बड़े हाॅस्पीटल व सुविधाएं तैयार कर सकती थी, पर सरकार 600 करोड़ कमाई कर सोई रही।

अग्रवाल ने कहा कि सरकार गरीब जनता को जागरूक कर मास्क व सेनिटाइजर बांटने के बजाय, ‘मास्क लगाने’ को प्रोत्साहित व अनिवार्य करने के बजाय 500/- की वसूली चालू कर दी है एवं पैसा कमाने का नया व्यवसाय चालू कर दिया है। अग्रवाल ने कहा कि केन्द्र सरकार से कोविड-19 के वैक्सीन के लाखों लाख डोज सरकार को प्राप्त हुआ, सरकार व स्वास्थ्य मंत्री ने सिर्फ केन्द्र सरकार से दुर्भावना के चलते इस वैक्सीन को खतरा बताते हुए जहां बयान दिया व समय पर उपयोग में नहीं लिया, अगर इस वैक्सीन का समय रहते उपयोग किया जाता तो लाखों लोग संक्रमण से बच सकते थे। देश के अनेक हिस्सों में व विदेशों में, स्वयं प्रधानमंत्री उस वैक्सीन का उपयोग कर रहे थे और प्रदेश का वैज्ञानिक स्वास्थ्य मंत्री इसका विरोध कर प्रदेश की जनता को खतरे की ओर ढकेल रहे थे। अग्रवाल ने कहा कि सरकार की लापरवाही के चलते व जनता के जीवन से खिलवाड़ करने की मानसिकता के चलते ही आज हम 22 करोड़ वाले उत्तरप्रदेश सहित बिहार, मध्यप्रदेश, तमिलनाडू से आगे निकलकर अब देश के पांचवे एक्टिव मरीजों वाले राज्य बन गए है। कोरोना के कुल मामले में हम राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश, बिहार व पंजाब जैसे बड़े-बड़े राज्यों को पछाड़कर 11वें पायदान में पहुंच गए है। सरकार की लापरवाही के चलते मौत के मामले में भी हम 11वें पायदान पर खड़े हैं। अग्रवाल ने कहा कि सरकार ने 50-50 हजार लोगों के इकट्ठा कर क्रिकेट मैच करवाया, आज उसी का परिणाम है कि छत्तीसगढ़ कोरोना के हाॅट स्पाॅट बन गया है। अस्पताल में बिस्तरों की कमी पड़ रही है। पूरे प्रदेश में धारा 144 लगा है 4 लोग इकट्ठे नहीं हो सकते पर शराब दुकानों में जो शासकीय संस्थान है,जहां धारा 144 तोड़कर हजारों का मेला लगा है और सरकार आंख मूंदकर बैठी है।

 

24-03-2021
विद्यामितानों ने नौकरी से निकाले जाने के विरोध में मंत्री बंगले के बाहर की नारेबाजी

रायपुर। विद्यामितान यानी अतिथि शिक्षकों ने बुधवार को रायपुर में नौकरी से निकाले जाने के विरोध में प्रदर्शन किया। विद्यामितानों ने आरोप लगाया कि मंत्री रविंद्र चौबे ने विद्यामितान को नौकरी से निकाले जाने के आदेश को गलत बताते हुए उनसे वादा किया था कि एक भी विद्यामितान को नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। अब उनकी जगह नियमित शिक्षकों की नियुक्ति की जा रही है। सरकार ने अब तक ऐसे 700 से अधिक विद्यमितानो को नौकरी से निकाल दिया है। बता दें कि विद्यामितानों ने स्कूल शिक्षा मंत्री के बंगले के बाद कृषि मंत्री रविंद्र चौबे के निवास पहुंचकर नारेबाजी की।

 

 

20-03-2021
बठेना की घटना के मंडल स्तरीय विरोध के बाद 21 मार्च को भाजपा देगी धरना

रायपुर। भाजपा ने छत्तीसगढ़ अपने तय कार्यक्रमों के तहत लगातार राज्य सरकार के खिलाफ आक्रमकता के साथ जनता से जुड़े विषयों, लचर कानून व्यवस्था और वादाखिलाफी जैसे विषयों को उठा रही हैं। भाजपा छत्तीसगढ़ ने बीते दिनों पाटन विधानसभा अंतर्गत अनुसूचित जाति परिवार के 5 पांच लोगों की हत्या को ले कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग करते हुए प्रदेशव्यापी आंदोलन किया और प्रदेशभर में मंडल स्तर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला जलाकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने न्याय की मांग की। भाजपा कार्यकर्ता प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था को लेकर आक्रोशित हैं और लगतार प्रदेश सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रहे हैं। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी 21 मार्च को प्रदेशव्यापी जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन करने जा रही हैं। राजधानी रायपुर सहित सभी जिलों में भाजपा का धरना होगा। राजधानी के धरना स्थल बूढ़ा तालाब में भाजपा नेता और कार्यकर्ता धरने पर बैठेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कार्यकर्ताओं को 17 मार्च को प्रदेश सरकार की लचर कानून व्यवस्था के खिलाफ भाजपा के मंडल स्तरीय धरना प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए धन्यवाद दिया हैं और बधाई देते हुए 21 मार्च के प्रदर्शन को सफल बनाने अधिक से अधिक संख्या में जुटने की अपील की हैं। उन्होंने कहा कि बीते दो सवा दो वर्षों में प्रदेश में अपराध का ग्राफ बढ़ गया हैं जिसपर प्रदेश सरकार का कहीं कोई नियंत्रण नजर नहीं आता। प्रदेश में बढ़ते अपराध से पूरे प्रदेश में भय का वातावरण निर्मित हो चुका हैं आज छत्तीसगढ़ अपराध का गढ़ बन चुका हैं और नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का वादा करने वाले मौन हैं, चुनाव प्रचार और राजनीति में व्यस्त हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि बठेना जैसी घटना प्रदेश सरकार की लचर कानून व्यवस्था की पोल खोलती हैं। भाजपा का एक एक कार्यकर्ता अब सड़क पर आ गया हैं और लड़ाई लड़ने तैयार हैं पर दुर्भाग्यपूर्ण यह हैं कि हमारी लड़ाई उन कांग्रेस के नेताओं से है जो अब होगा न्याय का नारा दे कर छत्तीसगढ़ को अपराध गढ़ बनते दरख रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ता छत्तीसगढ़ की जनता के लिए प्रदेश सरकार से न्याय की मांग करेंगे और पूछेंगे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी सरकार से कब होगा न्याय?

 

17-03-2021
अस्पताल का नाम बदले जाने के विरोध में भाजपा ने फूंका मुख्यमंत्री और सांसद का पुतला

कोंडागाँव। जगदलपुर मेडिकल कालेज सह अस्पताल का नामकरण स्व. बलिराम कश्यप से बदल कर शहीद महेंद्र कर्मा स्मृति चिकित्सालय डिमरापाल के रूप में नामकरण कर दिया गया है। इसके विरोध में बुधवार को केशकाल भाजपा मण्डल ने कांग्रेस की आदिवासी विरोधी नीति के खिलाफ सीएम भूपेश बघेल व सांसद दीपक बैज का पुतला दहन किया। भाजपा मंडल अध्यक्ष रामेश्वर उसेंडी ने कहा कि कांग्रेस सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए भाजपा सरकार के द्वारा पिछले 15 वर्षों के कार्यकाल में किये गए विकास कार्यों का नाम बदल कर अपना बता रही है।

भाजपा सरकार ने बस्तर संभाग के एकमात्र मेडिकल कालेज का निर्माण बस्तर के विकासपुरुष स्व. बलिराम कश्यप की स्मृति में बनवाया था। उसे भी वर्तमान बस्तर संसद दीपक बैज व प्रदेश में बैठी कांग्रेस सरकार ने नाम बदल कर स्व.महेंद्र कर्मा के नाम पर रखते हुए अपनी आदिवासी विरोधी नीति का उदाहरण दिया है। इसके कारण बस्तर के आदिवासियों की भावनाएं आहत हुई हैं। इसी के विरोध में आज प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के आदेशानुसार भाजपा मण्डल केशकाल द्वारा बस स्टैंड में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व सांसद दीपक बैज का प्रतीकात्मक पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं व पुलिस के बीच झूमाझटकी भी हुई। प्रदर्शन में भाजपा जिला महामंत्री आकाश मेहता, मंडल अध्यक्ष रामेश्वर उसेंडी, नवल मरकाम, विजय पोया, नवदीप सोनी, अजय सिंह ठाकुर, धरम राणा, नारायण ठाकुर, भूपेश सिन्हा, सत्येंद्र भेड़िया, वीरेंद्र बघेल, महेंद्र रामटेके, राजकिशोर राठी, धनराज पटेल, मनीष राठी, विवेक चौबे, कमला नेताम, गीता ध्रुव, हर्ष मिश्रा समेत भाजपा के कई पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

17-03-2021
अनुसूचित जनजाति के पांच लोगों की हत्या के विरोध में बैकुंठपुर और सोनहत मंडल में भाजपा ने किया पुतला दहन

कोरिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पाटन विधानसभा क्षेत्र में अनुसूचित जाति के एक  परिवार के  5 लोगों के हत्या के विरोध में प्रदेश संगठन के आह्वान पर भारतीय जनता पार्टी जिला कोरिया के जिलाअध्यक्ष  कृष्णबिहारी जायसवाल के नेतृत्व में सम्पूर्ण कोरिया जिले के विभिन्न मंडलों मे मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। बैकुंठपुर मंडल मे घड़ी चौक में किए गए कार्यक्रम में मुख्य रूप से भाजपा जिला अध्यक्ष कृष्णबिहारी जायसवाल, जिला किसान मोर्चा प्रभारी राकेश तिवारी, जिला महामंत्री जमुना पाण्डेय, जिला उपाध्यक्ष देवेंद्र तिवारी,शैलेश शिवहरे,वीरेंद्र राणा,जिला कोषाध्यक्ष राहुल सिंह,मंडल अध्यक्ष भानुपाल, युवा नेता शारदा गुप्ता, किसान मोर्चा ज़िलाध्यक्ष विनोद साहू, महामंत्री श्यामबिहारी जायसवाल, महिला मोर्चा जिला कोषाध्यक्ष रेखा सिंह , अनुसूचित जाती मोर्चा सुशील मलिक, हर्षल गुप्ता, सतेंद्र राजवाड़े,अभिनेंद्र चंदेल , आशीष मज़ूमदार सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।
सोनहत मंडल मुख्यालय सोनहत में किए गए पुतला दहन कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष ईश्वर राजवाड़े  के नेतृत्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन किया गया। इसमें मुख्य रूप मंडल उपाध्यक्ष मनीलाल सोंपाकर, मंडल महामंत्री  केपी सिंह,  मनोज साह, प्रकाश राजवाड़े, रमेश तिवारी ,  राजेंद्र साहू ,   समय लाल , विक्की सारथी , मनेजर ,  चैन राजवाड़े , श्रीपत गुप्ता , परमेश्वर प्रजापति , हीरा लाल , दीलिप राजवाड़े , राहुल चौधरी , रवि शर्मा  नीरज पटेल ,डाकून राजवाड़े टिकेश्वर राजवाड़े , नीरज पैकरा , सूरज राजवाड़े , सुरेश राजवाड़े , सूरज राजवाड़े , अनिल यादव , संदीप यादव , विवेक साहू ,दीलिप साहू ,कृष्णा साहू  बब्लू कुर्रे  अश्वनी पड़वार , संदीप राजवाड़े ,सोनू पटेल , नरेंद्र राजवाड़े , उमेश गुप्ता , कपिल जश, रामु राजवाड़े आदि उपिस्थत थे।

16-03-2021
शादीशुदा महिला के घर घुसकर कर रहा था अश्लील हरकत, विरोध करने पर मारा चाकू

रायपुर। शादीशुदा महिला के घर में घुसकर अश्लील हरकत करने वाले सिरफिरे युवक का विरोध करने पर चाकू से हमला कर दिया। मामला तिल्दा-नेवरा थाना क्षेत्र के ग्राम तुलसी का है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम तुलसी में अज्ञात आरोपी ने 32 वर्षीय शादीशुदा महिला के घर घुसकर छेड़खानी की। महिला के विरोध करने पर सिरफिरे आरोपी ने चाकू से वार कर लहूलुहान कर दिया। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ छेड़खानी सहित हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है।

10-03-2021
खट्टर सरकार पर छाया संकट, कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस सदन में पेश करेगी अविश्वास प्रस्ताव

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के लिए बुधवार का दिन  बेहद खास है। क्योंकि केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के विरोध में आज कांग्रेस सदन में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रही है। इसके लिए पार्टी ने पूरी तैयारी कर ली है। नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने तीन कृषि कानूनों के विरोध में ये अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है, जिससे साफ हो जाएगा कि कौन सा विधायक सरकार के साथ खड़ा है और कौन किसानों के साथ। कृषि बिलों के खिलाफ सदन ही नहीं, सड़क पर भी संग्राम छिड़ा हुआ है। किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हैं तो कांग्रेस सत्ता पक्ष को घेर रही है। हरियाणा में कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और कांग्रेस विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला रही है। कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव के बाद बीजेपी ने सभी विधायकों को व्हिप जारी किया है। इसका मतलब है कि बीजेपी के विधायकों को ना सिर्फ सदन में मौजूद रहना होगा बल्कि पार्टी के साथ खड़ा भी रहना होगा। इससे इतना तो साफ है कि अविश्वास प्रस्ताव की वजह से मनोहर सरकार में भी खलबली मची हुई है। जननायक जनता पार्टी के चार विधायकों के तीखे तेवर ने जजपा और उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला की टेंशन बढ़ा दी है। टोहाना से जजपा के विधायक देवेंद्र बबली ने तो मंगलवार शाम कह दिया कि वह अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर पार्टी के व्हिप का पालन करेंगे, लेकिन दुष्‍यंत चौटाला से कहेंगे कि इस सरकार से अलग हो जाएं। अब जनता के बीच जाना मुश्किल हो गया है। विधानसभा में भी सोमवार को टोहाना से जजपा विधायक देवेंद्र बबली ने कृषि कानूनों को लेकर अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए थे। विधानसभा में मंगलवार को बरवाला से जजपा विधायक जोगीराम सिहाग, नारनौंद के विधायक रामकुमार गौतम और गुहला से विधायक और जजपा विधायक दल के उपनेता ईश्वर सिंह ने तीखे सवाल उठाकर अपनी पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804