GLIBS
19-09-2020
नाबालिग से अनाचार करने वाले दो युवकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार 

मुंगेली। घर में अकेले देख नाबालिग लड़की से अनाचार करने वाले दो युवकों को पुलिस ने 12 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अुनसार पीड़िता के पिता अपने ससुराल गए हुए थे। घर में उनकी 3 लड़कियां थी, जिसमें से एक नाबालिग है। इस दौरान बीती रात आरो​पी जितेन्द्र साहू और उमेन्द्र साहू दोनों घर के अंदर घुसे और पीड़िता को घर से बाहर ले जाकर दुष्कर्म किया। पिता के घर आने पर पीड़िता ने आपबीती सुनाई, जिस पर तत्काल प्रार्थी ने थाना सिटी कोतवाली पहुंक कर दोनों आरोपियों के खिलाफ रिपार्ट दर्ज कराई। पुलिस ने दोनों आरोपियों के विरूद्ध पॉक्सो एक्ट कायम कर विवेचना में लिया। पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार कुजूर के निर्देशानुसार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेश्वर चंदेल एवं एसडीओपी तेजराम पटेल के मार्गदर्शन में दोनों आरोपियों को ग्राम निरजाम से 12 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर न्यायालय में पेश किया।

17-09-2020
खून से लथपथ मिली वृद्ध की लाश,गांव में फैली सनसनी

कोरबा। पाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बाँधाखार में गुरुवार को पानी टंकी मोहल्ला के एक घर के अंदर में खून से लथपथ लाश मिलने से गांव में सनसनी फैल गई। मृतक का नाम चमरा सिंह गोंड 60 वर्ष की बताई जा रही है। वही गांव का युवक,जो मृतक के पड़ोस में रहता है वो भी चोटिल हालात में घर के बाहर मिला है। शिव सिंह 30 वर्ष के गले एवं नाक मुंह में चोट का निशान है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की जानकारी पाली पुलिस को दी गई है। पुलिस के अनुसार बुधवार की रात को मृतक और गांव के कुछ युवक पार्टी मना रहे थे। जहाँ इनके बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ। हालांकि पुलिस शिव से अब तक पूछताछ नही की है। डॉग स्क्वाड को भी मौके पर बुलाया गया। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

 

16-09-2020
घर-घर जाकर उचित खानपान का महत्व समझा रही है आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, किशोरी बालिकाओं व गर्भवती महिलाओं को

रायपुर। प्रदेश में बीते 1 सितंबर से पोषण माह मनाया जा रहा है। 30 सितंबर तक चलने वाले इस पोषण माह के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से जनसामान्य के लिए विभिन्न प्रकार के जन-जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से घर-घर जाकर किशोरी बालिकाओं,गर्भवती महिलाओं को उचित खान-पान का महत्व समझाया जा रहा है। इस दौरान पौष्टिक पदार्थों से रंगोली,वाद-विवाद,निबंध लेखन जैसे कई ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन भी जिला स्तर पर किया जा रहा है। पोषण माह के दौरान प्रदेश के दूरस्थ और वनांचल क्षेत्रों में कुपोषण की अधिकता को देखते हुए प्रमुखता से गर्भवती और शिशुवती महिलाओं और उनके परिवारों को  छोटे बच्चों की समुचित देखभाल और बच्चे के साथ मां की पोषण और स्वास्थ्यगत जरूरतों के बारे में बताया जा रहा है।

विभाग के मैदानी अमले द्वारा बच्चे के शुरूआती 1000 दिनों का महत्व बताते हुए शिशुवती महिलाओं को स्तनपान कराने के लिए जागरूक किया जा रहा है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों में अल्प पोषण, कम वजनी बच्चों के जन्म तथा किशोरी बालिकाओं, गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं तथा बच्चों में रक्त की कमी को दूर करना है। इस दौरान बच्चों की ऊंचाई, किशोर लड़कियों और गर्भवती माताओं के वजन की जांच भी की जा रही है और कमजोर पायी गयी किशोरी लड़कियों एवं महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी भी दी जा रही है। गर्भवती माताओं व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को विशेष स्वास्थ्य सलाह भी देने का काम किया जा रहा है। पोषण माह के तहत स्वच्छता, स्वस्थ आदतें, पोषण और स्वच्छता प्रचार गतिविधियों के महत्व के बारे में भी बताया जा रहा है।

 

15-09-2020
घर में ही मौजूद है पोषण के सारे आहार, गृह भ्रमण और बैठकों के माध्यम से दी जा रही जानकारी

रायपुर। प्रदेश में महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय पोषण माह के तहत शिशुवती माताओं को पौष्टिक आहार के साथ-साथ पौष्टिक आहार बनाने की सीख भी मिल रही है । साथ ही गर्भवती महिलाओं को गर्भ में पल रहे शिशु की उचित देखभाल के साथ स्वस्थ शिशु के लिए किन पौष्टिक आहार का उपयोग करना है के बारे में भी गृह भ्रमण और बैठकों के माध्यम से जानकारी दी जा रही है। इसी कड़ी में विकाखण्ड अभनपुर के सेक्टर तोरला की ग्राम पंचायत टीला में आंगनबाड़ी क्रमांक 1 से 4 तक में कई गतिविधियों का आयोजन किया गया।  इस दौरान शिशुवती माता जानकी निराला कहती हैं, मुनगा फली हमारे घर के आंगन और खेत में लगी हुई है लेकिन उसके महत्व के बारे में हमें नहीं पता था । ग्राम में चल रहे राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान पौष्टिक आहार की जानकारी आंगनबाड़ी दीदी से मिली। दीदी ने बताया इसकी पत्तियों में प्रोटीन विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई, आयरन, मैग्नीशियम पोटेशियम, जिंक जैसे तत्व पाये जाते हैं। इसकी फली में विटामिन ई और मुनगा की पत्ती में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। मुनगा में एंटी ओग्सिडेंट बायोएक्टिव प्लांट कंपाउंड होते हैं। यह पत्तियां प्रोटीन का भी अच्छा स्रोत है। एक कप पानी में 2 ग्राम प्रोटीन होता है। यह प्रोटीन किसी भी प्रकार से मांसाहारी स्रोत से मिले प्रोटीन से कम नहीं है क्योंकि इसमें सभी आवश्यक एमिनों एसिड पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं ।

वहीं 6 माह की गर्भवती सुजाता कहती हैं कि गृह भेंट के दौरान आंगनबाड़ी और मितानिन दीदी ने बताया कि गर्भवती महिलाओं और उनके बच्चे के लिए मुनगा भाजी कितना लाभकारी है। बच्चा हो जाने के उपरांत दूध पिलाने वाली मां के लिए भी मुनगा भाजी अमृत के समान है । दीदी ने बताया मुनगा की पत्ती को घी में गर्म करके प्रसूता स्त्री को दिए जाने का पुराना रिवाज है। इससे दूध की कमीं नहीं होती और जन्म के बाद भी कमजोरी और थकान का भी निवारण होता है। साथ ही बच्चा भी स्वस्थ रहता है और वजन भी बढ़ता है। मुनगा में पाये जाने वाला पर्याप्त कैल्शियम किसी भी अन्य कैल्शियम पूरक से कई गुना अच्छा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करुणा सोनी ने बताया विभाग द्वारा विभिन्न गतिविधियां का आयोजित किया जा रहा है। ग्राम में सुपोषण के बारे में जागरूकता लाने के लिए स्कूली बच्चों के सहयोग से चित्रकारी, स्लोगन तथा रंगोली द्वारा संदेश बनवाये गये और व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भी पोषण से संबंधित जागरूकता संदेश दिए जा रहे हैं। 

ग्राम में सुपोषण चौपाल कृषक बैठक का भी आयोजन किया जा रहा है। सुपोषण चौपाल में पौष्टिक आहार से संबंधित जानकारियां दी जा रही है। सुपोषण से संबंधित इन रचनात्मक गतिविधियों के द्वारा महिलाओं तथा बच्चों मे सुपोषण के बारे मे जागरूकता लाई जा रही है। ऐसी बैठकों के माध्यम से ग्राम पंचायत द्वारा मुनगा, केला, आम और सब्जी भाजी के पेड़ एवं बीजों का वितरण भी किया जा रहा है। चौपाल और कृषक बैठक के माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा, शारीरिक दूरी अपनाकर कृषि कार्यों के साथ-साथ हाथ को अच्छे से धोना । जगह-जगह गुटका खा कर थूकने से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है ।कोरोना महामारी के इस दौर मे कोविड-19 के संबंधित गाइड लाइन का पालन कर सभी गतिविधियां सम्पन्न की जा रही है। सुपोषण के बारे मे जागरूकता लाने तथा बच्चों, महिलाओं को कुपोषण से बचाने के चित्रकारी, सुपोषण से संबंधित स्लोगन तथा रचनात्मक चित्रकारी को बच्चों के साथ बड़े भी रूचि लेकर सुपोषण का महत्व समझ रहे हैं। बच्चों तथा महिलाओं को कुपोषण से मुक्ति दिलाने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर पौष्टिक आहार “रेडी टू ईट” का वितरण किया भी किया जा रहा है।

14-09-2020
सर्विलेंस दल कर रहे घर-घर जाकर सर्वेक्षण,कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए दे रहे परामर्श

बीजापुर। जिले कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए एक्टिव सर्विलेंस दलों द्वारा घर-घर जाकर सर्दी, खांसी, बुखार आदि लक्षण वाले व्यक्तियों का सर्वेक्षण करने सहित उनका स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है। इसके साथ ही अन्य प्रांत या जिलों से आने वाले लोगों का सर्वेक्षण किया जा रहा है तथा उक्त लक्षण वाले व्यक्तियों का कोरोना जांच किया जा रहा है। इसी कड़ी में जिले में कुल 2281 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया,जिसमें 160 लोगों में सर्दी, खांसी तथा बुखार के लक्षण पाए गए। इन सभी लोगों का जांच कर उन्हे दवाई उपलब्ध कराई गई। एक्टिव सर्विलेंस दलों द्वारा नगरपालिका परिषद बीजापुर में 138, नगरपंचायत भैरमगढ़ में 74 तथा नगर पंचायत भोपालपटनम में 32 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया। वहीं भोपालपटनम ब्लाक में 329, बीजापुर ब्लाक में 180, भैरमगढ़ में 1429 तथा उसूर ब्लाक में 333 परिवारों का डोर-टू-डोर सर्वे किया गया। उक्त सर्वेक्षित सभी परिवारों के लोगों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए परामर्श दिया गया । जिला अस्पताल बीजापुर सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भोपालपटनम, आवापल्ली, गंगालूर, भैरमगढ़ और नेलसनार में कोविड-19 की जांच की जा रही है। इसके साथ ही जिले के प्रत्येक ब्लाक में दो-दो मोबाइल टीम के द्वारा कोविड-19 का परीक्षण किया जा रहा हैं।

 

13-09-2020
सर्विलांस दल कर रहा घर घर जाकर स्वास्थ्य जांच,सर्दी, खांसी और बुखार से पीड़ितों को दे रहा दवाई

बीजापुर। जिले कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा घर-घर जाकर सर्दी, खांसी, बुखार आदि लक्षण वाले व्यक्तियों का सर्वेक्षण करने सहित उनका स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है। इसके साथ ही अन्य प्रांत या जिलों से आने वाले लोगों का सर्वेक्षण किया जा रहा है तथा उक्त लक्षण वाले व्यक्तियों की कोरोना जांच की जा रही है। इसी कड़ी में जिले में कुल 4660 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया, जिसमें 181 लोगों में सर्दी, खांसी तथा बुखार के लक्षण पाये गये। इन सभी लोगों का जांच कर उन्हें दवाई उपलब्ध करायी गयी। एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा नगरपालिका परिषद बीजापुर में 590, नगरपंचायत भैरमगढ़ में 99 तथा नगर पंचायत भोपालपटनम में 66 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया। वहीं भोपालपटनम ब्लाक में 1753, बीजापुर ब्लाक में 392, भैरमगढ़ में  1345 तथा उसूर ब्लाक में 415 परिवारों का डोर-टू-डोर सर्वे किया गया। उक्त सर्वेक्षित सभी परिवारों के लोगों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए परामर्श दी गई।

कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम सम्बन्धी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने का आग्रह जनसाधारण करते हुए कहा है कि जिले के किसी भी नागरिक को सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत आदि लक्षण दिखायी देने पर तुरंत अस्पताल पहुंच कर कोरोना की जांच करायें। कोरोना वायरस के अन्य लक्षण भी संक्रमित होने के बाद आमतौर पर 2 दिन से लेकर 14 दिन के भीतर उभरने लगते हैं,जिसमें बुखार या ठंड लगना, थकान, शरीर में दर्द, सिर दर्द, स्वाद व सुगंध का न आना, गले में खराश, नाक बहना, उल्टी एवं दस्त का होना भी कोरोना वायरस के लक्षण हैं। इस प्रकार के लक्षण दिखायी देने पर तुरंत नजदीकी कोरोना जांच केन्द्र में पहुंचकर कोरोना जांच करायें। कोरोना संक्रमण से मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, बचाव ही सबसे आसान तरीका है। इस दिशा में मास्क पहनें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। भीड़ वाले जगहों में जाने से बचें और सजगता के साथ अपने आप का बचाव करें। कोरोना के लक्षण दिखायी देने पर बिना किसी भय के तत्काल अपना परीक्षण अवश्य करवायें।

13-09-2020
घर में घुसकर बुजुर्ग की हत्या, पुलिस कर रही आरोपियों की तलाश

रायपुर/जगदलपुर। जिले के नगरनार थाना क्षेत्र के माड़पाल में शुक्रवार की रात अज्ञात हत्यारों ने घर में घुसकर एक बुजुर्ग की हत्या कर दी। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए आरोपियों की पतासाजी में जुट गई है। नगरनार टीआई शिवशंकर गेंदले ने बताया कि माड़पाल निवासी हरिलाल दास के घर में शुक्रवार की रात 7 बजे कुछ अज्ञात लोग बैल ढूंढने के बहाने पंहुचकर उन लोगों ने हरिलाल के सर पर लकड़ी के बत्ते से हमला कर दिया, इस हमले में हरिलाल की मौके पर ही मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी फरार हो गए। पुलिस ने रात में ही बुजुर्ग के शव को पीएम के लिए मेकॉज भिजवा दिया, जिसका पीएम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया है। पुलिस अपराध पंजीबद्ध करते हुए हत्या के अज्ञात आरोपियों की तलाश कर रही है।

09-09-2020
घर में कुछ नहीं मिला तो चोरों ने पीतल के सामानों पर किया हाथ साफ, पकड़े गए

दुर्ग। घर में घुसकर चोरी करने वालों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मामला थाना पाटन का है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 8 सितंबर को प्रार्थी युवती ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि दो अज्ञात व्यक्ति दोपहर घर में घुसकर दो पीतल की गंजी,घड़ा और अन्य पीतल के सामान चोरी करके भाग गए। प्रार्थिया की रिपोर्ट पर थाना पाटन में अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। थाना पाटन टीम ने पतासाजी कर आरोपी महेंद्र ठाकुर निवासी अचौद और मानसिंह ठाकुर निवासी बोरगहन को घेराबंदी कर पकड़ा। इनके पास से चोरी किए गए सामानों को जब्त किया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया।

 

08-09-2020
डेंगू का सफाया करने जोन-4 के 23735 घरों में निगम की टीम दे चुकी है दस्तक

भिलाई। नगर पालिक निगम का स्वास्थ्य विभाग मौसमी बीमारी की रोकथाम के लिए जोन स्तर पर विशेष सफाई अभियान चला रही है। महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेन्द्र यादव, कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश के अनुसार टीम डेंगू नियंत्रण को लेकर सजगता से कार्य कर रही है। साथ ही डोर टू डोर टेमीफास दवा का वितरण कर मच्छर के लार्वा को नष्ट करने के उपाय बताए जा रहे है। मंगलवार को जोन-4 वीर शिवाजी नगर खुर्सीपार के जनस्वास्थ्य विभाग के सफाई कामगारों की टीम ने डेंगू नियंत्रण को लेकर वार्ड 30 बालाजी नगर क्षेत्र में विशेष अभियान चलाया। 320 घरों के कूलर, गमला और टंकी की जांच पड़ताल कर दवा का छिड़काव किया गया। सड़क, नालियों की सफाई के साथ ही  कोरोना की रोकथाम के लिए मकान और दुकान को सैनिटाइज भी किया गया।

टेमीफास् की रिफिलिंग कार्य जारी

जोन-4 के घरों में टेमीफास् का वितरण घर-घर किया गया है, पुनः घरों का सर्वे कर टेमीफास्ट का वितरण किया जा रहा है! शिवाजी नगर के वार्डों में सड़क, नालियों की रूटीन सफाई के साथ ही जमे हुए पानी में जला आयल, कचरा हटाने के बाद ब्लीचिंग पावडर का छिड़काव और मच्छर के लार्वा को नष्ट करने के लिए टेमीफास दवा की रिफिलिंग का कार्य चल रहा है। इस कार्य में वार्ड के स्वच्छता गैंग के सफाई कामगार भी कार्य कर रहे हैं। जोन के स्वास्थ्य अधिकारी महेश पांडे ने बताया कि निगम प्रशासन की मुस्तैदी से कार्य करने के कारण इस वर्ष शिवाजी नगर क्षेत्र में डेंगू के पेशेंट नहीं मिले हैं!

23735 घरों में टीम दे चुकी है दस्तक

जोन स्वास्थ्य विभाग की टीम 18 मार्च 2020 से 5 सितंबर 2020 तक जोन 4 के अंतर्गत वार्ड -28 से वार्ड 39 के 23735 घरों में दस्तक दे चुकी है। 21068 कुलर की जांच व दवा डालकर सफाई करवाया जा चुका है। 23735 घरों में टेमीफास दवा की बोतल का वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त पीलिया से बचाव के लिए 19137 घरों में 192000 क्लोरीन टेबलेट और मौसमी बीमारी से बचाव के लिए जन जागरूकता के तहत 6630 नग पाम्पलेट का वितरण किया जा चुका है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804