GLIBS
31-07-2020
टीवी एंकर ने की फांसी लगाकर खुदकुशी, नहीं मिला सुसाइड नोट

नई दिल्ली। दिल्ली के वेलकम इलाके में शुक्रवार को एक टीवी एंकर ने अपने घर में फांसी लगा कर खुदख़ुशी कर ली। सुसाइड करने वाली टीवी एंकर का नाम प्रियंका जुनेजा बताया जा रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। फिलहाल प्रियंका के शव को पोस्टमार्टम के बाद उनके परिजनों को दे दिया गया है और पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। बताया जा रहा है कि प्रियंका जुनेजा हरियाणा के एक प्राइवेट न्यूज़ चैनल में काम करती थी। उससे पहले भी प्रियंका कई मीडिया हाउस में काम कर चुकी थी। पुलिस परिवारीजनों से पूछताछ कर रही है। मौजूदा वक्त में वह हरियाणा के एक यूट्यूब चैनल में एंकर के रूप में कार्यरत थीं। शुरुआती जांच में पता चला है प्रियंका अपनी नौकरी को लेकर काफी परेशान थी।

 

 

14-06-2020
इमोशनल कविता लिखकर सुशांत सिंह राजपूत ने मां के लिए लिखी थी आखिरी पोस्ट

मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने खुदखुशी कर ली है। एक्टर के निधन से इस वक्त पूरी फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहौल है। सुशांत सिंह राजपूत सोशल मीडिया पर पिछले कुछ समय से एक्ट‍िव थे। उनका आखिरी पोस्ट अपनी मां के नाम है। उन्होंने अपनी मां को याद करते हुए अंग्रेजी में एक बेहद इमोशनल कविता लिखी थी। यह पोस्ट 3 जून की है। सुशांत ने अपने पोस्ट में लिखा था, 'आंसुओं से वाष्पित होता अतीत... मुस्कुराहट के एक आर्क को उकेरते सपने...और एक क्षणभंगुर जीवन... दोनों के बीच बातचीत... मां।' बता दें कि सुशांत की मां का देहांत बहुत पहले हो चुका था, जब सुशांत 16 साल के थे। वे अपनी मां के बहुत करीब थे। वे कई बार सोशल मीडिया पर मां के प्रति प्रेम को जता चुके हैं।

14-05-2020
मोहन नगर पुलिस कस्टडी में युवक ने किया खुदखुशी का प्रयास

दुर्ग। मोहन नगर पुलिस थाना कस्टडी में एक युवक ने अपने शरीर पर धारदार वस्तु से वार कर खुदकुशी करने का प्रयास किया। उसे गले व दोनों हाथों की कलाई में चोंटे आई है, जिसे जिला अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। जहां उसकी हालत अब खतरे में बाहर बताई गई है। उक्त युवक लक्ष्मीकांत ठाकुर 35 वर्ष बोरसी निवासी को पुलिस ने धारा 386 कर्जा एक्ट के एक पुराने मामले में बुधवार की शाम हिरासत में लेकर मोहन नगर पुलिस थाना के कस्टडी में रखा गया था। गुरुवार को पुलिस द्वारा न्यायालय में पेश करने की तैयारी थी। इसके पहले वह सुबह बाथरुम जाने के बहाने निकला और मोहन नगर पुलिस थाना के भीतर अपने शरीर पर धारदार वस्तु से वार कर खुद को जख्मी कर लिया। पुलिस कस्टडी में सामने आए इस घटना से पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। घटना की खबर पर दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला, अजीत यादव, मोहन नगर थाना प्रभारी नरेश पटेल, कोतवाली थाना प्रभारी सुरेश बागड़े एवं अन्य अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचे और घटना की वस्तुस्थिति से अवगत होकर अपने अधीनस्थ अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस घटना ने जहां पुलिस महकमें में हड़कंप मचा दिया है वहीं घायल युवक के परिजनों के आरोपों ने पुलिस के कार्यशैली पर भी बड़ा प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया ह
घायल युवक लक्ष्मीकांत ठाकुर के बड़े भाई संतोष सिंह ठाकुर ने इस घटना के लिए मोहन नगर पुलिस थाना के एक अधिकारी को जिम्मेदार बताया है। संतोष ने पुलिस के उच्च अधिकारियों को शिकायत करते बताया कि मेरे छोटे भाई लक्ष्मीकांत ठाकुर ने सन् 2018 में स्मृतिनगर निवासी राहुल जावडे को 10 लाख की राशि उधार दी थी, लेकिन राहुल राशि वापस लौटाने में आनाकानी कर रहा था, तब लक्ष्मीकांत ने रकम वापसी के लिए दबाव बनाया तो राहुल ने मोहन नगर पुलिस थाना में अपराध दर्ज करवा दिया था। संतोष सिंह ठाकुर ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस मामले को रफा-दफा करने मोहन नगर पुलिस थाना में पदस्थ अधिकारी द्वारा लक्ष्मीकांत ठाकुर से 5 लाख की राशि की मांग की गई थी। राशि नहीं दिए जाने पर जानबूझकर केस को पेडिंग रखा गया था। इससे लक्ष्मीकांत ठाकुर मानसिक रुप से प्रताडि़त हो रहा था। बुधवार की शाम लक्ष्मीकांत ठाकुर को पुलिस ने हिरासत में लेकर मोहन नगर पुलिस थाना के कस्टडी में रखा गया था। जहां मानसिक रूप से परेशान चल रहे लक्ष्मीकांत ठाकुर आत्मघाती कदम उठाने विवश हुआ। बड़े भाई संतोष सिंह ठाकुर ने उच्च अधिकारियों से घटना की जांच कर दोषी पर कार्यवाही करने की मांग की है। 

 

09-12-2019
चुनाव ड्यूटी पर तैनात आरक्षक ने कमांडर को गोली मारकर की हत्या, फिर खुद की खुदखुशी

 

रायपुर। झारखंड विधानसभा चुनाव में ड्यूटी पर तैनात रायपुर की 4 थी बटालियन D कंपनी के सिपाही ने कमांडर को गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और उसके बाद खुद को गोली मारकर खुदखुशी कर ली। बता दें कि आरक्षक विक्रम राज बोडने ने रांची के खेलगाँव स्टेडियम सोमवार सुबह लगभग 6:30 बजे पहले कमांडर मेलाराम कुर्रे को गोली मारी और उसके बाद खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

31-08-2019
कोर्ट से बोली दिल्ली पुलिस- शशि थरूर के खिलाफ तय हो पत्नी को खुदखुशी के लिए उकसाने का आरोप 

नई दिल्ली। सुनंदा पुष्कर केस में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से साफ शब्दों में कहा कि शशि थरूर के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप तय होना चाहिए। पुलिस ने कहा कि थरूर के खिलाफ 498ए, 306 के तहत केस दर्ज होना चाहिए। दिल्ली की कोर्ट इस मामले पर अब अगली सुनवाई 17 अक्टूबर को करेगी। वहीं सुनंदा पुष्कर के भाई आशीष दास ने कहा कि वह अपने शादीशुदा जिंदगी से बेहद खुश थीं, लेकिन अपने अंतिम दिनों में वह बेहद परेशान थीं। वह कभी आत्महत्या करने के बारे में सोच भी नहीं सकती थीं। इस बीच शशि थरूर के वकील विकास पाहवा ने बयान जारी करके दिल्ली पुलिस के आरोपों को गलत करार दिया है। उनका कहना है कि अभियोजक चार्जशीट के उलट बात कर रहे हैं। अभियोजक ने जो आरोप लगाए हैं वो बेतुके और गलत हैं। विकास पाहवा ने कहा कि अपने द्वारा तय किए गए आरोपों के हिसाब से दिल्ली पुलिस साक्ष्यों के बारे में टुकड़ों-टुकड़ों में बात कर रही है।

यह विधि के सिद्धांत के खिलाफ है। शशि थरूर के वकील का आरोप है कि अभियोजक साइकोलॉजिक ऑटोस्पी करने वाले विशेषज्ञों की राय के बारे में नहीं बता रहे हैं। जिन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि यह न तो हत्या का मामला है और न ही आत्महत्या का, लेकिन कुछ अज्ञात जैविक वहज हो सकती है। गौरतलब है कि कांग्रेस सांसद शशि थरूर पर उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर को खुदकुशी करने के लिए लिए उकसाने और उनका मानसिक उत्पीड़न करने का आरोप है। 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के पांच सितारा होटल में शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। मौत से एक दिन पहले कथित तौर पर सुनंदा पुष्कर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच ट्विटर पर बहस हुई थी। वहीं इससे कुछ ही दिन पहले उन्होंने थरूर पर पाकिस्तानी पत्रकार के साथ अंतरंग संबंध होने के आरोप लगाए थे। मामले में दिल्ली पुलिस की तरफ से शशि थरूर को आरोपी बनाते हुए कोर्ट में 3000 पन्नों की लंबी चार्जशीट दाखिल की गई है। पुलिस ने 14 मई 2018 को थरूर के खिलाफ पत्नी को खुदकुशी के लिए उकसाने और क्रूरता से संबंधित भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं के तहत चार्जशीट दायर की। वहीं दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने चार्जशीट के आधार पर थरूर को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोपी माना है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804