GLIBS
20-02-2020
शिवरात्रि स्पेशल काशी महाकाल एक्‍सप्रेस की सेवा शुरू, तीन ज्योतिर्लिंगों को आपस में जोड़ेगी ये ट्रेन

नई दिल्ली। काशी महाकाल एक्सप्रेस का आधिकारिक सफर गुरुवार से शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 फरवरी को चंदौली के पड़ाव से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। ये ट्रेन वाराणसी से इंदौर के बीच चलेगी, जो तीन ज्योतिर्लिंगों (श्री ओम्कारेश्वर, श्री महाकालेश्वर और काशी विश्वनाथ) को आपस में जोड़ेगी। आईआरसीटीसी काशी महाकाल एक्सप्रेस का शुभारंभ महाशिवरात्रि के एक दिन पहले यानी 20 फरवरी से शुरू हो रहा है। देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन कैंट रेलवे स्टेशन से दोपहर 2.45 बजे इंदौर के लिए रवाना होगी और दूसरे दिन सुबह 9.40 बजे इंदौर पहुंच जाएगी। महाकाल के पहले यात्रियों को आईआरसीटीसी की ओर से आकर्षक उपहार भी दिए जाएंगे।

18-02-2020
रेलवे ने अवैध सॉफ्टवेयरों का किया सफाया, अब होंगे ज्यादा तत्काल टिकट उपलब्ध

नई दिल्ली। रेलवे ने अवैध सॉफ्टवेयरों का सफाया करते हुए उन 60 एजेंटों को गिरफ्तार किया है, जो ऐसे तरीकों से टिकटों की बुकिंग कर लेते थे। रेलवे के इस कदम से अब यात्रियों के लिए अधिक संख्या में तत्काल टिकट उपलब्ध हो सकेंगे। एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा कि सफाई अभियान का अर्थ है कि यात्रियों के लिए अब तत्काल टिकट घंटों तक उपलब्ध होंगे जो पहले बुकिंग खुलने के बाद कुछ मिनटों में ही समाप्त हो जाते थे। अधिकारियों ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि एएनएमएस, मैक और जगुआर जैसे अवैध सॉफ्टवेयर आईआरसीटीसी के लॉगिन कैप्चा, बुकिंग कैप्चा और बैंक ओटीपी को बाईपास करते जबकि वास्तविक ग्राहकों को इन सभी प्रक्रियाओं से गुजरना होता है। उन्होंने बताया कि एक सामान्य ग्राहक के लिए बुकिंग प्रक्रिया में आमतौर पर लगभग 2.55 मिनट लगते हैं, लेकिन ऐसे सॉफ्टवेयरों का उपयोग करने वाले इसे लगभग 1.48 मिनट में पूरी कर लेते। रेलवे एजेंटों को तत्काल टिकट बुक करने की अनुमति नहीं देता और पिछले दो महीनों में आरपीएफ ने लगभग 60 अवैध एजेंटों को पकड़ा,जो इन सॉफ्टवेयरों के जरिए टिकट बुक कर रहे थे। ऐसे में अन्य लोगों के लिए तत्काल टिकट प्राप्त करना वस्तुत: असंभव हो गया। कुमार ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, 'आज मैं कह सकता हूं कि अवैध सॉफ्टवेयरों के जरिए एक भी टिकट नहीं बुक किया जा रहा है। हमने आईआरसीटीसी से जुड़े सभी मुद्दों को हल कर लिया है तथा उन लोगों को भी पकड़ लिया जो सॉफ्टवेयर के प्रमुख ऑपरेटर थे। कुमार ने कहा कि इन गिरफ्तारियों के साथ ही अधिकतर अवैध सॉफ्टवेयरों को ब्लॉक कर दिया गया है।

 

12-02-2020
26 फरवरी को पुरी-अजमेर के मध्य स्पेशल ट्रेन, सारनाथ में एक्स्ट्रा कोच की सुविधा

रायपुर। 808वें ख्वाजा उर्स मेला के अवसर पर गाड़ियों में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। पुरी और अजमेर के मध्य एक फेरे के लिए गाड़ी संख्या 08421/08422 पुरी-अजमेर-पुरी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी। यह गाड़ी 08421 पुरी-अजमेर एक्सप्रेस 26 फरवरी (बुधवार) को पुरी से अजमेर के लिए और 08422 अजमेर-पुरी एक्सप्रेस 2 मार्च (सोमवार) को अजमेर से पुरी के लिए स्पेशल ट्रेन के रूप में एक फेरे के लिए छुटेगी। इस गाड़ी में 2 एसएलआर, 6 सामान्य कोच, 9 स्लीपर कोच, 4 एसी-3, 1 एसी-2 सहित कुल 22 कोच रहेंगे। इसी तरह होली त्यौहार और गर्मी की छुट्टियों के लिए ट्रेन नंबर 15159 छपरा-दुर्ग और 15160 दुर्ग-छपरा सारनाथ एक्सप्रेस में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच 10 फरवरी से लगाया गया है। इस एक्स्ट्रा कोच की सुविधा 11 अप्रैल तक दी जाएगी।

स्पेशल ट्रेन की समय-सारिणी इस प्रकार है...

 

06-02-2020
रेलवे के हाइगेज फाटक को ट्रेलर ने किया क्षतिग्रस्त

कोरबा। ट्रेलर चालक ने रेलवे के हाईगेज फाटक को ठोकर मार दिया। घटना में चालक तो सुरक्षित बच गया लेकिन हाईगेज क्षतिग्रस्त हो गया। मामले में आरपीएफ ने आरोपी चालक के खिलाफ रेल अधिनियम के तहत कार्यवाही की है। घटना कोरबा के सोहागपुर रेलवे क्रॉसिंग की है। रेल लाइन से भारी वाहनो की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए हाईगेज फाटक लगाया गया है।  फाटक को खोले बिना ही चालक पोकलेन लोड ट्रेलर को पार कर रहा था इसी बीच पोकलेन क्षमता से अधिक ऊंचा होने के कारण हाईगेज से जा टकराया। टकराते ही हाईगेज क्षतिग्रस्त हो गया। सूचना मिलते ही आरपीएफ ने चालक से पूछताछ की तो उसने अपना नाम सुखराज सिंह बताया उसने पुणे से पोकलेन लेकर अंबिकापुर की ओर जाने की बात कही मामले को गंभीरता से लेते हुए आरपीएफ ने रेल अधिनियम के तहत कार्रवाई की हैं।

 

05-02-2020
मोतीलाल वोरा ने संसद में उठाया ई-टिकटों की कालाबाजारी का मामला, जानिए क्या कहा, पढ़े पूरी खबर..

रायपुर। राज्यसभा में शून्यकाल में मोतीलाल वोरा सांसद ने ई-टिकटों की कालाबाजारी और उसके कारण ईमानदार रेल यात्रियों को होने वाली असुविधा का मामला उठाया। इस संबंध में बोलते हुए उन्होंने कहा कि रेलवे का टिकट बिक्री का कारोबार सालाना 55 हजार करोड़ का है। मांग व आपूर्ति में भारी अंतर के चलते कंफर्म टिकट की मांग हमेशा बनी रहती है। यात्री मजबूरी में यात्री टिकट की तय कीमत से दोगुना पैसा दलालों को देते हैं। उन्होंने आगे कहा कि देश में ई-टिकटिंग की कालाबाजारी पिछले कुछ सालों से चल रही है। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के वर्तमान महानिदेशक ने ई-टिकट कालाबाजारी के खिलाफ अभियान चलाया है और इसमें गिरोह की संलिप्तता सामने आई है। इसके तार पाकिस्तान,बांग्लादेश,दुबई और सिंगापुर आदि देशों से जुड़े है। रेल यात्रियों को ऑनलाइन टिकट बुकिंग की सुविधा दलालों के लिए मोटी कमाई का जरिया बन गई है। देशभर में रोजाना साढ़े तीन हजार से अधिक लंबी दूरी की यात्री ट्रेन चलती है और हर रोज लगभग 12 लाख कंफर्म टिकट की बुकिंग होती है। दलाल आधुनिक साफ्टवेयर की मदद से आईआरसीटीसी की वेबसाइट में सेंधमारी कर, 85 फीसदी कंफर्म टिकट हथिया रहे हैं। रेलवे के माध्यम से रेल यात्रियों को मात्र 15 फीसदी कंफर्म टिकट मिल रहे हैं। निश्चय ही इस कार्य में काफी बड़ा गिरोह सक्रिय होगा। मोतीलाल वोरा ने सरकार से आग्रह किया कि वह ई-टिकटों की दलाली में लगे एजेंट तथा अन्य लोगों का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार करें, और रेलवे का सॉफ्टवेयर अत्याधुनिक लगाया जाये ताकि उसमें सेंध न लगाई जा सके और इस अवैध कारोबार को रोका जा सके।

 

16-01-2020
ट्रेन हादसा: बैलगाड़ी से टकराई सवारी गाड़ी, 5 लोगों की मौत, दो घायल

पटना।  गन्ना से लदी बैल गाड़ी और समस्तीपुर-सहरसा सवारी ट्रेन टकरा गई। इस घटना में पांच लोगों की ट्रेन से गिरने के कारण मौके पर ही मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल दो लोगों को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा बिहार में समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड पर हसनपुर स्टेशन के पास गुरुवार को हुआ। घटना के संबंध में प्रत्यक्षदर्शियों का बताया कि दोपहर करीब 3 बजे समस्तीपुर 63346 डाउन समस्तीपुर-सहरसा सवारी गाड़ी सकरपुरा ढाला से गुजर रही थी। ढाला पर बने रेलवे गुमटी का फाटक खुला था। इसी वक्त एक गन्ना लदा टायर गाड़ी ट्रेन से टकरा गया। टायर गाड़ी के ट्रेन से टकराने के कारण ट्रेन में अफरातफरी मच गई। इसी क्रम में कई लोग चलती ट्रेन से नीचे गिर गए। इसमें पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो घायल को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद गुमटी का गेटमैन फरार बताया जा रहा है। सूचना पर पहुंची जीआरपी ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए समस्तीपुर भेज मामले की जांच में जुट गई है। दूसरी ओर घटना की सूचना मिलते ही डीआरएम के नेतृत्व में मंडल के सभी अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और मुआवजे की घोषणा की।

 

12-01-2020
Breaking: रेलवे के प्रतिष्ठानों में ड्रोन हमले की धमकी,अलर्ट पर प्रशासन  

रायपुर। रेलवे के प्रतिष्ठानों में संभावित ड्रोन हमले की मिली धमकी के बाद रेल प्रशासन सर्तक हो गया है। रेलवे बोर्ड को प्राप्त धमकी भरा खत मंडल रेल प्रबंधक को भेजा गया है। इसके बाद धमकी भरा खत आरपीएफ ने खमतराई पुलिस थाने को भेजकर रेलवे प्रतिष्ठानों- वैगन रिपेयर शॉप ,जनरल स्टोर डिपो,एक्सचेंज यार्ड और रेलवे परिक्षेत्र के आस-पास सुरक्षा की मांग की है।

11-01-2020
Breaking: रेलवे के मकान को किराए पर देने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई, आदेश जारी

रायपुर। रेलवे के मकानों को किराए पर देने या उसका व्यवसायिक उपयोग करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की अब खैर नहीं है। जांच के दौरान पाया गया कि रेलवे के अधिकारी या कर्मचारी जो रेलवे क्वाटरों को किराए पर देकर बाहर मकान में रहते हैं, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने सभी जीएम को आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार एक माह का समय देकर सभी मंडल रेल प्रबंधकों को उक्त मामले में एक्शन लेने कहा गया है। रेलवे बोर्ड के निदेशक (जी) अनीता गौतम ने 8 जनवरी को इस संबंध में रेलवे के सभी जीएम को पत्र भेजा है। उक्त मामले में रेल कर्मियों के खिलाफ एक्शन लेकर एक माह में (17 फरवरी तक) कार्रवाई की सूचना रेलवे बोर्ड को भेजने कहा गया है।

10-01-2020
दुर्ग-कानपुर और दुर्ग-नवतनवा एक्सप्रेस में एलएचबी कोच की दी जाएगी सुविधा

रायपुर। रेलवे की ओर से एक्सप्रेस ट्रेनों की अलग-अलग श्रेणियों में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखकर यात्रियों के लिये समय-समय पर अतिरिक्त कोचों की व्यवस्था और कोचों के प्रकार में संशोधन किया जाता है। इसी कड़ी में 18203/18204 दुर्ग-कानपुर-दुर्ग एक्सप्रेस और 18201/18202 दुर्ग-नवतनवा-दुर्ग एक्सप्रेस गाड़ियों में एलएचबी कोच की सुविधा प्रदान की जा रही है। पारंपरिक कोचों के स्थान पर एलएचबी कोच लगाए गए हैं। यह एलएचबी कोच पारंपरिक कोचों की अपेक्षा अधिक सुरक्षित,काफी आरामदायक और अधिक सीटों की क्षमता वाले होते हैं।  एलएचबी कोचों में साधारण कोचों की अपेक्षा अधिक बर्थ रहते है, इसलिए इन गाड़ियों में एक स्लीपर कोच कम रहते हैं। 18203/18204 दुर्ग-कानपुर-दुर्ग एक्सप्रेस में दुर्ग से 14 जनवरी से और कानपुर से 15 जनवरी से सुविधा दी जाएगी। इसी तरह 18201/18202 दुर्ग-नवतनवा-दुर्ग (वाया- बनारस) एक्सप्रेस में दुर्ग से 15 जनवरी से और नवतनवा से 17 जनवरी से सुविधा दी जाएगी। जिन यात्रियों ने इन गाड़ियों में आरक्षण कराया है, उनकी आरक्षण सीटों को दूसरे कोचों में रिअलोट किये जाने की संभावना है। इसकी सूचना यात्रियों को चार्ट बनते समय उनके द्वारा आरक्षण कराते समय दिए गए मोबाइल नंबर पर उपलब्ध कराई जा रही है। चार्ट बनने के बाद यात्री भारतीय रेलवे की वेबसाइट पर पीएनआर इंक्वारी के माध्यम से भी अपना रिअलोटमेंट बर्थ जान सकते हैं। साथ ही ट्रेन में उपस्थित टीटीई के और स्टेशन पर टीसी कार्यालय में भी इसकी जानकारी उपलब्ध रहती है। यात्रियों से अनुरोध है कि वह बुकिंग कराते समय सही मोबाइल नंबर दें ताकि उन्हे परिवर्तित बर्थ का एसएमएस भेजा जा सके। उनके पास प्राप्त मैसेज के आधार पर अपने परिवर्तित सीट पर बैठकर अपनी यात्रा का आनंद लें।

08-01-2020
नीलाचल इस्पात को बेचने के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने दी मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में बुधवार को दो बड़े फैसले हुए हैं। कैबिनेट ने नीलाचल इस्पात निगम लिमिटेड को बेचने की मंजूरी दे दी है। वहीं पूर्वोत्तर के 8 राज्यों में गैस ग्रिड तैयार करने का फैसला हुआ है। रेलवे के लिए इंग्लैंड के साथ एनर्जी को लेकर समझौते को भी कैबिनेट ने बुधवार को मंजूरी दे दी है। सरकार पूर्वोत्तर क्षेत्र में 9,265 करोड़ रुपये की लागत से तैयार हो रही 1,656 किलोमीटर लंबी गैस ग्रिड के निर्माण के लिये 5,559 करोड़ रुपये की वित्तपोषण सुविधा देगी।
वहीं नीलाचल इस्पात में सरकार अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेगी। कैबिनेट ने कोल माइनिंग में कमर्शियल माइनिंग का रास्ता साफ कर दिया है। इसके लिए एमएमडीआर एक्ट में बदलाव किया जाएगा, जिसके लिए कैबिनेट ने अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। आज कैबिनेट ने जो फैसला लिया उसके मुताबिक देश शाम या कल तक इस अध्यादेश को राष्ट्रपति से मंजूरी मिलेगी और 24 घंटे के भीतर ये सारे बदलाव लागू हो जाएंगे। कैबिनेट के फैसले के बाद अब नीलाचल इस्पात में सरकार अपनी पूरी 100 हिस्सेदारी बेचेगी। नीलाचल इस्पात में एमएमटीसी की हिस्सेदारी 49.08 फीसदी,एनएमडीसी की हिस्सेदारी 10.10 फीसदी, मेकॉन और भेल की हिस्सेदारी 0.68 फीसदी है। 

 

07-01-2020
विभिन्न मुद्दों को लेकर 8 जनवरी को देशव्यापी हड़ताल, बंद का आव्हान

रायपुर। बीएमएस को छोड़कर देश की सभी केंद्रीय ट्रेड यूनियनों, राज्य और केंद्र सरकार के कर्मचारी, बैंक, बीमा, रक्षा, बी एसएनएल कर्मचारी और संगठित और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों ने 8 जनवरी को देशव्यापी आम हड़ताल और काम बंद का आव्हान किया है। इस आंदोलन को समर्थन देते हुए डेढ़ भर के 134 किसान संगठनों ने गांव बंद और अनेक नागरी सामाजिक संगठनों और राजनैतिक दलों ने भारत बंद का आव्हान किया है। इंटुक के प्रदेश अध्यक्ष संजय सिंह, एटक के प्रदेश महासचिव हरिनाथसिंह, सीटू के राज्य अध्यक्ष बी सान्याल और महासचिव एम के नंदी, ऐक्टू के राज्य महासचिव बृजेन्द्र तिवारी, सीजेडआईईयु के महासचिव धर्मराज महापात्र एचएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष एचएस मिश्र छग राज्य तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष राकेश साहू केंद्रीय कर्मचारी समन्वय समिति के दिनेश पटेल, माणिक राम पुराम, आशुतोष सिंह, राजेन्द्र सिंह, सियाराम, बैंक कर्मियों के नेता शिरीष नलगुणद्वार, डीके सरकार बीएसएनएल केसीएल भट्ट, आरडीआईएयू केवीइस बघेल ,अलेक्जेंडर तिर्की अतुल देशमुख ,एस सी भट्टाचार्य ने संयुक्त रूप से उक्त जानकारी देते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में इसे जनता का जबरदस्त जनसमर्थन मिल रहा है।

इन नेताओं ने कहा कि मंहगाई पर रोक लगाने बेरोजगारों को रोजगार देने सभी धर्मिकों को सामाजिक सुरक्षा देने, 21000 रुपए न्यूनतम वेतन देने, नए पेंशन योजना रद्द कर सभी को पुरानी पेंशन योजना का लाभ देने, समानकाम समान वेतन लागू करने, बैंक, बीमा, रक्षा, रेलवे, खुदरा क्षेत्रो में एफडीआई का निर्णय वापस लेने, श्रम कानूनों में बदलाव रद्द कर श्रम कानूनों का अमल करने, सार्वजनिक क्षेत्र के निजीकरण पर रोक लगाने बीएसएनएल को बेचने के कदम पर रोक लगाने बैंकों का करोडों रुपए का बकाया वसूल करने, नया मोटर व्हीकल कानून रद्द करने, किसानों को फसल का उचित दाम देने और कर्जा माफ करने, जनता के धन को कॉर्पोरेट को लुटाने के बजाय आम जनता को राहत देने में खर्च करने तथा आम जनता को सांप्रदायिक आधार पर बांटने की मुहिम बंद करने की मांग को लेकर यह हड़ताल और बंद आयोजित होने जा रहा है। सभी संगठनों ने देश की गिरती अर्थव्यवस्था व उससे जनता की घटती क्रय शक्ति और उपभोग की कमी के कारण व्यापारियों के चौपट होते हुए व्यापार से प्रभावित व्यपारियो से भी समर्थन मांगा है। आम हड़ताल और भारत बंद के लिए समर्थन जुटाने बुधवार शाम 7.30 बजे बिजली आफिस चौक से मशाल जूलूस निकाला जायेगा। सोमवार को दिन भर शहर के विभिन्न स्थानों पर नूक्कड़ सभाएं कर बंद के समर्थन जुटाया गया।

03-01-2020
रेलवे को विशेष टिकट जांच अभियान में प्राप्त हुआ 2 लाख रुपए से अधिक राजस्व

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल के वाणिज्य विभाग की ओर से समय-समय पर टिकट चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है । इससे यात्रियों को टिकट लेने के प्रति लगातार जागरूक किया जा रहा है, साथ ही यात्रियों को जागरूक किया जा रहा है कि वे उचित टिकट लेकर सही कोच में बैठे एवं अपनी सुखद यात्रा करें।  इसी कड़ी में टिकट चेकिंग अभियान 2 जनवरी को चलाया गया, जिसमें बिना टिकट यात्रा करने वाले लगभग 187 मामलों से 1,31,180 रुपए राजस्व प्राप्त हुआ। अनियमित टिकट के 176 मामलों से 82,880 रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ, अनबुकड लगेज के 211 मामलों से 23,035 रुपए राजस्व प्राप्त हुआ, कुल 574 मामलों से रायपुर रेल मंडल के वाणिज्य विभाग की ओर से 2,37,095 रुपए का राजस्व प्राप्त किया गया। इस टिकट चेकिंग अभियान में 36 टीटीई, 2 मुख्य वाणिज्य निरीक्षक 3 रेलवे सुरक्षा बल और 2 जीआरपी स्टाफ ने 8 लोकल और लगभग 25 एक्सप्रेस ट्रेनों में जांच की। रेलवे ने यात्रियों से अनुरोध किया है कि वह उचित टिकट लेकर यात्रा करें,आगे भी यह अभियान लगातार जारी रहेंगे।
 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804