GLIBS
30-06-2020
रायपुर के कई इलाके हुए कंटेनमेंट जोन से मुक्त, नहीं मिले नए कोरोना केस 

रायपुर। नए कोरोना मरीज की पहचान होने पर जिला प्रशासन की ओर से कंटेनमेंट जोन की घोषणा की जा रही है। इसी क्रम में रायपुर जिले के कई इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। उक्त क्षेत्रों में नए कोरोना केस नहीं मिलने से अब कंटेनमेंट जोन से मुक्त कर दिया गया है। जिला प्रशासन के मुताबिक नगर पालिक निगम रायपुर अंतर्गत तिरूपति इनक्लाइव, कंचन विहार थाना आमानाका, कैपिटल पैलेस के सामने अवंति विहार थाना खम्हारडीह, डंगनिया, खदानबस्ती थाना डीडी नगर और संजय नगर थाना टिकरापारा को कोरोना पॉजीटिव केस मिलने के बाद कंटेंटमेंट जोन घोषित किया गया था।  इसी तरह नगर पालिक निगम बिरगांव अंतर्गत वार्ड क्रमांक -35, दुर्गा नगर थाना उरला और तिल्दा विकासखंड के ग्राम पंचायत केसला थाना खरोरा क्षेत्र को कंटेनटमेंट जोन घोषित किया गया था। इन सभी क्षेत्रों में सोमवार की स्थिति में नया कोरोना मरीज नहीं मिला है। इसलिए जिला प्रशासन ने भारत सरकार और आईसीएमआर की ओर से जारी की गई गाइडलाइन अनुसार उक्त क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन से मुक्त किया है।

06-04-2020
लॉक डाउन में कुछ मिले न मिले शराब जरूर मिल रही है पहुंच वालों को,गरीब स्पीरिट पीकर मर रहा है

रायपुर। लॉक डाउन के बावजूद प्रदेश के हर इलाके में शराब की अवैध बिक्री की खबरें सामने आ रही है। डूंगरपुर में अवैध शराब की बिक्री का एक मामला पकड़ाया है। वहां तीन तस्कर गिरफ्तार किए गए है। बिलासपुर के ग्रामीण इलाके में भी अवैध रूप से शराब ले जाते हैं कुछ लोग पकड़ाए है। हर इलाके ऐसे प्रकरण सामने आ रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि रायपुर की ही एक शराब दुकान के सुपरवाइजर को भी शराब दुकान खोलकर शराब ले जाते हुए पकड़ा गया था। अब सवाल यह उठता है कि जब शराब दुकान सरकार चलाती तो अवैध बिक्री के लिए शराब कहां से आ रही है। एक तरफ महंगे दामों में शराब की अवैध बिक्री हो रही है तो दूसरी ओर महंगे दाम ना चुका पाने के कारण नशे के आदि लोग शराब का विकल्प तलाश रहे है। रायपुर में ही 3 युवकों ने शराब के विकल्प के रूप में स्पीरिट को चुना था और उसे पीने के कारण तीनों की मौत हो चुकी है। एक तरफ शराब पहुंच वाले लोगों को उपलब्ध है,जो उसका आनंद ले रहे हैं। तो दूसरी ओर शराब की लत गरीब की ज़िंदगी के लिये खतरा साबित हो रही है।

 

04-04-2020
तब्लीकि जमात से आया युवक पाया गया कोरोना पॉजिटिव, आस-पास के इलाके को किया गया सील

कोरबा। कटघोरा के पुरानी बस्ती के नई ज़ामी मस्जिद में आइसोलेट किए गए एक जमाती को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद जिला प्रशासन ने कोरोना मरीज को रायपुर एम्स भेज दिया गया। युवक के पॉजिटिव पाए जाने के बाद कटघोरा की पुरानी बस्ती को सील कर दिया गया है। बता दें कि कटघोरा में भी तब्लीकि जमात के 29 जमाती पुरानी बस्ती मस्जिद में एवं पुछापारा के मस्जिद में आकर रुके हुए थे। प्रशासन को जानकारी होने पर उन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया था। सभी के ब्लड सेम्पल को कोरोना जांच के लिए भेजा गया था। इसमें पुरानी बस्ती के मस्जिद में रुके नागपुर के कामटी से आए हुए एक लड़के जिसकी उम्र 16 वर्ष है, उसकी जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसकी सूचना मिलते ही कटघोरा एवं जिला प्रशासन सकते में आ गया और कटघोरा पुरानी बस्ती मस्जिद पंहुच कर पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज किया गया। युवक को एम्बुलेंस द्वारा एम्स रायपुर भेजा गया। प्रशासन ने मस्जिद के मौलाना एवं अजान करने वाले को क्वारनटाइन कर दिया है। कटघोरा पुरानी बस्ती को पुलिस ने सील कर दिया है तथा एहितयात बरतने कटघोरा वासियों से अपील की है।

21-01-2020
चिल्फी में दिखा बाईसन गौर, ग्रामीणों में दहसत का माहौल

कवर्धा। जिले के सीमावर्ती क्षेत्र चिल्फ़ी के ग्राम बेंदा के पास एक बार फिर से बाईसन गौर के दस्तक से आसपास के ग्रामीण दहशत में है। बताया जा रहा है कि चार की झुंड में बाईसन गांव के पास घूम रहे थे। आपको बता दें कि ग्राम बेंदा टाईगर रिजर्व कान्हा से लगा हुआ है, यही कारण है कि इस इलाके में आये दिन कई वन्यप्राणी देखे जा रहें हैं, और आसपास के गांव में रहने वाले लोग जंगली जानवर के डर से दहशत में हैं। वहीं सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुँचकर बाईसन को जंगल की ओर खदेड़ दिए हैं।

 

14-05-2019
 बस्तर इलाके में तीन स्थाई वारंटी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण 

सुकमा। बस्तर में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुकमा मे मंगलवार को तीन नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। बता दे कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र में शासन प्रशासन की तरफ से नक्सलियों के लिए पुनर्वास और कल्याणकारी योजना चलाई जा रही है। इससे ही प्रभावित होकर कई नक्सली समाज की मुख्यधारा में जुड़ रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को सुकमा में तीन स्थाई वारंटी नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। तीनों नक्सलियों ने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के समक्ष सरेंडर किया। तीनों नक्सलियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। सरेंडर करने वाले नक्सलियों का नाम वेट्टी भीमा, मड़कम सुक्का और मड़कम हुंगा है। पुलिस ने बताया कि तीनों नक्सली छिंदगढ़ इलाके में सक्रिय थे।  

21-10-2018
Accused arrested: चाकू टिकाकर लूटने वाले 2 आरोपियों  सहित 1 अपचारी बालक गिरफ्तार 

रायपुर । सुनसान इलाके में राहगीरों का रास्ता रोक कर चाकू की नोंक पर लूटपाट करने वाले दो युवक सहित तीन आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से नकदी 3700 सहित चाकू व मोटरसाइकिल जब्त की है।

बता दे कि शनिवार की रात मनोज शुक्ला ने थाना विधानसभा में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह रायपुर से अपनी मोटरसाइकिल से अपने घर ग्राम परसुलीडीह जा रहा था तभी  परसुलीडीह के पहले नाला के पास तीन लडके खडे मिले जो हाथ देकर प्रार्थी की गाडी रूकवाई और चाकू की नोक पर मनोज  की दर धमका कर उसके जेब से जबरदस्ती 4 हजार रुपये निकाल कर अपने पास रख लिया और पर्स को वापस मेरे जेब मे डाल दिया।

जिस लडके ने गर्दन मे चाकू अडा कर रखा था वह बोला की घटना के बारे मे किसी को मत बताना नहीं तो ठीक नही होगा उसके बाद वे तीनो लड़के अपने मोटर सायकल में बैठकर भाग गये। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के बारे में पतासाजी कर आसपास पूछताछ की जा रही थी। इसी दौरान टीम को मुखबीर से आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई जिस पर टीम द्वारा छबी साहू को थाना लाकर पूछताछ किया गया। छबी साहू द्वारा पुलिस को गुमराह करने का प्रयास करते हुये किसी भी प्रकार की घटना में अपनी संलिप्तता नहीं होना बताया गया परंतु कड़ाई से पूछताछ करने एवं प्राप्त साक्ष्यों के आगे वह ज्यादा देर टिक न सका और अंततः छबी साहू द्वारा अपने अन्य दो साथियों के साथ मिलकर उक्त घटना को कारित करना स्वीकार किया गया।
पुलिस ने मामले में छबि साहू के दोस्त चिंटू धीवर और अपचारी बालक को गिरफ्तार किया है। तीनो आरोपी कचना के रहने वाले है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804