GLIBS
26-01-2021
नई दिल्ली के राजपथ पर छाया छत्तीसगढ़ के वाद्य यंत्रों का जादू, झांकी की हो रही खूब सराहना

रायपुर। देश के लोगों ने आज नई दिल्ली के राजपथ पर छत्तीसगढ़ के पारंपरिक वाद्य यंत्रों पर आधारित निकली झांकी को न केवल बड़ी उत्सुकता के साथ देखा बल्कि इसकी उन्मुक्त कंठों से सराहना भी की। यह झांकी नेशनल मीडिया के साथ ही लोगों के दिलो-दिमाग में छा गई। गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ के पारंपरिक वाद्य यंत्रों पर आधारित राज्य की झांकी देश भर के लोगों का आकर्षण का केन्द्र बनी वहीं यह सोशल मीडिया पर भी छायी रही। देश के विभिन्न हिस्सों से लगातार इसको सराहना मिल रही है।

नेशनल मीडिया टाइम्स नाउ ने अपने ट्विटर हेंडल में इसकी सराहना करते हुए लिखा है कि भारत की सांस्कृतिक विविधता आज पूरे वैभव के साथ राजपथ पर दिखी। हिन्दुस्तान टाइम्स ने लिखा कि झांकी में छत्तीसगढ़ की समृद्ध आदिवासी नृत्य और संगीत परम्परा को प्रदर्शित किया गया। फाइनेंशियल एक्सप्रेस ने अपने ट्विटर हेंडल में लिखा कि छत्तीसगढ़ राज्य की झांकी में संगीत के विविध वाद्य यंत्रों को बहुत खूबसूरती से प्रदर्शित किया गया है। 
गौरतलब है कि यह झांकी छत्तीसगढ़ जनसंपर्क विभाग की ओर से तैयार की गई है। इस झांकी के निर्माण के लिए पिछले दो माह से तैयारी की जा रही थी। कई प्रस्तावों पर विचार करने के बार इस झांकी का निर्णय लिया गया है। छत्तीसगढ़ की झांकी में छत्तीसगढ़ के लोक संगीत का वाद्य वैभव को प्रदर्शित किया गया है। छत्तीसगढ़ के जनजातीय क्षेत्रों में प्रयुक्त होने वाले लोक वाद्यों को उनके सांस्कृतिक परिवेश के साथ बडे़ ही खूबसूरत ढंग से इसे दिखाया गया है। प्रस्तुत झांकी में छत्तीसगढ़ के दक्षिण में स्थित बस्तर से लेकर उत्तर में स्थित सरगुजा तक विभिन्न अवसरों पर प्रयुक्त होने वाले लोक वाद्य शामिल किए गए हैं। इनके माध्यम से छत्तीसगढ़ के स्थानीय तीज त्योहारों तथा रीति रिवाजों में निहित सांस्कृतिक मूल्यों को भी रेखांकित किया गया है।

झांकी के ठीक सामने वाले हिस्से में एक जनजाति महिला बैठी है जो बस्तर का प्रसिद्ध लोक वाद्य धनकुल बजा रही है। धनकुल वाद्य यंत्र, धनुष, सूप और मटके से बना होता है। जगार गीतों में इसे बजाया जाता है। झांकी के मध्य भाग में तुरही है। ये फूंक कर बजाया जाने वाला वाद्य यंत्र है, इसे मांगलिक कार्यों के दौरान बजाया जाता है। तुरही के ऊपर गौर नृत्य प्रस्तुत करते जनजाति हैं। झांकी के अंत में माँदर बजाता हुआ युवक है। झांकी में इनके अलावा अलगोजा, खंजेरी, नगाड़ा, टासक, बांस बाजा, नकदेवन, बाना, चिकारा, टुड़बुड़ी, डांहक, मिरदिन, मांडिया ढोल, गुजरी, सिंहबाजा या लोहाटी, टमरिया, घसिया ढोल, तम्बुरा को शामिल किया गया है।

24-01-2021
लोग मंहगाई से परेशान है और मोदी सरकार कर इकठ्ठा करने में व्यस्त है : राहुल गांधी

रायपुर /नई दिल्ली। कांग्रेस  नेता राहुल गांधी ने ईंधन की बढ़ती  कीमतों को लेकर  केंद्र सरकार पर  निशाना साधा है। उन्होंने कहा  कि लोग मंहगाई की मार झेल रहे हैं और मोदी  सरकार कर इकठ्ठा करने में व्यस्त है। एक  सप्ताह में चौथी बार कीमतों में वृद्धि  के बाद देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों के अब तक की सर्वाधिक ऊंचाई पर पहुंचने  के एक दिन बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने यह टिप्पणी की है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया '' मोदी जी जीडीपी- गैस, डीजल और पेट्रोल में बेतहाशा वृद्धि लाए हैं। उन्होंने कहा कि  लोग मंहगाई से परेशान है और मोदी सरकार  कर इकठ्ठा करने में व्यस्त है।

24-01-2021
टिकटॉक, पबजी समेत चीन के अन्य ऐप पर पाबंदी जारी रखेगी भारत सरकार 

रायपुर/नई दिल्ली। टिकटॉक समेत चीन के  अन्य ऐप पर लगी पाबंदी जारी रहेगी। सरकार  ने सभी ऐप  को इस बारे में नोटिस भेजा है। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्रालय ने प्रतिबंधित ऐप के जवाबों की समीक्षा करने के बाद नोटिस भेजा है। टिकटॉक ने  संपर्क किए जाने पर सरकार से नोटिस मिलने की पुष्टि  की । टिकटॉक के  एक प्रवक्ता ने कहा, '' हम नोटिस का मूल्यांकन कर रहे हैं और उचित रूप में इसका  जवाब देंगे। भारत सरकार  द्वारा 29 जून 2020 को जारी निर्देशों का पालन करने में टिकटॉक पहली कंपनियों में से एक थी। हम लगातार स्थानीय कानूनों व नियमों का  पालन करने का  प्रयास करते हैं और सरकार  की किसी  भी चिंता  का समाधान करने के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ करने का  प्रयास करते हैं। हमारे सभी उपयोक्ताओं की गोपनीयता और सुरक्षा सुनिश्चित करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। सरकार  ने सबसे पहले जून में चीन के 59 ऐप पर और फिर सितंबर में 118 अन्य ऐप पर रोक लगा दी थी। इनमें टिकटॉक और पबजी जैसे ऐप शामिल हैं।

24-01-2021
गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, 6 लोग गिरफ्तार

रायपुर/नई दिल्ली। राजधानी में गणतंत्र दिवस से पहले कुछ लोगों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए। दिल्ली के खान मार्केट मेट्रो स्टेशन के बाहर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने की खबर से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। तुगलक रोड पर रात करीब एक बजे पीसीआर कॉल पर खबर मिली कि खान बाजार मेट्रो स्टेशन के पास कुछ लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। पुलिस को दो युवक, तीन महिला व एक किशोरी के साथ एक बाइक पर मिले। बाइक सवार युवक और युवतियों से पूछताछ की तो सामने आया कि ये सभी लोग इंडिया गेट के आसपास घूमने आए थे और युलु बाइक किराए पर ली थी। युलु बाइक पर उन्होंने रेस लगाई। इस दौरान इन लोगों ने एक दूसरे का नाम भारत और पाकिस्तान देश के नाम पर रख लिया। इसी दौरान उन्होंने उत्साह में धीमी आवाज में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। फिलहाल पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है।

24-01-2021
26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने की तैयारी में किसान 

रायपुर/नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन को दो महीने बीत गए हैं। इसी कड़ी में 26 जनवरी को किसान दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने की तैयारी में हैं। लेकिन अब भी संशय की स्थिति पैदा हो चुकी है। क्योंकि किसानों का कहना है कि दिल्ली में ट्रैक्टर रैली को तो इजाजत दे दी गई है, लेकिन दिल्ली पुलिस का कहना है कि अब तक ट्रैक्टर रैली की इजाजत किसानों को नहीं दी गई है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि 26 जनवरी पर आयोजित परेड के बाद ही टैक्टर रैली निकाली जा सकेगी और उसे अनुमति दी जाएगी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि अगर किसान लिखित में दें कि वे गणतंत्र दिवस की परेड के बाद रैली निकालेंगे तो इसे अनुमति दी जा सकती है। बता दें कि दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच बातचीत अपने अंतिम दौर में है, हालांकि अभी तक किसानों को ट्रैक्टर मार्च की अनुमति नहीं दी गई है। किसानों का कहना है कि हम अलग अलग 5 रूटों से शांतिपूर्वक परेड निकालेंगे। किसान नेता दर्शन पाल का कहना है कि परेड करीब 100 किमी तक चलेगी।

24-01-2021
आज है सादगी के पर्याय और सिद्धांतों की प्रतिमूर्ति कर्पूरी ठाकुर की जयंती

रायपुर/नई दिल्ली। मुख्यमंत्री बनने के बाद आज के नेताओं की संपत्ति में इज़ाफ़ा होना आम बात है। भारत में अगर इंसान एक बार सरपंच भी बन गया तो उसकी 2-3 पीढ़ियां बैठ कर आराम करती है। लेकिन क्या कभी आपने ऐसे नेता के बारे में सुना है जो 2 बार मुख्यमंत्री बनने के बावजूद अपना ढंग का एक घर भी ना बनवा पाए। आने जान के लिए उनके पास साधन न हो। पहनने के लिए उनके पास एक कोट भी न हो। नहीं न ? आज हम आपको ऐसे ही एक जननायक के बारे में बताने जा रहे है। जननायक नाम उन्हें ऐसे ही नहीं दिया गया। सादगी के पर्याय और सिद्धांतों की प्रतिमूर्ति कर्पूरी ठाकुर की बात हो रही है। वही कर्पूरी ठाकुर, जो बिहार के दूसरे डिप्टी सीएम यानी उपमुख्यमंत्री रहे और फिर दो बार मुख्यमंत्री रहे। एक शिक्षक, एक राजनेता, एक स्वतंत्रता सेनानी वगैरह, लेकिन उनकी असली पहचान थी ‘जननायक’ की। 24 जनवरी 1924 को बिहार के समस्तीपुर जिला के पितौंझिया (अब कर्पूरीग्राम) निवासी गोकुल ठाकुर और रामदुलारी के घर उनका जन्म हुआ। कर्पूरी ठाकुर ने भारत छोड़ो आंदोलन के समय करीब 26 महीने जेल में बिताया था। 22 दिसंबर 1970 से 2 जून 1971 और 24 जून 1977 से 21 अप्रैल 1979 के दौरान, दो कार्यकाल में वे बिहार के मुख्यमंत्री रहे। बड़े-बड़े राजनेता उनकी दयनीय स्थिति के बारे में जानकर रो पड़ते थे। आज कर्पूरी ठाकुर की जयंती है। आईए आज हम आपको उनकी सादगी से जुड़े कुछ किस्से बताते हैं।

1. साल था 1974, कर्पूरी ठाकुर के छोटे बेटे का मेडिकल की पढ़ाई के लिए चयन हुआ। पर वे बीमार पड़ गए। दिल्ली के राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती हुए। हार्ट की सर्जरी होनी थी। इंदिरा गांधी को मालूम हुआ तो एक राज्यसभा सांसद को भेजकर एम्स में भर्ती कराया। खुद मिलने भी गईं और सरकारी खर्च पर इलाज के लिए अमेरिका भेजने की पेशकश की। कर्पूरी ठाकुर को मालूम हुआ तो बोले, “मर जाएंगे, लेकिन बेटे का इलाज सरकारी खर्च पर नहीं कराएंगे।” बाद में जयप्रकाश नारायण ने कुछ व्यवस्था कर न्यूजीलैंड भेजकर उनके बेटे का इलाज कराया था। कर्पूरी ठाकुर का पूरा जीवन संघर्ष में गुजरा।

2. कर्पूरी ठाकुर दो बार मुख्यमंत्री रहे, लेकिन अपना एक ढंग का घर तक नहीं बनवा पाए थे। एक बार प्रधानमंत्री रहते चौधरी चरण सिंह उनके घर गए तो दरवाजा इतना छोटा था कि उन्हें सिर में चोट लग गई। वेस्ट यूपी वाली खांटी शैली में उन्होंने कहा, “कर्पूरी, इसको जरा ऊंचा करवाओ।” कर्पूरी ने कहा, “जब तक बिहार के गरीबों का घर नहीं बन जाता, मेरा घर बन जाने से क्या होगा?” 70 के दशक में जब पटना में विधायकों और पूर्व विधायकों को निजी आवास के लिए सरकार सस्ती दर पर जमीन दे रही थी, तो विधायकों के कहने पर भी कर्पूरी ठाकुर ने साफ मना कर दिया था। एक विधायक ने कहा- जमीन ले लीजिए। आप नहीं रहिएगा तो आपका बच्चा लोग ही रहेगा! कर्पूरी ठाकुर ने कहा कि सब अपने गांव में रहेगा।

3. कर्पूरी के पास गाड़ी नहीं थी। 80 के दशक में एक बार बिहार विधान सभा की बैठक चल रही थी, तब कर्पूरी ठाकुर विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता थे। उन्हें लंच के लिए आवास जाना था। उन्होंने कागज पर लिखवा कर अपने ही दल के एक विधायक से थोड़ी देर के लिए उनकी जीप मांगी। विधायक ने उसी कागज पर लिख दिया, “मेरी जीप में तेल नहीं है। आप दो बार मुख्यमंत्री रहे। कार क्यों नहीं खरीदते?” दो बार मुख्यमंत्री और एक बार उप-मुख्यमंत्री रहने के बावजूद उनके पास अपनी गाड़ी नहीं थी। वे रिक्शे से चलते थे। उनके मुताबिक, कार खरीदने और पेट्रोल खर्च वहन करने लायक उनकी आय नहीं थी।

4. वर्ष 1977 के एक किस्से के बारे में सुरेंद्र किशोर ने लिखा था, पटना के कदम कुआं स्थित चरखा समिति भवन में जयप्रकाश नारायण का जन्मदिन मनाया जा रहा था। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर, नानाजी देशमुख समेत देशभर से नेता जुटे थे। मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुरी फटा कुर्ता, टूटी चप्पल के साथ पहुंचे। एक नेता ने टिप्पणी की, ‘किसी मुख्यमंत्री के ठीक ढंग से गुजारे के लिए कितना वेतन मिलना चाहिए?’ सब हंसने लगे। चंद्रशेखर अपनी सीट से उठे और अपने कुर्ते को सामने की ओर फैला कर कहने लगे, कर्पूरी जी के कुर्ता फंड में दान कीजिए। सैकड़ों रुपए जमा हुए। जब कर्पूरी जी को थमाकर कहा कि इससे अपना कुर्ता-धोती ही खरीदिएगा तो कर्पूरी जी ने कहा, “इसे मैं मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करा दूंगा।”

5. ‘द किंगमेकर: लालू प्रसाद की अनकही दास्तां’ किताब के लेखक जयंत जिज्ञासु ने अपने एक लेख में कर्पूरी ठाकुर की सादगी के बारे में कई किस…

24-01-2021
भारत और चीन के बीच 9वें दौर की कोर कमांडर स्तरीय बैठक

रायपुर/नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच एलएसी पर तनाव कम करने को लेकर रविवार को 9वें दौर की कोर कमांडर स्तरीय बैठक हो रही है। बता दें कि बैठक मोलडो में सुबह 9 बजे से शुरू हुई। दोनों देश सीमा पर तनाव कम करने को लेकर लगातार बातचीत का रास्ता निकाल रहे हैं। एलएसी पर ​विगत 8 महीने से तनाव जारी है। ऐसे में 8 राउंड की सैन्य वार्ता हो चुकी है। लेकिन इस बातचीत का कुछ खास समाधान नहीं निकाला जा सका है।

22-01-2021
कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में हुआ फैसला, मई में होगा कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव

नई दिल्ली। कांग्रेस में अध्यक्ष पद का चुनाव इसी साल मई में कराया जाएगा। शुक्रवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इसका ऐलान किया गया। इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों के बाद कांग्रेस पार्टी संगठन का चुनाव करेगी, जिसमें अध्यक्ष पद का चुनाव सबसे अहम है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई। बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। उसके बाद वापस सोनिया गांधी ने अध्यक्ष पद पर कमान संभाली थी। कांग्रेस में लंबे वक्त से कयास लगाए जा रहे हैं कि राहुल की फिर अध्यक्ष पद पर ताजपोशी हो सकती है. हालांकि, कई बार गांधी परिवार से अलग अध्यक्ष बनाने की आवाज भी पार्टी में उठी है।

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने संबोधन में मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने संवेदनहीनता और अहंकार की सभी हदें पार कर दी हैं। किसान आंदोलन को लेकर सोनिया ने कहा कि इन कानूनों को सरकार ने जल्दबाजी में पास कर दिया। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया बोलीं कि संसद में कृषि कानूनों को ठीक से समझने का मौका नहीं दिया गया और अब बैठकों का दौर चल रहा है। सोनिया ने कहा कि कांग्रेस ने पहले ही इन तीनों कानूनों को सिरे से खारिज कर दिया था, ये कानून एमएसपी से लेकर खाद्य सुरक्षा तक पर सवालिया निशान खड़े करते हैं। सोनिया ने कोरोना वैक्सीनेशन अभियान पर कहा कि हमें उम्मीद है कि पूरी प्रक्रिया सही ढंग से पूरी होगी। कोरोना संकट के दौरान सरकार की गलत नीतियों ने कई नुकसान पहुंचाएं हैं। सोनिया गांधी ने अपने संबोधन में कहा कि जब हम विधानसभा चुनावों की तैयारी करें तो हम संगठन के चुनाव का भी ध्यान देना है।

 

 

22-01-2021
दुनिया के सबसे खतरनाक कोबरा कमांडो में शामिल होंगी महिलाएं

रायपुर/नई दिल्ली। कमांडो बटालियन फॉर रेसोल्यूट एक्शन(कोबरा) का नाम दुनिया के सबसे खतरनाक कमांडो में गिना जाता है। सीआरपीएफ की ये घातक कमांडो यूनिट साल 2009 में बनाई गई थी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल अब नक्सलियों से लड़ने के लिए अपनी स्पेशल जंगल वॉरफेयर कमांडो फोर्स में महिला अधिकारियों की नियुक्ति को लेकर विचार कर रहा है। ये जानकारी खुद सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल डॉ. एपी महेशवरी ने मीडिया से बातचीत के दौरान दी। गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महेश्वरी ने कहा, “हम कमांडो बटालियन फॉर रेसोल्यूट एक्शन (कोबरा) में महिलाओं को शामिल करने पर विचार कर रहे हैं।”

17-01-2021
रेलवे अधिकारी ले रहा था एक करोड़ की रिश्वत, सीबीआई ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कथित तौर पर एक करोड़ रुपये की घूस स्वीकार करने के मामले में रविवार को भारतीय रेल अभियांत्रिकी सेवा (आईआरईएस) के एक वरिष्ठ अधिकारी को गिरफ्तार किया और देश भर में 20 अन्य स्थानों पर छापेमारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जांच एजेंसी ने 1985 बैच के आईआरईएस अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) में परियोजनाओं के ठेके देने के बदले कथित तौर पर घूस ले रहे थे। उन्होंने कहा कि अधिकारी असम के मालीगांव में एनएफआर मुख्यालय में तैनात हैं। उन्होंने कहा कि एजेंसी ने घूस की रकम बरामद की है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), दिल्ली, असम, उत्तराखंड और दो अन्य राज्यों में 20 जगहों पर इस सिलसिले में छापेमारी कर रहा है।

 

16-01-2021
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का बदलेगा स्वरूप, रेलमंत्री ने जारी किया फर्स्ट लुक

 

नई दिल्ली। आने वाले कुछ दिनों के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन आपको बदला-बदला नजर आने वाला है। दरअसल स्टेशन का कायाकल्प होने वाला है।  यात्रियों को ध्यान में रखकर स्टेशन पूरी तरह से सुविधाओं से लैस होगा।  नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का फर्स्ट लुक रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर जारी किया है। उन्होंने तसवीरें शेयर कर बताया कि आने वाले समय में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन कैसा नजर आने वाला है। केंद्रीय मंत्री ने खुलासा किया है कि आने वाले कुछ दिनों में देश का सबसे बड़ा और दूसरा सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन कैसा नजर आने वाला है। गोयल ने तसवीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया और लिखा, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के भविष्य पर एक नजर डालें। उन्होंने आगे लिखा, ट्रांसपोर्ट अलग-अलग सुविधाओं के साथ ही एक ही जगह पर यात्रियों को सभी तरह की जरूरतें मुहैया कराने के मद्देनजर भविष्य में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन कुछ ऐसा नजर आएगा।

मालूम हो रेल भूमि विकास प्राधिकरण ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन समेत 62 रेलवे स्टेशनों की बिडिंग लगाने की योजना बनाई है।  जानकारी के अनुसार नई दिल्ली रेलवे स्टेशन आधुनिक सुविधाओं के साथ लैस होगा। बताया जा रहा है कि परियोजना को दो भागों में बांटा गया है। पहला स्टेशन परिसर और दूसरा व्यावसायिक विकास होगा। स्टेशन परिसर के अंतर्गत गुंबद के आकार वाली नई बिल्डिंग तैयार की जाएगी, जो आधुनिक सुविधाओं से पूरी तरह लैस होगी। बताया जा रहा है कि बिल्डिंग परिसर में आगमन और प्रस्थान के लिए दो-दो रास्ते होंगे। इसके अलावा इमारत के साथ-साथ रेलवे ऑफिस, रेलवे क्वॉर्टर भी बनाए जाएंगे।

15-01-2021
कांग्रेस ने किया कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन, दिल्ली में अलका लांबा हुईं घायल

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को पूरे देश में कृषि कानूनों के खिलाफ किसान अधिकार मार्च निकाला और राज्यपाल के निवास का घेराव किया। ऐसा ही मार्च आज राहुल गांधी के नेतृत्व में दिल्ली में भी निकला। हालांकि यह मार्च एलजी के निवास तक नहीं पहुंच सका लेकिन इसमें पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच में काफी झड़प हुई। इसी झड़प के दौरान कांग्रेस की नेता अलका लांबा का हाथ कट गया और उसमें से काफी खून बहा। गौरतलब है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए उपराज्यपाल निवास के लगभग डेढ़ किलोमीटर पहले से ही तीन लेयर की सुरक्षा का इंतजाम किया था। कांग्रेस का मार्च शुरू हुआ तो कार्यकर्ताओं ने पहले लेयर की बैरिकेडिंग ताकत लगाकर हटा दी। इसी दौरान कटीले तारों से लगकर कांग्रेस नेता अलका लांबा का हाथ कट गया। इसके बाद उनके हाथ से खून की धारा बहने लगी। दिल्ली कांग्रेस के इस कार्यक्रम में राहुल और प्रियंका गांधी ने भी शिरकत की। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चैधरी ने कहा, हमें दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड लगा कर रोक दिया। इस दौरान हमारे कार्यकर्ताओं को पीटा गया। कई कार्यकर्ताओं को चोंटे आई हैं।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804