GLIBS
15-09-2020
तीन सूत्रीय मांगों को लेकर ग्रामीण उतरे सड़क पर,राज्यपाल के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

बीजापुर। जिले के गंगालूर और दर्जनों गांवों हज़ारों ग्रामीणों अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर रैली के माध्यम से जिला मुख्यालय पहुंचे और अपनी मांगों का ज्ञापन राज्यपाल के नाम एसडीएम हेमेंद्र भुआर्य को सौपा। ग्रामीणों का कहना है कि कुछ दिन पहले गंगालूर में हज़ारों ग्रामीण एक जुट हुए थे और कोरोना संक्रमण के संबंध में ग्रामीणों ने अपनी 11 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर को सौंपा था।डिप्टी कलेक्टर और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों को समझया और हरसंभव मदद करने का भरोसा दिया था,उसके बाद ग्रामीण अपना धरना खत्म कर वापस अपने गांव लौट गए थे। ग्रामीणों का कहना है कि ज्ञापन देने के बाद भी हमारी समस्या का समाधान नहीं हुआ। इसलिए मंगलवार को दोबारा रैली निकाल जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंप रहे हैं। राज्यपाल को ग्रामीणों के द्वारा दिए गए ज्ञापन में प्रमुख रूप से वर्तमान समय में जिला चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्षेत्र के ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण नहीं होने के बावजूद भी उन्हें उठाकर जबरदस्ती हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा रहा है। खाने-पीने व इलाज सही तरीके से नहीं हो रहा है। शासकीय अस्पताल एवं प्राइवेट अस्पताल में कोरोना का अफवाह फैला कर कोरोना के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को हटाकर नए प्रभारी नियुक्त करने की बात भी आवेदन में लिखी गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बीजापुर बीआर पुजारी ने कहा कि क्षेत्र में काफी समय से अपनी सेवा दे रहा हूं। अंदरूनी ग्रामीण क्षेत्रों में पैदल जाकर सेवा देता हूं,पर आज रैली निकाल कर राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने नाम ज्ञापन में मेरे नाम का उल्लेख कर आवेदन दिया गया। इससे में बहुत आहत हुआ हूं। ग्रामीणों का मेरे खिलाफ आना यह किसी की साजिश भी हो सकती है और मेरे जान को भी खतरा हो सकता है। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने कहा कुछ महीना पूर्व माओवादियों ने संगठन की एक अपनी महिला साथी को कोरोना होने पर संगठन से दूर करने वाले आज कोरोना के नाम पर भ्रामक जानकारी फैला कर ग्रामीणों को गुमराह कर रही है। बेहतर स्वास्थ्य सुविधा,सड़क,शिक्षा की सुविधा जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में चल रहा है। इस भयानक महामारी के दौर में भी स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर व कर्मचारी नदी,नाला,पहाड़,पैदल चलकर ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर मलेरिया,कोरोना के अलावा बच्चों के टीकाकरण जैसे कई कार्य करते हैं। उसके बाद भी आरोप लगाना समझ से परे है। जिला प्रशासन ग्रामीणों से अपील करती है की भ्रामक जानकारी फैलाने वाले माओवादियों के झांसे में ना आकर रैली निकाल कर समूह में खड़े होकर अपनी जान खतरे में ना डालें ग्रामीण। कोरोना एक महामारी वायरस का नाम है। कोरोना होने के बाद भी डॉक्टरों के द्वारा इलाज़ करने पर जिले में अभी काफी लोग ठीक हो चुके हैं। जिले मैं अब तक कई लोग इस महामारी के चपेट में आ चुके हैं और कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके है। इस समय गंगालूर ,चेरपाल से रैली ज्यादा होने की वजह से अंदरूनी ग्रामीण क्षेत्रो के बच्चे,बूढ़े भी इस महामारी की चपेट में आ सकते हैं। भ्रामक जानकारी से खुद भी बचे और दूसरों को भी बचाएं।

 

11-09-2020
जिले के हजारों ग्रामीण उतरे सड़क पर,राज्यपाल के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

बीजापुर। जिले के भैरमगढ़ ब्लॉक में कई गांव के ग्रामीण भारी संख्या में पातरपारा में अपनी 20 सूत्री मांगों को लेकर इकट्ठा हुए। ग्रामीणों ने राज्यपाल के नाम एसडीएम भोपालपटनम एआर राणा को ज्ञापन सौंपा। एसडीएम ने ग्रामीणों से कहा कि उनकी मांगों को यथाशीघ्र सरकार के समक्ष रखी जाएगी और जल्द इसके निराकरण का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों को समझाइश देते हुए कहा कोरोना महामारी के संकट में इस तरह सामूहिक रूप से इकट्ठा होना खतरनाक है। उन्होंने कहा कि सभी से निवेदन है अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए इस प्रकार सामूहिक रूप में जमा न हो। 

 

10-09-2020
मो.अकबर ने कहा- सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने उठाएं प्रभावी कदम,सुझावों पर अमल करने के निर्देश

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की वर्चुअल बैठक गुरुवार को परिवहन मंत्री मो. अकबर की अध्यक्षता में उनके निवास कार्यालय में हुई। मंत्री मो.अकबर ने परिषद की ओर से परिवहन, स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा, पुलिस, नगरीय प्रशासन, पर्यटन विभाग सहित अन्य निर्धारित एजेण्डों की समीक्षा की। उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने और यातायात जागरुकता को बढ़ावा देने के साथ परिवहन व्यवस्था को और बेहतर बनाने की दिशा में प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए। बैठक में प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, विधायक अरुण बोरा,कुलदीप जुनेजा शिशुपाल सिंह सोरी सहित परिषद के प्रतिनिधि वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। इस दौरान गृहमंत्री साहू सहित विधायकों और सदस्यों के सुझावों पर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश संबंधित अधिकारियों को मंत्री मो. अकबर ने दिए।

सड़क बनाते समय अनावश्यक मोड़ न बनाएं

सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक में गृहमंत्री साहू के सुझाव पर मो.अकबर ने सड़क निर्माण के दौरान सड़कों में अनावश्यक मोड़ नहीं रखने, सड़क सीधी बनाते हुए प्रभावितों को मुआवजा देने के निर्देश दिए। ताकि मोड़ की वजह से सड़कों पर दुर्घटनाओं की संभावना कम हो। उन्होंने नगरीय निकाय, नगर पंचायत अंतर्गत सड़कों में बंद स्ट्रीट लाइटों की निरन्तर जांच कर बंद लाइटों को चालू कर पर्याप्त रोशनी रखने, वाहनों की तेज गति को नियंत्रित करने स्पीड गवर्नर लगाने की दिशा में कार्यवाही करने, नशापान और सड़क पर स्टंट करके वाहन चलाने वालों के विरुद्ध सख्ती से कार्यवाही करने, चौक के पूर्व चारों ओर की सड़कों में नियमानुसार ब्रेकर बनाने और मुख्य मार्ग से आकर जुड़ने वाली ग्रामीण या अन्य उपनगरीय सड़कों को जंक्शन वाले स्थान पर दुर्घटनाओं को रोकने  और व्यवस्थित रखने के निर्देश भी दिए।

कण्डम वाहनों के परिचालन पर लगे रोक और हो आवश्यक कार्यवाही

गृहमंत्री के सुझाव पर परिवहन मंत्री ने कण्डम वाहनों के परिचालन पर रोक और आवश्यक कार्यवाही की बात कहीं। उन्होंने सड़क किनारे वाहनों के पार्किंग, गैरेज में सुधार के लिए आने वाले वाहनों की बेतरतीब पार्किंग, यात्री वाहनों में क्षमता से अधिक यात्रियों को बिठाए जाने पर कड़ी कार्यवाही के सुझाव पर उचित कार्यवाही करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। गृह मंत्री साहू ने इस दौरान कहा कि सड़क पर यातायात का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए पूर्व में डीएसपी व टीआई रैंक के अधिकारियों को अधिकृत किया गया था, जिसे अब संशोधित कर एएसआई, एसआई स्तर के अधिकारियों को भी कार्यवाही करने के अधिकार दिया गया है।

विधायकों के सुझावों पर उचित कार्यवाही के निर्देश

मंत्री मो.अकबर ने यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध ई-चालान की कार्यवाही को सही बताते हुए विधायक वोरा के उच्च गुणवत्ता के सीसीटीवी लगाने, मुख्य मार्गों पर होर्डिंग हटाने और विधायक सोरी के सुझाव सड़क पर पशुओं से दुर्घटना, दुकानों के सामने नो पार्किंग में वाहन पार्किंग से होने वाली समस्या, विधायक जुनेजा के सुझाव पर भी उचित कार्यवाही के निर्देश दिए। जिला स्तरीय बैठक अनिवार्य रूप से कराए परिवहन मंत्री मो.अकबर ने जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक अनिवार्य रूप से समय पर कराने के निर्देश दिए।

परिवहन आयुक्त ने मंत्री को दी विभागीय गतिविधियों की विस्तार से जानकारी

बैठक में परिवहन आयुक्त डॉ.कमलप्रीत सिंह ने मंत्री को विभागीय गतिविधियों की विस्तार से जानकारी दी। अध्यक्ष, अतर्विभागीय लीड एजेंसी सड़क सुरक्षा और संयुक्त परिवहन आयुक्त संजय शर्मा ने परिषद की बैठक में विभागवार एजेण्डा की विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि पूर्व बैठक में दिए गए निर्देशों का पालन होने के साथ ही अनेक महत्वपूर्ण विभागीय पहल भी की गई है। दुर्घटनाओं पर रोक लगाने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए गए हैं। ब्लैक स्पॉट की पहचान व सुधार, ओवर लोडिंग वाहनों पर कार्यवाही, स्कूल बसों की जांच और कार्यवाही, नाबालिग विद्यार्थियों को वाहन चलाने से रोकने के प्रयास, पाठय पुस्तकों के माध्यम से विद्यार्थियों में यातायात के प्रति जागरुकता उत्पन्न करने के अलावा अन्य जरूरी कदम उठाए गए हैं। इससे वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में जनवरी से अगस्त तक सड़क दुर्घटनाओं में 24.85 प्रतिशत तथा मृत्यु में 20.77 प्रतिशत की कमी आई है।

चेक पोस्ट से जुड़ी समस्याओं का किया जाएगा निराकरण

परिवहन मंत्री मो. अकबर ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के जिला परिवहन अधिकारियों, चेक पोस्ट प्रभारियों और परिवहन उडनदस्ता प्रभारियों के कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान प्रभारियों से शासकीय वाहन, वाहन चालक, भवन, बिजली, कर्मचारी आदि से वन टू वन चर्चा और उनकी समस्याएं जानने के बाद परिवहन मंत्री ने यथासंभव निराकरण करने की बात कही। उन्होंने कहा कि चेकपोस्ट पर निरंतर कार्यवाही करें, आने वाले दिनों में इसके बेहतर परिणाम सामने आएंगे।

चेकपोस्ट पर डयूटी करने वाले पहनेंगे निर्धारित ड्रेस

परिवहन आयुक्त डॉ.कमलप्रीत सिंह ने कहा कि चेकपोस्ट पर जिनकी डयूटी लगी है वे निर्धारित ड्रेस में ही रहेंगे। अंबिकापुर, कोरबा, दुर्ग और बिलासपुर जिला प्रभारियों को कार्यवाही बढ़ाने के निर्देश देते हुए कार्यवाही से प्राप्त राशि को शासन के खाते में 24 घण्टे के भीतर चालान के माध्यम से अनिवार्य रूप से जमा करने के निर्देश दिए। परिवहन आयुक्त ने ओवर लोडिंग की कार्यवाही में प्रगति लाने, सड़क सुरक्षा की दृष्टिकोण से यातायात का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों का लाइसेंस निलंबित करने के अनुरोध पर समय रहते कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।

 

08-09-2020
11 सूत्रीय मांगों को लेकर ग्रामीण उतरे सड़क पर,अधिकरियों के आश्वासन के बाद वापस लौटे

बीजापुर। जिले के गंगालूर क्षेत्र के सात गांव पुसनार, मेटापाल, बुरजी, मल्लूर,गोंगला,हिरोली एवं नैनपाल के लगभग दो हज़ार ग्रामीण अपनी 11 सूत्रीय मांगों को लेकर गंगालूर में प्रदर्शन किया। इस दौरान ग्रामीण अपनी पारंपरिक वेश भूषा में नज़र आये। ग्रामीणों के हाथ में तीर धनुष के साथ देवी देवता फोटा भी थी। ग्रामीण अपनी मांगों को लेकर केंद्र और राज्य सरकार को कोसा। ग्रामीणों का कहना है कि इस कोरोना महामारी के चलते उन्हें इलाज़ सही तरह से नहीं मिल रहा है। इस से इस भयंकर बीमारी से लोगों की मृत्यु भी हो रही है। बच्चों के पढ़ाई पर भी असर हो रहा है। ग्रामीणों के मांगों में महंगाई,शिक्षा,फ़र्ज़ी मुठभेड़ और अत्याचार प्रमुख है। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर अमितनाथ त्यागी और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मिर्ज़ा ज़ियारत बेग ने ग्रामीणों को समझया और हरसंभव मदद करने का भरोसा दिया। उसके बाद ग्रामीण अपना धरना खत्म कर गांव लौटे।

 

06-09-2020
दो बाइक आपस में भिड़ी, 1 की मौत, 2 घायल

धमतरी। जिले के भखारा के सिलघाट मोड़ में दो बाइक आमने सामने से जा भिड़ी। इस सड़क हादसे में 1 व्यक्ति की मौत हो गई वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है। मिली जानकारी के अनुसार रविवार की सुबह लगभग 10 बजे भखारा के निवासी कीर्तन साहू अपनी बाइक से कौव्ही की ओर जा रहा था, दूसरी तरफ पाटन से रोशन ढीमर और सुनीता ढीमर नहावन कार्यक्रम में शामिल होने दोनर आ रहे थे। तभी सिलघट मोड़ के पहले दोनों बाइक की भिड़ंत हो गई। सूचना मिलते ही 108 एंबुलेंस मौके पर पहुंची। तीनों को गंभीर स्थिति में जिला अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर ने कीर्तन साहू को मृत घोषित कर दिया। रोशन ढीमर की स्थिति गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें बेहतर उपचार के लिए रायपुर रिफर किया जा रहा है।

05-09-2020
कोरोना संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराने सड़क पर उतरे लोग, भनक लगते ही पहुंची एम्बुलेंस

राजनांदगांव। ग्राम रामपुर में 3 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि के घंटों बाद भी भर्ती प्रक्रिया नहीं होने से लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। 20 घंटे गुजर जाने के बाद भी हॉस्पिटल नहीं ले जाने के कारण लोगों ने सड़क पर धरना दिया। लोगों का कहना था कि, अस्प्ताल नहीं ले जाने से गांव में संक्रमण का खतरा बढ़ने की भी आशंका थी। जनपद सदस्य मनीष कुमार साहू सभी अधिकारियों से लगातार संपर्क कर रहे थे,लेकिन किसी भी तरफ से सही जानकारी नहीं मिली। इस वज़ह से स्थानीय लोगों ने परेशान होकर शुक्रकवार देर रात सड़क पर ही धरना दिया। साथ ही जमकर नारेबाजी भी हुई। इस सब की  संबंधित विभाग को जानकारी मिलते ही,अगले 15 मिनट में एम्बुलेंस गांव पहुंची। संक्रमित व्यक्तियों को हॉस्पिटल ले जाया गया।

05-09-2020
मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रायपुर सड़क दुर्घटना में मृतक के परिजनों को 2-2 लाख रुपए देने की घोषणा की

ओडिशा। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने छत्तीसगढ़ के रायपुर मंदिर हसौद में हुई बस दुर्घटना में मरने वाले 7 लोगों के परिवारों को 2-2 लाख रुपए देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने ओडिशा के मंत्री सुसंता सिंह को रायपुर आने और आवश्यक सहायता देने के लिए कहा है। बता दें कि शनिवार सुबह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के मंदिर हसौद इलाके में तेज रफ्तार बस और ट्रक के बीच हुई भिड़ंत में 7 मजदूरों की मौत और करीब 20 मजदूर घायल हो गए। बताया जा रहा है कि आज सुबह करीब 3:30 बजे यह हादसा तब हुआ जब मजदूरों को उड़ीसा से बस सूरत गुजरात जा रही थी।

31-08-2020
सहायक सड़कों पर भी लगेगी रंबल स्ट्रिप, मवेशियों से सड़कों को खाली कराने चलाया जाएगा बड़ा ड्राइव

दुर्ग। संसदीय क्षेत्र के लिए सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सोमवार को अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। बैठक में सड़कों में दुर्घटनाओं को रोकने सहायक सड़कों पर रंबल स्ट्रिप बनाने, आवारा मवेशियों को सड़क से हटाने ड्राइव चलाने तथा स्ट्रीट लाइट की समस्या वाली सड़कों पर विशेष रूप से कार्य करने का निर्णय लिया गया। बैठक में सांसद विजय बघेल ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं की वजह से बहुत सी अनमोल जाने जाती हैं लेकिन इंजीनियरिंग साइड से थोड़े से तकनीकी परिवर्तन कर बहुत सी दुर्घटनाएं रोकी जा सकती हैं। इस संबंध में कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां पर जरूरत है वहां रंबल स्ट्रिप और संकेतक लगाए जाएं। जो ब्रेकर अनुपयुक्त हैं अथवा इंजीनियरिंग की दृष्टि से सही नहीं बने हैं उन्हें हटाने की और ठीक करने की कार्रवाई की जाए। बैठक में आवारा मवेशियों की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं पर चर्चा की गई। सदस्यों ने कहा कि गौठानों के निर्माण हो जाने की वजह से पशुओं को यहां रखने में आसानी होगी। कलेक्टर डाॅ.सर्वेश्वर भुरे ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिये कि इसके लिए लगातार ड्राइव चलाया जाए।

भिलाई स्टील प्लांट एरिया की कुछ सड़कों पर और नगर की कुछ अन्य सड़कों में स्ट्रीट लाइट की समस्या की बात भी बैठक में रखी गई,जिस पर अविलंब कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग में 4 ब्लैक स्पाट एवं 13 ग्रे स्पाट पर विशेष ध्यान देते हुए संकेतक बोर्ड, रंबल स्ट्रीप लगाने एवं अभियांत्रिकीय दोष दूर करने पर चर्चा की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि यातायात की सुगमता को देखते हुए कार्य किया जाए। सड़क सुरक्षा समिति की सबसे अहम जिम्मेदारी सड़क दुर्घटनाओं को रोकना है इसके लिए जिस तरह के भी तकनीकी निर्णय और कार्य किये जाने हैं उस पर कार्य किया जाए। बैठक में स्कूलों में भी सड़क सुरक्षा से संबंधित बातें बताने की बात सांसद ने कही। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि सिलेबस में यह शामिल है और बच्चों को इस संबंध में जागरूक करने लगातार विशेष रूप से पहल की जाती है। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि स्कूलों के सामने इमरजेंसी नंबर लिखवाये गये हैं। कुछ स्कूलों में यह कार्य बाकी है जिसे शीघ्र ही पूरा कर लिया जाएगा। बैठक में ड्राइवरों के नेत्र परीक्षण एवं स्वास्थ्य परीक्षण नियमित रूप से कराने के निर्देश भी सीएमएचओ को दिये गये। बैठक में अवैध होर्डिंग एवं गलत स्थान पर लगाये गए होर्डिंग भी हटाने का निर्णय लिया गया। बैठक में जिला पंचायत सीईओ  सच्चिदानंद आलोक ने ग्रामीण क्षेत्र में इस संबंध में हो रहे कार्यों की जानकारी दी। बैठक में विधायक  विद्यारतन भसीन, दुर्ग महापौर धीरज बाकलीवाल एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

31-08-2020
सड़कों की मरम्मत को लेकर कलेक्टर एक्शन में, फिर किया मुनगाडीह तक मरम्मत कार्य का निरीक्षण

कोरबा। जिलावासियों को आवागमन की बेहतर सुविधा देने के लिए कलेक्टर किरण कौशल सड़क मरम्मत केे कामों को लेकर पिछले एक सप्ताह से एक्शन मोड में है। कलेक्टर ने सोमवार को फिर कोरबा से लेकर  री,कटघोरा,सुतर्रा,डूमरकछार,पाली होते हुए मुनगाडीह तक सड़क मरम्मत के हो रहे कामों का निरीक्षण किया। उन्होंने पिछले तीन दिनों में सड़क मरम्मत के कामों पर संतोष जताया और अधिकारियों को मरम्मत का काम तेज करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सड़क मरम्मत के काम को पूरी गुणवत्ता के साथ करने को कहा ताकि नई सड़क बनने तक लोगों को आने-जाने के लिए अच्छी सड़क मिल सके। किरण कौशल ने सड़कों पर बारिश के बाद धूप के कारण उड़ रही धूल को रोकने के लिए नियमित रूप से पानी छिड़काव करने के निर्देश दिए। उन्होंने सड़कों पर बड़े-छोटे गड्ढों मे भरे जा रहे मैटल और काॅम्पेक्शन के काम का भी जायजा लिया। किरण कौशल ने सड़को की वर्तमान स्थिति से लोक निर्माण विभाग केे सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेसी और इंजीनियर इन चीफ भतपहरी, चीफ इंजीनियर एनके साय को भी दूरभाष पर अवगत कराया। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सड़क मरम्मत का काम तेज करने के लिए ठेकेदारों को लेबर बढ़ाने को भी कहा।

किरण कौशल ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रिय अधिकारी से भी बात की और पतरापाली-कटघोरा मार्ग की मरम्मत के लिए जरूरी सहयोग करने को कहा। इस दौरान अनुविभागीय राजस्व अधिकारी  सूर्यकिरण तिवारी, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता वर्मा सहित एनएचएआई के प्रभारी अधिकारी गौरव और अन्य संबंधित अधिकारी भी मौजूद रहे। कलेक्टर ने जमनीपाली रोड पर सड़क मरम्मत के काम को एनटीपीसी प्रबंधन के सहयोग से जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने सड़क पर उड़ रही धूल को रोकने के लिए पानी का छिड़काव करने और सड़क को पर्याप्त समतल करने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने जेलगांव चौक पर गुणवत्ताहीन काम के लिए एनटीपीसी प्रबंधन के प्रति नाराजगी भी जताई। कलेक्टर ने एनटीपीसी प्रबंधन और नगर निगम कोरबा के अधिकारियों को आपसी समन्वय कर सड़क मरम्मत के काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश भी दिए।

 किरण कौशल ने छुरी में सड़क पर हो गए बड़े-बड़े गड्ढों में प्रीमिक्स जेएसबी मटेरियल भरकर काॅम्पेक्टिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने छुरी मुख्य सड़क के किनारे बन रही जलनिकास नाली के काम का भी निरीक्षण किया और कामगारों की संख्या बढ़ाकर गुणवत्ता पूर्ण नाली बनाने के निर्देश दिए। किरण कौशल ने ढेलवाडीह पुल मरम्मत के काम का भी जायजा लिया। उन्होंने यहां भी काम तेज कर दो दिनो मे पूरा करने के निर्देश दिए। कटघोरा शहर के बाहर अहिरन नदी पर बने पुल की खस्ता हालत पर कलेक्टर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों पर नाराज हुईं। उन्होने अगले तीन दिनो मे पुल की टुटी हुई रेलिंग की मरम्मत करने और कटघोरा के गौरवपथ के काम की आगामी एक माह की कार्ययोजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। किरण कौशल ने डूमरकछार में जर्जर सड़क की मरम्मत के धीमे काम पर अधिकारियों के प्रति नाराजगी जताई। कलेक्टर ने सड़क मरम्मत के कामों के वैल्युवेशन के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तथा सिंचाई विभाग के कार्यपालन अभियंताओं का दल बनाने को भी कहा। उन्होंने मुनगाडीह पुल पर अप्रोच रोड बनाने के काम में देरी पर भी अधिकारियों के प्रति नाराजगी व्यक्त की। किरण कौशल ने बिजली विभाग के अधिकारियों को अप्रोच रोड पर आ रहे बिजली के तारों को जल्द से जल्द से शिफ्ट करने के भी निर्देश दूरभाष पर ही दिए।

 

29-08-2020
स्वास्थ्य अमले ने जाम नालियों को खोला, नाली, सड़क किनारे से गाजर घास को काटा

दुर्ग। लगातार हो रही बारिश के बाद भी निगम का स्वास्थ्य अमला शहर की निरंतर सफाई में लगा हुआ है। चार दिनों से हुई बारिश में शंकर नगर के दुर्गा चौक को छोड़ कर शहर के किसी भी हिस्से में नाली जाम की स्थिति निर्मित नहीं हुई। महापौर धीरज बाकलीवाल एवं आयुक्त इंद्रजीत बर्मन के निर्देश पर शनिवार को निगम स्वास्थ्य विभाग अमले ने शहर के तालाबों से कचरा निकाल कर सफाई की। वार्डो में नालियों से कचरा निकालकर कचरा उठाया गया। ब्लीचिंग और दवाई का छिड़काव भी वार्डो में किया गया। उल्लेखनीय है कि शहर स्वच्छता की दृष्टि से महापौर एवं आयुक्त के निर्देशानुसार मीनाक्षी नगर, बोरसी, आदित्य नगर, राजीव नगर, कातुलबोर्ड, करहीडीह वार्ड 15, पुलगांव वार्ड, नयापारा, रामदेवमंदिर वार्ड, पोटियाकला वार्ड, न्यू पुलिस लाईन क्षेत्र, नया गंजमंडी, पोलसायतालाब रोड, गवलीपारा पीछे भैंस खटाल, सिकाकेला बस्ती, रायपुर नाका क्षेत्र, केलाबाड़ी अपोलो स्कूल के पीछे, विद्युत नगर बोरसी, कसारीडीह वार्ड 43, में नालियों के किनारे से गाजर घास व झाड़ियाॅ काटी गई तथा नालियों से कचरा निकालकर सफाई किया गया। इसके अलावा उपरोक्त वार्डो में ब्लीचिंग और सैनिटाइजर दवाई का छिड़काव भी किया गया। इसके साथ ही निस्तारी तालाबों कचहरी तालाब, शक्ति नगर तालाब, लुचकी तालाब, शंकर नाला पुलिया, शीतला तालाब विसर्जन कुण्ड, कैलाश नगर तालाब में बारिश के कारण एकत्र हुये कचरों को निकालकर तालाब की सफाई की गई।

 

17-08-2020
सोनहत में ग्रामीणों को मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और सड़क, विकास कार्यो का हुआ लोकार्पण

कोरिया। सोनहत विकासखण्ड में कटगोड़ी 3 लाख रूपये की राशि से निर्मित जिम हाल का सोमवार को विधायक गुलाब कमरो ने लोकार्पण किया। कछार में शिव गुफा में 3 लाख की लागत से बने शेड व सीढ़ी निर्माण का लोकार्पण किया। कछार में 10 लाख की लागत से बनने वाले गौठान निर्माण कार्य का भी भूमिपूजन हुआ। विधायक गुलाब कमरो ने बोडार ग्राम में 54 लाख की लागत से बने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का लोकार्पण किया। भैंसवार ग्राम पंचायत में विधायक मद से बने शेड के साथ 10 लाख की लागत से मवेशी आश्रय स्थल, 403 मीटर सीसी सड़क लागत 15 लाख के साथ 10 लाख की लागत से सीसी सड़क व नाली निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। अकला सरई आजीविका संसाधन केंद्र भवन का भूमिपूजन किया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804