GLIBS
25-06-2019
सात दोस्त एक साथ उतरे थे नदी में नहाने, 2 दोस्त डूबे, शहर में पसरा मातम

सूरजपुर। अपने दोस्तों के साथ रेणुका नदी में स्नान करने गए दो मासूम बच्चों की जल समाधि हो गई। समाचार लिखे जाने तक मृतकों के शव नदी से नहीं निकाला जा सके है। इसके लिए गोताखोरों की मदद ली जा रही है। गौरतलब है कि मंगलवार को दोपहर करीब 2 बजे नगर के नया बस स्टैंड मोहल्ला निवासी सुमित साहू 12 वर्ष और आयुष साहू 12 वर्ष अपने 5 अन्य दोस्तों के साथ छठ घाट के समीप स्थित नौकाघाट रेड नदी में स्नान करने गए थे। उसी दौरान सुमित और आयुष के गहरे पानी में चले जाने के कारण डूब गए। जबकि उनके साथ गए तीन अन्य साथी सकुशल हैं, जिन्होंने परिजनों को इस घटना की सूचना दी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम, परिजन और स्थानीय नागरिक मौके पर पहुंचे है। स्थानीय गोताखोरों ने उनकी तलाश शुरू कर दी है लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है।

कपड़ों से हुई पहचान, परिजनों का रो रो कर बुरा हाल


जिस स्थान पर सुमित साहू और आयुष साहू के डूबने की बात कही जा रही है उसी स्थान पर नदी के घाट पर उन दोनों बच्चों के कपड़े चप्पल और जूते रखे हुए हैं, जो स्पष्ट है कि वे दोनों बच्चे आयुष और सुमित हैं। इस घटना की सूचना जब परिजनों के पास पहुंची तो दोनों बच्चों के परिजन तत्काल घटनास्थल पर पहुंच गए और कपड़े देखकर परिजनो का रो रो कर बुरा हाल है।

इसी स्थान पर होली के दिन हुआ था हादसा

बताया जा रहा है कि जहां पर वे दोनों बच्चे नहा रहे थे वहां पर गहरा खोह है। इसमें कुछ वर्षों पूर्व होली के दिन तीन बच्चों की जल समाधि हो चुकी हैं। इस हादसे के बाद रेड नदी के इस स्थल को प्रतिबंधित कर दिया गया था लेकिन पुनः प्रशासनिक अनदेखी के कारण आज पुनः दो बच्चों की इसी स्थान पर जल समाधि हो गई।

28-04-2019
सर्जिकल स्ट्राइक के बाद राहुल-लालू के ऑफिस में था मातम : अमित शाह  

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को बिहार और उत्तर प्रदेश में तीन रैलियां कीं। सीतामढ़ी की रैली में अमित शाह ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद राहुल-लालू के ऑफिस में मातम पसरा हुआ था। सीतामढ़ी में जेडी (यू) प्रत्याशी सुनिल कुमार पिंटू के पक्ष में रविवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद कांग्रेस और उसके सहयोगी दल आरजेडी के कार्यालय में मातम पसरा हुआ था।  मातम था एक तो पाकिस्तान में था, वहां तो होना चाहिए था। दूसरा मातम राहुल बाबा और लालू-राबड़ी के आफिस में था। छाती पीट-पीटकर रो रहे थे। उनको लगा कि यह चुनाव में मुद्दा बन जाएगा। अमित शाह ने कहा कि बिहार के सीतामढ़ी की जनसभा में उमड़ा ये जनसैलाब जनता का बीजेपी-जेडीयू गठबंधन की विकास और सुशासन की राजनीति में विश्वास को दर्शता है। पूरा बिहार एक स्वर में मोदी के साथ और गुंडाराज व परिवारवाद की राजनीति के विरुद्ध खड़ा है। मोदी के नेतृत्व में एनडीए बिहार की सभी सीटें जीतेगा। बिहार के सीतामढ़ी में रैली को संबोधित करने के बाद रविवार शाम को उन्होंने उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में फिर मोहनलाल गंज में रैली को संबोधित किया। दोनों ही रैलियों में उन्होंने एसपी-बीएसपी और आरएलडी गठबंधन को आड़े हाथों लिया और कहा कि कानून व्यवस्था के मोर्चे पर अखिलेश और मायावती की सरकारें फेल रही हैं। लेकिन जब से यूपी में योगी की सरकार आई है तब गुडों में खौफ का आलम है। बाराबंकी में बीजेपी अध्यक्ष शाह ने कहा कि सपा-बसपा सरकार में गुंडों से पुलिस डरती थी। योगी की सरकार आई इन्होंने गुंडों को उल्टा लटकाकर सीधा करने का काम किया। आज गुंडे पुलिस से डर रहे हैं। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804