GLIBS
11-11-2019
पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी एन शेषन नहीं रहे

चेन्नई पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी एन शेषन का हृदयाघात से निधन। वे 86 वर्ष के थे और देश के दसवें मुख्य चुनाव आयुक्त रहे। टी एन शेषन की पहचान भ्रष्टाचार के खिलाफ किसी भी स्तर पर लड़ाई लड़ने वालों के रूप में थी। ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन टी एन शेषन की ही देन है। टी एन सेशन के निधन पर शशि थरूर, देवेंद्र फडणवीस, ममता बनर्जी ने शोक व्यक्त किया है। मुख्य चुनाव आयुक्त कुरेशी ने कहा है कि उनका निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति है।

29-09-2019
एस श्रीसंत भाजपा में होंगे शामिल, कहा - 2024 में शशि थरूर के खिलाफ लडूंगा चुनाव

नई दिल्ली। खिलाड़ियों और बॉलीवुड एक्टरों का राजनीति में आने का सिलसिला अब भी जारी है। इसी बिच एक और क्रिकेटर ने भाजपा का दामन थमने का ऐलान किया है। दरअसल आईपीएल में मैच फिक्सिंग के आरोप में सात साल की सजा भुगत रहे क्रिकेटर एस श्रीसंत ने भाजपा में शामिल होने की बात कही है। श्रीसंत ने एक इंटरव्यू में कहा कि वह कांग्रेस नेता शशि थरूर को हराने के लिए 2024 में भाजपा के टिकट पर तिरुवनंतपुरम सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे। आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के चलते 13 सितंबर 2013 को भारतीय बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था, लेकिन पिछले ही महीने बीसीसीआई ने श्रीसंत पर लगे प्रतिबंध को घटाकर सात साल कर दिया।

उनपर से प्रतिबंध 2020 के अगस्त में खत्म होगा। एस श्रीसंत ने कहा कि मैं शशि थरूर का बहुत बड़ा प्रशंसक हूं। वही एक व्यक्ति हैं, जो मुझे समझते हैं और मुश्किल वक्त में उन्होंने मेरा साथ दिया, लेकिन मैं उन्हें तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से चुनाव में हराऊंगा। सुप्रीम कोर्ट ने 15 मार्च को तेज गेंदबाज पर लगे आजीवन प्रतिबंध को समाप्त कर दिया था। अदालत ने बीसीसीआई लोकपाल से तीन महीने के भीतर श्रीसंत की सजा का पुन: निर्धारण करने के लिए कहा था। मामले को देख रहे जस्टिस डीके जैन ने 24 अगस्त को सजा का पुन: निर्धारण करते हुए श्रीसंत की सजा सात साल कर दी।

 

31-08-2019
कोर्ट से बोली दिल्ली पुलिस- शशि थरूर के खिलाफ तय हो पत्नी को खुदखुशी के लिए उकसाने का आरोप 

नई दिल्ली। सुनंदा पुष्कर केस में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से साफ शब्दों में कहा कि शशि थरूर के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप तय होना चाहिए। पुलिस ने कहा कि थरूर के खिलाफ 498ए, 306 के तहत केस दर्ज होना चाहिए। दिल्ली की कोर्ट इस मामले पर अब अगली सुनवाई 17 अक्टूबर को करेगी। वहीं सुनंदा पुष्कर के भाई आशीष दास ने कहा कि वह अपने शादीशुदा जिंदगी से बेहद खुश थीं, लेकिन अपने अंतिम दिनों में वह बेहद परेशान थीं। वह कभी आत्महत्या करने के बारे में सोच भी नहीं सकती थीं। इस बीच शशि थरूर के वकील विकास पाहवा ने बयान जारी करके दिल्ली पुलिस के आरोपों को गलत करार दिया है। उनका कहना है कि अभियोजक चार्जशीट के उलट बात कर रहे हैं। अभियोजक ने जो आरोप लगाए हैं वो बेतुके और गलत हैं। विकास पाहवा ने कहा कि अपने द्वारा तय किए गए आरोपों के हिसाब से दिल्ली पुलिस साक्ष्यों के बारे में टुकड़ों-टुकड़ों में बात कर रही है।

यह विधि के सिद्धांत के खिलाफ है। शशि थरूर के वकील का आरोप है कि अभियोजक साइकोलॉजिक ऑटोस्पी करने वाले विशेषज्ञों की राय के बारे में नहीं बता रहे हैं। जिन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि यह न तो हत्या का मामला है और न ही आत्महत्या का, लेकिन कुछ अज्ञात जैविक वहज हो सकती है। गौरतलब है कि कांग्रेस सांसद शशि थरूर पर उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर को खुदकुशी करने के लिए लिए उकसाने और उनका मानसिक उत्पीड़न करने का आरोप है। 17 जनवरी 2014 को दिल्ली के पांच सितारा होटल में शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। मौत से एक दिन पहले कथित तौर पर सुनंदा पुष्कर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच ट्विटर पर बहस हुई थी। वहीं इससे कुछ ही दिन पहले उन्होंने थरूर पर पाकिस्तानी पत्रकार के साथ अंतरंग संबंध होने के आरोप लगाए थे। मामले में दिल्ली पुलिस की तरफ से शशि थरूर को आरोपी बनाते हुए कोर्ट में 3000 पन्नों की लंबी चार्जशीट दाखिल की गई है। पुलिस ने 14 मई 2018 को थरूर के खिलाफ पत्नी को खुदकुशी के लिए उकसाने और क्रूरता से संबंधित भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं के तहत चार्जशीट दायर की। वहीं दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने चार्जशीट के आधार पर थरूर को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोपी माना है।

30-08-2019
शशि थरूर ने फिर की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ.... 

नई दिल्ली। केरल की तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। पिछले दिनों एक ट्वीट का जवाब देते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री तारीफ की थी। जिसके बाद उन्हें कांग्रेस ने नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण मांगा था। अब गुरुवार को एक बार फिर उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने 2014 के मुकाबले 2019 में भाजपा का मत प्रतिशत बढ़ाया है। थरूर ने कहा प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश में 2014 के 31 प्रतिशत के मुकाबले भाजपा का मत प्रतिशत 2019 में 37 प्रतिशत तक पहुंचा दिया है। पार्टी के तौर पर कांग्रेस को यह समझना चाहिए कि क्यों उसे महज 19 फीसदी वोट ही मिले। मोदी ने तारीफ करने लायक बहुत कम काम किया हैं। लेकिन इसके बावजूद वह देश भर में अपना वोट प्रतिशत बढ़ाने में सफल रहे हैं। इससे पहले थरूर ने कहा था कि जैसा कि आप जानते हैं, मैं छह साल से यह दलील देते आ रहा हूं कि मोदी जब भी कुछ अच्छा कहते हैं या सही चीज करते हैं तो उनकी तारीफ करनी चाहिए। ऐसा करने के बाद जब हम उनकी गलतियों की आलोचना करेंगे तो हमारी बात की विश्वसनीयता बढ़ेगी। मैं विपक्ष के उन लोगों का स्वागत करता हूं जो मेरे विचार से मिलती-जुलती बात कर रहे हैं। उनके इस बयान पर नाराजगी जताते हुए कांग्रेस ने उनसे सफाई मांगी थी। कांग्रेस सांसद को केरल ईकाई के अध्यक्ष मुलापल्ली रामचंद्र ने नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण मांगा था। जिसका उन्होंने जवाब दे दिया। इसके बाद गुरुवार को रामचंद्र ने कहा कि वह थरूर के बयान से संतुष्ट हैं और उन्होंने उनके खिलाफ कार्रवाई न करने का फैसला लिया है।

28-07-2019
राहुल गांधी के त्यागपत्र से कांग्रेस को हो रहा नुकसान : शशि थरूर

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने रविवार को कहा कि राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद नेतृत्व को लेकर स्पष्टता की कमी पार्टी को नुकसान पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में सुधार का रास्ता यही हो सकता है कि कार्यसमिति सहित पार्टी में सभी महत्वपूर्ण पदों के लिए चुनाव हों, जिससे इनमें चुने जाने वाले नेताओं को स्वीकार्यकता हासिल करने में मदद मिलेगी। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के इस आकलन का भी समर्थन किया कि इस समय कांग्रेस की कमान किसी युवा नेता को सौंपी जानी चाहिए। थरूर ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव होने पर महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा इसमें अपनी किस्मत आजमाने को लेकर फैसला करेंगी। लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि यह गांधी परिवार का फैसला होगा कि प्रियंका इस पद के लिए चुनाव लड़ेंगी या नहीं। एक साक्षात्कार में थरूर ने पार्टी की मौजूदा स्थिति पर असंतोष जताया और कहा कि कांग्रेस जिन हालात से गुजर रही है उसका अभी कोई स्पष्ट जवाब नहीं है। तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद ने कहा कि यह बिल्कुल सही बात है कि पार्टी के शीर्ष पद पर स्पष्टता की कमी संभवत: कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों को नुकसान पहुंचा रही है, इनमें से ज्यादातर पार्टी नेता की कमी महसूस करते हैं जो अहम फैसलों को देखे, कमान संभाले और यहां तक कि पार्टी में नई जान फूंके और उसे आगे ले जाए। थरूर ने उम्मीद जताई कि कांग्रेस कार्य समिति मौजूदा स्थिति को बहुत गंभीरता से ले रही है और वह बिना किसी देरी के समाधान खोजने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस में सुधार का एक रास्ता यह हो सकता है कि सीडब्ल्यूसी पार्टी के लिए एक अंतरिम कार्यकारी अध्यक्ष का नाम बताए और फिर इसे भंग कर दें। इसके बाद ताजा चुनाव हों। 

 

 

07-07-2019
वरिष्ठ कांग्रेसी सांसद शशि थरूर ने भगवा रंग को बताया गौरवशाली रंग

नई दिल्ली। केरल से सांसद और वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने अपना भगवा प्रेम जग जाहिर कर दिया है। दरअसल शशि थरूर इंग्‍लैंड में चल रहे विश्‍वकप में भारतीय टीम की भगवा जर्सी को लेकर बोल रहे थे। शशि थरूर ने भगवा रंग को लेकर एक गौरवशाली रंग बताया। उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम ने आईसीसी के नियमों की वजह से एक मैच के लिए केसरिया रंग चुना।

थरूर ने कहा, ‘आईसीसी के एक नए नियम में कहा गया है कि जब दो टीमों की जर्सी एक ही रंग की होती है, तो मेजबान देश की टीम को अपने ड्रेस का रंग बदलने की जरूरत नहीं है। लेकिन दूसरी टीम को अपनी ड्रेस बदलनी होती है, लिहाजा भारत ने अपनी लिये केसरिया और नीले रंग की ड्रेस चुनी’।

शशि थरूर ने कहा कि टीम इंडिया के सपोर्ट में मैंने भी भगवा रंग की जैकेट पहनी थी। उन्होंने कहा, 'क्योंकि टीम इंडिया को अपनी जर्सी बदलनी पड़ी, 'इसीलिए मैंने थोड़ा नीली रुमाली जेब के साथ केसरिया जैकेट पहनी थी, जोकि इंग्लैंड के खिलाफ मैच में भारतीय टीम के समर्थन में पहनी गई थी।
बता दें कि टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप 2019 में इंग्लैंड के साथ होने वाले एक मुकाबले के दौरान जैसे ही ड्रेस चेंज की, बवाल शुरू हो गया। क्योंकि ये ड्रेस भगवा यानी केसरिया कलर की थी। इस पर राजनीतिक दलों ने ऐतराज जताया और क्रिकेट टीम का भगवाकरण करने का आरोप लगाया। 

 

28-05-2019
शशि थरूर कांग्रेस के संकट के बीच पार्टी नेता बनने को तैयार

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा कि अगर पार्टी उन्हें लोकसभा में कांग्रेस पार्टी का नेता पद की पेशकश करती है तो वह इस दायित्व को निभाने के लिए तैयार हैं। तिरुवनंतपुरम से लगातार तीसरी बार सांसद चुने गए थरूर ने सोमवार को एक टीवी चैनल से  कहा, अगर पेशकश की गई, तो मैं कांग्रेस का लोकसभा नेता बनने के लिए तैयार हूं।

उन्होंने स्वीकार किया कि कांग्रेस की मुख्य चुनावी थीम 'न्याय' को मतदाताओं के समक्ष ठीक से नहीं रखा गया और इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की 'नरम हिंदुत्व' की नीति की ओलाचना की। उन्होंने हालांकि जोर देकर कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बने रहना चाहिए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, पार्टी उनकी सहायता के लिए क्षेत्रीय कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति पर विचार कर सकती है। थरूर 2009 से तिरुवनंतपुरम संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। 2014 में उन्होंने भाजपा के ओ.राजगोपाल के विरुद्ध मात्र 15,000 मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी।

16-04-2019
Nirmala Sitharaman: घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने पहुंचीं भाजपा नेता निर्मला ​सीतारमण, भाव विभोर हुए थरूर

नई दिल्ली। तिरुवनंतपुरम के एक अस्पताल में भर्ती घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने भाजपा की वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री निर्मला ​सीतारमण मंगलवार को अस्पताल पहुंचीं।  थरूर ने ट्वीट में लिखा, 'निर्मला सीतारमण का यहां आना दिल को छू गया। केरल में अपने व्यस्त चुनावी कार्यक्रम के बीच अस्पताल पहुंचकर उन्होंने मेरा हाल जाना। भारतीय राजनीति में शिष्टाचार एक दुर्लभ गुण है। उन्हें इसका बेहतरीन उदाहरण पेश करते देखकर बहुत अच्छा लगा। 
शशि थरूर सोमवार को तिरुवनंतपुरम के एक मंदिर में  अपने प्रचार अभियान से पहले दर्शन के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान अचानक वह गिर पड़े और उनको सिर में चोट आई। थरूर को फौरन इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। प्राथमिक इलाज के बाद थरूर के सिर में 11 टांके लगाए गए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804