GLIBS
31-08-2019
सीएम बघेल ने किया 51 करोड़ 42 लाख से अधिक की राशि की चेक व सामाग्री का वितरण

जांजगीर चाम्पा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जांजगीर-चांपा स्थित शासकीय टीसीएल कालेज के समीप खोखराभांठा में भव्य रूप से आयोजित अभिनंदन समारोह में हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत 114 हितग्राहियों को 51 करोड़ 42 लाख रूपये से अधिक रूपये की राशि का चेक और सामाग्री का वितरण किया। उन्होंने मिनीमाता स्वालंबन योजना, स्माल बिजनेस योजना और लघु व्यवसाय योजना के तहत 15 हितग्राहियों को 14 लाख 20 हजार रूपये का चेक प्रदान किया। इसी तरह उन्होंने समाज कल्याण विभाग की योजना के तहत 10 दिव्यांगों को 4 लाख 20 हजार रूपये की राशि से निर्मित मोटराईज्ड साइकिल और निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत दो दंपत्तियों को डेढ़ लाख रूपये का प्रोत्साहन राशि का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री बघेल ने राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के प्रावधानों के तहत 6 मृतकों के निकटतम वारिसों को 24 लाख रूपये की सहायता राशि का चेक, कृषि विभाग की योजना के तहत 70 किसानों को स्प्रेयर यंत्र, सीड ट्रिटमेंट ड्रम और स्वायल हेल्थ कार्ड प्रदान किया। इसी क्रम में उन्होंने खाद्य विभाग की योजनाओं के तहत 10 हितग्राहियों को अंत्योदय व प्राथमिकता वाले राशन कार्ड और लेपटाप एवं टेबलेट, मछली पालन विभाग की योजनाओं के तहत 24 मछुआरों को  एक लाख 40 हजार रूपये की राशि का जाल और आईस बाक्स एवं पशु चिकित्सा विभाग की योजना के तहत 34 हितग्राहियों को 6 लाख 12 हजार रूपये की बैक्यार्ड कुक्कुट और चाराबीज प्रदान किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री बघेल ने 10 लोगों को जाति प्रमाण पत्र भी प्रदान किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री बघेल ने कार्यक्रम स्थल पर स्वास्थ्य विभाग, क्रेडा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, रेशम विभाग, मत्स्य पालन, उद्यानिकी, महिला एवं बाल विकास, कृषि विभाग सहित अन्य विभाग द्वारा विकास और निर्माण कार्यो को प्रदर्शित स्टालों का भी अवलोकन किया और आवश्यक जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री टीएस सिंहदेव, चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव, पूर्व विधायक मोतीलाल देवांगन, चुन्नीलाल साहू, चैनिंसंह सामले, गोरेलाल बर्मन, जिला पंचायत अध्यक्ष नंदकिशोर हरबंश, रश्मि गबेल, मंजू सिंह, शशिकांता राठौर आदि उपस्थित थे। 

 

21-05-2019
पहली से लेकर आठवीं तक के रिजल्ट में गोलमोल जवाब देकर बच रहे अधिकारी

रायपुर। प्रदेश में इस वर्ष कक्षा पहली से लेकर आठवी तक बोर्ड कर दिया गया था। बोर्ड के तर्ज पर परीक्षा तो ले ली गई। लेकिन रिजल्ट घोषित करने के लिए शिक्षा अधिकारी गोल मोल जवाब दे और अपने को बचाने में लगे हुए है। वही स्कूल शिक्षा विभाग के बड़े अधिकारी नाम न बताने के शर्त में बताया कि दूसरे जिले के कॉपी चेक होने में देर हो रही है, जिसकी वजह से रिजल्ट घोषित करने में कुछ वक्त और लग सकता है। रायपुर के शिक्षा अधिकारी जीआर चन्द्राकर का कहना है छत्तीसगढ़ के सभी बच्चों का प्रश्न सहित आकंलन किया जा रहा है। उन बच्चों को प्रोत्साहित करने व आने वाले भविष्य में अच्छे अंकों से पास होने के लिए प्रोत्साहित करने को तैयारी की जा रही है।
आप को बता दें कि स्कूल शिक्षा विभाग 20 मई को पहली से लेकर आठवीं तक के बच्चों के रिजल्ट घोषित करने वाले थे लेकिन अभी तक कॉपी चेक नही होने के कारण रिजल्ट कुछ दिनों बाद घोषित किया जाएगा।

16-04-2019
Lok Adalat: चेक बाऊंस के लंबित मामले के निपटारे के लिए 20 अप्रैल को लगेगी वृहद लोक अदालत

रायपुर। राजधानी सहित प्रदेश के सभी जिलों में 20 अप्रैल को वृहद लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। इसमें चेक बाऊंस के लंबित मामलों का निराकरण किया जाएगा। न्यायाधीश सचिव उमेश उपाध्याय ने बताया कि 20 अप्रैल को एक वृहद लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। ये राज्य स्तरीय लोक अदालत है। लगभग 5-6 साल बाद किसी विषय को लेकर लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य और पूरे देश में जिस तरह से चेक बाऊंस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है और लोग चेक अपने आप में समन्वय व्यवहार में उपयोग कर रहे हैं। इसी के चलते चेक बाऊंस के मामले कोर्ट में पहुंच रहे हैं।

इसी तरह रायपुर में भी चेक बाऊंस के मामले बड़ी संख्या में लंबित है। रायपुर में चेक बाऊंस के लगभग 12 हजार 800 मामले लंबित है। ये सभी मामले के निराकरण के लिए रायपुर सहित सभी जिलों में 20 अप्रैल को वृहद लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 8 फिडबैक बनाई गई है। इससे अधिक से अधिक चेक बाऊंस मामलों का निराकरण हो सके। वहीं सचिव उमेश उपाध्याय ने लोगों से अपील की है कि अपने चेक बाऊंस के मामले को लेकर लोक अदालत में पहुंचे और निराकरण करवाएं।
 

14-01-2019
crime : हस्ताक्षरसुदा चेक चोरी कर खाते से निकाले 2 लाख 20 हजार, 2 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज 

रायपुर। राजधानी के रिंग रोड नंबर 2 भनपुरी स्थित कृष्णा स्टील एवं कृष्णा तालपत्री हार्डवेयर दुकान के नौकर ने हस्ताक्षरसुदा चेक चोरी कर 2 लाख 20 हजार रुपए आहरण कर लिया। दुकान संचालक की शिकायत पर खमतराई पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज कर जांच में लिया है। सुंदर नगर निवासी श्रीकांत यादव का रिंग रोड नंबर 2 भनपुरी में कृष्णा स्टील कृष्णा तालपत्री नाम से हार्डवेयर दुकान है। बताया जाता है कि प्रार्थी के दुकान में काम करने वाला नौकर लुकेश भारती ने 7 जनवरी को दुकान के दराज में रखे एसबीआई बैंक के चेक को चोरी कर लिया। इसके बाद वह काम में आना बंद कर दिया। उसके बाद 11 जनवरी को श्रीकांत के मोबाइल पर मैसेज आया कि उसके खाते से 2 लाख 20 हजार रुपए ट्रांसफर किया गया है। इससे श्रीकांत ने बैंक मैनेजर भानु प्रकाश को फोन किया तो जानकारी मिली की उक्त से परमेश्वर बंजारे के खाते में पैसा ट्रांसफर किया गया है। इस पर श्रीकांत ने इसकी शिकायत खमतराई थाने में की। मामले में पुलिस ने आरोपी लुकेश व परमेश्वर के खिलाफ अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

31-12-2018
सीएम बघेल के निर्देश पर समाजसेवी प्रो. खेरा को मिला स्कूल के लिए चेक

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को अपने बिलासपुर प्रवास के दौरान प्रोफेसर और प्रसिद्ध समाजसेवी पीडी खेरा से अस्पताल में जाकर मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने श्री खेरा के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की तथा चिकित्सकों को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए। प्रो. खेरा का बिलासपुर के अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है। मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री को बताया गया कि प्रो.खेरा की ओर से बैगा आदिवासियों के शैक्षणिक उत्थान के लिए मुंगेली जिले के ग्राम छपरवा में स्कूल संचालित किया जा रहा है, जिसके लिए पूर्व में 20 लाख रुपए की राशि राज्य शासन की ओर से स्वीकृत की गई थी, लेकिन वह राशि अब तक प्राप्त नहीं हुई है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इसे गंभीरता से लिया और अधिकारियों को तत्काल स्वीकृत राशि प्रो. खेरा की संस्था को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

उनके निर्देश पर जिला पंचायत मुंगेली ने आज ही प्रो. खेरा को 20 लाख रुपए का चेक प्रदान कर दिया। प्रो. खेरा ने इसके लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया और उन्हें छपरवा आने का न्यौता दिया, जिसे मुख्यमंत्री ने सहर्ष स्वीकार कर लिया। 
उल्लेखनीय है कि समाजसेवी प्रो. खेरा लंबे समय से मुंगेली जिले के अचानकमार क्षेत्र में विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति के शैक्षणिक और सामाजिक उत्थान के लिए काम कर रहे हैं। उनके की ओर से स्वयं के खर्च पर ग्राम छपरवा में हायर सेकेंडरी स्कूल संचालित किया जा रहा है। पूर्ववर्ती सरकार ने इस स्कूल के लिए 20 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की थी, किन्तु उस राशि का भुगतान नहीं किया गया था। मुख्यमंत्री बघेल के संज्ञान में यह बात आने पर उन्होंने इसे गंभीरता से लिया और अधिकारियों को आज ही स्वीकृत राशि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश के दो घंटे के भीतर ही अधिकारियों द्वारा स्वीकृत राशि का चेक प्रो. खेरा को उपलब्ध करा दिया गया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804