GLIBS
04-05-2020
3 साल की बच्ची के श्वास नली में फंसा था सीताफल का बीज, 6 महीने बाद निकाला गया

रायपुर। राजधानी के डॉक्टर की मेहनत से एक मासूम की मुस्कान फिर लौट आई है। सांस लेने में तकलीफ से परेशान 3 वर्षीय बच्ची का सही इलाज नहीं हो पा रहा था। परिजन 1 माह से इलाज करा रहे थे पर कोई फायदा नहीं हो रहा था। इसके बाद राजनांगांव के पास से इस बच्ची को रायपुर के समता कॉलोनी स्थित निजी अस्पताल लाया गया। परिजनों ने डॉक्टर को बताया था कि वे विगत 1 माह से बच्ची का इलाज करा रहे हैं लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ है। जांच में डॉक्टर को यह आशंका हुई कि श्वसन नली में कुछ फसा होने से बच्ची को तकलीफ हो रही होगी। डॉक्टर ने बताया कि चूंकि बच्ची के फेफड़े में दिक्कत थी और निमोनिया होने की वजह से श्वसन में तकलीफ हो रही थी। पहले बच्ची का कोरोना टेस्ट कराया गया फिर पूरी सावधानी के साथ डॉक्टर की टीम ने दूरबीन से जांच की।

इस दौरान श्वसन नहीं में कुछ होना पाया गया। जब उसे बाहर निकाला गया तो डॉक्टर हैरान थे। बच्ची के श्वसन नली में सीताफल का बीज था। बीज फंसा होने से फेफड़े में संक्रमण हो गया था। डॉक्टर ने मामले में जब परिजनों से बात की तो उन्हें याद आया कि 6 माह पूर्व अक्टूबर में बच्ची को सीताफल खाने के दौरान खांसी हुई थी। लेकिन आशंका नहीं हुई कि बीज श्वसन नली में फंस गया होगा। मासूम बच्ची को फिर से मुस्कान देने वाले डॉक्टर की टीम में डॉ.पूजा धुप्पड़, डॉ.अरूण कुमार, डॉ.कुलदीपक वर्मा, डॉ.सतीश राठी, डॉ.रोहित कुमार शर्मा और डॉ.चन्द्रपाल भगत शामिल थे। डाक्टर का कहना है कि हर निमोनिया कोरोना नहीं होता है। बीज वाले फल खाने पर इस प्रकार की घटनाओं से बच्चों में जान का खतरा हो सकता है।

02-05-2020
Video: गांव में सहेलियों के साथ खेल रही बच्ची का अपहरण,पुलिस और पब्लिक की सक्रियता से पकड़ा गया आरोपी

रायगढ़। जिला मुख्यालय से महज 60 किलोमीटर दूर तमनार थाना क्षेत्र के गांव में शुक्रवार शाम घर से कुछ दूर सहेलियों के साथ खेल रही एक बच्ची का अपहरण कर लिया गया। इसकी सूचना तत्काल परिजनों ने तमनार पुलिस को दी। वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी थानों को अवगत कराकर नाकेबंदी कराई। तमनार थाना प्रभारी ने रायगढ़ एसपी के निर्देश पर तत्काल चार अलग-अलग टीम का गठन कर पतासाजी करने के आदेश दिए। वही तमनार थाना की सभी सीमाओं को भी सील किया गया। सहयोग के लिए घरघोड़ा थाना प्रभारी भी अपने बल के साथ पहुंचे। मामला सोशल मीडिया में भी वायरल होने लगा। 

जब पता चला कि आरोपी को बच्ची समेत कुधरीखार तमनार की ओर ले जाता देखा गया है तब पुलिस ने एक किराना स्टोर के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल। फुटेज में आरोपी महलोई गांव की ओर बच्ची को मोटरसाइकिल सीजी 12एयू0775 में ले जाते हुए देखा गया। अंत में ग्रामीणों की तत्परता और पुलिस की सक्रियता से आरोपी समेत बच्ची को घर से 8 किलोमीटर दूर महलोई गांव में पकड़ लिया गया। पुलिस टीम ने आरोपी को पकड़कर थाना लाया। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी का नाम अजीत सिंह पोर्ते,जो कि जिंदल के डीसीपीपी फायर ब्रिगेड में कार्यरत है और कोरबा निवासी है। वह फायर ब्रिगेड की खाकी वर्दी होने के कारण अपने आप को पुलिस बताकर बच्ची को डरा धमकाकर ले गया। पुलिस के अनुसार आरोपी नशे में भी धुत था। ग्रामीणों के सहयोग और पुलिस की सक्रियता से आरोपी पकड़ा गया।

16-04-2020
तेंदुआ के हमले से मासूम बच्ची हुई घायल

नरहरपुर। जामगांव के इमलीपारा में तेंदुआ के हमले से एक 9 वर्ष की मासूम बच्ची घायल हो गई। प्राथमिक उपचार के बाद बच्ची को बेहतर उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। जानकारी के अनुसार बीते दिन दोपहर में नरहरपुर ब्लॉक के जामगांव इमलीपारा में सोनसिंग कोमरे अपनी 9 वर्षीय पुत्री के साथ खेत की ओर गया हुआ था। इसी दौरान खेत से लगे जंगल से अचानक आए तेंदुए को देखकर खुशबू जोर-जोर से रोने लगी। उसे देखकर सोनसिंग तेंदुए को भगाने के लिए शोर करने लगा। शोरगुल सुनकर आसपास के ग्रामीण भी वहां जुट गए। घटना की जानकारी वन विभाग को दी गई तो अधिकारी,कर्मचारी मौके पर पहुंचे।

 

24-03-2020
बच्ची की बीमारी का बहाना झूठ निकला, हवाखोरी करने निकला युवक अब जेल की हवा खा रहा

रायपुर। राजधानी में पुलिस सख्त होती नजर आ रही है। बीते दिन बैरन बाजार कुंदरापारा  में घर से बाहर घूमने निकले युवक को जब पुलिस ने पकड़ा तब उसने बच्ची के अस्पताल में भर्ती होने का बहाना किया। लेकिन पुलिस उसके बात की पुष्टि करने के लिए जब अस्पताल पहुंची तो दिनेश की बात झूठ निकली, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। प्रशासन की सख्ती और बढ़ने के आसार हैं।

18-02-2020
नाबालिग बच्ची का अपरहण, मामला दर्ज

रायपुर। शहर की नाबालिग बच्चियों को आए दिन बहला फुसलाकर अपहरण करने की वारदात होते रहती है। इसी कड़ी में रावांभाठा निवासी नाबालिग बच्ची को 19 वर्षीय युवक वासु बंजारे ने बहला फुसलाकर अपहरण करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। उक्त मामले में खमतराई पुलिस थाने ने गुमशुदगी की धारा 363 व 366 के तहत मामला दर्ज किया है। इसी तरह  गोबरा नवापारा थाने में भी अज्ञात युवक ने नाबालिग को बहला फुसलाकर अपहरण कर कहीं ले गया है। इस मामले में भी गोबरापारा थाने ने आईपीसी की धारा 363 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

 

23-01-2020
टीचर ने करवाया बच्ची से 450 बार उठक-बैठक, छात्रा की तबीयत बिगड़ी

ठाणे।  होमवर्क पूरा नहीं करने पर टीचर ने अपनी 8 साल की छात्रा को 450 बार उठक-बैठक करने की सजा सुना दी। मासूम छात्रा ने पिटाई के डर से सजा पूरी की लेकिन उसकी तबियत खराब हो गई। ठीक से चल न पाने और पैरों में सूजन आने के बाद छात्रा को अस्पताल ले जाना पड़ा, जहां डॉक्टरों ने उसका उपचार किया। बच्ची की मां ने आरोपी टीचर के खिलाफ पुलिस में शिकायत की और केस दर्ज कराया। सब इंस्पेक्टर ने बताया कि बच्ची की मां ने अपनी शिकायत में ट्यूशन टीचर के खिलाफ आरोप लगाए हैं। बच्ची की मां ने बताया कि जब बेटी ट्यूशन पढ़कर घर लौटी तो वह ठीक से चल नहीं पा रही थी।

पुलिस ने दर्ज की एफआईआर बच्ची की मां के मुताबिक छात्रा के दोनों पैरों में सूजन थी। वजह पूछने पर मासूम बच्ची ने बताया कि टीचर ने उससे 450 बार उठक-बैठक करवाई है। मां ने बताया कि बीते महीने भी आरोपी टीचर लता ने उनकी बेटी के कपड़े उतारकर छड़ी से पिटाई की थी। पुलिस ने आरोपी टीचर के खिलाफ धारा 324 और जुवेलाइन जस्टिस की अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है, हालांकि अभी टीचर को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

 

11-12-2019
 बच्ची के साथ दुष्कर्म, एफआईआर दर्ज कराने कल से थाने में बैठे है परिजन, कोई सुनवाई नहीं

रायपुर। राजधानी से लगे कुम्हारी थाना क्षेत्र में 8 साल की बच्ची के साथ कुकर्म की घटना सामने आई है। पीड़ित के परिजन रेप का जुर्म दर्ज कराने के लिये कल से थाने में बैठे है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। बेहद ही शर्म की बात है कि देश में एक ओर जहां बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया जा रहा है दूसरी ओर बेटियों के साथ बलात्कार, हत्या, छेड़खानी, शोषण जैसी वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। समझ से परे है कि क्या अब बेटियां महफूज नहीं है। क्या सरकार गूंगी बहरी और अंधी हो चुकी है। आखिरकार बेटियों की सुरक्षा को लेकर सरकार किसी प्रकार की कोई पहल क्यों नहीं करती और कुम्हारी थाना क्यों गरीबों के साथ सहयोग नहीं कर रहा है। इस पर कोई कार्यवाही होगी भी या नहीं ये देखना होगा। थाना प्रभारी से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि प्रोसेस हो गया है और मामले की जांच जारी है।

 

03-11-2019
महिला अपनी दो बेटियों के साथ कूदी कुएं में, बेटियों की मौत, खुद बच गई

बैतूल। जिले में एक महिला ने अपनी दो बेटियों के साथ कुएं में छलांग लगा दी। इस घटना में दोनों बेटियां डूब गई और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। लेकिन महिला कुएं में कूदने के बाद खुद बाहर निकल आई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों मासूमों के शवों को बाहर निकालकर पीएम के लिए भेज दिया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। मामला आमला थाना क्षेत्र के लालावाड़ी गांव का है। यहां एक महिला अपनी दो बेटियों के साथ कुएं में छलांग लगा दी। इस घटना में उसकी दोनों बेटियों की मौत हो गई। लेकिन महिला कुएं में कूदने के बाद खुद बाहर निकल आई। मृतकों में एक बच्ची की उम्र 7 वर्ष जबकि दूसरी की उम्र 6 साल थी। महिला को कुएं में कूदने के कारण कुछ चोटें भी आई हैं। कुएं में कूदने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। हालांकि पारिवारिक कलह की बात सामने आ रही है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची है और शवों को बाहर निकाला। मामले की जांच की जा रही है।

 

23-09-2019
कैप्सूल की ठोकर से बच्ची की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

जांजगीर-चांपा। जांजगीर-चाम्पा जिले में आज एक तेज रफ्तार कैप्सूल की ठोकर से 3 वर्षीया बच्ची की मौत हो गई। घटना कनसदा के पास सिंघुल मोड़ के पास की है जहां मां और बेटी को कैप्सूल गाड़ी ने ठोकर मार दी। 108 की सहायता से दोनों को नवागढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भर्ती कराया गया। वहां  प्राथमिक उपचार के बाद बिलासपुर रिफर कर दिया गया। यहां इलाज के दौरान बच्ची रिया कश्यप की मौत हो गई। इस पर आक्रोशित ग्रामीणों ने मुआवजे और कार्रवाई की मांग को लेकर कई घण्टों तक चक्काजाम कर दिया। मौके पर पुलिस और तहसीलदार ने पहुंचकर समझाइश दी और तत्काल सहायता राशि मुहैया कराकर मामले को शांत कराया। ड्राइवर को हिरासत में लेकर पुलिस जांच में जुट गई है।

 

20-08-2019
मामी की सहमति पर चार दरिंदों ने किया बच्ची के साथ बलात्कार 

अंबिकापुर। अंबिकापुर जिला मुख्यालय के सीतापुर थाना अंतर्गत एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने सभ्य समाज को झकझोर कर रख दिया है । बचपन में मां-बाप का सर से साया उठते ही सगे मामा-मामी ने अपनी भांजी  के साथ अत्याचार करना शुरू कर दिया। इससे भी दिल नहीं भरा तो मामी ने 12 वर्षीया मासूम को गांव के ही चार लड़कों के हवाले कर दिया। चारों दरिंदों ने उस मासूम को जंगल ले जाकर सामूहिक बलात्कार किया और उसे जंगल में छोड़ कर भाग गए। जब किशोरी पेट से हो गई तो सामाजिक डर से किशोरी के नाना-नानी ने उसका गर्भपात करा दिया। मामला प्रकाश में आने पर किसी ने इसकी शिकायत सीतापुर चाइल्डलाइन से की। शिकायत मिलने पर सीतापुर चाइल्डलाइन द्वारा बालिका को उसके मामा-मामी के पास से बरामद कर सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश कर दिया गया, लेकिन अब तक कोई भी वैधानिक कार्रवाई नहीं हो सकी है। जानकारी के अनुसार बालिका के माता-पिता की किसी ने हत्या कर दी। उस वक्त वह बहुत छोटी थी। थोड़ी बड़ी हुई तो अपने सगे मामा-मामी का हाथ थाम वह कापू धरमजयगढ़ से सीतापुर आ गई। यहां मामा-मामी ने उससे न केवल घर का काम करवाना शुरू करवा दिया, बल्कि अपने बच्चे को खिलाने की जिम्मेदारी भी दे दी। बच्ची से अगर थोड़ी सी गलती हो जाती थी तो उसकी जमकर पिटाई की जाती थी। इससे पूर्व भी बाल श्रम के खिलाफ  कार्रवाई करते हुए चाइल्ड लाइन द्वारा उसके मामा-मामी के खिलाफ  कार्रवाई की गई, लेकिन इसका उन पर असर नहीं हुआ तथा वे उसे और अधिक प्रताडि़त करने लगे। बालिका ने सीडब्ल्यूसी को जो आपबीती बताई उसके अनुसार एक दिन जब वह घर में अकेली थी तो उसकी मामी वहां पहुंची और उसे चार लड़कों के साथ जाने कहा। मना करने पर उसे जबरदस्ती भेज दिया। लड़कों ने जंगल ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया। इससे वह 12 वर्ष की कम उम्र में गर्भवती भी हो गई। शिकायत मिलने पर सीतापुर चाइल्ड लाइन द्वारा बालिका को उसके मामा-मामी के पास से बरामद कर सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया गया लेकिन अभी तक उन आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हो सकी है। इस संबंध में प्रभारी चाइल्ड लाइन अम्बिकापुर मनोज भर्ती ने बताया है कि  बच्ची चाइल्ड लाइन में बहुत खुश है। हमने उसे यहां एक स्कूल में भर्ती कराया है जहां वह 6वीं कक्षा में पढ़ रही है। मामले की जानकारी हमारे द्वारा सीडब्ल्यूसी को दी गई है। आरोपियों के खिलाफ अब तक एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है। पुलिस का रवैया इस मामले में संदिग्ध है। हमारी जिम्मेदारी बच्ची को संरक्षण और सुरक्षा प्रदान करना है,जो हम भलीभांति कर रहे हैं। बच्ची हमारे संरक्षण में बेहद स्वस्थ है। हमारी ओर से उसकी नियमित काउंसिलिंग कर उसकी स्थिति सामान्य करने का प्रयास किया जा रहा है।

 

27-06-2019
Video : दो साल की बच्ची को क्रिकेट बाल की तरह लपककर कैच कर लिया इस फरिश्ते ने

नई दिल्ली। जाको राखे साइयां, मार सके न कोय, यह कहावत एक बार फिर सार्थक हुई है। तुर्की के फतेह डिस्ट्रिक्ट ऑफ इस्तांबुल में एक बच्ची अपार्टमेंट के सेकंड फ्लोर से गिरती है और उसे 17 साल का एक लड़का कैच कर लेता है। बच्ची की जान बचाने वाले फ्यूजी जबात की सोशल मीडिया पर खूब तारीफ  हो रही है। दरअसल जैसे ही फ्यूजी ने देखा कि एक बच्ची (दोहा मुहम्मद) अपने घर की खिड़की से गिरने वाली है, वह फुुटपाथ पर जा खड़ा हुआ और बच्ची को कैच कर लिया। फ्यूजी की बुद्धिमानी के चलते  बच्ची को एक भी खरोच नहीं आई। अल्जीरियाई प्रवासी फ्यूजी जबात उसी सड़क पर एक कार्यशाला में काम करता है जहां दुर्घटना हुई थी। फ्यूजी का कहना है कि उसने लड़की को बचाने के लिए वही किया जो उसे करना था। जानकारी के अनुसार बच्ची दोहा मुहम्मद  की मां खाना पकाने में व्यस्त थी तभी बच्ची दूसरी मंजिल की खिड़की से गिर गई। इस घटना मां को हिलाकर रख दिया। बता दें कि बच्ची के परिवार ने फ्यूजी को शुक्रिया कहने के लिए 200 तुर्की  लीरास का उपहार दिया। वहीं सोशल मीडिया ने फ्यूजी को हीरो बना दिया। फ्यूजी के इस कारनामे का वीडियो सोशल मीडिया पर धड़ाके से शेयर किया जा रहा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804