GLIBS
15-01-2021
एसपी भोजराम पटेल ने किया सड़क,बाजार,चौक चौराहों का किया निरीक्षण, अव्यवस्थित ठेला वाहनों को हटवाया

गरियाबंद। लगातार यातायात की अव्यवस्थाओं की शिकायतों के बाद शुक्रवार को स्वयं गरियाबंद के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल सड़कों पर पैदल  निकले। लगभग 4 घंटा गरियाबंद के विभिन्न चौक चौराहों सड़कों और बाजार में पहुंच यातायात की व्यवस्थाओं को देखते हुए उन्होंने यातायात व्यवस्था को तत्काल दुरुस्त कराया। उन्होंने कहा कि वे मुख्य रूप से यातायात से होने वाली दिक्कतों को देख रहे हैं किन किन बिंदुओं के चलते यातायात अव्यवस्थित हो रहा है इस तरह की अव्यवस्थाओं को देखने के बाद उनका प्रयास होगा कि वे यहां के नागरिक व्यवसायियों के साथ बैठकर ऐसा हल निकालें,जिससे कि यातायात हमेशा के लिये व्यवस्था दूर हो सके। राजिम फिंगेश्वर छुरा को की भी यातायात व्यवस्था इसी तरह की बनी हुई है इसे भी इसी तरह ठीक करना है।

पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल अपने विभिन्न अधिकारियों के साथ गरियाबंद के चैक चैराहे बाजार और सड़कों पर पैदल निकल कर उन्होंने यातायात की व्यवस्थां का अध्ययन किया है। साथ ही जो मौके पर पाया गया उसे तत्काल ठीक कराया गया है। एक बात यह भी देखने को मिली कि गरियाबंद का बस स्टैंड काफी अव्यवस्थित नजर आ रहा था हालांकि पुलिस अधीक्षक से चर्चा करने पर उन्होंने इस बात को खुलकर कहा कि मुख्य रूप से जो सड़कों में परेशानी आ रही है वह लोगों के सडको पर अव्यवस्थीत खड़े होना,गुमटी ठेलो के अव्यवस्थित बसाहट के साथ ही विभिन्न वाहनों को अव्यवस्थित बेतरतीब खड़े होना हैं। मुख्य रूप से यातायात के व्यवस्था को बाधित कर रहे हैं इनकी व्यवस्था देख रहे है।ं कुछ दिनों के बाद वे नागरिकों एवं व्यापारियों की बैठक लेकर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने का पूरा प्रयास करेंगे।

 

15-01-2021
नगर निगम जांच दल ने माना पार्किंग घोटाला पूरे 1 वर्ष चला : अजय वर्मा

दुर्ग। दुर्ग नगर निगम बाजार विभाग प्रभारी ऋषभ जैन बाबू से इस्तीफा की मांग भाजपा पार्षद दल आज की है। गौरतलब है कि नगर निगम दुर्ग के दो प्रमुख पार्किंग स्थलों से मुख्य आय होती है। इन दोनों पार्किंग को  बिना ठेका दिए पिछले 1 वर्ष से दुर्ग शहर की जनता से अवैध वसूली होती रही है। इस विषय की जांच की मांग भाजपा पार्षद दल ने आयुक्त से की थी। आयुक्त  ने पार्किंग घोटाले की जांच के लिए जांच दल बनाकर 15 दिन में रिपोर्ट मांगी थी।
नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा ने आगे बताया कि जांच अधिकारी राजेश पांडे कार्यपालन अभियंता एवं प्रकाश थवानी भवन अधिकारी ने जांच पूर्ण कर जो रिपोर्ट जमा की है उसके अनुसार पिछले वर्ष भर तक दुर्ग शहर की जनता से इंदिरा मार्केट एवं बस स्टैंड में पार्किंग की अवैध वसूली हुई है किंतु जांच दल अवैध वसूली करने वाले ठेकेदार का नाम नहीं बता पाए । निगम को हुए नुकसान के लिए दोनों बाजार अधिकारी दुर्गेश गुप्ता एवं थान सिंह यादव को जिम्मेदार बताते हुए प्रकरण को पुलिस विभाग को प्रेषित करने की अनुशंसा की है।

भाजपा पार्षद दल के नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा सहित पार्षद गण गायत्री साहू, काशीराम कोसरे,चंद्रशेखर चंद्राकर, नरेंद्र बंजारे, देवनारायण चंद्राकर, चमेली साहू, लीना देवांगन, मनीष साहू,नरेश तेजवानी, ओम प्रकाश राकेश सेन, पुष्पा वर्मा, शशि साहू, कुमारी साहू एवं हेमा शर्मा ने महापौर से कहा है कि शहर की जनता से हुई अवैध पार्किंग वसूली आपके एक वर्षीय कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि है। भाजपा पार्षद दल ने आगे कहा कि महापौर परिषद के सदस्यों की जिम्मेदारी अपने.अपने विभागों की देखरेख एवं नियंत्रण होता है। चूंकि  महापौर की रुचि निगम कार्य में नहीं है, अतः उनके एमआईसी मेंबर भी उदासीन रहते हैं, निगम में बाजार विभाग में इतना बड़ा पार्किंग घोटाला हुआ है, दुर्ग शहर की जनता के साथ अवैध वसूली एवं ठगी हुई है। अतः महापौर को अपने एमआईसी मेंबर एवं बाजार विभाग प्रभारी ऋषभ जैन से तत्काल इस्तीफा मांगना चाहिए और प्रकरण को पुलिस विभाग के हवाले करना चाहिए ताकि दुर्ग शहर की जनता से हुई अवैध वसूली की राशि जब्त हो सके । भाजपा पार्षद दल ने महापौर को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक शहरवासियों से हुई ठगी की राशि वापस निगम में नहीं आएगी एवं बाजार विभाग प्रभारी का इस्तीफा नहीं लेंगे तब तक हम चुप नहीं बैठेंगे।

 

07-01-2021
बाजार सुव्यवस्थित करने शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कवर्धा। शहर कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाते ही मोहित ने शहर की प्रमुख समस्या को दूर करने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। नवीन बाजार मार्ग, शांति दीप कॉलोनी मार्ग में अव्यवस्था ढंग से सब्जी बाजार लग रहा है। यहां ग्राहकों से लेकर सब्जी व्यपारियों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिला मुख्यालय होने के कारण प्रतिदिन बाजार लगता है,जिसमे बड़ी संख्या में व्यपारी व ग्राहक आते हैं। लेकिन यहां किसी प्रकार का सुविधा नही है। सब्जी व्यपारी शांति दीप कालोनी मार्ग, रेवाबन्ध मार्ग व नवीन बाजार मार्ग की सकरा सड़क पर बैठकर सब्जी दुकान लगाते है। यहां किसी प्रकार का शेड नही होने के कारण धूप व बारिश में खुले आसमान के नीचे व्यपार करने मजबूर है। वही बारिश में तो अधिक पानी का बहाव होने के कारण सब्जी सड़क पर बह तक जाती है। इसी प्रकार सब्जी खरीदने वाले ग्राहकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहां पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। सभी ग्राहक अपने वाहनों को लेकर सब्जी बाजार की ओर जाते हैं, जिसके कारण बाजार में जाम लग जाती है और ग्राहक व व्यापारियों के बीच विवाद भी होता है। इस समस्या को देखते हुए शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहित माहेश्वरी ने कलेक्टर से चर्चा कर नवीन बाजार से लगे हुए पुराने मंडी परिसर में सब्जी बाजार लगाने की मांग की है। ताकि लोगों को पार्किंग सुविधा के साथ व्यापारियों को स्थायी स्थान व शेड मिल सके। कलेक्टर को ज्ञापन देने राजेश मकीजनी, राकेश तम्बोली, पार्षद हिरेश चतुर्वेदी सहित सब्जी व्यापारी उपस्थित थे।

03-12-2020
फ्रोजन फूड से बाजार अटा पड़ा है पर ठहरिए और सोच समझ कर फ्रोजन फूड यूज कीजिए ये बीमारियों का पैक है

रायपुर। लोगों के पास समय की कमी होने के कारण फ्रोजन फूड या पैक फूड्स का प्रचलन बहुत ज्यादा हो गया है। यहां तक कि बाजार में रोटी से लेकर पराठा तक भी पैक मिलने लगा है, जिसे आप कई दिन रखकर भी खा सकते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि फ्रश फूड की तुलना में फ्रोजन फूड या पैक्ड फूड सेहत के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है। यहां तक कि इस फूड के सेवन से आप कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। फ्रोजन या पैक्ड फूड में हाइड्रोजेनेटेड पाम ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें हानिकारक ट्रांस फैट होता है। इसके साथ ही इसमें स्टार्च और ग्लूकोज से बने कॉर्न सिरप जैसे प्रिजर्वेटिव का इस्तेमाल किया जाता है। ये भी सभी चीजें सेहत के लिए हानिकारक होती हैं। इसके अलावा पैक्ड फूड में सोडियम की मात्रा भी बहुत अधिक होती है। इसकी वजह से सेहत संबंधी कई दिक्कतें हो सकती हैं। इसलिए हो सके तो आप फ्रोजन या फिर पैक्ड फूड के इस्तेमाल से बचें।

14-11-2020
दिवाली को शानदार और यादगार बनाना है तो अपनों को तोहफे में दीजिए ये, सब कहेंगे कि च्वाइस हो तो आप जैसी

रायपुर। दीवाली दुनिया भर में रोशनी का एक भारतीय त्यौहार, चमकदार प्रदर्शन, प्रार्थना और उत्सवपूर्ण त्यौहार है। दिवाली का पांच दिवसीय उत्सव धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज तक मनाया जाता है। यह इकलौता फेस्टिवल है जिसे हर उम्र का शख्स एंजॉय करता है। हर घर हर गली रोशनी से जगमगा उठती है। दोस्त और परिवार के लोग एक-दूसरे को तोहफे, मिठाइयां देते हैं। घर के बड़े मां लक्ष्मी की धूमधाम से पूजा करते हैं और सभी मिलकर पूजा के बाद आतिशबाजी करते हैं। दिवाली पर अगर आप भी अपनों को देना चाहते हैं गिफ्ट तो ट्राई कीजिए ये।

दिवाली पर अपनों को दें ये गिफ्ट्स-
- कैंडल्स और दीए
दिवाली का मौके है तो ऐसे में रौशनी से जुड़ी चीजें गिफ्ट में देना तो बनता है। आजकल बाजार में काफी फ्लैवर वाली कैंडल्स मौजूद है तो जिन्हें रौशनी के साथ खूशबू भी भाती है उन्हें ये गिफ्ट करें। वहीं दीए भी आजकल काफी खूबसूरस मिलते हैं, जो घर में डेकोरेशन के लिए काफी अच्छा होता है तो आप इसे गिफ्ट देना भी अच्छा आइडिया है।

-चॉकलेट्स
चॉकलेट्स बच्चे हो या बड़े सबको पसंद होते हैं तो आप दिवाली पर भी इसे भी गिफ्ट कर सकते हैं। चॉकलेट्स में भी कई वैरायटी उपलब्ध है तो आप अपने बजट को देखते हुए इसे गिफ्ट में दें सकते हैं। बच्चों के लिए गिफ्ट देने का सोच रहे हैं तो ये बेस्ट है।

-ड्राई फ्रूट्स
दिवाली के मौके पर बाजार में कम से लेकर ज्यादा दाम में ड्राई फ्रूट्स के पैक मौजूद है। ड्राई फ्रूट्स काफी हेल्दी माना जाता है तो ये हेल्थ को देखते हुए भी काफी फायदेमंद है। ऐसे में ड्राई फ्रूट गिफ्ट करना एक तरह से किसी की हेल्दी दिवाली करना होगा।

-शुगर फ्री मिठाई
आज के दौर में हर दूसरा डायबिटीज का शिकार है तो अगर आप ऐसे किसी को कोई गिफ्ट करना चाह रहे हैं तो उन्हें शुगर फ्री मिठाई दें। इसके अलावा शुगर फ्री चॉकलेट और अन्य चीजें में दिवाली पर गिफ्ट कर सकते हैं। आपके इस गिफ्ट से डायबिटीज वालों की दिवाली भी मीठी हो जाएगी।

-चांदी या सोने का सिक्का
दिवाली के मौके पर किसी को सोने या चांदी की चीजें गिफ्ट करना काफी शुभ माना जाता है। तो आप अपने जेब के हिसाब से चांदी या सोने का लक्ष्मी-गणेश का सिक्का खरीद के गिफ्ट कर सकते हैं।

08-11-2020
दीपावली की खरीददारी के लिए बाजारों में बढ़ी भीड़, कोरोना का ख़ौफ़ नहीं

राजनांदगांव। शहर के सभी बाजारों में दीपावली त्यौहार को लेकर भीड़ बढ़ती जा रही है। आम जनता में कोरोना संक्रमण का कोई ख़ौफ़ नहीं दिख रहा है। बाजारों में लोग बिना मास्क के ही खरीददारी कर रहे हैं। सोशल डिस्टेंस का भी ख्याल नहीं रखा जा रहा है। पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा बार बार समझाइश देने के बाद भी आम जनता पर कोई असर होता नही दिख रहा है। लगभग हर मार्ग में बेतरतीब खड़े वाहन यातायात को बाधित कर रहे हैं। व्यवस्था के लिए जिला व पुलिस प्रशासन भरपूर प्रयास कर रहा है लेकिन आमजनता को भी सहयोग करना होगा।

 

07-11-2020
महिला समृद्धि बाजार के सामने सजेगा इस बार पटाखा बाजार

दुर्ग। अस्थायी पटाखा दुकान लगाने के लिए अनुमति नगर पालिक निगम दुर्ग के बाजार विभाग से दी जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट दुर्ग के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण की रोकथाम को देखते हुए निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने अस्थायी पटाखा दुकान के लिए स्थल का चयन किया है। इसके अंतर्गत अति. जिला मजिस्ट्रेट को प्रस्ताव प्रेषित कर महिला समृद्धि बाजार के सामने रिक्त भूमि की अनुमोदन के लिए पत्र प्रेषित किया है। बता दें कि नगर निगम दुर्ग ने दीपावली त्यौहार पर पटाखा दुकान शास. बहु. उ.मा.शाला के पीछे मैदान में लगाया जाता रहा है। लेकिन इस बार कोरोना काल में सावधानियां बरतते हुए महिला समृद्धि बाजार के सामने रिक्त भूमि में व्यापारी अस्थायी पटाखा दुकान लगा सकेंगे। इच्छुक पटाखा व्यापारी अपना आवेदन एसडीएम के समक्ष जमा कर इस व्यवस्था का लाभ उठा सकेंगे।

06-11-2020
कीटनाशक दवाई दुकानों की जांच जारी, दस्तावेजों में अनियमितता पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी

जांजगीर चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गनिर्देशन में किसानों को फसल के लिए बाजार मे उपलब्ध कीटनाशकों और दवाइयों की गुणवत्ता पर सतत निगरानी के लिए जांच की कार्रवाई की जा रही है। कलेक्टर ने अमानक कृषि आदान व गैर पंजीकृत संस्थानों पर कार्रवाई करने के सख्त निर्देश दिए हैं। उप संचालक कृषि ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा जांच के लिए टीम बनाई गई है। इसके द्वारा सतत जांच एवं कार्रवाई की जा रही है। खरीफ वर्ष 2020-21 में कीटनाशक अधिनियम 1968 के नियम 1971 का क्रियान्वयन एवं किसानों को कृषि आदान सामग्री पौध संरक्षण दवाई की गुणवत्तायुक्त उपलब्धता समय पर कराने के निर्देश दिए गए है।

बाजार मे उपलब्ध 53 कीटनाशकों का सैंपल जांच के लिए कीटनाशक गुण नियंत्रक प्रयोगशाला जिला राजनांदगांव एवं केंद्रीय कीटनाशक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला फरीदाबाद भेजे गए हैं। इनमें से 26 सैंपल मानक स्तर के पाए गए और 27 की जांच रिपोर्ट अप्राप्त है। जिला स्तरीय टीम और कृषि विभाग के अनुविभागीय अधिकारियों के द्वारा सक्ती और पामगढ़ क्षेत्र के खाद-बीज विक्रेताओं के प्रतिष्ठानों की जांच की गई। अदान सामग्रियों के क्रय-विक्रय एव भण्डारण संबंधित दस्तावेजों में अनियमितता पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसी प्रकार सामग्रियों का बिना अधिकार पत्र के विक्रय करने एवं भण्डारित करने पर जब्ती की कार्रवाई की गई।

04-11-2020
मेहंदी श्रृंगार को भी चार चांद लगा देती है शुभ मानी जाती है और सबसे महत्वपूर्ण पिया को भी मन भाती है

रायपुर। शादीशुदा महिलाएं करवाचौथ व्रत अपने पति की लंबी उम्र के लिए करती है। इस खास मौके पर महिलाएं सबसे सुन्दर और खूबसूरत दिखना चाहती है। बाजार में भी इसके लिए खूब जोर-शोर से तैयारी चल रही है। वहीं, महिलाएं सोलह श्रृंगार में शामिल मेहंदी को लेकर भी खासा उत्साहित है। करवा चौथ सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और वैवाहिक सुख के लिए रखती है। कुंवारी लड़कियां यह व्रत सुयोग्य जीवनसाथी पाने के लिए रखती है। वहीं, करवा चौथ पर मेहंदी लगाना बेहद शुभ माना जाता है। यह सुहाग की निशानी है। करवा चौथ पर मेहंदी लगाना और चूड़ियां पहनना शुभ माना जाता है। ये सभी सुहाग की मंगलकामना के लिए पहनी जाती है। आजकल महिलाएं मेहंदी अपनी ड्रेस और मेकअप के साथ मैचिंग करके लगाती है। कई महिलाएं हाथों में भरकर मेहंदी लगाना पसंद करती है तो कई महिलाएं हल्की मेहंदी से खुश होती है। मेहंदी लगाना प्राचीन समय से ही महिलाओं के बनाव-श्रृंगार का अहम हिस्‍सा रहा है। इससे उनकी खूबसूरती में इजाफा होता है और मान्‍यता है कि मेहंदी का गहरा रंग उनके जीवन में प्‍यार को दर्शाता है। आजकल तो कोरोना वायरस की वजह से महिलाएं ब्‍यूटी पार्लर जाने में कतरा रही हैं और खुद ही मेहंदी लगा कर तैयार है करवाचौथ व्रत के लिए।

 

 

03-11-2020
दीपावली की खरीदारी शुरू, बाजार में अब नहीं दिख रहा कोरोना का डर

रायपुर। कोरोना की दहशत कम होने के बाद अब दीपावली से बाजार में तेजी आने की उम्मीद नजर आ रही है। देश के प्रमुख पर्व दीपावली पर सभी महिलाओं ने घर की साफ सफाई के साथ ही बाजारों से खरीदारी भी शुरू कर दी है। शहर की सड़कों पर दीपावली का असर दिखना शुरू हो गया है। बाजारों में खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। साथ ही लोगों ने अब खरीदारी शुरू कर दी है। यहीं कारण है कि शहर की ज्यादातर सड़कों पर ट्रैफिक जाम होने लगी है।  बदलते समय के साथ तोहफे देने का अंदाज भी बदलने लगा है। दीपावली देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मनाई जाती है। लोग मनपसंद तोहफे देकर अपनी भावना को व्यक्त करते हैं। इसके साथ नए कपड़े, जूते, घर का सामान, सजावट की चीजों को खरीदने का दौर शुरू हो गया है। दुकानदार ग्राहकों को खरीदी पर आकर्षक तोहफे दे रहे हैं। इन तोहफों में तरह-तरह की घड़िया, ज्वैलरी, चॉकलेट, गिफ्ट आर्टिकल्स, ग्रीटिंग कार्ड, घर सजाने का सामान, चांदी-सोना सभी को शामिल किया गया है। दुकानदारों का कहना है कि दीपावली के बाद भी तोहफे खरीदने का सिलसिला जारी रहेगा। ग्राहकों को हर साल कुछ नया चाहिए। इसे ध्यान में रखकर नए-नए डिजाइन के तोहफे उत्पादकों ने बनाए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804