GLIBS
18-09-2020
भूपेश बघेल ने कहा-केन्द्र सरकार का एक राष्ट्र-एक बाजार अध्यादेश किसानों के लिए अहितकारी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि, केन्द्र सरकार का एक राष्ट्र-एक बाजार अध्यादेश किसानों के हित में नहीं है। इससे मंडी का ढांचा खत्म होगा, जो किसानों और व्यापारियों दोनों के लिए लाभप्रद नहीं है। अधिकांश कृषक लघु सीमांत है, इससे किसानों का शोषण बढ़ेगा। उनमें इतनी क्षमता नहीं कि राज्य के बाहर जाकर उपज बेच सके। किसानों को उनकी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलेगा। केन्द्र सरकार की ओर से आवश्यक वस्तु अधिनियम में किए गए संशोधन से आवश्यक वस्तुओं के भंडारण और मूल्य वृद्धि के विरुद्ध कार्यवाही करने मे कठिनाई होगी। कान्ट्रैक्ट फार्मिंग से निजी कंपनियों को फायदा होगा। सहकारिता में निजी क्षेत्र के प्रवेश से बहुराष्ट्रीय कंपनिया, बड़े उद्योगपति सहकारी संस्थाओं पर कब्जा कर लेंगे और किसानों का शोषण होगा।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को अपने निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले को 332.64 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात देने के बाद कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत ने की। कार्यक्रम में सभी मंत्री, लोकसभा सांसद ज्योत्सना महंत और अन्य जनप्रतिनिधि कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, आम जनता के हितों का संरक्षण और उनकी खुशहाली हमारी सरकार की प्राथमिकता है।

यह प्रेरणा हमें विरासत में मिली है। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू से लेकर लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी की नीतियों और आदर्शों का अनुसरण करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार गरीबों, मजदूरों, किसानों और आदिवासियों के बेहतरी के लिए कार्य कर रही है। कोरोना आपदा काल में छत्तीसगढ़ सरकार ने लोगों को अपने जनहितैषी कार्यक्रमों और योजनाओं के जरिए 70 हजार करोड़ रुपए की सीधे मदद दी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि,आज देश और दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है। बहुत से देशों की राष्ट्रीय सरकारों ने किसानों, गरीबों और आपदा पीड़ितों के प्रति सहानुभूति का रवैया रखते हुए बीमारी के नियंत्रण में अच्छी सफलता हासिल की है,लेकिन हमारे देश ने जिस तरह से सर्जिकल स्ट्राइक के तरीके से नोटबंदी, जीएसटी और लॉकडाउन किया गया, उससे लगातार हालत खराब होती गई और सबका मिला-जुला असर कोरोना काल में राष्ट्रीय आपदा के रूप में सामने आया है। यदि केन्द्र सरकार रचनात्मक और सहानुभूतिपूर्ण रवैया रखती तो देश को आज जैसे दिन नहीं देखने पड़ते। मुुख्यमंत्री ने कहा कि आज केन्द्र सरकार की ओर से विश्वव्यापी कोरोना संकट के समय के अवसर को अच्छा अवसर मानते हुए कृषकों के शोषण के लिए चार अध्यादेश लाया गया है। इसके तहत एक राष्ट्र- एक बाजार के तहत एक्ट में संशोधन किया गया है। इसमें किसानों को देश के किसी भी हिस्से में अपनी उपज बेचने की छूट दी गई है।

इसमें किसान और व्यापारी को उपज खरीदी-बिक्री के लिए राज्य की मंडी के बाहर टैक्स नहीं देना होगा अर्थात मंडी में फसलों की खरीदी-बिक्री की अनिवार्यता समाप्त हो जाएगी और निजी मंडियों को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि, इसी तरह आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 में संशोधन, खाद पदार्थों के उत्पादन और बिक्री को नियंत्रण मुक्त किया गया है। तिलहन, दलहन, आलू, प्याज जैसे उत्पादों से स्टाक सीमा हटाने का फैसला लिया गया है। कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग और सहकारी बैंकों में निजी इक्विटी की अनुमति का प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा स्पष्ट मत है कि कोरोना आपदा के समय में केन्द्र सरकार की ओर से जो अध्यादेश लाए गए हैं, उसका बहुत बुरा असर होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम पुरजोर तरीके से केन्द्र सरकार के किसान विरोधी कानूनों का विरोध करेंगे। उन्होंने कहा कि आज देश के सामने दो मॉडल स्पष्ट हैं कि आपदा में जनसेवा के माध्यम से विश्वास जगाते हुए सबको साथ लेकर चलने वाला छत्तीसगढ़ी मॉडल और दूसरा आपदा को मनमानी करने का अवसर मानने वाला केन्द्र सरकार का मॉडल। उन्होंने कहा कि हमें अपने छत्तीसगढ़ी मॉडल पर भरोसा है, जिसने आपदा के समय में जरुरतमंदों को सीधे मदद पहुंचाने के साथ ही नवगठित जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के विकास को नया आयाम दिया है।

 

 

12-09-2020
बाजारों सहित सभी 60 वार्डो को किया जाएगा सैनिटाइज, विधायक, महापौर के सामने इंदिरा मार्केट में किया गया छिड़काव

 दुर्ग। कोरोना संक्रमण को देखते हुए शनिवार को नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा इंदिरा मार्केट क्षेत्र में 300-300 लीटर वाले सैनिटाइजर मशीन से बाजार क्षेत्र को सैनिटाइज किया गया। इस मौके पर महापौर धीरज बाकलीवाल, स्वास्थ्य प्रभारी हमीद खोखर, संदीप वोरा, सहा.अभियंता जितेन्द्र समैया, कर्मशाला अधीक्षक बीरेन्द्र ठाकुर एवं अन्य उपस्थित थे। इस संबंध में महापौर ने बताया शहर में लगातार कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। इसे देखते हुए नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा शहर के समस्त बाजारों जहां अधिक संख्या में भीड़ हो रही है। उसे सैनिटाइज करने का कार्य प्रारंभ किया गया। उन्होंने कहा प्रत्येक दिन शहर के समस्त बाजार जहाॅ-जहाॅ भीड़ होती हैं। जैसे महिला समृद्धि, महाराजा चौक, पद्मनाभपुर, सिकोला बाजार, बोरसी हाट बाजार आदि जगहों पर रोज सैनिटाइज किया जावेगा। इसके अलावा समस्त 60 वार्डो के प्रमुख मार्गो और गलियों में भी जाकर मशीन से क्षेत्र को सैनिटाइज की जाएगी। उन्होंने बताया जिन वार्डो के मोहल्ले में कोरोना पाॅजिटिव मिल रहे हैं। निगम का कर्मचारी वहाॅ जाकर उनके घरों और आस-पास क्षेत्रों में सीकर के माध्यम से दवाई का छिड़काव कर रहे हैं। शहर की आम जनता को संक्रमण से बचाने नगर पालिक निगम दुर्ग हर संभव प्रयास कर रही है। आम जनता को भी इसमें सहयोग देना होगा। उन्होनें कहा संक्रमण से बचाव के लिए स्वयं को आगे आना होगा, इसके लिए वे सैनिटाइज का उपयोग बार-बार करें, बाहर से आने के बाद हाथ अवश्य धोएं, अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने काढ़ा अवश्य पीएं, सोशल डिस्टेंस का पालन करे, सामाजिक दूरियाॅ बनाकर रखें, और मास्क अवश्य लगाएं।

07-09-2020
कोरोना संक्रमित परिवार के लोग खुलेआम खोल रहे दुकान, पॉजिटिव आने के बाद भी बिंदास घूम रहे लोग

कवर्धा। जिले में कोरोना पॉजिटिव पाने जाने के बाद भी दुकानों को बन्द कराने कोई ध्यान क्यों नहीं दे रही है। कंटेनमेंट जोन में दरवाजा खोलर दुकानदारी कर रहे हैं। महावीर चौक से दर्री पारा की ओर जाने वाली गली में 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। इसके बाद बाजार लाइन व पूरे दर्री पारा को सील कर दिया गया। लेकिन इस मोहल्ले के व्यपारी अभी भी अपने दुकान खोल रहे हैं। यहां तक कि जिनके घर में पॉजिटिव मिले हैं उन्ही लोग दुकान खोल रहे हैं। इस दुकान में गांव के लोग तक खरीदी कर रहे हैं, जिससे गांव में भी संक्रमण फैल सकता है। इसके बाद भी प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। प्रशासन जाने किसके दबाव में काम कर रही है जो कंटेनमेंट जोनमें भी कटाई नहीं कर रही है। जबकि पूरे शहर में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसी प्रकार पॉजिटिव मरीज होम आइसोलेशन में रहने के बाद भी घर के बाहर ही बैठ रहे हैं और उनके घर के लोग शहर में घुमने तक निकल रहे हैं। इस प्रकार कोरोना वायरस लगातार फैल रहा है बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इसके कारण शहर में लगातार कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। जिम आसपास की दुकानें भी खोली जा रही है। ''तहसीलदार मनोज रावटे ने बताया कि दर्री पारा व बाजार लाइन पूरी तरह बन्द है। यदि कोई दुकान खोल रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, इससे पहले भी बाजार लाइन में कुछ दुकान सील किया गया था।

07-09-2020
सब्जियों के दाम आसमान छूते, हरी सब्जियों की जगह लोग नॉनवेज खाना ज्यादा पसंद कर रहे...

रायपुर। मौसम में बदलाव के कारण लोकल सब्जी बाड़ियों से इन दिनों बाजार में सब्जियों की आवक कम हो रही है। इस वजह से सब्जियों के दामों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। ज्ञातव्य हो कि करीब 15 दिनों पहले तक बाजार में हरी सब्जियों के दाम 30 से 40 रुपये के भाव में मिल रहे थे वही सब्जी कुछ ही दिनों में दो-गुनी दामों में बाजार में बिक रहा है। वर्तमान में हरी सब्जियों के भाव आलू 40 रुपये एवं प्याज 25 रुपये, फूल गोभी 80 रुपये, भिंडी 60, बरबट्टी 60 रुपये, बैंगन 60 रुपये, करेला 80 रुपये, पत्ता गोभी 60 से 70 रुपये, टमाटर 40 से 50 रुपये, धनिया पत्ती 100 रुपये किलों, मिर्ची 10 रुपये का 100 ग्राम, अदरख 160 से 2 सौ रुपये किलों के भाव बिक रहा है। सब्जी बिक्रेताओं का कहना है कि लोकल सब्जी बाड़ियों से आवक कम होने के चलते थोक मंडी सुपेला एवं दुर्ग में सब्जियों के दाम बढ़े हुए है।

इस संबंध में थोक सब्जी मंडी सुपेला में सब्जी के थोक बिक्रेताओं से बात करने पर आरएनएस को बताया कि सब्जियों की आवक कम होने के चलते इन दिनों आलू एवं प्याज की डिमांड बाजार में ज्यादा होने से मंडियों में आलू-प्याज अधिक दामों पर पहुंच रहा है। इस वजह से आलू-प्याज के दाम बढ़ गया है व डीजल के दामों में लगातार वृद्धि होने से वाहनों में लगने वाला भाड़ा बढ़ जाने से बाजार में हरी सब्जियों के दाम बढ़ा हुआ है। नॉनवेज खाने वाले लोगों का कहना है कि वे हरी सब्जियों की जगह में नॉनवेज व अंडा की सब्जी बनाकर खाना शुरू कर दिये है क्योंकि ये सब्जी उनकी बजट के अनुसार है। नॉनवेज खाने से दाल व सब्जी रोजाना खरीदना नहीं पड़ रहा है। इसमें जितना खर्च वर्तमान में आ रहा है। इससे कम पैसे में नॉनवेज व अंडा की सब्जी खाने से उनका गुजारा हो जा रहा है।

03-09-2020
निगम की टीम ने कोसानगर बाजार को कराया बंद, निर्धारित समय समाप्त होने के बाद भी लग रहा था बाजार

भिलाई। नगर निगम के जोन-1 की टीम ने कोसा नगर में निर्धारित समय समाप्त होने के बाद भी लग रहे बाजार को बंद करवाया। दोपहर 12 बजे के बाद भी शिव मंदिर के सामने बाजार लगा हुआ था और फुटकर व्यापारी पसरा लगाकर सब्जी भाजी बेच रहे थे। भीड़ की वजह से यहां कोविड -19 की गाइडलाइन का पालन कराने निगम की टीम पहुंची थी। संक्रमण की स्थिति को देखते हुए निगम की टीम ने बाजार को बंद करवाने की कार्रवाई की। टीम के कर्मचारियों ने फुटकर व्यापारियों को निर्धारित समय अनुसार ही सब्जी विक्रय करने की समझाइश दी।

 

24-08-2020
देखेंगे तो देखते ही रह जाएंगे तुंबा शिल्प के मनमोहक लैंप...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के हस्तशिल्प कलाकारों द्वारा बनाए जा रहे मनमोहक तुम्बा लैम्प की मांग बाजारों में बढ़ती जा रही है। तुंबा के विभिन्न आकार-प्रकार वाले यह आकर्षक लैम्प अब लोगों के घर और बेडरूम की शोभा बनने लगे हैं। इन मनमोहक और आकर्षक लैम्पों का निर्माण नारायणपुर एवं बस्तर जिले आदिवासी शिल्पियों द्वारा किया जा रहा है। इसकी बाजार में बढ़ती मांग को देखते हुए हस्तशिल्प बोर्ड द्वारा अब इसका वृहद पैमाने पर प्रशिक्षण देकर निर्माण शुरू किए जाने की पहल की गई है। सूखे हुए तुंबे पर शिल्प कलाकार विभिन्न आकार-प्रकार की सुंदर कृतियां उकेर कर उन्हें मनमोहक और आकर्षक रूप देते हैं। 

हस्तशिल्प बोर्ड द्वारा इस हस्त शिल्पकला को पुर्नजीवित कर ग्रामीण युवाओं को रोजगार दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा तुंबा शिल्प को बढ़ावा देने के लिए संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा है कि राज्य शासन की मंशा के अनुरूप हस्तशिल्पकारों के संवर्धन और संरक्षण के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि बस्तर जिले के लोहंडीगुड़ा विकासखंड के ग्राम उसरीबेड़ा में परम्परागत वस्तुओं से आकर्षक सजावटी वस्तु बनाने का प्रशिक्षण 24 अगस्त से दिया जाएगा।

इस प्रशिक्षण के दौरान अनुसूचित जनजाति वर्ग के 20 युवाओं को तीन माह तक गहन प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस दौरान उन्हें 1500 रुपए प्रतिमाह की छात्रवृत्ति भी दी जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान तैयार की गई सजावटी सामग्री के लिए प्रदर्शनी-सह-मार्केटिंग की भी सुविधा बोर्ड द्वारा मुहैया करायी जाएगी।गौरतलब है कि राज्य में पहली बार तुंबा शिल्प से वृहद पैमाने पर लैम्प निर्माण की शुरूआत की गई है। स्टडी टेबल लैम्प के रूप में तुंबा से बने लैम्प को काफी पसंद किया जा रहा है और इसकी हाथों-हाथ बिक्री हो रही है। छत्तीसगढ़ में आयोजित होने वाले हस्तशिल्प मेलों में तुंबा शिल्प लोगों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र रहा है। हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा प्रशिक्षण एवं विपणन सुविधाओं के माध्यम से तुंबा शिल्प का अन्य क्षेत्रों में भी विस्तार किया जा रहा है।

12-08-2020
मास्क नहीं लगाने और सोशल डिस्टेसिंग के उल्लंघन पर नगर निगम ने लगाया 478 लोगों पर 43450 रुपए का जुर्माना

रायपुर। लॉक डाउन के नियमों का पालन नहीं करने पर बुधवार को नगर निगम और पुलिस विभाग की टीम ने 478 लोगों से 43450 रुपए जुर्माना वसूला। रायपुर नगर निगम के सभी 10 जोनों के नगर निवेश, स्वास्थ्य, राजस्व विभाग की टीमों ने पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर जोन के बाजारों में मास्क नहीं लगाने वाले, सामाजिक दूरी नियम एवं लाॅकडाउन नियम तोड़ने वाले लोगों व दुकानदारों पर जुर्माना लगाया और हिदायत दी।जोन 1 की टीम ने नियमों को तोड़ने पर 119 लोगों पर 11330 रूपये का जुर्माना वसूला। जोन 3 की टीम ने 89 लोगों से 7370 रूपये का जुर्माना वसूला।

जोन 4 की टीम ने नियमों को तोड़ने वाले 78 लोगों पर 8400 रूपए का अर्थदंड लगाया। जोन 5 ने मास्क नहीं लगाने वाले 72 लोगों पर 5150 रूपए जुर्माना लगाया। जोन 6 की टीम ने मास्क नहीं पहनने वाले 18 लोगों पर 900 रूपए का अर्थदंड लगाया। जोन 7 ने मास्क नहीं पहनने वाले 28 लोगों से 5400 रूपये जुर्माना वसूला। जोन 8 की टीम ने मास्क नहीं पहनने पर 3 लोगों से 250 रूपये जुर्माना वसूला। जोन 9 की टीम ने बिना मास्क घूम रहे 61 लोगों से 4650 रूपए का अर्थदंड वसूला। कोविड 19 के संक्रमण के रोकथाम के लिए जोन स्तर पर जिला और नगर निगम प्रशासन के आदेश पर आगे भी जारी रहेगा।

12-08-2020
वीडियो : कोविड स्पेशल फोर्स ने नियम तोड़ने वालों का काटा चालान, जरुरतमंदों को बांटा मास्क

रायपुर। राजधानी के विभिन्न बाजारों में बुधवार को कोविड फोर्स ने औचक निरीक्षण किया। कोरोना महामारी के नियंत्रण और लोगों को बचाव की समझाइश देने जारी अभियान तहत कोविड-19 स्पेशल फोर्स ने कई बाजारों में मास्क लगाने, हाथ साफ करने और सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करने की समझाइश दी। टीम खमतराई पहुंची, यहां डब्ल्यूआरएस कॉलोनी ओवरब्रिज मार्केट में कोविड स्पेशल फोर्स ने लोगों को मास्क लगाने की समझाइश दी। जरुरतमंदों को मास्क भी वितरित किया।

खमतराई बाजार क्षेत्र में समझाइश देते हुए नियम तोड़ने वालों पर चालानी कार्रवाई भी की गई। टीम ने गुरुद्वारा स्टेशन रोड सब्जी बाजार में भी लोगों को समझाइश देते हुए जरुरतमंदों को मास्क दिया। नियम का उल्लंघन करने वालों पर चालानी कार्रवाई की गई। इसी तरह राजातालाब क्षेत्र का कोविड स्पेशल फोर्स ने औचक निरीक्षण किया। नूरानी चौक बाजार में नियमों का उल्लंघन करने वालों पर भी चालानी कार्रवाई की गई। यहां भी जरुरतमंदों को मास्क दिया गया।

 

 

11-08-2020
कान्हा के स्वागत के लिए जुटे भक्तगण,बाज़ार भी सजे,जमकर हो रही है खरीददारी

रायपुर। भगवन कृष्ण के जन्माष्टमी मनाने लोगों में उत्साह पहले जैसा ही है। बाजार के साथ घरों और मंदिरों में तैयारियां शुरू है। जन्माष्टमी को लेकर राधा-कृष्ण से जुड़े परिधान और आकर्षक मूर्तियों से बाजार सजे हैं। दुकानदारों ने भी भगवान कृष्ण की पोशाक, पालना, झूला और मूर्तियां दुकानों में आकर्षक ढंग से सजायी हैं। डिजाइनदार राधा-कृष्ण के कपड़े, मूर्तियां, बांसुरी, मोर मुकुट और आकर्षक परिधान में मोर के पंख और गजरे भी लोगो का मन मोह रहे है। लोग बच्चों को घर में कान्हा बनाते है उसके लिए भी छोटे बच्चों के धोती, कुर्ता और बंधना पटका मिल रहे है। लेकिन इस बार कोरोना माहामारी के चलते न तो भव्य साजियां झांकिया सजाई जाएगी और न ही किसी तरह का धार्मिक आयोजन होगा। मंदिर में पहले जैसी रौनक देखने को नहीं मिलेगी। पर कृष्ण के भक्त अपने-अपने घरो में उनका जन्मदिन बनाने के लिए बाजारों में घूम-घूम कर खरीदारी कर रहे हैं। लोग बाजारों में पहुंचकर लड्डू गोपाल का जन्मदिवस धूमधाम से मनाने के लिए जमकर खरीदारी करते नजर आ रहे हैं।

 

10-08-2020
नियम तोड़ने पर 739 लोगों ने भरा 83140 रुपए जुर्माना, सेलून को किया गया सील

रायपुर। नगर निगम के सभी 10 जोनों में सोमवार को नियम तोड़ने वाले 739 लोगों से कुल 83140 रुपए जुर्माना वसूल किया गया। सभी को भविष्य के लिए कड़ी चेतावनी सहित अनलॉक रायपुर शहर के प्रशासनिक दिशा निर्देशों का पूर्ण परिपालन करने की समझाइश दी गई। बाजारों में रोजाना पुलिस टीम के साथ जोन कमिश्नर के नेतृत्व में अभियान के तहत दबिश दी जा रही है। इसी कड़ी में नगर निगम जोन 3 के नगर निवेश विभाग की टीम ने जोन कमिश्नर के नेतृत्व में द ब्यूटी क्लब नामक सेलून दुकान को नियम तोड़ने और  बिना अनुमति दुकान संचालन करने पर तत्काल ताला लगाकर सीलबंद किया।इसी तरह मास्क नहीं पहनने, सामाजिक दूरी नियम तोड़ने, लॉक डाउन निगम का उल्लंघन करने के प्रकरणों पर जोन 1 की टीम ने बाजारों में 105 लोगों से 5600 रुपए जुर्माना किया। जोन 2 की टीम ने 50 लोगों व दुकानदारों से 24550 रुपए जुर्माना वसूला। निगम जोन 3 की टीम ने बाजारों में 137 लोगों से 15950 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 4 की टीम ने 18 लोगों से 2650 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 5 की टीम ने 86 लोगों व दुकानदारों से  6730 रुपए जुर्माना वसूला।

जोन 6 की टीम ने बाजार क्षेत्र में 39 लोगों व दुकानदारों से 2600 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 7 की टीम ने 51 लोगों से 4620 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 8 की टीम ने 67 लोगों से 5350 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 9 की टीम ने 100 लोगों से 6000 रुपए जुर्माना वसूल किया। जोन 10 की टीम ने 86 लोगों से 9650 रुपए वसूल किया।इस प्रकार नगर निगम के सभी 10 जोनों की टीमों ने पुलिस टीम के साथ सोमवार सुबह से शाम तक कुल 739 लोगों से 83140 रुपए जुर्माना वसूला। रायपुर निगम क्षेत्र में कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार की कारगर रोकथाम करने जिला प्रशासन के आदेशानुसार और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव व नगर निगम आयुक्त सौरभ कुमार के निर्देशानुसार निरंतर अभियान जारी है। प्रतिदिन बाजारों में सभी 10 जोनों की नगर निवेश, स्वास्थ्य और राजस्व विभाग की टीम जोन कमिश्नर के नेतृत्व में व पुलिस टीम के साथ जांच कर रही है।

05-08-2020
कलेक्टर ने कोसाबाड़ी, मुड़ापार के बाजारों का किया निरीक्षण, इंतजामों का लिया जायजा

कोरबा। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी किरण कौशल ने बुधवार को कोसाबाड़ी, मुड़ापार सहित उरगा तक सड़क किनारे लगने वाले बाजारों और सब्जी दुकानों का औचक निरीक्षण किया। एसपी  अभिषेक मीणा और एडीएम संजय अग्रवाल के साथ कलेक्टर ने इन सभी जगहों पर लाॅकडाउन के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिये किये गये इंतजामों का जायजा लिया। इन बाजारों मे लगी कुछेक दुकानों पर दुकानदारों द्वारा ग्राहकों की सोशल डिस्टेंसिंग के लिये कोई इंतजाम नहीं करने तथा भीड़ लगाकर सब्जी बेचने पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की और तत्काल ऐसी दुकानों के विरूद्ध जुर्माने की कार्रवाई कर उन्हे बंद कराने के निर्देश निगम अमले को दिए। किरण कौशल ने सब्जी बेचने वाले दुकानदारों को सख्त हिदायत दी कि ग्राहकों के बीच एक-एक मीटर की दूरी बनाये रखने के लिये दुकानों के सामने गोले या चौकोर खाने या लाइन खिंचवायें। ग्राहकों की भीड़ न लगने दें।

कलेक्टर ने कोसाबाड़ी चौक पर लगने वाले अस्थायी सब्जी बाजार का भी आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने फुटकर सब्जी बाजार में दुकानों और ग्राहकों के बीच पहुॅंचकर ग्राहकों तथा सब्जी विक्रेताओं से मुलाकात की। कलेक्टर ने कुछ सब्जी विक्रेताओं द्वारा ग्राहकों के बीच एक-एक मीटर की दूरी बनाये रखने के लिये किये गये इंतजामों की सराहना की तो वहीं कुछ सब्जी दुकानों को ऐसे इंतजामों के नहीं होने के कारण जुर्माना कर बंद कराने के निर्देश नगर निगम के अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने इस दौरान सब्जियों के दामों की भी जानकारी लोगों तथा विक्रेताओं से ली। उन्होंने विक्रेताओं को सब्जियों को अधिक दामों पर नहीं बेचने की भी हिदायत दी। इसके बाद कलेक्टर मुड़ापार सब्जी बाजार भी पहुॅंची, और व्यवस्थाएं देखी।

04-08-2020
नक्सलियों ने शहीदी सप्ताह के अंतिम दिन बाजार में लगाए बैनर,पोस्टर, पुलिस ने किया जब्त

कांकेर। नक्सलियों ने शहीदी सप्ताह के आखिरी दिन बांदे बाजार के आसपास बड़ी मात्रा में बैनर लगाए। नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज कराने बैनर को बांदे थाना से महज कुछ ही दूरी पर लगाये है। सूचना पर पुलिस ने बैनर को अपने कब्जे में लिया है। विदित हो कि नक्सलियों द्वारा 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीदी सप्ताह मनाने ग्रामीणों से अपील की थी। शहीदी सप्ताह के अंतिम चरण में नक्सलियों ने बांदे बाजार में बैनर बांध कर फिर से अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश की है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804