GLIBS
07-08-2020
ओपन स्कूल परीक्षा के नाम पर छात्रों से धोखाधड़ी,चपरासी पर लग रहे आरोप, छात्रों ने पुलिस में की शिकायत

धमतरी। ओपन स्कूल परीक्षा के नाम पर धोखाधड़ी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इसमें चपरासी पर रुपये लेने का आरोप लग रहा है किंतु वह चपरासी कौन है फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है, इस मामले को लेकर छात्रों ने कुरूद पुलिस में शिकायत की है। ज्ञात हो कि ओपन स्कूल परीक्षा के माध्यम से भविष्य संवारने का एक सुनहरा मौका मिलता है,किंतु कुरूद क्षेत्र से जो मामला सामने आया है उसमें छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर दिया गया है। बताया गया कि बीते वर्ष ओपन स्कूल परीक्षा में बैठने के लिये कुरुद क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों के छात्रो ने फार्म भरे थे। कक्षा दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षा दिलाने निर्धारित शुल्क भी जमा किया गया था लेकिन अब जाकर पता चल रहा है कि वह लोग जिसके पास निर्धारित शुल्क जमा कराये थे उसने शुल्क को आगे जमा नही किया। यही वजह है कि उन्हें परीक्षा में बैठने के लिये प्रवेश पत्र नहीं मिल पाया। जब छात्रों को यह बात पता लगी तो उनमें हड़कम्प मच गया।पीड़ित छात्रों ने पुलिस में लिखित शिकायत की है। छात्रों में प्रकाश साहू,विष्णु साहू,पूजा साहू, ओम कुमारी, प्रखर रजंन ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मण्डल की 4 और 9 अगस्त को होने वाली 10, 12 वीं की परीक्षा के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक विद्यालय में 22 से 27 नवंम्बर 2019 को ओपन परीक्षा सेंटर के काउन्टर में निर्धारित 1500 एवं 1700 रुपए और फार्म जमा कराया गया था। लेकिन दर्जनों विद्यार्थीयों को परीक्षा में बैठने की पात्रता नहीं मिली। उन्होंने जिस व्यक्ति के पास पैसा जमा कराया था, उसने रसीद नहीं दी थी। छात्रों ने शिकायत कर कार्यवाही की मांग की है। इस सम्बंध में कूरुद थाना प्रभारी गगन बाजपेई ने बताया कि छात्रों की शिकायत प्राप्त हुई है पुलिस जांच कार्यवाही कर रही है।

स्कूल से मांगी गई है रिपोर्ट: डीईओ
इस मामले में जिले की शिक्षा अधिकारी रजनी नेल्सन ने बताया कि संबंधित स्कूल से जवाब तलब किया गया है,जिससे यह बात स्पष्ट हुई है कि स्कूल के काउंटर में जितने छात्र छात्राओं ने शुल्क व दस्तावेज जमा किये थे उन सभी के रिकार्ड स्कूल में है और उन छात्र छात्राओं के प्रवेश पत्र भी आये है। मगर जो छात्र छात्राये बाहर चपरासी को दस्तावेज व रकम दिये है उसकी जानकारी स्कूल में नही है। इस मामले में उन्होंने स्कूल प्रिंसिपल से एक रिपोर्ट तैयार कर पूरे मामले की जानकारी मांगी है।

 

04-08-2020
ओपन स्कूल परीक्षा: कक्षा 12वीं के 35 हजार 933 विद्यार्थियों ने जमा किया असाइन्मेंट

रायपुर। छत्तीसगढ़ ओपन स्कूल की परीक्षाएं इस वर्ष असाइन्मेंट पद्धति से संपन्न कराई जा रही है। जिन जिलों के परीक्षा केन्द्रों में लॉकडाउन नहीं है, उनमें 4 अगस्त तक कक्षा 12वीं के 35 हजार 933 विद्यार्थियों द्वारा असाइन्मेंट जमा किया गया। कक्षा 12वीं के 38 हजार 384 विद्यार्थियों को असाइन्मेंट वितरण किया गया। छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल के अधिकारियों ने बताया कि कक्षा 10वीं के 16 हजार 561 विद्यार्थियों को असाइन्मेंट वितरण किया गया। विद्यार्थी असाइन्मेंट प्राप्त करने दो दिवस में अपना असाइन्मेंट लिखकर परीक्षा केन्द्र में जमा करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि जो छात्र किसी कारणवश अपने परीक्षा केन्द्रों से असाइन्मेंट प्राप्त नहीं कर सके, वे 17 अगस्त से 22 अगस्त के मध्य राज्य कार्यालय छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल परिषद पेंशनबाड़ा रायपुर या छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल की वेबसाइट पर www.cgsos.co.in से असाइन्मेंट डाउनलोड करके ए-4 साईज के कागज पर उत्तर लिखकर अपने परीक्षा में 22 अगस्त तक जमा कर सकेंगे।

 

06-05-2019
ओपन स्कूल परीक्षा में लापरवाही बरतने पर शिक्षक व दो कर्मचारी निलंबित

सूरजपुर। जिला शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश एक्का ने बताया है कि छग राज्य ओपन स्कूल परीक्षा 2019 हेतु ली जा रही प्रायोगिक परीक्षा में लापरवाही बरतने पर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बालक ओडग़ी के शिक्षक चन्द्रपाल कुशवाहा (एलबी) को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में कुशवाहा का मुख्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय भैयाथान जिला सूरजपुर नियत किया गया है। इसी के साथ कृष्णा सिंह सहायक ग्रेड 03 शाउमावि कन्या प्रेमनगर तथा हरिशंकर सिंह सहायक ग्रेड 2 शाउमावि नावापाराकला (संलग्न- विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी प्रेमनगर) को परीक्षा व्यवस्था में अनियमितता किए जाने एवं शासकीय कार्यों में लापरवाही बरतने पर निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में हरिशंकर सिंह व कृष्णा सिंह का मुख्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय रामानुजनगर जिला सूरजपुर नियत किया गया है।

29-04-2019
ओपन स्कूल परीक्षा के कॉपियों में हेरफेर, मुख्यमंत्री से की गई शिकायत

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल की अप्रैल 2018 की परीक्षा में कॉपियों के अदला-बदली के खेल में सिर्फ एक मामले में कार्रवाई हो पाई। दूसरे मामले के आरोपियों को खुली छूट दे दी गई है। आलम यह है कि हायर सेकंडरी स्कूल कटगी की 12वीं की छात्रा कौशल्या सोनवानी की लिखी कॉपी को बदलकर उसकी जगह कोरा पन्ने की कॉपी अटैच कर दी गई थी। जीरो अंक मिलने पर जब कौशल्या ने शिकायत की तो उसे 61 अंक देकर ओपन स्कूल ने पास भी कर दिया, लेकिन अभी तक इस मामले में आरोपियों पर कार्रवाई तक नहीं हुई। जबकि पीड़ित छात्रा ने मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से गुहार लगाई थी कि उनके मामले में जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर तत्काल कार्रवाई की जाये। इधर ओपन स्कूल के प्रस्ताव शिक्षा विभाग ने एक ही जैसे प्रकरण में कसडोल मिनीमाता कन्या हायर सेकंडरी स्कूल से केंद्राध्यक्ष एवं स्कूल के प्राचार्य और सहायक केंद्र अध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। जबकि कटगी के मामले में फाइल दबा दी गई है। एक ही तरह के आरोपों में घिरे दो केंद्रों के केंद्राध्यक्ष और सहायक केंद्राध्यक्षों में एक पर कार्रवाई करके दूसरे कटगी के आरोपियों को छोड़ देने का मामला समझ से परे है।

ये था मामला : 

राज्य ओपन स्कूल परीक्षा 2018 में हायर सेकंडरी स्कूल कटगी की 12वीं की छात्रा कौशल्या सोनवानी ने परीक्षा दी थी। गांव खपरीडीह, कुम्हारी गिधोरी कसडोल की छात्रा ने परीक्षा के दौरान हिन्दी के आखिरी पेपर में एक से 25 तक के प्रश्नों में सिर्फ 21वां प्रश्न छोड़कर बाकी सभी प्रश्नों को हल किया था। उत्तर पुस्तिका में लिखने के बाद भी उसे जीरो अंक दिया गया है। उसने कॉपी की छाया प्रति निकलवाई तो पता चला कि उसमें कोरा कागज है और फर्जी हस्ताक्षर है। छात्रा ने आरोप भी लगाया कि कॉपी सुधरवाने के नाम पर सात हजार रुपये की मांग की गई थी। नहीं दिया इसलिए हिन्दी की कॉपी बदल दी गई। लिहाजा वह फेल हो गई। इसकी शिकायत स्कूल शिक्षा मंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा को भी की है लेकिन इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

07-04-2019
ओपन परीक्षा नकल प्रकरण मामला: कलेक्टर के आदेश पर दो कर्मचारी निलंबित

सूरजपुर। जिले के प्रेमनगर में चल रही ओपन स्कूल परीक्षा में नकल प्रकरण में कलेक्टर के आदेश के बाद दो कर्मचारियों को निलंबित किया गया है। प्रेमनगर ब्लाक मुख्यालय में चल रहे ओपन परीक्षा में खुलेआम नकल की शिकायतें सामने आई थीं और तो और यहां पर्चा लीक होने का मामला भी वाॅयरल हो रहा था। क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने इसकी शिकायत कलेक्टर दीपक सोनी से की थी। जिस पर उन्होंने जांच के आदेश दिए थे। इस आदेश के बाद जिला शिक्षा अधिकारी व सहायक संचालक ने मामले की तहकीकात की। परीक्षा केन्द्र शासकीय बालक उमा विद्यालय प्रेमनगर एवं शासकीय कन्या उमा विद्यालय की जांच उपरांत परीक्षा व्यवस्था में अनियमितता पाये जाने एवं शासकीय कार्य में लापरवाही बरतने के कारण हरिशंकर सिंह सहायक ग्रेड 2 शाउमा विद्यालय नवांपाराकला तथा कृष्णा सिंह सहायक ग्रेड-3 शा. कन्या उमा विद्यालय प्रेमनगर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

30-03-2019
ओपन स्कूल परीक्षा में हो रही नकल, तहसीलदार ने बनाया प्रकरण

रामानुजनगर। ओपन स्कूल की परीक्षा में नकल का प्रकरण समाने आया है। तिवरागुड़ी के परीक्षा सेन्टर में तहसीलदार करमचंद्र जाटवर ने दो दिनों के अंदर परीक्षा में 4 नकलचियों को पकड़ा तथा उनपर कार्यवाही की। बता दें कि इस समय रेगुलर हाईस्कूल व हायर सेकंडरी स्कूल के परीक्षा होने के बाद ओपन स्कूल से पढ़ाई करने वाले लोगों के लिए परीक्षा चल रही है।

यहां पर तिवरागुड़ी हायर सेकंडरी स्कूल में भी परीक्षा सेंटर बनाया गया है। यह सेंटर ओपन परीक्षा को लेकर हमेशा से सुर्खियों में रहता है। बीते कल ही नकल कराने से रोकने को लेकर यहां ड्यूटी में पदस्थ एक आरक्षक के साथ हाथापाई हुई थी, जिससे यहां का माहौल बहुत तनावपूर्ण हो गया था। यहां परीक्षा केंद्रों का दो दिन से लगातार तहसीलदार निरीक्षण कर रहे हैं। इसके तहत 12वी की परीक्षा के दिन दो और 10वी. परीक्षा के दिन भी दो नकल प्रकरण दर्ज किए गए। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804