GLIBS
17-09-2020
राज्यों का बकाया जीएसटी देने की मांग पर संसद परिसर में विपक्ष ने किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। विपक्षी दलों ने गुरुवार को संसद परिसर स्थित महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया और राज्यों के बकाया जीएसटी के भुगतान की मांग की। विपक्षी दलों मेंटीआरएस, टीएमसी, डीएमके, आरजेडी, आप, एनसीपी, समाजवादी पार्टी और शिवसेना के सांसदों ने प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि केंद्र ने राज्यों को दो विकल्प दिए थे। केंद्र दृढ़ता से इस बात पर कायम है कि राज्यों को उत्तरोत्तर प्रक्रिया के माध्यम से ऋण लेना चाहिए।दूसरी ओर बड़ी संख्या में राज्य इस बात पर अड़े हैं कि केंद्र को उधार लेना चाहिए और उन्हें जीएसटी एक्ट में किए गए वादे के मुताबिक बकाया का भुगतान करना चाहिए।

दोनों के अपनी-अपनी बात पर अवर्ती से जीएसटी से जुड़ा विवाद गहरा गया है। देश के तकरीबन 10 राज्य ऐसे हैं जो केंद्र की दलील से इत्तेफाक नहीं रखते और वे खुलकर विरोध कर रहे हैं। इन राज्यों का कहना है कि वे केंद्र के प्रस्ताव को ठुकरा देंगे। इन राज्यों की मांग है कि प्रधानमंत्री खुद इस मामले में हस्तक्षेप कर इसे सुलझाएं। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, दिल्ली, पुडुचेरी, पंजाब और झारखंड ने खुले तौर पर केंद्र सरकार के प्रस्तावों को खारिज किया है। साथ ही इन राज्यों ने मांग की है कि केंद्र सरकार को उधार लेना चाहिए और राज्यों के बकाया का भुगतान करना चाहिए। 

15-09-2020
छत्तीसगढ़ के बिजली घर देशभर में अव्वल, उन्नत राज्यों को पछाड़कर पीएलएफ का रहा शानदार प्रदर्शन

रायपुर। छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों ने देशभर के 33 पावर सेक्टर के ताप विद्युत गृह को पछाड़ते हुए एक बार फिर सर्वाधिक प्लांट लोड फैक्टर (पीएलएफ) 70.59 प्रतिशत अर्जित कर सर्वोच्च स्थान पर होने का गौरव प्राप्त किया है। भारत सरकार के अधीन कार्यरत केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) की माह अगस्त 20 के रिपोर्ट अनुसार छत्तीसगढ़ पावर जनरेशन कंपनी के विद्युत गृह प्रथम, तेलंगाना स्टेट द्वितीय और झारखंड तृतीय स्थान पर रहा। कोविड-19 के संक्रमण काल में लगातार विद्युत गृहों की ऐसी राष्ट्रीय स्तर की उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विद्युत कर्मियों को बधाई दी। उन्होंने पावर कंपनीज के चेयरमैन सुब्रत साहूऔर उत्पादन कंपनी के एमडी एनके बिजोरा सहित उनकी टीम को ऐसे अभूतपूर्व कीर्तिमान बनाए रखने के प्रेरित किया।

ऐसी गौरवशाली परंपरा को बनाए रखने का आव्हान करते हुए चेयरमैन सुब्रत साहू ने इस बात पर गर्व व्यक्त किया कि, छत्तीसगढ़ से भी अधिक उन्नत राज्य के विद्युत गृह छत्तीसगढ़ से पीछे  चल रहे हैं। कोरोना संक्रमण काल में जहां देशभर के विद्युत ग्रहों के उत्पादन में गिरावट दर्ज हो रही है,वहीं माह जुलाई 69.83 प्रतिशत और अगस्त में उससे आगे बढ़ते 70.59 प्रतिशत पीएलएफ  दर्ज करके प्रदेश को विद्युत उत्पादन के मामले में अग्रणी बनाए  रखा है ।
विदित हो कि, किसी.ई.ए. की रिपोर्ट के मुताबिक देशभर विद्युत गृहों का पीएलएफ का तुलनात्मक विश्लेषण किया गया। इसमें छत्तीसगढ़ कंपनी के ताप विद्युत गृहों का प्लांट लोड फैक्टर सर्वाधिक 70.59 प्रतिशत रहा। दूसरे स्थान पर तेलंगाना स्टेट पावर जनरेशन कंपनी 67.82 प्रतिशत और तीसरे स्थान पर तेनूघाट विद्युत निगम लिमिटेड झारखंड के विद्युत गृहों ने 62.23 प्रतिशत  पीएलएफ दर्ज किया। उल्लेखनीय है कि, देशभर के ताप विद्युत गृहों का औसत पीएलएफ 48.46 प्रतिशत रहा, जबकि छत्तीसगढ़ जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों के प्लांट का प्रतिशत 70.59 प्रतिशत दर्ज हुआ ,जो कि राष्ट्रीय औसत पीएलएफ से कहीं अधिक है।

01-09-2020
पोषण माह के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वालों को मिलेगा पुरस्कार और प्रोत्साहन 

रायपुर। प्रत्येक वर्ष 1 सितम्बर से 30 सितम्बर के बीच राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जाता है, जिसका उद्देश्य जनसामान्य को पोषण के महत्व से परिचित करवाना एवं उनमें खानपान से संबंधित स्वास्थ्य व्यवहार को विकसित करना है। इस बार पोषण माह कोविड 19 अनुरूप व्यवहारों का पालन करते हुए डिजिटली जनआन्दोलन के रूप में मनाया जाएगा। 

इस बार पोषण माह में इन गतिविधियों पर रहेगा फोकस 
1.    गंभीर कुपोषित बच्चों की पहचान, उनका सन्दर्भन एवं प्रबंधन 
2.    डिजिटल पोषण पंचायत      
3.    गृह भ्रमण एवं ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस के माध्यम से समुदाय का संवेदीकरण 
4.    एनेमिया, डायरिया एवं फिट इंडिया जैसे कार्यक्रमों का एकीकरण  
5.    पोषण पर आधारित डिजिटली प्रतियोगिताओं का आयोजन 
6.    दूरदर्शन और आल इंडिया रेडियो पर पोषण संबंधी कार्यक्रमों का प्रसारण 

बेहतर प्रदर्शन करने वाले जिलों को मिलेगा पुरस्कार और प्रोत्साहन : महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक कुमार ने बताया, इस वर्ष पोषण माह में ऐसे जिलों को सरकार द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया जाएगा जहाँ पर बच्चों में गंभीर कुपोषण का एक भी मामला ना हो। साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि इस बार ऐसे ए.ए.ए.(आंगनबाड़ी, आशा, ए.एन.एम.) को भी प्रोत्साहन दिया जाएगा जिन्होंने अपने लक्ष्यों के अनुसार कार्य किया होगा। इसके लिए अलग से दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे। उन्होंने जानकारी दी कि कोरोना के दौरान भी महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से बच्चों एवं महिलाओं के पोषण का पूरा खयाल रखने की कोशिश की जा रही है जिसके अंतर्गत आंगनवाड़ी केन्द्रों में पंजीकृत 3 से 6 वर्ष आयु के सामान्य व गंभीर कुपोषित बच्चों को गर्म पके हुए भोजन के स्थान पर आंगनबाड़ी द्वारा घर भ्रमण कर राशन का वितरण किया जा रहा है, ताकि कोरोना संक्रमण की संभावना ना रहे साथ ही गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण के साथ कोई समझौता भी न हो । बच्चे के जीवन में पोषण की शुरुआत तभी से हो जाती है जब वह गर्भ में होता है, इस सन्दर्भ में यदि छत्तीसगढ़ के एन.एफ.एच.एस- 4 के आंकड़ों को देखें तो यह पता चलता है कि 15 से 49 आयु वर्ग की 47% महिलायें एनेमिक (खून की कमी) हैं यानि कि लगभग आधी महिलाओं में खून की कमी है एवं सही खान-पान के आभाव में प्रदेश के लगभग 38% बच्चे कम वजन के रह जाते हैं| ऐसे में जो बच्चा पैदा होगा उसके कुपोषित होने की सम्भावना ज्यादा होती है। उपरोक्त परिस्थितियों में सुधार के लिए सरकार द्वारा हर वर्ष पोषण माह मनाया जाता है। इसके साथ ही अन्य पोषण संबंधी कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं, जिनका उद्देश्य मुख्य रूप से माँ एवं बच्चों की सेहत में सुधार लाना है। इन कार्यक्रमों में “समेकित बाल विकास कार्यक्रम”(ICDS), महतारी जतन योजना, मिड-डे-मील, पोषण पुनर्वास केंद्र (NRC), मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, प्रधान मंत्री मातृ वंदन योजना, प्रधान मंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान इत्यादि प्रमुख हैं।

20-08-2020
सरकार की अनदेखी से नाराज 14580 शिक्षक अभ्यर्थी 22 अगस्त को करेंगे प्रदर्शन

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग के 14580 पदों पर चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की भर्ती प्रक्रिया रूकी हुई है। छत्तीसगढ़ डीएड बीएड संघ ने कहा कि इस संबंध में राज्यपाल, मुख्यमंत्री, शासन प्रशासन को बार बार पत्र लिखकर अवगत कराया जा चुका है। लेकिन अब तक हमारी मांग पूरी नहीं हुई है। ना ही जिम्मेदार संबंधित व्यक्तियों की तरफ से इस संबंध में कोई जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। शासन प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने 22 अगस्त को धरना प्रदर्शन किया जाएगा। वहीं छत्तीसगढ़ प्रशिक्षित डीएड बीएड संघ का कहना है कि शिक्षक भर्ती में व्याख्याता परिणाम का समय 30 सितंबर को पूरा हो जाएगा इसके पूर्व नियुक्ति क्यों नहीं दी जा रही है। कोई जानकारी नहीं मिलने से सभी में मानसिक तनाव बढ़ता जा रहा है।

 

07-07-2020
कांग्रेस ने मोदी बीजेपी योजना लागू कर किया प्रदर्शन, बाइक के बदले दी साइकिल

रायपुर। प्रदेश और शहर कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की ओर से बढ़ते पेट्रोल,डीजल के दामों को लेकर केन्द्र सरकार के खिलाफ लगातार धरना प्रदर्शन जारी है। प्रदर्शन के क्रम में 6वें दिन मंगलवार को गुरू घासीदास प्लाजा के सामने धरना दिया गया। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया कि धरना स्थल पर विरोध स्वरूप मोदी बीजेपी नामक एक योजना लागू की गई,जिसमें मोटर साइकिल के बदले साइकिल दी गई। धरना स्थल में एक तरफ बाइक तो दूसरी तरफ साइकिल रखकर प्रदर्शन किया गया। साथ ही बैनर पोस्टर से कच्चे तेल और भारत में पेट्रोल,डीजल की कीमतों का अंतर आम जनता को बताया गया।

धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, विधायक विकास उपाध्याय,शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। आरोप लगाया है कि केन्द्र में बैठी मोदी सरकार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर आम जनता से वसूली कर विधायक खरीदने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता पेट्रोल,डीजल के बढ़े दामों को लेकर प्रदर्शन करते थे,लेकिन आज वो गायब हैं। गिरीश दुबे ने भाजपा के नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा नेता मोदी से डरते हैं, इसलिए बढ़ते हुए पेट्रोल डीजल के दामों पर चुप्पी साधे हुए हैं। इस कोरोना काल में भी आम जनता के बीच नजर नही आ रहे हैं।

कार्यक्रम में ज्ञानेश शर्मा, प्रमोद चौबे, धनंजय ठाकुर, सुरेश चन्नावर, सुन्दर जोगी, रितेश त्रिपाठी, मणीराम साहू, घनश्याम छत्री, प्रकाश जगत, अन्नु राम साहू, प्रदीप उपाध्याय, बबलू गुप्ता, दरबार सिंह ठाकुर, दिलीप अग्रवाल, हनुमंत साहू, सुनीता शर्मा, दाउलाल साहू, भागवत साहू, योगेश तिवारी, कामत साहू, रामू हरपाल, तरूण श्रीवास, विकास अग्रवाल, दया सागर सोना, नितिश शर्मा, संगीता दुबे, भीम यादव, यश साहू, शीत श्रीवास, शेखर साहू, मो. जाफर, हितेश गायकवाड़, सरिता शर्मा, संदीप सिरमौर, रोहित साहू, हसन डहरिया, हेमलाल सेन सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

03-07-2020
कांग्रेस का केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी, महिला कार्यकर्ताओं ने चूड़ी और मेहंदी रखकर किया विरोध

रायपुर। पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस केन्द्र सरकार के खिलाफ आक्रमक तरीके से मैदान में उतरी है। शुक्रवार को दूसरे सरे दिन भी कांग्रेस ने ब्लॉक स्तर पर केन्द्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया। शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे सहित तमाम नेताओं ने केन्द्र की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। दुबे ने कहा कि आज कोरोना जैसी वैश्विक महामारी का दौर चल रहा है, जिसके कारण लोगों को दैनिक उपभोग की वस्तुओं के लिए, रोजी-रोजगार के लिए सोचना पड़ रहा है। ऐसे में केन्द्र की मोदी सरकार लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों का नियंत्रण नहीं कर पा रही है। जबकि अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम है। शहर प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने कहा कि अब तक प्रदर्शन पं. जवाहर लाल नेहरू ब्लॉक के तेलघानी नाका चौक में ब्लॉक अध्यक्ष अरूण जंघेल और महंत लक्ष्मीनारायण दास ब्लॉक के आजाद चौक में ब्लॉक अध्यक्ष सुनीता शर्मा, शहीद ब्रिगेडियर उस्मान ब्लॉक के पचपेढ़ी नाका चौक में सुमित दास, गुरूघासी दास ब्लॉक के शंकर नगर चौक में कामरान अंसारी के नेतृत्व में प्रदर्शन किया जा चुका है। महिला कार्यकर्ताओं ने भाजपा नेताओं की ओर से महंगाई के विरोध में किए गए प्रदर्शन को याद दिलाते हुए उनके लिए चूड़ी और मेहेंदी रखकर प्रदर्शन किया।


कार्यक्रम में प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, महापौर एजाज ढेबर, सभापति प्रमोद दुबे, कन्हैया अग्रवाल, विकास तिवारी, सुमित दास, आशा चौहान, सुरेश चन्नावार, राजेश सिंह ठाकुर, दिलीप अग्रवाल, प्रदीप कावडीया, सुमित दास, सुयश शर्मा, राजू यादव, मुकेश शर्मा, मल्लीका प्रजापति, शेखर साहू हरीश तिवारी, प्रशांत यादव, माधव छुरा, अम्बे बागमार, सुजीत चौहान, रामदास कुर्रे, हैदर अली, दिलीप फरीकार, सचिन शर्मा, सत्यनारायण नायक, वाहीउद्दीन, मुरली साहू, दिनेश फुटान, आशीष विश्वकर्मा, ईश्वर चक्रधारी, सतीष जंघेल, अनिल वर्गे, रविन्द्र शुक्ला, मो.फिरोज गांधी, रंजन कुमार गोयल, अमित तिवारी, मंगल सिंह, बृजमोहन साहू, गजेन्द्र साहू, प्रकाश शर्मा, भूपत महोबिया, अविनय दुबे, मोहन साहू, अमित घोस, सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

29-06-2020
साइकिल चलाकर और ट्रक खींचकर कांग्रेस ने केन्द्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

रायपुर। पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वृद्धि के खिलाफ प्रदेशभर के जिला मुख्यालयों में कांग्रेस ने हल्ला बोला। राजधानी के बूढ़ातालाब धरना स्थल पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया। मंत्री, विधायक से लेकर कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जुटे। प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम के साथ कांग्रेसी साइकिल पर निकले तो विधायक विकास उपाध्याय ने ट्रांसपोर्टरों के साथ ट्रक खींचकर विरोध जताया। कांग्रेस नेता ने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। कांग्रेसी साइकिल से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को साइकिल भेंट करने निकले। पुलिस प्रशासन ने सप्रै शाला के समीप रोकन के लिए पूरी व्यवस्था कर रखी थी। यहां पर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। उल्लेखनीय है कि सोमवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के कार्यकाल का भी 1 साल पूरा हुआ है।

25-06-2020
पेट्रोल डीजल के बढ़े दामों के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, तस्वीरों का किया दहन

रायपुर। दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसियों ने पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ पेट्रोलियम मंत्री की तस्वीरों को आग के हवाले कर जमकर नारेबाजी की। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व दक्षिण के छाया विधायक कन्हैया अग्रवाल के नेतृत्व में बुधवार गुरुवार को प्रदर्शन किया गया। अग्रवाल ने कहा कि देश में कोरोना के कारण अर्थव्यवस्था निचले स्तर पर है। मोदी सरकार क्रूड के लगातार कम होते दाम के बावजूद टैक्स पर टैक्स लगाकर पेट्रोल डीजल को महंगा कर रही है। इससे महंगाई भी चरम पर होगी। उन्होंने कहा कि सरकार में आने से पहले नरेंद्र मोदी और भाजपा जिस महंगाई डायन के खिलाफ गरजते नहीं थकते थे,आज प्रधानमंत्री और भाजपा ही देश की जनता को महंगाई की गहरी खाई में धकेल रही है।विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस संचार विभाग के सदस्य नितिन भंसाली, पूर्व पार्षद जीतू भारती, छाया पार्षद सत्यनारायण नायक, नोहर साहू ,महावीर मालू ,युवक कांग्रेस दक्षिण विधानसभा के अध्यक्ष विक्रांत शिर्के, अतुल रघुवंशी ,नागेंद्र वो, उमेश गुप्ता, ममता राय, अंजना भट्टाचार्य, विकास पात्रे ,अविनाश शिर्के, सुनील शेरके ,मुकुंद पांचाल, मनोज साहू ,देवेंद्र पवार ,राजेश केडिया,पुरषोत्तम शर्मा , महेश सोनी ,वीरेंद्र पवार,मोहम्मद सिद्दीक ,महावीर देवांगन, राजा भट्टर, धवल तिवारी ,राजेश त्रिवेदी, सीमांत दीक्षित ,राकेश अग्रवाल ,टिकेश्वर साहू ,यश कुमार साहू ,कल्याण साहू, अनादि पांडेय, शेख इमरान ,सुरेश बाफना सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।

 

18-06-2020
  एबीवीपी ने चीनी सेना के खिलाफ किया प्रदर्शन, स्वदेशी अपनाने की अपील

रायपुर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद रायपुर ने चीनी सेना और राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खिलाफ प्रदर्शन किया। महानगर मंत्री विभोर सिंह ने कहा कि चीनी सेना ने भारतीय सेना पर कायराना हमला किया है। जनता को भी अपना दायित्व निभाते हुए चीनी सामानों का बहिष्कार कर सबक सिखाना होगा। एबीवीपी ने मांग की है कि चीनी सामानों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया जाए। स्वदेशी उत्पादों का उपयोग किया जाए। चीन से पूर्ण रूप से संबंध खत्म करते हुए सभी सामानों का आयात तत्काल प्रभाव से रोका जाए। विभोर ने कहा कि एबीवीपी पूरे शहर में चीनी सेना के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। इस दौरान अमन ठाकुर, मुकुल वर्मा, शेखर झा सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

18-06-2020
कमर्शियल माइनिंग और कोल ब्लॉक को निजी हाथों में सौंपने के विरोध में माकपा ने किया प्रदर्शन

 कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ कोरोना महामारी के राहत पैकेज के नाम पर फंड जुटाने देश के सार्वजनिक उद्योगों को बेचने का आरोप लगाते हुए एसईसीएल सुराकछार गेट के सामने विरोध प्रदर्शन किया।मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव प्रशांत झा ने कहा की मोदी सरकार देश की सार्वजनिक संपत्तियों को विनिवेशीकरण, निजीकरण करने जा रही है,आज से कोल ब्लाक की नीलामी की प्रक्रिया चालू कर रही है साथ ही कमर्शियल माइनिंग कर निजी मालिकों को कोयला खुले रूप से कोयला बेचने का अधिकार दे दी है,जिससे कोल इंडिया का अस्तित्व खत्म होने वाला है साथ ही श्रम कानूनों में परिवर्तन कर मजदूरों को गुलाम बनाने की साजिश की जा रही है।

माकपा 2 जुलाई से 4 जुलाई तक कोयला उद्योग में होने वाले देशव्यापी हड़ताल का समर्थन भी किया। माकपा पार्षद सुरती कुलदीप ने कहा की कोरबा जिले में भी घने जंगलों को उजाड़ कर आदिवासियों को जल जंगल जमीन से बेदखल करने पर्यावरण को खतम करने की साजिश कर देश को देशी विदेशी पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की प्रक्रिया चालू कर दी है। आज एसईसीएल सुराकछार मेन गेट के सामने मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, जनवादी महिला समिति सीटू ने मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन में जनवादी महिला समिति की प्रदेश संयोजक धनबाई कुलदीप,माकपा पार्षद राजकुमारी कंवर,हुसैन अली, जनकदास,रामचरन चंद्रा,लंबोदर,जवाहर सिंह कंवर, दिलहरण बिंझवार उपस्थित रहे।

 

07-06-2020
स्वास्थ्य सेवा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे दिल्ली भाजपा अध्यक्ष लिए गए हिरासत में

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में कथित तौर पर खराब होती स्वास्थ्य सेवा के खिलाफ रविवार को राजघाट पर प्रदर्शन कर रहे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता और पार्टी के अन्य विधायकों को हिरासत में ले लिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर प्रदर्शन करने के आरोप में गुप्ता और 14 अन्य को हिरासत में लिया गया। भाजपा नेताओं को हिरासत में लेकर राजेंद्र नगर पुलिस थाना ले जाया गया और बाद में सभी को छोड़ दिया गया। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर बिधूड़ी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कथित तौर पर खराब होती स्वास्थ्य सेवा के खिलाफ भाजपा, आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी रखेगी। पार्टी की ओर से जारी में कहा गया,‘दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस ने राजघाट से उस समय हिरासत में लिया जब वह राष्ट्रीय राजधानी में धाराशायी हुई स्वास्थ्य सेवा के खिलाफ केजरीवाल सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804