GLIBS
16-06-2021
राजधानी में इस साल अभी तक 159.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज

रायपुर। जिले में इस वर्ष अभी तक 159.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। कलेक्टर कार्यालय के भू-अभिलेख शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक रायपुर तहसील में 187.8 मिमी, आरंग तहसील में 57.6 मिमी वर्षा, अभनपुर तहसील में 186.1 मिमी, गोबरा नवापारा में 288.0, तिल्दा में 110.9, खरोरा में 124.0 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। जिले में पिछले दस वर्षों में इस अवधि में औसत रूप से 50.3 मिमी वर्षा हुई थी।

14-06-2021
उच्च अधिकारियों को रोज कार्यालय में होना होगा हाजिर, केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने जारी किया आदेश

नई दिल्ली। अवर सचिव स्तर के और उच्च अधिकारी सभी कार्य दिवसों पर दफ्तरों में हाजिर रहने का ओदश केंद्र सरकार ने जारी किया। वहीं दिव्यांग व गर्भवती महिला कर्मचारी घर से काम करती रहेंगी। यह नियम 16 जून से 30 जून तक प्रभावी रहेंगे। यह आदेश कार्मिक मंत्रालय ने सोमवार को जारी किया। केंद्र सरकार के सभी मंत्रालयों/विभागों को जारी आदेश में कहा गया है कि अवर सचिव स्तर से नीचे के सरकारी कर्मचारियों के संदर्भ में ऐसे 50 प्रतिशत अधिकारी सभी कार्य दिवसों पर कार्यालय आएंगे और शेष घर से काम करेंगे। कोविड के मामलों और संक्रमण दर में व्यापक रूप से कमी आने के तथ्य के मद्देनजर' कार्मिक मंत्रालय सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति को विनियमित करने के लिए मंत्रालय ने ये दिशानिर्देश जारी किए हैं। इनमें कहा गया है कि अवर सचिव और उनसे ऊंची श्रेणी के सभी सरकारी अधिकारी सभी कार्यदिवस पर कार्यालय आएंगे। इसमें कहा गया कि अधिकारी-कर्मचारी अलग-अलग समय जैसे, सुबह नौ बजे से शाम साढ़े पांच, सुबह साढ़े नौ बजे से शाम छह बजे और सुबह 10 बजे से शाम साढ़े छह बजे आएंगे,जिससे कार्यालय में ज्यादा भीड़ से बचा जा सके। आदेश में कहा गया कि दिव्यांग कर्मियों और गर्भवती महिला कर्मचारियों को कार्यालय आने से छूट जारी रहेगी, लेकिन उन्हें अगले आदेश तक घर से काम करना होगा। आदेश के मुताबिक निषिद्ध क्षेत्र में रहने वाले सभी अधिकारियों व कर्मियों को निषिद्ध अवधि के दौरान कार्यालय आने से छूट रहेगी। जो अधिकारी-कर्मचारी कार्यालय नहीं आ रहे हैं वे घर से काम करेंगे और उन्हें हर वक्त टेलीफोन या संचार के दूसरे इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों के जरिये संपर्क में रहना चाहिए।

 

10-06-2021
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कबीरधाम जिले को 224.74 करोड़ रुपए की दी सौगात

कवर्धा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर निवास कार्यालय में वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से कबीरधाम जिले के विकास के लिए 224 करोड़ 74 लाख रुपए की लागत के 754 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्य में 98 करोड़ 73 लाख रुपए के 415 कार्यों का लोकार्पण और 126 करोड़ 1 लाख रुपए के 339 कार्यों का भूमिपूजन शामिल है। अधोसंरचना विकास एवं सामाजिक विकास के इन कार्यों से कबीरधाम जिले के नागरिक के सुविधाओं का विकास होगा। कवर्धा के पीजी कॉलेज के ऑडिटोरियम में लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्यों का कार्यक्रम हुआ। मुख्यमंत्री बघेल के साथ कबीरधाम जिले के प्रभारी मंत्री अनिला भेंड़िया, लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण एवं पर्यावरण विभाग के मंत्री मो. अकबर, उपस्थित रहे।

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम कवर्धा में सांसद संतोष पांडेय, पंडरिया विधायक ममता चंन्द्राकर, जिला पंचायत अध्यक्ष सुशीला भट्ट, कवर्धा नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा और अन्य जनप्रतिनिधि, नगर पालिका, नगर पंचायत के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सभी निर्वाचित सदस्य उपस्थित रहे। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि कबीरधाम जिले के विकास के लिए 224 करोड़ 74 लाख रुपए की लागत के 754 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किए। इन कार्यों में शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल व्यवस्था, सड़क, और बिजली आपूर्ति जैसे बुनियादी काम शामिल हैं। अधोसंरचना विकास एवं सामाजिक विकास के लिए इन कार्यों से निश्चित ही जिले में नागरिक सुविधाओं के एक नए दौर की शुरुआत हो रही है। वही मुख्यमंत्री ने हितग्राहियों से चर्चा भी किए।c

08-06-2021
Video: कोरबा की नई कलेक्टर रानू साहू ने संभाला कार्यभार

कोरबा। जिले की नवपदस्थ कलेक्टर रानू साहू ने मंगलवार को जिला कार्यालय में अपना पदभार ग्रहण किया। जिले के प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार ने उन्हें कार्यभार सौंपकर उनका स्वागत किया। रानू साहू कोरबा जिले की 15वीं कलेक्टर होंगी। पदभार ग्रहण के बाद रानू साहू ने जिला कार्यालय के अधिकारियों से परिचय प्राप्त कर जिले में संचालित गतिविधियों के बारे में संक्षिप्त जानकारी ली। कोरबा कलेक्टर रानू साहू मूलतः गरियाबंद की हैं। 2005 में उनकी पोस्टिंग पुलिस विभाग में डीएसपी के रूप में हुई थी। 2010 बैच की आईएएस रानू साहू इससे पहले एसडीएम सारंगगढ़, सीईओ जिला पंचायत कोरिया, नगर निगम आयुक्त बिलासपुर, एडीएम अंबिकापुर, डायरेक्टर हेल्थ, कलेक्टर कांकेर, कलेक्टर बालोद, आयुक्त वस्तु एवं सेवा कर, प्रबंध संचालक, छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के पदों पर कार्यरत रही है। इस दौरान सहायक कलेक्टर अभिषेक शर्मा, संयुक्त कलेक्टर आशीष देवांगन, एसडीएम सुनील नायक, डिप्टी कलेक्टर भरोसाराम ठाकुर सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

26-05-2021
27 मई से पचास प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगें सभी कार्यालय, कलेक्टर सरगुजा ने जारी किए आदेश

अम्बिकापुर। जिले में स्थित सभी केंद्रीय, शासकीय, सार्वजनिक उपक्रम, अर्धशासकीय एवं निजी कार्यालय 27 मई से 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ अपने निर्धारित समय पर खुलेंगें। इस संबंध में कलेक्टर संजीव कुमार झा ने आदेश जारी कर दिया है। आदेश में कहा गया है कि कार्यालयों को अपनी निर्धारित क्षमता के 50 प्रतिशत कर्मचारियों के चक्रानुक्रम में उपस्थिति तथा अधिकारियों की शत प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति होगी। कार्यालय केवल अपने कार्यालयीन कार्य संपादित करेंगे तथा आमजनता का प्रवेश प्रतिबंधित होगा। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते कलेक्टर संजीव कुमार झा के द्वारा सम्पूर्ण जिले को 31 मई तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। इससे व्यावसायिक गतिविधियों सहित अधिकांश कार्यालय बंद है।

 

14-05-2021
Breaking : महिला कैदियों को लगाई जा रही वैक्सीन, अधिकारी पहुंचे सेंट्रल जेल 

रायपुर। सेंट्रल जेल में महिला कैदियों को वैक्सीन लगाई जा रही है। मॉनिटरिंग के लिए सीएमएचओ कार्यालय से गजेंद्र डोंगरे मीडिया प्रभारी और राज यदु सेक्ट्रियल असिस्टेंस जेल पहुंचे हैं।

04-05-2021
प्रतिदिन सीएमएचओ कार्यालय में दें कोविड जांच कराने वालों की जानकारी: कलेक्टर

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल ने टीपी नगर मेन रोड स्थित एडवांस डायग्नोस्टिक सेंटर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सेंटर संचालक से कोविड जांच, सीटी स्केन आदि के बारे में विस्तृत जानकारी ली और जांच कराने वाले लोगों तथा मरीजों का रिकार्ड देखा। जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस. जयवर्धन और सीएमएचओ डाॅ.बीबी बोडे की मौजूदगी में कलेक्टर ने सेंटर संचालन और कोविड प्रोटोकाॅल तथा आईसीएमआर द्वारा निर्धारित मापदण्डों के अनुसार व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। किरण कौशल ने डायग्नोस्टिक सेंटर में प्रतिदिन कोविड जांच कराने वाले लोगों की जानकारी सीएमएचओ कार्यालय और और आईसीएमआर पोर्टल में नहीं करने पर संचालक के प्रति नाराजगी जताई। कलेक्टर कौशल ने हर दिन यह जानकारी शाम छह बजे तक सीएमएचओ कार्यालय को उपलब्ध कराते हुए पोर्टल में भी दर्ज करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सेंटर में जांच के बाद पाॅजिटिव पाये गये सभी कोविड मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग के लिए मौके पर ही जरूरी व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये ताकि संक्रमित मरीज के संपर्क में आये लोगों की त्वरित पहचान कर संक्रमण को फैलने से रोकने के उपाय किये जा सकें।
कलेक्टर ने समय-समय पर सीएमएचओ डॅा. बोडे को डायग्नोस्टिक सेंटर की व्यवस्थाओं और संचालन का निरीक्षण करते रहने के लिए भी कहा। 

30-04-2021
भूपेश बघेल ने कहा-अस्पताल अपने संसाधनों का बेहतर से बेहतर उपयोग कर मरीजों का करें तत्परता से इलाज

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रदेश के चिकित्सा विशेषज्ञों से चर्चा की। उन्होंने कोरोना महामारी से बचाव और नियंत्रण के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव लिए। उन्होंने शासकीय अस्पतालों के साथ-साथ निजी चिकित्सा संस्थानों से शासन को मिल रहे सहयोग की भी भरपूर सराहना की। 

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि हम अपने संसाधनों और अपनी व्यवस्थाओं के साथ कोविड की दूसरी लहर का पुरजोर मुकाबला भी कर रहे हैं। राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं का तेजी से विस्तार किया जा रहा है। इससे मरीजों को तत्परता से इलाज सुविधाओं का भरपूर लाभ मिले। मुख्यमंत्री ने विशेषज्ञ चिकित्सकों से कहा कि अपने-अपने संस्थान में उपलब्ध संसाधनों का बेहतर से बेहतर उपयोग कर मरीजों को सुगमता से इलाज सुविधा का लाभ दिलाएं।

इनमें आवश्यक चिकित्सा उपकरणों को बढ़ाने सहित ऑक्सीजन प्लांट आदि सुविधाओं के लिए भी आवश्यक पहल करने के संबंध में जोर दिया। मुख्यमंत्री ने चिकित्सा संस्थानों की मांग पर आवश्यक चिकित्सकीय सुविधाओं में बढ़ोत्तरी सहित प्रशिक्षित स्टाफ की व्यवस्था आदि के संबंध में शासन की ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। इसके लिए उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य और अपर मुख्य सचिव गृह को शीघ्र आवश्यक व्यवस्था तय करने के निर्देश दिए। 
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि आज राज्य भर के 24 निजी चिकित्सा संस्थानों के विशेषज्ञ चिकित्सकों से चर्चा हुई और  महत्वपूर्ण सुझाव आए हैं। उन्होंने सभी विशेषज्ञ चिकित्सकों अपने-अपने संस्थान में चिकित्सा सुविधाओं में और बढ़ोत्तरी के लिए विशेष रूप से आग्रह किया। एम्स रायपुर से डॉ. नितिन एम. नागरकर ने चर्चा में भाग लेते हुए वैक्सीनेशन सहित आईसीयू और वेंटीलेटर जैसे चिकित्सकीय सुविधाओं को बढ़ाने के लिए कहा। 

इसी तरह मेकाहारा से डॉक्टर ओपी सुंदरानी, बिलासपुर से डॉ. आरपी मिश्रा, डॉ. अमित सोनी, डॉ. देवेश, डॉ. रवि शेखर, रायगढ़ से डॉ. सुभाष, डॉ. मनोज कुमार और  दुर्ग से डॉ. प्रतिक कौशिक, डॉ. आशीष मित्तल, डॉ. एपी सावंत, अंबिकापुर से डॉ. अभिषेक वाजपेयी, धमतरी से डॉ. सूरज गुप्ता, डॉ. संदीप पटोदा, बाल्को से डॉ. एस. वेंकट कुमार, बालाजी हॉस्पिटल रायपुर से डॉ. देवेन्द्र नायक, मेडीसाइन हॉस्पिटल से डॉ. सुशील शर्मा और डॉ. शैलेन्द्र उपाध्याय, डॉ. नवीन शर्मा, डॉ. सुनील खेमका और राम कृष्ण केयर हॉस्पिटल से डॉ. संदीप दवे आदि विशेषज्ञ चिकित्सकों ने चर्चा में भाग लेकर अपना महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इस दौरान अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्ले, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी और संचालक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण नीरज बंसोड उपस्थित थे।

29-04-2021
एसईसीएल जीएम कार्यालय में लगा वाहनों का रेला, कलेक्टर ने दिए जांच के निर्देश

कोरबा।, पूर्ण तालाबंदी के दौरान निरीक्षण करते कलेक्टर-एसपी ने एसईसीएल कोरबा के जीएम कार्यालय का निरीक्षण करने के निर्देश एसडीएम सुनील नायक को दिए। कोविड नियंत्रण के लिए जिले मे लागू लाॅक डाउन के पालन का निरीक्षण करने निकली कलेक्टर किरण कौशल और एसपी अभिषेक मीणा ने जीएम कार्यालय के सामने से गुजरते हुए कार्यालय परिसर में बड़ी संख्या में खड़े वाहनों और चहलकदमी करते लोगों को देखा। दोनों अधिकारियों ने इस पर गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने जीएम कार्यालय में इतनी अधिक संख्या में वाहनों की मौजूदगी देख बड़ी संख्या में लोगों के कार्यालय में होने और भीड़ जैसी स्थिति की आशंका को देखते हुए मौके पर ही एसडीएम सुनील नायक को जांच करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने एसडीएम को पूर्ण तालाबंदी का सख्ती से पालन करवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लाॅक डाउन के दौरान बेवजह लोगों की आवाजाही बंद की जाये। आपातकालीन स्थिति को छोड़कर बिना वजह घर से निकलने वालों पर महामारी अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई भी की जाये।

 

07-04-2021
भूपेश बघेल ने कहा- कोरोना के रोकथाम और उपचार में फंड की कोई कमी नहीं होगी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार को यहां अपने निवास कार्यालय में राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति एवं प्रबंधन के विषय में उच्च स्तरीय बैठक ली। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण में तेजी आई है जो चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि इसकी रोकथाम एवं इलाज के लिए सभी आवश्यक उपाय व प्रबंध किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम और मरीजों के इलाज के लिए फंड की कोई कमी नहीं होगी। इसके लिए उन्होंने जिलों को आवश्यकतानुसार राशि जारी करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना मरीजों के इलाज के लिए कोविड सेंटर, जिला अस्पतालों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी आवश्यक प्रबंध किए जाने की जरूरत है, ताकि रायपुर स्थित एम्स और मेडिकल कॉलेजों के अस्पतालों में मरीजों की अत्यधिक संख्या को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों के लक्षण एवं उनकी स्वास्थ्यगत स्थिति को ध्यान में रखते हुए इलाज के लिए कोविड सेंटर एवं अस्पतालों में भर्ती किया जाना चाहिए। कोरोना संक्रमित परन्तु सामान्य स्थिति वाले मरीजों का इलाज कोविड सेंटर एवं जिला एवं ब्लॉक स्तरीय अस्पतालों, होम आइसोलेशन में किए जाने से डेडिकेटेड अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों एवं एम्स में गंभीर स्थिति वाले मरीजों का सहजता से इलाज हो सकेगा। उन्होंने इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मरीजों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए उनकी केटेगरी का निर्धारण व इलाज के लिए रिफर करने के लिए सेंट्रल रेफरल सिस्टम तैयार करने के निर्देश दिए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804