GLIBS
04-04-2020
प्रदेश युवा कांग्रेस की हुई कार्यकारिणी बैठक,समाज के प्रति जिम्मेदारी निभाने के निर्देश

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस की पहली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक हुई। बैठक में प्रभारी संतोष कोलकुंडा,एकता ठाकुर और अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने पदाधिकारियों को कोरोना वायरस से लड़ने और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाने के निर्देश दिए। प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने यूथ कांग्रेसियों को लगातार जरुरतमंदों के लिए किए जा रहे कार्यों के लिए शुभकामनाएं दी। साथ ही लगातार ऐसे ही जनसेवा में लगे रहने के निर्देश दिए। कोको पाढ़ी ने कहा कि प्रदेश में हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से जनसेवा का प्रयास किया जा रहा है। हेल्पलाइन नंबर में जिला अध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी और जिलेवार नियुक्त किये गए स्वयंसेवक के नंबर मौजूद हैं।
भारतीय युवा कांग्रेस प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने कहा कि प्रभारी संतोष कोलकुंडा और एकता ठाकुर ने पदाधिकारियों को भारतीय युवा कांग्रेस की ओर से निर्देशित कार्यक्रम मेरी जिम्मेदारी के माध्यम से जनता के बीच जाकर गरीब, असहाय, निराश्रित लोगों की मदद करने का निर्देश दिया। गत दिन ही युवा कांग्रेस साथियों के काम को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ मंत्री टीएस सिंहदेव ने वीडियो के माध्यम से सराहा था। समस्त पदाधिकारियों ने उनका आभार व्यक्त किया गया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक में सभी प्रदेश पदाधिकारी और जिला अध्यक्ष उपस्थित थे।

03-04-2020
विधायक और कलेक्टर ने ली बैठक, मजदूरों के लिए भोजन व्यवस्था करवाने दिए निर्देश


कोरिया। विधायक गुलाब कमरो व कलेक्टर कोरिया डोमन सिंह की उपस्थिति में स्थानीय रेस्टहाउस में बैठक हुई। इसमें जिले में कोरोना वायरस से लड़ने, लॉक डाउन का पालन करने पर चर्चा हुई। इसमें दिहाड़ी मजदूर के लिए भोजन की व्यवस्था करवाने की विधायक ने निर्देश दिए। बैठक में जिले में सुचारु रूप से व्यवस्था बनाए रखने और मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश पर चर्चा हुई। बैठक में एसडीएम आरपी चौहान,नपाध्यक्ष प्रभा पटेल,उपाध्यक्ष कृष्णमुरारी तिवारी व जनपद अध्यक्ष डॉ. विनय शंकर सिंह उपस्थित थे।

 

30-03-2020
कोरोना संक्रमण को लेकर विधायक, कलेक्टर के संग हुई समाज प्रमुखों की बैठक

कोण्डागांव। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्थित कोरोना हेल्प डेस्क में विधायक मोहन मरकाम की अध्यक्षता में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम द्वारा सर्व समाज प्रमुखों सहित जनप्रतिनिधियों की बैठक हुई। बैठक में क्षेत्र के विधायक मरकाम ने कहा कि सांस्कृतिक नगरी कोण्डागांव के सभी समाजों में एकता, आपसी सहयोग एवं भाई-चारे की भावना सदैव व्याप्त रही है। इसी आपसी सामंजस्य की परम्परा का निर्वहन करते हुए एकजुट होने की आवश्यकता आज आन पड़ी है। इस विकट परीक्षा की घड़ी में सभी समाजो का यह मानवीय दायित्व है कि वे अपने-अपने स्तर पर प्रशासन का पुरजोर सहयोग करके एक मिसाल कायम करें।

बैठक में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने बताया कि आज पूरा विष्व कोरोना महामारी की मार झेल रहा है परन्तु एक छत्तीसगढ़ उसमें भी बस्तर क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जो अब तक इस महामारी से अछूता है। परन्तु इससे हमें अति उत्साहित नहीं होना चाहिए क्योंकि निरंतर सर्तकता एवं जागरुकता से ही हम अपने क्षेत्र को इस विपत्ति से बचा सकते है इसके लिए राज्य शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा शुरुआत में ही ठोस कदम उठाये गए जैसे जिले में जितने व्यक्ति विदेश यात्रा से लौटे थे उन्हें चिन्हित कर होम आइसोलेशन में रखकर उनके सैम्पल भेजे गए जहां इनकी रिपोर्ट निगेटिव पाई गई। जिले की अंतराज्यीय सीमाओं को सील करके लोगो के आवागमन पर रोक लगाया गया। इसके अलावा जिले से बाहर गए प्रवासी मजदूरो को उनके आने पर होम आईसोलेशन में रखकर उनकी निगरानी की जा रही है। कलेक्टर ने बैठक में सभी समाज प्रमुखो से आग्रह किया कि वे कोरोना संक्रमण को देखते हुए अपने-अपने समाजों में आगामी माह में होने वाले शादी-ब्याह, नामकरण जैसे पारिवारिक मांगलिक कार्यक्रम को स्थगित कर दें।

30-03-2020
VIDEO: संभागायुक्त और आईजी ने ली अधिकारियों की बैठक, जिले में कोरोना वायरस से निपटने तैयारियों का लिया जायजा

रायगढ़। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के साथ-साथ जिले की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बिलासपुर संभाग के आयुक्त और संभाग के पुलिस महानिरीक्षक रायगढ़ पहुंचे। उन्होंने पुलिस अधीक्षक व कलेक्टर के साथ अन्य अधिकारियों की बैठक लेकर स्थिति के बारे में चर्चा की। साथ ही साथ प्रशासनिक अधिकारियों को राज्य शासन से मिले दिशा निर्देशों को अवगत कराते हुए कड़ाई से पालन करने के लिए भी कहा। बैठक के बाद बिलासपुर संभाग के आयुक्त ने बताया कि पूरे संभाग में स्थिति कंट्रोल में है और सभी कलेक्टर को यह निर्देश दिए गए हैं कि इस दौरान गरीबों को मिलने वाले राशन वृद्धा पेंशन के अलावा अन्य सहयोग समय पर मिलें। उन्होंने यह भी कहा कि पूरे संभाग में दवाओं को पर्याप्त स्टाक है। साथ ही साथ जनता तक राहत पहुंचाने के लिए भी प्रशासनिक टीम तैयार है। वहीं बिलासपुर संभाग के आईजी ने भी बताया कि पुलिस विभाग लॉक डाउन का पालन करने के लिए लगातार सजगता से काम कर रही है। उनका कहना है कि विदेशों से आए लोगों की पूरी सूची पुलिस के पास है और इनमें से अगर किसी ने नियमानुसार सूचना संबंधित थाने में नही दी है तो उनके ऊपर एफआईआर दर्ज की जा रही है। उनका कहना था कि पुलिस को वॉलिंटियर की भी बड़ी जरूरत है और जो भी इसमें शामिल होना चाहे उन्हें बकायदा पुलिस के कुछ पावर देकर जिम्मेदारी दी जा सकती है और इसके लिए संबंधित पुलिस अधीक्षकों को भी निर्देश दिए गए हैं।

 

28-03-2020
VIDEO: राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की बैठक में हुआ फैसला, 1500 कैदी किए जाएंगे रिहा

रायगढ़। कोरोना महामारी की आशंका को देखते हुए जेलों से 1500 कैदी रिहा किए जाएंगे। यह फैसला राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा की टेली कांफ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ शासन के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया। तिहाड़ जेल दिल्ली के बाद छत्तीसगढ़ दूसरा राज्य है, जहां ऐसा फैसला लिया गया है। राज्य शासन की ओर से अतिरिक्त मुख्य सचिव सुब्रत साहू, जेल विभाग के प्रमुख सचिव एम के चंद्रवंशी और जेल विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक संजय पिल्ले इस टेली कांफ्रेंसिंग में शामिल हुए। प्रदेश की जेलों में बंद छत्तीसगढ़ राज्य के निवासी ऐसे कैदी जिनको किसी मामले में अधिकतम सात साल की सजा हो सकती है या दी गई है, उन्हें कुछ शर्तों के साथ जेलों से रिहा करने का निर्णय लिया गया। ऐसे बंदी जिनके मामले की सुनवाई चल रही हो उन्हें 30 अप्रैल तक की निजी मुचलके पर अंतरिम जमानत दे दी जाएगी। ऐसे बंदी जिन्हें सात साल तक की सजा सुनाई जा चुकी है और जेल में तीन माह या उससे अधिक की अवधि व्यतीत कर चुके हों उन्हें 30 अप्रैल तक पैरोल पर छोड़ दिया जायेगा।

इन बंदियों को अपना आवेदन अपने जिलों के विधिक सेवा प्राधिकरण में जिला जज की ओर से नियुक्त किए गए विशेष जजों के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। इसके बाद रिहा करने की कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में इस फैसले से लाभान्वित होने वाले बंदियों की संख्या लगभग 1500 बताई गई है। इसी कड़ी में रायगढ़ जिला जेल से भी जिला विधिक सेवा प्रधिकरण के निर्देश पर लगभग 17 कैदी आज रायगढ़ से भी रिहा किए गए, जिसमें की कुछ कैदी रायगढ़ शहर के थे तो कुछ दूरदराज ग्रामीण इलाकों के। दूरदराज ग्रामीण इलाकों के कैदियों के सही सलामत घर पहुंचने की व्यवस्था भी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा की गई थी। इनके लिए विशेष वाहन की व्यवस्था कर इनको अपने घर तक छोड़ा गया और साथ ही सभी कैदियों को प्रमाण पत्र भी वितरण किया गया। जैसे ही आज 17 कैदी रिहा हुए जेल से सभी के चेहरे खिल उठे सभी ने दोबारा किसी प्रकार की गलती ना कर दोबारा जेल ना आने का भरोसा भी जेलर को दिलवाया साथ ही साथ कोरोना वायरस के मद्देनजर मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग एवं लॉक डाउन का पालन करने का भी भरोसा जेलर को दिया, वहीं आसपास के कैदियों को लेने के लिए उनके परिवारजन भी पहुँचे थे।

28-03-2020
राष्ट्रपति ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए राज्यपालों की ली बैठक, जागरुक करने विशेष जोर...

रायपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर देश के समस्त राज्यपालों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक ली। बैठक में उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू, राज्यपाल अनुसुईया उइके सहित अन्य राज्यों के राज्यपाल शामिल थे। वे राज्य जहां कोरोना वायरस संक्रमणों की संख्या अधिक है और जहां पर संक्रमित लोगों की मृत्यु हुई, उनसे विशेष रूप से चर्चा की गई। राष्ट्रपति कोविंद ने सुझाव दिया कि समस्त राज्यपाल अपने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति पर नजर बनाए रखें और टेस्टिंग किट और अन्य चिकित्सा उपकरण इत्यादि की कमी और स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की सलाह आवश्यकता के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से चर्चा कर सकते हैं। राज्यों में मुख्यमंत्री की मुख्य भूमिका है, उनसे नियमित रूप से या फोन के माध्यम से संपर्क बनाए रखें, ताकि सूचनाओं का आदान-प्रदान हो सके। उन्होंने कहा-राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति स्वयं आपसे इस संक्रमण की आपदा से उपजी परिस्थितियों की चर्चा के संबंध में संपर्क में रहेंगे, आवश्यकतानुसार आप सभी उनसे संपर्क कर सकते हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि जिलों में रेडक्रास सोसायटी को सक्रिय किया जाए, ताकि वे स्वयंसेवकों के माध्यम से कोरोना वायरस से बचाव में सहयोग कर सके। उनके माध्यम से चिकित्सा सुविधा, गरीबों को भोजन पैकेट तैयार कर वितरित कराने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जा सकती है। उन्होंने कहा कि राज्य के प्रमुख अधिकारियों की बैठक लेकर चर्चा किया जाना उपयुक्त होगा। राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालयों के लिए कहा कि समस्त कुलपति विद्यार्थियों के साथ आम जनता को जागरूक करने में मदद करें। इन सभी कार्यों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन करें। उन्होंने विद्यार्थियों की पढ़ाई के लिए ऑनलाईन कोर्स प्रारंभ करने का सुझाव दिया। राज्यपालों से चर्चा के दौरान विभिन्न राज्यों में उठाए गए कदम और सुझाव सामने आए। इनके अनुसार सेवानिवृत्त चिकित्सकों और मेडिकल पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के छात्रों का सूची बनाकर रिकार्ड रखा जाए, जो स्वेच्छा से सेवा देना चाहे, उनसे आवश्यकतानुसार सेवा ली जाए। दैनिक वेतनभोगी, गरीब मजदूर जो किसी भी योजना में पंजीकृत नहीं है, उनके जीवनयापन के लिए भोजन एवं राशि की व्यवस्था की जानी चाहिए। जनजाति क्षेत्रों में भी इस बीमारी के प्रति जागरूकता बढ़ाई जाए, मास्क इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए। बैठक में विपरीत परिस्थितियों के लिए रेनबसेरा,धर्मशालाओं,सरकारी योजनाओं के आवासों को तथा इसी प्रकार की अन्य भवनों को तैयार रखे जाने का भी सुझाव दिया गया। बैठक में यह भी बात आई कि लॉक डाउन का अर्थ लोगों को समझ नहीं आया है और गंभीरता से नहीं ले रहे हैं,इसके लिए सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें जागरूक किया जाए। लॉक डाउन सिर्फ शहरी क्षेत्र में न होकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी पालन करवाएं और वहां फैलने से रोके। सभी धर्मों के धार्मिक गुरूओं से अपील की जाए कि वे अपने-अपने अनुयायियों को निर्देशित करें कि वे पूजा, प्रार्थना, धार्मिक उत्सव सामूहिक रूप से न करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर यह कार्य करें।

26-03-2020
विधानसभा में हुई कार्यमंत्रणा समिति की बैठक , ये रहे मौजूद 

रायपुर। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत की अध्यक्षता में गुरुवार को यहां विधानसभा के समिति कक्ष में कार्य मंत्रणा समिति की बैठक  हुई।  बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे सहित समिति के सदस्य उपस्थित थे।

24-03-2020
सांसद की अध्यक्षता में होने वाली बैठक स्थगित

कांकेर। लोकसभा क्षेत्र कांकेर के सांसद मोहन मण्डावी की अध्यक्षता में 28 मार्च को 11 बजे जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित होने वाले जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा की बैठक को नोवल कोरोना वायरस से संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण को ध्यान में रखते हुए आगामी तिथि तक स्थगित कर दिया गया है।

 

23-03-2020
एजाज ढेबर ने ली बैठक, हर 3 दिन में शहर के सभी वार्डों में एंटी कोरोना स्प्रे का छिड़काव करने के निर्देश

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर ने सोमवार सुबह जोन-5 और जोन-7 के जोन कमिश्नर,सभी कर्मचारियों की समीक्षा बैठक ली। जोन कमिश्नर ने पिछले गत दिनों से कोरोना वायरस से बचने के लिए किए जा रहे बचाव के संबंध में पूरी जानकारी सिलसिलेवार रायपुर महापौर के समक्ष रखी। महापौर ने पर्याप्त संसाधन की जानकारी देते हुए हर 3 दिन में रायपुर शहर के सभी 70 वार्ड में लगातार एंटी कोरोना स्प्रे का  छिड़काव का निर्देश दिया। बैठक में विधायक विकास उपाध्याय, एमआईसी सदस्य ज्ञानेश शर्मा,नागभूषण राव,श्रीकुमार मेनन,सुरेश चन्नावर,जितेंद्र अग्रवाल,अमर बंसल,रितेश त्रिपाठी,प्रमोद मिश्रा,दीपक जायसवाल,विरेंद्र देवांगन,मीनल चौबे मुख्य रूप से उपस्थित थीं।

23-03-2020
मध्यप्रदेश: आज शाम भाजपा विधायक दल की बैठक में होगी नए मुख्यमंत्री के नाम पर रायशुमारी

भोपाल। मध्यप्रदेश में नए मुख्यमंत्री के नाम को लेकर भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार शाम 6 बजे प्रदेश कार्यालय में होगी। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा सहित वरिष्ठ नेता और विधायक शामिल होंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद प्रधान,नरेंद्र सिंह तोमर,राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे वीडियो कांफ्रेंस के जरिए जुड़ेंगे।

 

23-03-2020
सीएम, गृहमंत्री, उद्योग मंत्री और आंतरिक सुरक्षा सलाहकार ने बंद कमरे में की बैठक

रायपुर। प्रदेश के सुकमा जिले के एलमागुंडा क्षेत्र में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शहीद जवानों को सीएम भूपेश बघेल ने पुलिस लाईन में पहुंचकर श्रद्धांजलि दी। सीएम भूपेश बघेल ने इस दौरान कहा कि जब तक नक्सलवाद ख़त्म नहीं होता सरकार की लड़ाई जारी रहेगी। नक्सलियों को जड़ उखाड़ कर रहेंगे। इस दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा भी मौजूद रहे। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार और डीजीपी डीएम अवस्थी ने भी शहीद जवानों श्रद्धांजलि दी। शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद पुलिस लाइन में मुख्यमंत्री बघेल और आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार ने बंद कमरे में बैठक कर नक्सलियों के खिलाफ रणनीति तैयार की है। सीएम और आंतरिक सुरक्षा सलाहाकार की अहम बैठक के दौरान कमरे में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा भी मौजूद रहे।

23-03-2020
कलेक्टर की अध्यक्षता में कोर कमेटी की हुई बैठक, अन्य राज्यों से लौट रहे कामगारों का हो रहा परीक्षण

कोंडागांव। विश्व में व्यापक स्तर पर फैल रही महामारी को ध्यान में रखते हुए जिले में कलेक्टर द्वारा कोर कमेटी का गठन किया गया है। जिसमें जिले स्तर के वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी शामिल हैं। रविवार को इन सभी कोर कमेटी के सदस्यों की बैठक बुलाई गई। जिसमें कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने जिले की तैयारियों का ब्यौरा लिया साथ ही जिले में पड़ोसी राज्यों तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक में कार्य करने गए मजदूरों  के वापसी के संबंध में जानकारी ली। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ डीएन कश्यप ने बताया की विभिन्न ग्राम पंचायतों के अंतर्गत कुल 175 लोगों के पड़ोसी राज्यों से वापस आने की सूचना मिली है, जिसमें से अब तक कुल 50 लोगों की जांच की गई है, जिनमें किसी में भी संक्रमण होने की बात सामने नहीं आई है तथा पंचायतों द्वारा बचे हुए सभी लोगों की जांच आगामी दिनों में पूर्ण कर ली जाएगी।

साथ ही प्रशासन द्वारा ग्रामों में मुनादी के द्वारा अन्य राज्य से आए किसी भी व्यक्ति के संबंध में सूचना प्राप्त होने की स्थिति में प्रशासन को सूचित किए जाने के लिए जागरूकता प्रसारित की जा रही है। ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार की गई है एवं दीवारों पर लेखन, पोस्टरं, बैनरों के माध्यम से भी लोगों में जागरूकता लाने का प्रयास किया जा रहा है। बैठक में सीईओ जिला पंचायत डी एन कश्यप, एसडीएम पवन कुमार प्रेमी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनन्त साहू, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.के. कनवर, एसडीओपी कोण्डागांव कपिल चंद्रा सहित सभी विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804