GLIBS
13-11-2020
महिलाओं की पहली पसंद बन रही छाया गर्भनिरोधक गोलियां, परिवार नियोजन का है अस्थाई विकल्प

रायपुर। परिवार नियोजन के अस्थाई साधन के तौर पर छाया साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोलियां महिलाओं की पहली पसंद बन रही है। जागरूकता बढ़ने से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में भी इनका इस्तेमाल शुरू हो गया है। लॉक डाउन के बाद से जिले में इसका प्रसार-प्रचार जोरों पर है। छाया गर्भनिरोधक गोलियों के प्रसार-प्रचार में मितानिन की भी भूमिका महत्वपूर्ण हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल के अनुसार परिवार को नियोजित रखने में छाया गर्भनिरोधक गोलियां काफी कारगर हैं। वर्ष 2019-20 में जहां 3,845 गोलियां इस्तेमाल हुई थी वहीं 1 अप्रैल से 31 अगस्त 2020 तक 3,975 छाया गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल किया जा चुका है। छाया का वितरण स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा मितानिन के द्वारा भी गृह भ्रमण के दौरान किया जा रहा है। ज़िले में महिलाओं की रुचि परिवार नियोजन के प्रति बढ़ रही है। पिछले साल की अपेक्षा इस साल छाया का उपयोग करने वाली महिलाओं की संख्या में इजाफा हुआ है। लोग इनके प्रति जागरूक हो रहे हैं और इसका प्रयोग भी बढ़ रहा है।

बीरगांव की मितानिन सविता साहू बताती हैं, “मैं पिछले 4 माह से छाया टेबलेट का इस्तेमाल कर रही हूँ और मेरे दो बच्चे हैं। मैं और बच्चे नहीं चाहती हूँ। इसलिए मैं टेबलेट का नियमित इस्तेमाल कर रही हूं। इसके इस्तेमाल से गर्भधारण नहीं होता है और अनचाहे गर्भ की चिंता से भी छुटकारा मिलता है।“ वहीं हितग्राही मधु साहू कहती है,“मैं एक गृहणी हूँ, मेरी 1 वर्ष की एक बच्ची है और मैं अभी दोबारा मां बनना नहीं चाहती हूँ। मैं अपने बच्चों में 5 वर्ष का अंतर रखना चाहती हूँ ताकि मैं अपने पहले बच्चे का देखरेख अच्छे से कर सकूं। इसलिए मैं छाया गोली का प्रयोग कर रही हूँ इसकी जानकारी मुझे मितानिन दीदी के द्वारा मिली है। उन्होंने बच्चों में अंतर रखने के लिए छाया गोली का इस्तेमाल करने की सलाह दी थी और कहा था कि इसको खाने से तुम अनचाहे गर्भ को रोक सकती हो और जब बच्चा चाहिए तब इस गोली का उपयोग बंद कर देना।“ छाया गर्भ निरोधक गोली प्राप्त करने की सुविधा जिला अस्पताल, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध है।अनेक मितानिन स्वयं परिवार नियोजन के लिए छाया अपनाकर उदाहरण प्रस्तुत कर रही है। साथ ही अन्य महिलाओं को भी प्रेरित कर रहीं हैं।

छाया का नहीं है कोई साइड इफेक्ट
स्टीरॉयड न होने की वजह से छाया नान हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली है, जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता। मासिक चक्र के दीर्घकरण के अलावा छाया का कोई दुष्प्रभाव नहीं पाया गया है। हार्मोनल गोलियों की तुलना में छाया के सेवन से मोटापा, मतली होना, उल्टी या चक्कर आना, रक्तस्त्राव और मुहांसे जैसे कोई दुष्प्रभाव नहीं होते। इस कारण यह अधिक सुरक्षित है।

ऐसे करें छाया का सेवन
छाया का सेवन आरंभ करने के लिए मासिक धर्म शुरू होने वाले दिन पहली गोली लेनी होती है। इसके बाद चौथे दिन दूसरी गोली। उदाहरण के तौर पर यदि किसी का मासिक धर्म रविवार को शुरू हुआ तो पहली गोली रविवार को व दूसरी चौथे दिन यानि बुधवार को लेनी होगी। इसके बाद तीन माह तक हर सप्ताह रविवार और बुधवार को यह गोली लेनी है। तीन महीने बाद हफ्ते में एक गोली सिर्फ रविवार को लेना है जब तक बच्चा नहीं चाहिए।

ज़िले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर है उपलब्ध
छाया टेबलेट जिला मातृ एवं शिशु अस्पताल के अलावा सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सभी उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर मिलती है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार जिले में 11सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, 35प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 163उप स्वास्थ्य केंद्रस्वास्थ्य केन्द्रों है।

21-07-2020
राज्य न्यायालयिक विज्ञान प्रयोगशाला 28 जुलाई तक रहेगी बंद

रायपुर। कलेक्टर रायपुर की ओर से नगर निगम रायपुर और बीरगांव के सभी क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। इस दौरान राज्य न्यायालयिक विज्ञान प्रयोगशाला 22 जुलाई से 28 जुलाई तक बंद रहेगी। संयुक्त संचालक एवं कार्यालय प्रमुख राज्य न्यायालयिक विज्ञान प्रयोगशाला ने प्रदेश के समस्त पुलिस अधीक्षकों को इस संबंध में पत्र लिखकर जानकारी दी है। सभी एसपी से उनके जिलों के थानों को सूचित करने कहा गया है।

 

19-07-2020
सीएम भूपेश के निर्देश, टेस्टिंग की संख्या बढ़ाएं, टेक्निशियन, एएनएम व अन्य रिक्त पदों पर जल्द करें भर्ती

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति, रोकथाम और बचाव के कार्यों की गहन समीक्षा की गई। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने और कोरोना संक्रमण के उपचार के लिए बेडो की संख्या बढ़ाने तथा टेक्निशियन, एएनएम आदि रिक्त पदों को शीघ्र भरने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए आवश्यक होने पर जिला कलेक्टरों को अपने जिले में कम से कम तीन दिन की पूर्व सूचना देकर निषेधाज्ञा लगाने के लिए अधिकृत किया है। यह निषेधाज्ञा कम से कम सात दिनों के लिए लागू होगी। इस दौरान दैनिक जरूरत की वस्तुएं की सुचारू आपूर्ति और आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। रायपुर के बीरगांव क्षेत्र में शत्-प्रतिशत टेस्टिंग के निर्देश भी स्वास्थ्य विभाग को दिए गए हैं। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, कृषिमंत्री रविन्द्र चौबे, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

10-04-2020
1000 से ज्यादा परिवारों को हफ्ते भर का राशन, बीरगांव में बजरंग दल कर रहा मदद

रायपुर। लॉकडाउन में लोगों को अनाज सहित अन्य भोजन सामग्री बजरंग दल की ओर से वितरित की जा रही है। बंजारी प्रखण्ड सह संयोजक प्रिंस सिंह परमार ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान उनकी ओर से अब तक 1000 से ज्यादा परिवारों को हफ्ते भर का राशन उपलब्ध कराया गया है। इसमें 10 किलो चावल, हरी सब्जियां आलू प्याज, सोयाबीन बड़ी और 200 मास्क जरूरतमंदों सहित बेसहारा लोगों को दिया गया है। बजरंग दल के 40 से अधिक कार्यकर्ताओं की टीम बीरगांव में यह कार्य कर रही है। प्रिंस परमार ने जनता से अपील की है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें इससे कोरोना संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी। सरकार की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें।

21-03-2020
सभी नगर निगम के कार्यालय रहेंगे बंद, आवश्यक सेवाएं रहेंगी शुरू

रायपुर। नोवल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए नगर निगम रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर एवं उनसे 75 किलोमीटर की रेडियस में स्थित सभी नगरीय निकाय कार्यालय, क्षेत्रीय कार्यालय, जिसमें मुख्यालय, जोन ऑफिस, सब-डिविजन कार्यालय आदि सम्मिलित हैं (अत्यावश्यक सेवाओं- पानी, बिजली एवं स्वच्छता को छोड़कर) आगामी एक सप्ताह तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों, आयुक्त नगर पालिका निगम रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, कोरबा, बीरगांव, धमतरी, भिलाई चरोदा, रिसाली और संबंधित मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद्, नगर पंचायत को पत्र जारी कर निर्देशित किया गया है कि सभी अधिकारी-कर्मचारी की उपस्थिति मुख्यालय में अनिवार्य होगी। जारी निर्देश में कहा गया है कि इस  आदेश का पालन कड़ाई से किया जाए। 

सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा जारी आदेश में नगर निगम दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर और उनसे 75 किलोमीटर रेडियस में आने वाले नगरीय निकायों की सूची जारी की गई है। इसमें-संयुक्त संचालक रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर के अंतर्गत आने वाले बिरगांव, तिल्दा नेवरा, गोबरा नवापारा, आरंग, अभनपुर, खरोरा, माना कैम्प, कुरा, राजिम, फिंगेश्वर, भाठापारा, सिमगा, पलारी, धमतरी, कुरूद, भखारा, मगरलोड, आमदी, महासमुंद, तुमगांव, रतनपुर, मल्हार, सरगांव, बिल्हा, बोदरी, तखतपुर, मुंगेली, पथरिया, लोरमी, राहुद, खरौद, कोटा, जांजगीर-नैला, चांपा, अकलतरा, बलौदा, शिवरीनारायण, नवागढ़, सारागांव, कटघोरा, छुरीकला, पाली, दीपिका, कोरबा, नया-बाराद्वार, जैजेपुर, भिलाई, रिसाली, भिलाई-चारोदा, कुम्हारी, जामुल, धमधा, अहिवारा, पाटन, उतई, बालोद, गुण्डरदेही, गुरूर, अर्जुन्दा, साजा, देवकर, परपोड़ी, राजनांदगांव, गंडई, खरीयार रोड़, छुईखदान, डोंगरगढ़, डोंगरगांव, डौंडीलोहारा, बेमेतरा शामिल हैं।

 

02-12-2019
रैली के माध्यम से दिया एड्स के प्रति जागरुकता का संदेश

रायपुर। बीरगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रांगण में सोमवार को विश्व एड्स दिवस का आयोजन किया गया। आडवाणी आदर्श शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा एड्स के प्रति जागरुकता लाने के उद्देश्य से रैली का आयोजन किया। रैली के माध्यम से एड्स नियंत्रण संबंधित जागरुकता पर्चों को वितरित करते हुए रैली बीरगांव ट्रांसपोर्ट नगर से रावण भाटा पहुंची। छात्र-छात्राओं ने भाषण के माध्यम से जागरुकता संदेश दिया। अच्छे वक्ताओं को पुरस्कृत भी किया गया। रैली के उपरांत एड्स जागरुकता संगोष्ठी में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव न्यायमूर्ति उमेश उपाध्याय ने लोक अदालत एवं नि:शुल्क विधिक सहायता से संबंधित विषयों पर बताया। उन्होंने कहा कि जानकारियों का जितना अधिक आदान-प्रदान होगा, जनमानस को उतना ही ज्यादा लाभ पहुंचेगा। एड्स के प्रति जागरुकता लाना हम सबकी जिम्मेदारी है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मीरा बघेल ने बताया कि आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि एचआईवी और एड्स का नाम सुनते ही लोगों की प्रतिक्रिया बदल जाती हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है कि लोगों में एचआईवी और एड्स के बारे में सही जानकारी का अभाव है। अधिकतर लोग दोनों के मतलब को समझने में भूल कर देते हैं। एचआईवी एक वायरस है जो एड्स नाम की बीमारी को जन्म दे सकता है। इसलिए आपको एचआईवी और एड्स के बीच का अंतर पता होना चाहिए। डॉ बघेल ने कहा कि क्षय रोग को भारत सरकार ने 2025 तक देश से उन्मूलन करने का लक्ष्य बनाया है वही छत्तीसगढ़ सरकार ने 2023 तक छत्तीसगढ़ को क्षय रोग मुक्त छत्तीसगढ़ बनाने का लक्ष्य रखा है। जिला एड्स नोडल अधिकारी डॉ अविनाश चतुर्वेदी ने कहा कि एचआईवी संक्रमण के प्रसार के कारण होने वाली महामारी एड्स के प्रति खुलकर बात करने का समय है। लोगों को इसके लिए जागरुकता और लानी पड़ेगी। इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीरगांव के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ अंजना कुमार, शहरी कार्यक्रम प्रबंधक ज्योत्सना ग्वाल, आरएनटीसीपी एवं एड्स नियंत्रण पर कार्यरत गैर सरकारी संस्थान के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

11-11-2019
गाली-गलौज करने से मना करने पर हथियार से वार, मामला दर्ज

रायपुर। आपस में गाली-गलौज कर रहे युवकों को समझाइश देने पर युवको ने धारदार औजार से युवक पर वार कर दिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बीरगांव उरला निवासी आकाश विश्वकर्मा ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है कि 10 नवंबर को बीरगांव सांस्कृतिक भवन के पास अक्कू देवांगन एवं साथी आपस में गाली-गलौज कर रहे थे। प्रार्थी द्वारा गाली-गलौज करने से मना करने पर आरोपियों ने धारदार औजार से आंख के उपर मारकर घायल कर दिया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में मामला दर्ज कर अपराध कायम किया है।

 

02-11-2019
मुख्यमंत्री छठ महापर्व में हुए शामिल, प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि के  लिए मांगा आशीर्वाद 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को महादेव घाट, बीरगांव और हीरापुर में आयोजित छठ महापर्व में शामिल हुए। महादेव घाट में छठ पूजा आयोजन समिति महादेव घाट द्वारा आयोजित समारोह में उपस्थित उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज सहित प्रदेशवासियों को छठ महापर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने इस अवसर पर छठ पूजा आयोजन समिति महादेव घाट के लिए उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज के सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यो के लिए भूमि प्रदान करने की घोषणा की। इस मौके पर भोजपुरी लोक गायिका देवी ने छठी माई की आराधना पर आधारित भजनों की शानदार प्रस्तुति दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि बिहार के बाद छत्तीसगढ़ में छठ महापर्व पर अवकाश की घोषणा हुई। आपकी खुशी में भागीदार बनकर मुझे प्रसन्नता हो रही है। राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में रहने वाले उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज द्वारा श्रद्धापूर्वक छठ महापर्व का आयोजन किया जा रहा है। यह पर्व हिन्दुस्तान में ही नहीं दुनिया के अनेक देशों में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस पर्व में माताओं और बहनों द्वारा कठिन तपस्या कर परिवार की बेहतरी और सुख-समृृद्धि के लिए छठी माई की पूजा की जाती है। यह काम हमारी माताएं और बहनें ही कर सकती है।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री को आयोजन समिति द्वारा भगवान सूर्य की प्रतिमा भेंट की गई। इस अवसर पर कार्यक्रम को विधायक विकास उपाध्याय ने सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की पहल पर छत्तीसगढ़ में छठ पूजा के लिए अवकाश की घोषणा की है। कार्यक्रम को पूर्व मंत्री बृृजमोहन अग्रवाल, नगर निगम रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे, बीरगांव नगर निगम महापौर अम्बिका यदु ने भी संबोधित किया। पूर्व महापौर किरणमयी नायक, पूर्व जिला पंचायत सदस्य पंकज शर्मा, छठ महापर्व आयोजन समिति के प्रमुख राजेश,  अवधेश गौतम सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु और व्रति उपस्थित थे।
    

18-09-2019
Breaking : नगरीय निकाय चुनाव : रायपुर, बीरगाँव, भिलाई, दुर्ग, बिलासपुर अनारक्षित सीट, देखें सूची...

रायपुर। प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव को लेकर आरक्षण के सूची बुधवार को जारी कर दी गई है। प्रदेश में कुल नगर निगम की 13 सीटे है। इसमें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 2 (इनमें से 1 महिला के लिए आरक्षित), अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित 1, अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित 3 (इनमें से 1 महिला के लिए आरक्षित) है। सूची के अनुसार 1. भिलाई चरौदा (अनुसूचित जाति), 2. रायगढ़ (अनुसूचित जाति महिला) 3. अंबिकापुर (अनुसूचित जनजाति), 4. धमतरी (अन्य पिछड़ा वर्ग), 5. राजनांदगाँव (अन्य पिछड़ा वर्ग महिला), 6. कोरबा (अन्य पिछड़ा वर्ग), 7. रायपुर (अनारक्षित), 8. जगदलपुर (अनारक्षित महिला), 9. बिलासपुर (अनारक्षित), 10. भिलाई (अनारक्षित), 11. चिरमिरी (अनारक्षित महिला), 12. दुर्ग (अनारक्षित), 13. बीरगाँव  (अनारक्षित) है। 

 

22-03-2019
Fire : आग लगने से ट्रक जलकर खाक

रायपुर। बीती रात बीरगांव में एक खड़ी ट्रक अचानक जलकर खाक हो गई। घटना की सूचना पर मौके में पहुंची दमकल विभाग की टीम ने ट्रक में लगे आग को बुझाया। बता दें कि ट्रक क्रमांक सीजी-04 जेडी 4580 बीती रात बीरगांव के व्यास तालाब के पास खड़ी थी तभी अचानक उसमें आग लग गई और देखते ही देखते आग तेजी से फैलने लगा। जिससे आसपास के लोगों ने इसकी सूचना दमकल विभाग को दी। मौके में पहुंची दमकल विभाग के टीम ने ट्रक में लगी आग को बुझा लिया। ट्रक के आगे का केबिन जलकर पूरी तरह से खाक हो गई है। आग कैसे लगा है इसकी जानकारी अब तक नहीं मिल पाई है। पुलिस मामले को जांच में लिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804