GLIBS
14-02-2020
जानिए किस वजह से गुजरात के गर्ल्स हॉस्टल में 68 लड़कियों के उतरवाए गए कपड़े...

नई दिल्ली। गुजरात के भुज के एक गर्ल्स हॉस्टल से शर्मनाक मामला समाने आया है। दरअसल, गर्ल्स हॉस्टल के बाहर सैनिटरी पैड मिलने के बाद 68 लड़कियों के पीरियड्स चेक करने के लिए उनके कपड़े उतरवाए गए। बताया जा रहा है कि हॉस्टल प्रबंधन को शक था कि लड़कियों को पीरियड हुआ है, जिसकी जांच के लिए हॉस्टल में मौजूद 68 छात्राओं के इनरवियर उतरवा कर जांच की गई है। वहीं मामले को लेकर छात्राओं में रोष है तो छात्राओं के माता-पिता इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी में है। वहीं कॉलेज प्रशासन इस मामले को दबाने की कोशिश में लगा हुआ है।  

मामला भुज के सहजानंद गर्ल्स कॉलेज का है, जहां हॉस्टल के वार्डन ने वॉशरूम में छात्राओं के पीरियड्स की जांच करने के लिए लड़कियों के कपड़े और इनरवियर तक उतरवाकर जांच की। इस मामले में कॉलेज की डीन दर्शना ढोलकिया ने कहा कि यह मामला हॉस्टल का है और इसका यूनिवर्सिटी/कॉलेज से कोई लेना-देना नहीं है। जो कुछ भी हुआ है वह लड़कियों की अनुमति से हुआ है। किसी ने भी इसके लिए लड़कियों को मजबूर नहीं किया। उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है। यह विवाद तब शुरू हुआ जब हॉस्टल के गार्डन में इस्तेमाल किया हुआ सैनिटरी पैड मिला। इसके बाद वॉर्डन को शक हुआ कि यह हॉस्टल की किसी लड़की ने ऐसा किया होगा और पैड को इस्तेमाल करने के बाद वॉशरूम की खिड़की से फेंक दिया होगा। यह पता लगाने के लिए आखिर ऐसा किस लड़की ने किया है वॉर्डन ने वॉशरूम में लड़कियों के कपड़े उतरवाकर चेकिंग की।

29-09-2019
बारिश से बेहाल हुआ बिहार, अस्पतालों में भरा पानी

नई दिल्ली। शुक्रवार से हो रही लगातार भारी बारिश ने बिहार के ज्यादातर हिस्सों में सामान्य जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है। इसके चलते खासतौर पर रेल यातायात, स्वास्थ्य सुविधाएं और स्कूल प्रभावित हुए हैं। राजधानी पटना की कई सड़कों पर दो से चार फीट तक पानी बह रहा है। मंत्रियों तक के घरों में पानी घुस आया। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के निजी मकान, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूड़ी के आवास में पानी जमा है। मौसम विभाग ने 30 सितंबर तक शहर में भारी बारिश होने का अनुमान जाहिर किया है। पटना जिला प्रशासन ने मंगलवार तक सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है। जिला मजिस्ट्रेट कुमार रवि ने कहा, “राजेंद्र नगर और एस के पुरी जैसे इलाके सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं।” राजेंद्र नगर स्थिति एक गर्ल्स हॉस्टल में कई लड़कियां बारिश के पानी के कारण फंस गई। जिसके बाद एसडीआरएफ की मदद से लड़कियों को जेसीबी से रेस्क्यू किया गया। नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर और गर्दनीबाग अस्पताल के परिसर में भी जलभराव हो गया। भारतीय मौसम विज्ञान के प्रतिनिधि ने अगले 48 घंटे के पूर्वानुमान में बताया कि मध्य बिहार, पूर्वी बिहार, उत्तर पूर्वी बिहार एवं दक्षिण पूर्वी बिहार में वर्षा की स्थिति बनी रहेगी। उसके बाद स्थिति में सुधार होगा और तीन अक्टूबर तक स्थिति सामान्य हो जायेगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बारिश से उत्पन्न स्थिति की जानकारी प्राप्त की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। बिहार में 12 स्थानों पर शुक्रवार की सुबह आठ बजे से शनिवार सुबह आठ बजे तक 100 मिलीमीटर से अधिक वर्षा हुई है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने पूर्वानुमान जताया कि बिहार के अधिकतर इलाकों में अगले 48 घंटे तक मध्यम से भारी बारिश होगी और स्थिति तीन अक्टूबर के बाद सामान्य होगी।

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि भारी बारिश से जमीन धसने के कारण धनबाद मंडल के दिलवा- नाथगंज पर अप लाइन एवं डाउन लाइन पर परिचालन कुछ घंटे के लिए प्रभावित रहा। इसके अलावा भी कुछ ट्रेन रद्द की गईं, कुछ को आंशिक रूप से रद्द किया गया और कुछ के मार्ग में परिवर्तन किया गया। आपदा प्रबंधन विभाग बाढ़ प्रभवित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई है। विभाग के अधिकारी का दावा है कि राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को लगाया गया है। बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि गंगा, कमला बलान, बागमती नदियां कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इस बीच बारिश ने स्थिति और बिगाड़ दी है। उन्होंने कहा कि गंगा नदी पटना के विभिन्न क्षेत्रों सहित मुंगेर और भागलपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जबकि बागमती नदी सीतामढ़ी के ढेंग और डूबाधार में तथा मुजफ्फरपुर के बेनीबाद में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। कमला बलान भी उफान पर है। कमला बलान खगड़िया और मधुबनी में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।

 

08-09-2019
बारिश ने मचाई भारी तबाही, ढह गये कई मकान

कवर्धा। जिले के वनांचल में पिछले दो दिन से हो रही बारिश ने भारी तबाही मचाई है। कई घरों मे पानी घुस गया तो कई घर बारिश की वजह से ढह गए। इससे जनजीवन पूरी तरह प्रभावित भी हुआ है। वहीं जिले के सभी बांध व डेम में लबालब पानी भर गया है। बोड़ला व पंडरिया ब्लाक में अधिक बारिश हुई है। पंडरिया के हाफ नदी में बाढ़ आने से किसानों के खेत और घरों में पानी घुस गया, जिससे लोगों को रात गुजारने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं बैजलपुर में तो एक कच्चा मकान ही गिर गया। इससे घर में रहने वाले लोगों को भारी नुकसान हुआ है। वहीं पंडरिया विकासखंड के ग्राम अमेरा के गर्ल्स हॉस्टल में पानी भर गया, जिससे बालिकाओं को रात भर परेशानी का सामना करना पड़ा।

29-05-2019
जनकपुरी के गर्ल्स हॉस्टल में लगी आग, 6 लड़कियां बेहोश

नई दिल्ली। दिल्ली के जनकपुरी में एक गल्र्स हॉस्टल में शार्ट सर्किट से आग लग गई। हॉस्टल के दरवाजों और खिड़कियों को तोड़कर रेस्क्यू किया गया। सुबह 3 बजकर 5 मिनट पर दमकल विभाग को एक फोन आया, कावेरी गर्ल्स हॉस्टल में आग लगने की बात कही गई। इसके लिए मौके पर फायर ब्रिगेड की 3 गाडिय़ों को रवाना किया गया। आग हॉस्टल के बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर और में लगी। बताया जा रहा है कि आग बेसमेंट की एंट्री पर बने इलैक्ट्रिक पैनल में लगी। इसके लिए मौके पर मौजूद फायर ब्रिगेड ने बचाव कार्य शुरू कर दिया, जिसमें 50 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

इसमें आग से हुए धुएं के कारण 6 लड़कियां बेहोश हो गईं और बढ़ती आग को देखकर एक लड़की ने दूसरी मंजिल से ही छलांग लगा दी और गम्भीर रूप से घायल हो गई। घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। बता दें कि जनकपुर में टार्गेट पीएमटी नामक एक कोचिंग इंस्टिट्यूट है जिसने कावेरी गर्ल्स हॉस्टल को लीज पर ले रखा था। दूरदराज से आए इस इंस्टिट्यूट में पढऩे वाले बच्चों को ये हॉस्टल इंस्टिट्यूट द्वारा ही मुहैया कराया गया है और इसी होस्टल में लड़कियां रहती हैं। तड़के सुबह जब आग लगी उस वक्त होस्टल में 50 से ज्यादा लड़कियां मौजूद थीं। गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा होने से रह गया। बरहाल पुलिस मामले की जांच में जुट हुई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804