GLIBS
27-03-2020
छत्तीसगढ़ के ​इतिहास पहली बार 'गिलोटिन' से एक लाख करोड़ रुपए का बजट पास, भाजपा ने किया वाकआउट

रायपुर। विधानसभा का वित्तीय वर्ष 2020- 21 में एक लाख करोड़ रुपए से अधिक का बजट बीते दिन सदन ने पारित कर दिया। प्रदेश के इतिहास में पहली बार बिना चर्चा के बजट गिलोटिन के माध्यम से पारित किया गया है। राज्य के दो विश्वविद्यालयों के नाम बदलने समेत 28 विधेयकों को भी सदन ने मंजूरी दी। बता दे कि भाजपा के सदस्य सदन में बजट पारित करने के दौरान मौजूद नहीं थे। बिना चर्चा के विधेयकों को पास किए जाने के विरोध वे वाकआउट कर गए थे। करीब पौने दो घंटे की बैठक के बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।

सदन की कार्यवाही के संबंध में संसदीय कार्यमंत्री रविंद्र चौबे ने बताया कि बजट से संबंधित सभी प्रस्ताव सदन में सीएम भूपेश बघेल ने रखा था। इसे सदन ने गिलोटिन के माध्यम से पारित कर दिया। 'गिलो​टन' प्रक्रिया से अभिप्राय है जिन मांगों पर चर्चा नहीं हो पाती है उसे बिना चर्चा के ही मतदान कराकर पास कर दिया जाता है। विधानसभा में बीते दिन पहली बार कार्यमंत्रणा समिति के प्रस्ताव पर मतदान हुआ। सदन में विपक्षी भाजपा ने कार्यसूची में गैर वित्तीय कार्यों को शामिल किए जाने का विरोध करते हुए मत विभाजन की मांग की,

09-03-2020
Exclusive : एजाज ढेबर ने गिरीश देवांगन को राज्यसभा सांसद प्रत्याशी बनने पर दी बधाई, लेकिन उन्हें ही पता नहीं

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री आदरणीय बड़े भैय्या श्री गिरीश देवांगन जी को छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सांसद प्रत्याशी बनाए जाने पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।"  ऐसा हम नहीं कह रहे, रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था। थोड़ी देर के लिए ही सही उन्होंने छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की दो सीट के लिए होने वाले चुनाव के लिए एक प्रत्याशी के नाम पर मुहर लगा दी थी,लेकिन हमारे संवाददाता ने जब उनसे पूछा तो उन्होंने अनभिज्ञता जताते हुए तत्काल सोशल मीडिया से पोस्ट को डिलीट करवाया।

दरअसल करीब साढ़े 11 बजे महापौर एजाज ढेबर के एक करीबी ने मेयर प्रेस मिडिया मित्र ग्रुप में महापौर के फेसबुक पेज की लिंक शेयर की,जिसमें यह बधाई और शुभकामना संदेश लिखा था। ग्लिब्स.डॉट इन ने तत्काल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। फिर गिरीश देवांगन से संपर्क किया गया लेकिन उनसे भी बात नहीं हो सकी। पुष्टि के लिए फिर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व अध्यक्ष संचार विभाग शैलेश नितिन त्रिवेदी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि गिरीश देवांगन को प्रत्याशी बनाने की संभावनाएं है,लेकिन जब उन्हें महापौर की ओर से बधाई व शुभकामना संदेश सोशल मीडिया में डाले जाने की जानकारी दी गई तो उन्होंने इस बात से अनभिज्ञता जारी करते हुए महापौर से ही संपर्क करने की बात कही। अंत में हमारे संवाददाता ने महापौर एजाज ढेबर से संपर्क किया तो वे स्वयं चौंक गए। इस बात से बिल्कुल अंजान थे। उन्होंने कहा कि किसी ने लिख दिया होगा। उन्होंने तत्काल देखने की बात कही और शायद उन्होंने देखते ही सोशल मीडिया से पोस्ट को डिलीट करवा दिया। इस बीच पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम से बात हुई तो उन्होंने गिरीश देवांगन को राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने की बात पर इंकार किया। उन्होंने कहा कि फिलहाल ऐसी कोई बात नहीं है, यह पार्टी हाईकमान से तय होगा।

बता दें कि देशभर में राज्यसभा की 55 सीटों के लिए चुनावी प्रक्रिया की शुरूआत 6 मार्च से हो गई है, वहीं 26 मार्च को मतदान होना है। छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की दो सीटों के लिए चुनाव होगा। राज्यसभा सदस्य मोतीलाल वोरा और रणविजय सिंह जूदेव का कार्यकाल अप्रैल में समाप्त होने वाला है। प्रदेश में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सीट बढ़ने पर उनका पलड़ा भारी है। बता दें कि 6 मार्च को प्रक्रिया की शुरूआत हुई है। नामांकन प्रक्रिया 13 मार्च तक चलेगी। सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक नामांकन दाखिल किए जा सकते हैं। 16 मार्च को नामांकन की जांच होगी। नाम वापसी के लिए 18 मार्च अंतिम तारीख है, वहीं 26 मार्च को मतदान की प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी।

 

 

07-03-2020
भाजपा पर कांग्रेस का पलटवार,राजनीति में फेक न्यूज की वैतरणी बहाने का काम कर उपदेश न दें

रायपुर। फेक न्यूज मॉनिटरिंग पर भाजपा नेताओं के बयानों पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा है कि फेक न्यूज बनाने और फैलाने में भाजपा को महारत हासिल है। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि फेक न्यूज फैलाना पत्रकारिता नहीं है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक की पीड़ा का कारण पूरा प्रदेश समझ रहा है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के मतदान की पूर्व संध्या पर किसानों का कर्जमाफ नहीं होगा, इस तरह की फेक न्यूज भाजपा ने ही फैलाई थी। फेक न्यूज की वैतरणी भारतीय राजनीति में बहाने का काम भाजपा ने ही किया है।

दरअसल कौशिक ने कहा था कि पत्रकार,जो समाचार छापते हैं और मीडिया जो चैनल के माध्यम से लोगों तक ले जाती है,यदि इसकी समीक्षा कर इसमें नोटिस दी जाएगी, इस पर कार्रवाई की बात किया जाना,निश्चित रूप से ऐसा लग रहा है कि प्रेस और मीडिया को दबाने का काम किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में ऐसी स्थिति पहले नहीं रही। ऐसा लगता है कि इमरजेंसी के समय में जो निंयंत्रण किया गया,इसमें जो नियंत्रण करने का प्रयास किया जा रहा वो लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है। इसी तरह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा था कि प्रदेश में अघोषित सेंसरशिप लादकर अलोकतांत्रिक आचरण प्रस्तुत किया जा रहा है। यह राजनीतिक असहिष्णुता है। भाजपा भ्रामक खबरों व अफवाहों से सावधान रहने की हिमायती होने के साथ-साथ मीडिया की स्वतंत्रता के लिए डटकर मैदान में खड़ी रही है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने आगे कहा है कि भाजपा का 15 साल का कार्यकाल छत्तीसगढ़ के लोग और छत्तीसगढ़ के पत्रकार भूले नहीं है। पत्रकारों की नौकरी खाने, पत्रकारों के परिजनों की पत्नियों की नौकरी खाने, पत्रकारों पर एफआईआर, पत्रकारों की प्रताड़ना भारतीय जनता पार्टी का 15 साल का काला इतिहास रहा है। झूठी खबरों को फैलने से रोकने के लिए अफवाह को फैलने से रोकने का तो हर व्यक्ति स्वागत करेगा। भाजपा शासनकाल में जनसंपर्क विभाग से मुख्यमंत्री के पुत्र का बयान बंटवाने और छपवाने वाली भाजपा कांग्रेस को उपदेश देने का काम न करें। एकात्म परिसर में अनिल जैन की पत्रकारवार्ता में जो कुछ भी हुआ, उसे छत्तीसगढ़ के लोग भूले नहीं हैं।

 

06-03-2020
राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया की हुई शुरुआत, छत्तीसगढ़ में दो सीटों पर चुनाव, 26 को मतदान

रायपुर। राज्यसभा की 55 सीटों के लिए चुनावी प्रक्रिया की शुरुआत आज 6 मार्च से हो गई है, वहीं 26 मार्च को मतदान होना है। छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की दो सीटों के लिए चुनाव होगा। राज्यसभा सदस्य मोतीलाल वोरा और रणविजय सिंह जूदेव का कार्यकाल अप्रैल में समाप्त होने वाला है। प्रदेश में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सीट बढ़ने पर उनका पलड़ा भारी है। बता दें कि 6 मार्च को प्रक्रिया की शुरुआत हुई है। नामांकन प्रक्रिया 13 मार्च तक चलेगी। सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक नामांकन दाखिल किए जा सकते हैं। 16 मार्च को नामांकन की जांच होगी। नाम वापसी के लिए 18 मार्च अंतिम तारीख है, वहीं 26 मार्च को मतदान की प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी।

03-03-2020
शराब पीकर मतदान करने आए मतदाताओं के लिए बने सख्त कानून : सौरभ निर्वाणी

रायपुर। सेंटर फॉर सोशल लर्निंग के सह संथापक डॉ.सौरभ निर्वाणी ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर निष्पक्ष और अधिक पारदर्शी चुनाव कराने के लिए सुझाव दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह शराब पीकर वाहन चलाते हुए पाए जाने पर वाहन चालक पर आर्थिक जुर्माना और कारावास का प्रावधान है उसी तरह शराब पीकर मतदान करने आए मतदाता पर भारी आर्थिक जुर्माना या मतदान करने पर अगले 6 साल के लिए प्रतिबंधित करने का प्रावधान होना चहिए। डॉ.निर्वाणी ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र में लिखा कि उनकी टीम ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में प्रदेश के ग्रामीण अंचलों के चुनाव का अध्ययन किया। इसके निष्कर्ष चौकाने वाले हैं उनकी टीम ने महिला, पुरुष, बुजुर्ग और युवा मतदाताओं से बातचीत कर सर्वे के सैंपल तैयार किए है। डॉ.निर्वाणी ने पत्र में लिखा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान 97 फीसदी प्रत्याशी इस चुनाव में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य या जिला पंचायत के उम्मीदवार चुनाव जीतने के लिए मतदाताओं तक सही समय में शराब पहुंच जाए और बट जाए को लेकर ही चिंतित रहते थे। इनकी शराब सही समय गांवों में पहुंच कर बट जाए वो अपनी जीत को लेकर आश्वस्त रहते थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव में औसतन 4 से 6 लाख रुपए के मूल्य का शराब मतदान के दिनांक के सप्ताह में खपत हुई है।

 

14-02-2020
कांग्रेस प्रत्याशी उषा पटेल की जीत लगभग तय

महासमुन्द। जिला पंचायत में अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया प्रारम्भ, भाजपा कांग्रेस से एक-एक प्रत्याशी मैदान में। कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में उषा पटेल और भाजपा से अलका नरेश चन्द्राकर ने अपना नामांकन दाखिल किया है। 1 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी। सूत्रों की माने तो महासमुन्द में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में मात्र औपचारिक रह गई। कांग्रेस की उषा पटेल की जीत की मात्रा घोषणा अधिक्रित रूप से बाकी है।

 

13-02-2020
धमतरी, मगरलोड और कुरूद जनपद में कांग्रेस का कब्जा, नगरी में भाजपा ने मारी बाजी

धमतरी। नगरीय निकाय चुनाव में मिली जीत को बरकरार रखते हुए कांग्रेस ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी परचम लहराने में कामयाब रहा। जिले के चारों जनपद पंचायत के लिए आज गुरुवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए चुनाव हुए। इसमें धमतरी, कुरूद और मगरलोड जनपद पंचायत पर कांग्रेस का कब्जा हुआ। वही नगरी जनपद पंचायत में भाजपा अध्यक्ष बनाने में कामयाब रहा। बता दें कि आज भारी गहमागहमी के बीच चारों जनपद पंचायत में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए मतदान हुआ। अध्यक्ष,उपाध्यक्ष चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और भाजपा के बड़े नेता जनपद में डटे रहे। वही धमतरी जनपद पंचायत में क्रास वोटिंग की संभावना पहले से ही था। मतदान के वक्त भाजपा समर्थित एक जनपद सदस्य ने कांग्रेस के पक्ष में क्रास वोटिंग कर दिया। मगरलोड जनपद पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हुआ है। कांग्रेस समर्थित अध्यक्ष के दावेदार ज्योति ठाकुर को 25 में से 13 वोट मिला तो भाजपा को 12 वोट।
सिहावा विधानसभा अंर्तगत जनपद पंचायत नगरी में हुए जनपद चुनाव में भाजपा और कांग्रेस समर्थित दस-दस उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी। इसके साथ ही 5 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने विजय प्राप्त की थी। बताया जा रहा है कि यहां भी कांग्रेस का जनपद अध्यक्ष बनना लगभग तय था लेकिन कांग्रेस पार्टी के कुछ आला नेताओं से नाराजगी के चलते दिनेश्वरी नेताम ऐन वक्त में भाजपा का दामन थाम लिया। जिसे भाजपा ने अपना अध्यक्ष के लिए दावेदार बनाया और दिनेश्वरी नेताम ने जीत हासिल की। नगरी जनपद में दिनेश्वरी नेताम को 13 मत मिले। वही भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले जनपद पंचायत कुरूद में भाजपा को नगरीय निकाय चुनाव के बाद पंचायत चुनाव में भी करारी शिकस्त मिली है। नगर पंचायत को गंवाने के बाद भाजपा ने यहां जनपद पंचायत भी इनके हाथों से निकल गई। आज जनपद पंचायत के अध्यक्ष के लिए हुए मतदान में कांग्रेस के शारदा साहू को 13 मत मिले। बहरहाल जिले के चार जनपद पंचायतों में से तीन जनपद पंचायत में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिलने से कांग्रेस काफी गदगद नज़र आ रही है और पार्टी में जश्न का माहौल है।

 

13-02-2020
जनपद पंचायत धमतरी में कांग्रेस का कब्जा, गुंजा साहू बनी अध्यक्ष, अवनेंद्र साहू उपाध्यक्ष भाजपा...

धमतरी। 25 सदस्यों वाले जनपद पंचायत धमतरी में गुरूवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए मतदान हुआ जिसमें कांग्रेस समर्थित जनपद अध्यक्ष के उम्मीदवार गुंजा साहू को 13 मत प्राप्त हुए। वहीं भाजपा समर्थित जागेश्वरी साहू को 12 मत मिले। उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा समर्थित अवनेंद्र साहू को चुना गया। बता दे कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भाजपा समर्थित 13 जनपद सदस्य प्रत्यशियों ने जीत हासिल किया था। ऐसे में जनपद पंचायत धमतरी में भाजपा का अध्यक्ष बनना लगभग तय था, लेकिन गुरूवार को हुए अध्यक्ष के लिए चुनाव में क्रॉस वोटिंग के चलते कांग्रेस ने बाजी मार ली। 

 

10-02-2020
सीएए और एनआरसी पर बोले ओवैसी, कहा - कागज नहीं दिखाएंगे कहेंगे मार गोली

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध और समर्थन में प्रदर्शन का दौर जारी है। वहीं इसे लेकर पक्ष और विपक्ष के नेताओं के बीच बयानबाजी हो रही है। इसी बीच एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर जमकर निशाना साधा। ओवैसी ने कहा कि जो मोदी-शाह के खिलाफ आवाज उठाएगा वो सही मायने में मर्द-ए-मुजाहिद कहलाएगा... मैं वतन में रहूंगा, कागज नहीं दिखाऊंगा। कागज अगर दिखाने की बात होगी तो सीना दिखाएंगे की मार गोली। मार दिल पे गोली मार क्योंकि दिल में भारत की मोहब्बत है। ओवैसी पहले भी सीएए और एनआरसी को लेकर मोदी सरकार पर हमला करते रहे हैं। कुछ दिन पहले ओवैसी ने सीएए को भेदभाव पूर्ण बताया था। उन्होंने कहा था कि इस कानून से मुसलमानों को परेशान किया जाएगा। कुछ दिन पहले ही ओवैसी ट्वीट किया था, 'प्रधानमंत्री कार्यालय का कहना है कि सीएए किसी भी भारतीय की नागरिकता लेने का कानून नहीं है। लेकिन जैसा मैं कहता हूं इसका उपयोग गैर मुस्लिमों को हिरासत से निकालने के लिए किया जाएगा उनके मामले समाप्त कर दिये जाएंगे। मुस्लिम हिरासत में रहेंगे।'

असदुद्दीन ओवैसी ने छह फरवरी को आशंका जताई थी कि मतदान के बाद दिल्ली के शाहीन बाग को भाजपा जलियांवाला बाग बना देगी। शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ करीब दो महीने से लोग धरने पर बैठे हैं। बुधवार को संसद की कार्यवाही में भाग लेने के बाद बाहर निकले असदुद्दीन ओवैसी ने मीडिया के पूछने पर कहा था कि दिल्ली में आठ फरवरी को मतदान के बाद भाजपा शाहीन बाग में गोलियां चलवा देगी। वह शाहीन बाग को जलियावालां बाग में बदल देंगे। भाजपा के एक मंत्री ने ही गोली मारने के नारे लगवाए हैं। इसलिए सरकार को इस मामले पर जवाब देना चाहिए। ओवैसी का इशारा केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की ओर था।

 

10-02-2020
शाहीन बाग़ प्रदर्शन और नवजात की मौत के मामले में सुनवाई आज, दायर हुई है कई याचिकाएं

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में करीब दो महीने से शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के मामले में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई दिल्ली चुनाव की वजह से टाल दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली में शनिवार को मतदान को प्रभावित नहीं करना चाहता। न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने कहा था कि हम इस बात को समझते हैं कि वहां समस्या है और हमें देखना होगा कि इसे कैसे सुलझाया जाए। हम सोमवार को इस पर सुनवाई करेंगे। तब हम बेहतर स्थिति में होंगे। पीठ ने याचिकाकर्ताओं से कहा था कि वह सोमवार को इस बात पर बहस करने के लिए तैयार होकर आएं कि इस मामले को दिल्ली हाई कोर्ट को वापस क्यों नहीं भेजा जाना चाहिए।

नवजात की मौत मामले में भी होगी सुनवाई

शाहीन बाग में चल रहे धरने के दौरान चार माह के नवजात बच्चे की मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को स्वत: संज्ञान लिया था। इस दर्दनाक घटना के बाद मुंबई की वीरता पुरस्कार विजेता बच्ची द्वारा लिखे गए पत्र के आधार पर शीर्ष अदालत ने सुनवाई करने का निर्णय लिया है। चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ प्रदर्शनों में बच्चों और नवजातों की भागीदारी रोकने के मसले पर आज सुनवाई करेगी। वीरता पुरस्कार विजेता 12 वर्षीया जेन गुनरतन सदावरते ने मुंबई से चीफ जस्टिस बोबडे को पत्र लिखकर भेजा था।

बता दें कि भाजपा नेता ने सुप्रीम कोर्ट से शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग संबंधी याचिका पर तत्काल सुनवाई की अपील की थी। तब सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को हटाने संबंधी भाजपा नेता नंद किशोर गर्ग की याचिका पर सुनवाई की तारीख जानने के लिए संबद्ध अधिकारी के पास जाने को कहा था। भाजपा नेता नंद किशोर गर्ग ने अदालत से दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाले अहम मार्ग पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन से लोगों को आ रही समस्या पर गौर करते हुए अपनी याचिका पर तत्काल सुनवाई करने का अनुरोध किया था। प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा था कि आप याचिका का उल्लेख करने वाले अधिकारी के पास जाएं। इसके साथ ही 35 छात्रों ने हाईकोर्ट में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ याचिका दायर की थी। याचिका में कहा गया है कि प्रदर्शन के चलते बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में काफी परेशानी आ रही है। बच्चों की इस याचिका पर फैसला सुनाते हुए हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया था कि कालिंदी कुंज-शाहीन बाग का जो रास्ता बंद है, पुलिस उस पर ध्यान देकर एक्शन ले ताकि छात्रों को परेशानी न हो। जस्टिस नवीन चावला ने मामले की सुनवाई करते हुए पुलिस को निर्देश दिया था कि सरिता विहार रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन बातों पर गौर करे और उसका समाधान करें।

09-02-2020
अमित शाह और नड्डा ने प्रदेश कार्यालय में की एग्जिट पोल पर चर्चा, मतदान की भी की समीक्षा

नई दिल्ली। दिल्ली में मतदान के बाद शनिवार देर रात दिल्ली भाजपा प्रदेश कार्यालय में मंथन जारी रहा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, चुनाव प्रभारी प्रकाश जावडे़कर समेत दिल्ली के सभी सांसदों व अन्य नेताओं के साथ मतदान की समीक्षा की। उन्होंने प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में मतदान की स्थिति के बारे में जानकारी हासिल की। दिल्ली में 21 जनवरी को नामांकन के बाद से 6 फरवरी तक अमित शाह ने 42 नुक्कड़ सभाएं करके भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने की हरसंभव कोशिश की। अंतिम समय तक भाजपा नेता मैदान में डटे रहे।

दिल्ली चुनाव में लगे नेताओं से वह मतदान की जानकारी भी हासिल करते रहे और रात में प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंच गए। प्रत्येक सांसद से उन्होंने उसके संसदीय क्षेत्र में आने वाले विधानसभा क्षेत्रों में मतदान व भाजपा की संभावनाओं के बारे में जानकारी हासिल की। एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी की सत्ता में वापसी की संभावनाओं पर भी चर्चा की। उन्होंने नेताओं को इस तरह की संभावनाओं पर ध्यान देने से मतगणना की तैयारी करने और तब तक ईवीएम की निगरानी की हिदायत दी। उन्होंने प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से अनुभवी कार्यकर्ताओं को मतगणना एजेंट बनाने की हिदायत दी।

आप ने भी समीक्षा बैठक, देर रात तक मंथन

उधर, आम आदमी पार्टी के भी तमाम बड़े नेताओं की बैठक जारी थी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आप सांसद संजय सिंह समेत कई नेता बैठक में मौजूद थे। इस दौरान सभी स्ट्रांग रूम पर आप प्रतिनिधियों की तैनाती पर भी फैसला लिया गया। ईवीएम से छेड़छाड़ न हो, इसके लिए आप ने सभी स्ट्रांग रूम में अपने कार्यकर्ताओं को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804