GLIBS
07-08-2020
 आदिवासी-समुदाय का समग्र विकास राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता : भूपेश बघेल

रायपुर। छत्तीसगढ़ सामुदायिक और व्यक्तिगत वन अधिकार पत्रों के वितरण के मामले में देश का अग्रणी राज्य है। प्रदेश में 4 लाख 84 हजार 975 व्यक्तिगत और सामुदायिक वन अधिकार पत्रों का वितरण किया गया है, जबकि पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश में दोनों श्रेणियों में 2 लाख 56 हजार 997 वन अधिकार पत्र, महाराष्ट्र में 1 लाख 72 हजार 116, ओड़िशा में 4 लाख 43 हजार 761 और गुजरात में मात्र 93 हजार 704 वन अधिकार पत्रों का वितरण किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्पष्ट किया था कि सभी पात्र लोगों को वन अधिकार पट्टा दिलाना उनकी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए आदिम जाति अनुसूचित जाति विकास विभाग, वन और राजस्व विभाग के अधिकारियों को शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि 32 प्रतिशत आदिवासी आबादी वाले छत्तीसगढ़ राज्य में आदिवासी-समुदाय का समग्र विकास राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। आदिवासियों तक उनके सभी तरह के अधिकारों को पहुंचाए बिना नवा-छत्तीसगढ़ गढ़ने का सपना साकार नहीं हो सकता। जिन वनों पर उनका जीवन और आजीविका निर्भर है, उन पर पहला अधिकार आदिवासियों का ही है। डेढ़ साल पहले राज्य में नयी सरकार के शपथ ग्रहण के दौरान ही इस बात की घोषणा कर दी गई थी कि पारंपरिक रूप से अन्याय और उपेक्षा के शिकार हुए हर आदिवासी-परिवार तक हम न्याय की पहुंच बनाएंगे।

 

07-08-2020
बस्तर की सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और पुरातात्विक विरासत को सहेजने मुख्यमंत्री से संग्रहालय की मांग

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बस्तर संभाग के कोया-कुटमा समाज के सदस्यों ने चित्रकोट विधायक राजमन बेन्जाम के साथ मुलाकात की। मुख्यमंत्री बघेल से कोया-कुटमा समाज के सदस्यों ने संभाग स्तरीय सामाजिक सामुदायिक भवन और बस्तर की सांस्कृतिक, पारम्परिक नृत्यों, शिल्प कलाओं, ऐतिहासिक धरोहरों और पुरातात्विक विरासतों को सहेजने के लिए संग्रहालय की मांग की। भूपेश बघेल ने उनकी इस मांग पर विचार का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री बघेल ने समाज के सदस्यों से बस्तर में वर्षा जल की उपलब्धता की जानकारी ली साथ ही बोधघाट बहुउद्देश्यीय परियोजना से किसानों और आमजनों को होने वाले लाभ से भी अवगत कराया। उन्होंने बताया कि यह परियोजना पूर्णत: किसान हित में होगी जिससे वर्ष भर पानी की उपलब्धता बनी रहेगी और कृषि कार्यों के लिए वर्षा जल पर निर्भरता कम होगी।  इस अवसर पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, बस्तर सांसद दीपक बैज, विधायक चित्रकोट राजमन बेंजामन, कोया-कुटमा समाज के संभागीय अध्यक्ष समारू कर्मा, प्रदेश महासचिव कांग्रेस रुक्मणी कर्मा, जिलाध्यक्ष कांग्रेस बलराम मौर्य एवं सदस्य उपस्थित थे।

 

06-08-2020
भूपेश बघेल जिले को देंगे 171 विकास कार्यों की सौगात

बीजापुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 7 अगस्त को वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से बीजापुर जिले की जनता को 96 करोड़ रूपए की लागत के 171 विकास कार्यों की सौगात देंगे। मुख्यमंत्री बघेल कल मध्यान्ह 12 बजे ऑनलाइन वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के जरिये भैरमगढ़ में 29 करोड़ 15 लाख 75 हजार रूपए का लोकार्पण तथा 66 करोड़ 85 लाख 77 हजार रूपए लागत के 132 निर्माण एवं विकास कार्यों का भूमिपूजन करेंगे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव करेंगे। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन मंत्री तथा प्रभारी मंत्री बीजापुर जयसिंह अग्रवाल, आबकारी मंत्री कवासी लखमा सहित सांसद बस्तर दीपक बैज, विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण विक्रम मण्डावी,जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम,अध्यक्ष जनपद पंचायत भैरमगढ़ दशरथ कुंजाम एवं अध्यक्ष नगर पंचायत भैरमगढ़ दशरथ परबुलिया की गरिमामयी उपस्थिति होगी। इस अवसर पर क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों,पंचायत पदाधिकारियों,मीडिया प्रतिनिधियों तथा नागरिकों को उपस्थित होकर कार्यक्रम में सहभागिता निभाने का आग्रह किया गया है।

 

06-08-2020
लॉक डाउन के संबंध में निर्णय लेने के लिए जिला कलेक्टर अधिकृत : भूपेश बघेल

रायपुर। प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि लॉक डाउन के संबंध में निर्णय लेने के लिए जिला कलेक्टरों को अधिकृत किया गया है। कलेक्टर जिले की परिस्थितियों और जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति को ध्यान में रखते हुए और इस संबंध में वे स्थानीय व्यापारियों और लोगों से चर्चा कर निर्णय लेंगे। भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना से बचाव में ही सुरक्षा है। सभी लोगों को इस संकट से बचने के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाना, समय-समय पर हाथ धोने जैसे उपायों का कड़ाई से पालन करना चाहिए। साथ ही अति आवश्यक होने पर ही भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाना चाहिए।

05-08-2020
गोधन न्याय योजना से ग्रामीणों, किसानों और पशुपालकों के जीवन में होगा बदलाव : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना देश-दुनिया की एक अनूठी योजना है। योजना की शुरूआत के एक पखवाड़े के भीतर इसके उत्साह जनक परिणाम देखने और सुनने को मिल रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना ग्रामीणों, किसानों और पशुपालकों के जीवन में बदलाव लाने वाली तथा लोगों को बारहों महीने रोजगार देने वाली योजना है। मुख्यमंत्री बघेल ने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी के पहले भुगतान का शुभारंभ करते हुए उक्त बातें कही। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 46 हजार 964 गोबर विक्रेताओं के खाते में एक करोड़ 65 लाख रूपए की राशि आनलाइन अंतरित की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम की शुरूआत में शहीद महेन्द्र कर्मा की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके नाम पर प्रदेश में  तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना  का शुभारंभ किया। बघेल ने कहा कि महेन्द्र कर्मा बस्तर टाइगर के नाम से जाने जाते थे, वे आदिवासियों के हक की हर लड़ाई में दमदारी से खड़े रहे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जशपुर, जांजगीर-चांपा, सुकमा, बलौदाबाजार जिले कीे विभिन्न गौठान समितियों, स्व-सहायता समूह की महिलाओं, पशुपालक एवं गोबर विक्रेताओं से गोधन न्याय योजना के संबंध में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने गोबर विक्रय करने वाले लोगों से भुगतान की राशि प्राप्त होेने, महिला स्व-सहायता समूहों से उनके द्वारा संचालित गतिविधियों विशेषकर वर्मी कम्पोस्ट खाद के निर्माण एवं विक्रय की स्थिति, गौठानों में आने वाले पशुओं की संख्या एवं उनके चारे-पानी के प्रबंध के बारे में जानकारी ली।

कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की परिकल्पना आज मूर्तरूप ले चुकी है। यह योजना ग्राम पंचायतों के बाद गांव तक विस्तारित होगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गोबर खरीदी के एवज में गोबर विक्रेताओं को 15 दिन के भीतर उनके बैंक खाते में राशि के भुगतान का जो वादा किया था, वह आज पूरा हो रहा है। इस योजना के तहत हर 15वें दिन गोबर विक्रेताओं को भुगतान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत 20 जुलाई से 1 अगस्त तक राज्य में कुल 4140 गौठानों में पंजीकृत 65 हजार 694 हितग्राहियों में से 46 हजार 964 हितग्राही द्वारा 82 हजार 711 क्विंटल गोबर का विक्रय किया गया, जिसकी कुल राशि 2 रूपए प्रति किलो की दर से 1 करोड़ 65 लाख रूपए पशुपालकों के बैंक खातों में जमा की गई है। इस योजना से 38 प्रतिशत महिला हितग्राही, 48 प्रतिशत अन्य पिछड़ा वर्ग, 39 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति, 8 प्रतिशत अनुसूचित जाति एवं 5 प्रतिशत सामान्य वर्ग के हितग्राही लाभान्वित हुए हैं। गोबर खरीदी का आगामी भुगतान 20 अगस्त को किया जाएगा।

 

05-08-2020
स्वतंत्रता दिवस पर राजधानी में भूपेश बघेल करेंगे ध्वजारोहण, कोरोना वारियर्स का होगा सम्मान, दिशा निर्देश जारी

रायपुर। स्वतंत्रता दिवस पर कोविड-19 महामारी के चलते विशेष सावधानी के साथ आयोजन होंगे। सामान्य प्रशासन विभाग ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के आयोजन के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। स्वतंत्रता दिवस का राज्य स्तरीय समारोह रायपुर में स्थानीय पुलिस परेड ग्राउंड में होगा। बता दें कि यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ध्वजारोहण करेंगे। ध्वजारोहरण के बाद पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों की टुकड़ियों की ओर से सलामी दी जायेगी। मुख्यमंत्री जनता के नाम संदेश दिया जाएगा। कार्यक्रम में कोरोना वारियर्स डॉक्टरों, पुलिस कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों और स्वछता कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम में आने वाले सभी लोगों को मास्क पहनना और सामाजिक दूरी आदि का पालन करना अनिवार्य होगा। बताया गया कि जिला स्तर पर स्वतंत्रता दिवस समारोह में भी कोरोना वारियर्स को सम्मानित किया जाएगा। वहीं स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तहसील और जनपद स्तर पर सार्वजनिक समारोह नहीं होंगे। जनपद कार्यालयों में जनपद अध्यक्ष और नगरीय निकायों में नगरीय निकाय के महापौर या अध्यक्षों द्वारा ध्वजारोहरण किया जाएगा।

पंचायत मुख्यालयों में सरपंच और बड़े गांवों में गांव के मुखिया की ओर से ध्वजारोहण किया जाएगा और सामूहिक रूप से राष्ट्रीय गान गाया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग के दिशा-निर्देशों के अनुसार राज्य, जिला, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में किसी भी स्थिति में स्कूली छात्र-छात्राओं को एकत्र नहीं किया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं होगा।  णमान्य अतिथियों को भी सीमित संख्या में आमंत्रित किया जाएगा। कहा गया कि रायपुर और अन्य जिला मुख्यालयों में मुख्य समारोह सुबह 9 बजे से शुरू होंगे। इसे देखते हुए रायपुर और अन्य जिला मुख्यालयों में स्थित शासकीय कार्यालयों में  जारोहण सुबह 8 बजे के पूर्व कर लिए जाएंगे। ताकि उन कार्यालयों के अधिकारी और कर्मचारी जिले के मुख्य समारोह में शामिल हो सके। सभी विभाग के कार्यालय प्रमुखों की ओर से उनके कार्यालय में ध्वजारोहरण का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके पश्चात् राष्ट्रीय गान जन-गण-मन गाया जाएगा। सभी शासकीय और सार्वजनिक भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को रात्रि में प्रदेश के सभी शासकीय और सार्वजनिक भवनों तथा राष्ट्रीय महत्व के स्मारकों पर रोशनी की जाएगी।

05-08-2020
Breaking: भूपेश बघेल ने की शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता सामाजिक सुरक्षा योजना की शुरुआत, देखें लाइव...

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज बुधवार दोपहर शहीद महेंद्र कर्मा तेंदूपत्ता सामाजिक सुरक्षा योजना की शुरुआत की है। इसके साथ ही गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों को राशि का वितरण भी किया जा रहा है। इस अवसर पर राम वनगमन पथ का प्रस्तुतिकरण भी होगा। प्रसारण को लाइव देखने इस लिंक पर क्लिक करें... https://m.youtube.com/watch?v=Mpl7DPkH_ikLIVE

05-08-2020
गोधन न्याय योजना भूपेश बघेल की दूरदर्शी सोच का परिणाम : अरुण वोरा

रायपुर। गोधन न्याय योजना को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दूरदर्शी सोच का परिणाम बताया स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के चेयरमेन अरुण वोरा ने। उन्होंने कहा कि यह योजना राज्य के वर्तमान पीढ़ी के साथ ही आने वाले पीढ़ियों के लिए वरदान साबित होगी। देश में यह अपनी तरह की पहली और अनूठी योजना है। पशुपालकों से 2 रुपए प्रति किलो की दर से गोबर खरीदी कर गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट बनाकर इसकी बिक्री से पशुपालकों को आर्थिक लाभ होगा। खेतों में केमिकल खाद से पैदा होने वाले अनाज और सब्जियों की जगह अब जैविक खाद से अनाज और फल-सब्जियों का उत्पादन होगा। 

वोरा ने कहा कि गोधन न्याय योजना का क्रियान्वयन होने से किसानों को सस्ती दर पर जैविक खाद मिलेगा। गोबर खरीदी की व्यवस्था से पशुपालक अपने घर पर ही पशुओं को बांधकर रखेंगे। इससे पशु फसल को नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे और शहर और गांव के गली-कूचों में जगह-जगह गोबर के अवशेष नहीं मिलेंगे। इससे स्वच्छता को बढ़ावा मिलेगा। गोबर खरीदी की व्यवस्था से पशुपालकों के साथ-साथ वर्मी कम्पोस्ट तैयार करने वाली महिला स्वसहायता समूहों और पशुपालकों को भी आमदनी होगी। इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से बुधवार को गोधन न्याय योजना के तहत राज्य के 46 हजार 964 गोबर विक्रेता पशुपालकों को गोबर खरीदी का भुगतान करने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। राज्य के गोबर विक्रेताओं को एक करोड़ 65 लाख 42 हजार रुपए का भुगतान उनके खाते में ऑनलाइन होगा। वोरा ने गोबर विक्रता पशुपालकों को बधाई और शुभकामनाएं दी है।  वोरा गोधन न्याय योजना के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार जताया है।

05-08-2020
भूपेश बघेल ने राज्य के सर्वांगीण विकास और सर्वहारा वर्ग का रखा ध्यान : अहसन मेमन

गरियाबंद। एनएसयूआई नेता अहसान मेमन ने  पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार का डेढ़ वर्ष का कार्यकाल उल्लेखनीय सफलताओं से भरा हुआ है। राज्य के सर्वांगीण विकास व सर्वहारा वर्ग का भूपेश बघेल के सरकार ने विशेष ध्यान रखा है। गांव के मजदूर,गरीब किसान व सभी वर्गों के विकास और उत्थान के लिए सरकार के द्वारा कार्य किया जा रहा है। मेमन ने आगे कहा किसानों की कर्जमाफी,समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी, शिक्षाकर्मियों का संविलियन, लघु वनोपज का सर्वाधिक समर्थन मूल्य देकर सरकार ने अपना  वचन निभाया है।

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण ईलाकों की आर्थिक समृध्दि के लिए नरवा,गरवा,घुरूवा और बाड़ी और गौधन योजना जैसे अनूठी योजनाएं शुरू की है। इससे ग्रामीणों की आर्थिक समृध्दि का रास्ता खुल रहा है, गांव गांव में महिलाओं और युवाओं को रोजगार मिलने लगा है गोबर खरीदी योजना से किसानों को न सिर्फ सस्ती दर पर खाद मिलेगी बल्कि गांव और शहर स्वच्छ होंगे। उन्होने कहा पिछले 15 सालों तक छत्तीसगढ में भाजपा राज करने के बाद प्रदेश की जनता को राहत देने में विफल रहे और भाजपा ने जितना भी वायदा जनता से किया था उन वायदों को पुरा नहीं किया।

04-08-2020
भूपेश बघेल कल खातों में डालेंगे गोबर खरीदी की राशि,46964 विक्रेताओं को होगा 1.65 करोड़ रुपए का भुगतान

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 5 अगस्त को अपने रायपुर निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में राज्य सरकार की अभिनव गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी का पहला भुगतान हितग्राहियों के खाते में अंतरित करने की प्रक्रिया का शुभारंभ करेंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री दोपहर 3 बजे शहीद महेन्द्र कर्मा की जयंती के अवसर पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे और वन मंत्री मोहम्मद अकबर का उद्बोधन होगा। मुख्यमंत्री बघेल 3.15 बजे गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गोबर खरीदी की राशि का हितग्राहियों के खाते में अंतरण प्रक्रिया का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों से चर्चा करेंगे। पर्यटन विभाग के अधिकारी दोपहर 3.50 बजे राम वन गमन पथ पर प्रस्तुतीकरण देंगे। मुख्यमंत्री बघेल गोधन न्याय योजना के तहत 20 जुलाई से 1 अगस्त तक गोबर खरीदी की पहली किश्त की राशि 5 अगस्त को सहकारी बैंक के माध्यम से हितग्राहियों के खाते में अंतरित करेंगे। राज्य में कुल 4140 गौठानों में पंजीकृत 65 हजार 694 हितग्राहियों में से 46 हजार 964 हितग्राही ने 82 हजार 711 क्विंटल गोबर का विक्रय किया था। इसकी कुल राशि 2 रुपए प्रति किलो की दर से 1 करोड़ 65 लाख रुपए पशुपालकों के बैंक खातों में हस्तांतरित की जाएगी।

इस योजना का लाभ प्रदेश के अंतिम छोर के पशुपालकों तक पहुंचाया जा रहा है। इसमें 38 प्रतिशत महिला हितग्राही, 48 प्रतिशत अन्य पिछड़ा वर्ग, 39 प्रतिशत अनुसूचित जाति, 8 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति एवं 5 प्रतिशत सामान्य वर्ग के हितग्राही हैं। गोबर खरीदी का आगामी भुगतान 15 अगस्त को किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत राज्य के रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, धमतरी और बालोद जिलों में सबसे अधिक गोबर विक्रय किया गया है। इसी प्रकार नगरीय क्षेत्रों में रायपुर एवं दुर्ग के पशुपालकों ने सबसे ज्यादा गोबर विक्रय किया गया है। गोधन न्याय योजना देश में अपने तरह की प्रथम योजना है। इसमेंं पशुपालकों, किसानों से 2 रुपए प्रति किलो (परिवहन व्यय सहित) की दर पर गौठानों में खरीदी की जा रही है। खरीदे गए गोबर से गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट तैयार कर इसका सहकारी समितियों के माध्यम से विक्रय किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से एक ओर पशुपालकों को आर्थिक लाभ होगा। दूसरी ओर प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804