GLIBS
15-06-2019
चिटफंड कंपनी बीएन गोल्ड की संपत्ति कुर्की का अंतरिम आदेश जारी

 

कोरबा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर छत्तीसगढ़ में चिटफंड कंपनियों के विरूद्ध कार्यवाही कर निवेशकों को उनकी राशि वापस दिलाने के अभियान में तेजी से काम किया जा रहा है। जिले की कलेक्टर किरण कौशल ने भी कोरबा की एक कंपनी बीएन गोल्ड कंपनी के विरूद्ध परिसंपत्तियों के कुर्की का अंतरिम आदेश जारी कर दिया है। इस कंपनी का कार्यालय इंद्रा व्यवसायिक सह आवासीय केंद्र टीपी नगर कोरबा में था, जो वर्तमान में बंद है। कंपनी के विरूद्ध कुसमुंडा थाना में धारा 420, 34 भादवि 4, 5, 6, और छत्तीसगढ़ के निक्षेपकों का संरक्षण अधिनियम 2005 की धारा 10 क एवं ईनामी चिटफंड धन परिचालन अधिनियम 1978 की धारा 3, 4, 5 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। कंपनी की इंदिरा व्यवसायिक सह आवासीय केंद्र एवं टीपी नगर कोरबा के भूखंड क्रमांक 16 ए एवं 16 बी में निर्मित दुकानों के दुकान क्रमांक 16 एवं 17 को कुर्की करने का अंतरिम आदेश कलेक्टर ने जारी किया है। उक्त संबंध में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोरबा के न्यायालय में भी प्रकरण विचाराधीन है। न्यायालय द्वारा अंतिम आदेश जारी हो जाने पर संपत्तियों की कुर्की की जायेगी।
जारी किये गये आदेश के अनुसार कुसमुंडा थाने में बीएन गोल्ड कंपनी के विरूद्ध पंजीकृत अपराध क्रमांक 81/2016 के संबंध में तहसीलदार, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, नगर निगम आयुक्त द्वारा संपत्तियों का परीक्षण कर प्रतिवेदन दिया गया है। तहसीलदार एवं एसडीएम के प्रतिवेदन के अनुसार मौजा कोरबा पटवारी हल्का नंबर 09 की भूमि खसरा नंबर 188/1/क/1 की भूमि में व्यवसायिक सह आवास हेतु नगर निगम कोरबा द्वारा शिवदयालय सिंह पिता विश्राम सिंह वगैरह को लीज पर आबंटित किया गया है। उक्त भूखंड में से भूखंड क्रमांक 16 ए एवं 16 बी में निर्मित दुकान को बी.एन.गोल्ड रियल स्टेट एण्ड एल्लाईट लिमिटेड द्वारा क्रय किया गया है। क्रय दुकान 16 एवं 17 में बीएन गोल्ड रियल स्टेट एण्ड एल्लाईट लिमिटेड का आधिपत्य है। जो वर्तमान में बंद है।
 नगर निगम आयुक्त ने अपने प्रतिवेदन में उल्लेखित किया है कि नगर पालिक निगम कोरबा की इंदिरा व्यावसायिक सह आवासीय केंद्र के भूखण्ड क्रमांक 16 ए साईज पांच हजार वर्ग फुट एवं 16 बी साईज पांच हजार वर्गफुट शिवदयाल सिंह, दिनेश कुमार सिंह एवं मुकेश सिंह के संयुक्त नाम पर 30 वर्षीय लीज पर आबंटित है, किंतु लीज होल्ड भूखंड पर निर्मित दुकानें विभिन्न क्रेताओं को विक्रय डीड आधार पर विक्रय की गई है। इन क्रय दुकानों पर संबंधित क्रेता ही भवन स्वामी हैं। उपरोक्त भूखंड पर निर्मित दुकान क्रमांक 16 एवं 17 के क्रेता बीएन गोल्ड रियल स्टेट एण्ड एल्लाइट लिमिटेड ही भवन स्वामी है। निगम द्वारा विक्रय आधार पर इनके नाम पर अभिलेखों में नाम दर्ज किया गया है। संबंधित संपत्ति के संबंध में कोई देनदारी अथवा वसूली हेतु बीएन गोल्ड रियल स्टेट एण्ड एल्लाइट लिमिटेड स्वयं उत्तरदायी है। नगर पालिक निगम कोरबा ने अपने प्रतिवेदन में यह भी उल्लेखित किया है कि किसी भी प्रकार की देनदारी या ऋण संबंधी दावों की वसूली के लिए सक्षम प्राधिकारी या न्यायालय द्वारा कार्यवाही करके उक्त संपत्ति नीलाम की जाती है तो नीलामी की कार्यवाही के परिपालन में नगर पालिक निगम कोरबा के अभिलेख में नीलामी में संपत्ति क्रय करने वाले क्रेता के नाम पर दर्ज करने में नगर पालिक निगम को कोई आपत्ति नहीं है। इस संबंध में सक्षम सुनवाई के लिए कंपनी के डायरेक्टर गुरविंदर सिंह को भी बताये गये पते पर नोटिस जारी किये गये, परंतु नोटिस तामिली रिपोर्ट के अनुसार गुरूविंदर सिंह, आशीष कुमार गुप्ता, अनिल शर्मा उल्लेखित पते पर नहीं हैं, फरार होना बताये गये हैं।
जिला दण्डाधिकारी ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि चूंकि संपत्ति नगर निगम कोरबा की है और उसे नगर निगम द्वारा लीज पर प्रदान किया गया है। नगर निगम द्वारा प्रदाय लीज डीड को निरस्त कर संपत्ति को पुनः नीलाम कर प्राप्त राशि को निवेशकों को प्रदाय किया जा सकता है। अतः निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम 2005 की धारा 7 के अनुसार संपत्ति के कुर्की का अंतिरिम आदेश जारी किया गया है और नगर निगम कोरबा को आदेशित किया गया है कि वाद संपत्ति का बीएन गोल्ड रियल स्टेट कोरबा के पक्ष में निष्पादित लीज डीड को निरस्त कर वाद संपत्ति का आधिपत्य भी प्राप्त कर लें।

15-06-2019
नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में शामिल हुए सीएम भूपेश बघेल

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में शनिवार को नीति आयोग की संचालन परिषद की पांचवीं बैठक हुई। इस बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग कौंसिल की बैठक में शामिल हुए।

12-06-2019
मंत्रालय में केबिनेट की बैठक शुरू

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को मंत्रालय में केबिनेट की बैठक ले रहे हैं। बैठक में कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर निर्णय लिया जा सकते हैं। 

11-06-2019
सीएम भूपेश बघेल और बस्तर के सांसद,विधायकों में हुई चर्चा, 4 मांगें हुई स्वीकार

रायपुर। एनएमडीसी बैलाडीला लौह अयस्क खान परियोजना दंतेवाड़ा के डिपाजिट 13 के संबंध में मंगलवार को मंत्रालय में बस्तर के सांसद दीपक बैज और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम के नेतृत्व  प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात की। इस महत्वपूर्ण बैठक में बस्तर के अन्य विधायक भी उपस्थित रहे। सीएम भूपेश बघेल ने इस आंदोलन के प्रतिनिधिमंडल की मांगों को स्वीकार किया है। इसमें वनों की कटाई पर तुरंत रोक, वर्ष 2014 के फर्जी ग्रामसभा के आरोप की जांच कराई जाएगी, क्षेत्र में संचालित कार्यो पर तत्काल रोक लगाई जाएगी और राज्य सरकार की ओर से भारत सरकार को पत्र लिखकर जन भावनाओं की जानकारी दी जाएगी। बैठक में वनमंत्री मो.अकबर भी मौजूद थे।

11-06-2019
पं.विद्याचरण शुक्ल की पुण्यतिथि पर सीएम भूपेश बघेल सहित नेता-मंत्री,कार्यकर्ताओ ने दी श्रद्धांजलि

रायपुर। कांग्रेस नेता पंडित विद्याचरण शुक्ल की मंगलवार को पुण्यतिथि है। 6 साल पहले हुए झीरमघाटी नक्सल हमले को अब तक कोई नही भूल पाया है। इस हमले में कांग्रेस ने अपने कई बड़े नेताओं को खो दिया था। इन में से एक विद्याचरण शुक्ल थे।
बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को राधेश्याम भवन पहुंचकर पं. विद्याचरण शुक्ल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि झीरम घाटी में कांग्रेस के काफिले पर हमला हुआ और हमारे बहुत सारे नेता शहीद हुए थे। वहीं विद्या भैया को भी 85 साल की उम्र में 4 गोलियां लगी थी। विद्या भैया आजीवन छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करते रहें। उनको सच्ची श्रद्धांजलि षडयंत्रकारियों को बेनकाब कर के दी जाएगी। इस दौरान मुख्यमंत्री सहित कांग्रेस के मंत्री धनेंद्र साहू, राजिम विधायक अमितेश शुक्ल, मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, सत्यनारायण शर्मा सहित कई बड़े नेताओं ने पुष्प अर्पित कर पं. शुक्ल को श्रद्धांजलि दी।

11-06-2019
बैलाडीला मामला: सीएम भूपेश बघेल की अध्यक्षता में सांसद दीपक बैज और विधायकों की बैठक शुरू

रायपुर। बैलाडीला में खदान की खुदाई को लेकर आदिवासियों के आंदोलन पर प्रदेश के सीएम भूपेश बघेल की ओर से पहल की गई है। इसी कड़ी में मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बस्तर सांसद दीपक बैज और विधायकों के साथ बैठक शुरू हुई। इस बैठक में वन मंत्री मोहम्मद अकबर भी उपस्थित हैं। बता दें कि आंदोलनकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल बस्तर के सांसद दीपक बैज के साथ मंगलवार को राजधानी आया है।

11-06-2019
बैलाडिला आंदोलन: सांसद दीपक बैज ने प्रदर्शन स्थल पर जाकर प्रतिनिधिमंडल से की चर्चा

रायपुर। प्रदेश के दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा स्थित बैलाडिला की पहाड़ पर खनन को लेकर आदिवासियों के आक्रोश को दूर करने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आवश्यक पहल की है। मंगलवार को उन्होंने इस संबंध में बस्तर के नवनिर्वाचित सांसद दीपक बैज से बातचीत की और धरना स्थल पहुंचकर आंदोलनकारियों से बात करने का आग्रह किया। 
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की इस पहल पर सांसद श्री बैज बैलाडिला पहुंचकर इस संबंध में आंदोलनकारियों से भेंट की और उनकी मांगों को गंभीरता से सुना और समझा। श्री बैज न केवल आंदोलनकारियों से बातचीत की बल्कि वे आंदोलनकारियों के प्रतिनिधिमण्डल के साथ रायपुर भी आ रहे है। श्री बैज प्रतिनिधिमण्डल के साथ मुख्यमंत्री श्री बघेल से भेंट करेंगे ताकि आदिवासियों की मांगों सहित सभी पहलुओं पर मुख्यमंत्री के समक्ष विचार-विमर्श कर उसका समुचित समाधान निकाला जा सके।

10-06-2019
सीएम भूपेश बघेल व राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गिरीश कर्नाड के निधन पर जताया शोक 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने   देश के सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता, नाटककार, लेखक एवं रंगकर्मी गिरीश कर्नाड के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया। भूपेश बघेल ने कहा कि गिरीश कर्नाड के निधन का समाचार सुनकर अत्यंत दुख हुआ। पद्मभूषण और ज्ञानपीठ पुरस्कार से नवाजे गए गिरीश कर्नाड द्वारा साहित्य, रंगकर्म और रंगमंच को दिए गए योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। बघेल ने शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की है और ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की है। इसी तरह राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रसिद्ध कलाकार गिरीश कर्नाड के निधन पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि  कर्नाड का भारतीय रंगमंच तथा साहित्य में अतुलनीय योगदान था। वे बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। उन्होंने कई कलात्मक फिल्में निर्देशित कीं और उनमें अभिनय भी किया, जिन्हें प्रतिष्ठित पुरस्कारों से नवाजा गया। राज्यपाल ने  कर्नाड के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए मृतात्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

04-06-2019
ग्रामीणों ने एक सुर में कहा-हर गांव में बने ऐसे गौठान 

कोरबा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को कोरबा जिले के पाली विकासखंड के केराझरिया गांव पहुंचे और आदर्श गौठान का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने गौठान में चौपाल लगाई और ग्रामीणों से सीधी बात की। बघेल ने ग्रामीणों को नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के फायदे बताए और इस योजना से जुडऩे की अपील की। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से इस योजना का जब फीडबैक लिया तो सभी ग्रामीणों ने एक स्वर में योजना बढिय़ा है, हर गांव में ऐसे गौठान बनना चाहिए कहकर सरकार की इस योजना पर मोहर लगा दी। इस दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव, राजस्व मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, विधायक कटघोरा पुरुषोत्तम कंवर, विधायक पाली-तानाखार मोहित केरकेट्टा, विधायक रामपुर ननकीराम कंवर, पूर्व विधायक ोधराम कंवर, मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव आरपी मंडल सहित कलेक्टर किरण कौशल, एसपी जितेन्द्र सिंह मीणा और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।
 चौपाल को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की परंपरागत नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी के विकास से गांवों में आर्थिक समृद्धि आएगी और ग्रामीणों की माली हालत सुधरेगी। बघेल ने ग्रामीणों को बताया कि गौठानों के साथ लगी हुई जमीन पर लगभग 12 एकड़ रकबे में पशुओं के लिए हरे चारे की व्यवस्था की गई है। इस चराई भूमि पर नेपियर घास, मक्का, ज्वार जैसी चारे की फसलें लगाई गई हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केराझरिया के गौठान में पशुओं के लिए की गई व्यवस्थाओं का घूमकर जायजा लिया। उन्होंने गौठान में बने कोटनों, शेड, पैरा मचान, सोलर पंप से पानी की व्यवस्था, पैराकुट्टी मशीन सहित चारागाह तक का अवलोकन किया और अच्छी व्यवस्था पर खुशी जाहिर करते हुए कलेक्टर सहित सभी अधिकारियों की तारीफ  की। मुख्यमंत्री ने चौपाल में कहा कि अंबिकापुर के सरगांव प्रवास के दौरान महिला सपना बैरागी ने गौठानों में काम करने वाले लोगों के लिए शौचालय की कमी की तरफ  ध्यान आकृष्ट कराते हुए गौठानों में शौचालय बनाने का सुझाव दिया था। मुख्यमंत्री ने बैरागी के इस महत्वपूर्ण सुझाव को अपनी योजना में शामिल करते हुए गौठान में काम करने वाले महिलाओं और पुरुषों के लिए तत्काल शौचालय बनाने के निर्देश कलेक्टर को दिए। 

228 वनवासियों को मिले वन अधिकार पत्र 
 चौपाल में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केराझरिया और आसपास के गांवों के 228 वनवासियों को वन अधिकार पत्र के माध्यम से काबिज भूमि का मालिकाना हक देने की भी घोषणा की। इसमें से 208 व्यक्तिगत वन अधिकार पत्र और 20 सामुदायिक वन अधिकार पत्र हितग्राहियों को मिले। व्यक्तिगत वन अधिकार पत्रों में से भी अनुसूचित जनजाति के 102 हितग्राहियों को वन भूमि पर लंबे समय से काबिज होने के कारण काबिज भूमि का मालिकाना हक दिया गया जबकि 106 वन अधिकार पत्र गैर परंपरागत वनवासियों को दिए गए।   
भूपेश बघेल की चौपाल में पोंड़ी के ग्रामीणों ने पटवारी की जमकर शिकायत की। मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए तत्काल जांच कर पटवारी के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश कलेक्टर किरण कौशल को दिए।  

जब मुख्यमंत्री ने स्वयं पकड़ी कौशिल्या के लिए माइक 
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की आज केराझरिया में आयोजित चौपाल में चौंकाने वाला वाकया हुआ।  हुआ यूं कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल चौपाल में उपस्थित ग्रामीणजनों को खेतों में जैविक खाद के उपयोग से उत्पादन बढ़ाने के तरीके बता रहे थे, तभी अचानक पास खड़ी महिला कौशिल्या डिक्सेना ने भी जैविक खाद बनाने के तरीके और उससे होने वाले फायदे मुख्यमंत्री को बताना शुरू कर दिया। मुख्यमंत्री ने कौशिल्या की ओर अपनी स्वयं की माइक कर दी और जब तक कौशिल्या बोलती रहीं, बघेल अपने हाथों में माइक पकड़े रहे।  कौशिल्या ने बड़े ही सहज और बेबाकी पूर्ण ढंग से ग्रामीणों को मवेशियों के गोबर, गौमूत्र और पेंड़ों के सूखे पत्तों जैसे कचरे से कम्पोस्ट खाद बनाने का तरीका बताया। इस पर मुख्यमंत्री ने कौशिल्या की तारीफ  की।  मुख्यमंत्री ने इसी दौरान केराझरिया की एक अन्य महिला संतोषी महंत द्वारा नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना पर रचित गीत भी सुना और उस गीत की आडियो सीडी का भी विमोचन किया।

04-06-2019
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहुंचे केराझरिया, हेलीपेड पर हुआ स्वागत

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दो दिवसीय प्रवास पर मंगलवार को कोरबा पहुँचे। यहां कोरबा जिले के केराझरिया में हेलीपेड पर उनका आत्मीय स्वागत किया गया। हेलीपेड पर राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल सहित विधायक मोहित करकेट्टा, पुरषोतम कँवर, कलेक्टर किरण कौशल और एसपी जितेंद्र मीणा ने सीएम बघेल का स्वागत किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में जन प्रतिनिधियों ने उपस्थित थे। 

03-06-2019
बस्तर में तेजी से चल रहा गौठान निर्माण: दो लाख पशुओं को मिलेगा चारा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ड्रीम प्रोजेक्ट नरवा, घुरूवा, गरवा और बाड़ी को धरातल में मूर्त रूप देने बस्तर संभाग में तेजी से कार्य किया जा रहा है। संभाग के सातों जिलों में लगभग 1403 एकड़ में मवेशियों के लिए 244 गौठानों का निर्माण किया जा रहा है। यह कार्य मनरेगा के तहत किया जा रहा है और इसके लिए 32 करोड़ 54 लाख रुपए की राशि संभाग के सातों जिलों के लिए स्वीकृत की गई है। इन गौठनों में संभाग के लगभग पौने दो लाख मवेशियों को सुरक्षित रहवास के साथ ही चारा और पानी मिलेगा। कुल 1786 एकड़ में चारागाह विकसित किये जा रहे हैं। बस्तर संभाग के कमिश्नर अमृत कुमार खलखो राज्य शासन की इस महत्वाकांक्षी योजना की सतत मॉनीटरिंग कर रहें हैं। उन्होंने बताया कि बस्तर संभाग में वर्तमान में 244 गौठान स्वीकृत किए गए हैं, जिसमेें 206 गौठानों का निर्माण कार्य चल रहा है।  गोठान में पशुओं को पानी पीने के लिए कोटनी की व्यवस्था के साथ ही चारागाह को हरा-भरा रखने के लिए सोलर पम्प से चारागाह की सिंचाई की सुविधा होगी। घुरूवा योजना के तहत यहां गायों से होने वाले गोबर को इक_ा करने के लिए नाडेप टैंक और वर्मी कम्पोस्ट टैंक बनाए जा रहे हैं। वर्मी कम्पोस्ट टैंक से केंचुआ खाद तैयार किया जाएगा। गायों की देखरेख पशुपालन विभाग द्वारा की जाएगी और बीमार पशुओं का नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। बारिश शुरू होते ही गोठान की सुरक्षा के लिए लगाए गए फेंसिंग के किनारे पौधे लगाएं जाएंगे। इन पौधों की देखरेख एवं जीवित रखने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर समिति बनाई गई है। समिति के प्रत्येक सदस्य को पौधों की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी जाएगी और उसके बदले उन्हें मानदेय दिया जाएगा। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804