GLIBS
06-06-2020
प्रवासी श्रमिकों को भूपेश बघेल के निर्देशानुसार मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है

रायपुर। नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू लॉक डाउन से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के लगभग 2 लाख 63 हजार श्रमिकों सहित अन्य लोग सकुशल वापस लौट चुके हैं। इन श्रमिकों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर राज्य सरकार की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रदेश में मनरेगा के तहत पंजीकृत और प्रवासी श्रमिकों सहित वर्तमान मं लगभग 23 लाख से अधिक मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। श्रम मंत्री डॉ.शिव कुमार डहरिया ने बताया कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों को सुरक्षित छत्तीसगढ़ वापस लाया जा रहा है। अब तक 59 ट्रेनों के माध्यम से 81 हजार प्रवासी श्रमिकों को छत्तीसगढ़ वापस लाया जा चुका है। छत्तीसगढ़ भवन सन्ननिर्माण मंडल ने ट्रेनों और बसों के लिए लगभग 3 करोड़ 98 लाख रूपए खर्च किए हैं। इसके अलावा मंडल ने संकटापन श्रमिकों की सहायता के लिए जिला कलेक्टरों को 3 करोड़ 90 लाख रूपए जारी भी किए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार राज्य में श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से भी लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मनरेगा के तहत 23 लाख 3 हजार से अधिक मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। राज्य कर्मचारी बीमा सेवाएं (ईएसआई) की ओर से संचालित 42 क्लीनिकों के माध्यम से 78 हजार 822 श्रमिकों को निशुल्क इलाज और दवाएं उपलब्ध कराई गई है। प्रवासी श्रमिकों एवं नागरिकों की मदद के लिए राज्य स्तर पर 24 घंटे हेल्प लाइन सेंटर संचालित है। हेल्प लाइन नंबर 0771-2443809, 91098-49992, 75878-22800, 75878-21800, 96858-50444, 91092-83986 एवं 88277-73986 है।

05-06-2020
भूपेश बघेल ने काढ़ा लॉन्च कर कहा, इम्युनिटी बढ़ाकर ही कोरोना वायरस से बचा जा सकता है

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गरियाबंद के महिला समूह की ओर से तैयार आयुर्वेदिक सर्वज्वरहर चूर्ण (काढ़ा) लॉन्च किया। यह चूर्ण भूतेश्वर हर्बल वन धन केन्द्र के स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने 10 जड़ी बूटियों को मिलाकर तैयार किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इम्युनिटी बढ़ाकर ही कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। यह आयुर्वेदिक सर्वज्वरहर चूर्ण कोरोना वायरस से बचाव में काफी मददगार होगा। यह चूर्ण सौंठ, काली मिर्च, पीपली, लौंग, छोटी इलायची, बड़ी इलायची, दाल चीनी, जायफल, जावित्री और तुलसी पत्र के मिश्रण से तैयार किया गया है।

इस चूर्ण का उपयोग करने के लिए 10 मिलीलीटर पानी उबालने के बाद उसमें डेढ़ ग्राम चूर्ण मिलाकर पानी उबालना बंद कर 10 मिनट के लिए रखने के बाद इसे छानकर पिया जा सकता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इस चूर्ण का न्यूनतम तीन दिनों का तक सेवन करना होगा। इस वन धन केन्द्र की महिलाओं की ओर से अश्वगंधा से तैयार नवायष चूर्ण, पुनर्नवा चूर्ण, अश्वगंधा चूर्ण, सतावरी चूर्ण, कौंच चूर्ण, तुलसी चूर्ण, महाविषगर्भ तेल, भृंगराज तेल जैसे उत्पाद तैयार किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज और अन्य सामाजिक संस्थाओं ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वितरित किए जा रहे आयुर्वेदिक काढ़े की सराहना भी की।

05-06-2020
भूपेश बघेल ने डिसइन्फेक्शन बॉक्स को बताया उपयोगी,जानिए कोरोना को रोकने कैसे मदद करता है यह उपकरण

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को अपने निवास कार्यालय में डिसइन्फेक्शन उपकरण बॉक्स का लोकार्पण किया। यह बॉक्स कोरोना संक्रमण की रोकथाम में बेहद उपयोगी साबित होगा। इस उपकरण में किराना सामान, मास्क, चिकित्सकीय उपकरण, पीपीई किट, मोबाइल फोन, लेपटाप, लेपटाप बैग, करन्सी नोट और बहुत सी ऐसी चीजें रख सकते हैं, जिसे हम साबुन से नहीं धो सकते। यह उपकरण (यूव्हीप्योर) पैराबैगनी किरणों के माध्यम से इसके अंदर रखी गई वस्तुओं को डिसइन्फेंट करता है।मुख्यमंत्री ने इस उपकरण की तारीफ की और इसे उपयोगी बताया।

उन्होंने इस उपकरण को सार्वजनिक स्थानों, बड़े शापिंग माल, शो-रूम और अन्य निजी कार्यालयों और संस्थानों के लिए उपयोगी बताया। यूव्ही प्योर बॉक्स को वैज्ञानिक अध्ययनों के आधार पर डिजाइन किया गया है। इस उत्पाद की एक विशेषता यह है कि इसका 360 अंश डिजाइन अंदर रखी वस्तु को चारों ओर से डिसइंफेक्ट करता है। किसी भी वस्तु को संक्रमित होने से रोक देता है। इस दौरान रायपुर स्थित स्टॉअप के सह संपादक आशीष हरलालका, गौरव अग्रवाल और गिरीश मिरानी ने मुख्यमंत्री को इस उपकरण की बारिकियों की जानकारियां दी।

 

05-06-2020
Breaking : भूपेश बघेल ने क्वारेंटाइन सेंटर्स में ठहरे लोगों, कलेक्टरों और सरपंचों से की बात 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को विभिन्न क्वारेंटाइन सेंटरों में ठहरे लोगों, जिलाधीशों और सरपंचों से बात की। उन्होंने सेंटरों की व्यवस्था के बारे में पूछा और सुझाव मांगे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सेंटरों पर किसी प्रकार की कमी न हो। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री बघेल स्वयं प्रदेश के क्वारेंटाइन सेंटरों में रह रहे लोगों को मिल रही व्यवस्थाओं की प्रतिदिन मानिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए क्वारेंटाइन सेंटरों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में मुख्य सचिव आरपी मंडल ने प्रदेश के सभी कलेक्टरों को परिपत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। कलेक्टरों से कहा गया है कि सामुदायिक संक्रमण को रोकने के लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएं।

04-06-2020
भूपेश बघेल ने आईएएस जनक पाठक को सस्पेंड करने मुख्य सचिव को दिए निर्देश, उच्च स्तरीय कमेटी करेगी मामले की जांच

रायपुर। जांजगीर चांपा में पूर्व पदस्थ आईएएस जनक प्रसाद पाठक पर महिला ने रेप का आरोप लगाकर थाने में शिकायत की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरोपी अधिकारी को संस्पेंड करने के निर्देश मुख्य सचिव आरपी मंडल को दिए हैं। इसके साथ ही सीएम ने मुख्य सचिव को मामले की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन करने कहा है। यह उच्च स्तरीय कमेटी पूरे प्रकरण की जांच करेगी। बता दें कि जांजगीर चांपा के पूर्व कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक पर महिला ने रेप का आरोप लगाया था। इसके बाद एसपी पारुल माथुर को मामले की जांच के निर्देश दिए गए थे। महिला ने पुलिस को बताया था कि विगत दिनों आरोपी ने अपने चेम्बर में ही उसके साथ संबंध स्थापित किए थे। बात नहीं मानने पर पति को नौकरी से बर्खास्त करने की धमकी दिया करता था। पुलिस ने मामले में अपराध कायम कर जांच शुरु कर दी है। महिला ने आरोपी से बातचीत और इससे संबंधित सबूत भी पुलिस को दिए हैं।

04-06-2020
भूपेश बघेल ने प्रमुख सचिव को क्वारंटाइन सेंटर की मॉनिटरिंग के दिए निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी क्वारंटाइन सेंटर की मॉनिटरिंग के निर्देश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव को दिए हैं। भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे श्रमिकों और अन्य लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। उनके ठहरने, भोजन, पेयजल, स्वास्थ्य जांच, मनोरंजन सहित सभी आवश्यक व्यवस्थाओं में कमी नहीं होनी चाहिए। बता दें कि प्रदेश में कोरोना महामारी से बचाव के लिए 19 हजार 374 क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए है जिसमें वर्तमान में 2 लाख 23 हजार 150 लोग रह रहे है। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि सभी क्वारंटाइन सेंटर में नोडल अधिकारी तैनात किए जाएं और रह रहे लोगों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। क्वारंटाइन सेंटरों की नियमित साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए। क्वारेंटाइन सेंटर में ठहरी गर्भवती माताओं, बच्चों और वृद्धजनों की देखभाल की विशेष व्यवस्था रहे। स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम आवश्यक दवाओं के साथ क्वारेंटाइन सेंटरों में तैनात रहनी चाहिए। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाए।

03-06-2020
अपने ही पार्टी के मुख्यमंत्रियों को पछाड़कर भूपेश बघेल बने सबसे लोकप्रिय

रायपुर। कांग्रेस संचार विभाग के सदस्य संदीप साहू ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सर्वाधिक लोकप्रिय घोषित किए जाने पर बधाई दी है। संदीप ने कहा है कि आईएएनएस-सीवोटर द नेशन 2020 के सर्वे में भूपेश बघेल कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पीछे छोड़कर सर्वाधिक लोकप्रिय घोषित किए गए हैं। इस पर खुशी व्यक्त करते हुए संदीप ने कहा कि भूपेश बघेल ने वादे के अनुरूप 2500 क्विंटल में धान खरीदी की। अंतर की राशि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 19 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में 5700 करोड़ रुपए जमा करा रही है। बिजली भी अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम दर में आम उपभोक्ताओं तक पहुंचा रही है। इसके अलावा सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ सीधे हितग्राहियों तक पहुंचा रही है। इससे न सिर्फ हितग्राहियों की आर्थिक स्थिति सुधर रही है, बल्कि गांव, गरीब, मजदूर और किसान समृद्ध हो रहे हैं।

न्याय योजना से भूपेश सरकार ने चुनाव में किया हुआ वादा पूरा किया तो वहीं कोरोना संकट के विपरीत समय पर आर्थिक संबल प्रदान किया। इससे मजदूर और किसान ही नहीं सभी वर्ग के लोग समृद्ध हो रहे हैं। मजदूर और किसानों के हाथों में पैसे आने से व्यापार व व्यवसाय बढ़ रहा है। इससे प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ रही है। मनरेगा के क्रियान्वयन में प्रदेश सरकार ने पूरे देश में कीर्तिमान स्थापित किया है। यहां 22 लाख 50 हजार मजदूरों को नियमित रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। यह पूरे देश में सर्वाधिक है। इससे मजदूरों के हाथ में सीधा पैसा पहुंच रहा है। मनरेगा के भुगतान के लिए मजदूरों को भटकने से भी मुक्ति मिली है। इससे संकट के समय भी वे अपनी सभी जरूरतें पूरी कर रहे हैं। यही सब कारण है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इतने लोकप्रिय है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को 81.06 प्रतिशत के साथ सर्वाधिक लोकप्रिय मुख्यमंत्री घोषित किया गया है।

31-05-2020
महेश नवमी से मिलती है जरूरतमंदों के कल्याण की प्रेरणा : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने महेश नवमी की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति दिवस और प्रभु शिव की उपासना के पर्व महेश नवमी की माहेश्वरी समाज सहित सभी को शुभकामनाएं। यह दिन हम सबको जरूरतमंदों के कल्याण के लिए सदैव समर्पित होने का संकल्प लेने के लिए प्रेरित करता है।

 

28-05-2020
रायपुर सराफा एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री का किया अभिनंदन,सरकार के निर्णय से व्यापार जगत में हर्ष

रायपुर। राज्य सरकार के लॉक डाउन में सप्ताह के 6 दिन व्यवसाय खोलने के निर्णय से व्यापार जगत में खुशी की लहर है। गुुरुवार को रायपुर सराफा एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री निवास पहुंचकर भूपेश बघेल का अभिनंदन किया। एसोसिएशन के अध्यक्ष हरख मालू ने कहा कि 6 दिन व्यापार खोलने के फैसले से पूरे व्यापार जगत में खुशी की लहर है ही, अब इस माह के अंतिम शनिवार और रविवार को भी व्यापार को खोलने के निर्णय से व्यापारी अभिभूत हैं। लग रहा था इस सप्ताह सिर्फ 5 दिन ही व्यापार करने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्रिमंडल का निर्णय इस लॉक डाउन अवधि में व्यापार जगत के लिए मील का पत्थर साबित होगा। व्यापारिक गतिविधियों में तेजी आएगी।
हरख मालू ने मुख्यमंत्री बघेल को बताया कि पंडरी में जेम्स एंड ज्वेलरी पार्क के निर्माण के निर्णय से भी सराफा व्यापारी बहुत खुश है। जेम्स एंड ज्वेलरी पार्क के निर्माण से सराफा व्यवसायियों को एक ही छत के नीचे होलसेल रिटेल, रिफाइनरी, कारीगर, हॉल मार्किंग सेंटर, हाई सिक्योरिटी, बैंक, एटीएम, पुलिस चौकी आदि सारी सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी। इसके लिए रायपुर सराफा एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया। इस दौरान हरख मालू के साथ भीकमचंद कोचर, धर्मचंद भंसाली, तिलोकचंद बरडिया, लक्ष्मी नारायण लाहोटी, पवन अग्रवाल, प्रह्लाद सोनी, अनिल कुचेरिया उपस्थित थे।

 

27-05-2020
भाजपा को भूपेश बघेल सरकार के कामों के आगे कोई मुद्दें नहीं मिल रहे : धनंजय ठाकुर 

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि कोरोना  महामारी संकटकाल में भी भाजपा  ओछी और स्तरहीन राजनीति करने से बाज नहीं आ रही है। भाजपा के नेता राजनीतिक हताशा मुद्दों के दिवालियापन के दौर से गुजर रहे हैं। भाजपा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ  षडयंत्र करने असत्य झूठ फरेब के सहारे राजनीति कर रही है। छत्तीसगढ़ सरकार पूरी ताकत से इस समय कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने,देशभर में लॉक डाउन में फंसे छत्तीसगढ़ के मजदूरों और अन्य प्रवासी मजदूरों को राहत पहुंचाने,उन्हें उनके घर गांव तक पहुंचाने में लगी हुई है। इस विषम परिस्थिति में भी छत्तीसगढ़ सरकार ने 1500 करोड़ रुपए किसानों के खाते में पहुंचाए हैं। जबकि लॉक डाउन के कारण सारी आर्थिक गतिविधियां समाप्त हो गई थी। न्याय योजना की पहली किश्त 1500 करोड़ से छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था को भी बहुत बड़ा बूस्टर मिला है। ऐसे समय भाजपा की ओर से निम्न स्तरीय आरोप लगाकर तबादला उद्योग की बात कहना भाजपा की ओछी मानसिकता और भाजपा का छत्तीसगढ़ विरोधी चाल चरित्र चेहरा को दर्शाता है। किसानों को लेकर हमेशा राजनीति करने वाली भाजपा का किसान विरोधी चरित्र जगजाहिर हो गया है। 15 साल तक छत्तीसगढ़ में भाजपा शासनकाल में जो किसानों की दुर्दशा रही है। जो उनकी माली हालत खराब थी, किसानों की आत्महत्या की घटनाएं हुई थी। 18 महीने के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सरकार के दौरान पूरी परिस्थितियां बदल गई है। किसान खुशहाल हैं, किसान संपन्न हो रहें तो भाजपा के पेट में दर्द हो रहा है। भाजपा को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के कामों के आगे कोई मुद्दें नहीं मिल रहे। भाजपा हमेशा की तरह असत्य आधारित  झूठ फरेब गुमराह करने की राजनीति कर रही है।

26-05-2020
भूपेश बघेल ने 28 जिलों को दिए 24.50 करोड़ रुपए, मुख्यमंत्री सहायता कोष से राशि जारी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी जिलों को कुल 24 करोड़ 50 लाख रुपए की राशि जारी की है। यह राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से संबंधित जिले के खाते में जमा कर दी गई है। इस राशि का उपयोग नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम के लिए किया जाएगा। मुख्यमंत्री सचिवालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर, बलौदाबाजार, राजनांदगांव, कबीरधाम और बिलासपुर जिले को 2-2 करोड़ रुपए, मुंगेली जिले को 1.50 करोड़ रुपए, बस्तर, कोरिया, बलरामपुर-रामानुजगंज और सूरजपुर जिले को 1-1 करोड़ रुपए, गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, दुर्ग, बालोद, बेमेतरा, कोंडगांव, कांकेर, दंतेवाड़ा, सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर, कोरबा, जांजगीर-चांपा, रायगढ़, जशपुर, सरगुजा और गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले को 50-50 लाख रुपए की राशि आबंटित की गई है। इसके पहले मुख्यमंत्री सहायता कोष से प्रदेश के 11 जिलों को 20-20 लाख रुपए कुल 2 करोड़ 20 लाख रुपए, सभी 28 जिलों को 25-25 लाख रुपए कुल 7 करोड़ और प्रदेश के सभी 146 विकासखंडों को 10-10 लाख रुपए कुल 14 करोड़ 60 लाख रुपए की राशि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी की जा चुकी है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804