GLIBS
22-08-2019
छात्रों को सिखाएं खेल के माध्यम से तनाव प्रबंधन के गुण

महासमुन्द। जब से मैंने महासमुंद में कार्यभार ग्रहण किया, प्रतिदिन अखबारों में आत्महत्या के समाचार पढ़ने को मिलते रहे। जानकारी एकत्र करना शुरू किया, तब कोई एक स्पष्ट कारण समझ नहीं आया। तब समस्या का हल निकालने के लिए जागरूकता कार्यक्रम नवजीवन अभियान के रूप में शुरू किया गया, इसमें निमहान्स बैंगलोर के प्रसिद्ध विशेषज्ञों द्वारा जिले के उन चिकित्सकों और सलाहकारों को प्रशिक्षित किया गया है, जो अपनी इच्छा से इस अभियान में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने सामने आए। इस आशय की जानकारी नवजीवन प्रशिक्षण श्रृंखला में कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने दी। वे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य वर्ग को प्रेरक शिक्षक के रूप में उनके क्षेत्र में हो रही आत्महत्याओं को रोकने इस अभियान की महत्ता बता रहे थे। कलेक्टर श्री जैन ने अभियान के उद्देश्य, लक्ष्य अब तक कि कार्रवाई सहित तनाव प्रबंधन के लिए मुहैया कराई जा रही निशुल्क सुविधाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही अभियान में स्व-स्फूर्त होकर दिल से सहयोग करने की अपील की। इस अवसर पर शासकीय सामाजिक कार्यकर्ता एवं सलाहकार असीम श्रीवास्तव ने आत्महत्या को लेकर जिले की स्थिति और अभियान अंतर्गत नैतिक दायित्वों पर प्रकाश डाला। निमहान्स बैंगलोर से प्रशिक्षित राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ.छत्रपाल चंद्राकर ने जीवन में तनाव का महत्व समझाया फिर, सहन सीमा से बढऩे और प्रबंधन न करने के कारण हो रही आत्महत्याओं के कारणों के बारे में विस्तार से समझाया। साथ ही अंतिम चरण में खेल के माध्यम से तनाव प्रबंधन के गुण सिखाए। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को यह कार्यशाला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सिद्धेश्वर प्रसाद वारे एवं सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक डॉ.आरके परदल के निर्देशन और जिला कार्यक्रम प्रबंधक एवं नोडल अधिकारी नवजीवन संदीप ताम्रकार के मार्गदर्शन में जिला पंचायत भवन में संचालित हुई, जिसमें 129 प्राचार्यों ने भाग लिया। कार्यशाला में योग प्रशिक्षक देव कुमार डडसेना का योगदान सराहनीय रहा। इस मौके पर कलेक्टर श्री जैन ने प्राचार्यों से कहा कि 10 सितंबर को आत्महत्या निवारण दिवस है। इस दिन पंचायत में जाकर जनप्रतिनिधियों, सखा-सखी व जनसामान्य से नवजीवन एवं आत्महत्या रोकथाम के विषय में चर्चा अवश्य करें। सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक डॉ.आरके परदल ने प्राचार्यों से रोल मॉडल बन कर बच्चों के समक्ष आदर्श प्रस्तुत करने की बात कही। साथ ही 13 से 19 वर्ष की संवेदनशील आयु वर्ग के बच्चों पर विशेष ध्यान देते हुए उन्हें अच्छा, ईमानदार एवं स्वस्थ नागरिक बनाने का लक्ष्य दिया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सिध्देश्वर प्रसाद वारे ने प्राचार्यों से टीम वर्क का महत्व बतलाते हुए अभियान में सभी को साथ लेकर चलने के लिए पथ प्रदर्शक की भूमिका में शामिल होने की अपील की। 

रवि विधानी की रिपोर्ट

 

23-07-2019
केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह की दो टूक, पुलिस बंद करे खूनी खेल वरना भाजपा करेगी जन आंदोलन   

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के सरगुजा संभाग मुख्यालय अंबिकापुर में युवक की साइबर सेल द्वारा की गई हत्या और उसे आत्महत्या बता मामले को दबाने के हो रहे प्रयासों के मध्य केंद्रीय राज्यमंत्री एवं सरगुजा सांसद रेणुका सिंह ने एक बयान जारी कर मामले की निष्पक्ष न्यायिक जांच की मांग करते हुए सरगुजा पुलिस और राज्य सरकार को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार और छत्तीसगढ़ पुलिस अपने इस खूनी खेल पर अंकुश लगाएं वरना भाजपा प्रदेशभर में जन आंदोलन करने के लिए बाध्य होगी उन्होंने कहा कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई है तब से पुलिस कस्टडी में भोले भाले नागरिकों की मौत के मामले बढ़ गए हैं जो बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। केंद्रीय अनुसूचित कार्य राज्यमंत्री  रेणुका सिंह ने कहा कि एक माह में अनुसूचित वर्ग के दो युवकों की पुलिस हिरासत में मौत ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार और पुलिस प्रशासन का अत्याचार बढ़ गया है। उन्होंने अपने बयान में आरोप लगाया कि सूरजपुर जिले के ग्राम अधिना सलका निवासी पंकज बैक ने आत्महत्या नहीं की बल्कि साइबर सेल और छत्तीसगढ़ पुलिस ने पंकज बैक की हत्या कर उसे फांसी पर लटका दिया। उसे आत्महत्या का रूप देकर आम जनता को गुमराह किया जा रहा है। रेणुका सिंह ने कहा कि एक माह के अंदर सूरजपुर जिले के दो युवकों की पुलिस हिरासत में मौत हुई है। लगभग 1 माह पूर्व चंदौरा पुलिस थाना के बंदीगृह में अजा वर्ग के प्रकाश सारथी की लाश फांसी पर झूलती मिली वही 22 जुलाई को संभाग मुख्यालय अंबिकापुर के साइबर सेल में रखे आदिवासी युवक पंकज बेक की लाश फांसी के फंदे पर झूलती पाई गई।  उन्होंने कहा कि साइबर सेल में सारी सुविधाएं होने के बावजूद उसे शौच के लिए बाहर जाने क्यों दिया गया यह तथ्य कई तरह की शंकाओं को जन्म देता है। केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने मृतक पंकज बैक की मौत पर संवेदना और दुख व्यक्त किया है साथ ही उन्होंने पीडि़त परिजनों को न्याय दिलाने की उद्देश्य से पूरे मामले की निष्पक्ष न्यायिक जांच की मांग की है उन्होंने मृतक के परिजनों को पर्याप्त मुआवजा और आश्रितों को नौकरी देने की भी मांग रखी है।  

संसदीय क्षेत्र में इस तरह की अराजकता नहीं होगी बर्दाश्त
केंद्रीय राज्य मंत्री एवं सरगुजा सांसद रेणुका सिंह ने साइबर सेल की कस्टडी में लाए गए आधिना सलका निवासी पंकज बैक की मौत के संबंध में विस्तृत जानकारी लेने के बाद प्रदेश सरकार और छत्तीसगढ़ पुलिस को कड़े शब्दों में चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि सरगुजा क्षेत्र में प्रशासनिक स्तर पर खेले जा रहे इस तरह के खूनी खेल को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के खूनी खेल पर तत्काल अंकुश लगाया जाए वरना सरगुजा संसदीय क्षेत्र में भाजपा द्वारा व्यापक जनांदोलन किया जाएगा। पंकज बैक मामले में उन्होंने स्पष्ट तौर पर आरोप लगाया कि पुलिस द्वारा पहले उसकी हिरासत में पीट-पीटकर हत्या की गई और बाद में बचने के लिए उसे आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया गया है। इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और दोषी कोई भी हो उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।


 

10-02-2019
मैराथन दौड़ में ज्योति व गेंदलाल ने मारी बाजी

सूरजपुर। ग्रामीण क्षेत्र में खेलों के प्रति जागरुकता के उद्देश्य से रनर्स क्लब की ओर से सूरजपुर मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग 300 धावकों ने हिस्सा लिया। इसमें 10 किमी की दौड़ में पुरुष वर्ग में गेंदलाल बलौदाबाजार व महिला वर्ग में ज्योति सिंह विजेता रहीं।

3 किमी पुरुष वर्ग में सुलेमान खान बिलासपुर प्रथम, पंकज कुमार, रीवा दवितिय व सोहन सिंह भैयाथान तीसरे स्थान पर रहे। महिला वर्ग में राजकुमारी कटनी प्रथम, चंद्रावती राजवाड़े द्वितीय, सविता निषाद राजनंदगांव तृतीय रहीं। 10 किमी दौड़ में तीन विजेताओं को  25 हजार,20 हजार और 15 हजार का पुरस्कार दिया गया। 3 किमी की दौड़ में 10 हजार,5 हजार व तीन हजार का पुरस्कार दिया गया। वही 4 से 10 वे स्थान पर आने वालों को 3-3 हजार तथा 11 से 20 वे स्थान वाले धावकों को ट्रैक शूट प्रदान किया गया। एएसपी  मेघ टेमबुरकर, पीआरए ग्रुप के कन्हैयालाल अग्रवाल व सुनील अग्रवाल के आतिथ्य में पुरस्कार वितरण समारोह हुआ। 

09-01-2019
Paddy: गौरटेक धान खरीदी केंद्र में डंडी मारने का चल रहा खेल

सरायपाली। धान खरीदी केंद्र गौरटेक में किसानों से प्रति क्विंटल लगभग 2 किलो धान डंडी मारने का खेल चल रहा है। इससे किसानों को प्रति क्विंटल 50 रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसका खुलासा आज हुआ। गौरटेक धान खरीदी केंद्र में आज धान तौल में प्रति क्विंटल डेढ़ से 2 किलो अधिक धान किसानों से लिया जा रहा था। किसानों को भी इसकी जानकारी नहीं थी। जब दोबारा तौल कराया गया तब इसका खुलासा हुआ। किसानों ने इसका विरोध किया है। गौरटेक धान उपार्जन केंद्र अंतर्गत कुम्हारी, खुसरूपाली, कर्राभौना, परसकोल, संकरी, पितईपाली एवं गौरटेक आता है। टोकन के लिए पहुंचे किसान भोलानाथ पटेल, लोकनाथ पटेल, कैलाश, लकेश्वर, धरमसाय, सुंदरमणी, घनश्याम नायक, वासुदेव नायक आदि ने बताया कि आज कुम्हारी एवं गौरटेक का ही धान बेचने की पारी है, इसलिए दोनों गांव के किसान टोकन के लिए पहुंचे हुए थे। किसानों ने बताया कि अभी खेत में ही धान है, जिसकी कटाई भी नहीं हुई है।  कुछ किसानों के धान की मिंजाई भी नहीं हुई है। बिना सत्यापन के उनके धान का टोकन किस आधार पर काटा जाएगा यह भी एक सोचनीय बात है। हर वर्ष खरीदी के अंतिम दिवस के सप्ताहभर पूर्व  अंतिम टोकन काटा जाता था, लेकिन इस बार 22 दिन पूर्व टोकन काटा जा रहा है। कुछ किसानों ने टोकन का अंतिम दिवस की सूचना फड़ प्रभारी द्वारा किसानों को नहीं देने की बात कही। इससे दर्जनों किसान धान बेचने से वंचित हो जाएंगे। इस संबंध में पूछे जाने पर प्रभारी फड़ प्रभारी चुड़ामणी नायक ने बताया कि उनके द्वारा अधिक तौल करने के लिए नहीं कहा गया है। स्टेग के नीचे लेयर नहीं लगाने की बात पूछने पर कहा कि भूसी मंगवाई थी लेकिन 1-2 स्टेग में ही भूसी खत्म हो गई। इसलिए अन्य स्टेग के नीचे लेयर नहीं लगाया गया था।

02-01-2019
Sports Minister : खेल मंत्री उमेश पटेल ने तीरंदाजी में आजमाए हाथ

रायगढ़। खेल मंत्री उमेश पटेल ने बुधवार को विभागीय समीक्षा के बाद खेल मैदान पर तीरंदाजी खेल की विधा जानने की इच्छा व्यक्त की। फिर उन्होंने अफसरों के साथ तीरंदाजी में हाथ आजमाए। खेल मंत्री को खेल सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने नेशनल ताइक्वांडो में गोल्ड मैडल जीतने वाली बलरामपुर की प्रांजल की उपलब्धियों के बारे में बताया तो खेल मंत्री ने अपने पीए को तुरंत प्रांजल को फोन लगाने के लिए कहा। उन्होंने प्रांजल को बधाई दी। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने आज साइंस कालेज परिसर स्थित खेल एवं युवा कल्याण विभाग के संचालनालय में आयोजित बैठक में विभागीय गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता खिलाडिय़ो को बेहतर से बेहतर सुविधाएं और प्रशिक्षण प्रदान करने के निर्देश दिए। पटेल ने बिलासपुर में खेल अकादमी प्रारंभ करने, अधिक से अधिक युवाओं को खेलों से जोडऩे के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने 36 वे और 37 वे राष्ट्रीय खेलों की तैयारियों की समीक्षा भी की।

27-12-2018
Dr. Dahariya : जीवन की सफलता और स्वास्थ्य के लिए खेल बेहतर माध्यम : डाॅ. डहरिया

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मंत्रीद्वय डाॅ. शिवकुमार डहरिया और कवासी लखमा ने आज यहां अटल नगर के इन्द्रावती भवन गेट नं.-3 के सामने स्थित मैदान में दस दिनों तक चलने वाली शासकीय विभागीय कर्मचारी संघ क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। यह प्रतियोगिता शासकीय संचालनालयीन (विभागाध्यक्ष) कर्मचारी संघ इन्द्रावती भवन द्वारा आयोजित की गई है। शुभारंभ अवसर पर मंत्री डाॅ. डहरिया और श्री लखमा ने बेटिंग और विधायक अमरजीत सिंह भगत ने बाॅलिंग की। 

मंत्री डाॅ. शिवकुमार डहरिया ने शुभारंभ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोई भी खेल मानव जीवन के लिए लाभदायी होता है। इससे स्वास्थ्य के साथ ही मानसिक विकास भी तेजी से बढ़ता है। उन्होंने कहा कि ऐसा आयोजन जीवन की सफलता और प्रतियोगिता के लिए एक बेहतर अवसर प्रदान करता है। इससे आपसी भाईचारा और सांमजस्य की भावना भी बनी रहती है। डाॅ. डहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में तेजी से राज्य का विकास होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारियों और अधिकारियों के हित में हमेशा काम करते रहेगी। मंत्री द्वय ने इस दस दिवसीय क्रिकेट प्रतियोगिता में होने वाले खर्च का आधा हिस्सा राज्य सरकार द्वारा वहन करने की पहल की। 

मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि खेल में मिली जीत व्यक्ति को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाती है। खिलाड़ी की पहचान हमेशा देश-दुनिया में बनी रहती है। उन्होंने कहा कि एक बड़ा व्यक्ति जब देश-विदेश भ्रमण करने जाते हैं तो उन्हें उनके परिवार या उनके पहचान वाले ही देखते हैं, लेकिन जब एक खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर खेलने जाते हैं, तो उन्हें पूरी दुनिया देखती है। कार्यक्रम को सीतापुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक अमरजीत भगत ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर क्रिकेट प्रतियोगिता समिति के अध्यक्ष संतोष वर्मा सहित संचालनालयीन कर्मचारी-अधिकारी और खिलाड़ी बड़ी संख्या में मौजूद थे। 

शासकीय कर्मचारी संघ द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार के रूप में सात हजार रूपए, द्वितीय पुरस्कार के रूप में पांच हजार रूपए प्रदान किया जाएगा। इसके साथ ही बेस्ट बालर, बैट्समेन, मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ दी सीरिज आदि पुरस्कार भी दिए जाएंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804