GLIBS
19-03-2020
जनपद पंचायत डभरा में हुआ सरपंच संघ का चुनाव, नेतराम पटेल बने अध्यक्ष

जांजगीर-चांपा। चंद्रपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत जनपद पंचायत डभरा के सरपंच संघ का चुनाव सभाकक्ष में आयोजित किया गया। जिसमें जनपद पंचायत डभरा क्षेत्र के 86 सरपंच उपस्थित रहे। निर्वाचन अधिकारी के रूप में तोमेश्वर चंद्रा सचिव संघ के अध्यक्ष ने चुनाव कराया। सरपंच संघ के अध्यक्ष पद पर नेतराम पटेल को, उपाध्यक्ष पद पर जगजीवन खुटे सरपंच बरतुंगा एवं अशोक कुमार कुर्रे ग्राम पंचायत चुरतेली को, सचिव व कोषाध्यक्ष पद पर घासीराम कर्ष निर्विरोध निर्वाचित किया गया। 

25-02-2020
चुनाव चले गए लेकिन हार का मलाल ऐसा हावी रहा कि हत्या ही कर दी हारे हुए प्रत्याशी के भाई ने

जांजगीर-चाम्पा। अकलतरा थाना क्षेत्र के साजापाली गांव में उपसरपंच पद पर भाई की हार को युवक नही पचा पाया। भाई की हार से गुस्साए युवक ने गांव के एक शख्स की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। दरअसल, साजापाली गांव में उपसरपंच का चुनाव हुआ। इसमें उपसरपंच पद पर रज्जू भारद्वाज की हार हो गई। इस बात से रज्जू का भाई आस्तिक भारद्वाज नाराज हो गया और हार के लिए गांव के किशोर उपाध्याय को जिम्मेदार ठहराया। रात के वक्त किशोर उपाध्याय बाइक से लौट रहा था। इसी बीच गांव के चौक के पास घात लगाए बैठा आस्तिक भारद्वाज ने किशोर उपाध्याय पर कुल्हाड़ी से वार किया, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक पुरूल माथुर ने बताया कि चुनावी रंजिश से मर्डर की बात सामने आई है। मामले में मृतक के परिजन, प्रत्यक्षदर्शी का बयान लेकर सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। आरोपी आस्तिक भारद्वाज को हिरासत में ले लिया गया है। 

 

25-02-2020
अप्रैल में खाली हो रही 55 राज्यसभा सीटों के लिए 26 मार्च को होंगे चुनाव, भाजपा रहेगी बहुमत से दूर

नई दिल्ली। राज्यसभा की अप्रैल में रिक्त हो रही 55 सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होगा। चुनाव आयोग ने मंगलवार को यह घोषणा की। आयोग ने कहा कि राज्यसभा में 17 राज्यों की ये सीटें अप्रैल में रिक्त हो रही हैं। 55 सीटों में सर्वाधिक सात महाराष्ट्र से, छह तमिलनाडू, पांच-पांच सीटें पश्चिम बंगाल और बिहार से, चार-चार सीटें गुजरात और आंध्र प्रदेश से तथा तीन-तीन सीटें राजस्थान, ओडिशा और मध्यप्रदेश से शामिल हैं। राज्यसभा से इस साल जिन प्रमुख नेताओं का कार्यकाल पूरा हो रहा है, उनमें केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, रामदास आठवले, दिल्ली भाजपा नेता विजय गोयल, कांग्रेस के दिग्विजय सिंह और एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार भी शामिल हैं।

फिलहाल भाजपानीत एनडीए और अन्य मित्रदलों की सदस्य संख्या राज्यसभा में 106 और अकेली भाजपा की 82 है। जबकि 245 सदस्यीय राज्यसभा में बहुमत के लिए 123 सदस्यों की आवश्यकता होती है। गौरतलब है कि 2018 और 2019 में भाजपा को कुछ राज्यों में हार का सामना करना पड़ा है, जिसका सीधा असर राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव परिणाम पर पड़ना स्वाभाविक ही है। दूसरी तरफ, कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों की स्थिति 245 सदस्यीय राज्यसभा में सुधरेगी। इस समय भाजपा के राज्यसभा में 83, और कांग्रेस के 45 सदस्य हैं। समीकरण के हिसाब से राज्यसभा में भाजपा की संख्या 83 के आसपास बनी रहेगी और सदन में बहुमत की उसकी आस फिलहाल पूरी नहीं हो पाएगी। जबकि छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड और महाराष्ट्र की सत्ता में आने के बाद कांग्रेस को राज्यसभा में अपनी कुछ सीटें बढ़ाने का मौका मिलेगा।

 

23-02-2020
राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में देखना चाहता है पार्टी का एक बड़ा वर्ग : सलमान खुर्शीद  

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि राहुल गांधी अब भी पार्टी के ‘शीर्ष नेता’ हैं और पार्टी में एक बड़ा वर्ग उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर देखना चाहता है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मौजूदा समय में कांग्रेस परिवर्तन काल से गुजर रही है, लेकिन पार्टी में नेतृत्व को लेकर कोई संकट नहीं है। उनका यह बयान ऐसे समय आया है, जब नेतृत्व के मुद्दे पर पार्टी में कुछ नेताओं ने सवाल उठाए हैं। हाल ही में शशि थरूर ने कांग्रेस कार्यसमिति से नेतृत्व तय करने को चुनाव कराने की मांग की थी। वहीं संदीप दीक्षित ने भी नेतृत्व पर जल्द फैसला करने की मांग की थी।

दोनों नेताओं के बारे में खुर्शीद ने कहा, अतीत में हम चुनाव करा चुके हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो मानते हैं कि चुनाव कराना सही नहीं है। यहां दो नजरिये हैं। ऐसे मुद्दे को मीडिया में उछालने से कांग्रेस को कोई फायदा नहीं होगा। राहुल गांधी के बारे में पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा कि राहुल अब भी पार्टी के शीर्ष नेता हैं। लेकिन अगर हम उन्हें अपने नेता के तौर पर स्वीकारते हैं तो हमने उन्हें फैसला लेने को लेकर स्वतंत्रता देनी होगी। हम क्यों उन पर अपने विचारों को थोपना चाहते हैं।

 

19-02-2020
कन्हैया कुमार पर राजद्रोह के मुकदमे पर दिल्ली पुलिस ने कहा, अब तक मंजूरी नहीं मिली

नई दिल्ली। जेएनयू के छात्रनेता व बेगूसराय से विधानसभा चुनाव लड़ चुके कन्हैया कुमार पर राजद्रोह का मुकदमा चलाने को लेकर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि उन्हें अभी तक मंजूरी नहीं मिल पायी है। जिसके कारण कन्हैया कुमार के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा चलाने में वे समर्थ नहीं है। पुलिस ने आज दिल्ली की एक कोर्ट को बताया कि जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार व अन्य छात्रों के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए आवश्यक मंजूरी अभी तक नहीं मिल पायी है। जिसके बाद दिल्ली की अदालत ने राज्य सरकार को 3 अप्रैल तक स्थिति स्पष्ट कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है। कोर्ट ने पुलिस को दिल्ली सरकार से फिर से मंजूरी लेने को कहा है।

मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट (सीएमएम) पुरुषोत्तम पाठक ने दिल्ली पुलिस को यह निर्देश भी दिया कि दिल्ली सरकार को कुमार पर अभियोजन के लिए जरूरी मंजूरी के बारे में याद दिलाया जाए। पुलिस ने कन्हैया कुमार और जेएनयू के पूर्व छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत अन्य लोगों के खिलाफ अदालत में 14 जनवरी को आरोप पत्र दाखिल किया और कहा था कि उन्होंने 9 फरवरी, 2016 को परिसर में एक समारोह में लगाए गए देशद्रोह के नारों का समर्थन किया और जुलूस निकाला था।


 

19-02-2020
राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की बैठक आज, जल्द होगा मंदिर निर्माण

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। रामलला के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए गर्भगृह को खाली करना होगा। बहुत जल्द रामलला को अपने स्थान से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर मानस मंदिर के पास ले जाया जाएगा। आपको बता दें कि मंदिर निर्माण से पहले रामलला को दूसरे मंदिर में शिफ्ट किया जाएगा। इस बीच दिल्ली में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की आज बैठक होगी। इस बैठक में मंदिर निर्माण की तारीख और तौर-तरीकों के साथ-साथ, नए सदस्यों का चुनाव होगा। बता दें कि इस वक्त जहां रामलला विराजमान हैं, वह गर्भगृह है, लेकिन मंदिर निर्माण के लिए उस जगह को खाली करना होगा। बहुत जल्द रामलला को अपने स्थान से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर मानस मंदिर के पास ले जाया जाएगा, जहां अस्थाई तौर पर मंदिर बनाकर तब तक उनकी पूजा-अर्चना होगी। कुछ दिन पहले ही आर्किटेक्ट और इंजीनियरों ने गर्भ गृह के इलाके का दौरा किया था। 

16-02-2020
प्रदेश की दो राज्यसभा सीट होने वाली है खाली, प्रियंका गांधी कर सकती है छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व

रायपुर। राज्यसभा से भाजपा और कांग्रेस समेत कई दलों के 51 सांसदों का कार्यकाल अप्रैल माह में खत्म हो रहा है। राज्यसभा में वर्तमान में 245 सांसद हैं। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को उम्मीद है कि वे इसमें से कई सीटें जीतने में कामयाब रहेंगे। इन दोनों दलों के साथ-साथ तृणमूल कांग्रेस और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को ज्यादा सीट मिलने की संभावना है। राज्यसभा में भाजपा के 82 सांसद हैं। पार्टी को उम्मीद है कि अप्रैल में होनेवाले चुनाव में उसे 13 सीट मिल सकती है। 

छत्तीसगढ़ से राज्यसभा में 5 सदस्य हैं। इनमें से भाजपा के तीन और कांग्रेस के दो सांसद हैं। वहीं छत्तीसगढ़ के दो नेताओं का राज्यसभा सदस्य के रूप में कार्यकाल खत्म होने वाला है। बता दें कि छत्तीसगढ़ राज्यसभा से दो सीट खाली हो रही है। कांग्रेस से मोतीलाल वोरा और भाजपा से रणविजय सिंह का कार्यकाल खत्म होगा। इसी के साथ सुगबुगाहटें शुरू हो गई हैं कि राज्यसभा में दो चहेरे किन नेताओं के होगे। राज्य से इन रिक्त सीटों के लिए कई दावेदार हैं। ऐसी अटकलें लगाई जा रही है कि प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला के नाम चर्चा में हैं। इन सीटों पर चुनाव होने से दोनों दलों भाजपा और कांग्रेस को फायदा हो सकता है।

15-02-2020
जांजगीर जिला पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा

जांजगीर-चांपा। जांजगीर-चांपा के जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के प्रतिष्ठा पूर्ण चुनाव में कांग्रेस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। यहां अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई है। अध्यक्ष पद पर यनीता चंद्रा और उपाध्यक्ष पद पर राघवेंद्र प्रताप सिंह जीते हैं। इस तरीके से जिले के जनपदों में अपना वर्चस्व स्थापित करने के बाद एक बार फिर जिला पंचायत में भी कांग्रेस का कब्जा हो गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर गहमागहमी की स्थिति थी क्योंकि जिला पंचायत के सदस्यों को जिले से बाहर भेजा गया था। 25 सदस्यी जिला पंचायत में कांग्रेस समर्थित 14 उम्मीदवार विजयी हुए थे। जबकि 8 भाजपा समर्थित उम्मीदवार जीते थे। वहीं तीन अन्य उम्मीदवार विजयी हुए थे।

अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेस और भाजपा में सीधा मुकाबला था और सुबह जब बस में सभी सदस्यों को लेकर जिला पंचायत मुख्यालय वोटिंग के लिए पहुंचे तो बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ मौजूद थी। दोपहर में वोटिंग के बाद अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा को 17 वोट मिले, जबकि भाजपा के टिकेश्वर गवेल को 8 मत प्राप्त हुए। इस तरीके से कांग्रेस प्रत्याशी यनीता चंद्रा ने 9 वोटों से जीत हासिल की। जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के राघवेंद्र प्रताप सिंह को 15 मत मिले तो वहीं भाजपा के गगन जयपुरिया को 10 मत मिले। इस तरह से उपाध्यक्ष पद पर भी 5 मतों के अंतर से कांग्रेस ने जीत दर्ज कर ली। जीत के बाद अध्यक्ष यनीता चंद्रा ने बताया कि शिक्षा स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार उनकी पहली प्राथमिकता होगी। वहीं उपाध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह ने राज्य की कांग्रेस सरकार की योजनाओं का लाभ आम जनता को दिलाने और राज्य सरकार की कार्ययोजना पर काम करने की बात कही।

14-02-2020
कांग्रेस की यनिता चंद्रा बनीं जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष बने राघवेंद्र प्रताप सिंह

जांजगीर चम्पा। जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव शुक्रवार को कराया गया। वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस से यनिता यशवंत चंद्रा और टिकेश्वर सिंह गबेल नाम दिए गए। वहीं मतदान की प्रक्रिया पूरी होने पर कांग्रेस समर्थित यनिता यशवंत चंद्रा ने जीत दर्ज की। बता दें कि कांग्रेस को कुल 17 मत मिले। वहीं उनके प्रतिद्वंद्वी टिकेश्वर सिंह गबेल को 8 वोटों से ही संतुष्ट होना पड़ा। वहीं उपाध्यक्ष पद के लिए  2 नाम निर्देशन पत्र राघवेंद्र प्रताप सिंह और गगन जयपुरिया ने भरे। राघवेंद्र प्रताप सिंह को 15 और गगन जयपुरिया को 10 वोट मिले।  

 

14-02-2020
कवासी लखमा के बेटे निर्विरोध चुने गए सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष  

सुकमा। प्रदेश के उद्योग मंत्री कवासी लखमा के बेटे ने सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया है। हरीश कवासी निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए हैं। सुकमा के दो जनपद और जिला पंचायत पर कांग्रेस का कब्जा हो चुका है। इस तरह विधानसभा चुनाव में बस्तर में कांग्रेस के परचम लहराने के बाद पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस ने अपना कब्जा बरकरार रखा है।

14-02-2020
कांग्रेस प्रत्याशी उषा पटेल की जीत लगभग तय

महासमुन्द। जिला पंचायत में अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया प्रारम्भ, भाजपा कांग्रेस से एक-एक प्रत्याशी मैदान में। कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में उषा पटेल और भाजपा से अलका नरेश चन्द्राकर ने अपना नामांकन दाखिल किया है। 1 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी। सूत्रों की माने तो महासमुन्द में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में मात्र औपचारिक रह गई। कांग्रेस की उषा पटेल की जीत की मात्रा घोषणा अधिक्रित रूप से बाकी है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804