GLIBS
01-07-2020
एलओसी के पास घुसपैठ की कोशिश, सेना के जवानों ने किया एक आतंकवादी को ढेर

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में राजौरी जिले के केरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सेना के जवानों ने बुधवार को पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को ढेर कर दिया।रक्षा प्रवक्ता ने यहां बताया कि बुधवार को आतंकवादियों के एक समूह ने नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय क्षेत्र में घुसते हुए गोलीबारी की। आतंकवादियों को नियंत्रण रेखा पार करते हुए देख भारतीय सेना के सतर्क जवानों ने घुसपैठ को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया।उन्होंने कहा कि मौके से एक एके-47 और दो मैगजीन बरामद की गई है तथा इलाके में तलाश अभियान जारी है।

 

30-06-2020
जम्मू-कश्मीर में फिर हिली धरती, रिक्टर स्केल 4.0 की रही तीव्रता...सहम उठे लोग

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। प्रदेश के किश्तवाड़ जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर 4.0 की तीव्रता पर धरती हिली है। भूकंप का केंद्र कटरा के 84 किलोमीटर दूर में बताया जा रहा है। इस बात की जानकारी नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने दी है। भूंकप के झटके से लोग सहम उठे और घरों से बाहर निकल आए। हालांकि अभी तक किसी भी प्रकार के नुकसान की कोई खबर नहीं है। इससे पहले बीते दिनों 24 घंटे में तीन बार भूकंप आने से लोगों में भय का माहौल बन गया था। 14 से 16 जून के बीच जम्मू-कश्मीर की धरती भूकंप के कारण हिली थी। हालांकि अब तक किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है। 16 जून के आए भूकंप का केंद्र भी कटरा से 85 किलोमीटर पूर्व में था और तीव्रता 3.9 मापी गई।

29-06-2020
जम्मू-कश्मीर : आतंकियों से मुक्त हुआ डोडा जिला, अनंतनाग में तीन आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की शामत आ चुकी है। त्राल के बाद डोडा डिस्ट्रिक्ट को सुरक्षाबलों ने आतंकियों से मुक्त कर दिया है। कश्मीर में आतंक का गढ़ माने जाने वाले त्राल सेक्टर के बाद अब भारतीय सुरक्षाबलों को डोडा जिले में बड़ी कामयाबी हासिल की है। सोमवार को सुरक्षाबलों ने अनंतनाग जिले के खुलचोहर में सोमवार तड़के हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को ढेर कर दिया, जिसमें एक कमांडर भी शामिल है। सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त अभियान में इन आतंकवादियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एके राइफल और दो पिस्तौल बरामद हुई है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के कमांडर मसूद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है, जिसके बाद से डोडा पूरी तरह से 'आतंकवादी मुक्त' जिला बन गया है

सिंह ने कहा ने कहा कि स्थानीय आरआर यूनिट के साथ पुलिस ने अनंतनाग के खुलचोहर क्षेत्र में आज के ऑपरेशन को अंजाम दिया। इसमें एक जिला कमांडर और एक एचएम कमांडर मसूद सहित 2 लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को ढेर कर दिया और जम्मू का डोडा जिला पूरी तरह से एक बार फिर से आतंकवाद मुक्त हो गया। डीजीपी ने कहा कि डोडा जिले का रहने वाला मसूद बलात्कार के मामले में आरोपी था और वह तब से फरार चल रहा था। वह बाद में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था और ऑपरेशन के क्षेत्र को कश्मीर में स्थानांतरित कर दिया था। 

इससे पहले त्राल को किया था आतंक मुक्त :

जम्मू-कश्मीर के त्राल क्षेत्र से सुरक्षाबलों ने 26 जून को एक ऑपरेशन में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आंतवादियों को ढेर कर दिया था। कश्मीर पुलिस के आईजीपी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि त्राल क्षेत्र से हिजबुल मुजाहिदीन के आंतवादियों का खात्मा हो गया और 1989 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है।

26-06-2020
पुलवामा के त्राल में हिजबुल के टॉप कमांडर सहित तीन आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्‍मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने अब पुलवामा के त्राल इलाके में एक मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया है। सूत्रों के मुताबिक मुठभेड़ में हिजबुल के टॉप कमांडर कासिम शाह उर्फ जुगनू का भी खात्मा हो गया है। मोहम्मद कासिम शाह उर्फ जुगनू के साथ ही बासित अहमद पारे और हारिस मंजूर भट को भी मार गिराया गया है। हालांकि इस बात की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। बता दें कि सुरक्षाबलों को गुरुवार को पुलवामा जिले के त्राल के चेवा उल्लर इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसी सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान आतंकियों ने खुद को घिरा देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। जवाबी कार्रवाई करने से पहले जवानों ने आतंकियों से समर्पण करने के लिए कहा। बावजूद इसके आतंकियों की ओर से फायरिंग जारी रही। इसके बाद सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाला।

हालांकि रात में अंधेरा होने के कारण ऑपरेशन रोक दिया गया था। सुबह एक बार फिर से मुठभेड़ शुरू हुई। इस दौरान सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने तीन आतंकियों को मार गिराया। वहीं दो जवानों के घायल होने की भी सूचना है। इससे पहले गुरुवार की सुबह सोपोर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो दहशतगर्द ढेर कर दिए गए थे। सेना की 22-आरआर, पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने इस ऑपरेशन को अंजाम अंजाम दिया था। इसी के साथ इस साल अबतक 110 आतंकियों का सफाया हो चुका है। वहीं, इस महीने सबसे अधिक 35 आतंकी मारे गए हैं।

23-06-2020
भाजपा अखंड भारत में लोकतंत्र की रक्षा के लिए डॉ. मुखर्जी के बलिदान को नमन करती है : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनसंघ (भारतीय जनता पार्टी) के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी को आज उनके बलिदान दिवस पर शारदा चौक स्थित प्रतिमा-स्थल पर भाजपा रायपुर जिला द्वारा माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष व संसद सदस्य सांसद सुनील सोनी ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 व अनुच्छेद 35-ए हटाकर डॉ. मुखर्जी को सच्ची श्रद्धांजलि दी है। बाद में भाजपा कार्यालय ‘एकात्म परिसर’ में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा कि  नेहरू सरकार द्वारा जनता के हितों की अनदेखी किये जाने के विरोध में डॉ.मुखर्जी ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। आज जो ये हम भाजपा नाम का विशाल वटवृक्ष देख रहे, उसकी नींव भारतीय जनसंघ के नाम से डॉ. मुखर्जी ने ही रखी। कश्मीर में आवागमन के लिए परमिट की आवश्यकता के विरोध में उन्होंने आंदोलन किया। सांसद होते हुए भी उन्हें कश्मीर प्रवेश पर गिरफ्तार किया गया,जहाँ संदिग्ध परिस्थितियों में उनकी मृत्यु हुई। भाजपा अखंड भारत में लोकतंत्र की रक्षा के लिए उनके बलिदान को आज नमन करती है।
भाजपा शहर जिला अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने कहा कि ‘एक देश में दो विधान-दो निशान-दो प्रधान’ की व्यवस्था के ख़िलाफ़ बलिदान देने वाले डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी का सपना आज साकार हो गया है। आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक है और इस देश की अखण्डता के लिए कार्य करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने, पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी व पूर्व निगम सभापति संजय श्रीवास्तव, मोतीलाल साहू, जिला महामंत्री श्यामसुंदर अग्रवाल, जयंती पटेल, सूर्यकान्त राठौर, डॉ. सलीम राज, भाजपा कार्यालय मंत्री अकबर अली व अनुराग अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

 

23-06-2020
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक सीआरपीएफ जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षाबल ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के बुंडजू में मंगलवार सुबह घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया। वहीं आतंकियों के पास से दो एके- 47 बरामद हुई हैं। इस ऑपरेशन को सेना की 55-राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम अंजाम दे रही है। उन्होंने बताया कि इस दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी की और यह अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गए। मुठभेड़ अब भी जारी है। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान भी शहीद हो गया।

रविवार को श्रीनगर में सुरक्षाबलों ने मारे थे तीन आतंकी :

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सुरक्षाबलों के साथ रविवार को हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये थे। एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि शहर के जूनिमार इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबल इलाके में आतंकवादियों की तलाश कर रहे थे, तभी आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चला दीं। उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस के बार-बार प्रयास के बाद भी आतंकवादियों के परिवार के सदस्य उन्हें आत्मसमर्पण के लिए मनाने में विफल रहे। बता दें कि सुरक्षाबलों की ओर से लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन और मिल रही सफलता से आतंकी संगठन बौखलाए हुए हैं। लोगों में दहशत पैदा करने के लिए आतंकवादी इस तरह की गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं। वहीं सेना आतंकियों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

22-06-2020
एलओसी पर पाकिस्तान की अंधाधुंध फायरिंग में भारतीय सेना का एक जवान शहीद

श्रीनगर। कोरोना काल में भी पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। एक बार जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया। दरअसल एलओसी के निकट पाकिस्तान ने अंधाधुंध फायरिंग की। इस फायरिंग में सेना का एक जवान शहीद हो गया। जम्मू-कश्मीर की कृष्णा घाटी और नौशेरा में पाकिस्तान ने सुबह करीब 3.30 बजे संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसके बाद पाकिस्तान ने फिर सुबह करीब 5.30 बजे नौशेरा सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है। इस फायरिंग में भारतीय सेना के हवलदार दीपक कार्की शहीद हो गए हैं। एलओसी पर 5 जून के बाद से अब तक चार जवान शहीद हो गए हैं।

पाकिस्तान ने पुंछ और राजौरी जिले के कई सेक्टरों में आज संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। डिफेंस प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान ने एलओसी से लगे कृष्णा घाटी सेक्टर में मोर्टार और छोटे हथियारों से गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। जिसका भारतीय सेना ने भी जवाब दिया है। इससे पहले हवलदार पी माथियाजगन 4 जून को राजौरी में पाकिस्तानी फायरिंग में शहीद हो गए थे। इस तरह की फायरिंग में 10 जून को तारकुंदी सेक्टर में नायक गुरचरण सिंह शहीद हुए थे। वहीं 14 जून को 29 वर्षयी सिपाही लुंगाबू अबोनमी भी पुंछ जिले में पाकिस्तान की फायरिंग में शहीद हो गए थे। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान ने शनिवार को उड़ी सेक्टर में भी एलओसी के पास फायरिंग की थी, जिसमें पांच नागरिक घायल हो गए। इसके बाद फिर राजौरी सेक्टर में संघर्ष विराम उल्लंघन किया। पाकिस्तान ने राजौरी जिले के नौशेरा में शनिवार की शाम करीब 6.45 बजे भी संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। इस साल पाकिस्तानी सेना ने अब तक करीब 1400 से अधिक बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। पिछले साल पाकिस्तान ने 3168 बार और 2 भारत चीन सीमा पर जारी संघर्ष के बीच जम्मू-कश्मीर में एलओसी के निकट पाकिस्तान ने अंधाधुंध फायरिंग की018 में 1629 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था।

21-06-2020
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, तीन आंतकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच रविवार को मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए हैं। अधिकारी ने बताया कि प्राधिकारियों ने शहर में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं एहतियातन निलंबित कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि शहर के व्यावसायिक क्षेत्रों के अधिकतर हिस्सों में लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस ऑपरेशन को सीआरपीएफ(क्विक एक्शन टीम), सीआरपीएफ की 115वीं व 28वीं बटालियन और जम्मू-कश्मीर पुलिस अंजाम दिया। मारे गए आतंकियों की शिनाख्त की जा रही है साथ ही इलाके में अभी तलाशी अभियान चल रहा है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शहर के जूनिमार इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षा बलों ने रविवार सुबह इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल इलाके में आतंकवादियों की तलाश कर रहे थे, तभी आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चला दीं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में तीनो आतंकवादियों को मार गिराया। बता दें कि एक महीने में श्रीनगर में यह दूसरा एनकाउंटर है। मई में सुरक्षाबलों ने श्रीनगर के नवा कदल इलाके में एक घंटे तक चली गोलीबारी के बाद एक कश्मीरी अलगाववादी नेता के बेटे सहित हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकवादियों को मार गिराया था। 19 मई को नवा कदल इलाके में 12 घंटे तक सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चली मुठभेड़ में एक दर्जन से अधिक घर भी क्षतिग्रस्त हो गए थे।

20-06-2020
बीएसएफ के जवानों ने मार गिराया पाकिस्तानी ड्रोन, भारतीय सीमा में घुसकर कर रहा था जासूसी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में स्थित पनसार में सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी जासूसी ड्रोन को गोली मारकर गिरा दिया है। अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ के एक गश्ती दल ने सुबह करीब 5 बजकर 10 मिनट पर सीमा चौकी पंसार के क्षेत्र में आसमान में एक ड्रोन को मंडराते देखा। फिर बीएसएफ जवानों ने 9 गोलियां चलाकर ड्रोन को भारतीय क्षेत्र में 250 मीटर अंदर की ओर मार गिराया। वहीं ड्रोन को गिराए जाने के बाद जब इसकी जांच की गई तो इसमें से कुछ हथियार भी बरामद हुए हैं। पाकिस्तान अपनी घिनौनी साजिशें चलने से बाज नहीं आ रहा है। उसने ये ड्रोन भारतीय सीमा में रेकी करने के मकसद से भेजा था। ऐसा माना जा रहा है कि ये ड्रोन पाकिस्तान ने बीएसएफ की तैनाती पर नजर रखने के लिए भेजा, ताकि आतंकियों की घुसपैठ हो सके।

19-06-2020
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने ढेर किए 8 आतंकी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटों के दौरान दो अलग-अलग गोलीबारी में आठ आतंकवादी मारे गए। पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में तीन आतंकवादी मारे गए, जबकि पांच अन्य शोपियां जिले में मारे गए। जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा क्षेत्र के मिज गांव में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में गुरुवार को एक आतंकवादी मारा था। इसके बाद दो अन्य आतंकवादियों ने गांव की एक मस्जिद के भीतर शरण ली थी। इस दाैरान विजय कुमार, आईजीपी (कश्मीर) ने कहा कि हमारे सुरक्षाबलों ने बेहद सक्रियता से माेर्चा संभाला। शोपियां जिले के बांदपावा गांव में चार आतंकवादी शुक्रवार को और एक आंतकी गुरुवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। पुलिस ने कहा कि मारे गए आतंकी जेएम और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी थे। इस संबंध में एक सीनियर ऑफिसर का कहना है कि स्थानीय पुलिस, राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस सहित सुरक्षा बलों ने पुलवामा के अवंतीपोरा क्षेत्र और शोपियां जिले के बांदवा गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में विशेष जानकारी प्राप्त करने के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया। रिपोर्ट में कहा गया है कि इन अभियानों के दौरान सुरक्षा बलों को कोई हताहत नहीं हुआ।

18-06-2020
जम्मू-कश्मीर: सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच बृहस्पतिवार को हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा के पम्पोरी इलाके के मीज में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद आज सुबह सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया।उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के सुरक्षाकर्मियों पर गोलीबारी करने के बाद तलाश अभियान मुठभेड़ में बदल गया। सुरक्षा बल के जवानों ने भी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया।अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया और अभियान अब भी जारी है।बता दें कि दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार को हुई मुठभेड़ में भी सुरक्षा बलों ने तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया था. मौके से एक एके राइफल और एक इंसास राइफल बरामद हुई थी।

 

16-06-2020
ट्रेकिंग के दौरान लापता युवक की तलाश के लिए सेना, पुलिस का अभियान शुरू

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के गंदेरबल जिले में ट्रेकिंग के दौरान लापता हुए युवक की तलाश के लिए अभियान शुरू किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पांच युवकों का एक समूह पिछले सप्ताह गंदेरबल जिले के नारनग-गंगाबल झील में ट्रेकिंग के लिए गया था। इन युवकों में ज्यादातर छात्र शामिल थे। उन्होंने बताया कि इनमें से चार युवक ट्रेकिंग के बाद लौट आये थे जबकि श्रीनगर के बेमिना निवासी हिलाल अहमद डार लापता हो गया था। ट्रेकर्स ने पुलिस को बताया कि हिलाल एक कठिन ट्रेक पर नहीं चढ़ सका था,जिसके बाद उसे वापस भेज दिया गया था। जब हिलाल ने ट्रेक पर चढ़ने में असमर्थता व्यक्त की तब उसे घर लौट जाने के लिए कहा गया था। अन्य चार युकवों ने ट्रेकिंग पर गंगाबल पर पहुंच गये थे और दो दिन तक वहां ठहरने के बाद वे श्रीनगर लौट आये। सूत्रों ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्र और घने वन में युवक का पता लगाने के लिए बड़े स्तर पर तलाश अभियान शुरू किया गया है। सेना, पुलिस और स्थानीय लोग अभियान से जुड़े हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक कश्मीर यूनीवर्सिटी के छात्र हिलाल का पता नहीं चल पाया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804