GLIBS
20-05-2020
उपासने के बयान पर अरूण ताम्रकार ने किया पलटवार, कहा- सेवादल पर उंगली उठाने से पहले देखें कौन कितने पानी में है

रायपुर। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम से सेवादल के अस्तित्व पर सवाल किया था। इस पर पलटवार करते हुए सेवादल के प्रदेश मुख्य संगठक अरुण ताम्रकार ने कहा कि कांग्रेस सेवादल ने हमेशा से आपदा पीड़ितों, महामारी, बाढ़ सहित अनेक संकट के समय मैदान पर उतर कर लोगों की सहायता की है। किसी पर उंगली उठाने से पहले देख लेना चाहिए कि कौन कितने पानी में है। इस संकट की घड़ी में जिसके गृहमंत्री सहित अनेक मंत्री छुपे बैठे है वे दूसरों पर उंगली उठाते हुए अच्छे नहीं लगते। अरूण ताम्रकार ने कहा कि आज जब पूरे विश्व मे कोरोना का संकट है उस समय भी जब लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे ऐसे समय मे सेवादल के कार्यकर्ता अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए सभी जरूरतमंद लोगों की सेवा कर रहे हैं।

किसी को राशन, मास्क, सैनिटाइजर यहाँ तक अपने खून को भी दान कर अपनी देशभक्ति और सेवाभाव का परिचय दिया है। प्रदेश के सभी जिलों में सेवादल के सिपाही अपनी अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए जी जान लगाकर जनता की भलाई के लिए जुटी हुई है जब जब सेवादल मैदान में उतरती है तब तब भाजपा के पेट में दर्द होने लगता है। अभी तक पूरे प्रदेश में 73 यूनिट रक्तदान,17500 मास्क, 34 क्विंटल चावल, 5220 लीटर सेनेटाइजर का वितरण कांग्रेस सेवादल की ओर से किया गया है और अभी भी सेवादल के सिपाही अपने कार्यो में लगे है। अभी भी सेवादल के सिपाही रक्तदान करने को तैयार हैं।

10-05-2020
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने की जेल विभाग के काम-काज की समीक्षा

रायपुर। गृह और जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू ने आज अपने रायपुर निवास कार्यालय में जेल विभाग के काम काज की समीक्षा की। उन्होंने जेलों में कोरोना वायरस से संक्रमण के रोकथाम के लिए विभाग द्वारा किये जा रहे प्रयासों के तहत नये बंदियों की स्क्रीनिंग करने के बाद ही पृथक वार्डों में रखने के निर्देश दिये। उन्होंने जेल परिसर में साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन, फिजिकल डिस्टेशिंग का पालन कराए जाने के निर्देश जेल महानिदेशक को दिए। मंत्री साहू ने प्रदेश के जेलों में बंदियों के स्वास्थ्य परीक्षण एवं चिकित्सा सुविधा तुरंत प्रदाय करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में प्रावधानित नवीन मदों के कार्य की प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त करने और निर्माण कार्य अतिशीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए। उन्होंने जेलों में व्यवसायिक कार्यों को बढ़ावा देकर, बंदियों के आय के स्त्रोत बढ़ाने के निर्देश दिए।

बैठक में बताया गया कि राजधानी रायपुर में 600 बदियों की क्षमता के नवीन बैरक का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है। इसके साथ ही दुर्ग एवं बिलासपुर में भी लगभग 1000 कैदी क्षमता के बैरको का निर्माण कार्य चालू माह के अंत तक पूर्ण हो जाएगा। इससे राज्य की जेलों में बंदियों की क्षमता 12 हजार से बढ़कर 13 हजार 600 हो जाएगा। लॉक डाउन अवधि में बंदियों को परिवारजनों से बातचीत कराने के लिए प्रिजन कॉलिग सिस्टम का उपयोग किया जा रहा है। इस समय जेलों में प्रिंटिंग प्रेस, कास्टकला, सिलाई, कपड़ा बुनाई, साबुन निर्माण आदि का कार्य किया जा रहा है। कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए जेलों में मास्क बनाने का कार्य भी प्राथमिकता से किया जा रहा है। बैठक में अतिरिक्त महानिदेशक जेल संजय पिल्ले सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

08-05-2020
9 मई को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए अधिकारियों की बैठक लेंगे गृहमंत्री

रायपुर/बिलासपुर। बिलासपुर जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू 9 मई सुबह साढ़े 11 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के अधिकारियों की बैठक लेंगे। बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम, लाॅकडाउन एवं कानून व्यवस्था की स्थिति तथा अन्य प्रदेशों से आने वाले मजदूरों के क्वारेंटाइन की व्यवस्था,मजदूरों को रोजगार उपलब्धता की समीक्षा की जाएगी।

 

29-04-2020
राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और राहुल गांधी ने इरफान खान के निधन पर जताया शोक, कहा-प्रतिभा सम्पन्न कलाकार थे

नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफान खान ने 54 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इरफान खान के निधन पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'विख्यात अभिनेता इरफान खान के असामयिक निधन से गहरा दुःख हुआ। वे दुर्लभ प्रतिभा-सम्पन्न कलाकार थे, उनकी विविध भूमिकाओं की छाप सदैव हमारे दिलों में अंकित रहेगी। उनका निधन, सिने-जगत व अनगिनत प्रशंसको के लिए अपूरणीय क्षति है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनेता इरफान खान के निधन पर शोक जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, इरफान खान का निधन सिनेमा और रंगमंच की दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। उन्हें विभिन्न माध्यमों में उनके बहुमुखी प्रदर्शन के लिए याद किया जाएगा। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के साथ हैं।

उनकी आत्मा को शांति मिले।गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर इरफान खान के लिए शोक जताया है। अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा है,''इरफान खान के निधन की दुखद खबर से सब दुखी हैं। वह एक बहुमुखी अभिनेता थे, जिनकी कला ने वैश्विक ख्याति और पहचान अर्जित की थी। इरफान हमारे फिल्मी जगत के लिए एक संपत्ति थे। राष्ट्र ने आज एक असाधारण अभिनेता और एक विनम्र शख्स को खो दिया है।कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इरफान खान के निधन पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘इरफान खान के निधन की खबर सुन काफी दुख हुआ। वह एक शानदार अभिनेता थे, जो वैश्विक स्तर पर भारत के ब्रांड एंबेसडर थे। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।

17-04-2020
गृहमंत्री ने आईजी-एसपी से लॉक डाउन की तैयारियों की जानकारी ली, दिए निर्देश...

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने प्रदेश के सभी रेंज के आईजी और एसपी से फोन पर लॉक डाउन के दौरान चल रही गतिविधियों के संबंध में जानकारी ली। गृहमंत्री ने लॉक डाउन का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए हैं। गृहमंत्री ने आला अधिकारियों से कहा कि आवश्यक वस्तुओं जैसे दूध, सब्जी, राशन, दवाईयां आदि की आपूर्ति पर नजर रखी जाए। इन आवश्यक वस्तुओं के विक्रम मूल्यों को भी नियंत्रित रखने आकस्मिक जांच भी की जाए। कोई मजदूर भूखा ना रहे इसके लिए शासन की गाइडलाइन का पालन किया जाए। गृहमंत्री ने इस ओर ध्यान आकर्षित किया कि लॉक डाउन बढ़ने पर लोगों की समस्या उत्पन्न हो रही होगी, परन्तु इसी दौरान राहगीरों और सुनसान गलियों में चोरों की संख्या, लूट की वारदात बढ़ने लगी है इस ओर भी पुलिस को ध्यान देना है। प्रदेश में अवैध शराब बिक्री और अन्य शराब दुकनों में चोरी सहित अन्य नशे पर प्रकरण बनाएं और आरोपियों पर कार्रवाई करें।

गृहमंत्री ने कहा कि शहरों के स्लम एरिया और मोहल्लों में अनावश्यक भीड़ होने की सूचना समाचार के माध्यम से प्रकाशित हो रही है और लोग लॉक डाउन का खुले आम उल्लंघन कर रहे हैं, इसे देखते हुए लगातार मॉनिटरिंग की जरूरत है। लॉक डाउन 2.0 लागू होने के बाद मजदूरों को राशन की समस्या ना हो इसका भी ध्यान रखना होगा। वहीं कृषि कार्य और ग्रामीण क्षेत्र के उद्योगों को प्रारम्भ करने के आदेश दिए गए हैं, निगरानी करें और फिजिकल डिस्टेंस का पालन करें। राज्य सरकार की ओर से जिस क्षेत्र में छूट दी गई है वहां फिजिकल डिस्टेंस का पालन कराया जाए। डॉक्टर, नर्स सहित कोविड-19 के इलाज में लगे कर्मचारियों को पर्याप्त सुरक्षा पुलिस की ओर से दी जाए।

02-04-2020
हैदराबाद में डॉक्टर को पीटा, डॉक्टरों ने सुरक्षा न मिलने पर काम बंद की चेतावनी दी, क्या यही मकसद है कुछ लोगों का

रायपुर/हैदराबाद। कोरोना के एक मरीज की मौत के बाद उसी अस्पताल में भर्ती मृतक के रिश्तेदार मरीजों ने डॉक्टर को पीट दिया और अस्पताल में तोड़फोड़ की। इस बात से नाराज डॉक्टरों ने सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने सुरक्षा ना मिलने पर काम बंद कर देने की चेतावनी दी है। इस स्थिति से सारा प्रशासन हिल गया है, मुख्यमंत्री से लेकर गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने भी इस मामले में दखल दिया है। पुलिस के तमाम बड़े अफसर अस्पताल पहुंच गए हैं। मारपीट करने वाले लोगों को तो फिलहाल अस्पताल में अलग-अलग रखा गया है। उनकी गिरफ्तारी कागजों पर कर ली गई है, चूंकि वे अस्पताल में इलाज करा रहे हैं, इसलिए उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है।

फिलहाल अब सवाल यह उठता है कि आखिर डॉक्टरों से मारपीट क्यों की गई? सिर्फ हैदराबाद नहीं इंदौर में भी सैंपल लेने गई जांच टीम पर पथराव किया गया। इसके अलावा देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी कोरोना की जांच का विरोध हुआ है और डॉक्टरों पर हमले हुए हैं। क्या यह कोरोना के खिलाफ बेहद सुनियोजित ढंग से जारी जंग को असफल करने की साजिश नहीं? क्या यह कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को धमकाने की साजिश तो नहीं? क्या ये जांच टीम को जांच से रोकने कि अप्रत्यक्ष धमकी तो नहीं? सारे सवाल कहीं ना कहीं एक षड्यंत्र की ओर इशारा करते हैं, जो देश को स्थिर होता नहीं देख पा रहे हैं। उन्हें अस्थिरता चाहिए। उन्हें देश की मजबूती शायद पसंद नहीं है और संकट की इस घड़ी में जिस तेजी से जिस मजबूती से देश कोरोना के खिलाफ उठ खड़ा हुआ और लड़ रहा है। वह शायद ऐसे तत्वों को पच नहीं रहा है। ऐसे तत्वों के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई किया जाना बहुत जरूरी है अन्यथा कोरोना से ज्यादा गंभीर यह गद्दारी की बीमारी अन्य प्रदेशों में भी फैल सकती है।

23-03-2020
सीएम, गृहमंत्री, उद्योग मंत्री और आंतरिक सुरक्षा सलाहकार ने बंद कमरे में की बैठक

रायपुर। प्रदेश के सुकमा जिले के एलमागुंडा क्षेत्र में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शहीद जवानों को सीएम भूपेश बघेल ने पुलिस लाईन में पहुंचकर श्रद्धांजलि दी। सीएम भूपेश बघेल ने इस दौरान कहा कि जब तक नक्सलवाद ख़त्म नहीं होता सरकार की लड़ाई जारी रहेगी। नक्सलियों को जड़ उखाड़ कर रहेंगे। इस दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा भी मौजूद रहे। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार और डीजीपी डीएम अवस्थी ने भी शहीद जवानों श्रद्धांजलि दी। शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद पुलिस लाइन में मुख्यमंत्री बघेल और आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार ने बंद कमरे में बैठक कर नक्सलियों के खिलाफ रणनीति तैयार की है। सीएम और आंतरिक सुरक्षा सलाहाकार की अहम बैठक के दौरान कमरे में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा भी मौजूद रहे।

22-03-2020
गृहमंत्री 23 मार्च को सुकमा प्रवास पर 

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू 23 मार्च सोमवार को सुकमा जाएंगे। वे सुबह 9 बजे रायपुर से हेलीकॉप्टर से प्रस्थान कर सुकमा पहुचेंगे और कानून व्यवस्था की समीक्षा के बाद दोपहर 12 बजे रायपुर लौटेंगे।
 

24-02-2020
दिल्ली में अशांति की आग किसी दीवार से नहीं छिपा सकते प्रधानमंत्री : भूपेश बघेल

रायपुर। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अहमदाबाद में रोड शो के पूर्व बस्ती को छिपाने बनाई गई दीवार पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तंज कसा है। भूपेश बघेल ने इस दीवार की तुलना दिल्ली में चल रहे सीएए और एनआरसी के विरोध में हो रहे आंदोलन से की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया कि दिल्ली में फैल रही अशांति की आग को किसी दीवार से आप नहीं छिपा सकते गृहमंत्री एवं प्रधानमंत्री जी। "दिल वालों की दिल्ली" को वैमनस्यता की आग में झोंकने को ये देश कभी माफ नहीं करेगा। मेरी सभी अमन पसंद लोगों से अपील है एक साथ मिलकर, हिंदुस्तानी बनकर बांटने वालों को परास्त करें।

31-01-2020
कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर साधा निशाना, कहा- आपकी पार्टी राष्ट्र नहीं है, हम राष्ट्र के साथ हैं

नई दिल्ली। दिल्ली में विधानसभा चुनाव की तारीख करीब आ रही है, साथ ही नेताओं में जुबानी जंग बढ़ गई है। अब कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने गृहमंत्री अमित शाह पर पलटवार किया। सिब्बल ने कहा कि हम राष्ट्र के साथ हैं और आपकी पार्टी राष्ट्र नहीं है। सिब्बल ने ट्वीट कर लिखा कि अमित शाह पूछते हैं कि आप देश के साथ हैं या शाहीन बाग के? हमने फैसला किया है कि हम देश के साथ हैं। हम आपके साथ नहीं हैं। आप केवल सरकार हैं जो लोगों की चिंताओं से दूर है और आपकी पार्टी देश नहीं है। 

बता दें कि 29 जनवरी को अमित शाह ने बिजवासन और नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में भी नुक्कड़ सभा कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि दिल्ली वालों का एक वोट ये तय करेगा कि वो शाहीन बाग के साथ हैं या देश विरोधी ताकतों को जेल भेजने वाली सरकार के साथ। केजरीवाल की पोल खुल जाती है तो कहते हैं कि भाजपा वाले दिल्ली का अपमान कर रहे हैं। कांग्रेस और आप ने देश को गुमराह कर हिंसा भड़काई।

उसी दिन अमित शाह ने नजफगढ़ विधानसभा क्षेत्र में नुक्कड़ सभा के दौरान भी केजरीवाल पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शाहीन बाग में धरने पर बैठ जाना चाहिए। क्योंकि, शाहीन बाग के साथ खड़े होने की बात करने वालों की बात शाहीन बाग के लोग ही सुनेंगे। फिर दिल्ली की जनता उन्हें अपना फैसला सुनाएगी।

23-01-2020
गृहमंत्री 24 जनवरी को नई दिल्ली प्रवास पर

रायपुर। गृह एवं लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू 24 जनवरी शुक्रवार को नई दिल्ली प्रवास पर रहेंगे। वे 23 जनवरी को रात 8.20 बजे रायपुर से विमान से नई दिल्ली जाएंगे और छत्तीसगढ़ सदन में रात्रि विश्राम करेंगे। साहू अगले दिन 24 जनवरी को नई दिल्ली में विभिन्न स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद शाम 6 बजे विमान से प्रस्थान कर 8.30 बजे रायपुर लौटेंगे।

23-12-2019
प.बंगाल : टीएमसी सरकार को नागरिकता संशोधन कानून पर हाईकोर्ट ने दिया झटका

कोलकाता। प.बंगाल की टीएमसी सरकार को नागरिकता संशोधन कानून और नेशनल सिटीजन रजिस्‍टर के मुद्दे पर कोलकाता हाईकोर्ट ने झटका दिया है। हाईकोर्ट ने ममता बनर्जी सरकार को उन सभी विज्ञापनों पर रोक लगाने को कहा है, जिसमें कहा गया था राज्य में एनआरसी और सीएए लागू नहीं किया जाएगा। इस मामले में अगली सुनवाई 9 जनवरी को होगी। बता दें कि प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीएए और एनआरसी का विरोध करती रही हैं। ममता बार-बार यह कहती रही हैं कि वह इसे अपने राज्य में लागू नहीं होने देंगी। अब कोर्ट ने इस तरह के किसी भी सरकारी विज्ञापन पर रोक लगा दिया है। रविवार को भी ममता बनर्जी ने पीएम मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा था। ममता ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनआरसी के प्रस्तावित एनआरसी पर सार्वजनिक रूप से गृहमंत्री के रूख से विपरीत बयान दिया है। बनर्जी ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम और एनआरसी पर उनकी और मोदी की टिप्पणियां सभी के सामने हैं और लोग तय करेंगे कि कौन सही है और कौन गलत।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804