GLIBS
18-06-2021
संसदीय समिति ने ट्विटर को लगाई फटकार, कहा- देश का कानून बड़ा है, आपकी नीति नहीं

नई दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी नए नियमों पर केंद्र सरकार तथा ट्विटर में गतिरोध के बीच इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट के अधिकारी शुक्रवार को कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली एक संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए। इस दौरान समिति ने कंपनी के अधिकारियों को फटकार लगाई। ट्विटर की ओर से प्राइवेसी पॉलिसी का हवाला दिए जाने पर समिति ने कहा कि देश का कानून बड़ा है, आपकी नीति नहीं। सूचना प्रद्यौगिकी पर संसदीय समिति के सदस्यों ने ट्विटर से पूछा कि देश के कानून का उल्लंघन करने पर उसके खिलाफ जुर्माना क्यों न लगाया जाए। बता दें कि केंद्र सरकार ने इस महीने की शुरुआत में ट्विटर को नोटिस जारी कर नए आईटी नियमों का तत्काल अनुपालन करने का आखिरी मौका दिया था और चेतावनी दी थी कि नियमों का पालन नहीं होने पर इस प्लेटफॉर्म को आईटी अधिनियम के तहत जवाबदेही से छूट नहीं मिलेगी।


सूचना और प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति ने पिछले सप्ताह इस मंच के दुरुपयोग और नागरिकों के अधिकारों के संरक्षण से संबंधित विषयों पर ट्विटर को तलब किया था। ट्विटर इंडिया की लोक नीति प्रबंधक शगुफ्ता कामरान और विधिक परामर्शदाता आयुषी कपूर ने शुक्रवार को समिति के समक्ष अपना पक्ष रखा। पिछले कुछ दिन से केंद्र और ट्विटर के बीच अनेक विषयों पर गतिरोध की स्थिति है। कुछ दिन पहले ट्विटर उस समय भी विवाद में आ गया था जब उसने उप राष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत समेत संगठन के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों के खातों से सत्यापन वाला ‘ब्लू टिक’ कुछ देर के लिए हटा दिया था। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को नोटिस भेजकर पूछा था कि उसने केंद्र सरकार के खिलाफ कथित ‘कांग्रेसी टूलकिट’ को ‘मैनिपुलेटिड मीडिया’ का तमगा कैसे दिया। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 31 मई को ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक मनीष माहेश्वरी से सवाल-जवाब किये थे। पुलिस 24 मई को टूलकिट के मुद्दे पर ट्विटर के दिल्ली और गुड़गांव स्थित दफ्तरों में भी पहुंची थी।

 

16-06-2021
माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर को नए आईटी नियमों का पालन नहीं करना पड़ा भारी, कानूनी संरक्षण खत्म

नई दिल्ली/रायपुर। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर को भारत के नए आईटी नियमों का पालन नहीं करना भारी पड़ गया है। अब उसे कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा। दरअसल नए आईटी नियमों का पालन नहीं करने के कारण ऐसा किया गया है। सूत्रों की माने तो ट्विटर का कानूनी संरक्षण खत्म हो गया है और अब इसको कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा।

05-06-2021
ट्विटर ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया

नई दिल्ली। ट्विटर ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के हैंडल से वेरिफाइड ब्लू टिक या ब्लू बैज हटा दिया है। मोहन भागवत के ट्विटर पर 20.76 लाख फॉलोअर्स हैं। संघ प्रमुख समेत आरएसएस के कई नेताओं के अकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया गया है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उनके सहयोगी सुरेश सोनी, अरुण कुमार, सुरेश जोशी, अनिरुद्ध देशपांडे और कृष्ण कुमार शामिल हैं। मोहन भागवत के अकाउंट से भी ब्लू टिक हटने के पीछे यही वजह हो सकती है। मोहन भागवत का ट्विटर अकाउंट मई 2019 में बना था, लेकिन अभी उनके ट्विटर पर एक भी ट्वीट नहीं दिखा रहा है। आरएसएस नेता ने कहा कि कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया। संघ नेता ने कहा कि अकाउंट निष्क्रिय थे, तो उन्हें हमें सूचित करना चाहिए था। ट्विटर के नियमों के अनुसार, यदि कोई खाता "निष्क्रिय" हो जाता है, तो टिक हटा दिया जाता है। ट्विटर की ओर से यही सफाई दी गई थी कि वेंकैया नायडू के ट्विटर हैंडल को पिछले छह महीने में लॉग इन नहीं किया गया था। ट्विटर ने शनिवार को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के निजी अकाउंट से सत्यापन वाला ब्लू टिक हटाया और बाद में इसे बहाल कर दिया। उपराष्ट्रपति सचिवालय के अधिकारियों ने बताया कि ट्विटर पर नायडू का निजी अकाउंट लंबे समय से निष्क्रिय था और ट्विटर अल्गोरिद्म ने ब्लू टिक हटा दिया। इससे पहले अधिकारियों ने बताया था कि ट्विटर सत्यापन पहचान को बहाल करने की प्रक्रिया में है। उपराष्ट्रपति के इस निजी अकाउंट से पिछले साल 23 जुलाई को आखिरी बार पोस्ट की गई थी। अधिकारियों ने बताया कि अकाउंट से ब्लू टिक हटने के बारे में शनिवार सुबह पता चलने के बाद ट्विटर से संपर्क किया गया और इसके बाद ब्लू टिक को बहाल कर दिया गया। ट्विटर ने कहा कि यह अकाउंट जुलाई 2020 से निष्क्रिय था और अब उसे सत्यापित करने वाले ब्लू टिक को बहाल कर दिया गया है। उपराष्ट्रपति ट्वीट करने के लिए आधिकारिक अकाउंट का इस्तेमाल करते हैं।

 

05-06-2021
Breaking : ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटाया

नई दिल्ली/रायपुर। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विटर ने ब्लू टिक बैज को हटा दिया है। इससे केंद्र सरकार और ट्विटर के बीच विवाद बढ़ सकता है। बता दें कि उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के पर्सनल ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक बैज अकाउंट के इनएक्टिव होने की वजह से हटाया गया है।

31-05-2021
Breaking : नए आईटी नियमों के पालन मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने ट्विटर को भेजा नोटिस

नई दिल्ली/रायपुर। दिल्ली हाई कोर्ट ने ट्विटर को नोटिस जारी कर नए आईटी कानूनों के पालन पर जवाब मांगा है। बता दें कि दिल्ली हाई कोर्ट की न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने केंद्र और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को नोटिस जारी कर एक वकील अमित आचार्य की याचिका पर अपना पक्ष रखने की मांग की, जिसमें उन्होंने नियमों का पालन न करने का दावा किया था।

24-05-2021
दिल्ली पुलिस ने टूलकिट केस में ट्विटर को नोटिस दिया

दिल्ली/रायपुर। टूलकिट केस में दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को नोटिस थमा दिया है। मैनिपुलेटेड मीडिया टैग के इस मामले में पुलिस ने ट्विटर से जवाब मांगा है। दिल्ली पुलिस के ट्विटर को नोटिस से अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है और आरोप-प्रत्यारोप की रफ्तार तेज होने की आशंका बढ़ गई है।

13-05-2021
केंद्र सरकार पर बढ़ा दबाव, ट्विटर पर छाया रहा 'सीजी शोज द वे' : कांग्रेस

रायपुर। महामारी के दौरान केंद्र सरकार की नीतियों और 20 हजार करोड़ के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण की जिद के खिलाफ छत्तीसगढ़ कांग्रेस की आईटी सेल ने गुरुवार को जमकर हल्ला बोला। देश विदेश से 12 हजार ट्वीट के साथ छत्तीसगढ़ से देश को दिखाया रास्ता हैशटैग कई घंटों तक देश मे तीसरे नंबर पर छाया रहा। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण छत्तीसगढ़ सरकार ने नए विधानसभा भवन, राज्यपाल और मुख्यमंत्री के निवास, मंत्रियों और अधिकारियों के आवास समेत नए सर्किट हाउस आदि के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है। छत्तीसगढ़ सरकार के इस फैसले के बाद चलाए गए इस हैशटैग की वजह से केंद्र सरकार पर दिल्ली में बन रहे 'सेंट्रल विस्टा' पर रोक लगाने को लेकर दबाव बढ़ गया है। कांग्रेस समेत सभी प्रमुख विपक्षी दल दिल्ली के 'सेंट्रल विस्टा' प्रोजेक्ट पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत नए संसद भवन के साथ ही प्रधानमंत्री आवास और केंद्रीय सचिवालय बनाए जा रहे हैं।

06-05-2021
बंगाल हिंसा पर साध्वी प्रज्ञा का ट्वीट, कहा- यहां ताड़का का शासन 

भोपाल/रायपुर। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने बंगाल में हो रही हिंसा पर ट्वीट किया और बीजेपी के अलावा आरएसएस को भी टैग किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'मुमताज लोकतंत्र, हिंदुओं, बंगाल बीजेपी के कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या, बलात्कार। हे कलंकिनी.. बस्स. शठे शाठ्यम समाचरेत, टिट फॉर टैट करना ही होगा। राष्ट्रपति शासन और एनआरसी बस यही उपाय हैं। संतों और वीरों की भूमि पर ताड़का का शासन हो गया। अब तो 'राम' बनना ही होगा। जय श्री राम'

04-05-2021
बंगाल के चुनावी नतीजों पर कंगना को ट्वीट करना पड़ा भारी,ट्विटर ने किया अकाउंट सस्पेंड

मुंबई। अपने बेबाक बयानों से सोशल मीडिया में सुर्खियों में रहने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। दरअसल ट्विटर ने कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड कर दिया। कंगना के बंगाल के चुनाव नतीजों पर ट्वीट के लिए यह एक्शन लिया गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि ममता बनर्जी को लेकर आपत्तिजनक शब्दों के बाद कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड किया गया कंगना ने ट्विटर अकाउंट सस्पेंड किए जाने पर कहा, कि अपनी बात रखने के लिए मेरे पास कई और भी प्लेटफॉर्म है। ट्विटर ने कंगना माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट से जुड़े नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाया है। रिपोर्ट के अनुसार कंगना ने एक के बाद एक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कई आपत्तिजनक ट्वीट की थी। कंगना ने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद हुई हिंसा का भी जिक्र अपने ट्वीट में किया था। साथ ही उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग रखी थी। कंगना ने दरअसल अपने एक ट्वीट में लिखा था, 'मैं गलत थी, वह रावण नहीं थी। वह तो सबसे अच्छा राजा था। दुनिया में सबसे अमीर देश उसने बनाया, वह महान प्रशासक था, विद्वान था और वीणा बजाने वाला और अपनी प्रजा का राजा था लेकिन वह तो खून की प्यासी राक्षसी ताड़का है। जिन लोगों ने उनके लिए वोट किया, उनके भी हाथ खून से सने हैं।' अकाउंट सस्पेंड किए जाने को लेकर कंगना रनौत की भी प्रतिक्रिया आई है। कंगना ने कहा, 'ट्विटर ने मेरी ही बात को सही साबित किया है। वे अमेरिकी हैं और जन्म से एक गोरा शख्स एक ब्राउन शख्स पर अपनी मर्जी चलाना चाहता है।' कंगना ने कहा, वे आपको बताना चाहते हैं कि आप क्या सोचें, बोले और क्या करें। मेरे पास अपनी बात रखने के लिए कई और भी प्लेटफॉर्म हैं। इसमें सिनेमा भी शामिल है।'

 

16-04-2021
इस देश में फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर सहित सोशल मीडिया पर लगा बैन

इस्लामाबाद/रायपुर। पाकिस्तान ने देश भर में सोशल मीडिया को बैन कर दिया है। यह प्रतिबंध सुबह 11 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक लगाया गया है। हालांकि इसको लेकर कोई कारण नहीं बताए गए हैं। इमरान खान सरकार के इस आदेश के बाद पाकिस्तान में व्हाट्सएप, यूट्यूब, ट्विटर, टेलीग्राम, टिकटॉक, फेसबुक सहित अन्य प्लेटफार्म बंद हो गए हैं। टेलिकॉम ऑपरेटर्स का कहना है कि इसे बहाल करने के लिए कोई निश्चित समय सीमा नहीं दी गई है। आंतरिक मंत्रालय ने शुक्रवार को पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) को सोशल मीडिया प्लेटफार्मों- ट्विटर, फेसबुक, व्हाट्सएप, यूट्यूब और टेलीग्राम को सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक ब्लॉक करने का निर्देश दिया है। मंत्रालय ने पीटीए अध्यक्ष को निर्देश दिया है। चूंकि पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान में तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान की तरफ से प्रदर्शन किए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इसी प्रोटेस्ट की वजह से पाकिस्तान में सोशल मीडिया को ब्लॉक करने का फैसला लिया गया है। सोशल मीडिया बैन से पहले पाकिस्तानी टीवी चैनल्स से तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान के प्रोटेस्ट की कवरेज को भी बैन कर दिया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान टेलीकॉम अथॉरिटी के चेयरमैन ने कहा है कि उनसे इस मैटर पर तत्काल एक्शन लेने को कहा गया है।

 

25-03-2021
सलमान खान ने लगवाया कोरोना का पहला टीका

मुंबई। अभिनेता सलमान ने कोरोना का पहला टीका लगवाया। उन्होंने लीलावती अस्पताल में कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली खुराक ली । अभिनेता ने ट्विटर पर खबर साझा की। उन्होंने कहा कि आज टीके की पहली खुराक ली। सलमान खान के माता-पिता ने कुछ दिनों पहले वैक्सीन की पहली खुराक ली थी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804