GLIBS
19-10-2020
कलेक्टर ने कहा, स्वसहायता समूहों के बनाए उत्पादों का हो प्रचार प्रसार, मिले बेहतर मार्केट

दुर्ग। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने जिला पंचायत अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि बीते दिनों उन्होंने स्वसहायता समूहों के उत्पाद देखें हैं। यह उत्पाद काफी आकर्षक हैं और इस नाते कुछ समूहों ने विदेशों में भी उत्पाद भेजे हैं। यह बहुत अच्छा संदेश है इसे आगे ले जाना चाहिए। लोग कहीं भी हों, उन्हें  हमारे डिजाइनर उत्पाद मिल पाएं, इसलिए कार्य करें। इसके लिए अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-मार्केट पर भी फोकस करें ताकि बहुत बड़ा डिजिटल मार्केट भी ये कैप्चर कर पाएं। कलेक्टर ने कहा कि इनकी डिजाइनिंग बहुत अच्छी है इसमें विशेषज्ञों की मदद से और भी निखार लाएं। गुणवत्ता और बेहतर करने की कोशिश हो, उत्पादों की रेंज बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि दीपावली को लेकर विशेष तौर पर फोकस करें। स्थानीय उत्पादों के प्रमोशन के लिए यह शानदार मौका है। इस समय डिमांड काफी होगी, अभी से इसके लिए कार्य करें। किसी भी तरह की मदद की जरूरत है तो उन्हें उपलब्ध कराएं। जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक ने बताया कि इसके लिए बाजार से एनआरएलएम की टीम जुड़ी हुई है।

जहां जहां से मांग सृजित हो सकती है वहां संपर्क किया गया है और इसे समूहों के माध्यम से सप्लाई किया जाएगा। समूहों के पास काफी काम आ रहा है। उन्होंने बताया कि समूहों को बाजार उपलब्ध कराने के लिए विशेष पहल की जा रही है। कलेक्टर ने कहा कि एनआरएलएम योजना का दायरा काफी विस्तृत होता है। इसके माध्यम से बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन हो सकता है और नवाचार को बढ़ावा दिया जा सकता है। कलेक्टर ने बैठक में मनरेगा की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जून तक के काम चिन्हांकित कर रख लें। अधिकाधिक लोग 100 दिन का लक्ष्य प्राप्त करें, यह कोशिश हो। कार्य काफी गुणवत्तापूर्वक हों, यह भी देख लें। उन्होंने कहा कि नरवा योजनाओं के माध्यम से भूमिगत जल का स्तर काफी बढ़ेगा। यह काफी अहम प्रोजेक्ट्स हैं और इस दिशा में विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि नरवा के लिए चिन्हांकित स्थलों में विशेषज्ञों के निर्देश के अनुरूप निर्माण हो, यह सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने पंद्रहवें वित्त की राशि से हो रहे कार्यों की जानकारी भी ली। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि इस राशि के माध्यम से पेयजल एवं बुनियादी संरचना आदि के कार्य कराए जा रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविकामूलक गतिविधियों को बढ़ावा देना सबसे अहम है। इस दृष्टि से विशेष काम होना चाहिए।

 

29-08-2020
Video: मेन मार्केट के इलेक्ट्रॉनिक शो रूम में लगी आग

जांजगीर चाम्पा। शहर के एक इलेक्ट्रॉनिक शो रूम में आग लग गई है। मिली जानकारी के अनुसार शहर के शिवरीनारायण मेन मार्केट के एक इलेक्ट्रॉनिक शो रूम में आग लग गई है। आग की सूचना पर दमकल की गाड़िया घटना स्थल पहुंची है और आग को बुझाने का प्रयास कर रही है। इसमें स्थानीय लोग भी मदद कर रहे है। शो रूम के अंदर लाखों का सामान है।आग लगने की वजह पता नहीं चल पाई।

 

02-08-2020
प्रदेश सरकार 5 अगस्त तक मार्केट खोलने की अनुमति दे: धर्मेन्द्र ठाकुर

महासमुन्द। छत्तीसगढ़ शिवासेना के प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर ने प्रदेश सरकार से मांग कि है कि 3 अगस्त से 5 अगस्त तक बाजार खोला जाये। रक्षाबंधन भाई, बहनों के लिए एक महत्वपूर्ण त्यौहार है इस भाव को देखते हुए सरकार को 5 अगस्त तक बाजार खोलने की छूट दे ताकि रक्षाबंधन का यह पर्व भाई, बहन उत्साह से मना सके। ठाकुर ने कहा कि 3 अगस्त को रक्षाबंधन का त्यौहार है वहीं अयोध्या में राममंदिर का भूमिपूजन है। अयोध्या में राममंदिर का भूमि पूजन भी हिन्दुओं के लिए किसी बड़े पर्व से कम नहीं है लिहाजा प्रदेश की सरकार को 3 अगस्त से 5 अगस्त तक मार्केट खोलने की अनुमति दे ताकि कपड़ा,मिठाई,फल,फूल,राखी सहित अन्य सामान की खरीदी की जा सके।

18-07-2020
गोलबाजार को बनाया जाएगा स्मार्ट मार्केट, महापौर की योजना से सभी व्यापारी सहमत

रायपुर। नगर निगम मुख्यालय में शनिवार को महापौर एजाज ढेबर ने गोलबाजार के व्यापारियों की 4 पृथक समूहों में लगभग 300 दुकानदारों की निगम सामान्य सभा सभागार में बैठक ली। पूर्व पार्षद राधेश्याम विभार सहित निगम उपायुक्त बाजार आरके डोंगरे बैठक में उपस्थिति थे। महापौर ने सभी व्यापारियों को निगम के गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने, किरायदार दुकानदारों को मालिकाना हक देने की योजना और इसके लिए राशि कलेक्टर गाइड लाइन के अनुरूप लिए जाने की बात दोहराई। महापौर ने गोलबाजार में निगम की ओर से सभी मूलभूत सुविधाएं देने के प्रति, नामांतरण और रजिस्ट्री के प्रति सभी दुकानदारो को आशवस्त किया। अब गोलबाजार के लगभग 800 व्यापारियों से गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने और दुकानदारों को मालिकाना हक देने को लेकर प्रारंभिक चरण की चर्चा हो चुकी है। महापौर ने कहा कि आगे भी व्यापारियों के साथ चर्चा की जाएगी। बिना उनकी सहमति के गोलबाजार में कोई कार्यवाही इस संबंध में नगर निगम रायपुर की ओर से नहीं की जाएगी। लगभग सभी व्यापारियों ने महापौर की योजना पर अपनी सहमति व्यक्त की है। महापौर को सभी ने धन्यवाद दिया है।

12-05-2020
मार्केट में नमक खत्म? बोरिया बिकी 300 से 500 रुपए में 

महासमुन्द। पिछले 24 घंटे के भीतर पूरे जिले में मार्केट से नमक के गायब होने की अफवाह ने लोगों को आज सुबह से ही मार्केट खुलने के बाद से लाईन में खड़ा कर दिया है। किसी ने कह दिया कि मार्केट में खाने की नमक समाप्त हो गया है और जनता ने यह भी मान लिया की नमक का स्टॉक दुकान में नहीं है। पहले आव पहले पाव की होड़ में पहुंच गये और 50 की नमक 300 सौ और 100 की नमक 500 सौ में खरीद भी लिया गया और व्यारियों ने अनाप-सनाप दामों में बेच भी दिया। महासमुन्द के एसडीएम सुनील चंद्रवंशी को मामले की जानकारी मिली की लोग मार्केट में नमक के लिए लाईन में खड़े हैं। तत्तकाल मार्केट पहुंच कर लोगों को समझाईश दी और मार्केट से जाने कहा। गौरतलब है कि पूरे जिले में आज सुबह से नमक लेने के लिए लोग दुकानों के सामने कतार में खड़े हो कर नमक ले रहे है। 50 और 100 रुपए की नमक बोरी 300 और 500 में बिकी गई। व्यापारियों का भी कोई जवाब नहीं, मौका मिला नहीं की जनता को ठगने के लिए तैयार है। जनता के पास परेशानी यह है कि उनको जैसे ही किसी बात की सूचना या अफवाह उन तक पहुंचती है वह उसे सच मानकर अपनी व्यवस्था में जूट जाती है। व्यापारी इसी बात का फायदा उठाते है और मार्केट में पहुंचने वाली जनता को अनाप-सनाप दामों पर अपनी वस्तुएं बेच कर जनता को लूट रहे है।

पिछले 24 घंटे में पूरे जिले में नमक की खत्म होने की खबर आखिर किसने फैलाई, किसकी साजिश है यह? क्या व्यापारी ही जानबूझ कर जनता को बेवकूफ बनाने के लिए यह अफवाह फैला रहे है? कौन इस तरह की अफवाह फैला रहा है? मार्केट में 5 रुपए का गुटखा 10 और 20 रुपए में बिका, 1 रुपए का तम्बाखू 5 से 10 रुपए में बिका, 5 रुपए का गुडाखू 50 रुपए में बिका, 700 रुपए की शराब की बोतल 3500 से 4000 में बिका। अब ये नमक 50 रुपए की बोरी 300 रुपए, 100 रुपए की बोरी 500 में बिक गई। 10 रुपए किलो की आलू 20 और 25 रुपए में, इसके साथ ही सभी तरह के राशन सामानों को व्यापारियों ने अनावश्यक रूप से महंगे दामों में बेचा गया है और बेचा जा रहा है। कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन है, समय-समय पर जनता को राहत पहुंचाने के लिए व्यापारियों को जिला प्रशासन ने छूट दे रखी है कि वह अपनी दुकान खोले ताकि जनता को रोज मर्रा की सामाने मिल सके, उन्हें भटकना ना पड़े, लेकिन व्यापारियों ने तो आम जनता को लूट ही लिया है। कानून नाम की कोई चीज ही नहीं है इन व्यापारियों के लिए, कुछ व्यापारियों पर जिला प्रशासन के अधिकारियों ने कार्रवाई की है और जुर्माना भी लिया है पर कितना, ऊंट के मूंह में जिरा की तरह। व्यापारी ने 5 लाख की कालाबाजारी की तब उसे फाइन हुआ है 25 हजार। आखिर आम जनता को इस अफवाह से कैसे बचाया जा सकेगा। कौन इन व्यापारियों पर लगाम लगायेगा।

02-05-2020
महापौर की अगुवाई में मार्केट क्षेत्र को किया गया सैनिटाइज

राजनांदगांव। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश में एतिहात बरती जा रही है। इसके लिए नगर निगम लोगों की सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठा रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को राजनांदगांव नगर निगम ने बाजार क्षेत्र में सैनिटाइजर का छिड़काव किया। महापौर हेमा देशमुख की अगुवाई में नगर निगम अमले ने दो सैनिटाइजर टैंकर और एक फॉगिंग मशीन के साथ मुख्य बाजार में छिड़काव किया। इसमें जयस्तभ चौक से सिनेमा लाइन, कामठी लाइन, गुड़ाखू लाइन होते हुए जूनी हटरी से महावीर चौक तक सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया। इसके पूर्व भी शहर में सैनिटाइजर का छिड़काव किया जा चुका है। मार्केट क्षेत्रों में लोगों के बढ़ती भीड़ को देखते हुए सैनिटाइजेशन के कार्य को दोहराया गया है। आज सैनिटाइजर के अभियान में निगम के स्वास्थ अधिकारी, निरीक्षक व अन्य सफाई कर्मचारी उपस्थित थे।

26-04-2020
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ऐलान, दिल्ली में भी खुलेंगी दुकानें, लेकिन कोई मार्केट या मॉल नहीं

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कोरोना वायरस के हालात पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अब दिल्ली कोरोना के नए मामलों में थोड़ी कमी आई है, जो कि राहत की बात है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने फैसला लिया है कि केंद्र सरकार कि ओर से जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार दिल्ली में भी जरूरी दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली के रिहायशी इलाकों में बनी दुकानों को खोला जा सकेगा।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि इस बात का ध्यान रखें कि दुकानें खोलने की इजाजत रिहायशी इलाकों में मौजूद दुकानों के लिए ही है। शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मार्केट नहीं खुलेंगे। दिल्ली के कोरोना हॉटस्पॉट इलाकों में यह आदेश लागू नहीं होगा। केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने लॉक डाउन में कुछ आवश्यक वस्तुओं की दुकानों पर जो रियायत दी है वो दिल्ली में भी लागू की जा रही हैं, लेकिन कंटेंमेंट एरिया में किसी भी किस्म की दुकानें खुलने की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि अब 20 अप्रैल से मिलने वाली छूट पर 3 मई के बाद फैसला होगा। 3 मई के बाद लॉक डाउन बढ़ेगा या नहीं इसके लिए दिल्ली सरकार भी केंद्र के फैसले का इंतजार करेगी। हम भी केंद्र सरकार की गाइडलाइंस का पालन करेंगे।

17-04-2020
20 अप्रैल से खुल जाएगा ऑनलाइन मार्केट, खरीद सकेंगे ये आइटम्स...

नई दिल्ली। कोरोना लॉकडाउन के दूसरे चरण के बीच सरकार 20 अप्रैल से कुछ राहत भी देने जा रही है। अमेजन, फ्लिकार्ट और स्नैपडील जैसी ई-वाणिज्य कंपनियों के माध्यम से मोबाइल फोन, टेलीविजन, रेफ्रिजरेटर, लैपटॉप और साफ-सफाई से जुड़े उत्पादों की बिक्री की अनुमति 20 अप्रैल से होगी। एक अधिकारी के अनुसार 20 अप्रैल से बिक्री शुरू होगी लेकिन कंपनियों की डिलीवरी वैन को आवाजाही के लिए प्रशासन की मंजूरी लेनी होगी। दरअसल, गृह मंत्रालय ने पहले जो गाइडलाइन जारी की थी, उसमें सिर्फ खाने-पीने की वस्तुएं, दवाएं और चिकित्सा उपकरणों समेत आवश्यक वस्तुओं की बिक्री को ही मंजूरी दी गई थी। अधिकारियों की मानें तो लॉक डाउन में मोबाइल फोन, टीवी, रेफ्रिजरेटर, लैपटॉप और स्टेशनरी आइटम को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म जैसे अमेजन, फ्लिपकार्ट और स्नैपडील के माध्यम से 20 अप्रैल से लॉक डाउन के दौरान बेचने की अनुमति होगी। सरकार की नई कोरोना लॉक डाउन गाइडलाइन के मुताबिक, 20 अप्रैल से स्व-रोजगार में लगे इलेक्ट्रिशियंस, आईटी संबंधी मरम्मत का काम करने वाले लोगों, प्लंबर, मोटर मैकेनिक, बढ़ई को काम करने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा, ई-कॉमर्स ऑपरेटरों द्वारा उपयोग की जाने वाली कूरियर सेवाओं और वाहनों को भी सरकार द्वारा अनुमति दी जाएगी।

11-04-2020
बैकुंठधाम में लगा होलसेल मार्केट,निगरानी में जुटी रही निगम और पुलिस की टीम

भिलाई। निगम एवं पुलिस प्रशासन की टीम शनिवार को बैकुंठधाम में लगने वाले होलसेल बाजार की निगरानी रखने पहुंची थी। पुलिस टीम लाउडस्पीकर के माध्यम से भीड़ न बढ़ाने समझाइश देते रहे तथा पुलिस बल बाजार का घूम-घूम कर निरीक्षण करती रही। बैकुंठधाम में लगने वाले होलसेल मार्केट में आने जाने-वाले वाहनों के लिए पार्किंग की अलग से व्यवस्था की गई है तथा दुपहिया वाहनों को भी अलग से पार्किंग स्थल पर खड़ा करने निर्देशित किया गया। होलसेल के आलू-प्याज के विक्रय के लिए पृथक से स्थल निर्धारित किया गया है तथा होलसेल के सब्जी विक्रेताओं के लिए अलग स्थल निर्धारित है दोनों ही स्थल बैकुंठ धाम में हैं।

जिन विक्रेताओं को मंडी समिति द्वारा टोकन पास जारी किया गया है उन्हीं विक्रेताओं को इस स्थल पर बैठने की इजाजत दी गई है। कुछ अन्य आलू प्याज विक्रेताओं ने यहां पर अपनी दुकानें लगा रखी थी जिनका निरीक्षण करने पर टोकन पास जारी नहीं किया जाना पाया गया जिस पर तीनों से प्रति विक्रेता 5000 रुपए आर्थिक दंड वसूल कर उनके दुकान को नहीं लगने दिया गया। बैकुंठधाम होलसेल बाजार में आज निगम एवं पुलिस प्रशासन की चाक-चौबंद व्यवस्था रही। इसके अतिरिक्त आकाशगंगा के फुटकर सब्जी विक्रेता आज राधिका नगर स्लॉटर हाउस के पास तथा सर्कस मैदान के पास व्यवसाय किए। यहां भी निगम की टीम बाजार का निरीक्षण करती रही।

 

11-02-2020
एसडीएम ने मेन मार्केट से हटवाएं कब्जे

गुना। एसडीएम शिवानी गर्ग ने मेन मार्केट के कब्जे के साथ-साथ मंगलवार को ट्रैफिक पुलिस स्ट्रक्चर को हटवा दिया। बता दें कि सुगन चौराहा स्थित ट्रैफिक पुलिस का स्ट्रक्चर काफी सालों से मेन मार्केट में जगह घेरे हुए था। एसडीएम शिवानी गर्ग ने दुकानों के बाहर हुए कब्जे को हटवाया और जेसीबी भी चलवाई। उन्होंने दुकानदारों को चेतावनी दी कि अगर आप लोग अपनी मर्जी से नहीं कब्जा नहीं हटाया तो कार्यवाही की जाएगी।

राकेश किरार की रिपोर्ट

 

04-02-2020
सब्जियां हुई सस्ती, प्याज के दामों में भी आई गिरावट

रायपुर। दिसंबर माह के बाद से ही लगातार प्याज की कीमते आसमान छू रही थी। विगत 3 महीनों से प्याज सब्जियों से गायब हो गया था। अभी मार्केट में प्याज 27 रुपए से 30 रुपए किलो बिक रहा है। चिल्हर मार्केट में प्याज 35 रुपए किलो बिक रहा है। आलू की कीमतों में भी गिरावट आ गई है। थोक मार्केट में 14 रुपए से 15 रुपए किलो और चिल्हर में 20 रुपए किलो बिक रहा है। आलू और प्याज की आवक बढ़ने के कारण कीमतों में काफी गिरावट आई है।
ज्ञातव्य है कि विगत वर्ष प्याज चिल्हर मार्केट में 140 रूपए किलो तक पहुंच गया था। इसके बाद ही सरकार ने इसके स्टॉक लिमिट भी काफी कम कर दिया था। आलू प्याज थोक व्यवसायी संघ की माने तो अब प्याज की आवक वृद्धि हुई है। इसका असर उनकी गिरती कीमते हैं। टमाटर गोभी एवं अन्य सब्जियों के मूल्यों में भी गिरावट आई है। टमाटर 20 रुपए के 4 किलो, गोभी 20 रुपए से 23 रुपए,भाटा 20 रुपए किलो इसी प्रकार लौकी 10 रुपए किलो तक बिक रही है।

यामिनी दुबे की रिपोर्ट

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804