GLIBS
07-06-2020
जंक फूड स्वास्थ्य के लिए हानिकारक : डाॅ.संजय गुप्ता

कोरबा। 7 जून को दुनियाभर में पहला विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया जा रहा है। इस साल की थीम 'खाद्य सुरक्षा सभी की जिम्मेदारी" पर आधारित है। यानी खेतों से निकलकर हमारी थाली में पहुंचने वाले चीजें सुरक्षित हो, जिससे यह हमारी सेहत को नुकसान न पहुंचाए। इंडस पब्लिक स्कूल दीपका के प्राचार्य डाॅ.संजय गुप्ता ने बताया कि स्कूलों में बच्चों को हेल्दी एवं अनहेल्दी फूड के बारे में स्कूलों में जानकारी दी जाती है,जिससे बच्चे स्वयं समझे की हेल्दी फूड एवं अनहेल्दी फूड के बारे में। आजकल जंक फूड का प्रचलन बढ़ता ही जा रहा है लेकिन यह हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक है। इससे सभी बच्चों और किशोरों को अवश्य जानना चाहिए क्योंकि वे आमतौर पर जंक फूड खाना पसंद करते हैं। कई सारी निबंध प्रतियोगिता में जंक फूड पर निबंध लिखने का कार्य दिया जाता है। जो बच्चों को जंक फूड के विषय में जागरूक करने के लिए दिया जाता है।

आधुनिक समाज में फास्ट फूड हमारे जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है समय के लिए सुविधा और जल्दी के कारण हम में से कई अब हमारे भोजन के लिए फास्ट फूड पर निर्भर हैं। आमतौर पर जंक फूड देखने में बहुत ही आकर्षक और स्वादिष्ट लगते हैं, और सभी आयु वर्ग के लोगों द्वारा इन्हें पसंद भी किया जाता है। लेकिन वास्तव में  जंक फूड स्वास्थ के लिए काफी हानिकारक होते हैं। इसलिए वह जितने आकर्षक दिखते हैं वास्त में अंदर से उतने ही विपरीत होते हैं। जंक फूड को कभी भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। जंक फूड स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बेकार होते हैं और वे व्यक्ति जो नियमित रुप से इनका सेवन करते हैंए वे बहुत सी बीमारियों को आमंत्रित करते हैं।

21-09-2019
गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने हितग्राहियों को सौंपे राशन कार्ड

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि आप सभी के हाथों में राशन कार्ड सौंपकर बहुत अच्छा लग रहा है। परिवार के सभी व्यक्तियों को खाद्य सुरक्षा मिले, राशन कार्ड के लिए परिवार न टूटे, यह सोच आज सार्थक हो रही है। मरोदा टैंक, भिलाई में आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर यह बात कही। मंत्री साहू ने कहा कि परिवार में चाहे जितने सदस्य हो सबको अनाज मिलेगा। एपीएल को भी अनाज मिलेगा। मंत्री साहू ने कहा कि सरकार ने ऐसी योजनाएं तैयार की हैं जिनसे  समाज के सभी वर्गों का समुचित विकास हो। परिवार के सभी सदस्यों के लिए खाद्य सुरक्षा इसमें सबसे अहम है। हमारे प्रदेश की बड़ी आबादी अन्नदाताओं की है। उनके हितों और संतोष को ध्यान में रखकर शासन ने 2500 रुपये में धान खरीदी और कर्जमाफी जैसे बड़े निर्णय लिए। इसका अच्छा असर बाजार पर भी हुआ है। 
गृहमंत्री ने कहा कि रिसाली को पृथक नगरीय निकाय बनाने की दिशा में हम लोग कार्य कर रहे हैं। इससे रिसाली के विकास में और तेजी आएगी। इस मौके पर महापौर देवेंद्र यादव ने कहा कि नगर निगम में नागरिकों को सभी बुनियादी सुविधाएं मिले, अधोसंरचना का ढांचा और बेहतर हो सके, इस दिशा में शासन सचेष्ट हैं और मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल तथा गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू के मार्गदर्शन में निरंतर कार्य किया जा रहा है। इस मौके पर भिलाई नगर निगम के उपयुक्त तरुनपाल लहरे ने बताया कि भिलाई नगर निगम अंतर्गत 70 वार्डों में 78 हजार 626 परिवारों को राशन कार्ड का वितरण किया जाना है। आज कार्यक्रम में वार्ड नंबर 44 टंकी मरोदा में 20 कार्डों का तथा वार्ड नंबर 43 में 63 कार्डों का वितरण मंच से किया गया।

17-09-2019
एपीएल राशनकार्ड के लिए आवेदन पत्र अब  23 सितम्बर तक

जांजगीर-चाम्पा। राज्य शासन द्वारा राज्य के सभी परिवारों को खाद्य सुरक्षा के दायरे में चिन्हांकित करने हेतु सार्वभौम पीडीएस योजना तैयार की गई है। छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त परिवारों को इसका लाभ मिलेगा। पात्र परिवारों के लिए सामान्य (एपीएल) राशनकार्ड जारी किया जाना है। राशन कार्ड के लिए आवेदन अब 23 सितंबर तक स्वीकार किया जाएगा। खाद्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आवेदन जमा करने की तिथि में वृद्धि की गयी है। पहले आवेदन जमा करने के लिए 17 सितंबर अंतिम तिथि निर्धारित थी। आवेदन जमा करने के लिए ग्राम पंचायत एवं नगरीय निकायों में शिविर का आयोजन किया जा रहा है। आवेदन के साथ 10 रुपए का निर्धारित शुल्क जमा करना होगा। योजना के तहत एक सदस्यीय परिवार हेतु 10 किलो चावल प्रतिमाह, 02 सदस्यीय परिवार हेतु 20 किलो चावल प्रतिमाह एवं  03 या 03 से अधिक सदस्यीय परिवारों को 35 किलो चावल की प्रतिमाह की पात्रता निर्धारित की गई है। आवेदकों के पात्र-अपात्र संबंधी दावा-आपत्ति का निराकरण 30 सितंबर तक किया जाएगा। शिविरों के माध्यम से ही 02 अक्टूबर से 10 अक्टूबर तक राशनकार्ड का वितरण किया जाएगा।

 

06-09-2019
एपीएल परिवारों का भी बनेगा राशन कार्ड, आवेदन 17 सितंबर तक

जांजगीर-चाम्पा। राज्य शासन ने राज्य के सभी परिवारों को खाद्य सुरक्षा के दायरे में चिन्हांकित करने के लिए सार्वभौमिक पीडीएस योजना प्रारंभ की है। छत्तीसगढ़ राज्य के सभी परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। सभी पात्र परिवारों का सामान्य (एपीएल) राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गयी है। इसके लिए 10 से 17 सितंबर तक (शासकीय अवकाश को छोड़कर) आवेदन लिया जाएगा। इसके लिए ग्राम पंचायतों व नगरीय निकाय के वार्डों में सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक व दोपहर तीन बजे से सायं 6 बजे तक राशन कार्ड शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि इच्छुक आवेदक शिविर में 10 रुपए शुल्क देकर आवेदन प्राप्त कर सकते है। परिवार के वयस्क सदस्यों का आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र की छायाप्रति व मुखिया का दो पासपोर्ट साइज फोटो संलग्न कर आवेदन उसी शिविर में जमा करना होगा। राशन कार्ड का वितरण 2 से 5 अक्टूबर के मध्य उसी शिविर स्थल में किया जाएगा। राशनकार्ड दल द्वारा किसी परिवार को पात्र या अपात्र करने की स्थिति में असंतुष्ट होने पर दावा-आपत्ति संबंधित जनपद के सीईओ अथवा नगरीय निकाय के नगर पालिका अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं। संबंधित जनपद के सीईओ अथवा नगरीय निकाय के नगर पालिका अधिकारी के निर्णय से असंतुष्ट होने पर संबंधित तहसीलदार के समक्ष अपील प्रस्तुत कर सकते हैं। अंतिम निर्णय 25 सितंबर के पूर्व कर लिया जायेगा। पूर्व में जमा किये गये नवीनीकरण वाले राशन कार्ड का वितरण संबंधित शिविरों के माध्यम से की किया जा रहा है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804