GLIBS
03-04-2020
 पिता जीवनभर की कमाई देता है दामाद को फिर भी हरकत से बाज नहीं आते दहेजलोभी, विवाहिता से मारपीट

रायपुर/अंबिकापुर। एक बेटी के विवाह में उस पिता के जीवनभर की कमाई चली जाती है, लेकिन दहेजलोभियों का इससे क्या वास्ता उन्हें तो दहेज से मतलब है। जी हां एक ऐसा ही मामला आया है अंबिकापुर में जहां दहेज के सामानों में कमी निकालकर पति समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने विवाहिता से मारपीट की है। बलरामपुर जिले के सनावल थाने में आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने दहेज अधिनियम का मामला दर्ज किया है। मूलतः त्रिकुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम गोवर्धन की ममता ने पुलिस को बताया कि 18 जून 2018 को उसका विवाह त्रिसुली के सुरेश यादव के साथ सामाजिक रीति रिवाज से हुआ था। शादी के समय पिता ने अपनी हैसियत के अनुरूप दहेज में एक होण्डा मोटरसायकिल, 75 हजार रुपये नगद, 40 हजार रुपये का बर्तन और घरेलू इस्तेमाल के लिए पलंग, आलमारी, पेटी, रजाई गद्दा दिया था।

शादी के बाद एक माह तक सब कुछ ठीक रहा, बाद में अच्छा गाड़ी नहीं देने व कम रुपये दहेज में देने की बात को लेकर पति सास-ससुर, ननद मानसिक एवं शारिरिक रूप से प्रताड़ित करने लगे। शंका-संदेह कर गालीगलौज और रात दिन मारपीट से त्रस्त महिला ने इसकी जानकारी मायके में दी। आरोप है कि 30 मार्च को दिन मे तीन बजे डंडे से मारपीट किया, जिसमें उसे शरीर के कई हिस्से में चोटें आई हैं। गांव के लोगों ने ससुराल में उसे मिली प्रताड़ना को देखा, इसके बाद वह अपने मायके चली गई। महिला के लिखित आवेदन की जांच के बाद सनावल पुलिस ने पति सुरेश, ससुर हरिलाल, सास मानकुंवर, ननद निर्मला के विरुद्ध धारा 498-ए का मामला दर्ज कर लिया है।

02-04-2020
हैदराबाद में डॉक्टर को पीटा, डॉक्टरों ने सुरक्षा न मिलने पर काम बंद की चेतावनी दी, क्या यही मकसद है कुछ लोगों का

रायपुर/हैदराबाद। कोरोना के एक मरीज की मौत के बाद उसी अस्पताल में भर्ती मृतक के रिश्तेदार मरीजों ने डॉक्टर को पीट दिया और अस्पताल में तोड़फोड़ की। इस बात से नाराज डॉक्टरों ने सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने सुरक्षा ना मिलने पर काम बंद कर देने की चेतावनी दी है। इस स्थिति से सारा प्रशासन हिल गया है, मुख्यमंत्री से लेकर गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने भी इस मामले में दखल दिया है। पुलिस के तमाम बड़े अफसर अस्पताल पहुंच गए हैं। मारपीट करने वाले लोगों को तो फिलहाल अस्पताल में अलग-अलग रखा गया है। उनकी गिरफ्तारी कागजों पर कर ली गई है, चूंकि वे अस्पताल में इलाज करा रहे हैं, इसलिए उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है।

फिलहाल अब सवाल यह उठता है कि आखिर डॉक्टरों से मारपीट क्यों की गई? सिर्फ हैदराबाद नहीं इंदौर में भी सैंपल लेने गई जांच टीम पर पथराव किया गया। इसके अलावा देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी कोरोना की जांच का विरोध हुआ है और डॉक्टरों पर हमले हुए हैं। क्या यह कोरोना के खिलाफ बेहद सुनियोजित ढंग से जारी जंग को असफल करने की साजिश नहीं? क्या यह कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को धमकाने की साजिश तो नहीं? क्या ये जांच टीम को जांच से रोकने कि अप्रत्यक्ष धमकी तो नहीं? सारे सवाल कहीं ना कहीं एक षड्यंत्र की ओर इशारा करते हैं, जो देश को स्थिर होता नहीं देख पा रहे हैं। उन्हें अस्थिरता चाहिए। उन्हें देश की मजबूती शायद पसंद नहीं है और संकट की इस घड़ी में जिस तेजी से जिस मजबूती से देश कोरोना के खिलाफ उठ खड़ा हुआ और लड़ रहा है। वह शायद ऐसे तत्वों को पच नहीं रहा है। ऐसे तत्वों के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई किया जाना बहुत जरूरी है अन्यथा कोरोना से ज्यादा गंभीर यह गद्दारी की बीमारी अन्य प्रदेशों में भी फैल सकती है।

26-03-2020
आटा चक्की में युवक से जबरिया मारपीट कर रॉड से वार, मामला दर्ज

रायपुर। देशव्यापी लॉकडाउन और राजधानी में धारा 144 लागू होने के बाद भी खुलेआम अपराधी अपराधों को अंजाम देते हुए और नियमों को धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे है। बता दें कि बीती रात मौदहापारा थाना क्षेत्र अंतर्गत जोरापारा क्षेत्र में एक युवक पर तीन युवकों ने ताबड़तोड़ हमला करते हुए रॉड से वार कर दिया। इससे युवक विजय गुप्ता ज़ख्मी हो गया। मामले की शिकायत विजय गुप्ता ने मौदहापारा थाने पहुंचकर दर्ज कराई। दर्ज शिकायत के अनुसार जोरापारा निवासी बाबूलाल, शंखु व चिंटू ने अचानक 9 बजे उनके निवास स्थान रैनबसेरा के सामने पहुंचकर गाली-गलौच करते हुए विजय पर रॉड से हमला किया। इसके कारण विजय के चेहरे और गाल पर चोटे आई है। हालांकि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 294,323,34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। गौरतलब है कि स्थानीय रहवासियों ने भी तीनों युवकों के खिलाफ थानेे में पहले लिखित शिकायत दर्ज करवाइ है। बावजूद इसके पुलिस बदमाशों पर नियंत्रण पाने में असफल दिख रही है। रहवासियों का आरोप है कि बदमाश जोरापारा पर ए​कत्रित होकर जुआ खेलने के साथ-साथ नशीले पदार्थों का भी सेवन करते हैं। इतना ही नहीं आने—जाने वाली ल​ड़कियों पर भी अश्लील कमेंट पास करते हैं। महिलाओं ने थाने में लिखित शिकायत कर कहा है कि विजय गुप्ता ने आज भागकर अपनी जान बचाइ है। उक्त घटना के बाद से ही माहौल तनावपूर्ण है व युवतियों ने खुद को उक्त इलाके में असुरक्षित बताया है। मौदहापारा थाना प्रभारी यदुमणि सिदार ने बताया कि थाना पुलिस की ओर से पेट्रोलिंग लगातार की जाती है। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

21-03-2020
पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले आरोपी पति को पुलिस ने 2 साल बाद किया गिरफ्तार

भिलाई। शराब पीकर अपनी पत्नी के साथ मारपीट कर उसको आत्महत्या के लिए प्रेरित करने वाले पति को पुलिस ने दो साल बाद गिरफ्तार किया। आरोपी पति के खिलाफ पुलिस ने धारा 306 के तहत जुर्म दर्ज किया है। छावनी पुलिस ने बताया कि आदर्श नगर कैम्प 1 निवासी रेशम चौधरी उर्फ रष्मि का विवाह सन 2012 में हरिशंकर चौधरी के साथ हुआ था। 26 जून 2018 को हरिशंकर शराब पीकर अपने घर पहुंचा और रश्मि के साथ मारपीट करने लगा। पति पत्नी का विवाद इतना बढ़ गया कि घटना की रात 2 बजे रश्मि ने अपने शरीर पर मिट्टी तेल उडेलकर आग लगा ली। जिसे गंभीर अवस्था में उपचार के लिए जिला अस्पताल में भेजा गया। जहां उपचार के बाद 30 जून को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया और घटना के बाद से पति हरिशंकर फरार हो गया।

पुलिस आरोपी पति की गिरफ्तारी के लिए खोजबीन करती रही, लेकिन उसके नहीं पकड़े जाने के बाद तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने 29 सितंबर 2018 को पकड़ने के लिए 3000 रूपए का इनाम रखा था। आरोपी हरिशंकर चौधरी को पकडने के लिए सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर ने टीम बनाई थी। टीम मे उप निरीक्षक केपी सिदार, सउनि राजेश पाण्डेय, अजय सिंह, प्रधान आरक्षक पारस सिन्हा, चेतन साहू, आरक्षक अरविंद मिश्रा, अखिलेश मिश्रा, अजीत यादव, सत्येन्द्र मढरिया, अनिल सिंह को शामिल किया गया। मुखबिर से टीम कोे सूचना मिली थी कि आरोपी हरिशंकर चौधरी अपने निवास एक दो घंटे के लिए आत है। जिस पर पुलिस ने रायपुर इण्डस्ट्रीयल एरिया मे पतासाजी की, जहां से पता चला कि आरोपी कुम्हारी स्थित केडिया  डिस्टलरी में प्राइवेट काम करता है। पुलिस ने उसे तुरंत गिरफ्तार किया और पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि वह अपनी पत्नी को प्रताड़ित करता था और आत्महत्या करने के लिए अपनी पत्नी को उकसाया था।

21-03-2020
दुपट्टे से फांसी लगाकर दे दी जान, सुसाइड नोट में लिखा 'न तो वह मुझे छोड़ रहा और न ही उस लड़की को'

रायपुर। अंबिकापुर में विवाहिता ने अपने दुपट्‌टे से फंदा बनाकर फांसी लगाकर जान दे दी। फांसी से पहले विवाहिता ने रोते हुए मोबाइल से सेल्फी ली। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुट गई है। हालांकि पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। नोट में लिखा है कि पति के लिए लिखा कि न तो वह मुझे छोड़ रहा है और न ही उस लड़की को। यहीं नहीं पत्र में विवाहिता ने कहा है कि मरने के बाद मेरा शव माता-पिता को सौंप दिया जाए। इसके साथ ही अपने पति और उसकी प्रेमिका पर कार्रवाई की मांग की। मिली जानकारी के अनुसार घुटरापारा निवासी प्रिया सोनी की विवाह 5 साल पहले सौरभ से हुई थी। बीते बुधवार को प्रिया जब घर में अकेली थी तो उसने आत्महत्या की। जब परिजन पहुंचे तो लाश फांसी के फंदे पर लटकती हुई मिली। पुलिस ने मौके से सुसाइड नोट बरामद किया। पुलिस को उसके मोबाइल में एक सेल्फी भी मिली है। प्रिया के पिता ने आरोप लगाया है कि उसका पति और परिवार के लोग उससे मारपीट कर प्रताड़ित करते थे।

क्या लिखा सुसाईड नोट में पढ़े : 
न वह मुझे छोड़ रहा और न जूली को प्रिया ने सुसाइड नोट में लिखा है कि “आज मैं सौरभ और जूली की वजह से आत्महत्या कर रही हूं। क्योंकि सौरभ मेरी जिंदगी बर्बाद कर रहा है। न वह मुझे छोड़ रहा है और न ही जूली को और मैं ऐसे नहीं रह सकती। अब मैं नहीं जीना चाहती। मैं आज अपनी जान दूंगी और मेरे मरने के बाद मेरा शरीर मेरे मां-बाप को सौंप दिया जाए। ये मेरी आखिरी इच्छा है। मेरे मरने के बाद सौरभ और जूली पर भी कार्रवाई की जाए।

19-03-2020
टोनही होने की आशंका में पड़ोसियों ने महिला पर किया जानलेवा हमला, बीच बचाव करने आए बेटों को भी पीटा  

जांजगीर चांपा। जांजगीर थाना क्षेत्र के ग्राम मुनुन्द में टोनही की आशंका को लेकर कश्यप समाज के दो परिवारों के बीच जमकर मारपीट और विवाद हुआ। इस दौरान एक परिवार ने घर में घुसकर टोनही होने की आशंका जताते हुए महिला पर लाठी से जानलेवा हमला कर दिया। जब महिला के पुत्र बीच बचाव करने आए तो पड़ोसियों ने उनकी भी जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर विवाद हुआ और विवाद की शिकायत लेकर दोनों पक्ष जांजगीर थाना पहुंचे। दोनों पक्षों की शिकायत सुनने के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों के पांच- पांच लोगों के खिलाफ बलवा का मामला दर्ज कर लिया है। 

 

16-03-2020
पत्नी सहित तीन बेटों ने मिलकर की शराबी पिता की हत्या 

रायपुर। शराबी पिता के तीन बच्चों और पत्नी ने मिलकर हत्या कर दिया है। बता दें कि शराब के नशे में आए दिन घर में हंगामा करते हुए मारपीट करने वाले एक 61 साल के बुजुर्ग की हत्या तीन पुत्रों और उसकी पत्नी ने मिल कर दी। शव को करीब डेढ़ किलोमीटर दूर नाले में रेत के नीचे ढ़क दिया। वहीं घटना के समय बुजुर्ग का चौथा पुत्र गायब था। वापस लौटा तो उसने लापता पिता की पतासाजी की, तब जाकर 49 दिन बाद यह सनसनीखेज मामला सामने आया। पुलिस ने शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम कराया है। मृतक की पत्नी और तीनों पुत्र को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह घटना जटगा पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले ग्राम केशलपुर की है। यहां रहने वाले ग्रामीण नंदलाल पिता सुधुराम धनवार आदतन शराबी होने के कारण नशे की अवस्था में आए दिन अपनी पत्नी फूलमतिया बाई के अलावा पुत्रों के साथ विवाद करते हुए मारपीट किया करता था। आदतन शराबी पिता चार पुत्रों में दूसरे नंबर का पुत्र विजयपाल का ही लगाव पिता से था। बताया जा रहा कि 27 जनवरी को विजयपाल घर पर नहीं था। मदहोश अवस्था में नंदलाल पहुंचा और अपनी आदत मुताबिक फूलमतिया के साथ गाली गलौज करते हुए पिटाई करने लगा। पुलिस ने मृतक की पत्नी, दो नाबालिग पुत्र समेत बृजलाल को धारा 302, 201, 34 के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

15-03-2020
शराब पीने के लिए पैसे नहीं देने पर नुकीली चीज से वार, मामला दर्ज

रायपुर। शराब पीने के लिए पैसा नहीं देने पर नशेड़ियों द्वारा मारपीट और चाकूबाजी की घटनाएं आए दिन घटती है। लेकिन पुलिस अपना भय बनाने में नाकाम दिख रही है। इसी कड़ी में आजाद चौक थाने में प्रार्थी अमर सिंह ने रिपोर्ट दर्ज करायी है कि भोला निषाद ने शराब पीने के लिए पैसे मांगे नहीं देने पर आरोपी भोेला निषाद ने गाली-गलौच करते हुए नुकीली चीज से वार कर जान से मारने की धमकी दी। उक्त मामले में आजाद चौक थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 294, 506, 323 एवं 327 के तहत मामला कायम किया है।

 

15-03-2020
शराब के लिए पैसा नहीं देने पर युवक की जमकर पिटाई, मामला दर्ज

रायपुर। शहर के गुढिय़ारी थाना क्षेत्र में शराब पीने के लिए पैसे नहीं देने पर मारपीट गाली-गलौच कर जान से मारने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। थाने से मिली जानकारी के अनुसार दीपक मानिकपुरी निवासी विकासनगर गुढिय़ारी ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि शुभम नायक एवं उसके अन्य साथियों ने शराब पीने के लिए पैसा मांगा पैसा नहीं देने पर आरोपियों ने उसकी जमकर पिटाई कर जान से मारने की धमकी दी। उक्त मामले में गुढिय़ारी थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 294, 506, 327 एवं 34 के तहत मामला पंजीबद्ध किया है।

 

13-03-2020
तेलीबांधा चौक पर युवक को गुंडों ने डंके की चोट पर पीटा, वीडियो हुआ वायरल मगर पुलिस पर असर नहीं

रायपुर। शहर में कानून व्यवस्था नाम मात्र के लिए रह गई है। बीती सुबह तेलीबांधा चौक पर  5 बजे निगरानी बदमाश अजय मोटवानी उर्फ अज्जू सिंधी, राहुल आहूजा उर्फ गोपी सिंधी, सुनील मंदोतिया समेत अन्य 1 आरोपी युवक  ने अक्षय कारवानी को चौक के पास कार से ओवरटेक कर उसको रोककर अश्लील गाली-गलौच करते हुए उससे मारपीट करते हुए कपड़े फाड़ने की कोशिश की। पूरी घटना का वीडियो बहन ने जब बनाने की कोशिश की आरोपियों ने उससे भी गाली गलोच की। अब सोशल मीडिया पर तेज़ी से मारपीट का वीडियो वायरल हो रहा है। बता दे कि अजय मोटवानी और राहुल आहूजा तेलीबांधा थाना क्षेत्र के पुराने निगरानी शुदा बदमाश है। दोनो पर  कई गंभीर धाराओं में अपराध दर्ज है। इस पूरी घटना के दौरान अक्षय की बहन वीडियो की रिकॉर्डिंग कर रही थी, जिस पर आरोपी भड़क कर युवती के साथ भी अश्लील गाली-गलौच कर हाथा-पाई करने लगे। घटना की लिखित शिकायत पीड़ित अक्षय ने घटना के तत्काल बाद तेलीबांधा थाना पहुँचकर की ।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804