GLIBS
20-11-2020
कोंडागांव में इन दोनों ने विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन किया है, अगर किसी की असहमति हो तो आपत्ति दर्ज करा सकते हैं

रायपुर/कोण्डागांव। विवाह पंजीयन के विरूद्ध आपत्ति आवेदन के​ लिए सूचना जारी है। न्यायालय अपर कलेक्टर व विशेष विवाह अधिकारी के अनुसार ओमप्रकाश उम्र 26 वर्ष और राजबती शोरी उम्र 30 वर्ष से विशेष विवाह अधिनियम 1954 के अध्याय-5 के तहत विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया है। इस प्रस्तावित पंजीकरण के विरुद्ध कोई भी व्यक्ति यदि आपत्ति दर्ज कराना चाहता हो तो लिखित आपत्ति 16 दिसंबर के पूर्व न्यायालय अपर कलेक्टर में प्रस्तुत कर सकता है। निर्धारित अवधि के बाद प्राप्त आपत्ति आवेदन पर कोई सुनवाई नहीं की जाएगी।

06-11-2020
रेव्हेन्यू रिकाॅर्ड एवं नक्शों के अद्यतनीकरण करने के कलेक्टर ने दिए अधिकारियों को निर्देश

कोंडागाँव। कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने जिले के समस्त राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने राजस्व के सभी लंबित मामलों के निराकरण में तेजी लाने का निर्देश देते हुए केशकाल, कोण्डागांव, फरसगांव अनुविभाग के मसाहती, ग्रामों के सीमा निर्धारण, सर्वेक्षित-असर्वेक्षित ग्राम, आईटी रूडकी आधारित बंदोबस्त की जानकारी, भूमि चिन्हाकन, बटांकन, नामांतरण, बी-1 नक्शा खसरा मिलान, नक्शा विहीन ग्राम, तहसीलों में विवादित-अविवादित नामांतरण, भूमि व्यपवर्तन के प्रकरण की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि राजस्व रिकाॅर्डों का दूरूस्तीकरण के लिए जीर्ण-शीर्ण हो चूके नक्शों का अद्यतनीकरण सर्वाधिक जरूरी है और इसके लिए तहसीलवार पटवारी और राजस्व निरीक्षक टीम का गठन किया जाना चाहिए साथ ही जिन ग्रामों के नक्शे अनुपलब्ध दर्शाये गये हैं उन गांवों में सर्वे किये जाने की कार्यवाही की जाये। इसके आगे उन्होंने कहा कि किसी भी दर्ज प्रकरण एवं उसके निराकरण का आदेश उसके रिकाॅर्ड के अपडेट होने के पश्चात् ही बंद होंगे।

इसके साथ ही बैठक में अनुविभाग एवं तहसीलवार भूईंया साॅफ्टवेयर में दर्ज ग्रामों की जानकारी, तहसील स्तर पर स्टाॅफ, नवीन कम्प्यूटर सह उपकरणों की संख्या, पटवारियों के रिक्त पद, बंदोबस्त त्रुटि सुधार कार्य की प्रगति, अन्य राजस्व प्रकरणों के निराकरण, मूल मिसल बंदोबस्त से मिलान उपरांत शासकीय भूमि का चिन्हाकन और उनसे अतिक्रमण हटाना, नक्शा सहित भू-अभिलेख का अपडेशन अर्थात बटवारे आदि का नक्शे में प्रविष्टि इत्यादि के संबंध में जानकारियां दी गई। बैठक में कलेक्टर द्वारा इसके अलावा राजस्व अधिकारियों से उनके कार्य क्षेत्र में आने वाली दिक्कतो एवं उनके निराकरण पर भी चर्चा किया गया। इस क्रम में जानकारी दी गई की जिले में 60 से 70 वर्ष पूर्व किये गये बदोंबस्त के आधार पर रिकार्ड प्रचलन में है और इस कालखण्ड के बीच कहीं कही भूमि का 100 से 150 बटवारा, विभाजन हो चूका है। इसके अलावा नये निर्माण कार्य जैसे तालाब, रोड, नये भवन का चिन्हाकंन भी नहीं है पुराने नक्शों का जीर्णशीर्ण होना भी एक बड़ी समस्या है और इन्हे टिकाउ बनाने के लिए कपड़ो में ट्रेसिंग कराया जाना उचित होगा साथ ही नये पदस्थ राजस्व मैदानी कर्मचारियों के लिए इस कार्य के लिए  नियमित रूप से प्रशिक्षण सत्र चलाये जाने की आवश्यकता है। बैठक में कलेक्टर ने मास्टर ट्रेनर के माध्यम से पटवारियों एवं आरआई के लिए के लिए शीघ्र ही प्रशिक्षण सत्रो के आयोजन की भी बात कही। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी (कोण्डागांव) बीआर धु्रव, (केशकाल) डी.डी. मण्डावी (फरसगांव) डी.आर.ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर बी.आर.ध्रुव सहित जिले भर के  राजस्व अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

 

06-11-2020
कोंडागांव के राजस्व अफसरों की समीक्षा बैठक ली कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने

रायपुर/कोण्डागांव। जिले के समस्त राजस्व अधिकारियों की कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने राजस्व के सभी लंबित मामलों के निराकरण में तेजी लाने का निर्देश देते हुए केशकाल, कोण्डागांव, फरसगांव अनुविभाग के मसाहतीत, ग्रामों के सीमा निर्धारण, सर्वेक्षित-असर्वेक्षित ग्राम, आईटी रूडकी की जानकारी, भूमि चिन्हाकन, बटांकन, नामांतरण, बी-1 नक्शा खसरा मिलान, नक्शा विहीन ग्राम, तहसीलों में विवादित-अविवादित नामांतरण, भूमि व्यपवर्तन के प्रकरण की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि राजस्व रिकॉर्डों का दूरूस्तीकरण के लिए जीर्ण-शीर्ण हो चूके नक्शों का अद्यतनीकरण सर्वाधिक जरूरी है और इसके लिए तहसीलवार पटवारी और राजस्व निरीक्षक टीम का गठन किया जाना चाहिए साथ ही जिन ग्रामों के नक्शे अनुपलब्ध दर्शाए गए हैं उन गांवों में सर्वे किए जाने की कार्यवाही की जाए।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसी भी दर्ज प्रकरण एवं उसके निराकरण का आदेश उसके रिकॉर्ड के अपडेट होने के बाद ही बंद होंगे। इसके साथ ही बैठक में अनुविभाग एवं तहसीलवार भंइयां सॉफ्टवेयर, तहसील स्तर पर स्टॉफ, नवीन कम्प्यूटर सह उपकरणों की संख्या, पटवारियों के रिक्त पद, बंदोबस्त त्रुटि सुधार कार्य की प्रगति, अन्य राजस्व प्रकरणों के निराकरण, मूल मिसल बंदोबस्त से मिलान उपरांत शासकीय भूमि का चिन्हाकन और उनसे अतिक्रमण हटाना, नक्शा सहित भू-अभिलेख का अपडेशन अर्थात बटवारे आदि का नक्शे में प्रविष्टि इत्यादि के संबंध में जानकारियां दी गई। बैठक में यह भी बताया गया कि बैठक में कलेक्टर ने इसके अलावा राजस्व अधिकारियों से उनके कार्य क्षेत्र में दिक्कतों एवं उनके निराकरणों में भी चर्चा किया गया। इस क्रम में जानकारी दी गई की जिले में 60 से 70 वर्ष पूर्व किए गए बदोंबस्त के आधार पर रिकार्ड प्रचलन में है और इस कालखण्ड के बीच कहीं कहीं भूमि का 100 से 150 बटवारा, विभाजन हो चूका है। इसके अलावा नए निर्माण कार्य जैसे तालाब, रोड, नये भवन का चिन्हाकंन नहीं है पुराने नक्शो का जीर्णशीर्ण होना भी एक बड़ी समस्या है और इन्हे टिकाउ बनाने के लिए कपड़ो में ट्रेसिंग कराया जाना उचित होगा साथ ही नए पदस्थ राजस्व मैदानी कर्मचारियों के लिए नियमित रूप से इस कार्य के लिए प्रशिक्षण सत्रो चलाये जाने चाहिए। बैठक में कलेक्टर ने मास्टर ट्रेनर के माध्यम से पटवारियों एवं आरआई के लिए के लिए शीघ्र ही प्रशिक्षण सत्रो के आयोजन की भी बात कही। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी (कोण्डागांव) बीआर ध्रुव (केशकाल), डीडी मण्डावी (फरसगांव), डीआर ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर बीआर ध्रुव सहित जिले भर के राजस्व अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

05-11-2020
राज्य महिला आयोग ने की छः प्रकरणों की सुनवाई

कोंडागाँव। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डाॅ.किरणमयी नायक ने गुरुवार को महिलाओं के उत्पीड़न से संबंधित प्रकरणों की सुनवाई जिला कार्यालय के सभाकक्ष में की। सुनवाई के प्रकरणों में कोण्डागांव जिले के पांच एवं नारायणपुर जिले के एक प्रकरण शामिल थे। इसमें मानसिक प्रताड़ना,मारपीट से संबंधित प्रकरण थे। सुनवाई के दौरान शासन द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंस एवं फिजिकल डिस्टेंस का पालन किया गया। इसके पूर्व जिला कार्यालय पहुंचने पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डाॅ. किरणमयी नायक का कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा द्वारा पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया।  सुनवाई के दौरान सभी पक्षकार सहित महिला बाल विकास एवं पुलिस विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

 

03-11-2020
प्रदेश अध्यक्ष मरकाम ने बोराई क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की मुलाकात

रायपुर\नगरी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम नगरी प्रवास के दौरान कोंडागांव जाते समय कांग्रेस के व्यापारी प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव कैलाश जैन के निवास पर रूके। यहां उन्होंने क्षेत्र के कांग्रेसियों से मुलाकात की। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य मनोज साक्षी, विरेन्द्र यादव, ज्ञानदास कोर्राम, बबलू मंडावी, रामेश्वर समरथ, मनोज पटेल, सुरेश, सुरेन्द्र, हेमन्त सलाम, उमेश साक्षी, संदीप, पिन्टु मंडावी, अवधेष, विरेन्द नेताम, बृज पटेल, गुलाब नेताम, सलाम रंजना, मुना जैन, युवराज, सन्जु साहु, धनेश,धरमसिंह, राम सिंह, राजेश, दुलार, हरदयाल समरथ मुख्य रूप से उपस्थित थे।

 

02-11-2020
'आमचो यातायात चो गोठ' अभियान चलाकर यातायात पुलिस ने ग्रामीणों को बताए नियम

कोंडागांव। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन में गांव के हाट बाजार में लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से यातायात पुलिस कोंडागांव द्वारा आम्चो यातायात चो गोठ नाम से  अभियान चलाया जा रहा है। सोमवार को उपपुलिस अधीक्षक (यातायात) निकिता तिवारी, यातायात प्रभारी उप निरीक्षक रविशंकर पांडेय एवं थाना प्रभारी विश्रामपुरी रविशंकर ध्रुव द्वारा इस अभियान की शुरुआत थाना विश्रामपुरी क्षेत्र के ग्राम विश्रामपुरी एवं बड़े राजपुर के साप्ताहिक बाजार से की गई,जहां बाजार में होर्डिंग लगाकर यातायात संकेत तथा नियमों की जानकारी आमजन को दी गई। नागरिकों को बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं के कारणों को बताकर उनसे बचने के उपाय बताए गए। अभियान में न केवल यातायात नियमों की जानकारी दी गए बल्कि इसके साथ ही उपस्थित नागरिकों को मास्क वितरित कर आगामी दीवाली त्योहार में कोविड संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्तांसिंग का पालन करते हुए , मास्क एवं स्वच्छता का ध्यान रखकर सुरक्षित दीपावली मनाने की अपील भी की गई। मौके पर उपस्थित आमजन ने भी कार्यक्रम में रुचि दिखाते हुए यातायात संबंधित अपनी जिज्ञासा जाहिर की जिनका बड़ी सहजता से उप पुलिस अधीक्षक यातायात ने निराकरण किया।

 

23-10-2020
कोंडागांव में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर नियंत्रण व रोकथाम के लिए कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा ने दिए  आदेश

रायपुर/कोण्डागांव। जिले में बढ़ते कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि को दृष्टिगत रखते हुए नोवेल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के नियंत्रण व रोकथाम के लिए जिला प्रशासन से सभी संभव उपाय अमल में लाए जा रहे हैं। ज्ञात हो कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोविड-19 के प्रकरणों में लगातार इजाफा देखा गया है। इसे देखते हुए कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने आदेश जारी कर विकासखण्ड व ग्राम पंचायत स्तर पर होने वाली किसी भी प्रकार की बैठक के लिए संबंधित अनुभाग के अनुविभागीय दण्डाधिकारी (एसडीएम) से पूर्व अनुमति प्राप्त करना अनिवार्य कर दिया है। इस आदेश अनुसार ग्राम पंचायत एवं विकासखण्ड में बैठक के लिए एसडीएम की पूर्वानुमति आवश्यक होगी।

16-10-2020
तृतीय लिंग समुदाय का आर्थिक सशक्तिकरण जरूरी,कहा कोंडागांव कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा ने

रायपुर/कोण्डागांव। कोण्डागांव के जिला कार्यालय के सभाकक्ष में ‘थर्ड जेंडर‘ समुदाय के व्यक्तियों की पहचान व उनके कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर समीक्षा बैठक हुई। इसमें कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने कहा ‘वर्तमान में तृतीय लिंग समुदाय का आर्थिक सशक्तिकरण होना जरूरी है। इसमें शासकीय प्रयासों के अलावा समाज के हर वर्गों को पहल करनी होगी। क्योंकि प्रायः देखा गया है कि किसी भी वर्ग का आर्थिक पिछड़ापन उसकी मूल समस्या होती है। अतः तृतीय लिंग समुदायों के व्यक्तियों को शासकीय योजनाओं से लाभांवित करने के अलावा स्वरोजगार के लिए विभिन्न व्यवसायों में प्रशिक्षित करने से इस लक्ष्य की प्राप्ति हो सकती है। इसके लिए शासकीय एवं अशासकीय संस्थाओं को मानवीय दृष्टिकोण अपनाना होगा।‘ कलेक्टर ने आगे कहा कि ट्रांसजेंडर, किन्नर समुदायों के लिए कौशल विकास एवं जिला अंत्यावसायी के तहत् प्रशिक्षण सुविधाएं भी उपलब्ध है। जहां आवश्यकता के अनुरूप रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण देकर उन्हें सक्षम बनाया जा सकता है ताकि वे प्रशिक्षण प्राप्त कर स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकें। इन वर्गों के आर्थिक सामथ्र्य में मजबूती से ही इनके प्रति सामाजिक सोच भी बदलेगी और इनके लिए आर्थिक प्रगति का मार्ग प्रशस्त होगा। इसके अलावा सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाओं में उपलब्ध रिक्तियों पर भी समूदाय के लोगों को उनकी योग्यता अनुसार रोजगार के विकल्प दिये जायेंगे।

बैठक में उन्होंने बताया कि पूरे जिले में तृतीय लिंग समूदाय के 35 व्यक्तियों को चिन्हाकित किया गया है। इनके लिए राशन कार्ड, मतदाता परिचय पत्र, बैंक पासबुक इत्यादि व्यवस्था करने के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए गये हैं। इसके अलावा इन वर्गों के हितार्थ शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा प्रत्येक समय-सीमा बैठक में भी आवश्यक रूप से की जावेगी। ज्ञात हो कि उच्चतम न्यायालय के महत्वपूर्ण निर्णय द्वारा थर्ड जेंडर समूदाय की दयनीय स्थिति को सुधारने, समाज में उचित स्थान दिलाने एवं शासकीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण निर्देश जारी किए गये हैं। इस संबंध में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार की ओर से गठित विशेषज्ञ समिति के सुझावों के निर्णय के परिपेक्ष्य में क्रियान्वयन की जानकारी भी चाही गई है। बैठक में सहायक संचालक समाज कल्याण विभाग ललिता लकड़ा, तृतीय लिंग समूदाय के प्रतिनिधि रजनी यादव, संतोषी, बिजली, पूजा, काजल किन्नर, सामाजिक कार्यकर्ता योगेश खापर्डे, हरेन्द्र यादव उपस्थित थे।

 

15-10-2020
सरेराह व्यापारी की हत्या राज्य सरकार की कानून व्यवस्था ध्वस्त होने का प्रमाण : केदार कश्यप 

कोंडागांव। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कोंडागांव के व्यापारी की हत्या को राज्य सरकार की नाकामी करार दिया ​है। उन्होंने कहा है कि राजधानी रायपुर के व्यस्त इलाका जयस्तम्भ चौक पर कोंडागाँव निवासी इरशाद अहमद की दिनदहाड़े हत्या ने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है। राजधानी में आम इंसान कितना असुरक्षित है। यह घटना इस बात का जीता जागता प्रमाण है। पूर्व मंत्री कश्यप ने कहा कि घटना से साबित हो गया है कि कांग्रेस सरकार आम आदमी की सुरक्षा करने में पूरी तरफ नाकाम हो गई है। राजधानी रायपुर जहाँ प्रदेश के मुखिया और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी रहते हैं। उसके अलावा पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद रहते हैं। ऐसे शहर के बीचों बीच थाने के पास ऐसी घटना होना पूरे सरकार की कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है। कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार इस मामले की उच्चस्तरीय जाँच करवाकर हत्या में शामिल लोगों पर उचित कार्यवाही करें। इससे कि लोगों में राजधानी की कानून व्यवस्था को लेकर विश्वास पैदा हो। शहर में युवा, गांव में बेटी और यहां तक पत्रकार भी सुरक्षित नहीं है। रायपुर शहर में सरेआम दिनदहाड़े इरशाद अहमद की हत्या की गई। बनिया गांव की यूवती का बलात्कार किया गया। यहां तक निष्पक्ष आवाज उठाने वाले पत्रकारों की भी पिटाई की गई। कांग्रेस सरकार आने से कोई सुरक्षित नहीं है। आम आदमी बाहर निकलने के लिए डर रहा है।

10-10-2020
दुष्कर्म के मामलों को लेकर गरमाई राजनीति, भाजपा का धरना जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लगातार दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर भाजपा का धरना प्रदर्शन शुरू हो गया है। उधर कोंडागांव में आदिवासी किशोरी से गैंगरेप के मामले का 7वां और आखिरी आरोपी शनिवार सुबह बेमेतरा से गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में राजनीति भी गरमा गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस को आरोपी के भागने की सूचना मिली थी। इस आधार पर बेमेतरा में छत्तीसगढ़ बॉर्डर से आरोपी को पकड़ा गया। वह एक बोर गाड़ी में छिपकर भाग रहा था। इससे पहले शुक्रवार को एक नाबालिग को भी इस मामले में पकड़ा गया था। उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया है। इस मामले में थाना प्रभारी को भी सस्पेंड किया जा चुका है।

इधर राजधानी में दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर भाजपा का धरना शुरू हो गया है। भाजपा महिला मोर्चा और अनुसूचित जाति मोर्चा की ओर से दिए जा रहे इस धरने में कई पूर्व मंत्री भी मौजूद रहे। पूर्व सांसद सोहन पोटाई, किशोरी के परिवार से मिलने वाले हैं। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम भी शाम करीब 5 बजे तक पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जाएंगे।बता दें कि आदिवासी किशोरी दो माह पहले एक शादी समारोह में गई थी। सातों आरोपी उसे वहां से उठाकर जंगल में ले गए और गैंगरेप किया। इसके बाद किशोरी ने आत्महत्या कर ली थी। मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज नहीं होने पर किशोरी के पिता ने भी खुदकुशी कर ली। इसके बाद किशोरी की एक सहेली से इस मामले का खुलासा हुआ। खबर सामने आने के बाद प्रशासन ने कार्रवाई शुरू की।

 

10-10-2020
कोंडागांव सामूहिक दुष्कर्म मामला : मोहन मरकाम ने कहा- भाजपा नेताओं की भूमिका संदेह के दायरे में, एसआईटी कर रही जांच

रायपुर। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कोंडागांव में हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में  शनिवार को भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा से समर्थन प्राप्त सरपंच ने इस मामले को उजागर होने नहीं दिया। मोहन मरकाम ने कहा कि इस मामले में सरकार ने सक्रियता दिखाई है। कुछ आरोपियों को पकड़ लिया गया है। एसआईटी इसकी जांच कर रही है। मामला कोंडागांव जिले में केशकाल के ओड़ागांव की है। पड़ीता की सहेली ने बताया है कि करीब तीन महीने पहले दोनों कानागांव में आयोजित एक शादी समारोह में शामिल होने गए थे। यहां शादी में देर रात तक नाच-गाना चला। इसी दौरान कानागांव और फूंडेर गांव के सात युवकों ने उसकी सहेली को शादी वाले घर से उठा लिया और उसे जंगल की ओर ले जाकर दुष्कर्म किया। घटना के दो दिनों बाद युवती ने आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने पिछले तीन महीनों में न तो मामले में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज की थी और न ही इस तरह की कोई जांच की। मृतिका की सहेली ने आवाज उठाई तब जाकर पुलिस हरकत में आई है। युवती के शव को कब्र से निकलवाया गया और पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। मामले में पुलिस ने 3 को हिरासत में ले लिया है। आत्महत्या करने वाली युवती के पिता ने भी 4 अक्टूबर को घर में पड़ा कीटनाशक खाकर आत्महत्या का प्रयास किया था। हालांकि परिजनों ने पिता को समय रहते हॉस्पिटल पहुंचा दिया, जिससे उनकी जान बच गई।

05-10-2020
Video: कोंडागांव में हाथरस कांड के विरोध में निकाला गया मौन जुलूस,मोहन मरकाम रहे मौजूद

रायपुर/कोंडागांव। जिला कांग्रेस कमेटी कोंडागांव ने हाथरस कांड के विरोध में सोमवार को मौन जुलूस निकाला। जिला स्तरीय मौन सत्याग्रह आंदोलन में प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम शामिल हुए। प्रदेश प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि उत्तरप्रदेश के हाथरस की बेटी के साथ हुए अत्याचार के विरोध में और बेटी को न्याय दिलाने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग की गई है।  कोंडागांव जिला कांग्रेस कमेटी ने मौन जुलूस निकालकर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। रैली का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने किया।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804