GLIBS
07-08-2020
Video: भिलाई में बने प्रधानमंत्री आवास योजना की समस्याओं को लेकर निवासियों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा

भिलाई। नगर निगम के अंतर्गत खुर्सीपार क्षेत्र में बनाए गए प्रधानमंत्री आवास योजना के निवासियों ने कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। इसमें वहां के निवासियों ने शिकायत की है कि प्रशासन द्वारा बनाए गए उक्त आवासों के सीवेज लाइन व पाइप लाइन की स्थिति बहुत ही दयनीय है। सीवर लाइन जाम होने की शिकायत हमेशा बनी रहती है और इन सब मांगों को लेकर वहां के निवासियों ने भिलाई नगर निगम व विधायक सहित कई अधिकारियों से शिकायत की लेकिन उनकी मांग पर आज तक कार्यवाही नहीं की गई। इससे परेशान होकर आज निवासियों ने जिला कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। इसमें जिलाधीश ने समस्याओं को सुनकर जल्द से जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। गौरतलब है कि प्रशासन की महती प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गए इन मकानों के स्थिति बहुत ही जर्जर हो चुकी है और यहां के निवासियों द्वारा कई बार ज्ञापन व शिकायत के माध्यम से अपनी बात जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों द्वारा पहुंचाई गई लेकिन आज तक इस पर कार्यवाही ना होने से वहां के निवासियों में जिला प्रशासन के प्रति रोष उत्पन्न हो रहा है।

 

05-08-2020
भिलाई विधायक व महापौर देवेंद्र यादव को रायपुर एम्स शिफ्ट किया गया

भिलाई। भिलाई विधायक व महापौर देवेंद्र यादव को 2 अगस्त को कोरोनावायरस का संक्रमण हुआ था। वहीं बुधवार देर शाम उन्हें रायपुर शिफ्ट किया गया। गौरतलब है कि 2 अगस्त को कोविड-19 का टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद यादव ने इसकी जानकारी खुद अपने ट्विटर अकाउंट पर दी थी और होम आइसोलेशन की बात कही थी। घर पर उनका उपचार चल रहा था। लेकिन उनकी सेहत के मद्देनजर बुधवार को उन्हें रायपुर एम्स शिफ्ट किया गया। बता दें कि देवेंद्र यादव पिछले कुछ दिनों से हम आइसोलेशन पर थे और उन्हें जल्द स्वस्थ लाभ हो सके इसके लिए रायपुर एम्स रिफर किया गया। ताकि कि वह जल्द से जल्द स्वास्थ्य लाभ लेकर दोबारा सक्रिय सेवा के कार्यों में लग सके।

 

04-08-2020
जगदलपुर महिला पॉलिटेक्निक के प्राचार्य ने भिलाई स्थित अपने घर में लगाई फांसी

भिलाई। महिला पॉलिटेक्निक कालेज के प्राचार्य ने अपने घर पर स्थित कम्प्यूटर रूम में फांसी लगा ली। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पीएम के लिए भेज दिया। स्मृति नगर चौकी प्रभारी प्रमोद श्रीवास्तव ने बताया कि सोमवार को स्टील कालोनी कातुलबोर्ड निवासी सुरेश चन्द्र बैरागी 56 वर्ष ने अपने घर के एक कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल से एक सुसायडल नोट भी मिला है। जिसमें लिखा है, मैं अपनी इच्छा से मौत को गले लगा रहा हूं। मेरे परिवार वालों को जवाबदार न माना जाए। फिलहाल मामले में पुलिस विवेचना में जुटी हुई है। मृतक के दोनों पुत्र राज्य से बाहर रहते हैं। एक हैदराबाद तो दूसरा अमेरिका में है। मौत का कारण फिलहाल नही पता चल पाया है। मृतक महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज जगदलपुर में प्राचार्य के पद पर पदस्थ था। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है। इस आत्महत्या के घटना में परिजनों से बयान लेने के बाद ही कुछ पता चल पाएगा कि उक्त प्राचार्य ने किस परिस्थिति में आत्महत्या की है।

 

01-08-2020
शहरी गौठान में समन्वय समिति की महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

भिलाई। गोधन न्याय योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए नगर पालिक निगम के कोसानगर स्थित शहरी गौठान में समन्वय समिति की महिलाओं को दो चरण में प्रशिक्षण दिया गया। पहले सत्र में मौखिक प्रशिक्षण के अंतर्गत निगम उपायुक्त अशोक द्विवेदी और पीआईयू हरीश ठाकुर ने स्व सहायता समूह/ समन्वय समिति के सदस्यों को शासन की गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी और भुगतान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पशुपालकों का पंजीयन, सेंटर में गोबर की खरीदी, हर दिन की खरीदी का रिकाॅर्ड पंजी बनाने और पंजीकृत हितग्राहियों को बैंकों के माध्यम से भुगतान की प्रक्रिया को विस्तार से बताया। दूसरे सत्र में प्रायोगिक प्रशिक्षण हुआ। इसमें दुर्ग जिला के वरिष्ठ कृषि अधिकारी एलबी जैन, कामधेनु कृषि विज्ञान केन्द्र अंजोरा के कार्यक्रम समन्वयक व वैज्ञानिक डाॅ.एसके थापक, सहायक संचालक सुष्मिता पाठक और एडीओ सुचित्रा दरबारी की टीम ने वर्मी कंमोस्ट और वर्मी वाॅश बनाने के तरीके बताएं। कृषि अधिकारी जैन ने बताया कि गोबर और केंचुआ खाद बनाने के दौरान पानी निकलता है। उसमें कई तरह के माइक्रो तत्व होते हैं, जिसका फसल में छिड़काव कर अच्छा उत्पादन लिया जा सकता है। उन्होंने वर्मी वाॅश को पाइप के जरिए एक टैंक में एकत्र करने, कम समय में वर्मी कंपोस्ट बनाने के लिए कचरे और गोबर को जल्द डी कंपोज करने के तरीके भी बताएं। शहरी गौठान के शेड का निरीक्षण कर गोबर से केंचुआ खाद बनने की प्रक्रिया तक जरूरी सावधानी जैसे टंकी की सतह को जमीन से निर्धारित ऊंचाई पर रखने की बात कही। टंकी में पर्याप्त छाया, केंचुए की सुरक्षा के लिए टंकी के चारो तरफ नाली बनाकर पानी भरने कहा। ताकि चींटी आदि केंचुएं को नुकसान न पहुंचा सके! जोन-1 आयुक्त सुनील अग्रहरि ने वित्तीय व्यवस्था के बारे में बताया। सहकारी साख समिति के माध्यम से शहरी गौठान के उत्पाद, जैविक खाद सहित अन्य वस्तुओं का मार्केटिंग और सेलिंग करना बताया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जोन-2 की आयुक्त पूजा पिल्ले, जोन-3 की आयुक्त प्रीति सिंह, जोन-4 के आयुक्त अमिताभ शर्मा, जोन-5 के आयुक्त महेन्द्र पाठक, लेखा अधिकारी जितेन्द्र ठाकुर, सूडा के अभिनव ठोकने, एआरओ शरद दुबे, संजय वर्मा, परमेश्वर चंद्राकर, मलखान सिंह शोरी और स्वच्छता निरीक्षक मौजूद रहे।

26-07-2020
बाड़ी में जुआ खेलते पूर्व संसदीय सचिव के पुत्र सहित 10 गिरफ्तार

भिलाई। नंदिनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत बाड़ी में जुआ खेल रहे 10 लोगों को सीएसपी दुर्ग के नेतृत्व में गठित विशेष टीम ने छापा मारकर पकड़ा। दुर्ग पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर की सूचना पर दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया। नंदिनी क्षेत्र के उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय, थाना प्रभारी व स्टॉफ को इस कार्यवाही की भनक तक नहीं लग पाई। पकड़े गए लोगों में पूर्व संसदीय सचिव के पुत्र सहित नगर के कई चर्चित चेहरे शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक ने इस कार्यवाही को संज्ञान मे लेते हुए थाना प्रभारी को नोटिस जारी किया है वहीं पेट्रोलिंग टीम में चलने वाले स्टाफ को लाइन अटैच करने का आदेश जारी किया है। पुलिस ने इन जआरियों से 113000 रूपये नगद एवं 11 मोबाइल, 9 मोटरसायकल जब्त की है। जानकारी के अनुसार नंदिनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत अहिवारा नहर लाइन के समीप स्थित बाड़ी में लंबे समय से जुआ खेलने की शिकायतें मिल रही थी। पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर के अनुसार नंदिनी थाना क्षेत्र के अहिवारा इलाके में दुकानों और बाडिय़ों में जुआ खेलने की शिकायतों के पुख्ता सूचना पर से दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला के नेतृत्व में दुर्ग शहर से पुलिस टीम को सादे वेशभूषा में निजी वाहनों में जुआ खेलने वाले स्थल पर रवाना किया गया। सीएसपी विवेक शुक्ला ने इस कार्यवाही को इतनी गोपनीयता से अंजाम दिया कि बाड़ी के अंदर जुआ खेल रहे लोगों को पुलिस के आने की सूचना तक नहीं मिल पायी। पुलिस ने जुआ खेलते पूर्व संसदीय सचिव के पुत्र सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

25-07-2020
मेडिकल स्टोर्स पर निगम टीम लगाया जुर्माना,लाॅकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर प्रशासन सख्त

भिलाई। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर जिला प्रशासन द्वारा 29 जुलाई तक जिले में लगाए गए लॉक डाउन के अनुपालन में भिलाई निगम प्रशासन ने नियमों का उल्लंघन कर रहे लोगों पर सख्त कार्यवाही की। निगम की टीम ने निर्धारित समय के बाद भी देर समय तक मेडिकल स्टोर्स खुला रखने वालों पर कार्यवाही की। अनावश्यक बाहर घूमने वालों वालों पर कार्यवाही करते हुए 17 लोगों से 16300 रुपए अर्थदंड की वसूली की। खुर्सीपार मस्जिद रोड स्थित देवांगन मेडिकल स्टोर्स निर्धारित समय से अधिक देर खुला पाया गया, जिससे 2 हजार रूपए अर्थदण्ड वसूला गया। इसी प्रकार नंदिनी रोड स्थित ओम मेडिकल स्टोर्स भी खुला पाए जाने पर इससे भी 2 हजार रूपए अर्थदण्ड वसूला गया। जोन क्रं. 2 वैशालीनगर में 5 लोगों से मास्क एवं सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करने के कारण 6000 रुपए, जोन क्रं.4 शिवाजी नगर क्षेत्र में 4 लोगों से लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन करने पर 14500 रुपए, जोन क्रं.5 सेक्टर एरिया में 8 लोगों से मास्क नहीं पहनने के कारण 1200 रूपए अर्थदंड की वसूली किया गया।

24-07-2020
मेडिकल संचालक से वसूल किया 10 हजार दांडिक शुल्क, तय समय के बाद भी खुला रखा था

भिलाई। नगर पालिक निगम के जोन-4 की टीम ने लाॅक डाउन का उल्लंघन करने पर पावर हाउस के मेडिकल संचालक के खिलाफ दांडिक कार्रवाई की। मेडिकल स्टोर के संचालक से 10 हजार का दांडिक शुल्क वसूल किया गया। जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा ने मेडिकल संचालक को 29 जुलाई तक शाम 5 बजे तक मेडिकल को बंद करने की समझाइश दी। कलेक्टर डाॅ.सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने लाॅकडाउन में निर्धारित समय तक मेडिकल सहित अन्य जरूरी सेवाओं से जुड़ी दुकानों को खोलने की छूट दी है। कलेक्टर के आदेश के मुताबिक लॉक डाउन में सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मेडिकल खोलने की अनुमति है। इसके बावजूद नंदिनी रोड स्थित लक्ष्मी मेडिकल रात 8 बजे तक खुला था। जोन-4 के आयुक्त को इसकी सूचना मिली तो वह अपने अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे और मेडिकल को बंद करवाया। मेडिकल संचालक को निर्धारित समय में मेडिकल को बंद करने की समझाइश दी।

मार्निंग वाॅक पर निकले 16 लोगों के खिलाफ की गई कार्रवाई
नगर पालिक निगम की टीम लाॅक डाउन के दूसरे दिन भी मुस्तैद रही। अधिकारी/कर्मचारी नियम का पालन कराने के लिए सुबह 6 बजे से ही वार्डों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। मार्निंग वाॅक पर निकले कई लोगों को समझाइश देकर वापस घर भेजा गया। समझाइश के बाद भी नहीं मानने पर कुल 16 लोगों के खिलाफ जुर्माना लगाया गया। जोन क्रमांक-1 की टीम ने तीन लोगों से 400 दांडिक शुल्क वसूल किया। जोन क्रमांक-5 की टीम ने टाउनशिप क्षेत्र में 13 लोगों से 2100 रूपए अर्थदंड वसूल किया।

19-07-2020
गृहमंत्री ने महिला की आत्महत्या मामले में दिए निष्पक्ष जांच निर्देश

रायपुर। प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने भिलाई में महिला के आत्महत्या मामले की निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने भिलाई 3 थाना क्षेत्र में एक महिला द्वारा आत्महत्या करने के मामले में दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा को फोन कर निष्पक्ष जांच के लिए निर्देशित किया है। मंत्री साहू ने कहा कि जांच निष्पक्ष होनी चाहिए तथा दोषी को सज़ा ज़रूर मिलनी चाहिए। सरकार अच्छे काम करने वालों का सम्मान करती है तो कानून का उल्लंघन करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।उक्त प्रकरण के संबंध में आईजी दुर्ग विवेकानंद सिन्हा द्वारा अग्रिम कार्यवाही की गई है।  उल्लेखनीय है कि डीएसपी अनामिका जैन व उनकी सहेली के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है।

 

17-07-2020
लाइट घोटाले मामले में पूर्व मंत्री का नाम आने पर उत्तेजित होकर सभापति ने खोया आपा, सभा में हंगामा

भिलाई। नगर निगम भिलाई के सामान्य सभा में जमकर का हंगामा हुआ। सभा के संचालन की जिम्मेदारी सभापति पर होती है और वे खुद ही सभा में आक्रोशित और उत्तेजित होकर पार्षदों पर बरस पड़े। सभापति श्यामसुंदर इसलिए उत्तेजित हो गए क्योंकि सभा में पूर्व मंत्री का नाम सभा में एलईडी लाइट घोटाले से जोड़ा गया। पार्षदों ने आरोप लगाया कि उनके वार्डो में एलईडी लाइट नहीं लगी है। सेक्टर 3 की पार्षद इंद्ररा वर्मा ने कहा कि मेरे वार्ड में पूरा अंधेरा रहता है। पूर्व मंत्री और उसके लोगो ने कहा था कि एलईडी लाइट लगेगी पर आज तक नहीं लगी तो लाइट गई कहा। सभापति से पार्षदों ने कहा आप उत्तेजित मत हो,शांतिपूर्ण व्यवस्था बनाये। सभापति ने कहा कि आप कुछ भी बोलोगे,आरोप लगाओगे तो सुनते रहेंगे क्या।

17-07-2020
पार्षद को बर्खास्त करने सभा में उठी मांग

भिलाई।  नगर निगम की सामान्य सभा में शहर सरकार के सभी पार्षदों ने एक स्वर में पार्षद पीयूष मिश्रा को पद से बर्खास्त करने की मांग सभा में रखी। पार्षदों का कहना है कि पार्षद, जिसे जनता ने चुना है और वो शराब पीकर अपने पद का दुरुपयोग कर गाली गलौज, मारपीट, गुंडागर्दी और जान से मारने की धमकी देने वाले पीयूष को सभा ने बाहर करने और पार्षद पद से हटाने की मांग भी उठाई गई। इस मांग के बाद से पक्ष विपक्ष के बीच जमकर बहस चली। लेकिन कई भारतीय जनता पार्टी के पार्षद भी चुप रहकर भी अपनी हामी भरते रहे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804