GLIBS
29-06-2020
शिवराज में हिम्मत है तो मध्यप्रदेश के किसानों का कर्ज माफ करें : राजेन्द्र साहू

दुर्ग। भाजपा की वर्चुअल रैली में छत्तीसगढ़ सरकार पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आरोपों को झूठ का पुलिंदा बताते हुए कांग्रेस ने करारा जवाब दिया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने तीखे लहजे में कहा कि भूपेश सरकार पर झूठे आरोप लगाने से पहले शिवराज सिंह चौहान अपने राज्य की बदहाल व्यवस्था सुधारें। शिवराज सिंह चौहान में हिम्मत है तो मप्र के कर्ज से पीड़ित और शोषित किसानों का कर्ज माफ करके बताएं।रविवार को भाजपा की वर्चुअल रैली में शिवराज के आरोपों का जवाब देते हुए राजेंद्र ने कहा कि खेती-किसानी के समय मध्यप्रदेश में डीजल की कीमत 90 रुपए ज्यादा है। शिवराज सिंह चौहान अगर वास्तव में किसानों और मजदूरों के लिए फिक्रमंद हैं तो उनके प्रदेश में छत्तीसगढ़ से 10 रुपए ज्यादा कीमत पर डीजल की बिक्री कैसे हो रही है। वे मध्यप्रदेश में डीजल की कीमतें घटाकर किसानों को राहत देने की संवेदनशीलता क्यों नहीं दिखा रहे।

राजेंद्र ने कहा कि शिवराज सिंह के पिछले 15 साल के कार्यकाल में हजारों किसान आत्महत्या कर चुके हैं। भूपेश सरकार पर झूठे आरोप लगाने से पहले शिवराज को अपने पिछले कार्यकाल में व्यापमं घोटाला, हजारों किसानों की आत्महत्या, माइनिंग माफिया के गुंडाराज और किसानों पर गोलीकांड जैसे कलंक को याद कर लेना चाहिए।राजेंद्र ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराने में पूरे देश में छत्तीसगढ़ टॉप पर है। आदिवासियों को तेंदूपत्ता सहित अन्य 31 वनोपजों की सबसे ज्यादा कीमत छत्तीसगढ़ में मिल रही है। भूपेश सरकार ने हर वर्ग के लोगों को राहत देने का काम किया है।

29-09-2019
एक भी पोस्टकार्ड नहीं मिलने से गृह मंत्री को जताना पड़ा अफसोस, जानिए वजह...

रायपुर। आपके लिए कोई अच्छा करे और आप उसको धन्यवाद भी ना कहें, तो आपका भला चाहने वाले को अफसोस या बुरा जरूर लगेगा। कुछ ऐसा ही छत्तीसगढ़ सरकार के साथ हुआ है। छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेशवासियों के लिए तीजा, हरेली, विश्व आदिवासी दिवस में अवकाश दिया, किसानों का कर्ज माफ किया, लेकिन सरकार के पास अब तक एक भी पत्र नहीं पहुंचा, जिसमें लोगों ने धन्यवाद दिया हो। ऐसा कहना है छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का। दरअसल गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने यह बात आज रविवार को अनुसूचित जाति सम्मेलन और अभिनंदन समारोह में मंच से कही।

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने अफसोस जताते हूं कहा कि छत्तीसगढ़ में लोगों को तीजा की छुट्टी का इंतजार था, हमारी सरकार ने दी। हरेली, विश्व आदिवासी दिवस पर छुट्टी नहीं मिली,हमने ध्यान दिया। किसानों का लाखों का कर्ज माफ किया, धान का बोनस दिया, लेकिन अफसोस इस बात का है कि कोई भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पोस्टकार्ड नहीं भेजा,चिठ्ठी लिखकर धन्यवाद नहीं दिया,खैर कोई बात नहीं अब धन्यवाद दे देना। आज तक किसान और महिलाओं ने एक रुपए का बधाई कार्ड भी नहीं भेजा। उन्होंने कहा कि इतना कंजूसी क्यों, प्रदेश में अच्छा काम कर रहे सीएम बघेल को तो बधाई देना चाहिए।

गृहमंत्री ने कहा कि पालक 20 से 30 साल तक बच्चों को पढ़ाते हैं लेकिन उन्हें केवल डिग्री मिलती है जो केवल नौकरी के लिए होती है। कोई व्यपार नहीं कर पा रहा है। वहीं अंबानी, अडानी, टाटा जमीन में व्यपार किये और उद्योग पति बन गए है। हमें भी बच्चों को उसी तरह की शिक्षा देनी है। दूसरी ओर कुछ पालक अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देकर कलेक्टर और अधिकारी बना देते है लेकिन भीड़ में वो अपने माता पिता के पैर छूने से शर्माता है, ये हमने अच्छे संस्कार नहीं दिए। उन्होंने कहा कि बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ छत्तीसगढ़ की संस्कृति और संस्कार की भी शिक्षा देने का आग्रह किया, ताकि वे आदर्श गांव, समाज, प्रदेश और देश निर्माण में सहभागी बन सके। गृृह एवं लोकनिर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ में समाजिक समरसता, भाईचारा और मित्रता की परंपरा पीढ़ियों से चली आ रही है। सामाजिक समरसता के निर्माण में अनुसूचित जाति समाज की महत्वपूर्ण भूमिका है। छत्तीसगढ़ के परम पूज्य बाबा गुरू घासीदास ने मनखे-मनखे एक समान और सत्य ही ईश्वर है-ईश्वर ही सत्य है का संदेश दिया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804